Ranchi

Apr 03 2020, 13:53

कोई झारखण्डवासी भूखा न सोये...इस संघर्ष में हम सब एक हैं...हेमन्त सोरेन

एक दूसरे से दूर रहें, पर दिलों को जोड़े रखें

रांची: मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि इस आपदा की घड़ी में दूसरे राज्यों में फंसे राज्यवासियों की सेवा में लगे युवाओं को मैं नमन करता हूँ। यह समय महामारी से एक होकर लड़ने की है। मैं पहले भी कह चुका हूँ। यह महामारी जात पात, धर्म, अमीरी - गरीबी में भेद नहीं करती। इस संघर्ष में हमसब एक हैं। हम एक दूसरे से दूर रहें, पर दिलों को जोड़े रखें। घर में रहें - सुरक्षित रहें। 


कोई दुमकावासी भूखा न सोये

मुख्यमंत्री ने दुमका उपायुक्त को चड़कापाथर गांव की स्थिति का मुआयना कर लोगों तक जरूरी मदद पहुँचाते हुए सूचित करने का निदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई झारखण्डवासी, कोई दुमकावासी भूखा न सोये, इसको प्राथमिकता दें। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि सभी दाल-भात केंद्र सुचारु रूप से संचालित हों।

खाद्यान्न अबतक नहीं मिला

मुख्यमंत्री को बताया गया कि दुमका के रामेश्वर थाना क्षेत्र स्थित चड़कापाथर गांव के लोगों की आजीविका जलावन की लकड़ी बेचकर होती है। लॉकडाउन की वजह से यह कार्य बंद है, जिससे गांव वालों के समक्ष खाद्यान्न की समस्या हो गई है। राशन भी अबतक उपलब्ध नहीं कराया गया है। मामले की जानकारी के बाद मुख्यमंत्री ने उपरोक्त निदेश उपायुक्त को दिया है।


थैलेसीमिया पीड़ित बच्चियों का ईलाज शुरू

मुख्यमंत्री के निदेश के बाद थैलेसीमिया से पीड़ित दो गरीब बच्चियों का ईलाज शुरू हो गया। उपायुक्त पूर्वी सिंहभूम ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि बीडीओ मुसाबनी द्वारा वाहन की व्यवस्था कर दोनों बच्चों को एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अविलंब दो यूनिट  ब्लड बच्चों के लिए उपलब्ध करा दिया गया है।

जान बचाने के लिए ब्लड उपलब्ध कराने का अनुरोध

मुख्यमंत्री को बताया गया कि मुसाबनी प्रखंड के गोहला गांव (पाल टोला) की दो गरीब बच्चियां थैलेसीमिया से पीड़ित हैं। इनकी जान बचाने हेतु कृपया इन्हें ब्लड दिलाने की कृपा करें।

Ranchi

Apr 03 2020, 11:59

क्वॉरेंटाइन सेंटर में सुबिधा की कमी,सोशल मीडिया पर वीडियो हुवा वायरल, उपयुक्त ने कहा अफवाह ना फैलाये होगी कड़ी कार्यवाही

रांची : दुनियां के कई देश एक तरफ जहां कोरोना से जंग लड़ रहे भारत के प्रधानमंत्री की तारीफ कर रहे है वही देश मे कुछ ऐसे लापरवाह लोग है जो इस मुश्किल वक़्त में भी सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने से बाज नही आ रहे है । दरअसल रांची में एक फेक वीडियो जम के वायरल हुआ जिसमें ये दावा किया गया है कि खेलगांव स्थित क्वॉरेंटाइन सेंटर में फैसिलिटी की भारी कमी है । यह मामला प्रशासन के संज्ञान में आने पर रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे ने कहा कि सोशल मीडिया में वीडियो वायरल हुए है जिसमें दिखाया गया है कि वहां सुविधाओं का अभाव है उन्होंने बताया कि खेल गांव राज्य का प्रीमियम स्पॉटिंग इंस्टिट्यूशन है इसी डोर मेट्री में भारत के खिलाड़ी रहते हैं, जो इश्यू थे उनका समाधान हो गया है, वहां कोई असुविधा नहीं है ।वही क्वॉरेंटाइन सेंटर में कैसी सुविधा है इसे लेकर जिला प्रशासन की ओर से वीडियो भी जारी किए गए हैं । वही कोरोना पॉजिटिव मलेशियन महिला को लेकर सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों को लेकर उपायुक्त राय महिमापत रे ने कहा कि महिला सिमटोमैटिक है, हालांकि, उसमें किसी तरह के लक्षण नहीं दिख रहे हैं. इस महिला की जांच रिम्स में कराई गई है और ICMR पुणे से इसकी पुष्टि की गई है. उन्होंने कहा कि महिला कोरोना से संक्रमित है इसमें कोई शक नहीं । जो लोग भी इस तरह के फेक और भर्म फैलाने वाले वीडियो वायरल कर रहे है उन्हें चिन्हित कर सख्त कार्यवाई की जाएगी । वही मलेशिया मूल की संक्रमित महिला के सामाजिक संपर्क को लेकर कहा कि कोरोना पोजेटिव महिला के सेल फोन एनालिसिस और उसके बाद मिली जानकारी के अनुसार वह 107 लोगों के संपर्क में आई । इसमें जिले के 35 हिंदपीढी के 54 और 15 ट्रेन स्टाफ है । 3 ऐसे लोग हैं जो महिला से गाड़ी वगैरह में संपर्क में आए । उन सभी की जांच की जाएगी ।

Ranchi

Apr 03 2020, 06:50

रांची के हिंदपीढ़ी में कोरोना पोजिटिव मिलने के कारण जांच करने गए स्वास्थ्य कर्मी को लोंगो ने वापस लौटाया

राँची, हिंदपीढ़ी के नाला रोड में एक  तबलीगी जमात की कोरोना पॉजिटिव महिला मिली थी। इसी को लेकर आसपास के सभी घरों में रहने वालों के स्वास्थ्य की जांच के लिए जिला प्रशासन के साथ मेडिकल टीम एवं कर्मचारियों की टीम गई थी।

सूचना है कि टीम को जांच नही करने दिया गया है।पुलिस अधिकारी पूरे मामले जांच में जुटी और समझाने बुझाने की कोशिश कर रहे है वहां के स्थानीय लोगों को..

Ranchi

Apr 02 2020, 18:16

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए



रांची : कोरोना को रोकना है तो हमें रुकना होगा। राज्यवासियों को जल्दबाजी नहीं करनी है। खुद की सुरक्षा, अपने परिवार की सुरक्षा और समाज की सुरक्षा हम सभी की जिम्मेवारी है। इस बात को समझने और खुद में उतारने की आवश्यकता है। हिंदपीढ़ी में एक महिला कोरोना संक्रमित मिली है। ऐसी स्थिति में वहां के लोगों का जांच बेहद जरूरी है। बड़े पैमाने पर जांच होगी। सरकार हिंदपीढ़ी में जांच शिविर लगाने पर विचार कर रही है ताकि घर घर जाने की आवश्यकता स्वास्थ्यकर्मियों को न पड़े। मेरा सभी से अनुरोध होगा कि इस कार्य में हिंदपीढ़ी वासी प्रशासन को सहयोग करें। यह उनकी ही सुरक्षा के लिए किया जा रहा कार्य है। ये बातें मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने कही।  सोरेन प्रधानमंत्री के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे। 

अधिक से अधिक जांच हो, एहतियात बरतने का निदेश 

मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिक से अधिक जांच हो। यह तय किया जा रहा रहा है। जांच के लिए व्यवस्था की जा रही है। इस समय एहतियात बरतना अहम है, इसको प्राथमिकता देनी है। वरीय अधिकारियों को इस संबंध में आदेश दिया गया है। बाहर से आनेवाले लोग स्वतः जांच कराएं, इसमें डरने की आवश्यकता नहीं है। 

केंद्र सरकार ने सहयोग देने की बात कही

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी राज्य के मुख्यमंत्री जुड़े थे। कुछ ही राज्य को प्रधानमंत्री से बात करने व अपने राज्य की स्थिति से अवगत कराने का अवसर मिला। जब झारखण्ड को अवसर मिलेगा तो हम भी अपनी बात रखेंगे। विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों को चिकित्सीय संसाधन उपलब्ध कराने की बात सामने आई। आर्थिक पहलु पर भी बात हुई। प्रधानमंत्री ने चिकित्सीय संसाधन के लिए मदद करने की बात कही है। साथ ही राज्यों को सलाह दी गई कि वे अपने स्तर से भी दुनिया में कहीं से संसाधनों को मंगा सकते हैं।

Ranchi

Apr 02 2020, 18:12

282 वर्षों में पहली बार बंद हुवा रांची का ऐतिहासिक तपोवन मंदिर


रांची : आज रामनौमी के मौके पर लॉकडाउन की वजह से लोग घर मे ही रामनौमी मना रहे है । वही 282 वर्षों में ऐसा पहली बार हुवा है कि रांची के प्राचीन तपोवन मंदिर के कपाट नही खुले ।तपोवन मंदिर में रामनौमी के दिन रांची के अलग अलग अखाड़ो के लोग महबीरी झंडा के साथ जुलूस की शक्ल में इस मंदिर में पूजा अर्चना करने आते है लेकिन कोरोना वायरस की वजह से देश मे हुए लॉकडाउन की वजह से मंदिर का पट नही खुला है ।  तपोवन मंदिर ट्रस्ट कमेटी ने यह निर्णय लिया गया है। मंदिर के 282 वर्षों के इतिहास में यह पहला मौकाहै कि रामनवमी के दिन मंदिर का मुख्य द्वार बंद रहा। कमेटी के मीडिया प्रभारी ने अमित बजाज ने कहा है कि श्रद्धालु भगवान श्री राम के दर्शनों के लिए कतार न लगाएं। दर्शन के लिए कपाट नहीं खोला जाएगा। मंदिर प्रबंध कमेटी ने राम भक्तों से आग्रह किया है कि वह अपने अपने घरों में सुरक्षित रहें और श्री राम लला के जन्म के समय अपने घरों में दीप जलाएं। हनुमान चालीसा और श्री रामरक्षा स्तोत्र पाठ, जाप और आरती करें। मंदिर में पुजारियों द्वारा नियमित पूजा अर्चना जारी रहेगी। मंदिर का मुख्य द्वार राज्य सरकार के अगले आदेश तक बंद रखा जाएगा और किसी भी परिस्थिति में मंदिर में प्रवेश वर्जित होगा।निश्चित तौर पर तपोवन मंदिर प्रबंधन के तरफ से वासे लोगो के ये संदेश देने की कोशिश है जो लोग धर्म और आस्था के नाम पर सोशल डिस्टनसिंग का पालन नही करते हुए देश के जनता के स्वास्थ्य के साथ खेलवाड़ कर रहे है ।

Ranchi

Apr 02 2020, 14:11

रांची के रिम्स में कोरोना संक्रमित महिला मचा रही है उत्पात, स्वास्थ्य कर्मचारियों पर मंडरा रहा है खतरा 




रांची : खबर आ रही है कि रांची के रिम्स में कोरोना से संक्रमित एक मलेशियाई महिला अस्पताल में उत्पात मचा रही है और चिकित्सकों को परेशान कर रही है। उसके इस व्यवहार से अस्पताल में मौजूद स्वास्थ्य विभाग के लोगों पर भी कोरोना का खतरा मंडराने लगा है।

 कौन है संक्रमित महिला 

रांची के हिंदपीढ़ी इलाके के एक मस्जिद में विदेशी लोगों से छिपे होने की खबर पुलिस को मिली थी। जिसके बाद पुलिस टीम ने मस्जिद से 18 विदेशियों समेत 24 लोगों को बरामद कर खेलगांव के एक स्टेडियम में क्वारेंटाइन किया था।ये सभी इस्लाम धर्म प्रचार के लिए भारत आए थी। इस दौरान उनमें से एक 22 वर्षीय मलेशियाइ महिला में कोरोना के लक्षण दिखे , जांच हुई तो पता चला कि महिला कोरोना से संक्रमित है और झारखंड कोरोना से अछूता नहीं रहा।
महिला के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद उसे मेडिकल विभाग की टीम ने रिम्‍स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया । पहले तो महिला रिम्‍स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती होने को तैयार नहीं थी पर काफी मशक्‍कत और समझाने बुझाने के बाद वह रिम्‍स में भर्ती हुई । 

 अस्पताल में महिला मचा रही है उत्पात 

अब कोरोना पॉजिटिव महिला रिम्स में उत्पात मचा रही है।  चिकित्सकों को सही से इलाज नहीं करने दे रही है। जबरन इधर-उधर घूम रही है। कमरे में बाथरूम होने के बावजूद वह इधर-उधर थूक रही है, जिससे अन्‍य लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। इधर पूरी मेडिकल टीम महिला के हरकत से परेशान है ।
सवाल यह है कि जो लोग इस महिला की जिंदगी बचाने की कोशिश कर रहे हैं, महिला उन लोगों की ही जान खतरे में क्यों डाल रही है।

Ranchi

Apr 01 2020, 16:00

विपदा की इस घड़ी में कांग्रेस के मंत्रियों का अलग बैठक करना और अपनी ही सरकार से मांग रखना समन्वय की कमी दिखाता है भाजपा

रांची : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा की कांग्रेस को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में पूरे राज्य में कोरोना के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान और राहत कार्य पर भरोसा ही नहीं है। प्रतुल ने कहा की पिछले 3 दिनों में कांग्रेस कोटे के मंत्रियों ने 2 बार अलग बैठक कर यह संकेत दे दिया है।प्रतुल ने कहा कि कांग्रेस कोटे से मंत्री गण डॉ रामेश्वर उरांव,आलमगीर आलम, बन्ना गुप्ता और बादल पत्रलेख ने कल भी अलग बैठक करके राज्य आपदा प्राधिकार के गठन की मांग की है।प्रतुल ने कहा की भाजपा शुरू से कह रही है की कोरोना महामारी से लड़ने में राज्य सरकार में समन्वय का घोर अभाव दिख रहा है। कांग्रेस कोटे के मंत्री अलग बैठक कर रहे हैं और अपने ही सरकार से राज्य प्राधिकार के गठन की मांग रख रहे है।दूसरी ओर मुख्यमंत्री अलग राहत अभियान चलाने में लगे हैं। साफ हो गया है कि कांग्रेस को मुख्यमंत्री के नेतृत्व में चल रहे अभियान पर  भरोसा नहीं है तभी वह राज्य आपदा प्राधिकार के गठन की मांग कर रही है। 

प्रतुल ने कहा यह राजनीति का समय नहीं है और यह बात कांग्रेस को भी समझनी चाहिए। यह विपदा की घड़ी है और सरकार के सभी मंत्रियों को राजनीति छोड़कर एक होकर राज्य में कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए युद्ध स्तर पर कार्रवाई करवानी चाहिए। प्रतुल ने कहा कि भाजपा सरकार को हर संभव मदद करने को तैयार है।पूरे देश की तरह झारखंड में भी भाजपा पार्टी के स्तर से लाखों लोगों तक  राशन पहुंचाने का कार्य कर रही है।

Ranchi

Apr 01 2020, 15:42

फेसबुक पर मैसेज देख मदद के लिए आगे आई निशा 

 रांची: पूरे देश में इन दिनों कोरोना वायरस  ने कोहराम मचा कर रखा है भारत सरकार ने बढ़ते  कोरोना वायरस के मद्देनजर पूरे देश में लॉक डाउन कर दिया है जिसके बाद जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया l राजधानी रांची में भी आम से लेकर  खास पर इसका असर देखा जा रहा है लॉक डाउन होने की वजह से बाजारों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा हुआ है लॉक डॉन की वजह से गरीबों एवं देहाड़ी माजदुरो पर आफत आ पड़ी है और दो वक्त की रोटी उन्हें मयस्सर नहीं हो पा रही है और सरकार भी उन गरीबों तक अनाज पहुंचाने में नाकामयाब साबित हो रही है ताजा मामला राजधानी रांची से सटे पुनदाग के चापू टोली है जहां की आबादी लगभग 15सौ के आसपास है चापू  टोली में रह रहे ज्यादातर लोग मजदूरी का काम करते हैं लॉक डाउन होने की वजह से कहीं उन्हें काम भी नहीं मिल रहा है और उन्हें भूखे रहने को मजबूर होना पड़ रहा है चाकपू  टोली निवासी दीपक ने  सरई  विकास केंद्र  और इंटक की झारखंड महिला प्रदेश अध्यक्ष निशा भगत को इसकी सूचना फेसबुक के माध्यम से दी निशा भगत ने फेसबुक पर मैसेज देख तुरंत अपने साथियों को चापू   टोली में मदद करने की बात कही lजिसके बाद आज चापू टोली में निशा भगत के सहयोग से खिचड़ी चोखा अचार और पानी का वितरण किया गया मौके पर पहुंची निशा भगत ने कहा कि मैसेंजर पर हमने जब यह मैसेज पढ़ा तो बहुत बुरा लगा इसके बाद हमारी टीम ने चापू  टोली में आकर जरूरतमंदों के बीच भोजन का वितरण किया उन्होंने कहा कि चाकू टोली की स्थिति काफी दयनीय हैl लोग बुनियादी सुविधाओं से महरूम है l ना यहां पीने के लिए पानी है और ना ही दो वक्त की भूख मिटाने के लिए अनाज मैं यहां के लोगों को आश्वासन देती हूं कि यहां की समस्या से मैं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अवगत करवा  कर जल्दी पीने का पानी और राशन का इंतजाम करवाऊँगी l निशा भगत के द्वारा भोजन के वितरण के बाद चापू  टोली के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गईlमुख्य रूप से महिला इंटक  की  कोषाध्यक्ष माला कुजुर, महासचिव अंजली गुप्ता ,सरई  विकास केंद्र के सदस्य चंद्रशेखर अभिषेक रमन अमित साहू उपस्थित थे

Ranchi

Apr 01 2020, 13:18

कोरोना के एक मरीज की पुष्टि के बाद संक्रमण के रोकथाम के लिए जुटा जिला प्रशासन

रांची: रांची में कोरोना के एक मरीज की पुष्टि के बाद संक्रमण के रोकथाम के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से जुट गया है। हिन्दपीढ़ी इलाके में आज विभिन्न टीमों को रवाना किया गया, जो संक्रमण से बचाव के रोकथाम के साथ-साथ साफ-सफाई और संक्रमित महिला के संपर्क में आए लोगो के बारे में पता लगाएगी।

उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्री राय महिमापत रे ने रांची समाहरणालय में विभिन्न टीमों को संबोधित किया। उपायुक्त ने कहा कि आप सभी का धन्यवाद कि आप आये, आपका काम बेहद जिम्मेदारी का है। अपनी सुरक्षा के साथ-साथ आप दिए गए दिशा निर्देशों का अच्छी तरह से पालन करें, हर परिस्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करें। किसी भी संदिग्ध मरीज की पहचान होती है या अगर कोई क्वॉरेंटाइन नहीं हो पा रहा है तो जिला प्रशासन को फौरन इसकी जानकारी दें ताकि समय पर आवश्यक कदम उठाए जा सकें।

संक्रमित महिला के संपर्क में कौन-कौन आया इसका पता लगाएगी टीम

कोरोना संक्रमित पाई गई मलेशियन महिला के संपर्क में कौन-कौन से लोग आए जिला प्रशासन की टीम यह पता लगाएगी। कोरोना पॉजिटिव पाई गई महिला पिछले 28 दिनों में जिन 5 घरों में रही, कहां-कहां गई, कितने लोग उसके संपर्क में आए, टीम इसके बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करेगी। वायरस का संक्रमण न फैले इसे लेकर लोगों को जागरूक भी किया जाएगा। साथ ही लोगों को बताया जाएगा कि संक्रमित महिला के संपर्क में आने के बाद किन्हे क्वॉरेंटाइन करने की जरूरत है।

लोगों की होगी स्क्रीनिंग स्क्रीनिंग
जिला प्रशासन की ओर से बनाई गई मेडिकल टीम संक्रमित महिला जिन पांच घरों में रही थी उन घरों के साथ-साथ आसपास के इलाकों में जाएगी और लोगों की स्क्रीनिंग करेगी। इस टीम के साथ एंबुलेंस भी है। किसी भी संदिग्ध मरीज के मिलने या फिर लोगों द्वारा जानकारी दिए जाने पर टीम उसे एंबुलेंस में लेकर आइसोलेशन वार्ड पहुंचेगी और फिर उसकी जांच कराई जाएगी। 

साफ सफाई का काम नगर निगम की टीम के जिम्मे
रांची नगर निगम की टीम हिन्दपीढ़ी और आसपास के इलाकों में साफ-सफाई की कमान संभालेगी। इलाके में सैनिटाइजिंग फागिंग, ब्लीचिंग और बेसिक साफ-सफाई के काम पर टीम का ध्यान होगा ताकि संक्रमण न फैले।

  • Ranchi
     @Ranchi डेमो कर टीम को दी गई जानकारी
    हिंद पीढ़ी और उसके आसपास के इलाकों में लोगों की स्क्रीनिंग करने वाली टीम की सुरक्षा का भी ध्यान रखा गया है। टीम के सदस्य प्रोटेक्टिव केयर का इस्तेमाल करेंगे। हेप्टेटो प्रोटेक्टिव केयर का डेमो दिखाकर टीम के सदस्यों को जानकारी दी गई कि इसे कैसे पहनना है, कैसे उतारना है ,कैसे डिसइनफेक्ट करना है और कैसे डिस्पोज करना है।
    
    ज़िला कंट्रोल रूम-1950
    हेल्पलाइन नंबर-1075,181
    टोल फ्री चिकित्सकीय सलाह-104
    टोल फ्री एंबुलेंस सेवा- 108
    अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर-11-23978046
    DPM-9431103012
    Dist. Epidemiologist-0651-221561
    7903782859 
Ranchi

Apr 01 2020, 11:27

रांची में कोरोना इंट्री : जाने संक्रमित युवती की ट्रेवल हिस्ट्रीस्पेशल रिपोर्ट

रांची : भारत में  30 जनवरी को कोविड 19 संक्रमण का पहला मामला सामने आने के बाद 60 दिनों के बाद कोरोना की एंट्री झारखंड की राजधानी रांची में हुई। दरअसल रांची के हिंदपीढ़ी इलाके के दो मस्जिदों में पकड़े गए 17 विदेशी नागरिकों समेत कुल 22 लोगों में एक युवती भी शामिल थी । सभी को खेलगांव स्थित कोवारेंटाइन सेंटर में भेज दिया गया था । रिपोर्ट आने के बाद मलेशिया की नागरिक 19 वर्षीय युवती कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई । संक्रमित यवती समेत ये सभी 22 लोग तब्लीगी जमात से जुड़े हुए है।  22 लोगों में से 21 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है । युवती को फिलहाल रिम्स में भर्ती किया गया है। वही 21 लोगो की जांच दुबारा की जाएगी। युवती 14 दिनों से हिंदपीढ़ी इलाके के एक मकान में रह रही थी। युवती में संक्रमण की पुष्टि के बाद प्रशासन ने इसके ट्रेवल हिस्ट्री खंगालना शुरू कर दिया है। जानकारी के अनुसार युवती 12 मार्च को मलेशिया फ्लाइट से दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरी । 12 से 15 मार्च के बीच निजामुदीन दरगाह थाने के पास तब्लीगी जमात के मुख्यालय मरकज में रही । वहां कई देशों के नागरिक भी मौजूद थे । युवती 16 मार्च को  राजधानी एक्सप्रेस से नई दिल्ली से बी - 1 कोच में बैठ कर अपने पति के साथ 17 मार्च को रांची पहुंची । युवती के साथ अन्य 9 लोग भी साथ में थे । रांची पहुचने के बाद युवती हिंदपीढ़ी इलाके के एक मकान में रह रही थी । सोमवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ विदेशी मूल के लोग हिंदपीढ़ी इलाके के दो मस्जिदों में है। सूचना मिलते ही प्रशासन ने इन सभी को जांच के लिए भेजा । जिसके बाद युवती में कोरोना संक्रमण का मामला सामने आया। रांची उपयुक्त ने राजधानी एक्सप्रेस के बी - 1 कोच में युवती के साथ सफर कर रहे लोगो से सामने आने की अपील की है। वहीं प्रशासन ने भी रेलव की मदद से सफर कर रहे लोगो की पहचान करने में जुट गई है ।