India

May 16 2024, 10:38

भारत चांद पर पहुंच गया, हमारे बच्चे गटर में गिरकर मर रहे', पाकिस्तानी सांसद का झलका दर्द

#pakistan_lawmaker_syed_mustafa_kamal_praise_india

भारत लगातार विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है। वहीं, पड़ोसी देश पाकिस्तान के खस्ताहाल से हर कोई वाकिफ है। एक तरफ दुनियाभर में भारत की जय-जयकार हो रही है, तो दूसरी तरफ पाकिस्तान में हालात का रोना रोया जा रहा है। इस बीच पाकिस्तान के एक सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने भारत की दिल खोलकर तारीफ की है। साथ ही अपने देश को आईना दिखाने का काम किया है। 

पाकिस्तानी संसद में एक सांसद ने कहा है कि भारत चांद पर लैंड कर गया है, जबकि उनके बच्चे गटर में गिरकर मर जा रहे हैं। मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) पार्टी के सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने बुधवार को पाकिस्तान की भारत के साथ तुलना करते हुए कराची में सुविधाओं की कमी पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि एक तरफ उनके देश के सबसे बड़े शहर में खुले गटर बच्चों की जान ले रहे हैं। जबकि दूसरी ओर भारत ने पहले ही सफलतापूर्वक मून मिशन को अंजाम दे दिया है। उन्होंने भारत के चंद्रयान-3 की सफलता के संदर्भ में यह बात कही है।

पाकिस्तानी सांसद ने कहा कि आज जब दुनिया चांद की तरफ जा रही है, हमारे बच्चे अभी भी कराची में गटर में गिरकर मर रहे हैं। हमारे टीवी स्क्रीन पर जब हम खबरें देखते हैं कि भारत चांद पर पहुंच गया और उसके दो सेकेंड बाद ही खबर आती है कि कराची में खुले गटर में गिरकर बच्चे की मौत हो गई।

सांसद सैयद मुस्तफा ने कराची में ताजे पानी की कमी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कराची में 70 लाख और पाकिस्तान में 2.6 करोड़ से अधिक बच्चे हैं, जो स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। सैयद ने कहा कि वैसे तो कराची पाकिस्तान का राजस्व इंजन है, लेकिन अब उसे साफ पानी तक नसीब नहीं है। पाक सांसद ने आगे कहा कि अपनी स्थापना के बाद से पाकिस्तान में दो बंदरगाह चालू हैं और दोनों कराची में हैं। कराची पूरे पाकिस्तान, मध्य एशिया से लेकर अफगानिस्तान तक का प्रवेश द्वार हैं। 15 वर्षों से कराची को थोड़ा सा भी ताजा पानी नहीं मिल रहा है, यहां तक कि जो पानी आता है उसे भी टैंकर माफिया जमा कर लेते है और बेचने लगते हैं।

सैयद मुस्तफा कमाल का यह बयान पाकिस्तान के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता मौलाना फजलुर रहमान के उस बयान के बाद सामने आई है, जिसमें मौलाना फजलुर रहमान ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान साथ आजाद हुए थे, लेकिन आज वे (भारत) महाशक्ति बनने का ख्वाब देख रहे हैं और हम दिवालियापन से बचने के लिए भीख मांग रहे हैं।

India

May 16 2024, 10:36

भारत चांद पर पहुंच गया, हमारे बच्चे गटर में गिरकर मर रहे', पाकिस्तानी सांसद का झलका दर्द*
#pakistan_lawmaker_syed_mustafa_kamal_praise_india *
भारत लगातार विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है। वहीं, पड़ोसी देश पाकिस्तान के खस्ताहाल से हर कोई वाकिफ है। एक तरफ दुनियाभर में भारत की जय-जयकार हो रही है, तो दूसरी तरफ पाकिस्तान में हालात का रोना रोया जा रहा है। इस बीच पाकिस्तान के एक सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने भारत की दिल खोलकर तारीफ की है। साथ ही अपने देश को आईना दिखाने का काम किया है। पाकिस्तानी संसद में एक सांसद ने कहा है कि भारत चांद पर लैंड कर गया है, जबकि उनके बच्चे गटर में गिरकर मर जा रहे हैं। मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) पार्टी के सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने बुधवार को पाकिस्तान की भारत के साथ तुलना करते हुए कराची में सुविधाओं की कमी पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि एक तरफ उनके देश के सबसे बड़े शहर में खुले गटर बच्चों की जान ले रहे हैं। जबकि दूसरी ओर भारत ने पहले ही सफलतापूर्वक मून मिशन को अंजाम दे दिया है। उन्होंने भारत के चंद्रयान-3 की सफलता के संदर्भ में यह बात कही है। पाकिस्तानी सांसद ने कहा कि आज जब दुनिया चांद की तरफ जा रही है, हमारे बच्चे अभी भी कराची में गटर में गिरकर मर रहे हैं। हमारे टीवी स्क्रीन पर जब हम खबरें देखते हैं कि भारत चांद पर पहुंच गया और उसके दो सेकेंड बाद ही खबर आती है कि कराची में खुले गटर में गिरकर बच्चे की मौत हो गई। सांसद सैयद मुस्तफा ने कराची में ताजे पानी की कमी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कराची में 70 लाख और पाकिस्तान में 2.6 करोड़ से अधिक बच्चे हैं, जो स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। सैयद ने कहा कि वैसे तो कराची पाकिस्तान का राजस्व इंजन है, लेकिन अब उसे साफ पानी तक नसीब नहीं है। पाक सांसद ने आगे कहा कि अपनी स्थापना के बाद से पाकिस्तान में दो बंदरगाह चालू हैं और दोनों कराची में हैं। कराची पूरे पाकिस्तान, मध्य एशिया से लेकर अफगानिस्तान तक का प्रवेश द्वार हैं। 15 वर्षों से कराची को थोड़ा सा भी ताजा पानी नहीं मिल रहा है, यहां तक कि जो पानी आता है उसे भी टैंकर माफिया जमा कर लेते है और बेचने लगते हैं। सैयद मुस्तफा कमाल का यह बयान पाकिस्तान के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता मौलाना फजलुर रहमान के उस बयान के बाद सामने आई है, जिसमें मौलाना फजलुर रहमान ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान साथ आजाद हुए थे, लेकिन आज वे (भारत) महाशक्ति बनने का ख्वाब देख रहे हैं और हम दिवालियापन से बचने के लिए भीख मांग रहे हैं।

India

May 15 2024, 11:48

पाकिस्तान को मोदी जैसे नेता की जरूरत, पाकिस्‍तानी अमेरिकी अरबपति साजिद तरार का बड़ा बयान

#pakistanamericabusinessmansajidtararpraisespm_modi

देश में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। बीजेपी को इस चुनाव में भी बंपर जीत का भरोसा है। बीजेपी पूरी तरह से आश्वस्त है कि नरेन्द्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। बीजेपी ही नहीं पाकिस्तान मूल के अमेरिकी कारोबारी ने भी दावा किया है कि भारत में चल रहे चुनाव में लगातार तीसरी बार भारतीय जनता पार्टी को जीत मिलेगी और फिर से नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। यही नहीं, साजिद तरार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक मजबूत नेता हैं जिन्होंने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है और मोदी जैसे नेता की पाकिस्तान को भी जरूरत है।

पीएम मोदी की जमकर की तारीफ

पाकिस्तानी मूल के बिजनेसमैन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लीडरशिप की जमकर तारीफ की है।बाल्टीमोर में रहने वाले पाकिस्तानी अमेरिकी कारोबारी साजिद तरार ने कहा कि मोदी न केवल भारत के लिए अच्छे हैं बल्कि क्षेत्र और दुनिया के लिए भी अच्छे हैं।साजिद तरार ने कहा कि मोदी जैसे नेता की पाकिस्तान को भी जरूरत है। उन्होंने उम्मीद जताई कि पाकिस्तान को भी उनके जैसा कोई नेता मिलेगा। तरार ने पीटीआई-भाषा से कहा, मोदी एक शानदार नेता हैं। वह ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में पाकिस्तान का दौरा किया। मैं उम्मीद कर रहा हूं कि मोदी जी पाकिस्तान के साथ संवाद और व्यापार शुरू करेंगे।

भविष्य में लोग भारतीय लोकतंत्र से सीखेंगे-तरार

साजिद तरार ने कहा कि हर जगह यही कहा जा रहा है कि नरेंद्र मोदी भारत के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्होंने कहा, यह चमत्कार से कम नहीं है कि भारत में 97 करोड़ लोग अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र है। मैं वहां मोदी जी की लोकप्रियता देख रहा हूं और 2024 में भारत का शानदार उदय होते देख रहा हूं। आप भविष्य में देखेंगे कि लोग भारतीय लोकतंत्र से सीखेंगे।

पाकिस्तान के आर्थिक हालात का किया जिक्र

एक सवाल के जवाब में तरार ने कहा, पाकिस्तान इस समय आर्थिक संकट से जूझ रहा है, इसके चलते पीओके समेत देश के कई हिस्सों में सामाजिक तनाव भी हो रहा है। तरार ने कहा पाकिस्तान में महंगाई बहुत है। पेट्रोल के दाम उच्च स्तर पर हैं। बिजली भी महंगी हो गई है। हम निर्यात नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा, पीओके में मुख्यता महंगी बिजली को लेकर प्रदर्शन हो रहे हैं। इतना ही नहीं तरार ने कहा, जमीनी मुद्दों को हल नहीं किया जा रहा है. कैसे निर्यात बढ़ाया जाए? कैसे आतंकवाद पर कंट्रोल किया जाए और कानून व्यवस्था सुधारी जाए।

WestBengalBangla

May 14 2024, 06:54

মুজাফফরাবাদে চলতি বিক্ষোভের মধ্যে জয়শঙ্করের বড় বক্তব্য, একদিন আমরা পিওকে অবৈধ দখলের অবসান ঘটাব
#s_jaishankar_gave_a_strong_message_to_pakistan


এ এন আই: ক্রমবর্ধমান মূল্যস্ফীতি এবং বিদ্যুতের দাম নিয়ে পাকিস্তান-অধিকৃত কাশ্মীরে (পিওকে) টানা চতুর্থ দিনের মতো বিক্ষোভ অব্যাহত রয়েছে। রবিবার, পিওকে সরকারের সঙ্গে জম্মু ও কাশ্মীর আওয়ামী অ্যাকশন কমিটির আলোচনা ব্যর্থ হয়েছে। এই কারণে,JAAC-এর নেতৃত্বে বিক্ষোভকারীরা রাওয়ালাকোট থেকে PoK এর রাজধানীতে চলে গেছে।মুজাফফরাবাদ পর্যন্ত লংমার্চ। পররাষ্ট্রমন্ত্রী এস জয়শঙ্কর সোমবার বেআইনিভাবে দখলকৃত এলাকা একীভূত করার বিষয়ে ভারতের অবস্থান পুনর্ব্যক্ত করেছেন এবং বলেছেন যে একদিন আমরা PoK-এর অবৈধ দখলের অবসান ঘটাব এবং PoK ভারতে যোগ দেবে।পররাষ্ট্রমন্ত্রী এস জয়শঙ্কর আবার বলেছেন যে পাকিস্তান অধিকৃত জম্মু ও কাশ্মীর (পিওকে) আগেও ভারতের ছিল, আজও।এটি ভারতেরও অন্তর্গত এবং ভবিষ্যতেও ভারতেরই থাকবে। তিনি স্পষ্টভাবে বলেছেন যে পাকিস্তান অবৈধ দখল করেছে এবং ভারত তা মুক্ত করতে প্রতিশ্রুতিবদ্ধ। জয়শঙ্কর বলেন, 'পিওকে ভারতের অংশ ছিল, আছে এবং থাকবে।' মুম্বাইয়ের ন্যাশনাল স্টক এক্সচেঞ্জে (এনএসই) ইন্ডিয়ান ক্যাপিটাল মার্কেট 'রোডম্যাপ ফর ডেভেলপড ইন্ডিয়া' শীর্ষক সেমিনারে সাংবাদিকদের সাথে আলাপকালে তিনি এসব কথা বলেন। তিনি আরও জোর দিয়ে বলেন, ভারতের ডনীতিটি পরিষ্কার - PoK এর অবৈধ দখলকে সরিয়ে দিতে হবে এবং এটি ভারতের সাথে একীভূত করতে হবে। বিরোধী দলগুলোরও কি PoK নিয়ে একই মত আছে? এই প্রশ্নে জয়শঙ্কর বলেন, বিরোধীরা উল্টো দিকে এগোচ্ছে। পররাষ্ট্রমন্ত্রী বলেন, 'আমাদের উদ্দেশ্য দৃঢ় যে একদিন পিওকে থেকে অবৈধ দখলদারিত্ব দূর হবে এবং এটি ভারতের সাথে একীভূত হবে। আমাদের জানিয়ে দেওয়া যাক যে পাকিস্তান অধিকৃত জম্মু ও কাশ্মীরে নিত্যপ্রয়োজনীয় জিনিসপত্রের দাম বৃদ্ধি এবং বিল বৃদ্ধির বিরুদ্ধে।চলমান বিক্ষোভের জেরে পরিস্থিতি থমথমে বিরাজ করছে। নিরাপত্তা বাহিনী ও বিক্ষোভকারীদের মধ্যে সংঘর্ষের পর পাকিস্তান সরকার পরিস্থিতি শান্ত করার চেষ্টা করে। সোমবার পিওকে-তে দুর্দশার বিরুদ্ধে ধর্মঘটের চতুর্থ দিন। বিক্ষোভকারীরা সেখানে অবস্থান শুরু করে এবং মুজাফফরাবাদের দিকে লংমার্চ বের করে।

India

May 13 2024, 17:15

मुजफ्फराबाद में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच जयशंकर का बड़ा बयान, एक दिन हम पीओके पर अवैध कब्जा खत्म कर देंगे

#s_jaishankar_gave_a_strong_message_to_pakistan

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके में बढ़ती मंहगाई और बिजली की कीमतों को लेकर आज भी लगातार चौथे दिन प्रदर्शन जारी है। रविवार को जम्मू कश्मीर अवामी एक्शन कमेटी की पीओके सरकार के साथ बातचीत विफल रही थी। इसके चलते आज प्रदर्शनकारी जेएएसी के नेतृत्व में रावलकोट से पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद तक लॉन्ग मार्च किया। पीओके में चल रहे प्रदर्शनों पर विदेश मंत्री एस जयशंकर का बड़ा बयान सामने आया है।एस जयशंकर ने सोमवार को अवैध रूप से कब्जे वाले क्षेत्र के विलय पर भारत के रुख को दोहराया और कहा कि एक दिन हम पीओके पर अवैध कब्जा खत्म कर देंगे और पीओके भारत में शामिल हो जाएगा। 

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने फिर कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाला जम्मू-कश्मीर (पीओके) पहले भी भारत का था, आज भी भारत का ही है और आगे भी भारत का ही रहेगा। उन्होंने साफ कहा कि पाकिस्तान ने अवैध कब्जा कर रखा है जिसे छुड़ाने के लिए भारत प्रतिबद्ध है। जयशंकर ने कहा, 'पीओके भारत का हिस्सा था, है और हमेशा रहेगा।' उन्होंने मुंबई में नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भारतीय पूंजी बाजार 'विकसित भारत के लिए रोडमैप' पर एक सेमिनार में मीडिया से बातचीत के दौरान ये बातें कहीं।

उन्होंने आगे जोर देकर कहा कि भारत की नीति स्पष्ट है- पीओके पर अवैध कब्जे को हटाना है और इसका भारत में विलय करना है। क्या विपक्षी दल भी पीओके पर ऐसी ही राय रखते हैं? इस सवाल पर जयशंकर ने कहा कि विपक्ष उल्टी दिशा में बढ़ रहा है। विदेश मंत्री बोले, 'हमारा इरादा पक्का है कि एक दिन पीओके पर अवैध कब्जा हटेगा और इसका भारत में विलय होगा।

बता दें कि पाकिस्तान अधिकृत जम्मू-कश्मीर में आवश्यक वस्तुओं की बढ़ती कीमतों और बढ़े हुए बिलों के खिलाफ चल रहे विरोध-प्रदर्शनों के कारण स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों के बाद पाकिस्तान सरकार ने स्थिति को शांत करने की कोशिश की। पीओके में बदहाली के खिलाफ हड़ताल का सोमवार को चौथा दिन है। प्रदर्शनकारियों ने वहां धरना शुरू कर दिया और मुजफ्फराबाद की ओर एक लंबा मार्च निकाला।

WestBengalBangla

May 10 2024, 14:58

"ভারতের উচিত পাকিস্তানকে সম্মান করা, তাদের কাছে পারমাণবিক বোমা আছে"- কংগ্রেস নেতা মণিশঙ্কর আইয়ার

#mani_shankar_aiyaar_statement_india_should_fear_pakistan_atom_bomb

এসবি নিউজ ব্যুরো: কংগ্রেসের নেতাদের বির্তকিত মন্তব্য অব্যাহত।যার জেড়ে লোকসভা নির্বাচনের মধ্যে দেশের রাজনৈতিক উত্তাপ বাড়ছে। গতকাল এক সাক্ষাৎকারে কংগ্রেস নেতা মণিশঙ্কর আইয়ার পাকিস্তানকে সম্মান করার পরামর্শ দিয়েছেন।তার কারণ পাকিস্তানের কাছে পারমাণবিক বোমা রয়েছে। রাজনৈতিক মহল লোকসভা নির্বাচনের ফাঁকে মণিশঙ্কর আইয়ারের এই বক্তব্য কংগ্রেসের ক্ষতি হতে পারে বলে আশঙ্কা প্রকাশ করেছেন।লোকসভা নির্বাচনের উত্তেজনার মধ্যে কংগ্রেস নেতা মণিশঙ্কর আইয়ার বলেন,ভারত পাকিস্তানকে ভয় দেখানোর চেষ্টা করেছে। মণিশঙ্কর আইয়ার পাকিস্তানের সঙ্গে আলোচনার কথা বলতে গিয়ে বলেছেন, ভারতের উচিত পাকিস্তানকে সম্মান করা। কারণ তার কাছে পরমাণু বোমা রয়েছে। আমরা যদি তাদের সম্মান না করি,তাহলে তারা ভারতের বিরুদ্ধে পরমাণু বোমা ব্যবহারের কথা ভাববে। ভারত যে পেশী নীতি দেখাচ্ছে, তাদের ভুললে গেলে চলবে না যে কাহুতায় (রাওয়ালপিন্ডি) পাকিস্তানেরও পেশী (পারমাণবিক বোমা) রয়েছে। মণিশঙ্কর আইয়ার বলেন, 'পাকিস্তানও একটি সার্বভৌম দেশ। তাকেও সম্মান করা, তাদের মর্যাদা বজায় রাখা।আপনি যতটা চান তাদের সাথে কঠোরভাবে কথা বলুন। তবে অন্তত কথা বলুন। বন্দুক নিয়ে ঘুরে বেড়াচ্ছেন। এর থেকে কী সমাধান বেরোলো... কিছুই না। উত্তেজনা বাড়ে। সেখানে কোনো পাগল এলে দেশের কী হবে? তাদের কাছে এটম বোমা আছে। আমাদের আছে। কিন্তু কোনো পাগল যদি লাহোর স্টেশনে আমাদের পরমাণু

বোমা ফেলা যায়, তাহলে এর রেডিও অ্যাক্টিভিটি ৮ সেকেন্ডের মধ্যে অমৃতসরে পৌঁছে যাবে। আপনি এটি ব্যবহার বন্ধ করুন। কিন্তু তার সাথে কথা বললে তাদের সম্মান দেন,তবেই সে তার বোমার কথা ভাববে না। কিন্তু তাকে প্রত্যাখ্যান করলে কী হবে? কংগ্রেস নেতা আরও বলেছেন, যে আমরা যদি বিশ্বের বিশ্বগুরু হতে চাই তবে দেখাতে হবে যে পাকিস্তানের সাথে আমাদের সমস্যা যত খারাপই হোক না কেন, আমরা এর সমাধান খুঁজে বের করার জন্য কঠোর পরিশ্রম করছি। গত দশ বছর যাবত কঠোর পরিশ্রম থেমে গেছে। ভারত যে পেশীবহুল নীতি দেখিয়েছে, তা ভুলে গেলে চলবে না যে পাকিস্তানেরও তা করার ক্ষমতা রয়েছে।রাওয়ালপিন্ডিতে পেশী (পারমাণবিক বোমা) আছে।

India

May 10 2024, 10:20

भारत को पाकिस्तान की इज्जत करनी चाहिए, उनके पास परमाणु बम है, कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के इस बयान के क्या है मायने ?*
#mani_shankar_aiyaar_statement_india_should_fear_pakistan_atom_bomb कांग्रेस में एक से बढ़कर एक “बयानवीर” हैं। अभी कल ही तो सैम पित्रोदा ने अपने एक बयान से जमकर “बवाल काटा”। जिसके बाद उन्हें इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा। अब पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता ने देश का सियासी पारा बढ़ाने का काम किया है। हम बात कर रहे मणिशंकर अय्यर की, जिन्होंने पाकिस्तान की इज्जत करने की नसीहत दी है, वो भी इसलिए क्योंकि पाकिस्तान के पास परमाणु बम है। लोकसभा चुनाव के बीच में मणिशंकर अय्यर के इस बयान से कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। लोकसभा चुनाव की सगर्मियों के बीच कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने भारत को पाकिस्तान का डर दिखाने की कोशिश की है। मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान के साथ बातचीत की वकालत करते हुए कहा है कि भारत को पाकिस्तान का सम्मान करना चाहिए क्योंकि उसके पास एटम बम है। अगर हम उनकी इज्जत नहीं करेंगे, बातचीत नहीं करेंगे तो वे भारत के खिलाफ एटम बम का इस्तेमाल करने के बारे में सोचेंगे। मस्कुलर नीति दिखाने वाले भारत को यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के पास भी कहुटा (रावलपिंडी) में मसल (परमाणु बम) है।’ मणिशंकर अय्यर ने कहा, ‘पाकिस्तान भी एक संप्रभु मुल्क है। उनकी भी इज्जत है। उनकी इज्जत को कायम रखते हुए उनसे जितनी कड़ी बात करनी है करो। लेकिन बात तो करो। बंदूक को लेकर आप घूम रहे हो। उससे क्या हल मिला… कुछ नहीं। तनाव बढ़ता जाता है। कोई भी पागल वहां आ जाए तो क्या होगा देश का। उनके पास एटम बम है। हमारे पास भी है। लेकिन किसी पागल ने हमारे बम को लाहौर स्टेशन में छोड़ा तो आठ सेकेंड के अंदर उसकी रेडियो एक्टिविटी अमृतसर पहुंचेगी। आप उसको इस्तेमाल करने को रोको। लेकिन आपने उससे बात की, उसको इज्जत दी तो तभी जाकर वह अपने बम के बारे में नहीं सोचेंगे। मगर आपने उसको ठुकरा दिया तो फिर क्या होगा। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि दुनिया का विश्व गुरु बनना हो तो यह जरूरी है दिखाने के लिए कि जितना भी खराब हो हमारा समस्या पाकिस्तान के साथ, उसका हल निकालने के लिए हम मेहनत कर रहे है। पिछले दस साल से सारा मेहनत बंद है। मस्कुलर पॉलिसी दिखाने वाले भारत को यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के पास भी कहुटा (रावलपिंडी) में मसल (परमाणु बम) है।’

India

May 10 2024, 10:19

भारत को पाकिस्तान की इज्जत करनी चाहिए, उनके पास परमाणु बम है, कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के इस बयान के क्या है मायने ?

#mani_shankar_aiyaar_statement_india_should_fear_pakistan_atom_bomb

कांग्रेस में एक से बढ़कर एक “बयानवीर” हैं। अभी कल ही तो सैम पित्रोदा ने अपने एक बयान से जमकर “बवाल काटा”। जिसके बाद उन्हें इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा। अब पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता ने देश का सियासी पारा बढ़ाने का काम किया है। हम बात कर रहे मणिशंकर अय्यर की, जिन्होंने पाकिस्तान की इज्जत करने की नसीहत दी है, वो भी इसलिए क्योंकि पाकिस्तान के पास परमाणु बम है। लोकसभा चुनाव के बीच में मणिशंकर अय्यर के इस बयान से कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। 

लोकसभा चुनाव की सगर्मियों के बीच कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने भारत को पाकिस्तान का डर दिखाने की कोशिश की है। मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान के साथ बातचीत की वकालत करते हुए कहा है कि भारत को पाकिस्तान का सम्मान करना चाहिए क्योंकि उसके पास एटम बम है। अगर हम उनकी इज्जत नहीं करेंगे, बातचीत नहीं करेंगे तो वे भारत के खिलाफ एटम बम का इस्तेमाल करने के बारे में सोचेंगे। मस्कुलर नीति दिखाने वाले भारत को यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के पास भी कहुटा (रावलपिंडी) में मसल (परमाणु बम) है।’

मणिशंकर अय्यर ने कहा, ‘पाकिस्तान भी एक संप्रभु मुल्क है। उनकी भी इज्जत है। उनकी इज्जत को कायम रखते हुए उनसे जितनी कड़ी बात करनी है करो। लेकिन बात तो करो। बंदूक को लेकर आप घूम रहे हो। उससे क्या हल मिला… कुछ नहीं। तनाव बढ़ता जाता है। कोई भी पागल वहां आ जाए तो क्या होगा देश का। उनके पास एटम बम है। हमारे पास भी है। लेकिन किसी पागल ने हमारे बम को लाहौर स्टेशन में छोड़ा तो आठ सेकेंड के अंदर उसकी रेडियो एक्टिविटी अमृतसर पहुंचेगी। आप उसको इस्तेमाल करने को रोको। लेकिन आपने उससे बात की, उसको इज्जत दी तो तभी जाकर वह अपने बम के बारे में नहीं सोचेंगे। मगर आपने उसको ठुकरा दिया तो फिर क्या होगा। 

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि दुनिया का विश्व गुरु बनना हो तो यह जरूरी है दिखाने के लिए कि जितना भी खराब हो हमारा समस्या पाकिस्तान के साथ, उसका हल निकालने के लिए हम मेहनत कर रहे है। पिछले दस साल से सारा मेहनत बंद है। मस्कुलर पॉलिसी दिखाने वाले भारत को यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के पास भी कहुटा (रावलपिंडी) में मसल (परमाणु बम) है।’

India

May 09 2024, 16:50

पीओके पर विदेश मंत्री एस जयशंकर का बड़ा बयान, बोले-सभी दल भी गुलाम कश्मीर की वापसी के लिए प्रतिबद्ध

#foreignministersjaishankarstatementregardingpakistanoccupiedkashmir

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पीओके को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर भारत का हिस्सा है और भारत में वापस आए। उन्होंने कहा है कि संसद में एक प्रस्ताव है, जिसमें देश का हर राजनीतिक दल यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि पीओके, जो कि भारत का हिस्सा है, वो भारत में वापस आ जाए।इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि लोगों ने धारा 370 को लेकर भी अलग-अलग धारणाएं बना रखी थीं, लेकिन हमने उसे भी खत्म किया।

दिल्ली विश्‍वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में बोलते हुए बुधवार एस जयशंकर ने 'विश्‍व बंधु भारत' विषय पर चर्चा के दौरान अपने विचार रखें। इस दौरान विदेश मंत्री ने 370 का जिक्र किया और कहा कि वर्षों से जो सवाल था उसका जवाब भी मिल गया। उन्होंने बताया कि कैसे केंद्र की मोदी सरकार ने 370 को खत्म कर दिया जबकि इसको लेकर लोगों ने अलग-अलग धारणाएं बना रखी थीं।लोगों ने यह मान लिया था कि 370 (अनुच्छेद) को नहीं बदला जा सकता है। हालांकि जब हमने इसे हटा दिया तो लोगों को इसे स्वीकार करना होगा।जब हमने 370 को खत्म कर दिया, तो अब लोग समझते हैं कि पीओके भी महत्वपूर्ण है।

जयशंकर ने कहा कि आज देशवासियों के मन में गुलाम कश्मीर का मुद्दा भी आ गया है। यदि आपके विचारों में आ गया है तो बाकी चीजें निश्चित रूप से किसी न किसी बिंदु पर पूरी होंगी। इसी तरह से पीओके के बारे में मैं बस इतना ही कह सकता हूं कि संसद में एक प्रस्ताव है और देश की हर राजनीतिक पार्टी यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि पीओके जो भारत का हिस्सा है, वो भारत को वापस मिल जाए।

राजनाथ सिंह भी कह चुके हैं ये बात

अभी हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में एस जयशंकर ने कहा था कि पीओके इस देश का हिस्सा है, उस हिस्से पर हम किसी और का नियंत्रण स्वीकार नहीं कर सकते हैं। जयशंकर के वाले बयान को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी दोहराया था। राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारत पीओके पर अपना दावा कभी नहीं छोडेगा। उन्होंने आगे कहा था कि आज कश्मीर की तरक्की देखकर पीओके के लोग खुद को भारत का हिस्सा मानते है। ये दिखाता है कि पीओके पर हमारी सोच कहा तक है। भारत को इसके लिए कुछ करने की जरूरत नहीं पडेगी। जिस तरह कश्मीर में हालात बदल रहे हैं और आर्थिक प्रगति हो रही है, वहां जैसी शांति लौटी है, मुझे यकीन है कि एक दिन पीओके से भी भारत में विलय की मांग उठेगी। राजनाथ सिंह ने कहा कि पीओके में हमें किसी भी प्रकार का बल प्रयोग नहीं करना पडे़गा। वहां के लोग खुद भारत में विलय करेंगे।

क्या है पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर?

दरअसल, साल 1947 में भारत जब आजाद हुआ और भारत-पाकिस्तान के रूप में इसके दो हिस्से हुए। तब जम्मू-कश्मीर का अस्तित्व एक स्वतंत्र रियासत के तौर पर था। हालांकि, 1947 में पाकिस्तान ने अपने सीमा से सटे जम्मू-कश्मीर के क्षेत्रों पर जबरन कब्जा कर लिया। यह कब्जा अभी तक कायम है। इसे भारत पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर कहता है। वहीं, संयुक्त राष्ट्र और अन्य इंटरनेशनल संगठन इसे पाकिस्तान नियंत्रित कश्मीर या पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के रूप में जानते हैं।

India

Apr 30 2024, 10:34

भारत सुपरपावर बन रहा और हम भीख मांग रहे... पाकिस्तानी संसद में फूटा विपक्षी नेता का गुस्सा, शहबाज सरकार को सुनाई खरी-खरी

#pakistan_lawmaker_maulana_fazal_ur_rehman_praises_india

आज भारत दुनिया के शक्तिशाली देशों में गिना जाने लगा है। हाल के सालों में भारत ने हर क्षेत्र में तरक्की की है। जिसका लोहा अमेरिकी-रूस जैसे देश भी मानने लगे हैं।यहां तक की पाकिस्तान भी जितना भारत का विरोध कर ले, लेकिन एक बात वो भी मानने लगे हैं कि हिंदुस्तान बहुत आगे निकल गया है। इस बीच पाकिस्तान के शीर्ष नेता और जमीयत उलेमा ए इस्लाम (एफ) के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान ने अपने ही देश के सरकार को आईना दिखाने की कोशिश की है।

पाकिस्तान के प्रमुख दक्षिणपंथी इस्लामी नेता मौलाना फजलुर रहमान सोमवार को अपने पूर्व प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के समर्थन में सामने आए और कहा कि विपक्षी दल को रैलियां आयोजित करने और यहां तक कि सरकार बनाने का भी अधिकार है। जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (जेयूआई-एफ) के अपने गुट के प्रमुख रहमान ने पाकिस्तानी नेशनल असेंबली में सोमवार को जोरदार भाषण दिया और कथित तौर पर राजनीतिक व्यवस्था में हेराफेरी यानी चुनाव में धांधली करने के लिए शक्तिशाली प्रतिष्ठान की आलोचना की।

उन्होंने कहा, रैली करना पीटीआई का अधिकार है। हमने 2018 के चुनाव पर भी आपत्ति जताई थी और हमें इस (8 फरवरी के चुनाव) पर भी आपत्ति है। अगर 2018 के चुनाव में धांधली हुई थी, तो मौजूदा चुनाव में धांधली क्यों नहीं हुई? बता दें कि पीटीआई नेता असद कैसर ने रैली आयोजित करने के लिए पार्टी के अधिकार की मांग की थी। रहमान ने अपने भाषण में कहा कि असद कैसर की मांग सही है और रैली आयोजित करना पीटीआई का अधिकार है।

अपने भाषण के दौरान उन्होंने भारत के साथ समानताएं व्यक्त कीं। उन्होंने कहा, जरा भारत और हमारी तुलना करें… दोनों देशों को एक ही दिन आजादी मिली थी, लेकिन आज वे (भारत) महाशक्ति बनने का सपना देख रहे हैं और हम दिवालिया होने से बचने के लिए भीख मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि फैसले कोई और लेता है लेकिन समस्याओं के लिए राजनेताओं को जिम्मेदार ठहराया जाता है।

रहमान ने इस्लामिक सिद्धांतों को बनाए रखने के महत्व पर जोर देते हुए काउंसिल ऑफ इस्लामिक आइडियोलॉजी (सीआईआई) की सिफारिशों को लागू करने में विफलता पर भी अफसोस जताया। मौलाना फजल उर रहमान ने कहा कि हमें देश इस्लाम के नाम पर मिला था, लेकिन आज हम एक धर्मनिरपेक्ष राज्य बन गए हैं. 1973 के बाद से सीआईआई की एक भी सिफ़ारिश लागू नहीं की गई है। हम एक इस्लामिक देश कैसे हो सकते हैं। सीसीआई एक संवैधानिक निकाय है जिसे कानूनों के इस्लामीकरण में मदद करने के लिए स्थापित किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान दिवालिया होने से बचने के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से भीख मांग रहा है।

India

May 16 2024, 10:38

भारत चांद पर पहुंच गया, हमारे बच्चे गटर में गिरकर मर रहे', पाकिस्तानी सांसद का झलका दर्द

#pakistan_lawmaker_syed_mustafa_kamal_praise_india

भारत लगातार विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है। वहीं, पड़ोसी देश पाकिस्तान के खस्ताहाल से हर कोई वाकिफ है। एक तरफ दुनियाभर में भारत की जय-जयकार हो रही है, तो दूसरी तरफ पाकिस्तान में हालात का रोना रोया जा रहा है। इस बीच पाकिस्तान के एक सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने भारत की दिल खोलकर तारीफ की है। साथ ही अपने देश को आईना दिखाने का काम किया है। 

पाकिस्तानी संसद में एक सांसद ने कहा है कि भारत चांद पर लैंड कर गया है, जबकि उनके बच्चे गटर में गिरकर मर जा रहे हैं। मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) पार्टी के सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने बुधवार को पाकिस्तान की भारत के साथ तुलना करते हुए कराची में सुविधाओं की कमी पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि एक तरफ उनके देश के सबसे बड़े शहर में खुले गटर बच्चों की जान ले रहे हैं। जबकि दूसरी ओर भारत ने पहले ही सफलतापूर्वक मून मिशन को अंजाम दे दिया है। उन्होंने भारत के चंद्रयान-3 की सफलता के संदर्भ में यह बात कही है।

पाकिस्तानी सांसद ने कहा कि आज जब दुनिया चांद की तरफ जा रही है, हमारे बच्चे अभी भी कराची में गटर में गिरकर मर रहे हैं। हमारे टीवी स्क्रीन पर जब हम खबरें देखते हैं कि भारत चांद पर पहुंच गया और उसके दो सेकेंड बाद ही खबर आती है कि कराची में खुले गटर में गिरकर बच्चे की मौत हो गई।

सांसद सैयद मुस्तफा ने कराची में ताजे पानी की कमी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कराची में 70 लाख और पाकिस्तान में 2.6 करोड़ से अधिक बच्चे हैं, जो स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। सैयद ने कहा कि वैसे तो कराची पाकिस्तान का राजस्व इंजन है, लेकिन अब उसे साफ पानी तक नसीब नहीं है। पाक सांसद ने आगे कहा कि अपनी स्थापना के बाद से पाकिस्तान में दो बंदरगाह चालू हैं और दोनों कराची में हैं। कराची पूरे पाकिस्तान, मध्य एशिया से लेकर अफगानिस्तान तक का प्रवेश द्वार हैं। 15 वर्षों से कराची को थोड़ा सा भी ताजा पानी नहीं मिल रहा है, यहां तक कि जो पानी आता है उसे भी टैंकर माफिया जमा कर लेते है और बेचने लगते हैं।

सैयद मुस्तफा कमाल का यह बयान पाकिस्तान के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता मौलाना फजलुर रहमान के उस बयान के बाद सामने आई है, जिसमें मौलाना फजलुर रहमान ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान साथ आजाद हुए थे, लेकिन आज वे (भारत) महाशक्ति बनने का ख्वाब देख रहे हैं और हम दिवालियापन से बचने के लिए भीख मांग रहे हैं।

India

May 16 2024, 10:36

भारत चांद पर पहुंच गया, हमारे बच्चे गटर में गिरकर मर रहे', पाकिस्तानी सांसद का झलका दर्द*
#pakistan_lawmaker_syed_mustafa_kamal_praise_india *
भारत लगातार विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है। वहीं, पड़ोसी देश पाकिस्तान के खस्ताहाल से हर कोई वाकिफ है। एक तरफ दुनियाभर में भारत की जय-जयकार हो रही है, तो दूसरी तरफ पाकिस्तान में हालात का रोना रोया जा रहा है। इस बीच पाकिस्तान के एक सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने भारत की दिल खोलकर तारीफ की है। साथ ही अपने देश को आईना दिखाने का काम किया है। पाकिस्तानी संसद में एक सांसद ने कहा है कि भारत चांद पर लैंड कर गया है, जबकि उनके बच्चे गटर में गिरकर मर जा रहे हैं। मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) पार्टी के सांसद सैयद मुस्तफा कमाल ने बुधवार को पाकिस्तान की भारत के साथ तुलना करते हुए कराची में सुविधाओं की कमी पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि एक तरफ उनके देश के सबसे बड़े शहर में खुले गटर बच्चों की जान ले रहे हैं। जबकि दूसरी ओर भारत ने पहले ही सफलतापूर्वक मून मिशन को अंजाम दे दिया है। उन्होंने भारत के चंद्रयान-3 की सफलता के संदर्भ में यह बात कही है। पाकिस्तानी सांसद ने कहा कि आज जब दुनिया चांद की तरफ जा रही है, हमारे बच्चे अभी भी कराची में गटर में गिरकर मर रहे हैं। हमारे टीवी स्क्रीन पर जब हम खबरें देखते हैं कि भारत चांद पर पहुंच गया और उसके दो सेकेंड बाद ही खबर आती है कि कराची में खुले गटर में गिरकर बच्चे की मौत हो गई। सांसद सैयद मुस्तफा ने कराची में ताजे पानी की कमी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कराची में 70 लाख और पाकिस्तान में 2.6 करोड़ से अधिक बच्चे हैं, जो स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। सैयद ने कहा कि वैसे तो कराची पाकिस्तान का राजस्व इंजन है, लेकिन अब उसे साफ पानी तक नसीब नहीं है। पाक सांसद ने आगे कहा कि अपनी स्थापना के बाद से पाकिस्तान में दो बंदरगाह चालू हैं और दोनों कराची में हैं। कराची पूरे पाकिस्तान, मध्य एशिया से लेकर अफगानिस्तान तक का प्रवेश द्वार हैं। 15 वर्षों से कराची को थोड़ा सा भी ताजा पानी नहीं मिल रहा है, यहां तक कि जो पानी आता है उसे भी टैंकर माफिया जमा कर लेते है और बेचने लगते हैं। सैयद मुस्तफा कमाल का यह बयान पाकिस्तान के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता मौलाना फजलुर रहमान के उस बयान के बाद सामने आई है, जिसमें मौलाना फजलुर रहमान ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान साथ आजाद हुए थे, लेकिन आज वे (भारत) महाशक्ति बनने का ख्वाब देख रहे हैं और हम दिवालियापन से बचने के लिए भीख मांग रहे हैं।