Bihar

Jun 10 2021, 13:20

बड़ी खबर : वैशाली में दिन-दहाड़े HDFC बैंक में लूट, तकरीबन 1 करोड़ रुपये लूट का लगाया जा रहा अंदाजा
  


वैशाली : अभी-अभी वैशाली जिले से एक बड़ी खबर आ रही है, जहां हाजीपुर के जढुआ स्थित HDFC बैंक से अपराधियों ने दिन दहाड़े लूट की बड़ी घटना को अंजाम दिया है। मिल रही जानकारी के अनुसार अपराधियों ने बैंक से करीब 1 करोड़ की राशि लूटकर चलते बने है। हालांकि अभी तक तय लूट की राशि का खुलासा नहीं हो पाया है।  

घटना की सूचना मिलते ही वैशाली एसपी मनीष सदर एसडीपीओ राघव दयाल समेत पुलिस दलबल के साथ पहुंची और मामले की छानबीन की जा रही है लेकिन अभी तक अपराधी का कोई सुराग नहीं मिल सका है।


वैशाली एसपी ने बताया कि आसपास लगे सीसीटीवी में अपराधियों की तस्वीर मिली है। पूरे मामले की छानबीन की जा रही है और सीसीटीवी कैमरे के आधार पर अपराधियों की पहचान कर उसकी गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह छापेमारी अभियान चलाई जा रही है और इलाके में नाकाबंदी की गई। एसपी ने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

वहीं सदर एसडीपीओ राघव दयाल ने एक करोड़ 19 लाख लूट की बात की है। उन्होंने कहा  कि बैंक मैं रखे कैश का मिलान किया जा रहा है उसके बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगा

Bihar

Jun 10 2021, 11:55

कोरोना टीकाकरण में बिहार में सुपौल पहला,  पूर्णिया दूसरा तीसरे स्थान पर पटना तो शेखपुरा जिला सबसे फिसड्डी
  




कोरोना से बचाव के लिए देश भर में चल रहे टीकाकरण अभियान के साथ बिहार में भी जल्द सबको टीका लगाने की कोशिश जारी है। पूरा सरकारी अमला लोगों को कोरोना टीका लेने के लिए प्रेरित कर रहा है।

 बावजूद लक्ष्य प्राप्ति में कई जिलों का प्रदर्शन अच्छा नहीं है।  जून के पहले सप्ताह में जारी कोरोना टीकाकरण की रिपोर्ट के अनुसार पहले स्थान पर बिहार का सुपौल जिला है तो वहीं पूर्णिया 3 स्थान पर है। 

जारी आंकड़े के अनुसार सुपौल में जून के पहले सप्ताह में 17141 लोगो को टीका लगाया गया है जो टारगेट का 1.72 प्रतिशत है। वहीं पूर्णिया में 22464 लोगो को टीका लगाया गया जो टारगेट का 1.65 प्रतिशत है।  पूर्णिया इस मामले में जून के पहले सप्ताह में बिहार में दूसरे स्थान पर है।
जबकि पटना बिहार में तीसरे स्थान पर है। पटना में जून के पहले सप्ताह में 42346 लोगो को टीका लगाया गया जो टारगेट का 1.46 प्रतिशत है।

 वहीं बिहार में सबसे फिसड्डी जिला शेखपुरा में टारगेट का सिर्फ 0.20 प्रतिशत ही टीकाकरण हुआ है । शेखपुरा में जून के पहले सप्ताह में सिर्फ 600 लोगो को टीका लगा है।

 राज्य के अन्य जिलों में मधेपुरा, नालंदा, समस्तीपुर, अरवल खगड़िया, जहानाबाद जिले भी रैंकिंग में काफी नीचे है।

Bihar

Jun 10 2021, 11:30

बड़ी खबर : सीआरपीएफ काफिले पर हमले का आरोपी हार्डकोर नक्सली ब्रह्मदेव राणा गिरफ्तार, पुलिस काफी दिनों से कर रही थी तलाश
  


जमुई : जिले की पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने सीआरपीएफ काफिले पर हमले के आरोपी हार्डकोर नक्सली ब्रह्मदेव राणा को गिरफ्तार किया है। ब्रह्मदेव राणा पर सीआरपीएफ काफिले पर फायरिंग किये जाने को लेकर जिले के बरहट थाना में नक्सली के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी। कांड के बाद से ही वह फरार चल रहा था। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नक्सली बरहट थाना क्षेत्र के अंबाटोला गांव का रहने वाला है और हार्डकोर नक्सली पिंटू राणा गिरोह का सक्रिय सदस्य है। 

पुलिस के अनुसार एसपी को गुप्त सूचना मिली थी की हार्डकोर नक्सली ब्रह्मदेव राणा अपने साथियों के साथ बरहट में देखा गया है। जिसके बाद एसपी ने एसएसबी, साइबर सेल एवं बरहट थाना अध्यक्ष को नक्सली को गिरफ्तार करने की जिम्मेवारी सौंपी। 

एसपी के निर्देशानुसार एसएसबी के असिस्टेंट कमांडेंट आलोक सिंह के नेतृत्व में साइबर सेल अधिकारी राज्यवर्धन कुमार एवं बरहट थाना अध्यक्ष चितरंजन कुमार की टीम ने बरहट के जंगलों में छापेमारी अभियान चलाया जिसमें हार्डकोर नक्सली ब्रह्मदेव राणा पकड़ा गया। हालांकि इस दौरान उसके अन्य साथी भागने में कामयाब रहे। 

गिरफ्तार नक्सली अन्य गतिविधियों में भी शामिल रहा है। बरहट थाना अध्यक्ष चितरंजन कुमार ने बताया गिरफ्तार नक्सली को न्यायिक हिरासत भेज दिया गया है।

Bihar

Jun 10 2021, 08:31

हाईकोर्ट  के आदेश की समीक्षा के बाद बिहार में कोविड की मौत का पर ऑडिट  के बाद  आंकड़ा 73% बढ़ गया
  


 पटना उच्च न्यायालय द्वारा 17 मई को बक्सर जिले में मौत के आंकड़ों में अनियमितताओं को लेकर  सवाल उठाने पर सरकार ने कोविड -19 की मौतों का ऑडिट करने के लिए 20-दिवसीय कैम्प शुरू किया।

 बिहार ने बुधवार को 3,951 मौतों को जोड़कर अपने कोविड -19 टोल को संशोधित किया।

 जिसमें 72.8% की वृद्धि हुई, जिसका श्रेय निजी अस्पतालों, घरों और बीमारी के बाद की जटिलताओं को पहले दर्ज नहीं किया गया था।

 पटना उच्च न्यायालय द्वारा 17 मई को बक्सर जिले में मौत के आंकड़ों में अनियमितताओं को गंभीरता से लेते हुए सरकार को सही आंकड़े देने को कहा जिसके बाद सरकार ने कोविड -19 की मौतों का ऑडिट करने के लिए 20-दिवसीय अभ्यास शुरू  किया। 

सत्यापन के बाद, राज्य का कोविड -19 आंकड़े  8 जून को बढ़कर 9,375 हो गया।जबकि 5,424 ने एक दिन पहले सूचना दी गयी थी।

 अतिरिक्त सचिव (स्वास्थ्य) प्रत्यय अमृत ने कहा कि वृद्धि निजी अस्पतालों में होने वाली मौतों, घरेलू अलगाव और कोविड के बाद की जटिलताओं के कारण हुई।  "ये मौतें पहले बेहिसाब रहीं," उन्होंने कहा।

 राज्य के 38 में से चार जिलों ने इन आंकड़ों में कम से कम 200 प्रतिशत की वृद्धि दिखाई है।

 कैमूर, जिसने 7 जून तक 44 मौतों की सूचना दी, 8 जून को इसे संशोधित कर 146 कर दिया, 231.81% की वृद्धि हुई।

 सहरसा में,  225% की वृद्धि के साथ 40 से 130 हो गया।

 बेगूसराय में, 228.98% की वृद्धि हुई, 7 जून तक 138 मौतों से 8 जून को 454 हो गई,

 पूर्वी चंपारण में,  222.13% की वृद्धि हुई, जो 7 जून को 131 से बढ़कर 8 जून को 422 हो गई।

 मुंगेर एकमात्र जिला था जिसने कोई वृद्धि दर्ज नहीं की।  किसी भी जिले ने टोल में गिरावट दर्ज नहीं की।

 राज्य की राजधानी पटना में 87.48% की वृद्धि दर्ज की गई, जो 7 जून को 1,223 से बढ़कर 8 जून को 2,293 हो गई।

 पटना के जिला मजिस्ट्रेट चंद्रशेखर सिंह ने कहा, “हमने निजी अस्पतालों, श्मशानों और पटना नगर निगम सहित विभिन्न स्रोतों से कोविड की मौतों की पुष्टि की है।”

 सरकार ने जिला स्तर पर समितियों का गठन किया, जिसमें सिविल सर्जन, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी और एक वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी शामिल थे।  इसने मेडिकल कॉलेज अस्पताल स्तर पर प्राचार्य, अधीक्षक और चिकित्सा विभाग के प्रमुख को सभी मौतों की जांच करने का काम सौंपा।  नियमों के तहत, किसी भी कोविड -19 की मौत को तीन दिनों के भीतर राष्ट्रीय पोर्टल पर अपलोड करना था।

 अमृत ​​ने कहा कि सरकार कोविड मौतों को दर्ज करने में ढिलाई बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई करेगी।  उन्होंने कहा, “हम कोविड -19 मौतों के बारे में बिल्कुल पारदर्शी होना चाहते हैं ताकि शोक संतप्त परिवार को सरकारी राहत मिले।”  बिहार कोविड -19 की मौत के मामले में मृतक के परिजनों को ₹4 लाख का मुआवजा देता है।  

Bihar

Jun 09 2021, 11:42

दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में सामने आया एक और घोटाला, नवादा के वारसलीगंज ब्रांच में मैनेजर और स्टॉफ ने मिलकर निकाल लिए ग्राहकों के खाते से 92.18 लाख रुपये
  



डेस्क :  दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में एक और घोटाला सामने आया है। बक्सर के बाद यह नवादा जिले में यह घोटाला हुआ है। जिले के वारसलीगंज थाना क्षेत्र स्थित ब्रांच में 92.18 लाख घोटाला का मामला सामने आया है। . इस मामले में बैंक की पूर्व मैनेजर मधुलिका रानी, ब्रांच मैनेजर योगेश कुमार एवं कैशियर विशाल कुमार को आरोपित बनाते हुए मामला दर्ज कराया है।


वर्तमान मैनेजर विनोद कुमार द्वारा थाना को दिए एफ़आईआर की प्रति में 92 लाख 18000 रुपये वित्तीय अनियमितता का जिक्र करते हुए कहा गया है कि 2019 में उपरोक्त तीनों बैंककर्मी दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक वारसलीगंज शाखा में कार्यरत थे। तीनों की मिलीभगत से विभिन्न जमाकर्ताओं के फिक्स डिपोजिट खातों को बंद कर दूसरे खाते में राशि का अंतरण पर रुपए का गबन कर लिया गया। शिकायत मिलने के बाद ही पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। 


बताया जाता है कि वारसलीगंज शाखा में पदस्थापन के दौरान उक्त कर्मियों द्वारा फिक्स्ड डिपॉजिट खातों की राशि को मॉडिफिकेशन के नाम पर निकाल लिया जाता था। बीच में ग्राहक अगर पहुंच गए तो उन्हें रुपया भुगतान कर दिया जाता था। ऐसे में बात सामने नहीं आ पाती थी। इस बीच सभी पदाधिकारियों का तबादला हो गया.
इसके बाद एक-एक कर कई ग्राहक सामने आये जिनका खाता क्लोज बताया गया। ग्राहको की शिकायत के बाद इसकी सूचना बैंक प्रबंधक द्वारा क्षेत्रीय प्रबंधक नवादा को दी गई। जिसके बाद मामले की जांच शुरू हुई है। फिलहाल मामला के सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है और इसकी जांच की जा रही है।

बता दें इससे पहले बक्सर से ऐसा ही मामला सामने आया था। जिसमें मैनेजर को पटना से पिछले दिनों गिरफ्तार किया गया था।

Bihar

Jun 09 2021, 11:20

बिहार में आज से शुरु हुआ अनलॉक, जानिए पूरा डिटेल
  


पटना : बिहार में पिछले 5 मई से जारी लकडाउन का कल 8 जून को खत्म हो गया। वहीं आज 9 मई से अनलॉक शुरू हो गया। मंगलवार को अपदा प्रबंधन विभाग की हूई बैठक में अनलॉक का फैसला लिया गया था। सीएम नीतीश कुमार ने खुद लॉकडाउन को खत्म किये जाने का एलान किया था। 

इस अनलॉक में जहां कई तरह के छूट दिये गये है। वहीं कुछ पांवदियां पहले की तरह जारी रहेगी। लगातार 35 दिनों के बाद हुए इस अनलॉक पर सभी की नजर है। इतने दिनों के बाद बाजार के खुलने पर सबकी निगाहें दुकानों के खुलने के शेड्यूल पर है। 

हाईकोर्ट के निर्णय के अनुसार दुकानों को तीन श्रेणियों में बांटते हुए उन्हें खोलने का निर्देश दिया गया है।पहली श्रेणी में प्रतिदिन खुलने वाली दुकान हैं, जिसमें किराना दुकान, डेयरी, मिल्क बूथ, फल-सब्जी मंडी, प्रमुख हैं। 

दूसरी श्रेणी में सोमवार, बुधवार, शुक्रवार को खुलने वाले दुकानों/प्रतिष्ठानों में सैलून पार्लर, इलेक्ट्रॉनिक दुकानें, पंखा, कूलर, मोबाइल शॉप, ऑटोमोबाईल वर्क्स शॉप/गैरेज/ सर्विसिंग सेन्टर शामिल हैं। 

जबकि तीसरी श्रेणी में मंगलवार, गुरुवार, शनिवार को खुलने वाली दुकानें हैं। इसमें कपड़े की दुकान, ज्वेलर्स, चप्पल की दुकान, बर्तन, स्पोर्ट्स की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। 


प्रतिदिन खुलने वाली दुकान/प्रतिष्ठान 
1. किराना दुकान
2. डेयरी/मिल्क बूथ
3. फल/सब्जी मंडी
4. मीट एवं मछली की दुकानें
5. अनाज मंडी
6. पी०डी०एस० की दुकानें
7. उर्वरक, बीज, कीटनाशक और कृषि यंत्रों से
8. पशु चारा की दुकान संबंधित प्रतिष्ठान/दुकानें
9. पेट्रोल पंप/गैस एजेन्सी/अन्य आवश्यक सेवाएं


सोमवार, बुधवार, शुक्रवार को खुलने वाली दुकानें/प्रतिष्ठानें 
1. इलेक्ट्रिकल गुड्स, पंखा, कूलर, एयर-कन्डीशनर्स (बिक्रय एवं मरम्मत)
2. इलेक्ट्रॉनिक गुड्स-यथा, मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, यूपीएस एवं बैट्री (बिक्रय एवं मरम्मत)
3. सैलून, पार्लर
4. ऑटोमोबाईल वर्क्स शॉप/गैरेज/ सर्विसिंग सेन्टर
5. High Security /registration Plate की दुकान।
6. ऑटोमोबाईल्स, टायर एवं ट्यूब्स, Lubricant(मोटर वाहन/मोटर साईकिल/स्कूटर मरम्मत सहित)
7.वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र
8.साईकिल/साईकिल मरम्मति की दुकान
9. फर्निचर की दुकान।
10. स्टेशनरी
11. सौन्दर्य प्रसाधन की दुकान


मंगलवार, गुरुवार, शनिवार खुलने वाली दुकानों/प्रतिष्ठानों की सूची
1. कपड़ा की दुकान (रेडिमेड वस्त्र की दुकान सहित)
2. बर्तन की दुकान।
3. सोना-चांदी की दुकान।
4. स्पोटर्स/ खेलकूद सामग्री की दुकान ।
5. ड्राई क्लीनर्स की दुकान।
6. जूता-चप्पल की दूकानें।
7. निर्माण रागिनी के गंडारण एवं बिक्री रो संबंधित |
8. अन्य रागी दुकान जो किसी सूची में नहीं प्रतिष्ठान यथा, सिमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, गिट्टी, | हो। सिमेंट ब्लॉक, इंट, प्लास्टिक पाइप, hardware सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंट, शटरिंग सामग्री।

Bihar

Jun 09 2021, 10:30

अनलॉक होते ही बिहार से मजदूरों का पलायन हुआ शुरु, रेलवे स्टेशनों पर दिख रहा ऐसा नजारा
  


पटना : कोरोना काल में पेट की मजबूरी मजदूर यात्रियों को पलायन के लिए मजबूर कर रही है। देश के बड़े शहरो में अनलॉक होते ही फिर से बिहार के मजदूरों का पलायन शुरू हो गया है। रोजगार की तलाश में बड़ी संख्या में मजदूर यात्री पंजाब, हरियाणा और दिल्ली प्रदेश का रुख करने लगे हैं। 

दिल्ली, मुंबई, पंजाब की ओर जाने वाली ट्रेनों में मजदूरों की भीड़ उमड़ने लगी है। मजदूर यात्रियों की वजह से लंबी दूरी की ट्रेनों में सीट के लिए मारामारी शुरू हो गई है। रेलवे स्टेशनों पर मजदूरों की बड़ी तदाद देखने को मिल रही है। वहीं एकबार फिर से कंफर्म टिकट के लिए मारामारी शुरु हो गई है। 

बता दें कि कोरोना काल में कोरोना कहर के बाद फैक्ट्री बंद होने एवं परदेशों में व्यवसाय प्रभावित होने के मजदूर अपने-अपने घर लौट गए थे, लेकिन अब अनलॉक होने की सूचना के बाद लौटने के लिए मजदूरों की भीड़ स्टेशन पर उमड़ने लगी है। 


कोरोना काल में मजदूरों के इस पलायन को लेकर जब उनसे पूछा गया तो वे बड़े ही मायूष होकर बताया कि अगर कमाने के लिए दूसरे राज्य नहीं जाएंगे तो यहां खाएंगे क्या। यहां घर पर रहने के बाद रोजगार नहीं मिलने के कारण खाने की बन आई थी। अभी रोपणी का समय है। पंजाब, हरियाणा आदि राज्यों में उन्हे रोजगार मिल जायेगा।

Bihar

Jun 09 2021, 10:28

पटना : कैबिनेट की बैठक में 10 प्रस्तावों पर लगी मुहर, मुखिया, प्रखंड प्रमुख व सरपंच होंगे परामर्शी समिति के अध्यक्ष
  


पटना :  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कुल दस प्रस्तावों पर स्वीकृति मिली। जिसमे पंचायती राज विभाग के प्रस्ताव परामर्शी समिति के मुखिया, प्रमुख, सरपंच और जिला परिषद अध्यक्ष को अध्यक्ष अध्यक्ष रखने पर मुहर लगाई गई।  

इन सभी निर्वाचित प्रतिनिधियों के अधिकार, कर्तव्य और भत्ता आदि आगे भी जारी रहेंगे। इससे साफ जाहिर है कि पूर्व की तरह प्रतिनिधि अगला चुनाव होने तक कार्य करते रहेंगे। 


राज्य कैबिनेट की बैठक में  निर्णय लिया गया कि जिला परिषद और पंचायत समिति की परामर्शी समितियों में संबंधित क्षेत्र के लोकसभा सदस्य, राज्यसभा सदस्य, विधायक और विधान पार्षद भी बतौर सदस्य रहेंगे। ग्राम पंचायत और ग्राम कचहरी की परामर्शी समिति में किसी को भी बाहर से नहीं रखा गया है। समितियों की बैठक में वे सारे पदाधिकारी-कर्मी शामिल होंगे, जो पंचायतों की बैठक में हुआ करते थे। 

बता दें 16 जून से गठित त्रि-स्तरीय ग्राम पंचायतें और ग्राम कचहरी भंग हो जाएंगी, उनकी जगह अब परामर्शी समिति ही काम करेगी। 

विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने कहा कि ग्राम पंचायत और ग्राम कचहरी का कार्यकाल 15 जून और इसके आस-पास समाप्त हो रहा है।

Bihar

Jun 08 2021, 13:05

बिहार में हटा लॉकडाउन, लेकिन रहेंगी ये पाबन्दियां, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की घोषणा
  


पटना :बिहार सरकार ने राज्य में लगे लॉकडाउन खत्म कर दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद मीडिया को यह जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से दी। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन से कोरोना संक्रमण में कमी आई है।

अतः लाॅकडाउन खत्म करते हुये शाम 7ः00 बजे से सुबह 5ः00 बजे तक रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा। 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ सरकारी एवं निजी कार्यालय 4ः00 बजे अपराह्न तक खुलेंगे।

 दुकान खुलने की अवधि 5ः00 बजे अपराह्न तक बढेंगी।
आनलाईन शिक्षण कार्य किये जा सकेंगे। निजी वाहन चलने की अनुमति रहेगी। यह व्यवस्था अगले एक सप्ताह तक रहेगी। उन्होंने कहा अभी भी भीड़भाड़ से बचने की आवश्यकता है।

Bihar

Jun 07 2021, 12:08

बिहार में अब 24 घंटे कोरोना का वैक्सीनेशन, पटना में इन दो सेंटरों और अन्य जिलों में 1-1 सेंटर पर दिन-रात लगेगा कोरोना का टीका 
  


पटना : राज्य के सभी 38 जिलों में अब 24 घंटे वैक्सीनेशन होगा। राजधानी पटना में 2 सेंटरों पर जबकि अन्य 37 जिलों में 1-1 सेंटर पर सातो दिन 24 घंटे वैक्सीनेशन होगा। स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के 37 जिलों के सदर अस्पताल में वैक्सीनेशन की विशेष व्यवस्था का निर्देश दिया है। 

वहीं, पटना में पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और होटल पाटलिपुत्र अशोक में रविवार को DM डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने दोनों साइट का निरीक्षण कर टीकाकरण का आदेश दिया है। पटना में 8 जून से दोनों विशेष सेंटर चालू कर दिए जाएंगे।

स्वास्थ्य विभाग ने जो आदेश जारी किया है उस हिसाब से राज्य के सभी 37 जिलों के सदर अस्पताल में 24 घंटे वैक्सीनेशन की व्यवस्था बनाई गई है। जहां शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी और वैक्सीन भी 24 घंटे के लिए उपलब्ध कराई जाएगी। 

वहीं पटना में 24 घंटे वैक्सीनेशन को लेकर विशेष व्यवस्था बनाई गई है। डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि आम लोगों की सुविधा को लेकर 24 घंटे वैक्सीनेशन किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि पटना शहर में टीकाकरण के लिए दो ऐसे केंद्र बनाए गए हैं, जहां 24 घंटे निरंतर टीका दिए जाने की व्यवस्था की गई है। पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और होटल पाटलिपुत्र अशोक में सभी को वैक्सीन दी जाएगी। 

8 जून से इन दोनों केंद्रों पर टीकाकरण होगा। इसके लिए 3 पालियों में पर्याप्त संख्या में वैक्सीनेशन टीम, डॉक्टर, ANM एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर की प्रतिनियुक्ति की गई है। 18 वर्ष से 44 और 45 से अधिक उम्र वालों का टीकाकरण किया जाएगा। दोनों केंद्रों पर पहला और दूसरा डोज दिया जाएगा।