India

Oct 04 2019, 11:05

बिग बॉस 13 का डे अपडेट

सिद्धार्थ शुक्ला ने पार की सारी हदें, गाली से गूंज उठा बिग बॉस का घर

मुम्बई । बिग बॉस 13 में तीसरे दिन शुरु हुए हॉस्पिटल टास्क में आज काफी ज्यादा बवाल हुआ ।आज इस टास्क में कल मरीज बनी टीम अब डॉक्टर बनी और मरीजों को काफी असहनीय दर्द दिया गया। टास्क के दौरान ही सिद्धार्थ शुक्ला और शेफाली बग्गा में काफी ज्यादा घमासान हुआ। सिद्धार्थ शुक्ला और कोएना मित्रा डॅाक्टर बनते हैं और उनके सामने मरीज बनती हैं माहिरा और शहनाज गिल।

टास्क को लेकर शेफाली और सिद्धार्थ शुक्ला के बीच बहस होती है। सिद्धार्थ कहते हैं आप बिग बॅास नहीं है आपका शो नहीं है। आप चुप रहो। इस पर शेफाली गाली देते हुए बात करती हैं। सिद्धार्थ को गुस्सा आता है। आरती जाकर सिद्धार्थ को कहती हैं कि शेफाली को महत्व मत दो।इस बीच रश्मि देसाई जाकर दलजीत के सामने सिद्धार्थ शुक्ला की तारीफ करती हैं। बिग बॅास सभी को बुलाकर ये कहते हैं कि टीम बी ये टास्क जीत जाती है।

विजेता टीम में से किसी एक लड़की को घर की पहली क्वीन बनेगी। शेफाली खुद का नाम लेती हैं। शेफाली कहती हैं कि मैं बुरी बनी हूं। देवोलीना के लिए बी टीम के सभी सदस्य हामी भरते हैं। शेफाली इसके लिए बहस करती हैं। सभी देवोलीना का साथ देते हैं। शेफाली इसका विरोध करती हैं। टीम बी का फैसला नहीं आने पर बिग बॅास प्रक्रिया रद्द कर देते हैं। हर कोई शेफाली पर इसके लिए आरोप लगाता है।देवोलीना के साथ बहस होती है शेफाली की।

देवोलीना इससे बेहद दुखी हो जाती हैं और रोने लगती हैं। कोएना जाकर शेफाली से कहती हैं कि पहले आप टीम के लिए बुरी बन गईं। लेकिन अब आप टास्क रद्द होने के बाद खुद बुरी बन गई हैं। कोएना उन्हें समझाती हैं कहती है कि आप नॅामिनेशन के बाद बदल गई हैं। शेफाली कहती हैं कि मै पागल हूं और ऐसे ही रहूंगी। शेफाली का साथ अकेले में शहनाज गिल बात करती हैं कि मैं तेरा साथ देती हूं। शहनाज कहती हैं कि देवोलीना को इस वजह से वोट दिया कि वो टीम वर्क था। इसी के साथ इंतजार कीजिए कल के एपिसोड का।

India

Oct 04 2019, 11:00

स्वतंत्रता सेनानी एवं लेखक श्यामजी कृष्ण वर्मा की आज जयंती है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें याद किया है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि देश के महान सपूत श्यामजी कृष्ण वर्मा को उनकी जयंती पर शत-शत नमन.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्यामजी कृष्ण वर्मा को किया नमन

स्वतंत्रता सेनानी एवं लेखक श्यामजी कृष्ण वर्मा की आज जयंती है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें याद किया है. पीएम मोदी ने श्यामजी कृष्ण वर्मा को उनकी जयंती पर नमन किया।
पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि देश के महान सपूत श्यामजी कृष्ण वर्मा को उनकी जयंती पर शत-शत नमन. देश हो या विदेश, उन्होंने अपनी क्रांतिकारी गतिविधियों के जरिए स्वतंत्रता के संकल्प को लगातार बल दिया. आजादी के संघर्ष में उनका योगदान देशवासियों के लिए सदैव प्रेरणास्रोत बना रहेगा.
कौन थे श्यामजी कृष्ण वर्मा?
श्यामजी कृष्ण वर्मा का जन्म 4 अक्टूबर 1857 को गुजरात के मांडवी में हुआ था. श्यामजी ने विदेश में रहकर भारत के स्वाधीनता संग्राम की क्रांति को जारी रखा. श्यामजी ने ऑक्सफर्ड विश्वविद्यालय से अपनी शिक्षा हासिल की थी. इंग्लैंड में उन्होंने भारतीय छात्रों के रहने के लिए मकान खरीदा और उसका नाम 'इण्डिया हाउस' रखा. हालांकि बाद में यही हाउस क्रांतिकारी गतिविधियों का केंद्र बन गया. उन्होंने छात्रों की शिक्षा के लिए कई छात्रवृत्तियों की शुरुआत भी की. उनका निधन 30 मार्च 1930 को हो गया.

India

Oct 03 2019, 19:17

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मॉरिशस में मेट्रो एक्सप्रेस और अस्पताल का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मॉरीशस में मेट्रो एक्सप्रेस ऑपरेशन और एक नए ईएनटी अस्पताल का उद्घाटन किया। इस दौरान मॉरीशस के पीएम प्रवीण जुगनाथ भी दूसरी तरफ मौजूद रहे।

मॉरीशस में मेट्रो एक्सप्रेस और इएनटी अस्पताल के संयुक्त उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत और मॉरीशस दोनों विविध और जीवंत लोकतंत्र हैं। दोनों देश मिलकर विश्व में शांति के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

इस दौरान मॉरीशस के पीएम प्रवीण जुगनाथ ने पीएम मोदी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि हम भारत की सहायता के बिना हम मेट्रो एक्सप्रेस और न्यू ईएनटी अस्पताल जैसी परियोजनाओं को इतनी तेजी से पूरा नहीं कर पाते। इसके लिए मॉरीशस की जनता हमेशा भारत की आभारी रहेगी।

India

Oct 03 2019, 18:18

प्रियंका की पदयात्रा से यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर नदारद, अटकलें तेज

लखनऊ. गांधी जयंती  के मौके पर लखनऊ में प्रियंका गांधी की पदयात्रा के दौरान उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के अध्यक्ष पद को लेकर चर्चा गर्म रही. दरअसल पदयात्रा के दौरान कार्यकर्ताओं का ध्यान यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर  की अनुपस्थिति पर गया तो इस चर्चा को बल मिला. वहीं पदयात्रा के दौरान कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू और पूर्व सांसद जतीन प्रसाद संघर्ष करते नजर आए. अब चर्चा आम है कि इन्हीं दोनों में से किसी एक को यूपी कांग्रेस की कमान सौंपी जाएगी. दरअसल काफी दिनों से चर्चा है कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में बड़े बदलाव करने की दिशा में तैयारी कर ली है. इसमें कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया जा सकता है. वहीं सूबे के नए कांग्रेस अध्यक्ष के नाम का भी एलान जल्द होना है. कहा जा रहा है कि इस बार कांग्रेस संगठन में पिछली बार की तुलना में कई गुना पदाधिकारी कम होंगे. इनमें भी युवाओं को तरजीह दी जाएगी....

India

Oct 03 2019, 18:10

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जाएंगे करतारपुर साहिब, वे वहां पंजाब के मुख्यमंत्री के आमंत्रण पर जा रहें हैं

 उन्हें  पाक ने भी आमंत्रित किया था जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया था  अब पंजाब के सीएम का न्‍योता स्‍वीकारा

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करतारपुर साहिब के उद्घाटन समारोह में हिस्‍सा लेने के लिए वहां जाएंगे। वह नौ नवंबर को वहां जाने वाले पहले जत्‍थे में शामिल होंगे। पंजाब के मुख्‍यमंत्री के न्‍योते पर वह जाएंगे। दरअसल पाकिस्तान सरकार ने भी उन्हें निमंत्रण भेजा था लेकिन वह उसके निमंत्रण पर नहीं जाएंगे।

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने मनमोहन सिंह से गुरुवार को मुलाकात कर उन्हें करतारपुर कॉरीडोर के उद्घाटन पर चलने का न्योता दिया। इस तरह मनमोहन सिंह 9 नवंबर को पहले जत्थे में कैप्टन अमरिंदर के साथ करतारपुर जाएंगे।

उल्‍लेखनीय है कि करतारपुर कॉरिडोर श्रद्धालुओं के लिए 9 नवंबर को खोला जाएगा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री एसएम कुरैशी ने पिछले शुक्रवार को उन्‍हें आमंत्रित करने की बात कही थी। कुरैशी ने कहा, "हम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में आमंत्रित करना चाहेंगे।

वह सिख समुदाय का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। हम उन्हें औपचारिक आमंत्रण भी भेजेंगे।" पाकिस्तान ने कूटनीतिक चाल चलते हुए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रण नहीं भेजा, लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री डॉ। मनमोहन सिंह को आमंत्रित किया है। पाकिस्तान की यह कूटनीति सफल नहीं हुई।

India

Oct 03 2019, 16:36

भारत ने 502/7 पर घोषित की पारी, मयन्क अग्रवाल ने ठोका दोहरा शतक

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला विशाखापत्तनम के एसीए-वीडीसीए स्टेडियम में खेला जा रहा है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 7 विकेट गंवाकर 502 रन बनाए और इसी के साथ ही भारत ने अपनी पहली पारी घोषित कर दी. मयंक अग्रवाल ने 215 रन बनाए. उन्होंने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक लगाया. रोहित शर्मा ने 176 रन बनाए. चेतेश्वर पुजारा 6, विराट कोहली 20, अजिंक्य रहाणे 15, हनुमा विहारी 10 और ऋद्धिमान साहा 21 रन बनाकर आउट हुए. रोहित और मयंक दोनों ने अपनी-अपनी पारी में 23 चौके और छह छक्के लगाए. मयंक-रोहित ने पहले विकेट के लिए 317 रन की साझेदारी की. रवींद्र जडेजा 30 और रविचंद्रन अश्विन 1 रन बनाकर नाबाद रहे.

317 रन के स्कोर पर भारत को पहला झटका लगा. रोहित शर्मा दोहरे शतक से चूक गए और 176 रनों के निजी स्कोर पर आउट हुए. रोहित ने मयंक के साथ पहले विकेट के लिए 317 रनों की साझेदारी की. यह भारत के लिए टेस्ट में पहले विकेट के लिए तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है. पुजारा 17 गेंदों का सामना कर सिर्फ 6 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद कप्तान विराट कोहली भी 20 रन बनाकर आउट हो गए. मयंक अग्रवाल 215 रन और अजिंक्य रहाणे 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए.

उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे चौथे बल्लेबाज के तौर पर आउट हुए. केशव महाराज की गेंद पर टेम्बा बवूमा ने कवर में उनका कैच लिया. रहाणे ने मयंक के साथ 54 रन की साझेदारी की. मयंक अग्रवाल को डीन एल्गर ने आउट किया. मयंक फुलटॉस गेंद पर छक्का लगाना चाह रहे थे, लेकिन गेंद डेन पीट के हाथों में चली गई. हनुमा विहारी भी छक्का लगाने के प्रयास में आउट हुए. केशव महाराज की गेंद पर एल्गर ने मिड ऑफ बाउंड्री पर उनका कैच लिया. ऋद्धिमान साहा 21 रन पर आउट हुए. उन्होंने 16 गेंद की पारी में चार चौके लगाए. डेन पीट की गेंद पर मुथुसामी ने उनका कैच लिया.

मयंक अग्रवाल ने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक जड़ दिया है. मयंक अग्रवाल ने 215 रनों की पारी खेली इस दौरान उन्होंने 23 चौके और 6 छक्के लगाए. बता दें कि मयंक अग्रवाल भारत में अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे हैं.

  • India
     @India  मयंक अग्रवाल ने भारत में पहली ही टेस्ट पारी में दोहरा शतक जड़ दिया. इससे पहले अग्रवाल ने अपना शतक 204 गेंदों में पूरा किया था, जिसे उन्होंने अपने दोहरे शतक में बदल दिया. 
India

Oct 03 2019, 16:08

पूर्व  मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे और पूर्व कांग्रेस विधायक नितेश राणे भाजपा में शामिल 


मुम्बई । महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे और पूर्व कांग्रेस विधायक नितेश राणे बीजेपी में शामिल हो गए हैं। नितेश राणे ने हाल ही में कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। नितेश राणे के पिता नारायण राणे भी हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए थे। नारायण राणे फिलहाल राज्यसभा सांसद हैं।

बता दें कि नितेश राणे महाराष्ट्र की कंकावली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। नितेश ने साल 2014 में कांग्रेस के टिकट पर कंकावली सीट से बीजेपी के विधायक प्रमोद जठार को हराया था। हालांकि नितेश को 2014 और 2019 लोकसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ा था।

गौरतलब है कि नितेश के पिता और पूर्व सीएम नारायण राणे ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत शिवसेना से की थी। शिवसेना की ओर से ही वह राज्य के मुख्यमंत्री बने थे लेकिन उद्धव ठाकरे से मनमुटाव के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। शिवसेना छोड़ने के बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

India

Oct 03 2019, 16:06

पूर्व  मुख्यमंत्री नारायण राने के बेटे और पूर्व कांग्रेस विधायक नितेश राणे  भाजपा में शामिल 


मुम्बई । महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे और पूर्व कांग्रेस विधायक नितेश राणे बीजेपी में शामिल हो गए हैं। नितेश राणे ने हाल ही में कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। नितेश राणे के पिता नारायण राणे भी हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए थे। नारायण राणे फिलहाल राज्यसभा सांसद हैं।

बता दें कि नितेश राणे महाराष्ट्र की कंकावली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। नितेश ने साल 2014 में कांग्रेस के टिकट पर कंकावली सीट से बीजेपी के विधायक प्रमोद जठार को हराया था। हालांकि नितेश को 2014 और 2019 लोकसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ा था।

गौरतलब है कि नितेश के पिता और पूर्व सीएम नारायण राणे ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत शिवसेना से की थी। शिवसेना की ओर से ही वह राज्य के मुख्यमंत्री बने थे लेकिन उद्धव ठाकरे से मनमुटाव के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। शिवसेना छोड़ने के बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

India

Oct 03 2019, 16:00

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पूत्र आदित्य ठाकरे ने भरा नामांकन, हलफनामे में खुद को बताया करोड़पति

मुम्बई शिवसेना प्रमुख के बेटे आदित्य ठाकरे ने आज वर्ली विधानसभा सीट के लिए आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। वे ठाकरे परिवार के पहले ऐसे सदस्य हैं जो विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। चुनावी हलफनामे के मुताबिक आदित्य ठाकरे पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। वहीं आदित्य ठाकरे के पास कुल 11 करोड़ 38 लाख 5258 रुपये की संपत्ति है। उन्होंने कोई लोन नहीं ले रखा है।

चुनावी हलफनामे के मुताबिक आदित्य ठाकरे के पास 10 करोड़ 36 लाख 15,218 करोड़ की एफडी है। इसके अलावा 20 लाख 39 हजार रुपये के बॉन्ड शेयर हैं। उनके पास एक बीएमडब्ल्यू कार भी है जिसकी कीमत छह लाख 50 हजार रुपये हैं। 64 लाख 64075 रुपये के गहने हैं वहीं 10 लाख 22 हजार रुपये की दूसरी संपत्ति है। उन्होंने आय का स्रोत बिजनेस बताया है।

बता दें कि महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को चुनाव होने हैं। नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे। बीजेपी और शिवसेना के बीच जो सीट शेयरिंग हुई है उसके तहत शिवसेना के खाते में 124 सीटें गई हैं। इसमें से शिवसेना ने 70 उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया है।

वहीं बीजेपी ने 125 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया है। इसके अलावा रामदास अठावले की पार्टी आरपीआई के खाते में छह सीटें दी गई है। यानी सीटों के इन समझौतों को जोड़े तो 255 सीटों पर सबकुछ फाइनल है। 33 सीटों की तस्वीर अभी साफ नहीं है।

India

Oct 03 2019, 15:57

दिल्ली पुलिस को मिलने वाली  हाउस रेंट में गड़बड़ी करने बाले पुलिस कर्मचारी की गिरफ्तारी के लिये डीसीपी दफ्तर में ईओडब्लयू  का छापा, एक कॉन्स्टेबल गिरफ्तार

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने डीसीपी दफ्तर में छापा मारा तो हड़कंप मच गया। छापेमारी करने वाली टीम ने एक कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया है। फंड में गड़बड़ी के आरोप में ईओडब्ल्यू ने इस कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया है जबकि कुछ अन्य पुलिसकर्मियों की तलाश जारी है। वहीं, एक महिला दारोगा चकमा देने में कामयाब रही।

जानकारी के मुताबिक, आर्थिक अपराध शाखा ने मंगलवार को ही केस दर्ज किया था। आरोप है कि बाहरी दिल्ली पुलिस की अकाउंट ब्रांच में तैनात कुछ पुलिसकर्मी अन्य पुलिसकर्मियों को मिलने वाले हाउस रेंट अलाउंस के साथ हेराफेरी कर रहे हैं। इसी मामले में केस दर्ज किया गया और जांच के बाद अकाउंट ब्रांच में तैनात अनिल कुमार को गिरफ्तार किया गया। वहीं, छापेमारी के दौरान एक महिला दारोगा समेत कुछ पुलिसकर्मी भागने में कामयाब रहे।

पुलिस के मुताबिक, अनिल ने 24 सिपाहियों के हाउस रेंट अलाउंस में गड़बड़ी कर अपनी पत्नी के अकाउंट में डाल दिया था। ये पूरा मामला 20 लाख की गड़बड़ी का बताया जा रहा है। आर्थिक अपराध शाखा ने इस मामले में आईपीसी की 420, 409 और 120 के तहत मामला दर्ज किया है। फंड में गड़बड़ी का यह काला कारोबार कब से चल रहा था? इसमें और कौन-कौन से कर्मचारी शामिल हैं? इसकी भी जांच दिल्ली पुलिस सतर्कता शाखा कर रही है।