Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 20:43

11,504 बार डुबकी लगाकर इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में नाम किया दर्ज
  



हावड़ा: मध्य हावड़ा के तेलकल घाट के रहने वाले मुकेश गुप्ता तैराकी हैं. 17 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने हुगली नदी में 11,504 बार डुबकी लगाकर इंडिया बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में अपना नाम दर्ज करा लिया. उन्होंने चार घंटे 10 मिनट 38 सेकेंड में 11 हजार 504 बार डुबकी लगायी. 

गुरुवार को इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स के सदस्य आनंद वेदांत ने मुकेश को प्रमाणपत्र, बुक, मेडल और पेन देकर उन्हें पुरस्कृत किया. इस मौके पर वार्ड 29 के पूर्व पार्षद शैलेश राय उपस्थित थे. 

मुकेश ने बताया कि सुबह सात बजे से उसने डुबकी लगाना शुरू किया और यह रिकार्ड स्थापित किया. इसके लिए वह ढाई महीने से अभ्यास कर रहे थे. इस मौके पर काफी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित रहे. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 19:58

95 के बाद 92 साल के वृद्ध ने दी कोरोना को मात
  


हावड़ा:  95 साल की नंदरानी आर्चाय के बाद 92 साल के गोपीनाथ कुंडु ने कोरोना को मात दे दी. वह ग्रामीण हावड़ा के फुलेश्वर स्थित संजीवन अस्पताल में दाखिल थे. 23 दिनों के इलाज के बाद गुरुवार उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया. यह जानकारी अस्पताल के निदेशकर शुभाशीष मित्रा ने दिया. 

डॉ मित्रा ने बताया कि 25 मई को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. वह संक्रमण, बुखार और खांसी से पीड़ित थे. मरीज की उम्र अधिक होने के कारण डॉक्टरों के लिए एक चुनौती थी. प्रोफेसर एस चौधरी, डॉ के बसु रे, डॉ ए सामंत के नेतृत्व में एक टीम गठित की गयी. क्रिटिकल केयर यूनिट में इलाज शुरू हुआ और अंतत 15 जून को उनका कोविड रिपोर्ट निगेटिव आया. दो दिनों तक निरीक्षण में रखने के बाद उन्हें गुरुवार को डिस्चार्ज कर दिया गया. 

उल्लेखनीय है कि मध्यमग्राम की रहने वालीं 95 वर्षीय नंदरानी आचार्य भी कोरोना से पीड़ित हुई थी. मेट्रो रेलवे के तपन सिन्हा मेमोरियल अस्पताल में उन्हें भरती किया गया था और वह भी कोरोना को मात देने में सफल हुई थीं. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 19:45

शहर के साथ-साथ रेल पटरियों पर लगा पानी, ट्रेन से उतर कर पैदल स्टेशन पहुंचे यात्री
  


हावड़ा: पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश से पूरा शहर फिर से पानी-पानी हो गया. दशकों से जूझ रही जलजमाव की समस्या से शहर को मुक्ति कब मिलेगी, इसका जबाव किसी के पास नहीं है. हालांकि पिछले दिनों मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नगर निगम को जलजमाव की समस्या से निबटने के लिए मास्टर प्लान तैयार करने को कहा है. सीएम के इस निर्देश के बाद निगम आयुक्त धवल जैन ने शहरी विकास व नगरपालिका मामलों की मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्या से मुलाकात भी की है, लेकिन वर्षों पुरानी यह समस्या आज भी शहरवासियों के लिए सिरदर्द बनी हुई है. 

बताया जाता है कि नगर निगम के पास शहर के भूमिगत नालों का कोई नक्शा नहीं है. यही कारण है कि जलजमाव की समस्या का निदान स्थायी तौर पर नहीं हो पा रहा है. दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से सत्यबाला, लिलुआ, इस्ट-वेस्ट बाइपास, पंचान्नतला रोड, टिकियापाड़ा, बेलगछिया, बांधाघाट, बनारस रोड सहित अन्य इलाके घुटने भर पानी में चले गये. 

वहीं दूसरी तरफ, हावड़ा स्टेशन के पहले रेलवे पटरियों पर पानी जमने की खबर है. पटरियों पर पानी जमने से रेल सेवा प्रभावित हुई. स्टाफ स्पेशल लोकल ट्रेनों से हावड़ा जाने वाले यात्री कारशेड के पास ही ट्रेन से उतर गये और रेल पटरी होते हुए पैदल हावड़ा स्टेशन पहुंचे.

 उलबेड़िया में जमीन धंसी-
 उलबेड़िया काली नगर में वर्षा के कारण जमीन धंस गयी. करीब 50 मीटर रास्ते की जमीन धंसने से अफरा-तफरी मच गयी. जमीन धंसने से पांच दुकानें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 19:16

आठ स्पेशल ट्रेनों के परिचालन अवधि में हुआ विस्तार
  


कोलकाता: यात्रियों की सुविधा के लिये 30 जून तक आठ स्पेशल ट्रेनों के परिचालन अवधि का विस्तार अगली सूचना तक किया गया है.  इन ट्रेनों के चलने के दिन, ठहराव एवं समय पहले की तरह रहेगा. इसमें सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे.

ट्रेनों के नाम-
. 05048/05047, गोरखपुर-कोलकाता-कोलकाता पूजा स्पेशल का का विस्तार 30 जून तक.
. 05050/05049, गोरखपुर-कोलकाता-गोरखपुर स्पेशल का विस्तार 30 जून तक.
. 05052/05051, गोरखपुर-कोलकाता स्पेशल का विस्तार 30 जून तक.
. 05022/05021, गोरखपुर-शालीमार स्पेशल का विस्तार 30 जून तक. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 18:52

विदेशी होटल में नौकरी देने का प्रलोभन देकर ठगी,
  


- दूसरे के अकाउंट व फोन नंबर के माध्यम से की  जालसाजी

हावड़ा:  हांगकांग के एक होटल में नौकरी देने का प्रलोभन देकर एक युवक से 53 हजार रुपये की जालसाजी की गयी. ठगी का शिकार होने के बाद युवक थाने पहुंचा और घटना की लिखित शिकायत दर्ज करायी. 

घटना ग्रामीण हावड़ा के उलबेड़िया की है. जिला पुलिस की साइबर क्राइम डिविजन मामले की जांच में जुटी है. हालांकि अभी तक जालसाजों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है. पुलिस का प्राथमिक अनुमान है कि इस जालसाजी के पीछे झारखंड का जामताड़ा गैंग शामिल है.

क्या है घटना- 
 25 वर्षीय युवक का घर पूर्व बर्दवान के माधबडीही में है. वह उलबेड़िया में अपने दोस्त के घर रहता है. कोरोना काल में नौकरी चली गयी. नौकरी की तलाश में उसने एक वेबसाइट पर हांगकांग के एक होटल में नौकरी का आवदेन देखा. दिये गये फोन नंबर पर उसने संपर्क साधा. नौकरी तय हो गयी. सर्विस चार्ज के तौर पर युवक को 53 हजार रुपये देने के लिए कहा गया. युवक ने तीन किस्तों में रुपये का भुगतान कर दिया. कुछ दिनों के बाद युवक को हांगकांग का वीजा और होटल में नौकरी का नियुक्ति पत्र भेजा गया. 

युवक ने बताया कि इससे पहले होटल के अधिकारियों ने उसका 'वर्चुअल' तरीके से साक्षात्कार भी लिया था. वीजा को देखकर युवक को शक हुआ. उसने भारतीय विदेश कार्यालय की वेबसाइट पर जाकर वीजा के सत्यापन की पुष्टि की, तभी उसे पता चला कि वह ठगी का शिकार हुआ है. उसका नाम वीजा की सूची में नहीं था. 

बिना देर किये उसने नियुक्ति और वीजा भेजने वाली उक्त एजेंसी से संपर्क किया और कहा कि उसे नौकरी की जरूरत नहीं है. 53 हजार रुपये उसे लौटा दिये जायें. एजेंसी ने रुपये लौटने से इंकार कर दिया और इसके कुछ देर बाद ही फोन स्वीच ऑफ हो गया. ठगी का शिकार होते ही उसने उलबेड़िया थाने में शिकायत दर्ज करायी. मामले की गंभीरता को देखते हुए  साइबर क्राइम डिवीजन को जांच का जिम्मा सौंप दिया गया. 

 जांच करने उतरी पुलिस को पता चला कि जालसाजों ने युवक को फोन नंबर से 'गूगल पे' के माध्यम से रुपये भेजने को कहा था. फोन नंबर के आधार पर पुलिस को पता चला कि कोलकाता के मटियाब्रुज के रहने वाले एक व्यक्ति के अकाउंट में रुपया ट्रांसफर हुआ था. पुलिस ने उस व्यक्ति के पास पहुंची. पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि उसके अकाउंट में इतने रुपये कैसे व कहां से आ गये, इसके बारे में उसे कुछ नहीं पता. उसने बताया कि 53 हजार रुपये अकाउंट में आने के बाद तुरंत एक व्यक्ति ने फोन किया और कहा कि गलती से उसके खाते में रुपया ट्रांसफर हो गया है. रुपये नहीं लौटाने पर वह पुलिस लेकर पहुंच जायेगा. फोन करने वाले व्यक्ति ने रुपये लौटाने के लिए उससे डेबिट कार्ड का नंबर मांगा. उसने डेबिट कार्ड का नंबर बता दिया. नंबर बताते ही उसके अकाउंट से 53 हजार रुपये निकल गये. पुलिस के मुताबिक, जालसाजों ने दूसरों के अकाउंट नंबर और फोन नंबर के हवाले से जालसाजी करने में कामयाब हो गये. पुलिस जालसाजों की तलाश में जुटी है. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 18:16

कृषक बंधु योजना के तहत किसानों को मिलने लगा सलाना 10 हजार रुपये का अनुदान
  


योजना शुभारंभ के पहले दिन 9.78 लाख किसानों के बैंक खातों में हस्तांतरित की गयी 290 करोड़ की राशि

कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों से किये गये वादे को निभाते हुए उन्हें कृषक बंधु योजना के तहत मिलने वाली राशि को दोगुना कर दिया और बृहस्पतिवार से किसानों को प्रत्येक वर्ष 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी है. जानकारी के अनुसार, किसानों को  योजना का गुरुवार को शुभारंभ कर दिया. 

कृषक बंधु योजना के तहत राज्य के किसानों को पहले हर साल पांच हजार रुपये मिलते थे, जिसे बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया है. यह राशि दो किश्तों में किसानों को प्रदान की जायेगी. प्रथम किश्त खरीफ फसल की शुरूआत में और दूसरी किश्त रबि फसल की शुरूआत में प्रदान की जायेगी. गौरतलब है कि बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य सचिवालय के पास बने नवान्न सभागार में इस योजना के नये संस्करण का शुभारंभ किया. इसके तहत पहले दिन ही 22 जिलों के 9.78 लाख किसानों के सीधे बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से करीब 290 करोड़ की राशि हस्तांतरित कर दी गयी. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले कुछ दिनों में बाकी किसानों के बैंक खाते में भी रुपये भेज दिये जायेंगे. मुख्यमंत्री ने दावा किया कि देश में पहली बार किसी राज्य सरकार ने इस परिमाण में राशि देना शुरू किया है. पहले ही कृषक बंधु योजना के तहत 4,500 करोड़ रुपये का लाभ दिया जा चुका है. उन्होंने दावा किया कि बंगाल में किसानों की आय तीन गुना से अधिक हो गयी है और आने वाले दिनों में और बढ़ेगी. 

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा-पत्र में कृषक बंधु योजना के तहत किसानों को मिलने वाली वार्षिक सहायता राशि दोगुना करने का वादा किया था. तीसरी बार सत्ता में वापसी करने वाली ममता ने सरकार बनने के डेढ़ महीने के भीतर ही अपने इस वादे को पूरा कर दिया है. इस फैसले से करीब 62 लाख छोटे और सीमांत किसानों को फायदा होगा. दरअसल, बंगाल के किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए कृषक बंधु योजना की शुरुआत 2018 में ही की गयी थी. इसके तहत एक एकड़ से अधिक जमीन वाले किसानों को 5000 व एक एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को 2000 रुपये ही मिलते थे, जिसमें अब बढ़ा कर क्रमश: 10,000 और 4,000 रुपये कर दिया गया है. मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार की किसान सम्मान निधि योजना पर तंज कसते हुए कहा कि केंद्र सरकार की योजना में सिर्फ दो एकड़ से अधिक जमीन के मालिकों को ही अनुदान मिलता है, जबकि राज्य सरकार की कृषक बंधु योजना के तहत राज्य के हर किसान व खेत मजदूर को भी इसका लाभ मिलता है. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 17:50

दुर्गापुर बैराज से छोड़ा गया 12,000 क्यूसेक पानी
  


कोलकाता. झारखंड में लगातार हुई भारी बारिश के कारण दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) के दो बांधों से पानी छोड़े जाने के बाद पश्चिम बंगाल में दुर्गापुर बैराज से बृहस्पतिवार सुबह तक 12,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. 

इसके अलावा पड़ोसी राज्य के पंचेत और मैथन बांधों से भी 15,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया. अधिकारियों के मुताबिक डीवीसी के पंचेत बांध से 9,000 क्यूसेक और मैथन बांध से 6,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जिसके कारण दुर्गापुर बैराज में पानी का स्तर बढ़ गया. 

अधिकारियों ने कहा कि पानी का स्तर बढ़ जाने के कारण दुर्गापुर बैराज से 12,000 क्यूसेक पानी छोड़ना पड़ा. अब तक बाढ़ जैसे कोई हालात नहीं हैं. दुर्गापुर बैराज से यदि और अधिक पानी छोड़ा गया तो पश्चिम बर्दवान जिले में बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं. बैराज में पानी का स्तर 211.5 फुट हो गया है जो उसकी अधिकतम सीमा है. 

अधिकारियों ने बताया कि उत्तर बंगाल में भारी बारिश के कारण तीस्ता बैराज से 77,365 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 17:48

कंट्रोल नहीं कर सकते, इसलिए खत्म कर देना चाहते हैं : ममता
  


मुख्यमंत्री ने ट्विटर को ‘‘नियंत्रित करने की'' केंद्र की कोशिश की निंदा की

कोलकाता. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र और ट्विटर विवाद में सोशल मीडिया साइट का पक्ष लिया है. बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वो (केंद्र) ट्विटर को कंट्रोल नहीं कर सकते, इसलिए खत्म कर देना चाहते हैं. इसी तरह मेरी पार्टी को भी कंट्रोल नहीं कर सकते इसलिए मेरी पार्टी को बुलडोज करना चाहते हैं. 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्विटर को कथित तौर पर नियंत्रित करने की भाजपा नीत केंद्र सरकार की कोशिश की बृहस्पतिवार को निंदा की. उन्होंने दावा किया कि केंद्र माइक्रोब्लॉगिंग साइट को प्रभावित करने में असफल होने के बाद अब उसे प्रभावहीन करने का प्रयास कर रहा है. 

उन्होंने इसकी तुलना अपनी सरकार से करते हुए कहा कि उनकी सरकार के साथ भी केंद्र ऐसा ही व्यवहार कर रहा है. ममता बनर्जी ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘ मैं इसकी निंदा करती हूं. वे ट्विटर को नियंत्रित नहीं कर सकते तो अब उसे प्रभावहीन करने का प्रयास कर रहे हैं. वे (केंद्र) हर उस व्यक्ति के साथ यह कर रहे हैं जिसे अपने पक्ष में नहीं ला पा रहे हैं. वे मुझे नियंत्रित नहीं कर सकते, इसलिए मेरी सरकार को भी प्रभावहीन करने की कोशिश कर रहे हैं.'' 

गौरतलब है कि सोशल मीडिया साइट ट्विटर का भारत में कानूनी सुरक्षा कवच देश के सूचना प्रौद्योगिक नियमों का अनुपालन नहीं करने और नए दिशानिर्देश के तहत अधिकारियों की नियुक्ति नहीं करने से छिन गया है. अब तीसरे पक्ष की गैर कानूनी सामग्री की वजह से ट्विटर पर भी भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत कार्रवाई की जा सकती है. 

Howrahnewshindi

Jun 17 2021, 16:52

दपूरे कर रही है सिग्नलिंग सिस्टम को दुरूस्त
  


कोलकाता. दक्षिण पूर्व रेलवे लगातार ट्रेन संचालन में सुरक्षा और क्षमता बढ़ाने के लिए सिग्नलिंग सिस्टम के आधुनिकीकरण पर जोर दे रहा है. सिग्नलिंग प्रणाली का आधुनिकीकरण एक सतत प्रक्रिया है और इससे उच्च गति और खराब मौसम में भी ट्रेन के संचालन को सुविधाजनक बनाने में मदद मिलती है. 

आधुनिक सिग्नलिंग प्रणाली न केवल ट्रेन संचालन में सुरक्षा सुनिश्चित करती है, बल्कि निर्बाध संचालन प्रदान करने में भी मदद करती है. ट्रेन संचालन को सुरक्षित और अधिक कुशल बनाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग, रूट रिले इंटरलॉकिंग और पैनल इंटरलॉकिंग कार्यों के साथ आधुनिकीकरण पर जोर दे रहा है. 

दपूरे ने वर्ष 2020-21 के दौरान अपने अधिकार क्षेत्र में कई सिग्नलिंग प्रणालियों को चालू व संशोधित किया है. 26 स्टेशनों पर नयी इंटरलॉकिंग प्रणाली शुरू की गयी है. पुराने रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम को नौ स्टेशनों पर नये इंटरलॉकिंग सिस्टम से बदल दिया गया है. 12 स्टेशनों पर मैकेनिकल लीवर फ्रेम इंटरलॉकिंग सिस्टम को इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम में बदल दिया गया है.

 वित्तीय वर्ष 2021-22 में दपूरे ने कई सिग्नल कार्यों को पूरा करने की भी योजना बनायी है. आद्रा स्टेशन पर इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग के साथ रूट रिले इंटरलॉकिंग का काम पूरा किया जायेगा. हलुदपुकुर और औनलाझोरी स्टेशनों पर पैनल इंटरलॉकिंग का काम पूरा करने का लक्ष्य है. बोंडामुंडा, मुराडीह, डोमजुर, बरगछिया, बिरराजपुर और आद्रा स्टेशनों पर इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग कार्य पूरा करने का लक्ष्य है.

 इसके अलावा हावड़ा-खड़गपुर सेक्शन में ट्रेन सेवा को तेज गति से चलाने के लिए सीटीसी (सेंट्रलाइज्ड ट्रैफिक कंट्रोल) की भी योजना बनायी गयी है. 

Howrahnewshindi

Jun 16 2021, 17:42

बंगाली फिल्म अभिनेत्री स्वातिलेखा सेनगुप्ता का निधन,मुख्यमंत्री ने जताया शोक
  


कोलकाता: विख्यात बंगाली अभिनेत्री स्वातिलेखा सेनगुप्ता का बुधवार दोपहर को कोलकाता के एक अस्पताल में निधन हो गया. वह लंबे समय से किडनी के रोगों से जूझ रही थीं. स्वातिलेखा सेनगुप्ता के परिवार ने यह जानकारी दी. स्वातिलेखा सेनगुप्ता 71 वर्ष की थीं और उनके परिवार में पति रुद्रप्रसाद सेनगुप्ता और बेटी सोहिनी है. 

वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी स्वातिलेखा के निधन पर गहरा शोक जताया है और उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है. वहीं, बेटी सोहिनी ने कहा कि उनकी मां का निजी अस्पताल में पिछले 24 दिन से उपचार चल रहा था और अपराह्न लगभग तीन बजे उनका निधन हो गया. स्वातिलेखा को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था. 

वह अपने पति और बेटी के साथ नन्दीकर थियेटर समूह चलाती थीं. उन्होंने शिवप्रसाद मुखर्जी और नंदिता राय की फिल्म बेला सेशे में आरती का किरदार निभाया था.