Ayodhya

Jul 11 2024, 17:45

अधिकारियों ने लोगो को दी जानकारी

अयोध्या।सहायक आयुक्त हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग अयोध्या परिक्षेत्र श्री नीरज कुमार यादव ने सूचित किया है कि अयोध्या मण्डल/देवीपाटन मण्डल के पावरलूम बुनकरों/समिति/यूनिट के उत्थान हेतु मुख्यमंत्री बुनकर सौर ऊर्जा योजना का संचालन किया जा रहा है।

चूँकि नियमित विद्युत आपूर्ति के अभाव में अधिकांश बुनकरों द्वारा डीजल जेनरेटर का उपयोग पावरलूम के संचालन हेतु किया जाता है, जिसके फलस्वरूप वायु प्रदूषण का संकट बढ़ता है एवं उत्पादन की लागत में वृद्धि भी होती है। इसका संज्ञान लेते हुए बुनकरों को गैर पारम्परिक ऊर्जा/सौर ऊर्जा संयंत्र दिये जाने का (बैटरी सहित/बैटरी रहित) प्रस्ताव है। अयोध्या मण्डल/देवीपाटन मण्डल के पावरलूम बुनकरों/समिति/यूनिट से निवेदन है कि उपरोक्त योजना का लाभ लेने हेतु किसी भी कार्य दिवस में योजना की गाइड लाइन के अनुसार आवेदन हेतु कार्यालय-सहायक आयुक्त, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग, परिक्षेत्र अयोध्या से सम्पर्क कर सकतें है।

योजना में सामान्य पावरलूम बुनकर हेतु 50 प्रतिशत शासकीय अनुदान एवं 50 प्रतिशत स्वयं अपने स्रोतों से जमा करना पड़ेगा तथा अनुसूचित जाति/जनजाति के पावरलूम बुनकर हेतु योजना में 75 प्रतिशत शासकीय अनुदान एवं शेष 25 प्रतिशत स्वयं अपने स्रोतों से जमा करना पडेगा।

जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया कि हज कमेटी आफ इंडिया मुम्बई की वेबसाइट http://hajcommittee.gov.in पर हज सत्र-2025 के सम्बंध में सर्कुलर जारी किया गया है जिसमें हज व उमराह मंत्रालय सऊदी अरब द्वारा निर्देश जारी किये गये है जिसमें हज-2025 की तैयारियां जल्द आरम्भ होने की सूचना दी गयी है। हज-2025 हेतु इच्छुक आवेदकों को सूचित किया गया है कि जुलाई 2024 के अंतिम या अगस्त 204 के प्रथम सप्ताह तक हज-2025 की घोषणा कर दी जायेगी। इच्छुक आवेदक अपना अन्तर्राष्ट्रीय मशीन पठनीय पासपोर्ट तैयार रखें, ऐसे इच्छुक आवेदक जिनके पासपोर्ट की वैधता 15 जनवरी 2026 से पूर्व समाप्त हो रही है, ऐसे इच्छुक हज आवेदक अपना अन्तर्राष्ट्रीय पासपोर्ट तैयार रखें ताकि हज-2025 की घोषणा होने पर अपना आवेदन समय से कर लें। उक्त जानकारी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी अयोध्या ने दी है।

India

Jun 24 2024, 13:08

एनटीए परीक्षाओं की निगरानी के लिए इसरो के पूर्व अध्यक्ष की अध्यक्षता में बनी समिति, जानें कौन हैं डॉ के राधाकृष्णन?

#committeetooverseentaexaminationsledbyformerisro_chairman

नीट पेपर लीक और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है। इस बीच केन्द्र सरकार ने परीक्षा सुधारों पर सुझाव देने और राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) के कामकाज की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय पैनल का गठन किया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय का उच्च स्तरीय पैनल आज यानी सोमवार को बैठक करेगा। समिति को दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। जिन सुधारों की सिफारिश की गई है उन्हें अगले परीक्षा चक्र तक लागू किया जाएगा।

शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) के माध्यम से परीक्षाओं का पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन सुनिश्चित करने के लिए पूर्व इसरो अध्यक्ष डॉ. के. राधाकृष्णन की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। इस समिति में डॉ. राधाकृष्णन सहित सात सदस्य शामिल हैं। समिति के कार्यक्षेत्र में परीक्षा प्रक्रिया में सुधार की सिफारिश करना, डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल को बढ़ाना तथा एनटीए की संरचना और कार्यप्रणाली में सुधार करना शामिल है।

ऐसे का करेगी समिति

एनटीए की संरचना एवं कार्यप्रणाली के लिए उच्चस्तरीय समिति को सबसे पहले प्रत्येक स्तर पर पदाधिकारियों की भूमिका और जिम्मेदारियों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करना होगा। इसके बाद एनटीए की वर्तमान शिकायत निवारण प्रणाली का आकलन कर और सुधार के क्षेत्रों की पहचान कर इसकी कार्यकुशलता बढ़ाने की भी सिफारिशें देनी होंगी। समिति किसी भी विषय विशेषज्ञ की मदद ले सकती है।

समिति में शामिल हैं ये लोगः-

1. डॉ. के. राधाकृष्णन (पूर्व अध्यक्ष, इसरो)

2. डॉ. रणदीप गुलेरिया (पूर्व एम्स निदेशक)

3. प्रो. बी.जे. राव (कुलपति, हैदराबाद विश्वविद्यालय)

4. प्रो. राममूर्ति के. (आईआईटी मद्रास)

5. पंकज बंसल (सह-संस्थापक, पीपलस्ट्रॉन्ग, और बोर्ड सदस्य, कर्मयोगी भारत)

6. आदित्य मित्तल (डीन, छात्र मामले, आईआईटी दिल्ली)

7. गोविंद जायसवाल (संयुक्त सचिव, शिक्षा मंत्रालय)

कौन हैं डॉ. राधाकृष्णन ?

डॉ. राधाकृष्णन अकादमिक सुधारों के लिए मौजूदा सरकार के पसंदीदा शख्स रहे हैं। उन्होंने शिक्षा मंत्रालय द्वारा गठित कई समितियों का नेतृत्व किया है। डॉ. राधाकृष्णन एक मशहूर वैज्ञानिक हैं। जो भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। 1971 में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र से डॉ. राधाकृष्णन ने अपने करियर की शुरुआत की। उन्होंने सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SLV) प्रोजेक्ट में अहम जिम्मेदारी निभाई। डॉ. राधाकृष्णन विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर में बतौर डायरेक्टर भी रह चुके हैं। उनके मार्गदर्शन में इसरो ने मंगलयान मिशन को पहले ही प्रयास में मंगल तक पहुंचाया था। डॉ. राधाकृष्णन ने डॉ. जी माधवन नायर के रिटायरमेंट के बाद इसरो का अध्यक्ष पद संभाला। जहां उनकी पहली प्राथमिकता जीएसएलवी के लिए स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन को तैयार करना था।

2009 से 2014 तक डॉ. राधाकृष्णन इसरो के अध्यक्ष रहे। उनके नेतृत्व में भारत ने चंद्रयान-1 मिशन, मंगलयान (मार्स ऑर्बिटर मिशन) और जीसैट श्रृंखला के उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया। उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के विभिन्न क्षेत्रों में अहम योगदान दिया, जिसमें सैटेलाइट संचार, रिमोट सेंसिंग और अंतरिक्ष विज्ञान शामिल हैं। अपने कार्यों के लिए डॉ. राधाकृष्णन को साल 2014 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। उनके नेतृत्व और वैज्ञानिक योगदान के लिए उन्हें कई अन्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं।

इससे पहेल शुक्रवार को केंद्र सरकार ने प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी और अनियमितताओं पर लगाम लगाने के उद्देश्य से एक सख्त कानून लागू किया। यह नया कानून परीक्षाओं की ईमानदारी और निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए बनाया गया है, जो शैक्षणिक और व्यावसायिक उन्नति के लिए महत्वपूर्ण है। इसमें धोखाधड़ी और अन्य धोखाधड़ी गतिविधियों को रोकने के लिए कठोर दंड शामिल हैं। इस कानून के तहत दोषी पाए जाने वाले अपराधियों को अधिकतम 10 साल तक की जेल की सजा हो सकती है। इसके अलावा, कानून में भारी जुर्माना भी लगाया गया है, जिसकी अधिकतम सजा 1 करोड़ रुपये तक है।राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों की रोकथाम) अधिनियम, 2024 को मंजूरी दिए जाने के लगभग चार महीने बाद, कार्मिक मंत्रालय ने शुक्रवार रात एक अधिसूचना जारी की, जिसमें घोषणा की गई कि कानून के प्रावधान 21 जून से लागू होंगे।

India

Jun 09 2024, 13:21

नीट यूजी ग्रेस मार्क्स विवादःजांच के लिए बनी कमेटी, एक हफ्ते में रिपोर्ट आएगी

#neet_ug_2024_result_controversy_nministry_formed_committee_to_review 

केंद्र सरकार ने नीट यूजी में ग्रेस अंक विवाद को फिर से जांचने के लिए कमेटी का गठन किया है। शिक्षा मंत्रालय ने 1,500 से अधिक उम्मीदवारों को दिए गए ग्रेस मार्क्स की समीक्षा के लिए चार सदस्यीय पैनल का गठन किया है। यूपीएससी के पूर्व अध्यक्ष की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय समिति एक अंदर अपनी सिफारिशें प्रस्तुत करेगी। जिसके बाद इन उम्मीदवारों के परिणामों में संशोधन किया जा सकता है। वहीं, नीट यूजी रिजल्ट में गड़बड़ी के आरोपों के चलते एनटीए ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी आरोपों पर स्पष्टीकरण दिया।

एनटीए ने किसी भी अनियमितता का खंडन करते हुए कहा है कि एनसीईआरटी पाठ्य पुस्तकों में बदलाव और परीक्षा केंद्र में समय जाया होने के लिए दिए गए ग्रेस मार्क्स विद्यार्थियों के अधिक अंक आने की वजह हैं। एनटीए ने सभी आरोपों को खारिज कर कहा कि परीक्षा में कोई धांधली नहीं हुई है। तय मानक के तहत ही एग्जाम हुआ है। एनटीए के महानिदेशक सुबोध कुमार सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कहा कि ग्रेस मार्क्स दिए जाने से परीक्षा के योग्यता मानदंड पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है और प्रभावित अभ्यर्थियों के परिणामों की समीक्षा से प्रवेश प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा। वहीं कुछ छात्रों के लिए परीक्षा दोबारा आयोजित करने के सवाल पर एनटीए महानिदेशक ने कहा कि इसका निर्णय समिति की सिफारिशों के आधार पर किया जाएगा।

इस बीच रिजल्ट में गड़बड़ियों के विरोध में दिल्ली और कलकत्ता हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई हैं। एग्जाम में टॉपर्स की बढ़ी हुई संख्या, मार्किंग स्कीम से अलग ग्रेस मार्क्स देना, आंसर की में बदलाव और एग्जाम से पहले ही पेपर लीक जैसे आरोप लगाए गए हैं।

मेडिकल प्रवेश परीक्षा का परिणाम 4 जून को घोषित किया गया था। घोषित परिणामों ने असाधारण रूप से बड़ी संख्या में उन उम्मीदवारों का तत्काल ध्यान आकर्षित किया, जिन्होंने 720/720 का सही स्कोर प्राप्त किया और इस तथ्य के लिए कि कुछ उम्मीदवारों को 718 या 719 अंक मिले। जिनके बारे में दूसरों का दावा था कि इस योजना में इसे प्राप्त करना असंभव था। वहीं कुछ उम्मीदवार पेपर लीक के भी आरोप लगे हैं।

Gaya

May 14 2024, 19:08

गया कॉलेज गया में छात्र जदयू एमयू अध्यक्ष ने किया प्रेस वार्ता, बोले- एससी-एसटी छात्र एवं पीजी नामांकन में लिए शुल्क को करना होगा वापस

गया : शहर के रामपुर स्थित गया कॉलेज गया में छात्र जदयू मगध विश्वविद्यालय अध्यक्ष उत्तम कुशवाहा ने प्रेस वार्ता का आयोजन किया। इस दौरान प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए छात्र जदयू मगध विश्वविद्यालय अध्यक्ष उत्तम कुशवाहा ने कहा कि पीजी नामांकन सत्र 22-24 में SC/ST छात्र एवं  सभी वर्ग की छात्राएं से मगध विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में द्वारा मनमानी शुल्क वसूला जा रहा है जबकि SC/ST छात्र एवं सभी वर्ग की छात्राएं का नामांकन निशुल्क है।

जब इसकी शिकायत मगध विश्वविद्यालय के कुलपति से किया गया तो कुलपति ने 9 मई 2024 को पत्र जारी कर सभी कॉलेज के प्राचार्यों को आदेश दिया था कि नामांकन निःशुल्क करें। साथ ही अगर अवैध वसूली किया जायेगा तो सभी प्राचार्यो पर कार्रवाई करने की बात कहीं गयी थी, इसके बावजूद कुलपति के आदेश की अवहेलना सभी प्राचार्य कर रहे हैं और मनमानी शुल्क वसूल रहे हैं।

साथ ही उत्तम कुशवाहा ने कहा कि हमारी संगठन की ओर से मगध विश्वविद्यालय के कुलपति को हम लोग आज सभी प्राचार्य पर कार्रवाई हेतु ज्ञापन सौंपेंगे। अगर हमारी मांगों को पूरी नहीं की जाती है तो बहुत जल्द ही हमारे संगठन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर इसकी शिकायत करेंगे।

1.Sc/St के छात्र छात्राओं से पीजी में शुल्क वसूलना महाविद्यालय के प्राचार्य अविलंब बंद करें।

2. पीजी नामांकन में नामांकन प्रक्रिया को शुरू करने के लिए ₹600 की राशि को कम करना होगा।

3.वि.वि. परिसर सहित सभी विभागों एवं छात्रावासों में पीने योग्य शुद्ध पेयजल एवं शौचालय की अविलंब व्यवस्था हो।

4.वि.वि.परिसर में बन्द पड़े टावर लाईट को अविलंब ठिक कराया जाए।

05. छात्रों का वि.वि. स्नातकोत्तर 20-22, 21-23 सहित लबित परीक्षाओं का परिणाम अविलंब जारी हो

06. छात्रों का मूल प्रमाण-पत्र (डिग्री) एवं अंक पत्र की मूल प्रति अविलंब उपलब्ध कराया जाए ,जिसकी पेपर क्वालिटि उत्तम हो ।

07. वि.वि. एवं महाविद्यालयों में One Man One post की नीती अविलंब लागू हो।

08. वि.वि.एवं महाविद्यालयों में वैसे किसी शिक्षक को कोई पद न दिया जाए जिन पर FIR हो।

09. वि.वि.एवं महाविद्यालयों में Traditional / Vocational कोसों में अतिथि शिक्षकों की बहाली अविलंब हो।

10. वि.वि. के केन्द्रीय पुस्तकालय को अविलंब दुरूस्त किया जाए।

11. वि.वि. में महिला जेन्डर सेल (GS CASH) Gender Sensitization Committee Against Sexual Harassment की अविलंब स्थापना हो ।

12. छात्रावासों में खेल-कूद का समान, पुस्तकालय, अखबार एवं पंखे के व्यवस्था अविलंब हो।

13. वि. वि.के सभी विभागों में पुराने श्याम पट को डिजिटालाईजड किया जाए।

14. वि.वि. के खिलाड़ीयो के साथ हो रहे दुव्यवहार की जाँच हो।

15. सभी वोकेशनल कोर्सेज के परीक्षा के परिणाम को जल्द से जल्द जारी किया जाए।

इस मौके पर मगध विश्वविद्यालय महासचिव गोरेलाल, सचिव प्रेम प्रकाश, गया कॉलेज अध्यक्ष कुंदन कुमार, उपाध्यक्ष सत्यम सिंह, सुमित राज, अंकुश कुमार, रौनक कुमार, अमित कुमार, शिवम राज, चंद्रगुप्त आदित्य, पुरुषोत्तम, राहुल, बिट्टू चौधरी, एवं अन्य लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट मनीष कुमार

Hazaribagh

Mar 16 2024, 20:50

चुनाव आयोग नई दिल्ली ने प्रेस वार्ता कर लोक सभा निर्वाचन 2024 की घोषणा


हजारीबाग::भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली द्वारा आज 16 मार्च को प्रेस वार्ता आयोजित कर लोकसभा निर्वाचन 2024 की घोषणा की।

इसी क्रम में आज चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त नैंसी सहाय ने प्रेस वार्ता कर लोक सभा निर्वाचन 2024 की आधिकारिक घोषणा की।

उन्होंने प्रेस को बताया की झारखंड राज्य में कुल पांच चरणों में चुनाव आयोजित किए जायेंगे। जिसमें 5 कोडरमा एवं 14 हजारीबाग संसदीय निर्वाचन क्षेत्र हेतु पांचवें चरण में मतदान की तिथि निर्धारित की गई है हजारीबाग में पांचवे चरण यानी 20 मई को वोट डाले जाएंगे। 

निष्पक्ष मतदान हेतु मतदाता सूची को स्वच्छ बनाने के लिए 10758 मृत मतदाता, 13927 स्थानांतरित मतदाता एवं 4650 डुप्लीकेट मतदाताओं का नाम विलोपित किया गया है। कोई भी मतदाता छुटे नहीं की थीम पर कार्य करते हुए लगभग 96490 नये मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में जोड़ा गया है। जिसमें 18-19 आयु वर्ग के 44904 नये मतदाता पहली बार मतदान में हिस्सा लेंगे। जिले भर में दिव्यांग मतदाताओं की संख्या-21205 है।

80+ आयु वर्ग के मतदाताओं की संख्या-11483 है। जिले में महिला मतदाताओं की संख्या में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। वर्तमान में जिले का जेंडर रेशियो 947 की तुलना में 938 है। अगले विधान सभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए 7863 नये मतदाताओं को मतदाता सूची में निबंधन करने हेतु प्रपत्र 6 अग्रिम रूप में भरा गया है। वैसे दिव्यांग एवं 85+ आयु वाले मतदाता जो घर पर मतदान करना चाहेंगे उनके लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा का प्रावधान किया जा रहा है। 

मतदाताओं की संख्या(14-हजारीबाग लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र) की संख्या 1904116 है।

21 बरही में पुरुष मतदाताओं की संख्या 169445 है वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 159548, तृतीय लिंग मतदाता की संख्या एक एवं सर्विस वोटर की संख्या 498 सहित कुल मतदाता 329492 है।

22 बड़कागांव में पुरुष मतदाताओं की संख्या 179165 है वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 185210, तृतीय लिंग मतदाता की संख्या 12 एवं सर्विस वोटर की संख्या 582 सहित कुल मतदाता 364969 है।

23 रामगढ़ में पुरुष मतदाताओं की संख्या 179804 है वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 172354, तृतीय लिंग मतदाता की संख्या शून्य एवं सर्विस वोटर की संख्या 314 सहित कुल मतदाता 352472है।

24 मांडू में पुरुष मतदाताओं की संख्या 220498 है वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 206721, तृतीय लिंग मतदाता की संख्या 14 एवं सर्विस वोटर की संख्या 448 सहित कुल मतदाता 427681 है।

25 हजारीबाग में पुरुष मतदाताओं की संख्या 220079 है वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 207936 है,तृतीय लिंग मतदाता की संख्या 4 एवं सर्विस वोटर की संख्या 1483 सहित कुल मतदाता 429502 है। 

इस प्रकार पुरूष मतदाता 809323, महिला मतदाता 759273, तृतीय लिंग मतदाता 22, सेवा मतदाता की संख्या 3187 सहित कुल मतदाताओं की संख्या 1571805 है।

हजारीबाग जिला प्रशासनिक क्षेत्र में अवस्थित सभी 1668 मतदान केन्द्रों पर न्यूनतम मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है ताकि मतदान के समय किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो।

हजारीबाग जिला प्रशासनिक क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले कुल 1668 मतदान केन्द्रों के लिए 268 सेक्टर बनाया गया है तथा उसके लिए सेक्टर दण्डाधिकारी एवं सेक्टर पुलिस पदाधिकारी की नियुक्ति करते हुए प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। आदर्श आचार संहिता के तहत् निर्वाचन व्यय का अनुश्रवण हेतु स्वैतिक निगरानी दल,विडियो अवलोकन दल, उड़नदस्ता दल, विडियो निगरानी दल एवं लेखा दल का गठन करते हुए पदाधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। साथ ही c-VIGIL को active कर दिया गया है।

हजारीबाग जिला से 20 बरका 21 बरही, 24-माण्डू एवं 25 हजारीबाग विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र के मतदान पदाधिकारियों की नियुक्ति कर ली गई है। पीठासीन पदाधिकारियों एवं मतदान पदाधिकारियों का दिनांक 18.03.2024 से प्रशिक्षण हेतु कार्यक्रम निर्धारित है।

दिव्यांग एवं 85+ आयु वाले मतदाताओं की सुविधा के लिए व्हील चेयर की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। वैसे दिव्यांग एवं 85+ आयु वाले मतदाता जो घर पर मतदान करना चाहेंगे, उनके लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा का प्रावधान किया जा रहा है।

कोई भी मतदाता या आम नागरिक Voter Helpline App एवं टोल फ्री नम्बर-1950 के माध्यम से अपने बी०एल०ओ० एवं मतदान केन्द्र के संबंध में आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

KYC App के माध्यम से अपने अभ्यर्थियों के संबंध में जानकारी प्राप्त किया जा सकता है।

धन बल का दुरुपयोग की रोकथाम हेतु प्रवर्तन एजेन्सियों के साथ बैठक कर ली गई है तथा उन्हें :-VIGIL में सक्रिय कर दिया गया है।

जिला स्तर पर Media Certification and Monitoring Committee (MCMC) का गठन कर लिया गया है, जिसके द्वारा प्रिन्ट मिडिया एवं इलेक्ट्रोनिक मिडिया के माध्यम से हो रहे प्रचार-प्रसार के संबंध में अनुश्रवण किया जायेगा। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोक सभा निर्वाचन 2024 के लिए आज दिनांक 16.03.2024 की प्रेस नोट जारी किया गया है, जिसके साथ ही आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गई है।

05-कोडरमा एवं 14 हजारीबाग संसदीय निर्वाचन क्षेत्र हेतु पाँचवे चरण में मतदान की तिथि निर्धारित की गई है, जिसकी सम्पूर्ण विवरणी इस प्रकार है।

నిజంనిప్పులాంటిది

Feb 27 2024, 12:08

Rajnath Singh: ఏపీలో నేడు కేంద్ర మంత్రి రాజ్‌నాధ్ సింగ్ పర్యటన

అమరావతి: కేంద్ర మంత్రి రాజ్ నాధ్ సింగ్ (Rajnath Singh) మంగళవారం ఆంధ్రప్రదేశ్‌లో పర్యటించనున్నారు. ఈ సందర్భంగా విశాఖపట్నం (Visakha)లో వివిధ కార్యక్రమాల్లో ఆయన పాల్గొననున్నారు..

మధ్యాహ్నం ఢిల్లీ (Delhi) నుంచి ఆయన గన్నవరం విమానాశ్రయానికి వస్తారు. అక్కడి నుంచి రోడ్డు మార్గంలో బయలుదేరి విజయవాడలోని ఒక ప్రైవేటు హోటల్‌లో జరగనున్న బీజేపీ కోర్ కమిటీ (BJP core committee) సమావేశంలో ముఖ్య అతిథిగా పాల్గొంటారు.

పార్టీ ముఖ్య నేతలకు దిశానిర్దేశం చేస్తారు. అనంతరం రాజ్‌నాథ్ సింగ్ ఏలూరు బయలుదేరి వెళతారు. ఏలూరు ఇండోర్ స్టేడియంలో బీజేపీ కార్యకర్తల సమ్మేళనంలో పాల్గొంటారు. అక్కడ కార్యక్రమాలు ముగించుకుని గన్నవరం విమానాశ్రయం చేరుకుని ఢిల్లీకి బయలుదేరి వెళతారు..

Streetbuzznews

Feb 19 2024, 12:19

Mumbai's Creative Food Influencers Gather at True Tramm Trunk BKC for an Unforgettable Afternoon of Fun, Food, and Fabulous New Menu Offerings!

Mumbai, 18th Feb 2024: True Tramm Trunk, located right at the corner of BKC, sets the stage for a culinary and creative journey like no other. As an esteemed food influencer and journalist, Rajveer Singh recently attended the successful Influencers Meet which was solely hosted by none other than hospitality wizard Preetie Joshi. The event, held on a sunny Sunday afternoon, witnessed the convergence of over 75 top creative influencers from Mumbai, alongside prestigious guests like Randeep Gujral, the Vice President of the Food and Drug Welfare Committee of Maharashtra and CEO of Partra group, Vibha Narshana.

The vibrant atmosphere of True Tramm Trunk, coupled with its charming boho-chic ambiance, creates the perfect backdrop for a relaxed yet electric gathering. The latest menu curated by Head Chef Hitendra Gaikwad received accolades from guests for its innovative flavors and culinary finesse.

Amidst the mingling of creative minds, Preetie Joshi expressed her gratitude to the Directors of True Tramm Trunk, Mr. Nirmal Suresh Patel and Mr. Suresh Ishwarlal Patel, for their vision and dedication. The brilliant service, led by Restaurant Manager Amey Kharkanis, set the stage for an unforgettable experience, while the team of bartenders and live singers added a touch of magic to the ambiance.

True Tramm Trunk's menu boasts a wide range of options, from enticing platters to mouthwatering starters. However, it's the desserts that steal the spotlight, each offering a unique story through the chef's signature sweet treats.

Overall, True Tramm Trunk emerges as a lively space where party lovers can connect, exchange vibes, and foster creative ideas. Whether indulging in eclectic bar bites or sipping on handcrafted cocktails in the breezy outdoor seating area, guests are sure to be swept away by the fusion of flavors and creative energy at True Tramm Trunk.

For media inquiries and coverage, please contact Rajveer Singh +917710030004

Hazaribagh

Jan 18 2024, 18:10

स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान के अंतर्गत स्लैक क-ऑर्डिनेशन कमेटी की बैठक संपन्न

उपायुक्त नैंसी सहाय की अध्यक्षता में स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान के अंतर्गत SLAC Co-ordination Committee की बैठक संपन्न की गई।

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य कुष्ठ के कलंक को समाप्त करना और गरिमा को अपनाना है। समाज में कुष्ठ रोगियों के प्रति अभी भी घृणा समाप्त नहीं हुई है। जिसे हम सभी को मिलजुल कर इस भ्रांति को समाप्त करना है। यह पखवाड़ा पूरे जिले में 1212 गांव एवं 1976 स्कूलों में जागरूकता अभियान के द्वारा संचालित करने का लक्ष्य निर्धारित है।

अभी जिले में कुल कुष्ठ रोगियों की संख्या 329 है। यह रोग Mico-bactrium Lepry नामक जीवाणु से होता है। यह रोग न तो पूर्व जन्म का पाप है और ना ही अभिशाप।

मौके पर सिविल सर्जन, ACMO, DRCHO, DLO, DTO एवं जिले के सभी MOIC के साथ अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

WestBengalBangla

Jan 07 2024, 20:38

*St Johns Public School crowned Mayor’s Cup champions*

Sports News 

 

 Khabar kolkata News bureau: Anas Alam smashed a fighting unbeaten 93 while Piyush Karan bagged 5 for 38 as St Johns Public School outclassed Ratnakar North Point School by 123 runs in the final to emerge champions of the Mayor’s Cup Inter School tournament at the Eden Gardens on Sunday.

Congratulating the winning team and the runners up, CAB President Snehasish Ganguly said, "It was a wonderful final. Both teams put up a good show. I congratulate St Johns Public School for emerging champions. They played high intensity game and it nice to watch these young talents. I also congratulate Ratnakar North Point School who reached back-to-back finals."

This is the first time that a full length Mayor's Cup featuring 64 sides was completed in the first week of January. 

He also lauded the Junior Tournament Committee for flawlessly executing this tournament with these budding cricketers and completing the meet well before time keeping the Board Exams in mind. 

MMIC KMC Debasish Kumar, who was also present said, "I congratulate both the teams for displaying a good match. St Johns Public School played very well to come out winners while Ratnakar North Point School also performed well in the final. I would like to congratulate CAB President for completing Mayor's Cup within the first week of January. This is a record."

KKR CMO Binda Dey said, "It was a wonderful final. I congratulate both the teams for such a competitive final. Happy to be associated with such a fine tournament. I wish all the young players the best for the future."

10 cricketers scouted during the tournament will be groomed in the KKR academy. 

Earlier, batting first, St Johns Public School, recovered from 78/7 to post a competitive 230 in 76.5 overs on Day 1.

In reply, Ratnakar North Point School were bundled out for just 107 in 61 overs on Day 2. 

Besides, Piyush, Akhilesh Shukla bagged 4 for 45. 

Earlier, put into bat, St Johns Public School batters were put to a stern test as they were 7 down for just 78.

However, a valiant effort by Anas, which saw him smash 10 boundaries and one six, put his team in a fighting position.

For Ratnakar North Point School, Raunav Hazra and Hriddhi Nag Chowdhury bagged three wickets each. 

Chasing a tricky target, Ratnakar North Point School found themselves in deep trouble at 69 for 8.

Bijay Mondal, who top-scored with 38 runs, held fort at one end but wickets at regular intervals at the other end made it tough to chase the total down.

For his valiant match-winning knock, the man of the match was awarded to Anas.

The player of the tournament was awarded to Piyush for bagging 24 wickets in 7 matches. 

After an outstanding bowling performance throughout the tournament, St Johns Public School's Piyush bagged the best bowler of the tournament award while Aman Kharwar won the Best batsman of the tournament award.

 Pic Courtesy by: CAB

Farrukhabad1

Dec 27 2023, 19:41

*हज यात्रा के लिए ऑन लाइन आवेदन करने की तिथि बढ़ी*

फर्रुखाबाद l हज यात्रा की योजना बना रहे लोगों की लिए अच्छी खबर हैं| अब वे15 जनवरी 2024 तक हज यात्रा के लिए आवेदन कर सकेंगे| हज कमेटी के इस निर्णय के बाद अब फार्म भरने और इच्छुक प्रार्थियों को समय पर पासपोर्ट उपलब्ध कराने के लिए सहायता केंद्र 15 जनवरी तक खुला रहेगा|

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी जितेन्द्र कुमार नें बताया की हज आवेदकों के पास मशीन पठनीय पासपोर्ट होना अनिवार्य है, जो हज आवेदन पत्र भरने की अंतिम तारीख या उससे पहले का जारी किया हुआ होना चाहिए| इसकी वैधता कम से कम 31 जनवरी 2025 तक होनी चाहिए|

ऑनलाइन हज आवेदन पत्र भरने के लिए पासपोर्ट साइज फोटो, आधार कार्ड, कोरोना वैक्सीन की दो डोज का प्रमाण पत्र और ग्रुप लीडर के बैंक खाते का कैंसल चेक होना भी अनिवार्य है| उन्होंने बताया कि https://hajcommittee.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है|

Ayodhya

Jul 11 2024, 17:45

अधिकारियों ने लोगो को दी जानकारी

अयोध्या।सहायक आयुक्त हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग अयोध्या परिक्षेत्र श्री नीरज कुमार यादव ने सूचित किया है कि अयोध्या मण्डल/देवीपाटन मण्डल के पावरलूम बुनकरों/समिति/यूनिट के उत्थान हेतु मुख्यमंत्री बुनकर सौर ऊर्जा योजना का संचालन किया जा रहा है।

चूँकि नियमित विद्युत आपूर्ति के अभाव में अधिकांश बुनकरों द्वारा डीजल जेनरेटर का उपयोग पावरलूम के संचालन हेतु किया जाता है, जिसके फलस्वरूप वायु प्रदूषण का संकट बढ़ता है एवं उत्पादन की लागत में वृद्धि भी होती है। इसका संज्ञान लेते हुए बुनकरों को गैर पारम्परिक ऊर्जा/सौर ऊर्जा संयंत्र दिये जाने का (बैटरी सहित/बैटरी रहित) प्रस्ताव है। अयोध्या मण्डल/देवीपाटन मण्डल के पावरलूम बुनकरों/समिति/यूनिट से निवेदन है कि उपरोक्त योजना का लाभ लेने हेतु किसी भी कार्य दिवस में योजना की गाइड लाइन के अनुसार आवेदन हेतु कार्यालय-सहायक आयुक्त, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग, परिक्षेत्र अयोध्या से सम्पर्क कर सकतें है।

योजना में सामान्य पावरलूम बुनकर हेतु 50 प्रतिशत शासकीय अनुदान एवं 50 प्रतिशत स्वयं अपने स्रोतों से जमा करना पड़ेगा तथा अनुसूचित जाति/जनजाति के पावरलूम बुनकर हेतु योजना में 75 प्रतिशत शासकीय अनुदान एवं शेष 25 प्रतिशत स्वयं अपने स्रोतों से जमा करना पडेगा।

जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया कि हज कमेटी आफ इंडिया मुम्बई की वेबसाइट http://hajcommittee.gov.in पर हज सत्र-2025 के सम्बंध में सर्कुलर जारी किया गया है जिसमें हज व उमराह मंत्रालय सऊदी अरब द्वारा निर्देश जारी किये गये है जिसमें हज-2025 की तैयारियां जल्द आरम्भ होने की सूचना दी गयी है। हज-2025 हेतु इच्छुक आवेदकों को सूचित किया गया है कि जुलाई 2024 के अंतिम या अगस्त 204 के प्रथम सप्ताह तक हज-2025 की घोषणा कर दी जायेगी। इच्छुक आवेदक अपना अन्तर्राष्ट्रीय मशीन पठनीय पासपोर्ट तैयार रखें, ऐसे इच्छुक आवेदक जिनके पासपोर्ट की वैधता 15 जनवरी 2026 से पूर्व समाप्त हो रही है, ऐसे इच्छुक हज आवेदक अपना अन्तर्राष्ट्रीय पासपोर्ट तैयार रखें ताकि हज-2025 की घोषणा होने पर अपना आवेदन समय से कर लें। उक्त जानकारी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी अयोध्या ने दी है।

India

Jun 24 2024, 13:08

एनटीए परीक्षाओं की निगरानी के लिए इसरो के पूर्व अध्यक्ष की अध्यक्षता में बनी समिति, जानें कौन हैं डॉ के राधाकृष्णन?

#committeetooverseentaexaminationsledbyformerisro_chairman

नीट पेपर लीक और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है। इस बीच केन्द्र सरकार ने परीक्षा सुधारों पर सुझाव देने और राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) के कामकाज की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय पैनल का गठन किया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय का उच्च स्तरीय पैनल आज यानी सोमवार को बैठक करेगा। समिति को दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। जिन सुधारों की सिफारिश की गई है उन्हें अगले परीक्षा चक्र तक लागू किया जाएगा।

शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) के माध्यम से परीक्षाओं का पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन सुनिश्चित करने के लिए पूर्व इसरो अध्यक्ष डॉ. के. राधाकृष्णन की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। इस समिति में डॉ. राधाकृष्णन सहित सात सदस्य शामिल हैं। समिति के कार्यक्षेत्र में परीक्षा प्रक्रिया में सुधार की सिफारिश करना, डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल को बढ़ाना तथा एनटीए की संरचना और कार्यप्रणाली में सुधार करना शामिल है।

ऐसे का करेगी समिति

एनटीए की संरचना एवं कार्यप्रणाली के लिए उच्चस्तरीय समिति को सबसे पहले प्रत्येक स्तर पर पदाधिकारियों की भूमिका और जिम्मेदारियों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करना होगा। इसके बाद एनटीए की वर्तमान शिकायत निवारण प्रणाली का आकलन कर और सुधार के क्षेत्रों की पहचान कर इसकी कार्यकुशलता बढ़ाने की भी सिफारिशें देनी होंगी। समिति किसी भी विषय विशेषज्ञ की मदद ले सकती है।

समिति में शामिल हैं ये लोगः-

1. डॉ. के. राधाकृष्णन (पूर्व अध्यक्ष, इसरो)

2. डॉ. रणदीप गुलेरिया (पूर्व एम्स निदेशक)

3. प्रो. बी.जे. राव (कुलपति, हैदराबाद विश्वविद्यालय)

4. प्रो. राममूर्ति के. (आईआईटी मद्रास)

5. पंकज बंसल (सह-संस्थापक, पीपलस्ट्रॉन्ग, और बोर्ड सदस्य, कर्मयोगी भारत)

6. आदित्य मित्तल (डीन, छात्र मामले, आईआईटी दिल्ली)

7. गोविंद जायसवाल (संयुक्त सचिव, शिक्षा मंत्रालय)

कौन हैं डॉ. राधाकृष्णन ?

डॉ. राधाकृष्णन अकादमिक सुधारों के लिए मौजूदा सरकार के पसंदीदा शख्स रहे हैं। उन्होंने शिक्षा मंत्रालय द्वारा गठित कई समितियों का नेतृत्व किया है। डॉ. राधाकृष्णन एक मशहूर वैज्ञानिक हैं। जो भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। 1971 में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र से डॉ. राधाकृष्णन ने अपने करियर की शुरुआत की। उन्होंने सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SLV) प्रोजेक्ट में अहम जिम्मेदारी निभाई। डॉ. राधाकृष्णन विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर में बतौर डायरेक्टर भी रह चुके हैं। उनके मार्गदर्शन में इसरो ने मंगलयान मिशन को पहले ही प्रयास में मंगल तक पहुंचाया था। डॉ. राधाकृष्णन ने डॉ. जी माधवन नायर के रिटायरमेंट के बाद इसरो का अध्यक्ष पद संभाला। जहां उनकी पहली प्राथमिकता जीएसएलवी के लिए स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन को तैयार करना था।

2009 से 2014 तक डॉ. राधाकृष्णन इसरो के अध्यक्ष रहे। उनके नेतृत्व में भारत ने चंद्रयान-1 मिशन, मंगलयान (मार्स ऑर्बिटर मिशन) और जीसैट श्रृंखला के उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया। उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के विभिन्न क्षेत्रों में अहम योगदान दिया, जिसमें सैटेलाइट संचार, रिमोट सेंसिंग और अंतरिक्ष विज्ञान शामिल हैं। अपने कार्यों के लिए डॉ. राधाकृष्णन को साल 2014 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। उनके नेतृत्व और वैज्ञानिक योगदान के लिए उन्हें कई अन्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं।

इससे पहेल शुक्रवार को केंद्र सरकार ने प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी और अनियमितताओं पर लगाम लगाने के उद्देश्य से एक सख्त कानून लागू किया। यह नया कानून परीक्षाओं की ईमानदारी और निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए बनाया गया है, जो शैक्षणिक और व्यावसायिक उन्नति के लिए महत्वपूर्ण है। इसमें धोखाधड़ी और अन्य धोखाधड़ी गतिविधियों को रोकने के लिए कठोर दंड शामिल हैं। इस कानून के तहत दोषी पाए जाने वाले अपराधियों को अधिकतम 10 साल तक की जेल की सजा हो सकती है। इसके अलावा, कानून में भारी जुर्माना भी लगाया गया है, जिसकी अधिकतम सजा 1 करोड़ रुपये तक है।राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों की रोकथाम) अधिनियम, 2024 को मंजूरी दिए जाने के लगभग चार महीने बाद, कार्मिक मंत्रालय ने शुक्रवार रात एक अधिसूचना जारी की, जिसमें घोषणा की गई कि कानून के प्रावधान 21 जून से लागू होंगे।

India

Jun 09 2024, 13:21

नीट यूजी ग्रेस मार्क्स विवादःजांच के लिए बनी कमेटी, एक हफ्ते में रिपोर्ट आएगी

#neet_ug_2024_result_controversy_nministry_formed_committee_to_review 

केंद्र सरकार ने नीट यूजी में ग्रेस अंक विवाद को फिर से जांचने के लिए कमेटी का गठन किया है। शिक्षा मंत्रालय ने 1,500 से अधिक उम्मीदवारों को दिए गए ग्रेस मार्क्स की समीक्षा के लिए चार सदस्यीय पैनल का गठन किया है। यूपीएससी के पूर्व अध्यक्ष की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय समिति एक अंदर अपनी सिफारिशें प्रस्तुत करेगी। जिसके बाद इन उम्मीदवारों के परिणामों में संशोधन किया जा सकता है। वहीं, नीट यूजी रिजल्ट में गड़बड़ी के आरोपों के