lucknow

Jun 22 2022, 19:47

अब मत्स्य पालकों को आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाये जाने में मिलेगी सहायता-डॉ संजय निषाद

लखनऊ- प्रधानमंत्री सम्पदा योजना के अन्तर्गत संचालित कई परियोजनाओं के लिए विभाग द्वारा आवेदन आमंत्रित करने के लिए पोर्टल आगामी एक जुलाई से 15 जुलाई,तक जनमानस के लिए खोला जायेगा, जिसका लाभ लेते हुए मात्स्यिकी गतिविधियां, स्थापित व संचालित करने के लिए इच्छुक व्यक्ति व उद्यमी योजना की गाइडलाइन के अनुरूप आवेदन कर सुविधा व अनुदान सहायता प्राप्त कर सकते है। यह बात मंत्री डॉ संजय निषाद ने कही।

बुधवार को प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत उप्र में मत्स्य विकास के बारे में प्रेस वार्ता की। उन्होेंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2022-23 में शेष परियोजनाओं को पूर्ण करने के साथ साथ नये परियोजना प्रस्ताव जनपदों से आमंत्रित करते हुए प्रदेश की वृहद कार्ययोजना तैयार कर भारत सरकार को प्रेषित करने की कार्यवाही की जा रही है। उनके द्वारा 24 जून को पूर्वान्ह 11ः00 बजे से अपरान्ह 2ः00 बजे तक किये जाने वाले राज्य वेबिनार में प्रधानमंत्री सम्पदा योजना की जानकारी देने के साथ-साथ मत्स्य विकास की सम्भावनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी भी वेबिनार में उपलब्ध कराई जायेगी।

डॉ संजय ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 से 02 नवीन योजनाओं यथा मुख्यमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना तथा निषादराज बोट योजना के माध्यम से ग्राम समाज के तालाबों के गरीब पट्टेधारकों एवं मछुआरों के लिए सौगात दी गयी है। मुख्यमंत्री के निर्देशन में मत्स्य विभाग, उ०प्र० द्वारा ग्राम सभा के तालाबों के गरीब मत्स्य पट्टेधारकों एवं मछुआरों के लिए शत-प्रतिशत राज्यपोषित दो नवीन योजनाओं की शुरूआत की जा रही है। इस के लिए प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2022-23 के वार्षिक बजट में प्रारम्भिक स्तर पर रू0 04 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गयी है, जिससे ग्रामीण अंचलों में निवास कर रहे गरीब मत्स्य पट्टेधारकों एवं मछुआरों की आय में वृद्धि होगी तथा उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाये जाने में सहायता मिलेगी।

डॉ निषाद ने बताया कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अन्तर्गत विगत दो वर्षों में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजनान्तर्गत 625 हेक्टेयर नये तालाबों का निर्माण, 24 मत्स्य बीज हैचरी, 120.00 हे0 रियरिंग इकाई, 256 विभिन्न श्रेणियों के रिसर्कुलेटरी एक्वाकल्चर सिस्टम (आर०ए०एस०), 620 इन्सुलेटेड वाहन (साईकिल/मोटरसाईकिल /थ्रीव्हीलर/वैन), 40 फीड मिल (लघु/मध्यम/वृहद/प्लांट), 25 कियोस्क, 25 जिन्दा मछली विक्रय केन्द्र एवं 186 बायोफ्लाक जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनायें स्थापित होने से उद्यमशीलता को बढ़ावा व रोजगार के अवसर दिया जा रहा है।

lucknow

Jun 22 2022, 16:55

कोरोना के बढ़ रहे मामले, सावधानी बरतने की जरूरत : सीएम योगी

अफसरों को निर्देश पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से आमजन को किया जाए जागरूक

लखनऊ। कोरोना के बढ़ते मामलों को देख मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को सावधान किया है। उन्होंने कहा कि विगत एक सप्ताह से कोविड के नए केस में बढ़ोतरी देखी जा रही है। कुल एक्टिव केस की संख्या 3257 है। विगत 24 घंटों में 91 हजार से अधिक टेस्ट किए गए और 682 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 352 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। 3082 लोग घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह समय सतर्क और सावधान रहने का है।

कोविड की बदलती परिस्थितियों पर सूक्ष्मता से नजर रखी जाए। सभी अस्पतालों में चिकित्सकीय उपकरणों की क्रियाशीलता, डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ की समुचित उपलब्धता की गहनता से परख कर ली जाए। आवश्यक दवाओं के साथ मेडिसिन किट तैयार करा लिए जाएं। सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाए जाने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से आमजन को जागरूक किया जाए।

प्रदेश में कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति संतोषप्रद है। 33 करो? 73 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 18 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है, जबकि 96 प्रतिशत से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी हैं। 15-17 आयु वर्ग के 99.27 प्रतिशत किशोरों और 12 से 14 आयु वर्ग के 94.55 प्रतिशत से अधिक बच्चों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने में तेजी की अपेक्षा है। बच्चों को दूसरी डोज समय से दी जाए। संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए 01 जुलाई से प्रदेशव्यापी अभियान शुरू हो रहा है।

lucknow

Jun 22 2022, 16:23

रोज अखबार पढ़े और तकनीक का प्रयोग करें मेधावी : योगी

लखनऊ। बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले मेधावियों से मुलाकात की और उन्हें कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए। मुख्यमंत्री ने अपने लखनऊ स्थित आवास पर आयोजित कार्यक्रम में मेधावियों से कहा कि आप सब को जागरुक होना चाहिए।

इसलिए जरूरी है कि तकनीक का प्रयोग करें। उन्होंने मेधावियों से कहा कि आप सबको सरकारी योजनाओं की जानकारी होनी चाहिए। इसलिए हर रोज अखबार पढऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि हर शिक्षण संस्थान को मुख्यमंत्री अभ्युदय कोचिंग, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला जैसी योजनाओं की जानकारी होनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सफल वही होता है जो छोटी-छोटी गलतियों को सुधार कर आगे बढ़ता जाता है। विफल वही होता है जो जानने के बाद भी गलतियों की तरफ ध्यान नहीं देता। उन्होंने शिक्षकों को तकनीक की मदद लेने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि अब इंटरनेट सेवा गांव-गांव में पहुंच रही है। इसका सही उपयोग कर विद्यार्थियों को लाभान्वित करें।

बुधवार को इंटरमीडिएट के मेधावियों से मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री गुरुवार को हाईस्कूल के मेधावियों से मुलाकात करेंगे। शिक्षा विभाग की ओर से दोनों कक्षाओं के जिले के दस-दस टॉपर्स को मुख्यमंत्री से मिलने के लिए बुलाया गया है।

lucknow

Jun 22 2022, 16:20

इंडियन रेडक्रास सोसाइटी के द्वारा हाईजीनिक किट एवं तारपोलिन किट वितरित

लखनऊ। इंडियन रेडक्रास सोसाइटी, लखनऊ शाखा के द्वारा राम तीरथ वार्ड पुराना किला रामलीला ग्राउंड के पास बस्ती में सिविल डिफेंस, हजरतगंज प्रखण्ड के वार्डनों के सहयोग से चिन्हित 40 गरीब परिवारों को हाइजीनिक किट एवं तारपोलिन का वितरण किया गया। हाइजीनिक किट में 5 नहाने का साबुन, 5 कपड़े धोने का साबुन, तेल, 4 टूथपेस्ट, 4 टूथ ब्रश, 2 शेविंग रेजर व 18 सैनिटरी नैपकिन शामिल हैं।

कार्यक्रम का शुभारंभ इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी लखनऊ शाखा के चेयरमैन ओम प्रकाश पाठक एवं सचिव अमरनाथ मिश्रा के द्वारा शुभारंभ किया किया गया। नागरिक सुरक्षा, हजरतगंज प्रखण्ड के वार्डनों ने हाइजीनिक किट एवं तारपोलिन वितरण हेतु पात्र परिवारों के चयन में सक्रिय भूमिका निभाई।

इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी के सदस्य रूप कुमार शर्मा और ऋतुराज रस्तोगी नागरिक सुरक्षा, लखनऊ के सहायक उप नियंत्रक ऋषि कुमार, मनोज वर्मा ने हाइजीनिक किट एवं तारपोलिन का वितरण किया गया। इस अभियान में सिविल डिफेंस के वार्डन ठाकुर प्रसाद, ओम प्रकाश, माला यादव, रीना सिंह, शोभा पाल, दिनेश भारती ने सक्रिय सहयोग प्रदान किया।

lucknow

Jun 22 2022, 16:17

1 से 31 जुलाई तक चलेगा विशेष संचारी रोग अभियान, सीडीओ की अध्यक्षता में हुई टास्क फोर्स की बैठक

सीतापुर- इस वर्ष का दूसरा विशेष संचारी रोग अभियान 01 से 31 जुलाई तक आयोजित होगा। वहीं इसी के साथ 16 से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान भी चलाया जाएगा। इसको लेकर बुधवार को मुख्य विकास अधिकारी अक्षत वर्मा की अध्यक्षता में जिला टास्क फोर्स की बैठक का आयोजन किया गया। मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये कि सभी विभागों द्वारा विस्तृत कार्ययोजना बनाकर गतिविधियां आयोजित की जाएं। इसके अलावा पिछले वर्ष जो क्षेत्र मच्छर जनित रोगों के संदर्भ में उच्च खतरे में थे उनका प्राथमिकता के आधार स्वास्थ्य विभाग के अधीन मलेरिया विभाग द्वारा पुनः आकलन किया जाए कि वहाँ वर्तमान में क्या स्थिति है। जिन क्षेत्रों में मच्छर का सामान्य से अधिक प्रजनन पाया जाये, ऐसे क्षेत्रों की सूची अंतर्विभागीय सहयोग से मच्छर नियंत्रण गतिविधियां संपादित करने के लिए नगर विकास, ग्रामीण विकास, पंचायती राज आदि संबंधित विभागों को उपलब्ध कराई जाये।

उन्होंने कहा कि अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगों को मच्छरजनित परिस्थितियाँ उत्पन्न न होने देने के लिए जागरूक करें। संचारी रोग जैसे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, दिमागी बुखार जैसी बीमारियों के प्रसार को रोकना है इसके लिए आवश्यक है कि सही समय पर बुखार की जांच और उसका इलाज हो। इसके लिए आवश्यक है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर पहुँचें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि संचारी रोगों एवं दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण तथा इनका त्वरित एवं सही उपचार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानों के साथ बैठक कर उन्हें सामान्य बुखार एवं दिमागी बुखार के लक्षणों के अन्तर के विषय में भलीभांति अवगत करा दिया जाये तथा लक्षणयुक्त व्यक्तियों को तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त करने हेतु प्रेरित किया जाये। उन्होंने कहा कि बीटीएफ एवं टीटीएफ में पशुपालन विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। गत संचारी रोग नियंत्रण अभियान में खराब प्रदर्शन करने वाले तथा जेई टीकाकरण में पिछड़े एमओआईसी को सुधार हेतु निर्देश दिये। गांवों में विशेष सफाई अभियान एवं जागरूकता अभियान के साथ-साथ विद्यालयों में छात्रों को भी संवेदीकृत किये जाने हेतु भी निर्देश दिये। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के विकास खण्डों तथा गोंदलामऊ एवं बेहटा में विशेष ध्यान देते हुये सुधार हेतु निर्देशित भी किया।

राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा0 सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग है। इसके अलावा बाल विकास एवं पुष्टाहार, शिक्षा, पंचायती राज, ग्रामीण विकास, दिव्यांगजन कल्याण, पशु पालन, कृषि, नगर विकास, चिकित्सा शिक्षा एवं सूचना विभाग भी सहयोग करेंगे। सभी विभागों के परस्पर सक्रिय सहयोग से ही अभियान की सफलता निश्चित है। सोलह जुलाई से शुरू होने वाले दस्तक अभियान में आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर बुखार के रोगियों, इंफ्लुएंजा लाइक इलनेस के रोगियों, क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्तियों एवं कुपोषित बच्चों की सूची बनाएंगी। इसके साथ ही आशा कार्यकर्ता उन घरों के प्रमुख स्थानों पर स्टीकर लगायेंगी जिन घरों में 15 वर्ष से कम आयु के बच्चे हैं या क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्ति हैं। इसके साथ ही संचारी रोगों से बचाव हेतु स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा स्कूलों, वीएचएनडी, मातृ समिति की बैठक में लोगों को जागरूक किया जाएगा। आशा कार्यकर्ता लोगों को इस बात के लिए जागरूक करें एवं यह जरूर सुनिश्चित करें कि बुखार होने पर स्वयं कोई इलाज न करें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर बुखार की जांच कराएं।

इस मौके पर सभी विभागों को निर्देशित किया गया कि वे अपने अपने विभाग का माइक्रोप्लान 28 जून तक मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध अवश्य करा दे। मौके पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पीके सिंह, डॉ सुरेंद्र सिंह, डॉ उदय प्रताप, डॉ कमलेश चन्द्रा, डॉ केबी गौतम, जिला कार्यक्रम अधिकारी राज कपूर, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी राज कुमार, डीपीएम सुजीत वर्मा, डॉ विवेक सचान, नीतेश श्रीवास्तव सहित विभागों व पाथ के प्रतिनिधि एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

lucknow

Jun 22 2022, 13:37

हाइजीनिक किट वितरित कर दिया सुरक्षा का भरोसा

लखनऊ। बुधवार को राम तीरथ वार्ड पुराना किला मलिन बस्ती में निकट रामलीला ग्राउंड में इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी लखनऊ द्वारा के हाइजीनिक किट एवं तर्पॉलिन वितरण किया गया है जिसमें 42 लाभार्थियों को तारपोलिन व हाइजीनिक किट बाँटी गई।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से चेयरमैन ओपी पाठक सचिव अमरनाथ मिश्रा रूप कुमार शर्मा ऋतु राज रस्तोगी के साथ नागरिक सुरक्षा के अनीता प्रताप मनोज वर्मा ऋषि कुमार एवं स्वयं सेवक मौजूद रहे और कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

lucknow

Jun 22 2022, 13:35

विश्व वरिष्ठ नागरिक दुर्व्यवहार जागरूकता के लिए हस्ताक्षर अभियान का आयोजन

लखनऊ। हेल्पेज इंडिया द्वारा कराए गए 22 राज्यों के सर्वे में यह तथ्य निकल कर आया कि परिवार के लगभग 10% बुजुर्गों ने दुर्व्यवहार महसूस किया ।

वहीं 82%बुज़ुर्ग काम नही कर पा रहे हैं और लगभग 52% वरिष्ठजनों ने फिर से काम करने की इच्छा जाहिर की ।

दुःखद है कि 46% बुजुर्गों को किसी भी दुर्व्यवहार निवारण तंत्र के बारे में पता ही नहीं है वो नहीं जानते कि हम इस स्थिति में कहाँ जाएं।

सर्वे में ये भी निकल कर आया कि दुर्व्यवहार सहने वाले लगभग 41% ने कहा कि परिवार के सदस्यों को परामर्श की आवश्यकता है।

वरिष्ठ जनों के साथ दुर्व्यवहार ना हो इस विषय पर हेल्पेज इंडिया हस्ताक्षर अभियान का आयोजन कर रही है।

इसी क्रम में हेल्पेज इंडिया ने हस्ताक्षर अभियान का आयोजन आकाशवाणी के संयुक्त तत्वावधान में किया । अभियान का उद्देश्य जनता के बीच में इस विषय पर जागरूकता फैलाना था कि वो अपने बुजुर्गों का आदर और सम्मान करें। इस अवसर पर हेल्पेज इंडिया के निदेशक श्री अशोक कुमार सिंह ने सभी का आभार जताया। आकाशवाणी के सभाकक्ष में उपस्थित लोगों से आग्रह किया कि आपके माध्यम से इस विषय पर लोगों को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें।

इस अवसर पर आकाशवाणी की कार्यक्रम प्रमुख सुश्री मीनू खरे ने प्रथम हस्ताक्षर करके अभियान की शुरुआत की और सभी से आग्रह किया कि वे हस्ताक्षर करके ये शपथ लें कि वे सदेव वरिष्ठ जनों के सम्मान एवं हितों की रक्षा करेंगे।

इस अवसर पर ध्यान एवं योग प्रशिक्षक आर. एस. बोरा ने ध्यान करने की सही प्रक्रिया को बताया और ध्यान के महत्व के बारे में समझाया वहीं योग संस्थान से शौमिल शर्मा ने योग के महत्व को बताते हुए इसको दिनचर्या में शामिल करने पर बल दिया ।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केंद्राध्यक्ष आर .बी सिंह ने सभी का स्वागत किया।

इस अवसर पर श्रीमती रश्मि चौधरी जी ,प्रतिभा त्रिपाठी और ममता उपाध्याय मौजूद रहीं ।

lucknow

Jun 22 2022, 10:58

एटा: पूर्व सपा विधायक की भाई समेत 29 करोड़ रुपये की संपत्ति होगी कुर्क, नोटिस चस्पा

लखनऊ। एटा के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और जुगेंद्र सिंह यादव की संपत्ति कुर्क होगी। डीएम ने कुर्की की कार्रवाई के आदेश दिए थे। पुलिस ने मंगलवार शाम उनके प्रेमनगर स्थित आवास पर कुर्की का आदेश चस्पा किया। इस दौरान आवास पर मिली एक कार को कुर्क कर लिया गया। बता दें कि गैंगस्टर मामले में पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव जेल में बंद हैं।

दोनों सपा नेताओं पर 18 अप्रैल को गैंगस्टर एक्ट के तहत कोतवाली नगर में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव गिरफ्तार हो चुके हैं। जबकि जुगेंद्र सिंह यादव फरार चल रहे हैं। डीएम अंकित कुमार अग्रवाल ने 17 जून को दोनों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट की धारा 14-1 के तहत कार्रवाई कर दी। जिसमें दोनों नेताओं की करीब 29 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया। आदेश तामील कराने के लिए सात दिन का समय दिया गया था।

इसी के तहत सीओ सिटी कालू सिंह सहित कोतवाली देहात और नगर का पुलिस बल सपा नेताओं के प्रेमनगर स्थित आवास पर पहुंचा। पूरे आदेश को दीवारों पर चस्पा किया गया। वहीं आवास में खड़ी एक कार को कुर्क कर लिया गया। सीओ सिटी ने बताया कि डीएम के आदेश पर गैंगस्टर के आरोपियों की संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

पूर्व सपा विधायक रामेश्वर सिंह यादव और उनके भाई पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव पर गैंग बनाकर अवैध संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। पूर्व विधायक के खिलाफ 78 मुकदमे और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ 81 मुकदमे दर्ज हैं।

lucknow

Jun 22 2022, 10:57

केजीएमयू में आज होगी कार्यपरिषद की बैठक, शिक्षकों से जुड़े कई मसले रखे जाएंगे

लखनऊ- केजीएमयू कार्यपरिषद की बैठक आज होगी। इसमें शिक्षकों से जुड़े कई मसले रखे जाएंगे। कुलसचिव कोरोना संक्रमित हो गए हैं। लिहाजा वे ऑनलाइन कार्यपरिषद से जुड़ेंगे।

केजीएमयू में कई विभागों में शिक्षकों की भर्ती हुई थी। इनमें दिव्यांगजन आरक्षण का पालन न होने के आरोप लगे। लिहाजा अभ्यर्थी कोर्ट की शरण में चले गए। बाद में मामला राजभवन भी पहुंच गया। अब राजभवन ने इस मसले पर फैसला लेने के निर्देश केजीएमयू को दिए हैं। केजीएमयू कार्यपरिषद में अभ्यर्थियों का लिफाफा खोला जा सकता है। केजीएमयू 2002 से विश्वविद्यालय बना। अभी तक केजीएमयू में शिक्षकों की वरिष्ठता सूची नहीं तैयार नहीं हुई थी। वरिष्ठता को लेकर रेडियो डायग्नोसिस विभाग में विवाद चल रहा है।

केजीएमयू इलाज महंगा करने मामला नहीं रखा जाएगा। हॉस्पिटल बोर्ड की ओर से पंजीकरण शुल्क दोगुना व अन्य इलाज में 10 फीसदी की बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया था। जिसे अंतिम मुहर के लिए कार्यपरिषद में ले जाया जाना था। अब विवि ने निर्णय लिया है कि पहले इसे शासन मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। उसके बाद ही इस पर फैसला होगा। फिलहाल मरीजों को राहत मिलने की उम्मीद बढ़ गई है।

lucknow

Jun 22 2022, 10:55

इत्र कारोबारी पीयूष जैन को इनकम टैक्स के तौर पर देने होंगे 187 करोड़ रुपए

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन बीते साल दिसंबर में तब चर्चा में आए थे, जब उनके घर से आयकर विभाग को भारी मात्रा में कैश और सोना चांदी मिला था। इसके बाद से जैन जेल में हैं और कई एजेंसियों ने उनसे पूछताछ की है। पीयूष जैन ने अब एजेंसियों से अपने इस धन पर इनकम टैक्स देने की बात कही है। जैन को करीब 187 करोड़ रुपए इनकम टैक्स के तौर पर देने होंगे।

जीएसटी इंटेलिजेंस डीजी और राजस्व खुफिया निदेशालय ने पीयूष जैन से जेल में पूछताछ की है। इसके बाद एजेंसी के सूत्रों ने पुष्टि की कि पीयूष जैन ने आयकर का भुगतान करने की पेशकश की है। पीयूष जैन के परिसर से जब्त की गई कुल राशि पर आयकर ने 87 फीसदी टैक्स तय किया है, जो करीब 187 करोड़ रुपए है।

एजेंसी ने पीयूष जैन के ठिकानों से करीब 197 करोड़ रुपये नकद, करीब 11 करोड़ का 23 किलो सोना और 6 करोड़ रुपए का 600 किलो चंद चंदन का तेल बरामद किया था। पीयूष जैन के कानपुर और कन्नौज वाले घरों में बीते साल दिसंबर में छापे पड़े थे।

पीयूष जैन ने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया अहमदाबाद यूनिट के खाते में 54 करोड़ रुपए जमा किए थे और उन्होंने अपने घर से मिले सोने के लिए 4 करोड़ रुपए के आयात शुल्क का भुगतान किया था। पीयूष जैन को इनकम टैक्स के रूप में 187 करोड़ का भुगतान करना होगा।