kolkata

Jun 11 2022, 17:09

हावड़ा में धारा 144 लागू और इंटरनेट सेवाएं बाधित

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में शनिवार सुबह स्थिति शांतिपूर्ण रही जहां शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शन हुए थे. इस बीच, हिंसा प्रभावित इलाकों समेत संपूर्ण जिले में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रही और इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहीं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. दरअसल, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल की ओर से पैगंबर मोहम्मद के बारे में की गयी कथित विवादास्पद टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को नमाज के बाद बंगाल के हावड़ा समेत देश के कई इलाकों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए थे.

अधिकारियों के मुताबिक हावड़ा के उलुबेरिया, पंचला और जगतबल्लभपुर क्षेत्रों में तथा इसके अलावा इन क्षेत्रों के रेलवे स्टेशनों और राष्ट्रीय राजमार्ग के आस-पास पांच या उससे अधिक लोगों के एकत्र होने, सभा करने अथवा कोई खतरनाक हथियार रखने या ऐसा कोई भी कार्य करना प्रतिबंधित है, जिससे सार्वजनिक शांति भंग हो. ये प्रतिबंध 10-15 जून तक लागू रहेंगे. संपूर्ण जिले में इंटरनेट सेवाएं भी निलंबित रहीं और ये सेवाएं 13 जून तक निलंबित रहेंगी. पुलिस के एक अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा' से कहा, ‘‘हावड़ा जिले में स्थिति शांतिपूर्ण है.

शुक्रवार रात से विरोध प्रदर्शन या हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है. हमने संवेदनशील इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया है.'' उन्होंने कहा कि हिंसा, विरोध प्रदर्शन या सड़कों को अवरुद्ध करने या सामान्य जनजीवन में बाधा डालने की किसी भी घटना से बहुत ही सख्ती से निपटा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी को भी जिले में अशांति पैदा करने की अनुमति नहीं देंगे. हम स्थिति पर कड़ी नजर रखे हुए हैं और जिले में शांति सुनिश्चित करेंगे.'' पुलिस अधिकारी के मुताबिक राष्ट्रीय राजमार्ग-16 पर वाहनों की आवाजाही तथा ट्रेन सेवाएं सामान्य हैं, जबकि बाजार और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले हुए हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी एहतियाती कदम उठा रहे हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.''


kolkata

Jun 10 2022, 19:37

बंगाल: 12वीं में शीर्ष स्थान पाने वाली छात्रा की चाहत गरीब बच्चों के लिए काम करना

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में 12वीं की बोर्ड परीक्षा में शीर्ष स्थान लाने वालीं अधिशा देबसर्मा को 500 में से 498 अंक हासिल हुए हैं. देबसर्मा ने कहा कि वह भविष्य में गरीब बच्चों (सड़क पर रहने वाले बच्चे) के लिए काम करना चाहती हैं. कूचबिहार जिले के दिनहाटा सोनी देवी जैन विद्यालय की छात्रा देबसर्मा ने संवाददाताओं से कहा कि वह भविष्य की पढ़ाई के लिए या तो गणित ऑनर्स या ऑप्टिकल अभियांत्रिकी का विकल्प चुनेंगी. देबसर्मा ने कहा, ‘‘मैं सड़क पर रहने वाले बच्चों के लिए कुछ करना चाहती हूं.

जब भी मैं बाहर जाती हूं, मैं उनकी परिस्थितियों से आहत होती हूं और अपनी स्थिति की तुलना उनसे करती हूं.'' उन्होंने कहा कि वह अच्छे परिणामों के प्रति आश्वस्त थीं, लेकिन यह नहीं जानती थीं कि यह ‘इतना अच्छा' होगा. उन्होंने कहा कि वह अपने स्कूल को गौरवान्वित करके खुश हैं. उन्हें अपने खाली समय में वह शास्त्रीय नृत्य का अभ्यास करना और गिटार बजाना पसंद है. तीसरी रैंक (496) हासिल करने वाले चार उम्मीदवारों में से एक अविक दास ने कहा कि वह जुलाई में होने वाली नीट परीक्षा (मेडिकल) की तैयारी कर रहे हैं.

पूर्व बर्धमान जिले के कटवा काशीराम दास संस्थान के छात्र दास ने कहा कि उन्हें आमिर खान की फिल्में देखना और क्रिकेट खेलना पसंद है. कोलकाता के पाठ भवन विद्याालय में पढ़ने वाले एक अन्य तीसरे रैंक धारक रोहित सेन ने कहा कि वह भविष्य में अर्थशास्त्र का अध्ययन करना चाहते हैं. अलीपुरद्वार जिले के सुदूर इलाके में अपने घर से सात किलोमीटर दूर सिलबाड़ी हाट हाई स्कूल में साइकिल से जाने वाली बरसा परवीन ने 31 अन्य लोगों के साथ 493 अंक प्राप्त करके छठा स्थान हासिल किया. परवीन बंगाल सिविल सेवा में अधिकारी बनना चाहती हैं. पश्चिम बंगाल उच्चतर माध्यमिक परीक्षा (कक्षा 12) के परिणाम शुक्रवार को घोषित किए गये. 7,20,862 उम्मीदवारों में से 88.44 प्रतिशत के पास होने का अनुमान है.


kolkata

Jun 10 2022, 16:10

पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक परीक्षा में 88.44 प्रतिशत छात्र-छात्राएं पास

कोलकाता. पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक परीक्षा (12वीं कक्षा) में शामिल 7,20,862 छात्र-छात्राओं में से तकरीबन 88.44 प्रतिशत ने सफलता हासिल की है. परीक्षा के नतीजे शुक्रवार को घोषित किए गए. पश्चिम बंगाल उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष चिरंजीव भट्टाचार्य ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परीक्षा में 90.19 प्रतिशत लड़के और 86.19 प्रतिशत लड़कियां पास हुई हैं. भट्टाचार्य के मुताबिक, 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के लिए 7,44,655 छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया था, जिनमें से कुल 96.8 फीसदी यानी लगभग 7,20,862 ने परीक्षा दी. साल 2020 में कोविड-19 महामारी फैलने के कारण बोर्ड परीक्षाएं बीच में ही रद्द करनी पड़ी थीं और 2021 में भी महामारी के चरम पर पहुंचने के कारण परीक्षा नहीं हो सकी थी.

2022 में शीर्ष दस पायदान पर रहने वाले 272 उम्मीदवारों में दिनहाटा सोनी देबी जैन हाई स्कूल की अधिशा देवशर्मा ने 500 में से 498 अंक (99.6 प्रतिशत) पाकर शीर्ष स्थान हासिल किया. वहीं, पश्चिम मेदिनीपुर के जयचक नातेश्वरी नेताजी विद्यातन के सयनदीप सामंत 497 अंकों (99.4 प्रतिशत) के साथ दूसरे स्थान पर रहे, जबकि चार उम्मीदवारों ने 496 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया. भट्टाचार्य ने कहा, ‘‘यह ऐतिहासिक है, क्योंकि परीक्षाएं गृह केंद्र में हुईं और उम्मीदवार अपने स्कूल के परिचित माहौल में बिना किसी दबाव के परीक्षा नहीं दे सके.''

सफल अभ्यर्थियों और रैंक धारकों को बधाई देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘हमारे जिलों की लड़कियों और लड़कों ने अनुकरणीय प्रदर्शन किया है, जबकि शहर के छात्रों ने भी हमें गौरवान्वित किया है.'' शीघ्र नतीजे प्रकाशित करने के लिए परिषद की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘अभिभावकों, शिक्षकों और स्कूल प्रंबधन को बधाई. परिषद ने शीघ्र नतीजे घोषित कर दिए. अगले साल का कार्यक्रम भी घोषित कर दिया गया है. उम्मीद से कम प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भविष्य में बेहतर कोशिश करने का संकल्प लेना चाहिए.''


kolkata

Jun 10 2022, 16:07

बांग्लादेश दूतावास के सुरक्षाकर्मी ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, महिला की मौत के बाद खुद को मारी गोली

कोलकाता: पं. बंगाल की राजधानी कोलकाता में बांग्लादेश हाई कमीशन के बाहर फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई है. इस गोलीबारी में एक सुरक्षाकर्मी और एक महिला की मौत हो गई. एक चश्मदीद के मुताबिक हाई कमीशन के बाहर एक सुरक्षाकर्मी पहले मोड़ की तरफ गया. वहां से वापस आने के बाद पहले उसने मोड़ के पास फायरिंग की.

चश्मदीद का कहना है कि सुरक्षाकर्मी ने निशाना लगाकर अंधाधुंध गोलियां चलाई गईं. पहले एक बाइक वाला आया, वह किसी तरह से बच गया. इसके बाद उसने एक महिला को टारगेट कर गोली चलाई. जहां गोली लगने से महिला की मौत हो गई. वहीं इसके बाद सुरक्षाकर्मी ने खुद को भी गोली मार ली.

बांग्लादेश दूतावास के बाहर हुई इस घटना से बाद से ही क्षेत्र में दहशत का माहौल है. वहीं घटना के कारणों का पता लगाने के लिये पुलिस सीसीटीवी खंगालने में जुटी है. मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि सुरक्षाकर्मी ने स्कूटी सवार महिला को निशाना बनाकर गोली चलाई. वहीं गोली लगने से महिला बुरी तरह से जख्मी हो गई और मौके पर ही दम तोड़ दिया. पुलिस का कहना है कि फिलहाल घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है, पूछताछ की जा रही है.


kolkata

Jun 09 2022, 18:43

लोकसभा चुनाव में बंगाल से बढ़ानी होगी सीटें,साइंस सिटी ऑडिटोरियम में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने नेताओं को दिया टार्गेट

कोलकाता. देश में वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने अभी से ही तैयारी शुरू कर दी है. लोकसभा चुनाव को लेकर बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं को अभी से ही एकजुट होकर पार्टी का प्रचार-प्रसार तेज करने का निर्देश दिया. गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार की रात तीन दिवसीय दौरे पर बंगाल पहुंचे थे. अपने दौरे के अंतिम दिन जेपी नड्डा ने यहां कई कार्यक्रमों में शामिल हुए.

बृहस्पतिवार सुबह की शुरुआत उन्होंने बेलूर मठ में पूजा-अर्चना के साथ की. उसके बाद उन्होंने महानगर के एक होटल में सांसदों व विधायकों के साथ बैठक की. इसके बाद उन्होंने साइंस सिटी ऑडिटोरियम में भाजपा के मंडल स्तर के नेताओं की सभा को संबोधित किया. इस अवसर पर बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार सहित भाजपा के आला नेता भी उपस्थित थे.

इसके बाद शाम को श्री नड्डा ने कला मंदिर में नागरिक सम्मेलन को संबोधित किया. साइंस सिटी ऑडिटोरियम में बैठक के दौरान जेपी नड्डा ने प्रदेश भाजपा के नेताओं को राज्य में लोकसभा सीटों की संख्या बढ़ाने का टारगेट दिया. इसके साथ ही भाजपा नेताओं को बूथ पर अपनी ताकत और मजबूत करते हुए एकजुट होकर काम करने का निर्देश दिया.

भाजपा के वरिष्ठ नेता के अनुसार, जेपी नड्डा ने साइंस सिटी ऑडिटोरियम में कहा है कि सभी एकजुट होकर काम करें. सबको साथ लेकर चलें. लोकसभा चुनाव में अब मात्र दो साल बाकी हैं. आप हर बूथ पर जाएं और मोदी सरकार के आठ साल की सफलता व उपलब्धियों का प्रचार करें. बंगाला सीटों की संख्या को बढ़ाना होगा. बता दें कि वर्तमान में पश्चिम बंगाल में भाजपा 2019 के लोकसभा चुनाव में 18 सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन आसनसोल के सांसद बाबुल सुप्रियो ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था और आसनसोल लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा ने भारी मतों से जीत हासिल की है.

वहीं, बैरकपुर से भाजपा सांसद अर्जुन सिंह भी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गये हैं. हालांकि, अभी तक उन्होंने सांसद पद से इस्तीफा नहीं दिया. इसलिए बंगाल में भाजपा के अभी 17 सांसद हैं. वहीं, 2021 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को मात्र 77 सीटों पर जीत मिली और इसमें से भी सात विधायक भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गये हैं.


kolkata

Jun 09 2022, 16:55

पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की ममता ने की निंदा, आरोपी भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी की मांग

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पैगंबर मोहम्मद पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो पदाधिकारियों की टिप्पणी की बृहस्पतिवार को निंदा करते हुए इसे ‘‘घृणा भाषण'' करार दिया और मांग की कि आरोपी नेताओं को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए. बनर्जी ने कहा कि इस तरह की टिप्पणियों से न केवल हिंसा होती है बल्कि सामाजिक विभाजन भी होता है. उन्होंने सभी धर्मों, जातियों और समुदायों के लोगों से उकसावे के बावजूद शांति बनाए रखने का आह्वान किया.

बनर्जी ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘मैं कुछ भाजपा नेताओं द्वारा हाल ही में की गईं घृणित और अभद्र टिप्पणियों की निंदा करती हूं, जिसके परिणामस्वरूप न केवल हिंसा फैली, बल्कि देश के ताने-बाने का विभाजन भी हुआ, जिससे शांति और सौहार्द बिगड़ा.'' उन्होंने कहा, "मैं दृढ़ता से चाहती हूं कि भाजपा के आरोपी नेताओं को तुरंत गिरफ्तार किया जाए ताकि देश की एकता भंग न हो और लोगों को मानसिक पीड़ा का सामना न करना पड़े.''

बनर्जी ने लोगों से राष्ट्र के व्यापक हित में शांति बनाए रखने की अपील भी की. उन्होंने कहा, ‘‘साथ ही, मैं सभी जातियों, पंथों, धर्मों और समुदायों के अपने सभी भाइयों और बहनों से आम लोगों के व्यापक हित में शांति बनाए रखने की अपील करती हूं.'' भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो पूर्व पदाधिकारियों की पैगंबर मोहम्मद पर कथित विवादास्पद टिप्पणी को लेकर पश्चिम एशियाई देशों द्वारा आक्रोश व्यक्त किया गया. वहीं, भारत ने इस मुद्दे पर इस्लामिक देशों के संगठन (ओआईसी) की टिप्पणियों को सिरे से खारिज किया.

कुवैत, कतर और ईरान द्वारा नूपुर शर्मा तथा नवीन जिंदल की टिप्पणियों पर भारतीय राजदूतों को तलब किए जाने के बाद, सऊदी अरब, जॉर्डन, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), इंडोनेशिया, बहरीन, मालदीव और ओमान सहित कई इस्लामी देशों ने भी टिप्पणियों की निंदा की. विवाद के बाद, भाजपा ने जिंदल को निष्कासित कर दिया और शर्मा को निलंबित कर दिया. टिप्पणी की निंदा करने वाले कुछ इस्लामी देशों ने दोनों नेताओं के खिलाफ भाजपा की दंडात्मक कार्रवाई का स्वागत किया.


kolkata

Jun 09 2022, 16:52

आइसीएआइ का वित्तीय व कर साक्षरता अभियान शुरू

कोलकाता: इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने "आज़ादी का अमृत महोत्सव", भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल, की तहत सीए रवि कुमार पटवा अध्यक्ष,ईआईआरसी (आईसीएआई) एवं संस्थान के अन्य अधिकारियों ने आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में वित्तीय और कर साक्षरता अभियान शुरुआत की. आईसीएआई की ईस्टर्न इंडिया रीजनल कौंसिल ने सात जून 2022 को जन जागृति अभियान की भावना को ध्यान में रखते हुए आईसीएआई भवन, रसेल स्ट्रीट के आस-पास के क्षेत्रों में एक पद यात्रा का आयोजन किया, जहां पट्टिका धारण करने वाले प्रतिभागियों ने 'डिजिटल धोखाधड़ी से सावधान रहें', 'पोंजी योजनाओं में मत फंसो', 'घोटाला मत करो लेकिन स्कैन करो' जैसे नारे लगाए. 'अपना ओटीपी साझा न करें', 'अपना सीवीवी कभी साझा न करें', 'व्यवस्थित निवेश, उचित बचत' आदि.

इस वित्तीय और कर साक्षरता अभियान का नाम “वित्तीय ज्ञान आइसीएआई का अभियान” रखा गया है, ताकि देश के नागरिकों को वित्तीय प्रणाली के विभिन्न पहलुओं, व्यक्तिगत वित्त प्रबंधन के तरीकों, वित्तीय कल्याण और बुनियादी कर अनुपालन और लेखांकन के बारे में शिक्षित किया जा सके. इस दौरान 12 भाषाओं-अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, मराठी, बंगाली, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, ओडिया, उर्दू और पंजाबी में एक बहुभाषी वेबसाइट शुरू की गई है.


kolkata

Jun 08 2022, 20:12

एसएससी माध्यम नियुक्ति मामला : एक और मामले की जांच सीबीआई को

कोलकाता. राज्य में स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के माध्यम से हुई नियुक्तियों की जांच सीबीआई कर रही है. इसी बीच, हाइकोर्ट में एसएससी के माध्यम से नियुक्ति में और भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है और हाइकोर्ट के न्यायाधीश राजशेखर मंथा ने उक्त मामले की जांच का जिम्मा भी सीबीआई को सौंप दिया है. उल्लेखनीय है कि कलकत्ता हाइकोर्ट के आदेश पर सीबीआई राज्य के दो मंत्री पार्थ चटर्जी और परेश चंद्र अधिकारी से पूछताछ कर चुकी है.

अब एक बार फिर कलकत्ता उच्च न्यायालय ने सीबीआई को एक भर्ती मामले की जांच करने का निर्देश दिया है. आरोप है कि पैनल में नाम नीचे होने के बावजूद सिद्दिकी गाजी नामक शख्स को एसएससी के माध्यम से नौकरी मिल गई. बुधवार को हाइकोर्ट के न्यायाधीश राजशेखर मंथा की एकल पीठ पर मामले की सुनवाई हुई और न्यायाधीश ने आरोपी शिक्षक को नौकरी से बर्खास्त करने और इसके साथ ही पूरे मामले की सीबीआई जांच करने का भी आदेश दिया.

हालांकि, इसके पहले एसएससी के माध्यम से नियुक्ति से संबंधित मामलों की सुनवाई न्यायाधीश अभिजीत गांगुली की पीठ पर होती थी, लेकिन कोर्ट ने रूटीन बदली के तहत अब एसएससी संबंधी मामलों की सुनवाई न्यायाधीश राजशेखर मंथा की पीठ में शिफ्ट कर दी है. बताया गया है कि मेरिट लिस्ट में जिस अभ्यर्थी का नाम 200 नंबर पर था, उसे नियुक्ति ही नहीं मिली. जबकि 275 नंबर पर रहने वाले अभ्यर्थी सिद्दिकी गाजी को शिक्षक के तौर पर नियुक्त कर दिया गया.

बुधवार को मामले की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार के अधिवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि जिन अभ्यर्थियों का पैनल में नाम था, लेकिन उनकी नियुक्ति नहीं हुई, उनके लिए 3500 पदों का सृजन किया गया है. इस पर न्यायाधीश ने कहा कि एक रोग को छिपाने के लिए, कहीं दूसरा रोग तो नहीं फैलाया जा रहा. हालांकि, न्यायाधीश ने नये पदों पर नियुक्तियों के संबंध में कोई आदेश नहीं दिया.


kolkata

Jun 08 2022, 19:34

लोगों को मूर्ख बनाने के लिए चुनाव से पहले कल्याणकारी योजनाओं का वादा करती है भाजपा : बनर्जी

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि चुनावों से पहले अलग राज्य बनाने और विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं लाने के वादे करके आम लोगों को मूर्ख बनाया जाता है, लेकिन बाद में ये वादे कभी पूरे नहीं होते. ममता बनर्जी ने भाजपा का नाम लिए बगैर कहा कि लोग आवश्यक वस्तुओं की ‘‘रोजाना बढ़ रही कीमतों'' से परेशान हैं.

ममता बनर्जी ने यहां एक सामूहिक विवाह कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘ आपने देखा है कि गैस के दाम कितने बढ़ गए हैं? ‘उज्ज्वला' योजना कहां है? यह गायब हो गई है. फिर से जब चुनाव पास होंगे, वे आपसे एक अलग राज्य बनाने, एक अन्य ‘उज्ज्वला' योजना लाने या चाय बागानों की खरीदारी का वादा करेंगे.''

उन्होंने कहा, ‘‘वे चुनाव से पहले बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और देखिए अब क्या हो रहा है, देश की मौजूदा स्थिति क्या है और बढ़ती महंगाई किस प्रकार आमजन को प्रभावित कर रही है.'' मुख्यमंत्री ने कल्याणकारी योजनाओं के लिए धन जारी नहीं करने और राज्यों को गेहूं की आपूर्ति ‘‘रोकने'' के लिए भी केंद्र सरकार की आलोचना की.


kolkata

Jun 08 2022, 17:54

मुकुल राय की सदस्यता रद्द करने की याचिका को विधानसभा अध्यक्ष ने किया खारिज

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हुए विधायक मुकुल रॉय की सदस्यता खारिज करने की बीजेपी की याचिका को विधानसभा के अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने खारिज कर दी. दलबदल कानून के तहत सुनवाई करते हुए विधानसभा स्पीकर बिमान बनर्जी ने कहा कि पेश किए गए तथ्यों और प्रमाणों से साफ है कि मुकुल रॉय फिलहाल बीजेपी में हैं. उन्होंने पार्टी नहीं बदली है. इस तरह से उनके विधायक पद खारिज करने का कोई मसला नहीं है.

बता दें कि मुकुल रॉय सार्वजनिक रूप से बीजेपी छोड़कर टीएमसी में शामिल हुए थे. इसके खिलाफ शुभेंदु अधिकारी ने याचिका दायर की थी. हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की गयी थी. हाईकोर्ट के निर्देश के बाद दूसरी ओर स्पीकर ने यह फैसला सुनाया.

बता दें कि भाजपा के चुनाव चिह्न पर विधानसभा चुनाव में जीत के बाद मुकुल रॉय ने पाला बदल लिया था. इस मामले में कलकत्ता हाइकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक चली कानूनी लड़ाई के बाद फैसला लेने का अधिकार विधानसभा अध्यक्ष को ही दिया गया था. उसी मामले की सुनवाई करते हुए स्पीकर ने यह फैसला किया.

पिछले साल 11 जून को टीएमसी में शामिल हुए थे मुकुल रॉय

मुकुल रॉय पिछले साल 11 जून को भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हो गए थे. तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय तृणमूल भवन में उस अवसर पर खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उपस्थित थीं. मुकुल रॉय को अभिषेक बनर्जी पार्टी में शामिल करवाया था.

उसके बाद मुकुल रॉय को विधासनभा में पीएसी का चेयरमैन बनाया गया था, जिस पर बीजेपी ने आपत्ति जताई थी. उसके बाद बीजेपी ने मुकुल रॉय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था.नेता प्रतिपक्ष शुुभेन्दु अधिकारी ने उसी समय विधानसभा अध्यक्ष से उनके विधायक पद को खारिज करने की मांग की थी. इस बाबत उन्होंने विधानसभा के साथ-साथ हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की थी.