kolkata

Jun 02 2022, 19:55

शिक्षकों, कोच व कंटेंट क्रिएटर्स को बढ़ावा देने के लिए सौरव गांगुली शुरू करेंगे पहल

कोलकाता. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने गुरुवार को हजारों शिक्षकों और कंटेंट क्रिएटर्स को बढ़ावा देने के लिए एडटेक स्टार्टअप क्लासप्लस के साथ हाथ मिलाया. इसी के साथ गांगुली ने उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है जो उनके ट्वीट के बाद लगाई जा रही थीं. लोग गांगुली के ट्वीट के बाद लगातार अलग-अलग कयास लगा रहे थे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने गुरुवार को 'क्लासप्लस' नामक ऐप लॉन्च किया. क्लासप्लस एक एजुकेशन-टेक स्टार्टअप है, जिसकी मदद से शिक्षक और कौशल-आधारित कंटेंट क्रियेटर्स अपने स्वयं के ब्रांडेड ऐप्स के साथ धन अर्जित कर सकेंगे.

सौरव गांगुली ने ऐप लॉन्च करते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर कहा कि आईपीएल ने हमें कई बेहतरीन खिलाड़ी दिये लेकिन जो चीज मुझे प्रेरित करती है वह ये कि इन खिलाड़ियों के कोच इनकी सफलता के लिये खून पसीना एक कर देते हैं. सिर्फ क्रिकेट नहीं बल्कि अकादमिक, फुटबॉल, संगीत जैसे क्षेत्रों के लिये भी यह सच है. उन्होंने कहा कि हम हमेशा से अभिनेताओं, खिलाड़ियों और सफ़ल व्यावसायियों का महिमामंडन करते आ रहे हैं. अब वक्त आ गया है कि हम असली नायकों, कोच और शिक्षकों का गुणगान करें.

श्री गांगुली ने कहा,'' मैं सभी शिक्षकों और कोच के लिये कुछ करना चाहता हूं. आज से मैं उनका समर्थन करने के लिये उनके ट्रेडमार्क राजदूत (ब्रांड अंबैसडर) के रूप में काम करूंगा. मेरे लक्ष्य में मेरी सहायता करने के लिये मैं क्लासप्लस का आभारी हूं. '' उल्लेखनीय है कि गांगुली ने बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि वह अपने जीवन में कुछ नया शुरू करने जा रहे हैं, जिसके बाद यह अटकलें लगायी जा रही थीं कि वह बीसीसीआई अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर राजनीति का रूख करेंगे. इसके कुछ घंटों बाद बुधवार शाम को सौरव गांगुली ने बयान जारी कर कहा था कि वह अध्यक्ष पद से इस्तीफा नहीं दे रहे, बल्कि एक एजुकेशन ऐप लॉन्च कर रहे हैं.


kolkata

Jun 02 2022, 17:46

अभिषेक बनर्जी को इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति मिली

कोलकाता : कलकत्ता हाइकोर्ट ने तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को बड़ी राहत देते हुए उन्हें और उनकी पत्नी रुजीरा बनर्जी को दुबई में इलाज के लिए जाने की अनुमति दे दी है. हालांकि, प्रवर्तन निदेशालय उन्हें अनुमति देने को तैयार नहीं थी, जिसके बाद अभिषेक बनर्जी ने कलकत्ता हाइकोर्ट का रूख किया था. वृहस्पतिवार को हाइकोर्ट के न्यायाधीश विवेक चौधरी की एकल पीठ पर मामले की सुनवाई हुई.

सुनवाई के दौरान हाइकोर्ट के न्यायाधीश ने कहा कि कोयला तस्करी मामले के एफआइआर में अभिषेक बनर्जी का नाम नहीं है और इससे पहले भी ईडी ने कई बार उनसे पूछताछ की है. अगर वह इलाज के लिए विदेश जाना चाहते हैं तो इसे रोका नहीं जा सकता. साथ ही न्यायाधीश ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी अपने आदेश में अभिषेक बनर्जी की यात्रा पर किसी प्रकार की रोक नहीं लगायी है. इसलिए चिकित्सा के लिए वह बाहर जा सकते हैं. हालांकि, मामले की सुनवाई के दौरान ईडी की ओर से मामले की पैरवी करते हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि कोयला तस्करी का मुख्य आरोपी विनय मिश्रा अभी दुबई में है और अभिषेक बनर्जी उससे मिलने के लिए ही दुबई जा रहे हैं.

अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने हाइकोर्ट में दावा किया कि अभिषेक बनर्जी ने अपनी विदेश यात्रा के बारे में पहले से कोई सूचना नहीं दी थी और ठीक जाने से पहले वह इसकी जानकारी दे रहे हैं. गौरतलब है कि अभिषेक बनर्जी इलाज के लिए तीन जून को दुबई जा रहे हैं और वह 10 जून को वापस लौटेंगे.


kolkata

Jun 02 2022, 17:44

महानगर में अब 10 मिनट में होगी शराब की होम डिलीवरी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार के आबकारी विभाग ने महानगर में घर-घर शराब की डिलेवरी कराने के लिए कंपनी नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू की थी, जो अब पूरी हो चुकी है. अब महानगर में आर्डर करने के महज 10 मिनट में ही शराब घर पहुंच जायेगी. बताया गया है कि हैदराबाद की स्टार्टअप कंपनी इनोवेंट टेक्नोलाजीज प्राइवेट लिमिटेड ने अपने ऑनलाइन प्लेअफॉर्म बूजी के माध्यम से शराब की ड‍िलीवरी करने की सर्व‍िस शुरू की है.

बयान के मुताबिक, इस फास्ट ड‍िलीवरी सर्व‍िस के ल‍िए बूजी को पश्चिम बंगाल राज्य आबकारी विभाग से मंजूरी मिल गई है. कंपनी ने यह भी कहा क‍ि इस फास्ट सर्व‍िस के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ) का भी यूज किया जाता है. बूजी के को-फाउंडर एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विवेकानंद बलिजेपल्ली ने कहा कि प्रौद्योगिकी के उन्नत इस्तेमाल से शराब आपूर्ति और उपयोग से जुड़ी तमाम आशंकाओं को दूर करने की कोशिश की गई है.


kolkata

Jun 02 2022, 17:40

सिंगर केके की साजिश के तहत हुई हत्या : भाजपा सांसद

कोलकाता :सिंगर कृष्णकुमार कुन्नथ (केके) की मौत को लेकर बंगाल में सियासी उबाल है. विपक्षी पार्टी सरकार और प्रशासन को घेर रही है. अब पार्टी ने सिंगर की 'हत्या' के आरोप लगाए हैं. मॉर्निंग वॉक के दौरान गुरुवार को भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि व्यक्ति कि परफॉर्मेंस के दौरान कोलकाता में मौत हो गयी. प्रोग्राम किसी कॉलेज ने आयोजित नहीं कराया था. तृणमूल नेताओं ने कार्यक्रम का आयोजन किया था. उन्हें पसीना आ रहा था और परेशानी महसूस कर रहे थे. वह निकलना चाहते थे, लेकिन उन्हें अनुमति नहीं दी गयी. उनकी हत्या की गयी है. साजिश करके उनकी हत्यी की गयी है.

उन्होंने कहा कि घटना का अपराध बोध होने पर उन्हें गन सैल्यूट सलामी दी गयी. .....तृणमूल ने किया पलटवार इधर, इसपर तृणमूल ने पलटवार किया है. राज्य सत्तारूढ़ दल ने कहा है कि घोष पार्टी में बने रहने के लिए निराधार आरोप लगा रहे हैं. तृणमूल प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि केके के मैनेजर को घोष से ज्यादा पता है. मौत पर ओछी राजनीति करना भाजपा की संस्कृति है. दिलीप घोष के लिए यह अस्तित्व की लड़ाई है. उन पर पार्टी ने रोक लगायी हैं.

वह काफी दबाव में हैं और इसलिए ऐसे बयान दे रहे हैं. मालूम रहे कि मंगलवार को कोलकाता में आयोजित कॉन्सर्ट के बाद केके बेहोश हो गये थे. बाद में अस्पताल में उन्हें मृत घोषित कर दिया था. सिगंर केके की मौत को लेकर जहां डॉक्टरों का कहना है कि यह हादसा हार्ट अटैक की वजह से हुआ, वहीं भाजपा राज्य सरकार और प्रशासन को घेर रही है.


kolkata

Jun 02 2022, 10:47

यूपी सरकार शुरु करने जा रही है मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना, विकास योजनाओं में तेजी लाने के लिए युवाओं को जोड़ना प्राथम‍िकता

लखनऊ । प्रदेश सरकार विकास योजनाओं में तेजी लाने के लिए मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना शुरू करने जा रही है। मंगलवार को मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसकी रूपरेखा तय कर दी गई। इस योजना में युवाओं को जोड़ा जाएगा। युवा स्थानीय लोगों से मिलकर उनकी जरूरतों का अध्ययन करेंगे। इन जरूरतों को पूरा करने के तरीकों का भी पता लगाएंगे।

मुख्य रूप से युवाओं को यातायात, स्लम विकास, पर्यावरण सुरक्षा, प्रदूषण नियंत्रण, स्वास्थ्य जैसे कामों में लगाया जाएगा। वे सरकारी योजनाओं का सोशल आडिट भी करेंगे। बैठक में 'द अर्बन लर्निंग इंटर्नशिप प्रोग्राम' का प्रस्तुतीकरण भी किया गया है। इस कार्यक्रम के जरिए युवा निकायों और स्मार्ट सिटी में इंटर्नशिप कर सकते हैं। इस प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण पाने वाले युवाओं को सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। इसका हिस्सा बनने के लिए युवाओं को आनलाइन पंजीकरण करना होगा। इसमें उन्हें बताना होगा कि वह किस निकाय में इंटर्नशिप करना चाहता है। मुख्य सचिव ने कहा कि यह इंटर्नशिप प्रोग्राम प्रदेश के सभी नगर निकायों में लागू किया जाए।

आनलाइन नागरिक सुविधाएं मुहैया कराने के लिए करार: मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की उपस्थित में राष्ट्रीय शहरी डिजिटल मिशन (एनयूडीएम) के अंतर्गत आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार के मध्य समझौते पर हस्ताक्षर किया गया। भारत सरकार की ओर से मिशन निदेशक स्मार्ट सिटी कुणाल कुमार व प्रदेश सरकार की ओर से विशेष सचिव नगर विकास अमित कुमार स‍िंह ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

एनयूडीएम के अंतर्गत आम जनता को नागरिक सुविधाएं डिजिटल प्लेटफार्म पर एक जगह मुहैया कराई जाएंगी। इस प्लटेफार्म के माध्यम से नागरिकों को प्रापर्टी टैक्स की गणना एवं भुगतान, बिल्‍ड‍िंग प्लान एप्रुवल, शिकायतों का निस्तारण, व्यापार लाइसेंस, अनापत्ति प्रमाण पत्र, वाटर एंड सीवरेज, यूजर चार्ज, एकाउंट एंड फाइनेंस, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र से संबंधित सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

मुख्य सचिव ने नगर विकास विभाग के अधिकारियों से कहा कि वह भारत सरकार के अधिकारियों से समन्वय कर एनयूडीएम के अंतर्गत 90 दिनों के भीतर नागरिक सेवाओं को आनलाइन कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि एनयूडीएम शहरों और नगरों को समग्र सहायता प्रदान करने के लिए एक प्लेटफार्म है।


kolkata

Jun 02 2022, 10:46

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को विधान परिषद सदस्य ने ल‍िखा पत्र, एडेड कालेजों के शिक्षकों को नियमित करने की मांग

लखनऊ । प्रदेश के अशासकीय सहायताप्राप्त (एडेड) माध्यमिक विद्यालयों में लंबे समय से कार्यरत तदर्थ शिक्षकों को नियमित रूप से सेवा में रखने की मांग फिर उठी है। विधान परिषद सदस्य देवेंद्र प्रताप स‍िंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे पत्र में लिखा है कि उच्चतम न्यायालय ने तदर्थ शिक्षकों को विनियमित करने के लिए असीमित छूट दी है।

देवेंद्र प्रताप स‍िंह ने लिखा कि कोर्ट ने संजय स‍िंह बनाम उत्तर प्रदेश सरकार मामले में 19 सितंबर, 2019 को पारित आदेश में कहा कि शिक्षकों के संबंध में प्रशासनिक हल निकालने का प्रयास करना चाहिए। इसी तरह 28 फरवरी 2020 को पारित आदेश में कहा कि जो वर्षों से कार्य कर रहे हैं उन्हें नौकरी से बाहर फेंक दिया जाए यह कितना विधि सम्मत होगा। 26 अगस्त 2020 को जारी आदेश में लिखा कि हम सभी दोषी हैं कि इनका उचित विनियमितीकरण नहीं हो सका है। स‍िंह ने लिखा कि कोर्ट ने विनियमित करने की पर्याप्त छूट दी है इसका उपयोग चयन बोर्ड को करना चाहिए।

शिक्षामित्रों का मई माह का मानदेय: प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत करीब डेढ़ लाख शिक्षामित्रों का मई माह का मानदेय भुगतान के लिए भी बजट जारी किया गया है। शिक्षामित्रों को 10 हजार रुपये प्रतिमाह की दर से मानदेय दिया जाएगा। राज्य परियोजना निदेशक अनामिका स‍िंह ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे आदेश में लिखा है कि भुगतान शिक्षामित्रों के खाते में किया जाए। इसके लिए 130 करोड़ से अधिक धनराशि भेजी गई है।


kolkata

Jun 01 2022, 23:04

केके को दिया गया गन सैल्यूट, पुलिस ने शुरू की जांच, बीजेपी ने टीएमसी पर लगाया लापरवाही का आरोप

कोलकाता: मशहूर गायक कृष्णकुमार कुन्नथ (केके) को पश्चिम बंगाल सरकार ने बंदूक की सलामी के साथ श्रद्धांजलि दी. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिवंगत गायक को पुष्पांजलि अर्पित की. केके का पार्थिव शरीर कुछ समय के लिए रवींद्र सदन में रखा गया था. ममता ने केके की पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों को सांत्वना भी दी. गौरतलब है कि मंगलवार को कोलकाता में एक लाइव इवेंट के बाद सिंगर केके का निधन हो गया.

एक अधिकारी ने बताया कि 53 वर्षीय गायक के पार्थिव शरीर को सरकारी एसएसकेएम अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद रवींद्र सदन लाया गया. उन्होंने कहा कि उनके पार्थिव शरीर को नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ले जाया जाएगा और उनके परिवार को सौंप दिया जाएगा. परिवार गायक के पार्थिव शरीर को मुंबई ले जाएगा.

पुलिस ने बताया कि केके मंगलवार रात एक म्यूजिक इवेंट में परफॉर्मेंस देने के बाद एक होटल पहुंचे थे और इसके बाद अस्वस्थ महसूस होने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

बांकुरा दौरा छोड़ कोलकाता पहुंची ममता

ममता बनर्जी बांकुरा में अपना दौरा बीच में छोड़ कोलकाता पहुंची थीं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को केके के निधन पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘हिंदी फिल्मों के पार्श्व गायक केके के आकस्मिक और असामयिक निधन से हम सब स्तब्ध और दुखी हैं. मेरे सहयोगी कल रात से यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं कि आवश्यक औपचारिकताओं, उनके अंतिम संस्कार के लिए और उनके परिवार को सभी आवश्यक सहयोग दिया जाए. मेरी गहरी संवेदना.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केके युवाओं के लिए प्रेरणा थे. हमने एक महान गायक खो दिया है. मैंने उनकी पत्नी से बात की है जो कोलकाता पहुंची हैं.

बीजेपी ने पश्चिम बंगाल सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाया जिस पर सत्तारूढ़ टीएमसी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा है कि बीजेपी को इसका राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए. पुलिस ने कहा कि गायक का पोस्टमॉर्टम किया गया है और रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है.

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, ‘घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए क्योंकि उचित सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन की ओर से पूरी तरह से चूक हुई।’ उन्होंने कहा, ‘कथित तौर पर कार्यक्रम स्थल पर करीब 7,000 लोग मौजूद थे, जहां करीब 3,000 लोगों के बैठने की क्षमता है। वहां बहुत भीड़ थी, जिसका मतलब है कि एक अति विशिष्ट व्यक्ति (वीआईपी) के लिए सुरक्षा व्यवस्था नहीं थी।’

बीजेपी ने पूछे कई सवाल

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव अनुपम हाजरा ने भट्टाचार्य की बात को दोहराते हुए कहा कि आयोजकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने बंगाली में ट्वीट किया, ‘हॉल की क्षमता क्या थी और कितने लोगों को प्रवेश की अनुमति दी गई थी? क्या इस तरह की सभा के लिए एयर-कंडीशनिंग पर्याप्त थी? सभागार में ऑक्सीजन का स्तर क्या था? इन चीजों पर गौर करने की जरूरत है.’

पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने भी एक सक्षम प्राधिकारी से जांच की मांग की. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं एक सक्षम प्राधिकारी द्वारा गायक केके के दुखद निधन की गहन जांच की मांग करता हूं. उनके प्रदर्शन के दौरान नजरूल मंच के आस पास का माहौल, उक्त मंच के कुप्रबंधन सहित कई अहम सवालों का पता चलता है, जो उनकी मृत्यु का कारण हो सकते हैं.’

'बीजेपी को गंदी पॉलिटिक्स बंद करनी चाहिए'

बीजेपी की टिप्पणियों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि पार्टी को अपनी ‘गंदी राजनीति’ बंद करनी चाहिए और किसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘उनकी मृत्यु वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है और हम सभी वास्तव में इसके बारे में दुखी हैं. लेकिन बीजेपी जो कर रही है उसकी बिल्कुल भी उम्मीद नहीं है. भगवा खेमे को अपनी गंदी राजनीति को रोकना चाहिए. उन्हें मौत का राजनीतिकरण करना बंद कर देना चाहिए. हम नहीं करेंगे लेकिन बीजेपी अगर यह दावा करना शुरू कर दे कि केके उनकी पार्टी के नेता थे, तो आश्चर्य नहीं होगा.’

पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की

उधर, पुलिस ने इस संबंध में अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. एक अधिकारी ने बताया, ‘केके जिस होटल में ठहरे थे, उसके मैनेजर और अन्य कर्मचारियों से पुलिस ने बात की है. न्यू मार्केट पुलिस थाने में अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया गया है। यह फाइव स्टार होटल इसी थाना क्षेत्र में आता है जिसमें केके ठहरे थे. अस्पताल ले जाने से पहले इसी होटल में उन्होंने अस्वस्थ होने की शिकायत की थी. ’

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हम होटल अधिकारियों से बात कर रहे हैं और सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रहे हैं ताकि यह पता चल सके कि उन्हें अस्पताल ले जाने से पहले क्या हुआ था.’


kolkata

Jun 01 2022, 17:47

चुनाव के बाद हिंसा मामला: सीबीआई ने गुरुवार को अनुब्रत मंडल को तलब किया

कोलकाता: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा के मामले में तृणमूल कांग्रेस के कद्दावर नेता और पार्टी के बीरभूम जिला अध्यक्ष अनुब्रत मंडल को फिर से तलब किया है.

मंडल को गुरुवार दोपहर कोलकाता के उत्तरी बाहरी इलाके साल्ट लेक में केंद्र सरकार के कार्यालय (सीजीओ) परिसर में सीबीआई के कार्यालय में तलब किया गया. मंडल इस सिलसिले में दो बार सीबीआई के समन से बच चुके हैं. पिछली बार, उन्हें 27 मई को साल्ट लेक में सीबीआई कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया था. हालांकि, उन्होंने चिकित्सा जटिलताओं के बहाने उस समन से परहेज किया और सीबीआई से अगली उपस्थिति के लिए 15 दिनों का समय मांगा.

वर्तमान में सीबीआई के अधिकारी दो मामलों में मंडल से पूछताछ करने की कोशिश कर रहे हैं. पहला चुनाव के बाद की हिंसा पर और दूसरा पश्चिम बंगाल में मवेशी और कोयले की तस्करी के मामलों में. सीबीआई ने कोयला तस्करी मामले में कैनिंग (पूर्व) विधानसभा क्षेत्र से तृणमूल कांग्रेस के दो बार के विधायक सौकत मोल्ला को भी तलब किया है.

लेकिन मंडल की तरह मोल्ला ने भी केंद्रीय एजेंसी के समन से परहेज किया है. यह रिपोर्ट दर्ज होने तक, मंडल या उनके वकीलों से कोई बातचीत नहीं हुई कि वह गुरुवार को साल्ट लेक में सीबीआई कार्यालय में उपस्थित होंगे या नहीं. मवेशी और कोयले की तस्करी मामले में सीबीआई के सात समन से बचने के बाद, अनुब्रत मंडल ने आखिरकार 19 मई को मध्य कोलकाता में सीबीआई के निजाम पैलेस का पहला दौरा किया. हालांकि, उसके बाद उन्होंने फिर से समन से बचना शुरू कर दिया था.


kolkata

Jun 01 2022, 16:50

भाजपा सांसद दिलीप घोष सिंगर केके की मौत पर बंगाल सरकार पर बरसे, कहा-टूटे दरवाजे, ज्यादा भीड़, बंद एसी, बनी मौत की वजह!

कोलकाता. सिंगर केके की मौत पर बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली बंगाल सरकार पर निशाना साधते हुए एक राजनीतिक विवाद छेड़ दिया है. उन्होंने केके के संगीत कार्यक्रम के दौरान "पूरी तरह से अराजकता" के लिए कोलकाता प्रशासन को दोषी ठहराया. शो से लौटने के तुरंत बाद लोकप्रिय गायक का कोलकाता के ग्रैंड होटल में निधन हो गया. शो के दौरान उन्होंने गर्मी की शिकायत की थी. सभागार क्षमता के अनुरूप खचाखच भरा हुआ था. लोग अपने पसंदीदा गायक की एक झलक पाने के लिए सभागार में और उसके आसपास भारी संख्या में मौजूद थे. कॉन्सर्ट में शामिल हुए एक प्रशंसक ने कहा कि भारी भीड़ थी. "सभागार की क्षमता 2,500-3,000 थी. लेकिन उपस्थिति लगभग दोगुनी थी." ऐसा दावा किया जा रहा है.

दिलीप घोष ने कहा कि जिस तरह से केके का शो किया गया था वो सही नहीं है उसकी जांच होनी चाहिए, उन्होंने बंगाल सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा क‍ि हॉल में इतनी भीड़ कैसे आ गई जबकि उसकी क्षमता इतनी नहीं थी, वहीं एसी भी बंद थी जिससे घुटन वाला वातावरण वहां बन गया जिसकी वजह से केके की तबीयत बिगड़ी.

केके का मंगलवार रात 53 साल की उम्र में दक्षिण कोलकाता के नजरूल मंच में अपने आखिरी शो में प्रदर्शन करने के बाद निधन हो गया. कार्यक्रम के अनुसार शो पूरा करने के बाद, वह मध्य कोलकाता में अपने होटल लौट आए थे. इसके बाद उन्हें फिर से बेचैनी महसूस होने लगी. उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. प्रत्यक्षदर्शियों और शो के आयोजकों के अनुसार, गायक को कार्यक्रम के दौरान भी बेचैनी हो रही थी. आयोजकों में से एक ने कहा कि वह लगातार स्पॉटलाइट बंद करने का अनुरोध कर रहे थे और अंतराल पर वह आराम करने के लिए बैकस्टेज जा रहे थे. हालांकि, एक बार भी उन्होंने बीच में शो छोड़ने की इच्छा व्यक्त नहीं की.

केके के मैनेजर रितेश भट ने कहा कि शो पूरा करने के बाद जैसे ही वह अपनी कार में चढ़े, उन्होंने हल्की बेचैनी की शिकायत की. भट ने मीडियाकर्मियों से कहा कि केके ने कहा कि उनके पैरों में ऐंठन महसूस हो रही है. उन्होंने मुझे कार का एसी बंद करने के लिए भी कहा. इस बीच पुलिस सूत्रों ने बताया कि उसके शव को दो कारणों से पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. पहला यह है कि उन्हें अस्पताल में मृत लाया गया था, इसलिए नियम के अनुसार, मृत्यु का कारण का पता लगाने के लिए शरीर का पोस्टमॉर्टम किया जाना चाहिए. दूसरा कारण है- उनके चेहरे और हाथ पर चोट के कुछ स्पष्ट निशान हैं.


kolkata

May 31 2022, 15:49

मुख्यमंत्री ने टीएमसी विधायक को दिए हेल्थ टिप्स.. पकोड़े कम खाएँ..

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी फिटनेस को लेकर बहुत सतर्क रहती हैं. अपनी इसी आदत के चलते उन्होंने एक बैठक के दौरान टीएमसी नेता की तोंद को लेकर सबके सामने क्लास लगा दी. ममता ने नेता से मजाकिया अंदाज में पूछा कि आपका मध्य प्रदेश (पेट) इतना क्यों निकला हुआ है? इस पर नेता ने कहा कि उनका वजन 125 किलो है, वह सुबह नाश्ते में रोज पकौड़े खाते हैं, लेकिन एकदम फिट हैं. रोजाना करीब डेढ़ घंटे एक्सरसाइज करते हैं. ममता ने उन्हें मोटापे के नुकसान समझाते हुए अपनी फिटनेस का ध्यान रखने की भी नसीहत दी. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है.

ये वाकया पुरुलिया में प्रशासनिक समीक्षा बैठक के दौरान हुआ. वीडियो में दिखता है कि मीटिंग के दौरान ममता बनर्जी ने झालदा नगरपालिका अध्यक्ष सुरेश कुमार अग्रवाल से उनके मोटापे को लेकर सवाल किया. ममता ने कहा कि आपका पेट इतना निकला हुआ क्यों है, जिस तरह से यह बढ़ रहा है, आपको निश्चित रूप से दिल की बीमारी होगी. आप किसी भी दिन गिर सकते हैं.

इसके बाद अग्रवाल ने कहा कि मुझे कोई दिक्कत नहीं है. मैं बिल्कुल ठीक हूं. मुझे डायबीटीज नहीं है, बीपी की भी समस्या नहीं है. मैं कोई दवा भी नहीं लेता. उन्होंने बताया कि वह रोजाना करीब डेढ़ घंटे व्यायाम करते हैं लेकिन उन्हें पकौड़े खाना पसंद है. वह रोज पकौड़े खाते हैं. इस पर ममता ने मुस्कुराते हुए पूछा कि तुम रोज पकौड़े क्यों खाते हो, ऐसे तो कभी अपना वजन कम नहीं कर सकते. तुम्हें जरूर लिवर की कोई समस्या होगी. तुम्हारा मध्य प्रदेश (पेट) इतना बड़ा कैसे हो गया.

वीडियो में 62 साल के अग्रवाल ममता से कहते हैं कि वह दिन में रोजाना डेढ़ घंटे व्यायाम करते हैं. ममता ने पूछा कि क्या व्यायाम करते हैं. अग्रवाल ने बताया कि वह कम से कम 1000 बार कपालभाति करते हैं. उन्होंने अनुलोम विलोम और कपालभाति करके भी दिखाया. इसके बाद ममता ने कहा कि संभव ही नहीं है, अगर आप मुझे 1,000 कपालभाति करके दिखाओगे तो मैं 10,000 रुपये दूंगी. ममता ने उन्हें पकौड़े खाना बंद करने की सलाह दी और अपनी सेहत का ध्यान रखने को कहा.

बाद में टीएमसी नेता ने कहा कि वह मुख्यमंत्री की सलाह का पालन करने का निश्चित रूप से प्रयास करेंगे. उन्हें पता है कि मुख्यमंत्री अपनी सेहत का कितना ध्यान रखती हैं और रोजाना 20 किलोमीटर पैदल चलती हैं. ममता बनर्जी इससे पहले भी कई मौकों पर पार्टी कार्यकर्ताओं, नेताओं और पत्रकारों तक को हेल्थ टिप्स दे चुकी हैं और खाने-पीने का ध्यान देने की सलाह दे चुकी हैं.