India

Nov 25 2021, 14:52



  

नोएडा में जेवर एयरपोर्ट की पीएम मोदी ने रखी आधारशिला, योगी और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी रहे मौजूद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश को एक और इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सौगात दी। उन्होंने ग्रेटर नोएडा के जेवर में भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट की आधारशिला रखी। इस अवसर पर पीएम मोदी के साथ सीएम योगी और यूपी सरकार के दूसरे मंत्री भी मौजूद रहे। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 2014 के बाद भारत के नागरिकों ने बदलते हुए भारत को देखा है। एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार होते हुए देखा है। वैश्विक महामारी के कालखंड के दौरान अपने नागरिकों की रक्षा कैसे करनी है, इसका बेहतरीन कोरोना प्रबंधन दिखा। जेवर एयरपोर्ट बहुत महत्वपूर्ण है। 


कुछ लोगों ने यहां दंगों का केंद्र बनाने की कोशिश की-योगी
इस दौरान सीएम योगी एक बार फिर विपक्ष को निशाने पर लिया योगी ने कहा कि यहां के किसानों ने कभी यहां के गन्ना की मिठास को आगे बढ़ाने का काम किया था। लेकिन कुछ लोगों ने यहां दंगों का केंद्र बनाने की कोशिश की। यहां जिन्ना के अनुयायियों से दंगा कराने की कोशिश हुई। उत्तर प्रदेश आज एक नई ऊंचाई की ओर बढ़ रहा है। सरकार की योजनाएं बिना भेदभाव के प्रत्येक नागरिक तक पहुंच रही है। 

दिल्ली एवं गुड़गांव की तरह होगी प्रगति- ज्योतिरादित्य
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि इस हवाई अड्डे पर अनेक प्रगति के आसार होंगे। दक्षिण दिल्ली एवं गुड़गांव की जिस तरह से प्रगति हुई है वैसे ही प्रगति इस इलाके की होगी। एयरपोर्ट के बन जाने पर यहां 1 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। यहां 60 हजार करोड़ रुपए का निवेश आएगा। 

यूपी पाँच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य होगा
इस एयरपोर्ट के शुरू हो जाने के बाद उत्तर प्रदेश पाँच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा।जेवर एयरपोर्ट के शुरू हो जाने पर यहां औद्योगिक गतिविधियों तेज होंगी। एयरपोर्ट के आसपास जिलों के युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। एनसीआर के ग दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट की जगह जेवर एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को पकड़ सकेंगे। 

India

Nov 25 2021, 14:52



  

नोएडा में जेवर एयरपोर्ट की पीएम मोदी ने रखी आधारशिला, योगी और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी रहे मौजूद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश को एक और इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सौगात दी। उन्होंने ग्रेटर नोएडा के जेवर में भारत के सबसे बड़े एयरपोर्ट की आधारशिला रखी। इस अवसर पर पीएम मोदी के साथ सीएम योगी और यूपी सरकार के दूसरे मंत्री भी मौजूद रहे। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 2014 के बाद भारत के नागरिकों ने बदलते हुए भारत को देखा है। एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार होते हुए देखा है। वैश्विक महामारी के कालखंड के दौरान अपने नागरिकों की रक्षा कैसे करनी है, इसका बेहतरीन कोरोना प्रबंधन दिखा। जेवर एयरपोर्ट बहुत महत्वपूर्ण है। 


कुछ लोगों ने यहां दंगों का केंद्र बनाने की कोशिश की-योगी
इस दौरान सीएम योगी एक बार फिर विपक्ष को निशाने पर लिया योगी ने कहा कि यहां के किसानों ने कभी यहां के गन्ना की मिठास को आगे बढ़ाने का काम किया था। लेकिन कुछ लोगों ने यहां दंगों का केंद्र बनाने की कोशिश की। यहां जिन्ना के अनुयायियों से दंगा कराने की कोशिश हुई। उत्तर प्रदेश आज एक नई ऊंचाई की ओर बढ़ रहा है। सरकार की योजनाएं बिना भेदभाव के प्रत्येक नागरिक तक पहुंच रही है। 

दिल्ली एवं गुड़गांव की तरह होगी प्रगति- ज्योतिरादित्य
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि इस हवाई अड्डे पर अनेक प्रगति के आसार होंगे। दक्षिण दिल्ली एवं गुड़गांव की जिस तरह से प्रगति हुई है वैसे ही प्रगति इस इलाके की होगी। एयरपोर्ट के बन जाने पर यहां 1 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। यहां 60 हजार करोड़ रुपए का निवेश आएगा। 

यूपी पाँच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य होगा
इस एयरपोर्ट के शुरू हो जाने के बाद उत्तर प्रदेश पाँच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा।जेवर एयरपोर्ट के शुरू हो जाने पर यहां औद्योगिक गतिविधियों तेज होंगी। एयरपोर्ट के आसपास जिलों के युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। एनसीआर के ग दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट की जगह जेवर एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को पकड़ सकेंगे। 

India

Nov 25 2021, 13:18

singhreached_mumbai

  

गिरफ्तारी पर रोक के बाद मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह मुंबई पहुंचे, कहा- जांच में सहयोग करने आया हूं, न्यायपालिका में पूरा विश्वास

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गिरफ्तारी पर रोक लगाने के बाद मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह मुंबई वापस लौटे हैं। पिछले कुछ दिनों से फरार चल रहे मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह गुरुवार सुबह चंडीगढ़ से मुंबई पहुंचे। पहुंचने के बाद उन्होंने कहा कि मैं यहां जांच में सहयोग करने आया हूं और मुझे न्यायपालिका में पूरा विश्वास है। 

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह मुंबई पहुंचते ही गोरेगांव कथित रंगदारी मामले की जांच में शामिल होने कांदिवली स्थित क्राइम ब्रांच यूनिट 11 के दफ्तर पहुंचे। उन्होंने कल कहा था कि वह चंडीगढ़ में हैं और जल्द ही उनके खिलाफ चल रहे मामलों की जांच में शामिल होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में सुरक्षा देने संबंधित मांग वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान उनसे उनका ठिकाना बताने के लिए कहा था। परमबीर सिंह को मुंबई की एक अदालत ने फरार घोषित कर दिया था। वह महाराष्ट्र में कई मामलों में वसूली के आरोपों का सामना कर रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी पर लगाई थी रोक
सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर सिंह से जांच में सहयोग करने को कहा है। कोर्ट ने फिलहाल परमबीर सिंह की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है और उनसे पूरे मामले की जांच के दौरान सहयोग बरतने का निर्देश दिया था। कोर्ट में उनके वकील ने कहा कि परमबीर सिंह को पूरे मामले में फंसाया जा रहा है। उन्होंने जिन अधिकारियों को भ्रष्ट आचरण के लिए दंडित किया है, उन्हीं को आज शिकायतकर्ता बनाया गया है। अब तक उनके खिलाफ छह मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।

आपको बता दें कि मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच परम बीर सिंह के खिलाफ जबरन वसूली मामले की जांच कर रही है। उसने मजिस्ट्रेट सुधीर भाजीपले की अदालत के समक्ष एक आवेदन दिया था, जिसमें पूर्व पुलिस प्रमुख को भगोड़ा घोषित करने की मांग की गई थी। विशेष लोक अभियोजक शेखर जगताप ने मांग की कि परम बीर सिंह के साथ दो अन्य आरोपी रियाज भाटी और विनय सिंह उर्फ बबलू को भी भगोड़ा घोषित किया जाए।

मुंबई पुलिस प्रमुख के पद से हटाए जाने के बाद, परम बीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे एक पत्र में राज्य के तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। 

India

Nov 25 2021, 13:16

दिल्ली के आर के पुरम में फैली जहरीली गैस, दहशत, लोगों के आंखों में जलन और होने लगी सांस लेने में दिक्कत, पुलिस बोली, चल रही जांच

  





दिल्ली के आर के पुरम में कथित रूप से जहरीली गैस फैलने से दहशत मच गई। यहां लोगों के आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत होने लगी। लोगों का दावा है कि दर्जनों लोग बेहोश हो गए। हालांकि, अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। ऐसे में यह अफवाह है या हकीकत इसका पता नहीं चल पाया है।


घटना बुधवार रात की है। स्थानीय लोगों के मुताबिक, एकता विहार के ठीक बगल में स्थित CRPF कैम्प या NSG कैम्प से जहरीली गैस छोड़ी गई। इसके बाद यहां अफरा तफरी मच गई। लोगों को आंखो मे जलन और सांस लेने मे दिक्कत आने लगी। लोग अपने अपने घरों से बदहवास होकर बाहर सड़कों पर आकर खड़े हो गए। किसी को कुछ समझ मे नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है।


यहां के लोगों ने बताया कि जहरीली गैस से कई लोग बेहोश हो गए जिन्हे अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर समाजसेवी महिपाल गौतम पहुंचे जहां उन्होंने लोगों को मास्क वितरण किया ताकि इस जहरीली गैस से लोगों को सांस लेने मे दिक्कत ना हो। 

फिर उन्होंने पुलिस को सूचित किया। सूचना मिलते ही तुरंत स्थानीय थाने की पुलिस पहुंच गई। मौके पर दो फायर ब्रिगेड की गाड़ियां और 6 एम्बुलेंस भी पहुंची। जहां से लोगों को अस्पताल ले जाया गया। सभी की हालत ठीक है। अब स्थिति काबू में है।

पुलिस मौके पर पहुंचकर CRPF और NSG कैम्प मे जाकर जांच कर रही है। घटना के समय लोग खाना खाकर सोने की तैयारी मे थे। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। 

India

Nov 25 2021, 11:30

saysisitconstitutionallymandatedtomeetsonia

  

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का बड़ा बयान, कहा- हमें हर बार सोनिया से क्यों मिलना चाहिए? यह संवैधानिक रूप से अनिवार्य नहीं

इसमें कोई शक नहीं है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राजनीति में एक राष्ट्रीय चेहरा हैं। अब ममता बनर्जी अपनी पार्टी को भी राष्ट्रीय स्तर पर लाने की कवायद में जुटी हुईं हैं। अपनी पार्टी का राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार करने के लिए अन्य पार्टी के नेताओं को तोड़ने का काम शुरू कर दिया है और इसमें उन्हें सफलता भी मिलती दिख रही है। अपने दिल्ली दौरे के दौरान उन्होंने कई नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल कराया। उनमें कीर्ति झा आजाद जैसे नाम भी शामिल हैं।

सोनिया गांधी से मिलना संवैधानिक रूप से अनिवार्य नहीं-ममता
इस बीच ममता से सोनिया से मुलाकात नहीं करने के बारे में सवाल पूछा गया था और जिस लहजे में उन्होंने जवाब दिया उससे साफ पता चल रहा है कि वह कांग्रेस को अब थोड़ा भी स्पेस देना नहीं चाहती हैं। सोनिया से मुलाकात के सवाल पर ममता बनर्जी ने कहा कि इसकी कोई योजना नहीं है, क्योंकि वे पंजाब चुनाव में व्यस्त हैं। उन्होंने ये भी कहा कि हमें हर बार सोनिया से क्यों मिलना चाहिए? यह संवैधानिक रूप से अनिवार्य नहीं है।

टीएमसी जॉइन करने वाले अधिकांश नेता कांग्रेस के
आपको बता दें कि ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे के दौरान टीएमसी जॉइन करने वाले अधिकांश नेता कांग्रेस के ही हैं। बीते मंगलवार को जहां कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद और पूर्व कांग्रेस सांसद अशोक तंवर टीएमसी में शामिल हो गए वहीं बुधवार रात मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा के साथ कांग्रेस के 11 विधायक भी टीएमसी में शामिल हो गए। इन सबके बीच ममता बनर्जी का ये बयान कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है। 

India

Nov 25 2021, 11:16

IPL 2022 : आईपीएल 2022 का पूरा शेड्यूल आया सामने! एमएस धोनी खेलेंगे उद्घाटन मुकाबला 

  


आईपीएल 2022 का शेड्यूल लगभग तय हो गया है। टी20 लीग के नए सीजन की शुरुआत अप्रैल के पहले हफ्ते से हो सकती है। एमएस धोनी के नेतृत्व में चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल 2021 का खिताब जीता था। ऐसे में डिफेंडिंग चैंपियन होने के नाते उद्घाटन मैच में उसे ही मौका मिलेगा। मौजूदा सीजन से 8 की जगह 10 टीमें उतरेंगी।

 2 नई टीमों के बढ़ने से मैच की संख्या 60 से बढ़कर 74 हो जाएगी। बीसीसीआई ने पहले ही घोषणा कर दी है कि टी20 लीग का पूरा सीजन इस बार देश में ही आयोजित किया जाएगा।

क्रिकबज की खबर के अनुसार, आईपीएल 2022 का आगाज 2 अप्रैल से हो सकता है। पहला मैच चेन्नई में खेला जाएगा। मैच बढ़ने से इस बार लीग 60 दिन से अधिक समय तक चल सकती है। फाइनल मुकाबला 4 या 5 जून को खेला जा सकता है। हालांकि सभी टीमों को पहले की तरह 14-14 मुकाबले ही खेलने होंगे। 7 मुकाबले घर में और 7 मुकाबले घर के बाहर खेलने होंगे। 

India

Nov 25 2021, 11:14



  

आईएनएस वेला भारतीय नौसेना में हुई शामिल, समुद्र की “साइलेंट किलर” रडार को भी धोखा देने में है सक्षम

समुद्र में भारतीय नौसेना की ताकत में बड़ा इजाफा हुआ है। चौथी स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी आईएनएस वेला आज भारतीय नौसेना में शामिल हो गई। इस पनडुब्बी में बैटरी और आधुनिक संचार व्यवस्था स्वदेशी है। इसलिए यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को भी बढ़ावा देता है। 

रडार की आंखों में नहीं आएगी नजर
आईएनएस वेला, कलावरी क्लास की चौथी सबमरीन है, जो 221 फीट लंबी, 40 फीट ऊंची और 1565 टन वजनी है. INS वेला में मशीनरी सेट करने के लिए लगभग 11 किलोमीटर लंबी पाइप और करीब 60 किलोमीटर की केबल फिटिंग की गई है। यह सबमरीन स्पेशल स्टील से बनी है, इसमें हाई टेंसाइल स्ट्रेंथ है जो पानी के अंदर ज्यादा गहराई तक जाकर ऑपरेट करने में सक्षम है। इसकी स्टील्थ टेक्नोलॉजी इसे रडार सिस्टम को धोखा देने योग्य बनाती है यानी रडार इसे ट्रैक नहीं कर पाएगा। यह दुश्मन को भनक लगाए बिना ही अपना काम पूरा कर सकती है। इसके अलावा इसे किसी भी मौसम में ऑपरेट किया जा सकता है।

350 मीटर तक की गहराई में जाकर दुश्मन को कर सकती है सर्च
आईएनएस वेला में दो 1250 केडब्ल्यू डीजल इंजन लगाए गए हैं। इसमें 360 बैटरी सेल्स हैं। प्रत्येक का वजन 750 किलोग्राम के करीब है। इन्हीं बैटरियों के दम पर आईएनएस वेला 6500 नॉटिकल माइल्स यानी करीब 12000 किमी का रास्ता तय कर सकती है। यह सफर 45-50 दिनों का हो सकता है। ये सबमरीन 350 मीटर तक की गहराई में भी जाकर दुश्मन का पता लगा सकती है.


समुद्र की साइलेंट किलर है वेला
आईएनएस वेला की टॉप स्पीड की बात करे तो यह 22 नोट्स है। इसमें पीछे की ओर फ्रांस से ली गई तकनीकी वाली मैग्नेटिस्ड प्रोपल्शन मोटर है। इसकी आवाज सबमरीन से बाहर नहीं जाती है। इसीलिए, आईएनएस वेला सबमरीन को साइलेंट किलर भी कहा जा सकता है। इसके भीतर एडवांस वेपन हैं जो युद्ध जैसे समय में आसानी से दुश्मनों के छक्के छुड़ा सकते हैं।


आईएनएस वेला के ऊपर लगाए गए हथियारों की बात करें तो इसपर 6 टोरपीडो ट्यूब्स बनाई गई हैं, जिनसे टोरपीडोस को फायर किया जाता है। इसमें एक वक्त में अधिकतम 18 तोरपीडोस आ सकते है या फिर एन्टी शिप मिसाइल SM39 को भी ले जाया जा सकता है। इसके जरिए माइंस भी बिछाई जा सकती हैं। सबमरीन में लगे हथियार और सेंसर हाई टेक्नोलॉजी कॉम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम से जुड़े हैं। यह सभी अन्य नौसेना के युद्धपोत से संचार कर सकती है।

बता दें कि इससे पहले स्कॉर्पियन क्लास की छह पनडुब्बियों में से भारत को तीन पनडुब्बी आईएनएस कलवारी, खांडेरी और करंज पहले ही मिल चुकी हैं।इससे पहले 21 नवंबर को नौसेना ने एक गाइडेड मिसाइल विध्वंसक पोत (डेस्ट्रॉयर) विशाखापत्तनम को भी अपने बेड़े में शामिल किया था। मिसाइल विध्वंसक पोत और चौथी स्कॉर्पीन की पनडुब्बी के शामिल होने से नौसेना को इस क्षेत्र में काफी बढ़त मिलने की उम्मीद है। 

India

Nov 25 2021, 10:36

womenthanmenin_india

  

भारत में पहली बार पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या ज्यादा, 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाएं

देश में पहली बार महिलाओं की आबादी में इजाफा हुआ है। अब हर 1,000 पुरुषों पर 1,020 महिलाएं हैं। साथ ही जनसंख्या में कुल प्रजनन दर में भी गिरावट आयी है।ये आंकड़ा नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 में सामने आया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को राष्ट्रीय परिवार और स्वास्थ्य सर्वेक्षण के आंकड़े जारी किए। 


नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 के मुताबिक देश में पुरुषों के मुकाबले अब महिलाओं की संख्या ज्यादा हो गई है। सर्वे के ताज़ा आंकड़ों में कहा गया है कि भारत में अब 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाएं हैं। आजादी के बाद ये भी पहली बार है जब पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं की आबादी 1 हजार से ऊपर पहुंची है। वर्ष 2005-06 में के दौरान हुए तीसरे नेशनल सर्वे में ये आंकड़ा 1000-1000 के साथ बराबर हो गया। इसके बाद 2015-16 में चौथे सर्वे में इन आंकड़ों में 1000 पुरुषों के मुकाबले 991 महिलाएं थीं।

2.2 से घटकर 2.0 हो
सर्वे के मुताबिक कुल प्रजनन दर (टीएफआर) में भी गिरावट आ है। राष्ट्रीय स्तर पर प्रति महिला बच्चों की औसत संख्या 2.2 से घटकर 2.0 हो गई है।  उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और बिहार जैसे कुछ सबसे अधिक आबादी वाले राज्यों के कुल प्रजनन दर में उल्लेखनीय गिरावट देखी गई है। 


सबसे कम प्रजनन दर जम्मू-कश्मीर में 1.4 है
बड़े राज्यों में सबसे कम प्रजनन दर जम्मू-कश्मीर में 1.4 है। यह वह राज्य भी है जिसने 2015-16 में पिछले एनएफएचएस सर्वेक्षण और नवीनतम के बीच प्रजनन दर में सबसे अधिक 0.6 की गिरावट दर्ज की गई है। बड़े राज्यों में, केरल और पंजाब में एनएफएचएस -4 में सबसे कम प्रजनन दर 1.6 थी। हालाँकि, जबकि पंजाब की प्रजनन दर समान बनी हुई है, केरल और तमिलनाडु भारत के ऐसे राज्य हैं जहाँ प्रजनन दर 2019-21 के सर्वेक्षण में मामूली रूप से बढ़कर 1.8 हो गई।

लगभग 6.1 लाख परिवारों पर किया गया सर्वे
एनएफएचएस-5 सर्वेक्षण कार्य देश के 707 जिलों (मार्च, 2017 तक) के लगभग 6.1 लाख नमूना परिवारों में किया गया है, जिसमें जिला स्तर तक अलग-अलग अनुमान प्रदान करने के लिए 724,115 महिलाओं और 101,839 पुरुषों को शामिल किया गया।  एनएफएचएस -5 का पहला चरण 17 जून, 2019 से 30 जनवरी, 2020 तक और दूसरा चरण  2 जनवरी, 2020 से 30 अप्रैल, 2021 तक आयोजित किया गया था। 
दूसरे चरण में जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का सर्वेक्षण किया गया, वे हैं अरुणाचल प्रदेश, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, हरियाणा, झारखंड, मध्य प्रदेश, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्रदिल्ली, ओडिशा, पुद्दुचेरी, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड। पहले चरण में शामिल 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के संबंध में एनएफएचएस-5 के निष्कर्ष दिसंबर, 2020 में जारी किए गए थे। 

India

Nov 25 2021, 10:02

modilaythefoundationstonejewar_airport

  

आज ग्रेटर नोएडा में जेवर एयरपोर्ट की आधारशीला रखेंगे पीएम मोदी, भूमि पजून में 3 लाख लोगों के जुटने की उम्मीद

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले की चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ आचार संहिता लागू हो जाए यूपी की योगी सरकार शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रमों को खत्म करने में जुटी हुई है। प्रदेश की ऐसी ही एक योजना है, जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जेवर एयरपोर्ट का भूमि पूजन करने जा रहे हैं। इसे पश्चिमी यूपी का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट माना जा रहा है।

यूपी सरकार की तरफ से ग्रेटर नोएडा में राज्य के पांचवें अंतरराष्ट्रीय जेवर एयरपोर्ट के भूमि पजून को भी भव्य बनाने की तैयारी की गई है। बड़े स्तर पर इतंजाम किए जा रहे हैं और पीएम मोदी की विशाल रैली भी होनी है। गौतमबुद्ध नगर के जेवर में बनने जा रहा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट योगी आदित्यनाथ सरकार की अहम बुनियादी परियोजनाओं में से एक है। 

3 लाख लोगों के जुटने की उम्मीद
एयरपोर्ट के शिलान्यास कार्यक्रम में करीब तीन लाख लोगों के जुटने की उम्मीद है। इस समारोह को ध्यान में रखते हुए रोही गांव में चार हेलिपैड, नौ पार्किंग की जगहें, 30 गेट और प्रर्दर्शनी एवं वीआईपी लाउंज बनाए गए हैं। 

12 लाख स्क्वायर फीट का बनाया गया टेंट
इस खास कार्यक्रम के लिए 12 लाख स्क्वायर फीट का टेंट बनाया गया है। यहीं पर पीएम मोदी एक विशाल जनसभा को संबोधित करने जा रहे हैं। पार्टी दावा कर रही है कि पश्चिमी यूपी की ये सबसे बड़ी रैली होने जा रही है। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह बताते हैं कि 12 लाख स्क्वायर फीट टेंट के अलावा 12 फीट ऊंचा स्टेज भी बनाया जाएगा।

एयरपोर्ट, मास्टर प्लान का डिजाइन देखेंगे सीएम
अधिकारी ने बताया कि सीएम के दौरे के समय उन्हें एयरपोर्ट, होलोग्राम, प्रदर्शनी गैलरी, मास्टर प्लान एवं लाउंज का डिजाइन दिखाया जाएगा। गत शुक्रवार को राज्य के कैबिनेट मंत्री जय प्रताप सिंह ने निर्माण स्थल का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया। 

यूपी का 5वां अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट होगा जेवर
यूपी सरकार का कहना है कि जेवर में बनने वाला यह एयरपोर्ट राज्य का पांचवा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। राज्य में 2012 तक केवल दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थे, जब लखनऊ के बाद वाराणसी को यह गौरव प्राप्त हुआ था। 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन के बाद कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शुरू हुआ जबकि अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का काम प्रगति पर है जहां हवाई सेवाएं अगले साल की शुरुआत में शुरू होने की उम्मीद है।

देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा
नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। इस हवाई अड्डे के पहले चरण में सालाना 1.2 करोड़ यात्रियों की सेवा करने की क्षमता होगी और इसे 36 महीनों में पूरा किया जाना है।वर्तमान में उत्तर प्रदेश में आठ परिचालन हवाई अड्डे हैं, जबकि 13 हवाई अड्डे और सात हवाई पट्टी विकसित की जा रही हैं। 

India

Nov 25 2021, 10:02

modilaythefoundationstonejewar_airport

  

आज ग्रेटर नोएडा में जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे पीएम मोदी, भूमि पूजन में 3 लाख लोगों के जुटने की उम्मीद

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले की चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ आचार संहिता लागू हो जाए यूपी की योगी सरकार शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रमों को खत्म करने में जुटी हुई है। प्रदेश की ऐसी ही एक योजना है, जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जेवर एयरपोर्ट का भूमि पूजन करने जा रहे हैं। इसे पश्चिमी यूपी का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट माना जा रहा है।

यूपी सरकार की तरफ से ग्रेटर नोएडा में राज्य के पांचवें अंतरराष्ट्रीय जेवर एयरपोर्ट के भूमि पजून को भी भव्य बनाने की तैयारी की गई है। बड़े स्तर पर इतंजाम किए जा रहे हैं और पीएम मोदी की विशाल रैली भी होनी है। गौतमबुद्ध नगर के जेवर में बनने जा रहा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट योगी आदित्यनाथ सरकार की अहम बुनियादी परियोजनाओं में से एक है। 

3 लाख लोगों के जुटने की उम्मीद
एयरपोर्ट के शिलान्यास कार्यक्रम में करीब तीन लाख लोगों के जुटने की उम्मीद है। इस समारोह को ध्यान में रखते हुए रोही गांव में चार हेलिपैड, नौ पार्किंग की जगहें, 30 गेट और प्रर्दर्शनी एवं वीआईपी लाउंज बनाए गए हैं। 

12 लाख स्क्वायर फीट का बनाया गया टेंट
इस खास कार्यक्रम के लिए 12 लाख स्क्वायर फीट का टेंट बनाया गया है। यहीं पर पीएम मोदी एक विशाल जनसभा को संबोधित करने जा रहे हैं। पार्टी दावा कर रही है कि पश्चिमी यूपी की ये सबसे बड़ी रैली होने जा रही है। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह बताते हैं कि 12 लाख स्क्वायर फीट टेंट के अलावा 12 फीट ऊंचा स्टेज भी बनाया जाएगा।

एयरपोर्ट, मास्टर प्लान का डिजाइन देखेंगे सीएम
अधिकारी ने बताया कि सीएम के दौरे के समय उन्हें एयरपोर्ट, होलोग्राम, प्रदर्शनी गैलरी, मास्टर प्लान एवं लाउंज का डिजाइन दिखाया जाएगा। गत शुक्रवार को राज्य के कैबिनेट मंत्री जय प्रताप सिंह ने निर्माण स्थल का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया। 

यूपी का 5वां अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट होगा जेवर
यूपी सरकार का कहना है कि जेवर में बनने वाला यह एयरपोर्ट राज्य का पांचवा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। राज्य में 2012 तक केवल दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थे, जब लखनऊ के बाद वाराणसी को यह गौरव प्राप्त हुआ था। 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन के बाद कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शुरू हुआ जबकि अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का काम प्रगति पर है जहां हवाई सेवाएं अगले साल की शुरुआत में शुरू होने की उम्मीद है।

देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा
नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। इस हवाई अड्डे के पहले चरण में सालाना 1.2 करोड़ यात्रियों की सेवा करने की क्षमता होगी और इसे 36 महीनों में पूरा किया जाना है।वर्तमान में उत्तर प्रदेश में आठ परिचालन हवाई अड्डे हैं, जबकि 13 हवाई अड्डे और सात हवाई पट्टी विकसित की जा रही हैं।