uttarpradesh

Oct 12 2021, 10:55

mishraonpoliceremand
लखीमपुर खीरी काडः आशीष मिश्र मोनू की तीन दिन की पुलिस रिमांड आज से शुरू, पूछताछ के लिए लाया गया रिजर्व पुलिस लाइंस

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया कांड में जेल भेजे गए हत्या के आरोपी आशीष मिश्र मोनू का तीन दिन की पुलिस रिमांड आज से शुरू हो रहा है। जिसके बाद एमओएस अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को रिजर्व पुलिस लाइंस लाया गया। बता दें कि सोमवार को सीजेएम चिंताराम ने सुनवाई के बाद मंगलवार से गुरुवार सुबह दस बजे तक के लिए रिमांड की मंजूरी दी थी। 


केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष को शनिवार को 12 घंटे पूछताछ के बाद रात में जेल भेज दिया गया था। पूछताछ की और जरूरत बताते हुए पुलिस की तरफ से आशीष की कस्टडी मांगी गई थी। करीब 20 मिनट की सुनवाई में अभियोजन पक्ष की ओर से कहा गया कि पूछताछ के दौरान आशीष मिश्र ने विवेचना में कोई सहयोग नहीं किया। साथ ही पूछताछ के दौरान कई प्रश्नों को टालने के मकसद से मौन ही रहा। अभियोजन पक्ष ने दलील दी कि विवेचना में घटना के षड्यंत्र के संबंध में उत्तर पाना आवश्यक है। इसके लिए 14 दिन की पुलिस रिमांड मांगी गई। 

वहीं बचाव पक्ष की ओर से कहा गया कि 12 घंटे की पूछताछ के बाद अब कोई पूछताछ शेष नहीं है। विवेचक चाहे तो जेल में अभियुक्त से पूछताछ कर लें, केवल थर्ड डिग्री टार्चर करने के लिए कस्टडी रिमांड मांगी जा रही है, जो गलत है। अभियोजन व बचाव पक्ष की तरफ से दी गईं दलीलें सुनने के बाद सीजेएम ने अभियुक्त आशीष मिश्र को कुछ शर्तों के साथ तीन दिन की पुलिस रिमांड देने का फैसला सुनाया। यह पुलिस रिमांड 12 अक्तूबर सुबह दस बजे से 15 अक्तूबर सुबह दस बजे तक के लिए होगी। इस अवधि में किसी हाल में थर्ड डिग्री का इस्तेमाल न करने की हिदायत दी गई है। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:31

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:31

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:31

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:31

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:28

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 17:28

yadavwillstartvijayrathyatra
विजय रथ यात्रा के पहले अखिलेश यादव ने लिया अपने पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद, कल से शुरू हो रही यात्रा

समाजवादी पार्टी (सपा) लगभग पांच साल बाद विजय रथ यात्रा के जरिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार के खिलाफ जनसमर्थन हासिल करने का प्रयास करेगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की अगुवाई में विजय रथ यात्रा का आगाज औद्योगिक नगरी कानपुर से 12 अक्टूबर को होगा। कल से शुरू होने वाली विजय यात्रा से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादवव ने मुलायम सिंह का आशीर्वाद लिया।


बता दें कि सपा का विजय रथ विधानसभा चुनाव तक चरणबद्ध तरीके से चलेगा। यह यात्रा प्रदेश की हर विधानसभा में तहसील कस्बे का भ्रमण करेगी। इस दौरान पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की कई जनसभाएं होंगी जिसमें भाजपा सरकार की विफलताओं और कारगुजारियों का खुलासा किया जाएगा। पार्टी सूत्रा के मुताबिक रथ यात्रा के दौरान किसानों की समस्या के प्रति सरकार के उदासीन रवैए, लखीमपुर, हाथरस और महोबा की आपराधिक घटनाओं का जिक्र होगा वहीं महिला सुरक्षा, बेरोजगारी,महंगाई और भाजपा की वादाखिलाफी पर सपा अध्यक्ष अपने सुर मुखर करेंगे। 


अलग-अलग चरणों में चलने वाली यात्रा के लिए लगभग तीन माह का समय निर्धारित किया गया है। यात्रा के दौरान हर जिले में सपा अध्यक्ष कम से कम एक जनसभा करेंगे और भाजपा सरकार की नाकामियों को गिनाएंगे। साथ ही वह सपा की सरकार आने पर दी जाने वाली सुविधाओं और योजनाओ के बारे में जानकारी देंगे। 


बता दें कि इससे पहले श्री यादव 31 जुलाई 2001 में पहली बार क्रांति रथ लेकर निकले थे। इसके बाद 12 सितंबर 2011 को दूसरी बार समाजवादी क्रांतिरथ यात्रा लेकर निकले जिसके बाद उन्हे यूपी की सत्ता हासिल हुई थी। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 16:20

#tempo_driver_beaten_to_traffic_police
*अलीगढ़ में एक ट्रैफिक पुलिस की जमकर पिटाई, ऑटो के किराए को लेकर हंगामा*

अलीगढ़ में किराए को लेकर ऑटो ड्राइवर से उलझना एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी को महगा पड़ गया। थाना गांधी पार्क क्षेत्र के दुबे के पड़ाव चौराहे पर किराये को लेकर ऑटो रिक्शा सवार यात्रियों और ट्रैफिक पुलिस के सिपाही के बीच विवाद हो गया। जिसके बाद यात्रियों ने सिपाही को जमकर पीटा, उसकी वर्दी फाड़ दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची, हालांकि तब तक देर हो चुकी थी। वहां कोई नहीं मिला।

दुबे के पड़ाव पर मौजूद लोगों के मुताबिक, मदार गेट चौराहे के पास ट्रैफिक पुलिस के सिपाही ने ऑटो रिक्शा को रोककर कहा कि उसे दुबे के पड़ाव चौराहे तक जाना है। चालक ने सिपाही को बिठा लिया। दुबे के पड़ाव पहुंचने पर चालक ने किराया मांगा तो सिपाही रवि कुमार भड़क गया और उसने चालक के साथ अभद्रता कर डाली।

इस पर अन्य यात्रियों ने विरोध किया। इस बात पर रवि कुमार भड़क गया और उसने एक यात्री को चांटा मार दिया। इससे यात्री के मुंह से खून बहने लगा। यह देखकर अन्य यात्री भी भड़क गए और उन्होंने रवि कुमार के साथ मारपीट कर डाली।

इसके बाद रवि कुमार ने भी अपने अन्य साथियों को बुला लिया और दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस मारपीट का वीडियो बना लिया। घटना की जानकारी पर इलाका पुलिस भी मौके पर पहुंच गई लेकिन तब तक दोनों पक्ष घटनास्थल से जा चुके थे। 

uttarpradesh

Oct 11 2021, 16:19

driverbeatentotraffic_police
अलीगढ़ में एक ट्रैफिक पुलिस की जमकर पिटाई, ऑटो के किराए को लेकर हंगामा

अलीगढ़ में किराए को लेकर ऑटो ड्राइवर से उलझना एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी को महगा पड़ गया। थाना गांधी पार्क क्षेत्र के दुबे के पड़ाव चौराहे पर किराये को लेकर ऑटो रिक्शा सवार यात्रियों और ट्रैफिक पुलिस के सिपाही के बीच विवाद हो गया। जिसके बाद यात्रियों ने सिपाही को जमकर पीटा, उसकी वर्दी फाड़ दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची, हालांकि तब तक देर हो चुकी थी। वहां कोई नहीं मिला।

दुबे के पड़ाव पर मौजूद लोगों के मुताबिक, मदार गेट चौराहे के पास ट्रैफिक पुलिस के सिपाही ने ऑटो रिक्शा को रोककर कहा कि उसे दुबे के पड़ाव चौराहे तक जाना है। चालक ने सिपाही को बिठा लिया। दुबे के पड़ाव पहुंचने पर चालक ने किराया मांगा तो सिपाही रवि कुमार भड़क गया और उसने चालक के साथ अभद्रता कर डाली।

इस पर अन्य यात्रियों ने विरोध किया। इस बात पर रवि कुमार भड़क गया और उसने एक यात्री को चांटा मार दिया। इससे यात्री के मुंह से खून बहने लगा। यह देखकर अन्य यात्री भी भड़क गए और उन्होंने रवि कुमार के साथ मारपीट कर डाली।

इसके बाद रवि कुमार ने भी अपने अन्य साथियों को बुला लिया और दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस मारपीट का वीडियो बना लिया। घटना की जानकारी पर इलाका पुलिस भी मौके पर पहुंच गई लेकिन तब तक दोनों पक्ष घटनास्थल से जा चुके थे।