Patna

May 23 2021, 11:37

कोरोना से जंग : ग्रामीण इलाकों में सख्ती से कराया जायेगा लॉकडाउन का पालन, प्रखंड स्तर के अधिकारियों को दिया गया विशेष जिम्मा
  


पटना : शहर के बाद अब ग्रामीण इलाको में कोरोना का कहर बढ़ रहा है। जिसे देखते हुए सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। अब प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लॉकलडाउन का पालन सुनिश्चित करने के लिए और सख्ती बरती जाएगी। इसके लिए प्रखंड स्तर के अधिकारियों को विशेष जिम्मा दिया गया है। गांव में होने वाले शादी व श्राद्धकर्म की भी रिपोर्ट लिखी जाएगी।

राज्य सरकार के दिशा निर्देश पर गांव में लॉकडाउन का पालन कराने के लिये पुलिस की गश्ती बढ़ाने का निर्णय लिया गया है, ताकि गांव में लाकडाउन के नियमों का पालन हो सके। ऐसा नहीं करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। 

पुलिस के अलावा बीडीओ व सीओ भी गश्त करेंगे ताकि संक्रमित हर व्यक्ति की पहचान हो सके और लोग कोरोना गाइडलाइन का पालन करें। वहीं, इसके लिये एक व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाने का निर्देश दिया गया है जिस पर गांव में ऐसे लोगों की सूचना दी जायेगी जो बीमार होने के बावजूद डाक्टर से मिलने नहीं जा रहें हैं। वैसे लोगों को गांव के अन्य लोगों के सहयोग से अस्पताल पहुचाया जायेगा ताकि समय पर उपचार हो सके।

ग्रामीण इलाको में जागरूकता के आभाव में शादी-विवाह एवं श्राद्ध में भारी भीड़ जुट रही हैं। जिससे संक्रमण घटने की जगह बढने का खतरा हैं। इस कारण पुलिस की गश्त बढाने का अनुरोध स्वास्थ्य विभाग ने पुलिस मुखयालय से किया है। ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन का पालन कराने और संक्रमण से बचाने के लिये जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग लिया जाएगा।

Patna

May 23 2021, 11:36

पटना : नाइट्रोन के सिलेंडर को ऑक्सीजन के सिलेंडर में बदलने का चल रहा था खेल, 40 सिलिंडर के साथ तीन गिरफ्तार 
  


पटना : शाहपुर पुलिस ने ऑक्सीजन गैस के बड़े कालाबाजारी का खुलासा किया है। पुलिस ने दियारा के गंगहारा के फुटानी बाजार में ऑक्सीजन के कालाबाजारी में लगे तीन धंधेबाजों को गिरफ्तार किया। साथ ही नाईट्रोजन गैस के 40 खाली सिलेंडर भी बरामद किये हैं। 

बताया जाता है कि सभी एक खेत में चोरी छिपे नाइट्रोजन के सिलेंडर को ऑक्सीसजन के सिलेंडर में बदलने का काम करते थे। गिरफ्तार धंधेबाजों में सोनपुर के पहलेजा निवासी अनिल महतो, शाहपुर के शंकरपुर निवासी संतोष कुमार और गंगहारा निवासी संतोष कुमार शामिल है। पुलिस सभी से पूछताछ में लगी हुई है। दियारा के गंगहारा में कुछ लोगों द्वारा नाइट्रोजन के सिलेंडर को ऑक्सीजन का सिलेंडर में बदलने का काम किया जा रहा था।

शाहपुर थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी सुबोध कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि गंगहारा में कुछ लोग ऑक्सीजन सिलेंडर लाकर रखे हैं। छापेमारी में 40 नाइट्रोजन गैस का खाली सिलेंडर मिला जो काले रंग का था । सभी सिलेंडरों को ग्र्रेंडग मशीन से रंग बदला जा रहा था। इस प्रकार नाइट्रोजन गैस के सिलेंडर को ऑक्सीजन गैस के सिलेंडर में बदला जा रहा था। 

इन लोगों द्वारा पटना के एक अस्पताल में  र्सिंलडर सप्लायी करने की तैयारी थी। पुलिस के मुताबिक नाइट्रोजन गैस के र्सिंलंडर को ऑक्सीजन गैस के र्सिंलडर में बदला जाना अपराध है। इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है। 

पूछताछ में गिरफ्तार लोगों ने बताया कि गुजरात से 50 नाइट्रोजन गैस का सिलेंडर लाये गये थे जिस पर काला रंग चढ़ा हुआ था। उस रंग को हटाया जा रहा था। 10 र्सिंलडर को इन लोगों ने वैशाली के महुआ स्थित एक अस्पताल को बेचा गया था पर अस्पताल वालों ने बाद में लेने से मना कर दिया। 



एक अस्पताल ने इन जालसाजों को र्सिंलडर के एवज में ऑनलाइन पेमेंट तक कर दी थी। इसके बाद वहां र्सिंलडर पहुंचाने की तैयारी थी। लेकिन बाद में अस्पताल प्रबंधन ने सभी र्सिंलडर को लेने से इंकार कर दिया। 

रेंज आईजी, पटना  संजय सिंह ने कहा कि इस मामले की छानबीन करने में पुलिस जुटी हुई है।

Patna

May 22 2021, 19:24

पटना: आज भारत सरकार की लापरवाही की वजह से देश में है कोरोना के टिका का किल्लत: शिवानंद
  


 राजद के वरिष्ट नेता शिवानंद तिवारी ने आज अठारह वर्ष से ऊपर वालों को आज टीका (वैक्सीन) नहीं लगने पर सरकार की लापरवाही  बताया।

उन्होंने  कहा  कि दिल्ली से आने वाला टीका का खेप नहीं आया. जब आएगा तब टीका लगेगा. 

टीका की उपलब्धता की अनिश्चितता की यह हालत सिर्फ बिहार में ही नहीं है. देश की राजधानी दिल्ली में टीकाकरण के कई केंद्र बंद हो चुके हैं. किसी भी राज्य में जरूरत के हिसाब से टीका उपलब्ध नहीं है. दूसरी ओर दुनिया भर के वैज्ञानिकों तथा चिकित्सा शास्त्रियों का मानना है कि कोरोना की महामारी से बचाव का एकमात्र कारगर उपाय अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण ही है.

दुनिया भर में इस महामारी का जो पहला का पहला दौर आया था उसमें हम लोगों ने अमेरिका तथा यूरोप के देशों की दुर्दशा देखी थी. लेकिन वे तमाम देश तुरंत सचेत हो गये. उन्होंने इस महामारी पर काबू पाने के लिए शोध करने वाले संस्थानों को आर्थिक सहायता दिया. वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को क्षमता बढ़ाने में मदद की. 

अमेरिका ने 2020 के अगस्त महीने में ही 40 करोड़ वैक्सीन का अग्रिम आदेश दे दिया था.  यूरोपियन यूनियन में भी उसके बाद 80 करोड़ वैक्सीन का आदेश कर दिया. हमारे देश में इस वर्ष जनवरी महीने में सरकार ने 135 करोड़ की आबादी वाले देश के लिए मात्र एक करोड़ साठ  लाख वैक्सीन का ऑर्डर दिया. 

इस बीच पूना की अंतरराष्ट्रीय ख्याति वाली कंपनी सिरम इंस्टीट्यूट को तो कई मुल्कों से अग्रिम मिल गया. दुनिया भर में टीका बनाने वाली कंपनियों को उत्पादन क्षमता भर अग्रिम आदेश मिल चुका है. बाज़ार में कहीं टीका उपलब्ध नहीं है. 

विदेश मंत्री टीका पाने के अभियान में अमेरिका जा रहे हैं.
दूसरी ओर टीका के मूल्य को लेकर भी हमारे देश में अजीब स्थिति बनी हुई है. शुरुआत में ही भारत सरकार में तय किया था एक टीका का मूल्य एक सौ पचास रुपए होगा. टीकाकरण सरकारी अस्पतालों में ही हो रहा था .

बाद में प्रधानमंत्री जी ने ऐलान किया टीकाकरण निजी अस्पतालों में भी हो सकता है. वहां एक टीका लगाने के लिए ढाई ढाई सौ रु. उन्होंने घोषित किया. टीका का मूल्य डेढ़ सौ रू. तथा अस्पताल का सेवा शुल्क एक सौ रूपये. लेकिन वह आदेश चुपचाप वापस ले लिया गया. क्यों वापस लिया गया इसकी कोई सफाई सरकार ने नहीं दिया. 

इसके बाद मोदी सरकार ने नया ऐलान कर दिया कि 48 वर्ष से ऊपर वालों का टीकाकरण वह कराएगी. साथ ही अड़तालीस वर्ष से ऊपर वालों के टीकाकरण के लिए टीका की कीमत भी उसने डेढ़-डेढ़ सौ रुपए घोषित कर दिया. लेकिन बाकी टीकों की कीमत तय करने की आजादी टीका निर्माताओं को दे दिया.
 सीरम इंस्टीट्यूट ने राज्य सरकारों के लिए अपने टीका का मूल्य ₹300 तथा निजी अस्पतालों के लिए ₹600 तय कर दिया है. जबकि भारत बायोटेक ने अपने टीका का मूल्य राज्य सरकारों के लिए ₹600 तथा निजी अस्पतालों के लिए 12 सौ रुपए 

  • Patna
     @Patna  12 सौ रुपए तय किया है. टीका की कीमतों का ऐसा निर्धारण  दुनिया में अनोखा है. यानी एक टीका और तीन तीन कीमत ! 
    
    मोदी सरकार एक देश में एक नीति चलाए जाने की पैरोकार है. एक देश में एक टैक्स, एक देश में एक राशन कार्ड, एक देश में एक चुनाव. इस तरह की नीति की पैरोकार सरकार ने एक ही टीके की तीन तीन कीमत की छूट देकर इन कंपनियों को महामारी में बेशुमार मुनाफा कमाने का छूट दे दिया है. देश की जनता इस को याद रखेगी. 
Patna

May 22 2021, 16:54

नेता प्रतिपक्ष ने जमीयत उलेमा ए हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना कारी मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी के निधन पर गहरा शोक और दुख व्यक्त किया
  


पटना :नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने जमीयत उलेमाए हिंद  के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना कारी मोहम्मद उस्मान मंसूरपुरी के रोहलत (निधन)पर गहरा शोक एवम दुख व्यक्त किया।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वे पाये के अलीम ए दीन थे।वे दारुल उलूम देवबंद के कार्यवाहक मोहतमिम के साथ बड़े उस्ताद(वरिष्टसिक्छक)थे।उनका पूरा जीवन सिक्छा एवम सामाजिक खिदमत के लिये समर्पित था।

उनके निधन से अघ्यात्म जगत को अपुर्णीय छति हुई है।खुदा उन्हें जन्नत मे आला मुकाम अता करे।

Patna

May 21 2021, 19:04

BIG BREAKING
  


पटना हाइकोर्ट का बड़ा फैसला, सेनारी नरसंहार के 13 दोषियों को किया बरी, तुरंत रिहा करने का आदेश

पटना हाइकोर्ट ने सेनारी नरसंहार पर शुक्रवार को बड़ा फैसला दिया है। कोर्ट ने इस नरसंहार के 13 दोषियों को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है। हाइकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को रद्द दिया है। कोर्ट ने सभी दोषियों को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है। 

ज्ञात हो कि 18 मार्च 1999 में यह नरसंहार हुआ था, जिसमें 34 लोगों की हत्या हुई थी। घटना में 10 को फांसी व तीन का उम्रकैद की सजा निचली अदालत ने सुनायी थी। 15 नवंबर 2016 को जहानाबाद जिला अदालत ने अपना फैसला सुनाया था।

पटना हाइकोर्ट के जज अश्विनी कुमार सिंह व अरविंद श्रीवास्तव की खंडपीठ ने यह फैसला सुनाया।

Patna

May 21 2021, 18:23

कोरोना संक्रमण के कारण बिहार के गाँवो-टोलों में स्थिति भयावह, जालसाज नीतीश सरकार आँकड़ो का प्रबंधन कर मस्त : तेजस्वी यादव
  


पटना : बिहार में कोरोना को लेकर राजनीति अपने चरम पर है। एक ओर जहां सरकार कोरोना रोकथाम को लेकर पूरा प्रयास किये जाने की बात कर रही है। विपक्ष द्वारा लगातार कोरोना प्रबंधन के नाम पर सिर्फ आंकड़ो का खेल किये जाने का सरकार पर आरोप लगाया जा रहा है। 

नेता प्रतिपक्ष ने तेजस्वी यादव ने इस मामले को लेकर एकबार फिर नीतीश सरकार पर बड़ा हमला बोला है। 

तेजस्वी ने ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने लिखा है...कोरोना संक्रमण के कारण बिहार के गाँवो-टोलों में बहुत ही भयावह और ख़तरनाक हालात है। कहीं कोई जाँच-परख नहीं। दवा,अस्पताल और डॉक्टर तो बहुत दूर की बात है।

हज़ारों लोग मारे जा चुके है, जालसाज नीतीश सरकार आँकड़ो का प्रबंधन कर मस्त है। मर रहे लोग, जल रहे शव इनके लिए संख्या भी नहीं है।

मुज़फ़्फ़रपुर के सरमसपुर में 37 और हाजीपुर के घोसवर गांव में 15 लोगों की मौत हो चुकी है। हज़ारों ऐसे गाँव है जहाँ औसतन 10 से अधिक मौतें हो चुकी है। गाँवो में कोरोना के लक्षण वाले लाखों मरीज़ है लेकिन कोई जाँच नहीं। कोई परवाह नहीं। बेशर्म नीतीश सरकार कागजों और आँकड़ो में ही चल रही है। लोगों को ईलाज के अभाव में सरकार द्वारा मारा जा रहा है।

Patna

May 21 2021, 18:23

कोरोना संक्रमण के कारण बिहार के गाँवो-टोलों में स्थिति भयावह, जालसाज नीतीश सरकार आँकड़ो का प्रबंधन कर मस्त : तेजस्वी यादव
  


पटना : बिहार में कोरोना को लेकर राजनीति अपने चरम पर है। एक ओर जहां सरकार कोरोना रोकथाम को लेकर पूरा प्रयास किये जाने की बात कर रही है। विपक्ष द्वारा लगातार कोरोना प्रबंधन के नाम पर सिर्फ आंकड़ो का खेल किये जाने का सरकार पर आरोप लगाया जा रहा है। 

नेता प्रतिपक्ष ने तेजस्वी यादव ने इस मामले को लेकर एकबार फिर नीतीश सरकार पर बड़ा हमला बोला है। 

तेजस्वी ने ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने लिखा है...कोरोना संक्रमण के कारण बिहार के गाँवो-टोलों में बहुत ही भयावह और ख़तरनाक हालात है। कहीं कोई जाँच-परख नहीं। दवा,अस्पताल और डॉक्टर तो बहुत दूर की बात है।

हज़ारों लोग मारे जा चुके है, जालसाज नीतीश सरकार आँकड़ो का प्रबंधन कर मस्त है। मर रहे लोग, जल रहे शव इनके लिए संख्या भी नहीं है।

मुज़फ़्फ़रपुर के सरमसपुर में 37 और हाजीपुर के घोसवर गांव में 15 लोगों की मौत हो चुकी है। हज़ारों ऐसे गाँव है जहाँ औसतन 10 से अधिक मौतें हो चुकी है। गाँवो में कोरोना के लक्षण वाले लाखों मरीज़ है लेकिन कोई जाँच नहीं। कोई परवाह नहीं। बेशर्म नीतीश सरकार कागजों और आँकड़ो में ही चल रही है। लोगों को ईलाज के अभाव में सरकार द्वारा मारा जा रहा है।

Patna

May 21 2021, 16:33

पटना के आइजीआइएमएस में इंटर्न डॉक्टरों ने  मानदेय बढ़ाने के मांग को लेकर शुरू किया सांकेतिक हड़ताल
  


पटना के आइजीआइएमएस में इंटर्न डॉक्टर मानदेय बढ़ाने के मांग को लेकर शुरू किया सांकेतिक हड़ताल ।

कहा कोविड काल मे मरीजो का इलाज करते हुए अपनी मांग को रखेंगे जारी
 
इंटर्न डॉक्टरों ने कहा फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में दिन  रात हमलोग कर रहे इलाज अन्य राज्यो के तरह ही अलग से मिलना चाहिए मानदेय।

Patna

May 21 2021, 16:31

राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद ने प्रख्यात पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की
  


पटना : प्रख्यात पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा के निधन पर राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की।सुंदर लाल बहुगुणा चिपको आंदोलन के प्रणेता थे, उन्हें वृक्ष मित्र के रूप मे देश, दुनिया के लोग जानते थे।उन्होंने समाजसुधार के कई कार्य यथा भूदान, शराब विमुक्ति, दलित उत्थान मे विशेष रुचि ली थी।

वे कई पुस्तकों के रचिता भी थे।वे पदमश्री, पदमविभूषण जैसे श्रेष्ट पुरस्कारों के साथ कई पुरस्कारों से अलंकृत थे।इनके निधन से एक प्रख्यात पर्यावरण मित्र हमसब से बिछड़ गया है।ईश्वर उनकी आत्मा को चिर शांति दे।

Patna

May 21 2021, 15:11

राजद की बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष को सलाह, कहा-हवा-हवाई बयानबाजी से बचें डॉ.संजय जायसवाल
  


पटना  ; राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल को हवा-हवाई बयान बाजी से बचने की सलाह दी है। 
         
राजद प्रवक्ता ने कहा कि संजय जायसवाल जी जैसे जिम्मेवार व्यक्ति  को बेचैन आत्मा बने सुशील कुमार मोदी के हवा-हवाई राजनीतिक शैली का अनुकरण नहीं करना चाहिए। और कुछ भी बोलने से पहले उसके तथ्यों को जान लेना चाहिए। 
        
चितरंजन गंगन ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव को अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर में काम करने की नसीहत दी गई है। यह नसीहत उन्हें अपने एनडीए के नेताओं  को देना चाहिए , जो बिहार में कहीं भी दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। राजद प्रवक्ता ने कहा कि संजय जी शायद भूल रहे हैं कि नेता प्रतिपक्ष के निर्देश पर पुरे प्रदेश में राजद कार्यकर्ताओं द्वारा  "कोविड हेल्प सेन्टर " और " लालू भोजनालय " चलाया जा रहा है। संजय जी  खुद अपने क्षेत्र बेतिया में राजद कार्यकर्ताओं द्वारा किये जा रहे सहायता कार्यों को देख भी चुके हैं। जहाँ तक राघोपुर का सवाल है तो वहाँ कई-कई केन्द्र काफी पहले से चल रहा है। 
        
राजद प्रवक्ता ने कहा कि संजय जी यह भी भूल रहे हैं कि राघोपुर में जो अभी पीपा पुल है वह राजद शासनकाल की देन है। तेजस्वी जी अपने बीस महिने के शासनकाल में राघोपुर को जोड़ने वाली पटना - बिदूपुर सिक्स-लेन पुल को न केवल स्वीकृति दी बल्कि अपने शासनकाल में हीं उसका निर्माण कार्य भी शुरू करवा दिया। संजय जायसवाल जी ने अस्पताल खुलवाने की बात की है तो उन्हें जानना चाहिए कि तेजस्वी जी और तेजप्रताप जी के छोटे कार्यकाल में हीं राघोपुर क्षेत्र से सटे  वैशाली जिला के महुआ सहित राज्य  में छः  मेडिकल कॉलेज खोलने की स्वीकृति दी गई और इसके लिए राशि भी विमुक्त कर दी गई। 
           
उन्होंने कहा कि संजय जायसवाल जी सुशील मोदी जी की तरह हवा-हवाई नेता नहीं हैं इसलिए उन्हें उनके पदचिन्हों पर नहीं चलना चाहिए।