Bihar

Nov 09 2020, 07:43

बिहार विधानसभा चुनाव:- तेजस्वी की RJD उम्मीदवारों को हिदायत- जीत का जुलूस न निकालें, जश्न जनता मनाएगी
  



 तेजस्वी यादव ने आरजेडी के उम्मीदवारों को संदेश भेजा है. अपने संदेश में तेजस्वी यादव ने कहा है 10 तारीख को जब नतीजे सामने आएंगे तो राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवार बेहद सरलता और सादगी का परिचय दें.तेजस्वी ने कहा है कि नतीजों के बाद उम्मीदवार अपने क्षेत्र में जीत का जुलूस नहीं निकालें.

  

 Know More

 तेजस्वी ने कहा जीत का जश्न जनता मनाएगी. तेजस्वी ने कहा है कि उम्मीदवार नतीजों के दौरान अपने क्षेत्र में रहें और अपना सर्टिफिकेट लेने के बाद ही पटना का रुख करें.इस दौरान नेताओं को हिदायत दी गई है कि जीत का कोई जुलूस ना निकाला जाए जिससे आम लोगों को असुविधा हो. 

उम्मीदवारों तक यह संदेश पहुंचाने के लिए 4 लोगों की टीम बनाई गई है जिसमें सुनील सिंह, संजय यादव, श्याम रजक और जगदानन्द सिंह शामिल हैं.इस बीच जीत की उम्मीद में पटना में RJD दफ्तर में साफ-सफाई शुरू हो गई है. आस-पास मरम्मत का काम जोर-शोर से किया जा रहा है.

Bihar

Nov 08 2020, 14:07

 | People take to the streets in Guwahati & Bengaluru in support of ;  RAISE YOUR VOICE and tune in  for  updates here - http://bit.ly/2Fdfpf9

Bihar

Nov 08 2020, 14:05

IndiaWithArnab | With the very arrest of Arnab, he was being deprived of his fundamental rights guaranteed by the constitution: Chandni Shah, Advocate & activist; Raise your voice for ;  &  updates here - http://bit.ly/

Bihar

Nov 07 2020, 20:19

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच श्री निवासन ने कहा- यह पोस्ट कोविड का सबसे बड़ा निर्वाचन था,जो जनता के साहयोग से शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ
  


मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच श्री निवासन ने कहा- यह पोस्ट कोविड का सबसे बड़ा निर्वाचन था,जो शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ

  

 Know More

 बिहार जैसे राज्य  में जहाँ जनसंख्यां घनत्व सर्वाधिक है वहा यह  चुनाव कराना बड़ी चुनौती थी इस चुनाव में 18 लाख नये वोटर जोड़े गय  ढाई लाख लोगों को वोटर लिस्ट में जोड़ा गया

 कोविड की वजह से 28 से 30 लाख लोग बिहार आ गये थे जितनी चुनौतियां थी सबको देखा गया   81किस्म  का पोस्टर बनवाया गया भोजपुरी में भी सांग्स बनवाया गया  ये नॉर्मल इलेक्शन नही था।

  


 उन्होंने कहा 2 करोड 35 लाख वोटरों ने आज मतदान किया तीसरे फेज़ में।  महिला मतदानकर्मियों को भो हमलोगों ने पहली बार बड़े पैमाने पर लगाया था जिन्होंने बहुत ही सफलता पूर्वक अपने काम को निपटाया जो बधाई के पात्र हैं।

 तीसरे चरण में 15 जिले और 1 पुलिस जिले में चुनाव सम्पन्न हुआ है।। 1204 अभ्यर्थियों ने आज चुनाव लड़ा। आखिरी मतदान का प्रतिशत 56.12 प्रतिशत रहा।

*एडीजी जितेंद्र कुमार  में कहा कि 56.12 प्रतिशत मत पड़ा। 

 उन्होंने कहा कि जोकीहाट में सरफराज आलम द्वारा सिम्बल के साथ मतदान केंद्र पर जाने के कारण उन पर केस  दर्ज कर लिया गया।

 एच श्री निवासन ने कहा मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ जिसमें मतदाता का बहुत बड़ा साहयोग रहा। 

 6 बजे शाम तक मतदान का प्रतिशत रहा - 56.12  %

पश्चिम चंपारण- 56.02
पूर्वी चंपारण -  57.16
सीतामढ़ी- 55.84
मधुबनी- 56.36
सुपौल- 57.90
अररिया- 50.43
किशनगंज- 62.55
पूर्णिया - 59.03
कटिहार - 57.73
मधेपुरा - 54.29
सहरसा- 57.70
दरभंगा- 54.91
मुजफ्फरपुर -57.57
वैशाली - 51.44
समस्तीपुर - 58.15

वाल्मिकीनगर ( लोकसभा) - 56.02

Bihar

Nov 07 2020, 18:15

https://youtu.be/srGqC4q1Yz0

Bihar

Nov 07 2020, 18:15

Mission Kaali - Say No To when purchased 2,268 acre Rubber estate, one of the largest Land deal in Entire India, he was not even subject to an enquiry! It was famously said that the Whole Thiruvalla town itself is only 6707 acres but one single resident YOHANNAN held 2268 acres! 

Bihar

Nov 07 2020, 15:35

https://youtu.be/XRviK7Wqyyk

Bihar

Nov 07 2020, 14:57

https://youtu.be/VyGtBTrlQjQ

Bihar

Nov 06 2020, 22:31

दिवाली और छठ पूजा को लेकर रेल मंत्रालय ने जारी की स्पेशल ट्रैन की सूची,आइये जानते हैं स्पेशल ट्रेन का टाइम टेबल
  


बिहार डेस्क

  

 Know More

नई दिल्ली, रेल मंत्रालय ने देश में आस्था का  पर्व छठ और  दीपावली को लेकर इस कोरोना काल मे कई स्पेशल ट्रेन चालू करने की तैयारी शुरू कर दी है।
इस बार इस पर्व में जो ट्रैन चलाई जाएगी उसमें  कुछ विशेष आदेश के तहत ही लोग यात्रा कर पाएंगे।

  

 हर साल देखा जाता है कि दिवाली और छठ पूजा के दौरान लाखों की संख्या में लोग ट्रेनों से यात्रा करते हैं। महामारी के दौरान भी राजधानी दिल्ली से ही यूपी और बिहार जाने वालों की संख्या काफी अधिक समझी जा रही है, जिसे लेकर रेलवे सभी की यात्रा सुरक्षित करने की दिशा में कदम उठा रहा है। 

लॉकडाउन के दौरान करोड़ों लोगों ने वापस अपने घरों का रास्ता तय कर लिया था, लेकिन रोजीरोटी कमाने को फिर वे बड़े शहरों में वापस लौट आए थे। अब जहां देश के बड़े राज्यों में मनाए जाने वाले कुछ प्रमुख त्योहारों का मौका है तो वह एक बार फिर अपने घरों की ओर रुख करेंगे। 

यात्री को सीटें बुक करानी होगी,  बिना रिजर्व टिकट के प्‍लेटफॉर्म पर  भी प्रवेश नहीं

भारतीय रेलवे ने त्योहार के समय को देखते हुए करीब 400 नई स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं। दिवाली और छठ पूजा पर चलने वाली स्पेशल ट्रेनों को लेकर रेलवे की तरफ से एक नोटिस जारी की गई है। उत्तर रेलवे ने यात्रियों से अपील की है कि वे यात्रा के लिए अपने सीटें बुक करा लें। बताया गया कि इन स्पेशल ट्रेनों में केवल रिजर्व क्लास के ही कोच होंगे। रेलवे की तरफ से जारी नोटिस में कहा गया है कि बिना रिजर्व टिकट के प्‍लेटफॉर्म पर प्रवेश नहीं मिलेगा।

ECR की तरफ से चलाए जाने वाली 6 स्पेशल गाड़ियों की जानकारी

दिवाली और छठ जैसे त्योहारों में यात्रियों की सुविधा के लिए कई पूजा विशेष ट्रेनें संचालित की जा रही हैं। इस श्रृंखला में, पूर्व मध्य रेलवे 10 नवंबर से 02 दिसंबर तक छह पूजा स्पेशल ट्रेनों का संचालन करेगा। इनमें पटना से रांची, धनबाद, बरकाकाना, सिंगरौली और दुर्ग के लिए एक-एक ट्रेंन शामिल है, जबकि पूजा स्पेशल ट्रेनें जयनगर से मनिहारी तक चलेंगी।

  • Bihar
     @Bihar गाड़ियों में धनबाद-पटना पूजा स्पेशल, पटना-धनबाद स्पेशल, बरकाकाना-पटना पूजा स्पेशल, पटना-बरकाकाना पूजा स्पेशल, सिंगरौली-पटना पूजा स्पेशल, पटना-सिंगरौली पूजा स्पेशल, जयनगर-मनिहारी पूजा स्पेशल, मनिहारी-जयनगर पूजा स्पेशल, राजेंद्रनगर टर्मिनल-दुर्ग पूजा स्पेशल, राजेंद्रनगर टर्मिनल पूजा स्पेशल, पटना-रांची पूजा स्पेशल और रांची-पटना पूजा स्पेशल शामिल हैं। ये सभी विशेष ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित होंगी।
    
    पटना के लिए फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें
    
    रेलवे ने त्योहार की भीड़ को दूर करने के लिए धनबाद और रांची से पटना के लिए 10 नवंबर से फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें चलाने की घोषणा की है। गाड़ियों में गंगा- दामोदर एक्सप्रेस धनबाद और रांची से - पटना एक्सप्रेस ट्रेनें शामिल हैं। पटना बरकाकाना एक्सप्रेस और कुछ अन्य ट्रेनों के अलावा, नवंबर 30 तक और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी। धनबाद मंडल के पीके मिश्रा (डिवीजनल PRO) ने यह जानकारी दी। सभी घोषित फेस्टिवल एक्सप्रेस की समय और संरचना वैसी ही रहेगी जैसा कि वे सामान्य ट्रेनों में हुआ करती थी।
    
    नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से रवाना होने वाली ट्रेनें
    
    भारतीय रेलवे ने उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिमी बंगाल समेत कई राज्यों के लोगों को दीपावली और छठ के मद्देनजर बड़ी सौगाद देते हुए 90 विशेष ट्रेनें चलाई हैं। ये सभी ट्रेनें नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से रवाना होंगी। इनमें से ज्यादातर ट्रेनें पूर्व दिशा की ओर जाने वाली हैं। अधिकारियों की मानें तो त्‍योहार के लिए 90 विशेष ट्रेनें चलाने का मकसद त्योहार के दौरान ट्रेनों में भीड़ को संतुलित करना है।
    
    बता दें कि भारतीय रेलवे इससे पहले भी दिल्ली से 17 जोड़ी और विशेष ट्रेनों का संचालन कर रहा है। यह कटरा, पुणे, देहरादून, डिब्रूगढ़, भुवनेश्वर, जयपुर, अमृतसर व अन्य मार्गों पर चल रही है। इनमें शताब्दी, दुरंतो, डबल डेकर और एसी एक्सप्रेस जैसी ट्रेन शामिल हैं।
    
    किराया क्या होगा....?
    
    बताया गया है कि इन स्पेशल ट्रेनों पर विशेष ट्रेनों वाला किराया ही लागू होगा। इन ट्रेनों का किराया मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में 10-30 प्रतिशत तक अधिक रहने की उम्मीद है। अधिकारियों ने साफ किया है कि ये त्योहार विशेष ट्रेनें 30 नवंबर तक ही चलाई जाएंगी। 
  • Bihar
     @Bihar गाड़ियों में धनबाद-पटना पूजा स्पेशल, पटना-धनबाद स्पेशल, बरकाकाना-पटना पूजा स्पेशल, पटना-बरकाकाना पूजा स्पेशल, सिंगरौली-पटना पूजा स्पेशल, पटना-सिंगरौली पूजा स्पेशल, जयनगर-मनिहारी पूजा स्पेशल, मनिहारी-जयनगर पूजा स्पेशल, राजेंद्रनगर टर्मिनल-दुर्ग पूजा स्पेशल, राजेंद्रनगर टर्मिनल पूजा स्पेशल, पटना-रांची पूजा स्पेशल और रांची-पटना पूजा स्पेशल शामिल हैं। ये सभी विशेष ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित होंगी।
    
    पटना के लिए फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें
    
    रेलवे ने त्योहार की भीड़ को दूर करने के लिए धनबाद और रांची से पटना के लिए 10 नवंबर से फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें चलाने की घोषणा की है। गाड़ियों में गंगा- दामोदर एक्सप्रेस धनबाद और रांची से - पटना एक्सप्रेस ट्रेनें शामिल हैं। पटना बरकाकाना एक्सप्रेस और कुछ अन्य ट्रेनों के अलावा, नवंबर 30 तक और भी ट्रेनें चलाई जाएंगी। धनबाद मंडल के पीके मिश्रा (डिवीजनल PRO) ने यह जानकारी दी। सभी घोषित फेस्टिवल एक्सप्रेस की समय और संरचना वैसी ही रहेगी जैसा कि वे सामान्य ट्रेनों में हुआ करती थी।
    
    नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से रवाना होने वाली ट्रेनें
    
    भारतीय रेलवे ने उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिमी बंगाल समेत कई राज्यों के लोगों को दीपावली और छठ के मद्देनजर बड़ी सौगाद देते हुए 90 विशेष ट्रेनें चलाई हैं। ये सभी ट्रेनें नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से रवाना होंगी। इनमें से ज्यादातर ट्रेनें पूर्व दिशा की ओर जाने वाली हैं। अधिकारियों की मानें तो त्‍योहार के लिए 90 विशेष ट्रेनें चलाने का मकसद त्योहार के दौरान ट्रेनों में भीड़ को संतुलित करना है।
    
    बता दें कि भारतीय रेलवे इससे पहले भी दिल्ली से 17 जोड़ी और विशेष ट्रेनों का संचालन कर रहा है। यह कटरा, पुणे, देहरादून, डिब्रूगढ़, भुवनेश्वर, जयपुर, अमृतसर व अन्य मार्गों पर चल रही है। इनमें शताब्दी, दुरंतो, डबल डेकर और एसी एक्सप्रेस जैसी ट्रेन शामिल हैं।
    
    किराया क्या होगा....?
    
    बताया गया है कि इन स्पेशल ट्रेनों पर विशेष ट्रेनों वाला किराया ही लागू होगा। इन ट्रेनों का किराया मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में 10-30 प्रतिशत तक अधिक रहने की उम्मीद है। अधिकारियों ने साफ किया है कि ये त्योहार विशेष ट्रेनें 30 नवंबर तक ही चलाई जाएंगी। 
Bihar

Nov 06 2020, 21:54

सीतामढ़ी के परिहार विधानसभा से राजद प्रत्याशी मुखिया रितु जयसवाल है चर्चा में,वह चैंपियंस ऑफ चेंज पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुकी है, लगातार दो बार जीत चुकी चुनाव गायत्री देवी से है उनका मुकाबला
  


(बिहार डेस्क)

  

 Know More

बिहार के सीतामढ़ी से विधानसभा सदस्य के लिए चुनाव  लड़ रही रितू जयसवाल आज एक चर्चित नाम बन गई है। रितू सीतामढ़ी के परिहार विधान सभा से राजद के टिकट पर चुनाव लड़ रही है।

वैसे रितू जयसवाल एक मुखिया के नाते  बिहार की राजनीति में अच्छा-खासा नाम कमाया है।उसे चैंपियंस ऑफ चेंज पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।
इस नाम के बदाैलत ही वह अब विधायक में प्रमोशन चाहती हैं।

  अगर वह बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 7 नवंबर को  होने वाले मतदान में अग्नि परीक्षा से गुजरेगी। इस चुनाव में अगर वह जीत गई तो रितू के साथ-साथ उनके पति अरुण कमार का भी मान और सम्मान बढ़ेगा। 

राजद ने भी रितु के लोकप्रियता और  उसके मुखिया के रूप में उसके उपलब्धि परक कार्य से प्रभावित होकर यह रिस्क उठाया। पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष की पत्नी की दावेदारी का खारिज कर राजद ने उसे टिकट दिया है।

वैसे मुखिया रितू के चुनाव लड़ने के कारण परिहार विधानसभा क्षेत्र चर्चे में है। राजद ने अपने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे की दावेदार को खारिज कर रितू को प्रत्याशी बनाया है। 

पूर्वे अपनी पत्नी रंजना पूर्वे को चुनाव लड़ाना चाहते थे। रितू अपने काम के कारण काफी लोकप्रिय हैं। चुनाव से पहले जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष के पद से इस्तीफा देकर राजद का दामन थाम लिया। 

सोनबरसा प्रखंड की सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया रितू को अपनी पंचायत में आदर्श स्थापित करने के लिए ढेरों पुरस्कार मिल चुके हैं। चैंपियंस ऑफ चेंज पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुकी हैं।

इस तरह राजनीति में रखा कदम

दिल्ली के एक पब्लिक स्कूल में शिक्षिका और बाद में अपना स्टार्टअप शुरू कर अच्छी-खासी जिंदगी जी रहीं रितु ने कभी सोचा भी नही थी कि वह राजनीति का रूख करेंगी।

  • Bihar
     @Bihar पति अरुण कुमार आइआरएस एलाएड रहे हैं। स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर फिलहाल राजनधानी पटना में आइएएस की कोचिंग चलाते हैं। वह 43 वर्ष की हैं। उनको दो बच्चे हैं। 2013 में वह अपने पति के साथ गांव टोले नरकटिया लौटीं तो वहां बदहाली देखकर व्यथित हो गईं। गांव घूमकर लोगों से मिलीं, उनका दुख-दर्द सुना। फिर गांव में ही रहकर गांव में बदलाव की ठान ली। 
    
    हालांकि, यह उनके लिए आसान नहीं था। कुछ लोगों ने उन्हें सलाह दी कि ठाठ-बाट की जिंदगी को छोड़ क्यों गांव की मिट्टी व कीचड़ में काम करने के लिए उतारु हो रही हैं। मगर वह अपने निर्णय पर अडिग रहीं। फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, वाट्सएप पर सक्रिय रहती हैं। उनके अच्छे-खासे फॉलोअर्स हैं। विस चुनाव में उनके द्वारा दायर हलफनामे के अनुसार, वह बेदाग छवि की हैं। वर्ष 2018 व 2019 में दो केस दर्ज हुए भी थे न्यायालय ने वो मामले असत्य करार दे दिए गए।
    
    मुकाबला भाजपा की गायत्री देवी से ,उनकी हैट्रिक को रोकने की है उनके सामने  चुनाैती
    
    परिहार विधानसभा सीट में रितु की नित बाबत आसन नही है। इस सीट पर भाजपा ने वर्तमान विधायक गायत्री देवी पर भरोसा किया है। वह 2010 और 2015 तक चुनाव जीत चुकी हैं। 
    
    गायत्री देवी अबकी हैट्रिक लगाने के लिए चुनाव लड़ रही हैं। रितू का गायत्री देवी से मुकाबला है। 
  • Bihar
     @Bihar पति अरुण कुमार आइआरएस एलाएड रहे हैं। स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर फिलहाल राजनधानी पटना में आइएएस की कोचिंग चलाते हैं। वह 43 वर्ष की हैं। उनको दो बच्चे हैं। 2013 में वह अपने पति के साथ गांव टोले नरकटिया लौटीं तो वहां बदहाली देखकर व्यथित हो गईं। गांव घूमकर लोगों से मिलीं, उनका दुख-दर्द सुना। फिर गांव में ही रहकर गांव में बदलाव की ठान ली। 
    
    हालांकि, यह उनके लिए आसान नहीं था। कुछ लोगों ने उन्हें सलाह दी कि ठाठ-बाट की जिंदगी को छोड़ क्यों गांव की मिट्टी व कीचड़ में काम करने के लिए उतारु हो रही हैं। मगर वह अपने निर्णय पर अडिग रहीं। फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, वाट्सएप पर सक्रिय रहती हैं। उनके अच्छे-खासे फॉलोअर्स हैं। विस चुनाव में उनके द्वारा दायर हलफनामे के अनुसार, वह बेदाग छवि की हैं। वर्ष 2018 व 2019 में दो केस दर्ज हुए भी थे न्यायालय ने वो मामले असत्य करार दे दिए गए।
    
    मुकाबला भाजपा की गायत्री देवी से ,उनकी हैट्रिक को रोकने की है उनके सामने  चुनाैती
    
    परिहार विधानसभा सीट में रितु की नित बाबत आसन नही है। इस सीट पर भाजपा ने वर्तमान विधायक गायत्री देवी पर भरोसा किया है। वह 2010 और 2015 तक चुनाव जीत चुकी हैं। 
    
    गायत्री देवी अबकी हैट्रिक लगाने के लिए चुनाव लड़ रही हैं। रितू का गायत्री देवी से मुकाबला है।