Barh

Mar 25 2020, 15:43

लॉक डाउन में देर रात तक सड़क पर उतर वाहन चालकों के साथ सख्ती से पेश आए बाढ़ अनुमंडलाधिकारी सुमित कुमार,कड़ी हिदायत के बाद लोगों को घरों में रहने के दिये निर्देश....
  


पूरे बिहार में लॉक डाउन लागू होने के बाद बाढ़ में बेअसर दिख रहा लॉक डाउन को पटरी पर लाने के लिए अनुमंडलाधिकारी सुमित कुमार खुद बाढ़ की सड़कों पर उतर जहाँ तहाँ वाहन चेकिंग अभियान चलाकर लॉक डाउन की धज्जियां उड़ाने वाले दर्जनों वाहन चालकों से जुर्माना बसूले और कड़े लहजे मे घरों में रहने की हिदायत दिया और नही मानने पर कार्रवाई भी करने की बात कही। वही वाहन चेकिंग के दौरान बाढ़ की सड़कों पर घूम रहै बेलछी अंचलाधिकारी के वाहन को भी रोककर पूछताछ के बाद छोड़ा और वरीय अधिकारियों के आदेश के बिना इलाका न छोड़ने की हिदायत दी। इसके साथ ही लॉक डाउन के नाम पर चोरी छुपे खाद्यान्न सामानों का कालाबाजारी कर रहे दुकानदारों को भी कड़ी फटकार लगाई और न मानने पर दो लोगों के विरुद्ध कार्रवाई भी की।

Barh

Mar 22 2020, 19:09

पीएम मोदी के आह्वान पर बजी थाली और तालियों की गड़गड़ाहट...
  


बाढ़: पीएम मोदी के आह्वान पर बाढ़ अनुमंडल में भी लोगों ने 5 बजे 5 मिनट तक ताली बजाकर,हाथों से थाली पीटकर तथा शंख फूंककर अपने अपने अंदाज में कोरोना के खिलाफ मुहिम में शामिल हुए। पीएम मोदी ने भारत में कोरोना के खिलाफ अपने मुहिम तेज करने की अपील की थी। शाम 5:00 बजा इसके बाद लोग अपने घरों से बाहर और छतों पर चढ़कर हाथों में थाली लेकर सड़को पर उतरे। पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू में 5:00 बजे 5 मिनट के लिए कोरोना के खिलाफ जंग के इस मुहिम में शामिल हो गए। इस मुहिम के तहत लोगों ने बड़े उत्साह के साथ ताली,थाली और शंख बजाकर कोरोना के खिलाफ जंग में शामिल हुए।

Barh

Mar 22 2020, 13:40

महत्वपूर्ण सूचना
  


31 मार्च तक सभी यात्री ट्रैन रद्द

कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों को रद्द किया गया, देशभर में 31 मार्च तक नहीं चलेगी कोई यात्री ट्रेन,सिर्फ मालगाड़ी ट्रेन चलाने की इजाजत।

Barh

Mar 22 2020, 10:44

बख्तियारपुर-दो बाइकों के बीच हुई टक्कर में एक की मौत दो गंभीर रूप से घायल, दोनो nmch पटना रेफर...
  


रिपोर्ट: पंकज कुमार/

बख्तियारपुर: बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के चकदौलत गांव के सामने पटना-बख्तियारपुर फोरलेन पर दो बाइकों के बीच जबरदस्त टक्कर हो गयी। जिसमे मोगलपुरा बिगहा गाँव निवासी सह होटल संचालक अंजय यादव की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं मृतक के साथ रहे 10 वर्षीय पुत्र पीयूष कुमार भी गंभीर रूप से जख्मी हो गया। इधर दूसरा बाइक सबार बरबीघा थाना निवासी बिनोद कुमार भी बुरी तरह से जख्मी हो गया। 

दोनो जख्मी को चिकित्सकों ने गंभीर हालत में NMCH रेफर कर दिया है। वहीं घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल में मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया। इस संदर्भ में ग्रामीणों ने बताया कि मृतक अंजय बाइक से अपने पुत्र के साथ बख्तियारपुर बाजार से घर जा रहा था तभी पटना की ओर से तेज गति से आ रही एक बाइक ने दूसरे बाइक में टक्कर मार दी जिसमे अंजय की मौत हो गयी।

Barh

Mar 21 2020, 11:35

नाथचक मुहल्ले में जमीन से  5 फिट की ऊंचाई पर झूल रही 11 हजार वोल्ट की तार के चपेट में आने से बथानी में बंधी एक गाय की करेंट लगने से  हुई मौत
  


बाढ़ थाना क्षेत्र के नाथचक मुहल्ले में जमीन से करीब 5 फिट की ऊंचाई पर झूल रही 11 हजार वोल्ट तार की चपेट में आने से बथानी में बंधी एक गाय की करेंट लगने से मौत हो गयी। इसके बाद घटना से आहत पशु पालक किसान विजय ने बाढ़ थाने में विधुत पदाधिकारी के विरुद्ध लिखित शिकायत देते हुए आरोप लगाया है कि मेरी बथानी में जमीन से 4-5 फिट की ऊँचाई पर जा रही 11 हजार वोल्ट बिजली की तार लटके होने की सूचना कई बार बाढ़ विधुत कार्यालय में दी। बाबजूद इसके न तो तार को न तो वहाँ से हटाया गया न हीं तार को ऊपर किया गया। जिसके कारण तार नीचे होने की बजह और विधुत विभाग की लापरवाही के कारण मेरी गाय की मौत हो गयी। जिसकी कीमत 50 हजार रुपये है। शिकायत के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

Barh

Mar 18 2020, 11:15

बाढ़ : कोरोना के संदिग्ध मरीज मिलने की सूचना से गाँव में दहशत, सऊदी अरब से आया था संदिग्ध
  


बाढ़ अनुमंडल भी चर्चित कोरोना की चर्चा से अछूता नहीं रह गया। बीती रात पंडारक प्रखंड के डहमां गांव में कोरोना के संदिग्ध मरीज मिलने की सूचना से जहां पूरे शहर में दहशत कायम हो गया वही चौक-चौराहों पर चर्चा की बाजार भी गर्म हो गयी। जानकारी के लिए बता दूं कि डहमा गांव के कुछ लोग सऊदी अरब में वर्षों से रह रहे हैं। उन्हीं लोगों में से एक व्यक्ति किसी तरह अपने गांव पंडारक प्रखंड के डहमां पहुंच गया और अपने परिवार वालो के साथ घुलमिल कर रहने लगा। इसकी जानकारी जैसे ग्रामीणों को मिली तो ग्रामीणों ने तुरंत बाढ़ प्रशासन को इसकी सूचना दी। जिसके तुरंत बाद बीती रात ही बाढ़ अनुमंडल अस्पताल का एंबुलेंस संदिग्ध मरीज के साथ-साथ उसके परिजन को भी उठा लाई और बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल के डॉक्टरों ने जांच-पड़ताल के बाद सभी 8 लोगों को संदिग्ध परिस्थिति में पीएमसीएच रेफर दिया। अब सवाल उठता है कि एक कोरोना संदिग्ध मरीज के नाम पर शहर में दहशत और चर्चा की बाजार गर्म क्यों है? तो इसका सीधा जवाब है कि सिर्फ संदिग्ध कोरोना के नाम पर अस्पताल कर्मी और डॉक्टर द्वारा बनाई गई मरीज के साथ दूरी। बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल द्वारा  संदिग्ध कोरोना के नाम पर मरीज के साथ ऐसा व्यवहार किया गया मानो, वहां कोई मरीज नहीं बल्कि सीधे यमराज आकर खड़ा हो गया हो। तो दहशत और चर्चा का बाजार गर्म होना भी लाजमी है।

Barh

Mar 17 2020, 16:37

पटना जिला के बाढ़ अनुमंडल में आदेश के बाबजूद भी खुले मिले कई शिक्षण संस्थान, शिक्षण संस्थानों पर चला प्रशासनिक डंडा।
  


कोरोना वायरस को लेकर सरकार ने सभी शिक्षण संस्थानों को 31 मार्च तक बंद करने के आदेश दिये थे। इसके बाबजुद कई कोचिंग आज भी खुले देखने को मिले। ऐसे शिक्षण संस्थानों पर जो बंद के आदेश का उल्लंघन कर रहे हैं। उन पर प्रसासन द्वारा बंद करने की आदेश की अनदेखी करने के कारण बाढ़ एस डी एम सुमित कुमार ने तबातोड़ दर्जनों सेंटरों पर छापेमारी करते हुए कार्यवाई किया। 
दो कोचिंग सेंटर वाले हिरासत में लिए गए है। सड़क पर लगी दुकानों को भी हटवाया गया ताकि भीड़ कम जुटे।अनुमंडल अधिकारी सुमित कुमार ने कहा कि सरकारी आदेश की अनदेखी करने वालो पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। प्रशासन ने महामारी से बचने के लिये जनहित में ये आदेश जारी किये हैं। अगर इसकी अनदेखी हुई तो ऐसे किसी भी शिक्षण संस्थानों को बख्शा नही जायेगा। उनके संचालकों पर कड़ी करवाई की जायेगी।

Barh

Mar 16 2020, 17:29

डाकघर से जाली नोट दिए जाने पर खाता धारी ने किया हंगामा! डाक कर्मी ने पीड़ित से की बदसलूकी!

सिस्टम की लापरवाही के कारण कभी-कभी छोटी- छोटी घटना भी तूल पकड़ लेती है, जिसमें मामला को शांत करने के लिए पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ता है!
ऐसा ही कुछ नजारा आज बाढ़ उप- डाकघर में देखने को मिला! जब एक वृद्ध व्यक्ति के साथ डाक कर्मियों ने बदसलूकी की घटना को अंजाम दिया! बुजुर्ग व्यक्ति के साथ हुए बदसलूकी पर आक्रोशित बुजुर्गों के परिजनों के साथ-साथ अन्य खाता धारियों ने भी जमकर हंगामा किया! पीड़ित बुजुर्ग की माने तो, वे उप डाकघर बाढ़ से₹50000 निकालें और ए एन एस कॉलेज प्रांगण स्थित एसबीआई शाखा में उसे जमा करने गए! वहां रूपये की गिनती करने पर एक पांच सौ का नोट जाली निकला! जिसे बैंक कर्मी ने रद्द कर दिया! रद्द किया हुआ नोट लेकर बुजुर्ग फिर पोस्ट ऑफिस पहुंच गए, और उनसे ₹500 बदलने की मांग की! इतने पर डाक कर्मी भड़क गए, और बुजुर्ग के साथ धक्का-मुक्की करते हुए बाहर जाने को कहा !कॉलर पकड़कर झकझोरा! और तो और एक डाक कर्मी ने डंडे लेकर भी बुजुर्ग के पास पहुंच गए! वहां लाइन में लगे कई खाता धारियों ने इसका विरोध किया! बुजुर्ग के परिजन भी सूचना मिलने पर डाक घर पहुंच गए, और दोनों ओर से नोक -झोंक होने लगी! मामला बिगड़ता देख पोस्ट मास्टर थाना पहुंच गए !जहां से पुलिस पोस्ट ऑफिस पहुंची, और मामला को शांत कराकर दोनों को थाने बुला लिया! थाना में कुछ स्थानीय लोगों और प्रशासन के समझाने- बुझाने पर दोनों ओर से शांति कायम हो गई! खाता धारियों की माने, तो बाढ़ उप डाकघर में खाता धारी के साथ दुर्व्यवहार करना आम बात हो गई है! पहले भी ऐसे कई कारनामें हो चुके हैं! हालांकि बदसलूकी की घटना को पोस्ट मास्टर और आरोपित डाक कर्मी दोनों सिरे से खारिज करते नजर आए!
अब सवाल यह उठता है कि सबसे पुराना डाकघर होते हुए भी बाढ़ उप डाकघर में पारदर्शिता के ख्याल से न तो नोट गिनने की मशीन लगी हुई है !न हीं एक भी सीसीटीवी कैमरा! ऐसी स्थिति में कौन गलत है, कौन सही है !साबित करना बहुत मुश्किल है! जबकि बाढ़ अनुमंडल का सबसे बड़ा डाकघर होने के नाते इसे हर आधुनिकतम  सुविधा से लैस होनी चाहिए!
बाइट:--पीड़ित बुजुर्ग!
बाइट:--आरोपित डाक कर्मी!
बाइट:--पोस्ट मास्टर!

Barh

Mar 16 2020, 17:20

डाकघर से जाली नोट दिए जाने पर खाता धारी ने किया हंगामा! डाक कर्मी ने पीड़ित से की बदसलूकी!
  


सिस्टम की लापरवाही के कारण कभी-कभी छोटी- छोटी घटना भी तूल पकड़ लेती है, जिसमें मामला को शांत करने के लिए पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ता है!
ऐसा ही कुछ नजारा आज बाढ़ उप- डाकघर में देखने को मिला! जब एक वृद्ध व्यक्ति के साथ डाक कर्मियों ने बदसलूकी की घटना को अंजाम दिया! बुजुर्ग व्यक्ति के साथ हुए बदसलूकी पर आक्रोशित बुजुर्गों के परिजनों के साथ-साथ अन्य खाता धारियों ने भी जमकर हंगामा किया! पीड़ित बुजुर्ग की माने तो, वे उप डाकघर बाढ़ से₹50000 निकालें और ए एन एस कॉलेज प्रांगण स्थित एसबीआई शाखा में उसे जमा करने गए! वहां रूपये की गिनती करने पर एक पांच सौ का नोट जाली निकला! जिसे बैंक कर्मी ने रद्द कर दिया! रद्द किया हुआ नोट लेकर बुजुर्ग फिर पोस्ट ऑफिस पहुंच गए, और उनसे ₹500 बदलने की मांग की! इतने पर डाक कर्मी भड़क गए, और बुजुर्ग के साथ धक्का-मुक्की करते हुए बाहर जाने को कहा !कॉलर पकड़कर झकझोरा! और तो और एक डाक कर्मी ने डंडे लेकर भी बुजुर्ग के पास पहुंच गए! वहां लाइन में लगे कई खाता धारियों ने इसका विरोध किया! बुजुर्ग के परिजन भी सूचना मिलने पर डाक घर पहुंच गए, और दोनों ओर से नोक -झोंक होने लगी! मामला बिगड़ता देख पोस्ट मास्टर थाना पहुंच गए !जहां से पुलिस पोस्ट ऑफिस पहुंची, और मामला को शांत कराकर दोनों को थाने बुला लिया! थाना में कुछ स्थानीय लोगों और प्रशासन के समझाने- बुझाने पर दोनों ओर से शांति कायम हो गई! खाता धारियों की माने, तो बाढ़ उप डाकघर में खाता धारी के साथ दुर्व्यवहार करना आम बात हो गई है! पहले भी ऐसे कई कारनामें हो चुके हैं! हालांकि बदसलूकी की घटना को पोस्ट मास्टर और आरोपित डाक कर्मी दोनों सिरे से खारिज करते नजर आए!
अब सवाल यह उठता है कि सबसे पुराना डाकघर होते हुए भी बाढ़ उप डाकघर में पारदर्शिता के ख्याल से न तो नोट गिनने की मशीन लगी हुई है !न हीं एक भी सीसीटीवी कैमरा! ऐसी स्थिति में कौन गलत है, कौन सही है !साबित करना बहुत मुश्किल है! जबकि बाढ़ अनुमंडल का सबसे बड़ा डाकघर होने के नाते इसे हर आधुनिकतम  सुविधा से लैस होनी चाहिए!

Barh

Mar 15 2020, 23:18

कोरोना वायरस'को लेकर बाढ़ उपकारा में भी सतर्कता,तत्काल एक सप्ताह के लिए मुलाकातियों पर लगा रोक
  


बाढ़,'कोरोना वायरस'को लेकर बाढ़ उपकारा में भी सतर्कता बरती जा रही है! पूरे कैंपस की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है! साथ ही कैदियों के परिजनों की मुलाकाती पर पहले चरण में 1 सप्ताह के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है! 

जरूरत पड़ने पर इस प्रतिबंध को और बढ़ाया भी जा सकता है! इस बाबत बाढ़ उपकारा के सहायक अधीक्षक प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस से कैदियों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से जेल के अंदर और बाहर प्रतिदिन बेहतर ढंग से सफाई की जा रही है! जेल आईजी महोदय के आदेशानुसार  प्रतिदिन 40से 50 की संख्या में आने वाले कैदियों के परिजनों की मुलाकाती पर 1 सप्ताह के लिए पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया गया है! 

साथ ही जेल में आने वाले नए बंदी को दो-तीन दिन तक अलग रखकर उसकी मेडिकल जांच- पड़ताल की जा रही है! जांच पड़ताल के बाद ही उसे बंदियों के साथ भेजा जा रहा है!