uttarpradesh

Aug 04 2022, 17:25

अलीगढ़ में बिजली घर पर ग्रामीणों का हंगामा, जेई को बनाया बंधक

अलीगढ़। जवां में अघोषित को लेकर बरौली क्षेत्र के ग्रामीणों ने गुरुवार की सुबह से ही बरौली बिजली घर को घेर कर हंगामा खड़ा कर दिया। हंगामे की खबर पर बिजली घर पर तैनात जेई बिजली घर पर नहीं पहुंचा। विभागीय अधिकारियों ने अमरोली के जेई रोहताश कुमार को बिजली घर पर भेजा,जहां पर किसानों ने उसे व बिजली घर के अन्य कर्मचारियों को बंधक बना लिया।

ग्रामीणों ने की नारेबाजी

विभाग के प्रति आक्रोश जताते हुए नारेबाजी की। लोगों का कहना था कि क्षेत्र में 24 घंटे में मुश्किल से 5 या 6 घंटे बिजली आ रही है। आधा घंटा बिजली देते हैं उसके बाद फिर दो से तीन घंटे के लिए बिजली गुल कर देते हैं। ट्यूबेल से खेत तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है इस से तिल मिलाए किसानों व क्षेत्रीय जनता ने अपना आक्रोश जताया। जब इस विषय में अमरोली फीडर के जे ई रोहताश कुमार से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उन्होंने एक्सईएन से बात कर ली है। उन्होंने फीडर पर पहुंचने की बात की है।

ये रहे मौजूद

इस दौरान आक्रोशित लोगों में प्रधान टिंकू जाट,प्रधान कल्लू चौधरी, विनोद प्रधान, भोला प्रधान ,कल्याण सिंह, शिवम पंडित, महेश प्रधान, राजेश सिंह, विशाल चौहान, दीपू ठाकुर, सुशील गौड़, सुमित गुप्ता, मोनू पंडित, राज सोनी, सुमित ठाकुर, पुलकित अग्रवाल, जितेंद्र शर्मा, सहित कई सौ लोग मौजूद थे।

uttarpradesh

Aug 03 2022, 14:47

हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाने में जुटा युवा भारत

ललितपुर। युवा भारत ललितपुर के तत्वाधान में कंपनी बाग ललितपुर में हर घर तिरंगा अभियान को सफल बनाने हेतु एक सामूहिक रुप से बैठक की गई जिसमें युवा भारत ललितपुर के जिला प्रभारी मुकेश कुमार साहू एडवोकेट ने कहा राष्ट्रहित के लिए शासन द्वारा हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल बनाने पर जोर दिया जा रहा हैं हर घर

तिरंगा कार्यक्रम को प्रचार करने के लिए प्रेरित किया 13 अगस्त से 15 अगस्त तक हर घर झंडा फहरा सकते हैं।

तत्पश्चात युवा भारत के जिला महामंत्री परशुराम साहू ने बताया कि भारत की आजादी के 75 वी वर्षगांठ में हर घर तिरंगा अभियान मनाया जा रहा है और कहा अभियान के अंतर्गत सभी नागरिक झंडा संहिता का पालन करते हुए अपने घरों में ध्वजा फहरा सकते है।

मंडल प्रभारी अनुराग चतुर्वेदी ने भारत माता की जय के नारे लगवाए। तत्पश्चात सामूहिक रुप से ध्वजारोहण हेतु राष्ट्रीय ध्वज वितरण किए गए।

बैठक में मंडल प्रभारी अनुराग चतुर्वेदी युवा भारत के जिला प्रभारी मुकेश कुमार साहू एडवोकेट योग शिक्षक अशोक सेन जिला महामंत्री परशुराम साहू योग शिक्षक छोटू चोपड़ा, हरि सोनी, लक्ष्मी नारायण साहू किशनकांत मिश्रा, दीपक कुमार ,नीरज सोनी ,रूपेन्द्र राठौर ,फूल सिंह यादव ,मनोहर कुशवाहा, सरोज सिंह पटेल विशाल ,गुलाब चंद जैन, सीएल गुप्ता, मोनू विश्वकर्मा, बद्री शर्मा सुमित साहू, मयंक पटेल,कमल कुमार आदि उपस्थित रहे।

uttarpradesh

Aug 03 2022, 14:48

अब समूह की महिलायें करेंगी आँगनवाड़ी के पुष्टाहार का उत्पादन, DM ने पुष्टाहार इकाई बकेवर का किया निरीक्षण

इटावाः उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा पुष्टाहार इकाई का संचालन बकेवर में किया जा रहा है। अवनीश राय जिलाधिकारी बकेवर में उत्पादन इकाई का स्थलीय निरीक्षण किया उन्होंने महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह गर्व की बात है कि गांव की गरीब महिलायें इतनी बड़ी उत्पादन इकाई की संचालन उद्यमी की तरह करेंगी। इससे न केवल स्थानीय स्तर पर गरीब महिलाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा अपितु ग्रामीण, गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को ससमय पौष्टिक आहार मिलेगा। उन्होंने महिलाओं को प्रेरित करते हुये उत्पादन इकाई चालू होने के उपरांत पुनः निरीक्षण करने की इच्छा जाहिर की।

जिलाधिकारी ने बृजमोहन अम्बेड उपायुक्त (स्वतः रोजगार) को निर्देशित करते हुए कहा कि इसके संचालन में किसी भी प्रकार की बाधा नही आनी चाहिये। उन्होंने महिलाओं को हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया।   

 संतोष कुमार राय मुख्य विकास अधिकारी ने अवगत कराया कि प्लांट की प्रति दिवस उत्पादन क्षमता 2.5 मिट्रिक टन है। इस प्लांट से विकास खण्ड महेवा, चकरनगर एवं भरथना को पुष्टाहार की आपूर्ति की जायेगी। बृजमोहन अम्बेड (उपायुक्त (स्वतःरोजगार) ने बताया कि 20 महिलाओं की एक उत्पादन समिति का गठन किया गया है जो इसकी गुणवत्तापूर्ण उत्पादन एवं उचित प्रबन्धन के लिये जिम्मेदार होंगी। उत्पादन दिन-रात शिफ्ट बदलकर किया जायेगा। मौके पर शौकत अली (उपायुक्त मनरेगा), सतीश चन्द्र पाण्डेय खण्ड विकास अधिकारी, सूर्य नारायण पाण्डेय जिला मिशन प्रबन्धक, वंदना उत्पादन इकाई की अध्यक्ष, एकता, पूजा आदि उपस्थित रही।

जिलाधिकारी ने अमृत सरोवर का औचक निरीक्षण किया

अवनीश कुमार राय जिलाधिकारी ने विकास खण्ड भरथना के ग्राम कुंअर भटपुर में निर्माणाधीन अमृत सरोवर का औचक निरीक्षण किया। तालाब के बांध पर जिलाधिकारी द्वारा वृक्षारोपण किया गया। उन्होंने मानक के अनुसार अमृत सरोवर पर झण्डारोहण कराने हेतु प्लेटफार्म का निर्माण कराने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने किया कम्पोजिट विद्यालय का औचक निरीक्षण

अवनीश कुमार राय जिलाधिकारी ने विकास खण्ड भरथना के ग्राम पंचायत लहरोई के कम्पोजिट विद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान अध्यापक एवं विद्यार्थियों की उपस्थिति की जानकारी ली। मौके पर 62 विद्यार्थी उपस्थित थे जोकि पंजीकृत विद्यार्थियों की संख्या से बहुत ही कम थी जिस पर कड़ी नाराजगी प्रकट की। शौचालय की स्थिति ठीक नही थी। मिड-डे मील की गुणवत्ता सुधारने के लिये निर्देशित किया।

uttarpradesh

Aug 03 2022, 14:44

रक्षाबंधन पर चलेंगी 250 अतिरिक्त बसें

लखनऊ। रक्षाबंधन पर भाई के घर पहुंचने में बहनों को बसों की किल्लत न झेलनी पड़े इसके लिए रोडवेज 250 अतिरिक्त बसों का संचालन करेगा। यह बसें कौशांबी से लखनऊ, बरेली, हल्द्वानी, आजमगढ़, सोनौली, बदायूं, मैनपुरी, कानपुर और एटा के रास्ते अलीगढ़ के लिए चलेंगी।रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह ने बताया कि बसों का संचालन 11 से 14 अगस्त तक होगा। इस दौरान रोडवेज कर्मचारियों और चालक, परिचालकों के अवकाश रद्द कर दिए गए हैं।

अवकाश न लेने वाले चालक, परिचालकों का उत्साहवर्धन करने के लिए प्रोत्साहन राशि दिए जाएंगे। महज विशेष परिस्थितियों में ही चालक, परिचालकों को अवकाश दिया जाएगा।

uttarpradesh

Aug 02 2022, 15:34

प्रशासनिक उपेक्षा के शिकार हैं राबर्ट्सगंज नगर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, नगर में 3 सेनानियों ने लिया था अंग्रेजों से मोर्चा

राबर्ट्सगंज (सोनभद्र): संपूर्ण देश- प्रदेश- में आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है, इसके अंतर्गत स्वतंत्र संग्राम सेनानियों के सम्मान में स्मारक, स्मृति द्वार, सड़कों- भवनों का नामकरण, स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े स्थलों का जीर्णोद्धार, सेनानियों के गांव तालाबों को अमृत सरोवर के रूप में तब्दील करने का जहां एक और तेजी के साथ जिला प्रशासन द्वारा कार्य कराया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर जनपद मुख्यालय रॉबर्ट्सगंज के सेनानियों की अभी तक उपेक्षा की जा रही है। स्वतंत्र भारत का इतिहास में यह बताता है कि मिर्जापुर के दक्षिणांचल के आंदोलन का नेतृत्व सुप्रसिद्ध क्रांतिकारी व्यापारी रईस नेता बलराम दास केसरवानी ने आदिवासी, जंगली इलाकों में पद यात्राएं कर आम जनता में आजादी का अलख जगाया था।

आजादी के रजत जयंती वर्ष में जब वर्तमान सोनभद्र मिर्जापुर जनपद का भूभाग था, उस समय नगर में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम की पट्टिका चाचा नेहरू बाल उद्यान में लगाई गई थी लेकिन दुर्भाग्य रहा कि इस प्रस्तर पट्टीका से जनपद मिर्जापुर के सुप्रसिद्ध क्रांतिकारी देशभक्त सेनानी सन 1921 से लेकर 1947 तक स्वाधीनता आंदोलन में अपना तन- मन- धन न्योछावर करने वाले, 15 अगस्त 1947 को नगर में उच्च शिक्षण संस्थान की नीव रखने वाले, स्वतंत्र भारत के रॉबर्ट्सगंज टाउन एरिया के प्रथम अध्यक्ष बलराम दास केसरवानी इनके सहयोगी सरकारी नौकरी से त्यागपत्र देकर नगर से स्वतंत्रता आंदोलन की लड़ाई लड़ने वाले दिल्ली,झांसी, मिर्जापुर जेल में अंग्रेजों की क्रूरता, अत्याचार सहने वाले, सजा काटने वाले, जुर्माना झेलने वाले क्रांतिकारी चंद्रशेखर वैद्य, ब्रिटिश हुकूमत में पटवारी पद से इस्तीफा देकर आंदोलन में कूद पड़ने वाले एवं सत्याग्रह, भारत छोड़ो आंदोलन नगर से सक्रिय भूमिका का निर्वहन करने वाले अली हुसैन उर्फ बेचू के निडरता, निर्भयता की कहानी आज भी लोगों में प्रचलित है कि पराधीनता मे भी राबर्ट्सगंज नगर के दरोगा पुरुषोत्तम सिंह के घर/थाना के सामने खड़े होकर भारत माता की जय का नारा लगाते हुए देश भक्ति गीत गाते थे।

ऐसे इतिहास पुरुषों को जिला प्रशासन मिर्जापुर वर्तमान प्रशासन सोनभद्र भूल चुका है। इतिहासकार दीपक कुमार केसरवानी ने बताया है कि आजादी की 75 वीं वर्षगांठ जिला प्रशासन सोनभद्र द्वारा हर्ष उल्लास के साथ मनाने का निर्णय लिया है। जिला प्रशासन द्वारा अपनी कार्य योजना में जनपद मुख्यालय रॉबर्ट्सगंज के चाचा नेहरू बाल उद्यान में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, क्रांतिकारी बलराम दास केसरवानी की मूर्ति, यहां पर अवस्थित गौरव स्तंभ में नगर के सेनानियों का नाम अंकित कराते हुए इनके नाम पर स्मृति द्वार, चौराहा का नामकरण, सेनानियों के आवास के आसपास स्थित तालाबों को अमृत सरोवर में तब्दील करने जैसा कार्य करना चाहिए। ताकि भावी पीढ़ियां इन क्रांतिकारी, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों सदकर्मों से शिक्षा प्राप्त कर देश सेवा कर सके।

uttarpradesh

Aug 02 2022, 15:31

सीएमओ ने किया निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का निरीक्षण, दिये निर्देश

एटा। सीएमओ डा. उमेश चंद्र त्रिपाठी ने कस्बा के चौराहे पर बने.निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का निरीक्षण किया, साथ ही स्वास्थ्य शिविर में बैठे कर्मचारियों से बात कर दवा वितरण के बारे में जानकारी लेकर, और अच्छा प्रदर्शन करने को निर्देश दिये।

        

सीएमओ डा. उमेश चंद्र त्रिपाठी ने कस्बा के चौराहे पर बने पुलिस सहायता केंद्र में अस्थाई रूप से संचालित निशुल्क कांवड़ यात्रा स्वास्थ्य शिविर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान शिविर पर तैनात हैल्थ सुपर वाईजर सर्वेश कुमार को बिना एप्रिन के बैठे होने पर कहा कि शिविर में बैठने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी बिना एप्रिन पहने न बैंठें। साथ ही उन्होंने हैल्थ सुपरवाइजर सर्वेश कुमार से पूछा कि कैंप में किस प्रकार की परेशानी के मरीज दवा लेने आ रहे हैं। 

उन सभी को रजिस्टर में अवश्य चढ़ावें। साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य शिविर में कौन कौन सी दवायें उपलब्ध हैं के बारे में भी जानकारी ली। तत्पश्चात सीएमओ डा. उमेश चंद्र त्रिपाठी जिले के बार्डर पर बनाये गये कैंप का निरीक्षण कर मुख्यालय रवाना हो गये।

uttarpradesh

Aug 02 2022, 11:10

#spgeneralsecretaryramgopalyadavmetupcm_yogi

सीएम योगी से मिले रामगोपाल यादव, कयासों ने पकड़ा जोर तो सपा ने दी सफाई

क्या उत्तर प्रदेश की सियासत में कुछ नया होने वाला है ? दरअसल समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय महासचिव राम गोपाल यादव ने सोमवार को अचानक से यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की है। जाहिर है इस मुलाकात के बाद कयासों का बाजार गर्म है। हालांकि इस मुलाकात के बारे में समाजवादी पार्टी की ओर से सफाई दी गई है।

सीएम योगी से राम गोपाल की मुलाकात अहम

अखिलेश यादव के एक चाचा शिवपाल यादव पहले ही सपा से बगावत के संकेत दे चुके हैं और ऐसे में रामगोपाल का सीएम योगी से मिलना अटकलें तेज कर गया। राजनीतिक घटनाक्रम के लिहाज से सीएम योगी से राम गोपाल यादव की यह मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है। यादव की इस समय सपा में हैसियत नंबर दो की मानी जाती है और वह पूर्वी सीएम अखिलेश यादव के मुख्य सिपहसलारों में से एक माने जाते हैं।

मुलाकात पर सपा की सफाई

राज्‍यसभा सदस्‍य राम गोपाल समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के चाचा हैं और दोनों के बीच काफी अच्छे संबंध हैं। ऐसे में कयासों पर विराम लगाते हुए समाजवादी पार्टी ने यह मुलाकात का मकसद सार्वजनिकर किया है। पार्टी ने ट्वीट कर बताया कि दोनों नेताओं के बीच किस मुद्दे पर चर्चा हुई है। सपा का कहना है कि राम गोपाल यादव ने सीएम के साथ राज्य में 'पिछड़े एवं मुस्लिम समुदाय की दशा' के बारे में चर्चा की।

राम गोपाल के पास है बड़ी जिम्मेदारी

राम गोपाल यादव सपा के वरिष्ठ नेता हैं। साल 2016 में सपा में नेतृत्व को लेकर जब खींचतान हुई थी तो उस समय राम गोपाल ने खुलकर अखिलेश यादव का समर्थन किया। साल 2017 में अखिलेश ने जब सपा की कमान संभाली तब से राम गोपाल सपा के महासचिव हैं। राज्यसभा में वह सपा के मुद्दों को जोर-शोर से उठाते रहे हैं।

uttarpradesh

Aug 02 2022, 11:06

सांसद लल्लू सिंह ने भू-माफियाओं के खिलाफ खोला मोर्चा, CM योगी को पत्र लिख जमथरा से गोलाघाट तक SIT जांच की मांग

अयोध्या। भू माफियाओं के खिलाफ सांसद लल्लू सिंह ने मोर्चा खोल दिया है। सांसद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर अयोध्या में जमथरा से गोलाघाट तक भूमाफियाओं की ओर से नजूल तथा सरयू नदी की डूब क्षेत्र (दरिया बुर्ज) की जमीन में किए गए अवैध कब्जों की जांच कराने की मांग की है।

सांसद की ओर से मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि भू - माफियाओं का ऐसा दबदबा है कि पूर्व में सम्बन्धित तात्कालिक अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ मिलकर नजूल तथा डूब क्षेत्र ( दरिया बुर्ज ) की जमीनों में काफी हेराफेरी करके लोगों को गुमराह कर जमीनों को ऐन-केन-प्रकारेण उनके नाम कर दिया गया। जिसमें रोजी-रोटी कमाने वाले जो व्यक्ति शहर में रहना चाहते हैं ऐसे लोगों के साथ उक्त जमीनों को करोड़ो/अरबों रूपयों की हेराफेरी की है।

जमथरा घाट से गोलाघाट तक की जमीनों पर भू माफियाओं का व्यापार फल फूल रहा है।गत तीन दशकों से उत्तर प्रदेश शासन की ओर से नजूल का किसी भी प्रकार का पट्टा नहीं किया जा रहा है और न ही किए गये पट्टे का रिन्यूनल हो रहा है।डूब की जमीनों पर किसी प्रकार का फ्री - होल्ड भी नहीं हो रहा है।फिर भी उक्त जमीन का किन परिस्थितियों में भू-माफियाओं ने डूब क्षेत्र नजूल की भूमि विक्रय किया गया।जिस पर लोगों की ओर से स्थायी अस्थायी निर्माण कराया जा रहा है।उस जमीन की जाँच एसआईटी से होना आवश्यक है। जिसमें भू-माफियाओं के साथ तत्कालीन दोषी अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही हो सके।

सांसद ने पत्र में यह अनुरोध किया है कि अयोध्या महानगर विकसित होने में विभिन्न योजनाओं में जमीनों का आरक्षित होना आवश्यक है। अयोध्या में जमथरा से गोलाघाट तक भू-माफियाओं की ओर से नजूल तथा डूब क्षेत्र की विक्रय की गई भूमि में भ्रष्टाचार की जाँच करवाकर तत्कालीन दोषी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाय।जिससे भविष्य में भू-माफियाओं पर लगाम लगाया जा सके।

uttarpradesh

Aug 01 2022, 10:49

पूर्व प्रधान ने आवेश में आकर स्वयं आग लगा ली थी - जिलाधकारी

ललितपुर। ग्राम अमरपुर में घटित घटना के संबंध में जिलाधिकारी, आलोक सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम अमरपुर में भइयन नाम के व्यक्ति जो पूर्व प्रधान भी रहे हैं, उन्होंने आवेश में आकर स्वयं को आग लगा ली थी। उनके इलाज के लिए समुचित व्यवस्था की गई, परंतु झांसी में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई है।

उन्होंने बताया की भारत एक्सप्लोसिव नाम की एक कंपनी है जो एक्सप्लोसिव का काम करती है, उनका एक सेफ्टी जोन है, जिसमे आबादी का आना प्रतिबंधित है, मृतक ने अपना ढाबा वहां बना रखा था।

पहले इनका ढाबा हाईवे पर था जिसे एनएचएआई ने कुछ दिन पहले हटवाया था। मृतक और कंपनी के मध्य पिछले दो- ढाई महीने से इस संबंध में वार्ता चल रही थी और कल की तिथि नियत थी, कंपनी ने पहले नोटिस भी दिया था और मृतक के परिवार वाले व कंपनी आपसी सहमति से ढाबे को हटा रहे थे। परंतु अचानक आवेश में आकर मौके से 200 मीटर दूर जाकर उन्होंने आग लगा ली। प्रशासन ने तत्काल उनके इलाज की व्यवस्था की, लेकिन उपचार के दौरान झांसी में उनकी मृत्यु हो गई। चूकि शांति व्यवस्था के लिए मौके पर राजस्व और पुलिस की टीम मौजूद थी इसलिए उन्होंने स्थिति को नियंत्रित कर लिया। इस दौरान थोड़ी देर के लिए हाईवे पर कुछ गाडियां रुकी लेकिन फिर स्थिति सामान्य हो गई।

उन्होंने बताया की मामले में एफ आई आर दर्ज की गई है, इसके साथ ही जानकारी मिली है कि दोनो पक्षों में समझौता हुआ है, जिसमे कंपनी पीड़ित पक्ष की आर्थिक मदद करने को तैयार है। उन्होंने कहा की स्थिति नियंत्रण में है और शांति व्यवस्था की कोई समस्या नहीं है।

uttarpradesh

Aug 01 2022, 10:47

मक्का की फसल में दाने न पड़ने से कर्ज में डूबे किसान

एटा। राजा का रामपुर के ग्राम विलसड़ पट्टी, विलसड़ पछायां, नगला रट्टे, वीरपुर गांवों में किसानों ने मेहनत कर मक्का की फसल की थी। फसल पूरी तरह तैयार हुई तो उसमें दाने ही नहीं निकले। इसे बीज की कमी बताया जा रहा है। लोगों ने कर्जा लेकर मक्का की खेती की थी।

इस क्षेत्र में सैकड़ो बीघा खेती चौपट हो गई है। वहीं किसानों ने बताया कि ज्यादातर किसानों ने करीब तीन महीने पहले स्थानीय और अलीगंज की दुकानों से मक्का का बीज खरीदा था। मक्का में बाली तो आई लेकिन दाना नहीं पड़ा। जिसकी वजह से हम लोगों की पूरी मेहनत और लागत बर्बाद हो गई। काफी किसानों ने बटाई पर खेती की थी।

मक्का का उत्पादन न मिलने के कारण अब उन्हें खेत मालिक को फसल की तय लागत अपने पास से देनी होगी। ऐसे में उन पर दोहरी मार पड़ी है। विजय सिंह, गुलाब सिंह, सुखबीर, राधेश्याम, श्याम बाबू, धनपाल, प्रेमचंद, राकेश, अभिलाख सिंह, नाथूराम की फसल बर्बाद हो गई।