kolkata

Jun 07 2022, 15:35

एशियाई कप क्वालीफायर्स : साल्टलेक स्टेडियम में कंबोडिया पर बड़ी जीत दर्ज करने उतरेगा भारत

कोलकाता. करिश्माई स्ट्राइकर सुनील छेत्री की अगुवाई में भारत पांचवीं बार एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) एशियाई कप फाइनल्स में जगह बनाने की कवायद में बुधवार को यहां कम रैंकिंग वाले कंबोडिया के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करके अपने अभियान की शानदार शुरुआत करने की कोशिश करेगा. छेत्री इस मैच में अपना 80वां गोल करने की कोशिश करेंगे.

क्रिस्टियानो रोनाल्डो (188 मैचों में 117 गोल) और लियोनेल मेस्सी (162 मैचों में 86 गोल) दनादन गोल दागे जा रहे हैं. इन दोनों से किसी की तुलना नहीं की जा सकती है लेकिन छेत्री के पास इस टूर्नामेंट में मेस्सी से आगे निकलने का मौका होगा. भारतीय टीम विश्व रैंकिंग में अभी 106वें स्थान पर है जबकि कंबोडिया उससे 65 स्थान नीचे 171वें स्थान पर है. ग्रुप डी में इन दो टीम के अलावा अफगानिस्तान (150) और हांगकांग (147) शामिल हैं.

ऐसे में छेत्री के पास गोल करने के मौके होंगे. छेत्री अपने करियर के अवसान पर हैं और एशियाई कप के लिये क्वालीफाई करना इस 37 वर्षीय कप्तान के लिये विशेष होगा. चीन के हटने के कारण अगला एशियाई कप 2023 के आखिर या 2024 में होगा और ऐसे में छेत्री इसे अपने शानदार करियर का ‘अंतिम किला' मान सकते हैं. छेत्री ने अपने 126वें मैच से पहले इरादे स्पष्ट करते हुए कहा, ‘‘मैं क्वालीफाई करना चाहता हूं. अगर मैं वहां नहीं रहूंगा, तो मेरा देश होगा. या तो मैं बियर पीते हुए उदांता को दौड़ लगाते हुए देखूंगा या आप बियर पी रहे होंगे और मैं वहां दौड़ूंगा.''

इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता के क्वालीफाईंग मैचों से पहले भारत का प्रदर्शन अनुकूल नहीं रहा. उसने इससे पहले जो तीन अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच खेले उन सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा. यही नहीं इस बीच उसे इंडियन सुपर लीग की टीम एटीके मोहन बागान से 1-2 से हार मिली जबकि उसने आई लीग ऑल स्टार्स टीम को 2-1 से हराया लेकिन संतोष ट्राफी के उप विजेता बंगाल ने उसे 1-1 से ड्रा पर रोका.

भारतीय टीम ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना आखिरी मैच सात महीने से भी अधिक समय पहले जीता था जब उसने 16 अक्टूबर 2021 को सैफ चैंपियनशिप के फाइनल में नेपाल को 3-0 से हराया था. लेकिन हाल के परिणाम इगोर स्टिमक की कोचिंग वाली टीम के लिये बेहद निराशाजनक रहे. छेत्री ने अपने साथियों को आगाह कर दिया है कि अगर वे कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो आधी जंग यहीं पर हार जाएंगे. छेत्री ने कहा, ‘‘ हम पहला मैच उनसे खेल रहे हैं. अगर हम कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं, तो इसका मतलब आप अपनी आधी लड़ाई हार गए हैं.''

उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक, हम केवल कंबोडिया के बारे में सोच रहे हैं, जितना संभव हो उतने वीडियो देख रहे हैं. एक बार जब हम यह मैच खेल लेंगे तो फिर अफगानिस्तान के बारे में सोचेंगे. निसंदेह, अफगानिस्तान भी मजबूत है. '' हाल के दिनों में स्टिमक के लिए सबसे बड़ा झटका रहीम अली की चोट रही है, जिन्होंने छेत्री के साथ मिलकर अग्रिम पंक्ति को हमलावर बनाना शुरू कर दिया था. जैसे ही उन्होंने जेजे लालपेखुला के स्थान को भरना शुरू किया उन्हें मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बाहर होना पड़ा. एएफसी कप में हैट्रिक जमाने वाले एटीके मोहन बागान के फॉरवर्ड लिस्टन कोलासो, मनवीर सिंह और उदांता सिंह कुछ विकल्प दे सकते हैं लेकिन अली के गेंद पर नियंत्रण और सटीक पासिंग का मुकाबला करना मुश्किल है.

यह देखना दिलचस्प होगा कि छेत्री इससे कैसे निपटते हैं क्योंकि वे पांचवें एशियाई कप के लिए क्वालीफाई करना चाहते हैं. अफगानिस्तान ग्रुप डी के पहले मैच में शाम चार बजकर 30 मिनट पर हांगकांग से भिड़ेगा, जिसके बाद रात 8.30 बजे से भारत और कंबोडिया का मैच खेला जाएगा.


kolkata

Jun 07 2022, 15:30

अपना खून बहा दूंगी, लेकिन बंगाल बांटने नहीं दूंगी : ममता

कोलकाता/अलीपुरद्वार. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कुछ नेताओं द्वारा पश्चिम बंगाल से अलग राज्य बनाने की मांग के मद्देनजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि राज्य को विभाजित करने की कोशिशों को विफल करने के वास्ते जरूरत पड़ने पर वह अपना खून तक बहाने के लिए भी तैयार हैं. ममता बनर्जी ने भाजपा पर 2024 के आम चुनाव से पहले राज्य में ‘‘अलगाववाद'' को बढ़ावा देने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर बंगाल में सभी समुदाय के लोग दशकों से एक-दूसरे के साथ मिलकर रह रहे हैं, लेकिन भाजपा लोगों को बांटने की कोशिश कर रही है.

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ने पार्टी की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव करीब आने के साथ ही भाजपा अलग राज्य की मांग कर रही है. भाजपा कभी गोरखालैंड की मांग कर रही है, तो कभी अलग उत्तर बंगाल की मांग कर रही है. मैं जरूरत पड़ने पर अपना खून तक बहाने के लिए तैयार हूं, लेकिन राज्य को कभी विभाजित नहीं होने दूंगी.''

कामतापुर लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन के नेता जीवन सिंघा द्वारा एक कथित वीडियो के जरिए कामतापुर की मांग नहीं मानने पर मुख्यमंत्री को ‘‘रक्तपात'' की धमकी देने के मामले पर बनर्जी ने कहा कि वह इस तरह की धमकियों से नहीं डरती हैं. उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग मुझे धमकी दे रहे हैं, मुझे इसकी परवाह नहीं है. मैं इस तरह की धमकियों से नहीं डरती.''


kolkata

Jun 07 2022, 15:28

राज्य सरकार ने पूर्वी कोलकाता आर्द्रभूमि क्षेत्र के लिए आवंटित किये दो करोड़ रुपये

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में पर्यावरण विभाग ने बिधाननगर नगर निगम (बीएमसी) को बोंगघेरी भेरी से अतिक्रमण को हटाने के बाद ‘ड्रेजिंग' का काम शुरू करने के लिए दो करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. बोंगघेरी भेरी रामसर-मान्यता प्राप्त स्थल पूर्वी कोलकाता आर्द्रभूमि का हिस्सा है. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने बीएमसी के साथ मिलकर चिंगरीघाट क्रॉसिंग के पास अवैध बस्तियों को पहले ही हटा दिया है और निगम द्वारा ड्रेजिंग (नदी, नहर आदि के तले पर जमे कीचड़ को विशेष मशीन से साफ करना) का काम जल्द ही शुरू होगा.

उन्होंने कहा, ‘‘यह बीएमसी के अधिकार क्षेत्र में आता है और पर्यावरण विभाग पहले ही निगम को दो करोड़ रुपये जारी कर चुका है. अतिक्रमण करने वालों को पहले ही हटा दिया गया है और भेरी को संवारने का काम जल्द ही शुरू हो जाएगा. विभाग को यकीन है कि अतिक्रमण वाला पूरा क्षेत्र अपने मूल स्वरूप में वापस आ जाएगा.'' 50 एकड़ में फैले इस जलाशय के दो हिस्से हैं - बोड़ो बोंगहेरी भेरी और छोटो बोंगहेरी भेरी. ये एक साथ मिलकर 31,000 एकड़ पूर्वी कोलकाता आर्द्रभूमि क्षेत्र का हिस्सा बनाते हैं, जो एक रामसर स्थल भी है. रामसर स्थल, 1971 में यूनेस्को द्वारा की गई एक अंतर सरकारी संधि ‘रामसर संधि' के तहत वैश्विक महत्व की आर्द्रभूमि है.

पर्यावरणविद् एसएम घोष ने पर्यावरण विभाग की इस पहल की सराहना की है. घोष ने कहा, ‘‘पूर्वी कोलकाता आर्द्रभूमि अपशिष्टों को शुद्ध करके पारिस्थितिक संतुलन बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. कुछ गलत लोग विशाल जल निकाय के कुछ हिस्सों को भर रहे थे. यदि इसे रोका नहीं गया होता, तो इस तरह के निराशाजनक कार्य जारी रहते. शहर और इसके पारिस्थितिकी तंत्र को गंभीर खतरे का सामना करना पड़ता.'' रामसर कनवेंशन में भारत के 25 वेटलैंड्स को शामिल किया गया हैय इस सूची में भारत के चिल्का लेक, भोज वेटलैंड, चंद्र ताल, कांजली वेटलैंड, रेणुका लेक, रुद्रसागर लेक आदि को भी जगह मिली है.


kolkata

Jun 06 2022, 19:32

विद्यासागर औद्योगिक पार्क में बनेगा साइकिल हब

कोलकाता. राज्य के शिल्पांचल क्षेत्र में दुर्गापुर स्थित विद्यासागर औद्योगिक पार्क में साइकिल हब की स्थापना की जायेगी. राज्य सरकार ने उक्त औद्योगिक पार्क में चार कंपनियों को प्लांट स्थापित करने के लिए जमीन पांच-पांच एकड़ जमीन प्रदान करने का फैसला किया है. यह जानकारी सोमवार को राज्य के उद्योग व वाणिज्य मंत्री पार्थ चटर्जी ने दी.

उन्होंने बताया कि सोमवार को राज्य सचिवालय में हुई बैठक में इन कंपनियों को जमीन देने की मंजूरी दी गयी. उन्होंने बताया कि प्रत्येक कंपनी को यहां पांच-पांच एकड़ जमीन प्रदान की जायेगी और प्रत्येक कंपनी द्वारा यहां प्रथम चरण में 10-10 करोड़ रुपये का निवेश किया जायेगा. श्री चटर्जी ने बताया कि प्रत्येक यूनिट में औसतन 150 लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा.


kolkata

Jun 06 2022, 18:36

ममता सरकार ने की न्यू टाउन में अदाणी समूह को 51.7 एकड़ जमीन देने की घोषणा, कैबिनेट में लिया गया निर्णय

कोलकाता. बंगाल की ममता सरकार कोलकाता से सटे राजारहाट न्यूटाउन में अदाणी समूह को 51.7 एकड़ जमीन देने की घोषणा की है. संसदीय कार्यमंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि सोमवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया है कि अदाणी समूह को जमीन आवंटित की जाएगी. उन्होंने कहा कि न्यू टाउन में बंगाल सिलिकान वैली में अदाणी समूह के स्वामित्व वाली कंपनी को जमीन दी जाएगी. वे इस जमीन पर एक बड़ा डाटा सेंटर स्थापित करेंगे.

पार्थ ने कहा कि अदाणी समूह की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बंगाल टेक पार्क की ओर बंगाल सिलिकान वैली में एक डाटा सेंटर स्थापित करने का प्रस्ताव मिला था. उस प्रस्ताव पर सोमवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में बंगाल सिलिकन वैली में 51.7 एकड़ जमीन बंगाल टेक पार्क को 99 साल की लीज पर देने का फैसला किया गया है. वहां डेटा सेंटर बनने से रोजगार के बहुत सारे अवसर तैयार होंगे. बंगाल सिलिकान वैली की आधारशिला मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2019 में रखी थी. लेकिन इसके बाद वहां एक भी ईंट नहीं डाली गई.

मुख्यमंत्री की तस्वीर वाले सिर्फ बैनर होर्डिंग दिखते हैं. इसे लेकर भाजपा बार-बार राज्य सरकार का मजाक उड़ाती रही है. पहले इस सिलिकान वैली में सिर्फ आइटी कंपनियों को ही जमीन देने की बात हुई थी, लेकिन अभी एक माह पूर्व अप्रैल में हुए बंगाल ग्लोबल बिजनेस समिट में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की थी कि इस वैली में अब सेमीकंडक्टर चिप से लेकर डेटा सेंटर के लिए भी जमीन दी जाएगी. माना जा रहा है कि इसके बाद ही यह प्रस्ताव आया है और उस पर तत्काल निर्णय लिया गया है.


kolkata

Jun 06 2022, 18:20

अब कर्मचारी सेवा आयोग के माध्यम से होगी ग्रुप डी कर्मचारियों की नियुक्ति

कोलकाता. पश्चिम बंगाल सरकार ने स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के जरिए ग्रुप सी और डी में शिक्षकों की नियुक्ति में हुई बड़े पैमाने पर धांधली से सबक लिया है. सोमवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय लिया गया है कि ग्रुप डी कर्मियों की नियुक्ति के लिए जो रिक्रूटमेंट बोर्ड गठित किया गया था उसे खत्म किया जाएगा. अब राज्य में ग्रुप डी कर्मियों की नियुक्ति भी स्टाफ सेलेक्शन कमीशन के जरिए होगा.

इसके अलावा 2500 आशा कर्मियों की नियुक्ति का भी निर्णय मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया है. बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि पिछले छह से सात सालों में ग्रुप डी नियुक्ति बोर्ड के जरिए महज पांच हजार नियुक्तियां हुई हैं जिसमें भी बड़े पैमाने पर धांधली की वजह से राज्य सरकार को फजीहत झेलनी पड़ी है. इसीलिए इस बोर्ड को खत्म करने का निर्णय लिया गया है. इसके अलावा कोरोना संकट के समय आशा कर्मियों की सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन ने की थी.

बच्चों की चिकित्सा, टीकाकरण और महिलाओं के प्रसव के समय मदद में सबसे अधिक मददगार आशा कर्मी ही बनी थीं क्योंकि डॉक्टर और नर्स कोरोना उन्मूलन में लगे थे. इसीलिए अब राज्य सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता, सफाई, ग्रामीण स्वास्थ्य व्यवस्था और घर-घर घूमकर स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए आशा कर्मियों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है.


kolkata

Jun 06 2022, 17:22

कोल इंडिया का अब हरित खनन विकल्पों को आजमाने पर जोर: चेयरमैन

कोलकाता. सार्वजनिक क्षेत्र की कोयला कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) अब हरित खनन विकल्पों का लक्ष्य लेकर चल रही है और प्रौद्योगिकी की मदद से भूमिगत खदानों से कोयला उत्पादन बढ़ाने पर जोर दे रही है. सीआईएल के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने कहा कि स्वच्छ पारिस्थितिकी के लिए अनुकूल मानी जाने वाली भूमिगत खदानों से उत्पादन बढ़ाने के लिए नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल पर कंपनी का ध्यान है.

इसके अलावा कोयले के पर्यावरणानुकूल परिवहन के लिए कंपनी देशभर में 35 कोयला भंडारण केंद्र विकसित करने में भी लगी हुई है. सीआईएल की यह टिप्पणी ऐसे समय आई है जब कोयले एवं अन्य जीवाश्म ईंधनों के जलने से वैश्विक जलवायु परिवर्तन को लेकर चिंताएं गहरा रही हैं. जीवाश्म ईंधनों के इस्तेमाल से ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन होता है. श्री अग्रवाल ने कहा, ‘‘सीआईएल हरित खनन विकल्पों का भी लक्ष्य लेकर चल रही है और अपने भूमिगत उत्पादन को बढ़ाने की योजना बना रही है.''

उन्होंने कहा कि सीआईएल पर्यावरण संरक्षण और अपने खनन क्षेत्रों के इर्दगिर्द एक हरित छतरी बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 30.4 लाख से अधिक पौधे लगाए और अपने हरित क्षेत्र को बढ़ाकर 1,468.5 हेक्टेयर तक पहुंचा दिया. घरेलू कोयला उत्पादन में 80 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी रखने वाली सीआईएल के प्रमुख अग्रवाल ने कहा कि अब तक 27 ईको पार्क और खनन पर्यटन परियोजनाएं विकसित की जा चुकी हैं.

उपग्रहों से मिली तस्वीरें ये संकेत देती हैं कि 76 प्रमुख खुली परियोजनाओं ने खनन हो चुके 62.5 प्रतिशत इलाके को अपना लिया है और सक्रिय खनन सिर्फ 37.5 प्रतिशत इलाके तक ही सीमित रह गया है. खनन के कारण खराब हुई प्रति एक हेक्टेयर भूमि के लिए सीआईएल ने लगभग दो हेक्टेयर जमीन में हरित आवरण विकसित किया है.


kolkata

Jun 06 2022, 17:00

केके की मौत का केस पहुंचा हाइकोर्ट, सीबीआइ जांच की मांग

कोलकाता. प्रख्यात पार्श्व गायक कृष्णकुमार कुन्नाथ उर्फ केके अब हमारे बीच नहीं हैं. महानगर में लाइव कॉन्सर्ट के दौरान तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था. अब केके की मौत का मामला कलकत्ता हाइकोर्ट पहुंच गया है. हाइकोर्ट के अधिवक्ता रविशंकर चटर्जी ने जनहित याचिका दायर कर केके की मौत के मामले की सीबीआई जांच कराने का अनुरोध किया है. ध्यान रहे कि केके यहां दक्षिण कोलकाता के नजरुल मंच में एक कॉलेज के उत्सव में परफॉर्म करने आये थे.

हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव ने याचिका दायर करने की अनुमति दे दी. उसके बाद ही अधिवक्ता रविशंकर चटर्जी ने याचिका दायर कर गायक की मौत के मामले की सीबीआइ जांच की अपील की है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या व्यवस्था में आयोजकों की लापरवाही से गायक की मौत हुई. इधर, कोलकाता पुलिस केके की मौत की जांच कर रही है. हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में केके की मौत का कारण हृदयाघात बताया गया है.


kolkata

Jun 06 2022, 16:59

एसएससी के माध्यम से नियुक्ति में अनियमितता का आरोप,

हाइकोर्ट ने शिक्षक की नौकरी रद्द करने का आदेश

कोलकाता. स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के जरिए गैरकानूनी तरीके से नियुक्त हुए एक और शिक्षक की नौकरी रद्द करने का आदेश हाई कोर्ट ने दिया है. न्यायमूर्ति राजशेखर महंथा की नई पीठ ने सोमवार को सुनवाई के बाद नौवीं और दसवीं श्रेणी में नियुक्त एक शिक्षक की नियुक्ति रद्द करने का आदेश दिया है. इसके पहले न्यायमूर्ति अभिजीत गांगुली की पीठ में इन मामलों की सुनवाई होती थी लेकिन कोर्ट ने रूटीन बदली के तहत अब एसएससी संबंधी मामलों की सुनवाई न्यायमूर्ति राजशेखर महंथा की पीठ में शिफ्ट कर दी है.

बताया गया है कि नौवीं और दसवीं श्रेणी की नियुक्ति परीक्षा में इतने बड़े पैमाने पर धांधली हुई थी की मेरिट लिस्ट में जिस व्यक्ति का नाम 200 नंबर पर था उसे नियुक्ति ही नहीं मिली जबकि 275 नंबर पर जिसका नाम था उसे शिक्षक के तौर पर नियुक्त कर दिया गया है. अब कोर्ट ने सोमवार को स्पष्ट तौर पर एसएससी से कहा है कि मेरिट लिस्ट में 275 नंबर पर मौजूद जिस व्यक्ति को नौकरी दी गई है उसे तुरंत रद्द किया जाए.


kolkata

Jun 04 2022, 17:36

हाइकोर्ट को मिले और दो जज,तीन सप्ताह में आठ जजों की हुई नियुक्ति

कोलकाता. केंद्र सरकार ने देश के सात हाईकोर्ट में 12 जजों की नियुक्ति को हरी झंडी दे दी है. इन 12 नामों में आठ बार एसोसिएशन से आए वकील हैं और चार न्यायिक अधिकारियों को प्रमोट करके हाईकोर्ट जज नियुक्त किया गया है. सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक, इनमें सात एडिशनल जज और चार जज के रूप में शपथ ले रहे हैं. इनकी नियुक्तियों की घोषणा करने वाली अधिसूचना विधि और न्याय मंत्रालय में न्याय विभाग द्वारा जारी की गई है. आने वाले दिनों में कुछ और नियुक्तियों की घोषणा होने की उम्मीद है. क्योंकि सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम से मिली सिफारिशों के बाद जज नियुक्ति के लिए उम्मीदवारों के बारे में जांच और तहकीकात का काम लगभग पूरा हो गया है.

पटना और राजस्थान हाईकोर्ट में दो-दो जज, बॉम्बे, कलकत्ता और मद्रास हाईकोर्ट में दो-दो एडिशनल जज, ओडिशा हाईकोर्ट में एक जज और झारखंड हाईकोर्ट में एक एडिशनल जज की नियुक्ति हो रही है. कलकत्ता हाइकोर्ट में वकील राजा बसु चौधरी और लापिता बनर्जी को अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया है.

बताया गया है कि केंद्रीय कानून मंत्रालय ने हाइकोर्ट में जजों की नियुक्ति की प्रक्रिया तेज कर दी है और मई महीने से देश के प्राय: सभी हाइकोर्ट में रिक्त पदों पर न्यायाधीशों की नियुक्ति की जा रही है. कलकत्ता हाइकोर्ट में ही पिछले 21 दिनों के अंदर आठ जजों की नियुक्ति की गयी है. कलकत्ता हाइकोर्ट में न्यायाधीश के कुल 72 पद हैं. इन दो नई नियुक्तियों के बाद यहां जजों की संख्या बढ़ कर 45 हो गयी है, लेकिन अभी भी 27 पद रिक्त हैं.