India

May 08 2021, 10:34

-sushil-kumar-involved-in-murder-case
  

पहलवान सुशील कुमार के खिलाफ पुलिस के हाथ लगे सबूत, वीडियो क्लिप में सागर व उसके दोस्तों की पिटाई करते दिखाई

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पूर्व जूनियर नेशनल चैंपियन पहलवान सागर की पीटकर हत्या के मामले में ओलंपिक पदक विजेता सुशील पहलवान की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी प्रिंस दलाल के मोबाइल फोन से पुलिस को मिली वीडियो क्लिप में सुशील अपने साथियों के साथ सागर व उसके दोस्तों की पिटाई करते दिखाई दे रहे हैं। इसी आधार पर पुलिस की टीमें दिल्ली-एनसीआर के अलावा हरियाणा और उत्तराखंड में सुशील व उसके दोस्तों की तलाश कर रही हैं। पुलिस ने मोबाइल फोन को जांच के लिए एफएसएल भेज दिया है।

बता दें कि दिल्ली के उत्तरी क्षेत्र में स्थित छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के बीच हुई लड़ाई में सागर धनखड़ की मौत हो गई थी। जिसमें ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार का नाम भी शामिल है। पुलिस ने उनके घर छापेमारी की, लेकिन तब वो फरार हैं। हालांकि इस बीच सुशील के मोबाइल की लोकेशन उत्तराखंड में मिली है। कयास लगाए जा रहे हैं कि सुशील भागकर उत्तराखंड में कही छिपे हैं। पुलिस की चार टीमें सुशील और उसके करीबी अजय, मोहित व डोली की तलाश में जुट गई हैं।

अतिरिक्त डीसीपी सिद्धू के कहा कि हमने जांच के दौरान पाया है कि स्टेडियम के पार्किंग क्षेत्र में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस दलाल, सोनू, सागर, अमित और अन्य के बीच कथित तौर पर झगड़ा हुआ था। पुलिस को आरोपी प्रिंस दलाल के मोबाइल फोन से घटना का एक रिकॉर्ड किया गया वीडियो भी मिला। वीडियो में सागर और अन्य लोगों द्वारा पिटाई किए जाने पर सभी हमलावरों के चेहरे देखे जा सकते हैं।
पुलिस ने मौके से दो एसयूवी समेत पांच कारें बरामद की हैं। उनमें से एक गुरुग्राम स्थित कंपनी के नाम पर पंजीकृत है। एक अन्य हरियाणा के अपराधी मोहित अशोदा के नाम पर है। जांच के दौरान कई सीसीटीवी कैमरों को स्कैन किया गया था, लेकिन जिस इलाके में घटना हुई थी, उनमें से किसी ने भी कवर नहीं किया था। छत्रसाल स्टेडियम के ठीक बाहर स्थित कैमरों को स्कैन करने के बाद पता चला कि स्टेडियम के परिसर में जब घटना हुई थी, तब लगभग 10-15 पहलवान मौजूद थे। हालांकि, पुलिस के आने से पहले ही वे फरार हो गए।

बता दें कि दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के दो गुटों के बीच मारपीट हो गई थी, जिसमें 23 साल के एक पहलवान की मौत हो गई। दोपहर 12 बजे के आस-पास छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के बीच झगड़े की सूचना पुलिस को मिली थी। जिसके बाद झगड़े में चोटिल पहलवान को बीजेआरएम अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में उसे ट्रॉमा सेंटल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने कहा कि मृतक की पहचान सागर नामक व्यक्ति के तौर पर हुई है।

India

May 08 2021, 10:01

-4194-deaths
  

भारत में एक दिन में पहली बार रिकॉर्ड 4200 मौतें, लगातार तीसरे दिन 4 लाख के पार नए केस

भारत में कोरोना वायरस का कहर जारी है। कोरोना का कहर इस कदर भयावह होता जा रहा है कि हर दिन न सिर्फ केस बढ़ रहे हैं, बल्कि मौतों के मामलों में भी बड़ा इजाफा हो रहा है। कोरोना की दूसरी लहर ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और भारत में एक दिन में करीब चार हजार से अधिक कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। वहीं, लगातार तीसरे दिन देश में 4 लाख से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं।


देश में सक्रिय मामलों की संख्या 37 लाख से ज्यादा
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में शुक्रवार को कोरोना के 4 लाख 01 हजार 228 नए मामले सामने आए। इसके बाद संक्रमण के कुल मामले 2 करोड़ 18 लाख 86 हजार 611 हो गए हैं। इस दौरान 4194 लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 2 लाख 38 हजार 268 हो गई है। लगातार बढ़ते मामलों के बीच सक्रिय मरीजों की संख्या 37 लाख 21 हजार 779 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.96 प्रतिशत है। 

रिकवरी रेट घटकर 81.95 प्रतिशत
देश में तेजी से बढ़ कोरोना संक्रमण के बाद मरीजों के स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर घटकर 81.95 प्रतिशत हो गई है। बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की कुल संख्या 1 करोड़ 79 लाख 17 हजार 085 हो गई है, जबकि बीमारी से मरने वालों की दर 1.09 फीसदी दर्ज की गई।

दस राज्यों में71.81 प्रतिशत मामले
देशभर में एक दिन में आ रहे कोविड-19 के नए मामलों में से 71.81 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत दस राज्यों से सामने आ रहे हैं। सबसे अधिक मामलों के दस राज्यों की सूची में कर्नाटक, केरल, बिहार, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और राजस्थान भी शामिल हैं। महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे अधिक 54,022 नए मामले आए। इसके बाद कर्नाटक में 48,781, जबकि केरल में संक्रमण के 38,460 नए मामले आए। अब तक 16,49,73,058 टीके लगाए जा चुके हैं। इनमें से 66.84 प्रतिशत टीके महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, केरल, बिहार और आंध्र प्रदेश में लगाए गए हैं। बीते 24 घंटों में 23 लाख से अधिक लोगों को टीके लगाए गए।

India

May 08 2021, 08:17

मध्यप्रदेश में सीधी जिले में फालतू में बाहर घूमने वालों के किये पुलिस के द्वारा किया गया अनोखा प्रयोग । ये प्रयोग एक बार आप सही जरूर देखें

India

May 07 2021, 20:06

-lives-being-lost-every-hour
  

देश में बीते 10 दिनों में कोरोना से 36,110 लोगों की मौत, हर घंटे औसतन 150 मरीजों तोड़ रहे दम

देशभर में कोरोना के कारण हाहाकार मचा हुआ है। संक्रमण के मामलों में तोजी से बढ़त दर्ज की जा रही है। इस बढ़त का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते 10 दिनों में इस बीमारी के कारण 36,110 लोगों की मौत हो गई। इस तरह देखें तो हर घंटे औसत रूप से 150 मरीजों की मौत हो रही है। 

बीते 10 दिनों में 36 हजार से ज्यादा मौतें
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 दिन से कोरोना से होने वाली मौत का आंकड़ा रोज तीन हजार से ज्यादा आ रहा है। 10 दिन में कोरोना के कारण 36 हजार 110 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इन आंकड़ों के मुताबिक देश में हर घंटे कोरोना से डेढ़ सौ मरीजों की मौत हो रही है। भारत में जितनी तेजी से मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है, वह एक दिन में किसी भी देश में आए मामलों में सबसे अधिक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अमेरिका में पिछले 10 दिनों में कोरोना से 34 हजार 798 मौतें हुई हैं, जबकि ब्राजील में पिछले 10 दिन में ये आंकड़ा 32 हजार 692 रहा। इसी अवधि में मैक्सिको में सबसे अधिक 13 हजार 897 मौतें हुईं जबकि ब्रिटेन में 13 हजार 266 मौतें हुईं। 

13 राज्यों में रोजोना सौ से ज्यादा मौतें
देश में 13 राज्य ऐसे हैं, जहां पिछले 24 घंटे के अंदर 100 से अधिक मौतें रिकॉर्ड की गई हैं। जनसंख्या की दृष्टि से 13 में से सबसे छोटे राज्य उत्तराखंड में बृहस्पतिवार को 151 नई मौतें हुईं। महाराष्ट्र में पिछले एक दिन में कोरोना से 853 लोगों की मौत हुई है। उत्तर प्रदेश, दिल्ली और कर्नाटक में मौत का ये आंकड़ा 300 से अधिक रहा जबकि छत्तीसगढ़ में कोरोना से होने वाली मौत की संख्या 200 के पार रही है। उत्तराखंड के अलावा तमिलनाडु, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड, झारखंड, गुजरात और पश्चिम बंगाल में कोरोना से पिछले 24 घंटे में 100 से अधिक मौतें दर्ज की गई हैं।

महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक सबसे ज्यादा प्रभावित
देश में महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित  राज्य है।   महाराष्ट्र में कोरोना के 62,194 नए मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र के बाद कोरोना से सबसे ज्यादा कर्नाटक प्रभावित दिख रहा है। कर्नाटक में 49,058 नए मामले सामने आए हैं। इसी तरह केरल (42,464), तमिलनाडु (24,898), पश्चिम बंगाल (18,431), ओडिशा (10,521), पंजाब (8,874), उत्तराखंड (8,517), असम (4,936), जम्मू-कश्मीर (4,926), हिमाचल प्रदेश (3,942), गोवा (3,869) और मेघालय ने पिछले 24 घंटों में 347 नए मामले सामने आए हैं।

India

May 07 2021, 19:42

कोरोना संकट पर सोनिया गांधी ने कहा, सिस्टम नहीं, मोदी सरकार फेल, सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग
  



सोनिया गांधी ने चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में हार को लेकर कहा कि कांग्रेस कार्य समिति चुनाव परिणाम का विश्लेषण करेगी


कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश में जारी कोरोना संकट को लेकर कहा कि  सिस्टम फेल नहीं हुआ है, मोदी सरकार फेल हो गयी है. आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी चुनाव जीतने में लगे रहे, तमाम चेतावनियों को दरकिनार किया गया. पीएम मोदी पर हमलावर होते हुए  सोनिया गांधी ने कोरोना संकट पर सर्वदलीय बैठक बुलाने की  मांग की है. बता दें कि कोरोना के हालात पर चर्चा के लिए बुलायी गयी पार्टी सांसदों की डिजिटल बैठक में सोनिया ने यह बात कही. बैठक में सोनिया गांधी ने चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में हाल ही में आये चुनाव परिणामों को लेकर भी अपनी बात रखी. कहा कि  कांग्रेस कार्य समिति चुनाव परिणाम का विश्लेषण करेगी.


कोरोना संकट पर सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने लोगों की मदद करने की जगह अपनी संवैधानिक जिम्मेदारियां त्याग दी हैं, कहा कि  इस साल की शुरुआत में प्रधानमंत्री मोदी ने अहंकार से चूर होकर कोरोना के खिलाफ जंग जीत लेने का दावा किया. भाजपा ने इसके लिए पीएम का गुणगान किया था.   सोनिया गांधी ने याद दिलाया कि संसद की स्टैंडिंग कमेटी ने कोरोना की स्थिति को लेकर चिंता जताई थी, लेकिन प्रधानमंत्री  ने उसकी भी अनदेखी की. कहा कि  इन पहलुओं पर मोदी सरकार विफल हुई है.

 आरोप लगाया कि  सही समय पर वैक्सीन का आर्डर नहीं दिया गया, तमाम चेतावनियों को अनदेखा किया गया. सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने ऑक्सीजन, दवाईयों या वेंटिलेटर की व्यवस्था को मजबूत नहीं किया,  लोगों के जख्मों पर मरहम लगाने की जगह पर भाजपा शासित सरकारें तानाशाही रवैया अपनाते हुए कार्रवाई कर रही हैं. आरोप लगाया कि  सोशल मीडिया और बाकी प्लेटफार्म पर लोगों की आवाज दबाने की कोशिश की जा रही है.


सोनिया गांधी ने कहा कि मैं यह साफ कहना चाहती हूं कि सिस्टम फेल नहीं हुआ है, मोदी सरकार का नेतृत्व विफल रहा है,  

आज हम इस कगार पर इसलिए खड़े हैं क्योंकि मोदी सरकार का शीर्ष नेतृत्व कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई को लड़ने में असमर्थ है,  भारत आज इसलिए बेबस है क्योंकि मोदी सरकार की लोगों के प्रति कोई संवेदना नहीं है.
सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस की मांग है कि मोदी सरकार सर्वदलीय बैठक बुलाये, क्योंकि यह विपक्ष बनाम सरकार की लड़ाई नहीं, यह हमारी कोरोना के खिलाफ जंग है. इसके साथ ही एक स्टैंडिंग कमेटी बनाई चाहिए, ताकि हम लोग एकजुट होकर कार्रवाई कर सकें. 


सोनिया गांधी ने चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में हाल ही में आये चुनाव परिणामों को लेकर कहा कि कांग्रेस कार्य समिति चुनाव परिणाम का विश्लेषण करेगी.

 चुनावों में पार्टी के प्रदर्शन को निराशाजनक करार देते हुए शुक्रवा

  • India
     @India   शुक्रवार को कहा कि इस हार से सबक लेने की जरूरत है. सोनिया ने यह भी कहा कि जल्द ही कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक होगी जिसमें असम, केरल, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और पुडुचेरी के चुनाव नतीजों की समीक्षा की जायेगी.
    सोनिया गांधी  ने पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल में जीत के लिए ममता बनर्जी, एमके स्टालिन सहित वाम दलों को बधाई दी.  उन्होंने कांग्रेस की चुनावी हार पर कहा कि यह  दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि सभी राज्यों में हमारा प्रदर्शनक निराशाजनक रहा है और मैं यह कह सकती हूं कि यह अप्रत्याशित है.
    सोनिया ने कहा, ‘चुनाव नतीजों की समीक्षा के लिए जल्द सीडब्ल्यूसी की बैठक होगी, लेकिन यह कहना होगा कि एक पार्टी के तौर पर सामूहिक रूप से हमें पूरी विनम्रता एवं ईमानदारी के साथ इस झटके से उचित सीख लेनी होगी. 
India

May 07 2021, 19:02

# sc-on-central-vista-construction
  

सेंट्रल विस्टा कंस्ट्रक्शन मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, याचिकाकर्ता के वकील ने कहा-जब देश में मेडिकल इमरजेंसी जैसे हालात, तो कैसे हो रहा निर्माण कार्य

सुप्रीम कोर्ट में सेंट्रल विस्टा कंस्ट्रक्शन केस की सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता की ओर से पेश हुए वकील सिद्धार्थ लूथरा ने कहा, 'जब देश में मेडिकल इमरजेंसी के हालात हैं, ऐसे में निर्माण कार्य कैसे चल सकता है। वह भी ऐसे समय में जब मजदूर हेल्थ कैंप में हैं और स्थिति बहुत खराब है।' 

सुप्रीम कोर्ट ने नई दिल्ली में सेंट्रल विस्टा परियोजना के लिए निर्माण कार्य पर रोक लगाने की याचिका को खारिज कर दिया है, क्योंकि यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय के पास लंबित है। याचिकाकर्ता ने दिल्ली में कोरोना उछाल के मद्देनजर डीडीएमए द्वारा जारी आदेशों के अनुपालन में सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के संबंध में सभी प्रकार की निर्माण गतिविधि को निलंबित करने की मांग की थी।

इससे पहले आज कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर केंद्र सरकार पर हमला किया था। तो वहीं कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, 'सेंट्रल विस्टा पर कांग्रेस का प्रवचन विचित्र है। सेंट्रल विस्टा की लागत कई वर्षों में लगभग 20,000 करोड़ है। भारत सरकार ने टीकाकरण के लिए लगभग दो बार राशि आवंटित की है। इस वर्ष भारत का स्वास्थ्य बजट 3 लाख करोड़ से अधिक था। हम अपनी प्राथमिकताएं जानते हैं।''


वहीं कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने यह भी कहा है कि सरकार को सेंट्रल विस्टा परियोजना समेत सभी फिजूल खर्चों को बंद कर कोरोना महामारी से निपटने पर ध्यान देना चाहिए तथा विदेशी सहायता के वितरण में पारदर्शिता सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने कहा, ''चौंकाने वाली बात है कि इस हालत में भी केंद्र सरकार की प्राथमिकता 13,450 करोड़ रुपये का सेंट्रल विस्टा और प्रधानमंत्री के लिए नया बंग्ला बनाना है। भला कोई सरकार इतनी निष्ठुर कैसे हो सकती है? जब हमारे प्रधानमंत्री की यह हालत है तो फिर उनके नीचे के अधिकारियों का वही रुख होगा।''

बता दें कि मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का एक हिस्सा दिसंबर 2022 तक बनकर तैयार होना है। दिल्ली में लॉकडाउन के बावजूद इसका काम जारी है और इसे आवश्यक सेवाओं के दायरे में रखा गया है।

India

May 07 2021, 16:25

-of-black-marketing
  

धंधा है पर गंदा हैःदिल्ली में खान चाचा रेस्टोरेंट से 96 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद, कोरोना काल में भी धड़ल्ले से हो रही कालाबाजारी

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है। ऑक्सीजन के बिना लोगों का दम घुट रहा है, इस विपरीत परिस्थिति में भी कालाबाजारी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। लगातार चिकित्सा उपकरण की कालाबाजारी के मामले सामने आ रहे हैं। इसी क्रम में एक मामला खान मार्केट से आया है। दिल्ली पुलिस ने खान मार्केट के खान चाचा रेस्टोरेंट में छापेमारी कर 96 ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर बरामद किए हैं। 

रेस्टोरेंट में ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर का धंधा चल रहा था। यहां से बड़ी मात्रा में मेडिकल उपकरण भी बरामद किए गए।इस मामले के आरोपी हितेश से पूछताछ के बाद पुलिस ने खान मार्केट के टाउन हॉल रेस्टोरेंट में छापेमारी की थी। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

रेस्टोरेंट से 96 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद
खान चाचा रेस्टोरेंट से 96 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मिलने के बाद पुलिस ने रेस्तरां को सील कर दिया है। इस रेस्टोरेंट का मालिक नवनीत कालरा है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। हैरान करने वाली बात यह है कि पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली पुलिस ने राजधानी के 3 नामी-गिरामी रेस्टोरेंट पर छापा मारकर 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जब्त किए हैं। इतनी बड़ी तादाद में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मिलने से हड़कंप मच गया है।

जीवन रक्षक उपकरणों की कालाबाजारी
वहीं दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने दो आरोपियों को कालाबाजारी के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। उनके कब्जे से 10 ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर, 3486 डिजिटल थर्मामीटर, 263 डिजिटल गन थर्मामीटर, 684 ऑक्सीमीटर और 10 नेबुलाइजर जब्त किए हैं। दोनों ने खुलासा किया कि वे जीवन रक्षक उपकरण को उच्च दरों पर बेचा करते थे। 

नांगलोई में दो गिरफ्तार
उधर दिल्ली के नांगलोई में पुलिस ने दो लोगों को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से 15 नकली इंजेक्शन, 34 हजार रुपये नकद, एक ऑक्सीजन कन्सेंट्रेटर और एक कार जब्त की। नांगलोई पुलिस स्टेशन में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

India

May 07 2021, 16:19

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे फेम एक्ट्रेस अभिलाषा पाटिल का निधन
  


   
बॉलीवुड की कई फिल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस अभिलाषा पाटिल का बीती रात कोरोना से निधन हो गया. उनका इलाज चल रहा था. बता दें कि बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के लोग भी लगातार इसकी चपेट में आ रहे हैं. इसी बीच सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म 'छ‍िछोरे'  की को-एक्ट्रेस रहीं अभिलाषा पाटिल का कोरोना से निधन हो गया है. अभिलाषा पाटिल  वाराणसी में अपनी आगामी फिल्म की शूटिंग कर थीं. 

वे जब वापस मुंबई अपने घर लौटीं तो कोविड का शिकार हो गईं. शुरूआती लक्षण दिखने के बाद उन्होंने अपना टेस्ट करवाया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. शुरुआती फेज में एक्ट्रेस अपना इलाज घर पर ही करवा रही थीं. 

बाद में अचानक अभिलाषा पाटिल को सांस लेने में तकलीफ हुई, जिसके चलते उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया. बीते मंगलवार को उनकी तबीयत बिगड़ गई और रात में उनका निधन हो गया.

 अभिलाषा के निधन से मराठी और बॉलीवुड इंडस्ट्री में शोक की लहर है. एक्ट्रेस के करीबी और उनके फैंस उन्हें सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं. 


इन फिल्मों में किया काम
अभिलाषा पाटिल फिल्म 'छ‍िछोरे' का हिस्सा थीं. इससे पहले भी वे कई फिल्मों में नजर आई थीं. 

उन्होंने वरुण धवन-आलिया भट्ट की फिल्म 'बद्रीनाथ की दुल्‍हनिया' में भी काम किया था. वहीं वे अक्षय कुमार कि फिल्म 'गुड न्‍यूज' में अभिनय करती नजर आईं. वे 'मलाल' का भी हिस्सा थीं. एक्ट्रेस ने कई बॉलीवुड और मराठी फिल्मों में काम किया था.

India

May 07 2021, 15:05

-on-last-friday
  

लोगों में अब भी नहीं कोरोना का खौफ, हैदराबाद में नमाज के दौरान गाइडलाइंस की उड़ी धज्जियां

देश में कोरोना वायरस ने त्राही-त्राही मचा दिया है। वायरस की दूसरी लहर में दैनिक मामले हर दिन नया रिकॉर्ड कायम कर रहे हैं। आज एक बार फिर कोरोना के नए केसों ने पुराने सारे रिकॉर्ड रो ध्वस्त कर दिया। गुरूवार को 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 4 लाख 14 हजार 433 नए मामले दर्ज किए गए और 3920 लोगों ने इस बीमारी में जान गंवाई। 

कोरोना की ये लहर पहली लहर से काफी खतरनाक है। थोड़ी से लापरवाही लोगों पर भारी पड़ रही है। हालांकि भय के इस वातावरण में भी लोग महामारी को लेकर बेखोफ नजर आ रहे हैं। समाचार एजेंसी ने हैदराबाद मे लोगों की ऐसी ही बड़ी लापरवाही की तस्वीरें ट्वीट की हैं।

बता दें कि रमजान का पाक महीना चल रहा है। आज रमजान का आखिरी शुक्रवार है। ऐसे में लोगों ने अलविदा जुम्मा की नमाज अदा की।  इस दौरान हैदराबाद में लोग कोरोना से बेखौफ दिखाई दिए। लोग नमाज अदा करते समय मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों को पालन करना भूल गए।

हालांकि देश में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए रमजान के आखिरी शुक्रवार के लिए एडवाइजरी जारी की गई थी। जिसमें कहा गया था कि अलविदा जुम्मा के लिए कोविड 19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है। लेकिन एएआई की ओर से जारी शेयर की गई तस्वीरों में दूर दूर तक ऐसा कुछ ननजर नहीं आ रहा है। 

इन तस्वीरों को देखने के बाद अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में हालात और कितने खराब हो सकते हैं।

India

May 07 2021, 14:00

रायबरेली के सलोन विधायक दल बहादुर कोरी का कोरोना से निधन, भाजपा चौथे नेता की हो चुकी कोरोना से मौत
  




उत्तरप्रदेश के रायबरेली जिला अंतर्गत सलोन विधानसभा क्षेत्र से तीन बार विधायक और एक बार समाज कल्याण राज्य मंत्री रहे दल बहादुर कोरी का लखनऊ के एक अस्पताल में बीते देर रात निधन हो गया। 

बताया जाता है कि  वे कोरोना वायरस से पीड़ित थे। जानकारी के मुताबिक श्री कोरी इलाज के बाद ठीक हो गए थे। लेकिन बाद में उनकी हालत बिगड़ती चली गई। दल बहादुर कोरी ने अपने जीवन का सफर मजदूरी और फिर राजमिस्त्री से लेकर विधायक तक पूरा किया।

 वह सर्व समाज के बीच  लोकप्रिय रहे। लखनऊ के अपोलो हॉस्पिटल में विधायक ने अंतिम सांस ली। उनके निधन से न सिर्फ भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता बल्कि हर वर्ग के लोग स्तब्ध हैं।

 दिवंगत विधायक श्री कोरी अपने विधानसभा क्षेत्र के गांव उदयपुर मजरे पदमपुर बिजौली के मूल निवासी थे। वे 15 दिनों से अपोलो हॉस्पिटल में कोमा में थे।