NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:38

  ेबसाइट
गया के युवक ने चांद पर खरीदी जमीन, खुद को दिया अनोखा तोहफा... || Bodhgaya || Chand pr Jameen |

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:37

  
Mouni Roy ने अपने Dance में दिखाई ऐसी अदाएं की आप भी हो जाएंगे उनके दीवाने ... || Bihar News ||

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:34

बिहार में कोरोना विस्फोट! मंगलवार को मिले 1432 नए मरीज, जाने अपने जिले का हाल…

पटनाः बिहार में भी लगातार मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। मंगलवार को बिहार में कोरोना के 1432 नए मरीज मिले हैं। जिसके बाद बिहार में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 18 हजार 853 हो गई है।


 
जिसकी जानकारी देते हुए बिहार स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि बिहार में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 12 हजार 364 हो गई है। मंगलवार को बिहार में मिले 1432 नए मरीजों में से अररिया से 15, अरवल से 7, औरंगाबाद से 12, बांका से 10, बेगूसराय से 114, भागलपुर से 61, भोजपुर से 45, बक्सर से 26, दगभंगा से 15, पूर्वी चम्पारण से 124, गया से 50, गोपालगंज से 22, जमुई से 31, जहानाबाद से 17, कैमूर से 10, कटिहार से 18, खगड़िया से 43, किशनगंज से 10, लखीसराय से 33, मधेपुरा से 12, मधुबनी से 35, मुंगेर में 48, मुजफ्फरपुर में 54, नालंदा में 107, नवादा से 2, पटना में 162, पूर्णिया से 6, रोहतास से 27, सहरसा से 10, समस्तीपुर से 22, सारण से 37, शेखपुरा से 6, शिवहर से 2, सीतामढ़ी से 5, सिवान से 55, सुपौल से 20, वैशाली से 11, पश्चिमी चंपारण में 58 मिले हैं।



वहीं बात अगर देश की करें तो भारत में तेजी से कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। मंगलवार सुबह 8 बजे तक के स्वास्थ्य विभाग ने आंकड़े जारी किए हैं और इन आंकड़ों के अनुसार अब भारत में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 9 लाख 6 हजार 752 हो गई है। स्वास्थ विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि पिछले 24 घंटे में पूरे देश में 28 हजार 498 नए मरीज मिले हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने यह बताया है कि अब तक कोरोना से कुल 23 हजार 727 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं पिछले 24 घंटे में देश में 553 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:29

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के एक महीने पूरे होने पर अंकिता लोखंडे ने पहली बार शेयर किया पोस्ट, लिखा…

पटनाः बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने पिछले महीने आज ही के दिन इस दुनिया को अलविदा कहा था और मुंबई में वह मृत पाए गए थे। तथाकथित उन्होंने आत्महत्या की थी, हालांकि उनकी मृत्यु को लेकर बिहार में सीबीआई जांच की मांग उठती रही है और लोग सड़कों पर आकर प्रदर्शन करते रहे हैं, लेकिन बात उनकी पुरानी सहयोगी अंकिता लोखंडे की करें तो मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वह उनकी मौत से टूट चुकी है और इससे निकलने की कोशिश कर रही हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही अंकिता लोखंडे सोशल मीडिया गायब रही हैं। वह कहीं दिखाई नहीं दी हैं, लेकिन आज उन्होंने एक पोस्ट शेयर किया है। अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर उन्होंने एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा “भगवान का बच्चा”

एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे ने सुशांत सिंह राजपूत के निधन को एक महीना पूरा होने पर दिये की एक फोटो शेयर की। इस तस्वीर को शेयर करते हुए एक्ट्रेस ने कैप्शन में लिखा, “भगवान का बच्चा.” सुशांत सिंह राजपूत को लेकर अंकिता का यह पोस्ट अब खूब वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे।


आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अंकिता लोखंडे सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद काफी टूट चुकी हैं। वह लगातार खुद को संभालने की कोशिश कर रही हैं। एक महीने से अंकिता किसी भी सोशल मीडिया साइट पर एक्टिव नहीं है। ऐसे में सुशांत के निधन को एक महीना पूरा होने पर एक्ट्रेस इमोशनल होती नजर आईं। सुशांत सिंह राजपूत ने टीवी सीरियरल ‘किस देश में है मेरा दिल’ से अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वह जी टीवी पर आने वाले सीरियल ‘पवित्र रिश्ता’ में भी दिखाई दिए थे। ‘पवित्र रिश्ता’ जैसे सीरिलय से लोगों का दिल जीतने वाले एक्टर ने इसके बाद झलक दिखला जा में अपने अंदाज से लोगों का दिल जीता था। इसके बाद से ही उन्होंने फिल्मों की दुनिया में अपना कदम रखा। सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्म काय पो चे से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। उन्होंने फिल्म ‘काय पो छो’ से बॉलीवुड में कदम रखा था। उनको सबसे ज्यादा लोकप्रियता महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक करने पर मिली थी।

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:27

कोरोना का कहर! PMCH के डॉक्टर की कोरोना के कारण हुई मौत, पटना एम्स में थे भर्ती

पटनाः बिहार में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है और अब अधिक संख्या में नए-नए मरीज मिल रहे हैं। वहीं मरीजों के मरने का आंकड़ा भी अब बढ़ने लगा है। बड़ी खबर राजधानी पटना से निकलकर सामने आ रही है। जहां एक डॉक्टर की कोरोनावायरस के कारण मौत हो गई है। बता दें आपको डॉक्टर पीएमसीएच में पदस्थापित थे और पिछले दिनों कोरोना वायरस से संक्रमति पाए गए थे। जिसके बाद उन्हें आइसोलेट किया गया था। वहीं उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें पटना एम्स में रेफर किया गया था। जहां उनकी मौत हो गई है।


 
बता दें आपको कि पटना पीएमसीएच के डॉक्टर की कोरोना से इलाज के दौरान पटना एम्स में मौत हो गई है। पीएमसीएच के ईएनटी विभाग में पदस्थापित डॉक्टर एन के सिंह कुछ दिन पहले कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद उन्हें आइसोलेट कर दिया गया था। एन के सिंह की हालत बिगड़ने के बाद डॉक्टरों ने पटना एम्स रेफर कर दिया और वहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। खबर के अनुसार पटना एम्स में सोमवार को गया के डॉक्टर समेत तीन कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक संदिग्ध ने भी दम तोड़ दिया। पटना एम्स के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि गया निवासी डॉक्टर डॉ. अश्विनी कुमार (59) वहां के कोतवाली थाने के रामानंदपुर के रहने वाले थे। गया में निजी प्रैक्टिस करते थे। बीमार पड़ने पर दो जुलाई को पटना एम्स में भर्ती करो गए थे। उनकी स्थिति काफी गंभीर थी। उनके अलावा खगड़िया जिले के बेलदौर निवासी उदय कुमार भागवत (65) और सारण के राउजा निवासी अवधेश मिश्रा (61) की मौत हो गई है। वहीं, आइसोलेशन वार्ड में संदिग्ध के रूप में भर्ती महिला शकुंतला देवी (55) ने दम तोड़ दिया। हालांकि शव का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। उधर, सोमवार को 162 लोगों का फ्लू जांच हुआ, जिनमें 45 पॉजिटिव पाए गए हैं। 41 संदिग्धों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गए हैं।


आपको बता दें कि सोमवार को बिहार स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी कि गए आकड़ों के अनुसार बिहार में सबसे अधिक पटना से मरीज मिले हैं। पटना से 2 हजार 97 मरीज अब तक मिल चुके हैं। जिनमें से 15 मरीजों की मौत हो चुकी है। जिनमें से 1172 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 91

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:23

“भागलपुर बिहार का एक ऐसा जिला है जिसका पूरा प्रशासन कोरोना पॉज़िटिव” ये कहते हुए कहा गया ये….

पटनाः देश और दुनिया में कोरोना का संकट बढ़ते जा रहा है। इस बीच बात अगर बिहार की करें तो बिहार में कोरोना के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। एक तरफ कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है तो वहीं दूसरी तरफ कोरोनावायरस को लेकर बिहार में सियासत गर्म है। पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर वार कर रहे हैं। इस बीच बिहार के मुख्य विपक्षी पार्टी राजद ने कोरोनावायरस को लेकर एक बार फिर से सरकार पर हमला बोला है। बता दें आपको कि राष्ट्रीय जनता दल के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा गया है कि “बिहार सरकार की प्राथमिकता बिहार चुनाव है, इसीलिए सारा ध्यान कोरोना से हो रही मौतों को छुपाने और आँकड़ा कम दिखाने पर है!”


बता दें आपको कि इससे पहले आरजेडी भागलपुर के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा गया कि “भागलपुर बिहार का एक ऐसा जिला है जिसका पूरा प्रशासन कोरोना पॉज़िटिव हो गया है! DM, उनका पूरा परिवार, DDC, SP, नगर आयुक्त सभी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं! ये बड़े लोग हैं सो इनका जाँच हो गया! आम जनता का जाँच तक नहीं हो रहा! ऐसे में मृत्यु पर सरकार कोई दूसरा ही कारण बता देती है!”

आपको बता दें कि इससे पहले नेता प्रतिपक्ष यादव तेजस्वी यादकव लगातार सरकार पर कोरोना को लेकर हमला करते रहे हैं। लगातार वह कोरोनावायरस को लेकर जांच की कैपेसिटी बढ़ाने की मांग करते रहे हैं, लेकिन तेजस्वी यादव ने यह भी आरोप लगाया है कि सरकार उनकी बातों को नहीं सुन रही है और कोरोना आज तेजी से फैल रहा है। उन्होंने लगातार सरकार को लापरवाह बताया है। वहीं सोमवार को बिहार स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी कि गए आकड़ों के अनुसार बिहार में सबसे अधिक पटना से मरीज मिले हैं। पटना से 2 हजार 97 मरीज अब तक मिल चुके हैं। जिनमें से 15 मरीजों की मौत हो चुकी है। जिनमें से 1172 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 910 फिलहाल एक्टिव मरीज हैं। पटना के बाद दूसरे स्थान पर भागलपुर है जहां से अब तक 1 जहार 74 मरीज मिल चुके हैं। जिनमें से 625 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 12 मरीजों की मौत हो चुकी है।

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:20

कानपुर शूटआउटः विकास दुबे के घर से मिली एके-47, एक और आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार


कानपुरः कानपुर शूटआउट के एक और आरोपी शशिकांत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों से लूटे गए हथियारों को बरामद कर लिया गया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा कि पुलिस से लूटे कई हथियार बिकरू गांव से बरामद कर लिए गए हैं। विकास दुबे के घर से एके-47 और 17 कारतूस मिले हैं। एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि बिकरू कांड के एक और आरोपी शशिकांत को गिरफ्तार कर लिया गया है। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम था। शशिकांत के खुलासे के बाद पुलिस ने विकास दुबे के घर से एके-47 और 17 कारतूस बरामद कर लिया है। इसके साथ ही शशिकांत के घर से इंसास राइफल मिली है।

 
एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कानपुर पहुंचकर इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम ने कानपुर शूटआउट मामले में एक और 50 हजार का इमामी शशिकांत उर्फ सोनू को गिरफ्तार किया है। एडीजी ने बताया कि शशिकांत भी बिकरू गांव का रहने वाला है। उसे पुलिस ने चौबेपुर से गिरफ्तार किया है। पूछताछ में उसने कुबूल किया है कि घटना के दिन वह विकास दुबे के साथ उसके घर पर था। इतना ही नहीं, उसने पूछताछ में अन्य लोगों के नाम के साथ उनकी भी घटना में संलिप्तता बताई है।


एडीजी ने बताया कि इस मामले में 21 अभियुक्त नामजद थे, जिनमें से ज्ञान यादव, दयाशंकर अग्निहोत्री और शशिकांत दुबे को गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपी विकास दुबे समेत छह अभियुक्त एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं। 11 अभियुक्तों की तलाश जारी है। वहीं दो अभियुक्त गुड्डन त्रिवेदी और सोनू जो महाराष्ट्र से पकड़े गए हैं, उन्हें रिमांड पर लेकर पुलिस यूपी आ रही है, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:19

उत्तर बिहार में मंडराने लगा बाढ़ का खतरा! कई मार्गों पर पानी बहने से आवागमन ठप


पटनाः देश और दुनिया में कोरोना का संकट बढ़ते जा रहा है। वहीं बात अगर बिहार की करें तो बिहार में एक तरफ कोरोना का कहर जारी है तो वहीं दूसरी तरफ अब लोगों को बाढ़ का डर सताने लगा है। बता दें आपको कि उत्तर बिहार की कई नदियां उफान पर हैं। जिससे बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। वहीं बाढ़-कटाव और विस्थापन का संकट भी बढ़ने लगा है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार बिहार में हो रही बारिश के कारण नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो रही है। जिसके कारण कई नदियां खतरे के निशान के पास पहुंच गई हैं। खास करके उत्तर बिहार की नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो रही है जिससे बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

 
बात उत्तर बिहार की करें तो उत्तर बिहार में उफनाती नदियों की मार से तटबंधों के टूटने-कमजोर पड़ने से गांवों के कटने का भी खतरा बढ़ गया है। सोमवार को कई मार्गों पर पानी बहने से आवागमन ठप रहा। गंडक, बागमती, लखनदेई के अलावा नेपाल से आती कई छोटी नदियां तबाही मचा रही हैं। वहीं खबर आ रही है कि जिलों में अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं और एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की टीम को अलर्ट कर दिया गया है। पूर्वी चंपारण में रमगढ़वा के पास तिलावे नदी का तटबंध टूटने से कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। संग्रामपुर में तटबंध पर पानी का दबाव काफी बढ़ गया है। वहीं सुगौली में विशुनपुर चका पर पानी चार फीट चढ़ गया है। जिले के आधा दर्जन प्रखंड बाढ़ की चपेट में आ गये हैं।

वहीं पश्चिम चंपारण में वाल्मीकिनगर बराज से इस वर्ष अबतक का सर्वाधिक 2.73 लाख क्यूसेक पानी गंडक में छोड़ा गया। जिले के मधुबनी, पिरपरासी, ठकराहा, भितहा, बैरिया व नौतन में बाढ़ का पानी फैल रहा है।  लौरिया मों अशोक स्तंभ के चारों ओर बाढ़ का पानी फैलने लगा है। मसान नदी से गांव को बचाने के लिए तमकुही में लोग धार मोड़ने के लिए बालू की बोरी नदी में डाल रहे हैं। ​इधर, मुजफ्फरपुर में बागमती केअलावा लखनदेईव मनुषमारा भी कहर ढाने लगी है। बागमती की पेटी में बसे करीब डेढ़ हजार घरों में पानी घुस गया है। औराई, कटरा व गायघाट अधिक संकट है। बौराई के बाड़ा बुजुर्ग, बाड़ा खुर्द, महुआरा, मधुबन प्रताप, चैनपुर, राघोपुर, तरबन्ना, बभनगामा पश्चिमी, चहुंटा, कश्मी

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:17

देश में कोरोना के मरीजों की संख्या पहुंची 9 लाख के पार, अब तक हुई 23 हजार से ज्यादा की मौत

दिल्लीः देश और दुनिया में कोरोना का संकट चल रहा है। भारत में तेजी से कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। मंगलवार सुबह 8 बजे तक के स्वास्थ्य विभाग ने आंकड़े जारी किए हैं और इन आंकड़ों के अनुसार अब भारत में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 9 लाख 6 हजार 752 हो गई है। स्वास्थ विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि पिछले 24 घंटे में पूरे देश में 28 हजार 498 नए मरीज मिले हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने यह बताया है कि अब तक कोरोना से कुल 23 हजार 727 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं पिछले 24 घंटे में देश में 553 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

 
केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग ने आंकड़ा जारी करते हुए बताया कि मंगलवार सुबह 8 बजे तक देश में कुल एक्टिव केस की संख्या 3 लाख 11 हजार 565 हो गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में देश में 9 हजार 956 एक्टिव केस सामने आए हैं। इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी देते हुए बताया है कि देश में 5 लाख 71 हजार 460 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। पिछले 24 घंटे की बात करें तो पिछले 24 घंटे में देश में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 17 हजार 989 है।


देश और बिहार में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसलिए NEWS ONE11 आपसे अपील करता है कि आप अपना ख्याल रखें। बेहद जरूरी ना हो तो आप अपने घर से ना निकले। मास्क का प्रयोग जरूर करें। अपने हाथों को धोते रहें, सैनिटाइज करते रहें। यही वे एकमात्र तरीका है जिससे कोरोना को रोका जा सकता है। आप अपना ख्याल रखिए अपने परिवार का ख्याल रखिए तभी आप दूसरों का भी ख्याल रख पाएंगे।

NEWSONE11

Jul 14 2020, 16:16

पटना एम्स में को-वैक्सीन का ट्रायल शुरू, पहले दिन 10 लोगों पर हुआ ट्रायल, जाने क्या है स्थिति

पटनाः देश और दुनिया में कोरोना का संकट बढ़ते जा रहा है। वहीं बात अगर बिहार की करें तो बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, लेकिन इस बीच बिहार की राजधानी पटना में स्थित एम्स में सोमवार से कोरोना के वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो गया है। एम्स के अधिकारियों ने बताया है कि पहले दिन राज्य के अलग-अलग जिलों के 10 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल किया गया है। सभी 10 लोग अपनी मर्जी से इस ट्रायल में शामिल हुए थे।एम्स के प्रशासन कि माने तो सभी इच्छुक लोग जिनकी उम्र 18 साल से 55 साल के बीच में है, वह अपनी मर्जी से कोरोना के वैक्सीन के ट्रायल में शामिल हो सकते हैं। वहीं एम्स प्रशासन ने लोगों से इसके ट्रायल में शामिल होने की अपील भी की है। वहीं एम्स के अधीक्षक ने इसके लिए एक मोबाइल नंबर भी जारी किया है वह मोबाइल नंबर 9471408832 है। इस मोबाइल नंबर पर आप भी फोन करके स्वेच्छा से ट्रायल में शामिल हो सकते हैं।

 
एम्स अधीक्षक डॉ. सीएम सिंह ने बताया कि सोमवार की सुबह इन 10 लोगों को वैक्सीन दी गई। इनके स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखी जाएगी। वैक्सीन का इनलोगों के शरीर पर क्या असर हो रहा है, इसका अध्ययन के लिए भी डॉक्टरों की टीम गठित की गई है। जिन लोगों को वैक्सीन दिया जाएगा, उनकी रिपोर्ट तैयार कर आईसीएमआर को भेजी जाएगी। उन्होंने बताया कि अलग-अलग लोगों पर इस वैक्सीन का ट्रायल जारी रहेगा। मालूम हो कि हैदराबाद की भारत बायोटेक और आईसीएमआर ने संयुक्त रूप से भारत में कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन को तैयार किया है।



आपको बता दें कि इस वैक्सीन का ट्रायल पटना एम्स के साथ साथ देश के 13 अलग-अलग संस्थानों और कोरोना के विशेषज्ञ चिकित्सकों के माध्यम से किया जा रहा है। सभी संस्थानों की रिपोर्ट के आधार पर ही वैक्सीन को आम लोगों के लिये लॉन्च किया जाएगा। मानव पर ट्रायल से पहले इस वैक्सीन का कई तरह के जानवरों पर भी ट्रायल किया जा चुका है। उनमें किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखने के बाद इसे मानव पर ट्रायल करने के लिए जारी किया गया है।