kolkata

Jun 09 2022, 16:52

आइसीएआइ का वित्तीय व कर साक्षरता अभियान शुरू

कोलकाता: इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने "आज़ादी का अमृत महोत्सव", भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल, की तहत सीए रवि कुमार पटवा अध्यक्ष,ईआईआरसी (आईसीएआई) एवं संस्थान के अन्य अधिकारियों ने आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में वित्तीय और कर साक्षरता अभियान शुरुआत की. आईसीएआई की ईस्टर्न इंडिया रीजनल कौंसिल ने सात जून 2022 को जन जागृति अभियान की भावना को ध्यान में रखते हुए आईसीएआई भवन, रसेल स्ट्रीट के आस-पास के क्षेत्रों में एक पद यात्रा का आयोजन किया, जहां पट्टिका धारण करने वाले प्रतिभागियों ने 'डिजिटल धोखाधड़ी से सावधान रहें', 'पोंजी योजनाओं में मत फंसो', 'घोटाला मत करो लेकिन स्कैन करो' जैसे नारे लगाए. 'अपना ओटीपी साझा न करें', 'अपना सीवीवी कभी साझा न करें', 'व्यवस्थित निवेश, उचित बचत' आदि.

इस वित्तीय और कर साक्षरता अभियान का नाम “वित्तीय ज्ञान आइसीएआई का अभियान” रखा गया है, ताकि देश के नागरिकों को वित्तीय प्रणाली के विभिन्न पहलुओं, व्यक्तिगत वित्त प्रबंधन के तरीकों, वित्तीय कल्याण और बुनियादी कर अनुपालन और लेखांकन के बारे में शिक्षित किया जा सके. इस दौरान 12 भाषाओं-अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, मराठी, बंगाली, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, ओडिया, उर्दू और पंजाबी में एक बहुभाषी वेबसाइट शुरू की गई है.


kolkata

Jun 08 2022, 20:12

एसएससी माध्यम नियुक्ति मामला : एक और मामले की जांच सीबीआई को

कोलकाता. राज्य में स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के माध्यम से हुई नियुक्तियों की जांच सीबीआई कर रही है. इसी बीच, हाइकोर्ट में एसएससी के माध्यम से नियुक्ति में और भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है और हाइकोर्ट के न्यायाधीश राजशेखर मंथा ने उक्त मामले की जांच का जिम्मा भी सीबीआई को सौंप दिया है. उल्लेखनीय है कि कलकत्ता हाइकोर्ट के आदेश पर सीबीआई राज्य के दो मंत्री पार्थ चटर्जी और परेश चंद्र अधिकारी से पूछताछ कर चुकी है.

अब एक बार फिर कलकत्ता उच्च न्यायालय ने सीबीआई को एक भर्ती मामले की जांच करने का निर्देश दिया है. आरोप है कि पैनल में नाम नीचे होने के बावजूद सिद्दिकी गाजी नामक शख्स को एसएससी के माध्यम से नौकरी मिल गई. बुधवार को हाइकोर्ट के न्यायाधीश राजशेखर मंथा की एकल पीठ पर मामले की सुनवाई हुई और न्यायाधीश ने आरोपी शिक्षक को नौकरी से बर्खास्त करने और इसके साथ ही पूरे मामले की सीबीआई जांच करने का भी आदेश दिया.

हालांकि, इसके पहले एसएससी के माध्यम से नियुक्ति से संबंधित मामलों की सुनवाई न्यायाधीश अभिजीत गांगुली की पीठ पर होती थी, लेकिन कोर्ट ने रूटीन बदली के तहत अब एसएससी संबंधी मामलों की सुनवाई न्यायाधीश राजशेखर मंथा की पीठ में शिफ्ट कर दी है. बताया गया है कि मेरिट लिस्ट में जिस अभ्यर्थी का नाम 200 नंबर पर था, उसे नियुक्ति ही नहीं मिली. जबकि 275 नंबर पर रहने वाले अभ्यर्थी सिद्दिकी गाजी को शिक्षक के तौर पर नियुक्त कर दिया गया.

बुधवार को मामले की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार के अधिवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि जिन अभ्यर्थियों का पैनल में नाम था, लेकिन उनकी नियुक्ति नहीं हुई, उनके लिए 3500 पदों का सृजन किया गया है. इस पर न्यायाधीश ने कहा कि एक रोग को छिपाने के लिए, कहीं दूसरा रोग तो नहीं फैलाया जा रहा. हालांकि, न्यायाधीश ने नये पदों पर नियुक्तियों के संबंध में कोई आदेश नहीं दिया.


kolkata

Jun 08 2022, 19:34

लोगों को मूर्ख बनाने के लिए चुनाव से पहले कल्याणकारी योजनाओं का वादा करती है भाजपा : बनर्जी

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि चुनावों से पहले अलग राज्य बनाने और विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं लाने के वादे करके आम लोगों को मूर्ख बनाया जाता है, लेकिन बाद में ये वादे कभी पूरे नहीं होते. ममता बनर्जी ने भाजपा का नाम लिए बगैर कहा कि लोग आवश्यक वस्तुओं की ‘‘रोजाना बढ़ रही कीमतों'' से परेशान हैं.

ममता बनर्जी ने यहां एक सामूहिक विवाह कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘ आपने देखा है कि गैस के दाम कितने बढ़ गए हैं? ‘उज्ज्वला' योजना कहां है? यह गायब हो गई है. फिर से जब चुनाव पास होंगे, वे आपसे एक अलग राज्य बनाने, एक अन्य ‘उज्ज्वला' योजना लाने या चाय बागानों की खरीदारी का वादा करेंगे.''

उन्होंने कहा, ‘‘वे चुनाव से पहले बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और देखिए अब क्या हो रहा है, देश की मौजूदा स्थिति क्या है और बढ़ती महंगाई किस प्रकार आमजन को प्रभावित कर रही है.'' मुख्यमंत्री ने कल्याणकारी योजनाओं के लिए धन जारी नहीं करने और राज्यों को गेहूं की आपूर्ति ‘‘रोकने'' के लिए भी केंद्र सरकार की आलोचना की.


kolkata

Jun 08 2022, 17:54

मुकुल राय की सदस्यता रद्द करने की याचिका को विधानसभा अध्यक्ष ने किया खारिज

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हुए विधायक मुकुल रॉय की सदस्यता खारिज करने की बीजेपी की याचिका को विधानसभा के अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने खारिज कर दी. दलबदल कानून के तहत सुनवाई करते हुए विधानसभा स्पीकर बिमान बनर्जी ने कहा कि पेश किए गए तथ्यों और प्रमाणों से साफ है कि मुकुल रॉय फिलहाल बीजेपी में हैं. उन्होंने पार्टी नहीं बदली है. इस तरह से उनके विधायक पद खारिज करने का कोई मसला नहीं है.

बता दें कि मुकुल रॉय सार्वजनिक रूप से बीजेपी छोड़कर टीएमसी में शामिल हुए थे. इसके खिलाफ शुभेंदु अधिकारी ने याचिका दायर की थी. हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की गयी थी. हाईकोर्ट के निर्देश के बाद दूसरी ओर स्पीकर ने यह फैसला सुनाया.

बता दें कि भाजपा के चुनाव चिह्न पर विधानसभा चुनाव में जीत के बाद मुकुल रॉय ने पाला बदल लिया था. इस मामले में कलकत्ता हाइकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक चली कानूनी लड़ाई के बाद फैसला लेने का अधिकार विधानसभा अध्यक्ष को ही दिया गया था. उसी मामले की सुनवाई करते हुए स्पीकर ने यह फैसला किया.

पिछले साल 11 जून को टीएमसी में शामिल हुए थे मुकुल रॉय

मुकुल रॉय पिछले साल 11 जून को भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हो गए थे. तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय तृणमूल भवन में उस अवसर पर खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उपस्थित थीं. मुकुल रॉय को अभिषेक बनर्जी पार्टी में शामिल करवाया था.

उसके बाद मुकुल रॉय को विधासनभा में पीएसी का चेयरमैन बनाया गया था, जिस पर बीजेपी ने आपत्ति जताई थी. उसके बाद बीजेपी ने मुकुल रॉय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था.नेता प्रतिपक्ष शुुभेन्दु अधिकारी ने उसी समय विधानसभा अध्यक्ष से उनके विधायक पद को खारिज करने की मांग की थी. इस बाबत उन्होंने विधानसभा के साथ-साथ हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की थी.


kolkata

Jun 08 2022, 17:49

पश्चिम बंगाल में निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के लिये टीईटी अभ्यर्थियों को हिरासत में लिया गया

कोलकाता : यहां निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर राज्य सचिवालय के सामने एकत्र होने का प्रयास करने के लिये लगभग 10 युवकों को पुलिस ने बुधवार को हिरासत में ले लिया. युवकों का दावा है कि वे शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) उत्तीर्ण कर चुके हैं, लेकिन अब तक उन्हें नौकरी नहीं मिली है. पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि युवक अचानक सचिवालय के बाहर आ गये और तुरंत नियुक्ति की मांग करने लगे.

उन्होंने बताया कि वहां मौजूद पुलिसकर्मी तुरंत हरकत में आए और प्रदर्शनकारियों को पुलिस वाहन में ले गए. कुछ साल पहले टीईटी की परीक्षा उत्तीर्ण करने का दावा करने वाली जोयिता बासक ने कहा, ''हम शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु से मिलना चाहते थे क्योंकि हमें पता चला था कि वह इस समय सचिवालय में होते हैं. हम शिक्षा विभाग को अपना ज्ञापन सौंपना चाहते थे. लेकिन पुलिस हमारे शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन को कुचल रही है.'' प्राथमिक विद्यालयों में नियुक्ति के लिये टीईटी की परीक्षा आयोजित की जाती है.


kolkata

Jun 08 2022, 14:38

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बंदे मातरम भवन का किया दौरा

–कहा : बंकिम चंद्र चटर्जी ने सारे देश को एक दृष्टि व दिशा दी

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद से भाजपा में मची उथल-पुथल के बीच राज्य के दो दिवसीय दौरे पर आए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आज सबसे पहले हुगली जिले के चुंचुड़ा में स्थित वंदे मातरम भवन का दौरा किया. यहां उन्होंने हमारे राष्ट्रीय गीत वन्दे मात्रम के रचयिता बंकिम चंद्र चटर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान उन्होंने वंदे मातरम भवन को घूम कर देखा और एक- एक चीज को बारीकी से देखा. इसके बाद यहां पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने कहा- भारत की महान विभूती बंकिम चंद्र चटर्जी की कर्म स्थली पर आने का सौभाग्य मिला है.

उन्होंने अपने जीवन के पांच साल इस स्थान पर गुज़ारे और बहुत सी रचनाओं को कार्यरूप दिया. नड्डा ने कहा कि बंकिम चंद्र चटर्जी ने सारे देश और बंगाल को एक दृष्टि और दिशा दी. उन्होंने आगे कहा कि हमारा राष्ट्रीय गीत वन्दे मात्रम हमारे देश की आज़ादी का मंत्र बना, जो यहीं गंगा और हुगली नदी के तट पर बंकिम चंद्र चटर्जी ने रचा था. ऐसे स्थान पर आकर मैं अभिभूत और गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं. नड्डा ने इसके बाद इसी जिले के चंदननगर में स्थित रासबिहारी बोस अनुसंधान संस्थान का भी दौरा किया. नड्डा आज कोलकाता के नेशनल लाइब्रेरी में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का उद्घाटन करेंगे. उद्घाटन सत्र को संबोधित करने के बाद नड्डा शाम में भाजपा नेताओं के साथ क्लोज डोर मीटिंग भी करेंगे.

गौरतलब है कि अगले दो दिनों तक नड्डा का बंगाल में व्यस्त कार्यक्रम है और वह आपसी अंतर्कलह से जूझ रही पार्टी को फिर से यहां एकजुट करने की कोशिश करेंगे. नड्डा राज्य के दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार देर शाम कोलकाता पहुंचे. यहां पहुंचने पर प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी सहित अन्य नेताओं ने एयरपोर्ट पर उनका जोरदार स्वागत किया. कार्यकर्ताओं ने इस दौरान उनपर फूल भी बरसाए. ढोल नगाड़ों के साथ उनका स्वागत किया गया. इस दौरान उनके स्वागत के लिए एयरपोर्ट के बाहर मौजूद बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनके पहुंचने पर जमकर जय श्रीराम के नारे लगाए.

नड्डा अगले दो दिनों तक आठ और नौ जून को बंगाल में पार्टी के विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. बताया गया कि इस दौरे में नड्डा पार्टी नेताओं के साथ संगठनात्मक बैठकें कर आपसी अंतर्कलह से जूझ रही पार्टी को फिर से यहां एकजुट करने की कोशिश करेंगे और ममता सरकार के खिलाफ लड़ाई की रणनीति तैयार करेंगे. उनके दौरे को 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर संगठन को मजबूत व एकजुट करने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है. नड्डा, प्रदेश नेतृत्व से नाराज चल रहे वरिष्ठ नेता दिलीप घोष जैसे अन्य विक्षुब्ध नेताओं के साथ भी बैठक करेंगे. प्रदेश अध्यक्ष मजूमदार ने बताया कि उनके दौरे से पार्टी के कार्यकर्ताओं व नेताओं का मनोबल बढ़ेगा.


kolkata

Jun 07 2022, 17:59

मवेशी तस्करी मामले में केंद्र सरकार की भूमिका पर सवाल उठाते हुए याचिका दायर

कोलकाता. राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों से मवेशियों की तस्करी के मामले में अब केंद्र सरकार की भूमिका पर सवाल उठने लगे हैं. कलकत्ता हाइकोर्ट के अधिवक्ता रमा प्रसाद सरकार ने केंद्र की भूमिका पर सवाल उठाते हुए हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है. इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को भी शामिल किया गया है.

अधिवक्ता रमा प्रसाद सरकार ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों से मवेशी तस्करी जारी है, जबकि यहां सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्र सरकार के अधीनस्थ सुरक्षा एजेंसियां सीआइएसएफ व बीएसएफ के पास है. उन्होंने अपनी याचिका में कहा है कि सीमा पर बीएसएफ या सीआइएसएफ के रहते हुए कैसे तस्करी जारी है. जानकारी के अनुसार, इस मामले पर इसी सप्ताह मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ पर सुनवाई होने की संभावना है.


kolkata

Jun 07 2022, 17:45

को-ऑपरेटिव बैंकों में हुई नियुक्तियों पर भी सवाल, हाइकोर्ट में मामला

कोलकाता. स्कूलों के बाद अब राज्य के सहकारी बैंकों में भी नियुक्तियों पर सवाल उठे हैं. सहकारी बैंकों की नियुक्तियों में व्यापक धांधली का आरोप लगाते हुए मामला कलकत्ता हाइकोर्ट में चला गया है. आरोप है कि मेदिनीपुर के तमलुक-घाटाल सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के विभिन्न विभागों में 134 कर्मचारियों की गलत ढंग से नियुक्ति की गयी है. सहकारी बैंक में नियुक्तियों के खिलाफ भाजपा नेता आशीष मंडल ने अधिवक्ता बिक्रम बंद्योपाध्याय के जरिये हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है. इल्जाम लगाया है कि बैंक के ग्रुप ए, बी व सी तीनों श्रेणियों में 134 कर्मचारियों की नियुक्ति निर्धारित नियमों को ताख पर रख कर की गयी है.

याची का तर्क है कि नियमानुसार को-ऑपरेटिव सर्विस कमीशन की अनुशंसा पर सहकारी बैंकों में भी नियुक्ति की जाती है. पर ये नियुक्तियां कमीशन की सिफारिश के बिना की गयी हैं. अधिवक्ता बिक्रम बंद्योपाध्याय का दावा है कि राज्य के कई सहकारी बैंकों में अवैध तरीके से नियुक्तियां की गयी हैं.

मंगलवार को मामला हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव व न्यायाधीश राजर्षि भारद्वाज की खंडपीठ में सुनवाई के लिए आया. इसके बाद खंडपीठ ने मामले में चिह्नित सहकारी बैंक के चेयरमैन व सचिव को भी पक्षकार बनाने का निर्देश दिया. साथ ही जिन 134 लोगों की नियुक्तियों पर सवाल उठे हैं, उन्हें भी मामले में शामिल करने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई दो अगस्त को हाइकोर्ट में होगी.


kolkata

Jun 07 2022, 15:35

एशियाई कप क्वालीफायर्स : साल्टलेक स्टेडियम में कंबोडिया पर बड़ी जीत दर्ज करने उतरेगा भारत

कोलकाता. करिश्माई स्ट्राइकर सुनील छेत्री की अगुवाई में भारत पांचवीं बार एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) एशियाई कप फाइनल्स में जगह बनाने की कवायद में बुधवार को यहां कम रैंकिंग वाले कंबोडिया के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करके अपने अभियान की शानदार शुरुआत करने की कोशिश करेगा. छेत्री इस मैच में अपना 80वां गोल करने की कोशिश करेंगे.

क्रिस्टियानो रोनाल्डो (188 मैचों में 117 गोल) और लियोनेल मेस्सी (162 मैचों में 86 गोल) दनादन गोल दागे जा रहे हैं. इन दोनों से किसी की तुलना नहीं की जा सकती है लेकिन छेत्री के पास इस टूर्नामेंट में मेस्सी से आगे निकलने का मौका होगा. भारतीय टीम विश्व रैंकिंग में अभी 106वें स्थान पर है जबकि कंबोडिया उससे 65 स्थान नीचे 171वें स्थान पर है. ग्रुप डी में इन दो टीम के अलावा अफगानिस्तान (150) और हांगकांग (147) शामिल हैं.

ऐसे में छेत्री के पास गोल करने के मौके होंगे. छेत्री अपने करियर के अवसान पर हैं और एशियाई कप के लिये क्वालीफाई करना इस 37 वर्षीय कप्तान के लिये विशेष होगा. चीन के हटने के कारण अगला एशियाई कप 2023 के आखिर या 2024 में होगा और ऐसे में छेत्री इसे अपने शानदार करियर का ‘अंतिम किला' मान सकते हैं. छेत्री ने अपने 126वें मैच से पहले इरादे स्पष्ट करते हुए कहा, ‘‘मैं क्वालीफाई करना चाहता हूं. अगर मैं वहां नहीं रहूंगा, तो मेरा देश होगा. या तो मैं बियर पीते हुए उदांता को दौड़ लगाते हुए देखूंगा या आप बियर पी रहे होंगे और मैं वहां दौड़ूंगा.''

इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता के क्वालीफाईंग मैचों से पहले भारत का प्रदर्शन अनुकूल नहीं रहा. उसने इससे पहले जो तीन अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच खेले उन सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा. यही नहीं इस बीच उसे इंडियन सुपर लीग की टीम एटीके मोहन बागान से 1-2 से हार मिली जबकि उसने आई लीग ऑल स्टार्स टीम को 2-1 से हराया लेकिन संतोष ट्राफी के उप विजेता बंगाल ने उसे 1-1 से ड्रा पर रोका.

भारतीय टीम ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना आखिरी मैच सात महीने से भी अधिक समय पहले जीता था जब उसने 16 अक्टूबर 2021 को सैफ चैंपियनशिप के फाइनल में नेपाल को 3-0 से हराया था. लेकिन हाल के परिणाम इगोर स्टिमक की कोचिंग वाली टीम के लिये बेहद निराशाजनक रहे. छेत्री ने अपने साथियों को आगाह कर दिया है कि अगर वे कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो आधी जंग यहीं पर हार जाएंगे. छेत्री ने कहा, ‘‘ हम पहला मैच उनसे खेल रहे हैं. अगर हम कंबोडिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं, तो इसका मतलब आप अपनी आधी लड़ाई हार गए हैं.''

उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक, हम केवल कंबोडिया के बारे में सोच रहे हैं, जितना संभव हो उतने वीडियो देख रहे हैं. एक बार जब हम यह मैच खेल लेंगे तो फिर अफगानिस्तान के बारे में सोचेंगे. निसंदेह, अफगानिस्तान भी मजबूत है. '' हाल के दिनों में स्टिमक के लिए सबसे बड़ा झटका रहीम अली की चोट रही है, जिन्होंने छेत्री के साथ मिलकर अग्रिम पंक्ति को हमलावर बनाना शुरू कर दिया था. जैसे ही उन्होंने जेजे लालपेखुला के स्थान को भरना शुरू किया उन्हें मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बाहर होना पड़ा. एएफसी कप में हैट्रिक जमाने वाले एटीके मोहन बागान के फॉरवर्ड लिस्टन कोलासो, मनवीर सिंह और उदांता सिंह कुछ विकल्प दे सकते हैं लेकिन अली के गेंद पर नियंत्रण और सटीक पासिंग का मुकाबला करना मुश्किल है.

यह देखना दिलचस्प होगा कि छेत्री इससे कैसे निपटते हैं क्योंकि वे पांचवें एशियाई कप के लिए क्वालीफाई करना चाहते हैं. अफगानिस्तान ग्रुप डी के पहले मैच में शाम चार बजकर 30 मिनट पर हांगकांग से भिड़ेगा, जिसके बाद रात 8.30 बजे से भारत और कंबोडिया का मैच खेला जाएगा.


kolkata

Jun 07 2022, 15:30

अपना खून बहा दूंगी, लेकिन बंगाल बांटने नहीं दूंगी : ममता

कोलकाता/अलीपुरद्वार. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कुछ नेताओं द्वारा पश्चिम बंगाल से अलग राज्य बनाने की मांग के मद्देनजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि राज्य को विभाजित करने की कोशिशों को विफल करने के वास्ते जरूरत पड़ने पर वह अपना खून तक बहाने के लिए भी तैयार हैं. ममता बनर्जी ने भाजपा पर 2024 के आम चुनाव से पहले राज्य में ‘‘अलगाववाद'' को बढ़ावा देने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर बंगाल में सभी समुदाय के लोग दशकों से एक-दूसरे के साथ मिलकर रह रहे हैं, लेकिन भाजपा लोगों को बांटने की कोशिश कर रही है.

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ने पार्टी की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव करीब आने के साथ ही भाजपा अलग राज्य की मांग कर रही है. भाजपा कभी गोरखालैंड की मांग कर रही है, तो कभी अलग उत्तर बंगाल की मांग कर रही है. मैं जरूरत पड़ने पर अपना खून तक बहाने के लिए तैयार हूं, लेकिन राज्य को कभी विभाजित नहीं होने दूंगी.''

कामतापुर लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन के नेता जीवन सिंघा द्वारा एक कथित वीडियो के जरिए कामतापुर की मांग नहीं मानने पर मुख्यमंत्री को ‘‘रक्तपात'' की धमकी देने के मामले पर बनर्जी ने कहा कि वह इस तरह की धमकियों से नहीं डरती हैं. उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग मुझे धमकी दे रहे हैं, मुझे इसकी परवाह नहीं है. मैं इस तरह की धमकियों से नहीं डरती.''