uttarpradesh

Nov 25 2021, 12:11

अखिलेश की अपील, बोले- हर महीने की 30 तारीख को ‘हाथरस बेटी स्मृति दिवस’ मनाए पार्टी कार्यकर्ता और सहयोगी दल

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पिछले साल हाथरस में हुए रेप कांड को सियासी मुद्दा बनाने की तैयारी में हैं। उन्होंने आज ट्वीट कर पार्टी कार्यकर्ता और सहयोगी दलों से हर महीने की 30 तारीख को ‘हाथरस की बेटी स्मृति दिवस’ मनाने की अपील की। उन्होंने लिखा है कि जिस तरह से यूपी की बीजेपी सरकार ने पिछले साल सितंबर में बलात्कार पीड़िता के शव को जलाने का कुकृत्य किया था, उसकी याद सरकार को दिलाए। अखिलेश यादव ने लिखा है कि हाथरस की घटना से बीजेपी का दलित व महिला विरोधी चेहरा बेनक़ाब हुआ है। 

बता दें कि यूपी में चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी छोटे छोटे मामलों को उठाकर योगी सरकार को लगातार गेर रही है।  दरअसल पिछले साल 14 सितंबर को राज्य के हाथरस जिले में चार लोगों ने एक युवती के साथ गैंगरेप किया था और उसके बाद उसकी बेरहमी से पिटाई की थी।वहीं इलाज के दौरान 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेप पीड़िता की मौत हो गई तो राज्य हाथरस पुलिस ने परिवार की मंजूरी के बगैर उसका दाह संस्कार कर दिया। ताकि ये मामला दब जाए। लेकिन मामले ने सियासी रंग ले लिया और कांग्रेस से लेकर समाजवादी पार्री ने सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वहीं राज्य सरकार ने इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया था और सीबीआई ने भी कोर्ट में आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी और इसमें उसके साथ रेप की बात कही थी। 

uttarpradesh

Nov 24 2021, 18:22

mlasincludingaditisinghjoinedbjp
यूपी में कांग्रेस को बड़ा झटका, रायबरेली और आजमगढ़ में बीजेपी की बड़ी सेंधमारी, विधायक अदिति सिंह और वंदना सिंह भाजपा में शामिल

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। एक एक कर पार्टी के बड़े नेता कांग्रेस का हाथ झटक रहे हैं। इसी क्रम में बीजेपी ने रायबरेली और आजमगढ़ में कांग्रेस में जबदस्त सेंधमारी की है। रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह और आजमगढ़ की सगड़ी सीट से विधायक वंदना सिंह ने बुधवार को भाजपा का दामन थाम लिया।इन दोनों के अलावा विधायक राकेश प्रताप सिंह ने भी भाजपा की सदस्यता ली। राकेश प्रताप सिंह सोनिया गांधी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने वाले दिनेश प्रताप सिंह के छोटे भाई हैं।

अदिति सिंह पिछले डेढ़ साल से कांग्रेस में बगावती रुख अख्तियार किया हुआ था। अदिति सिंह पिछले कुछ समय से सीधे प्रियका गांधी के खिलाफ लगातार हमलावर हैं। चाहे वह लखीमपुर खीरी का मामला हो या फिर कृषि कानून वापसी का उन्होंने हमेशा प्रियंका गांधी की राजनीति पर निशाना साधा। कांग्रेस उनके खिलाफ विधानसभा की सदस्यता रद्द करने की अर्जी भी दी थी। अदिति सिंह ने कांग्रेस द्वारा यूपी चुनाव में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने की घोषणा करने पर कहा था कि वह स्टंट कर रही हैं। अगर प्रियंका वाकई महिलाओं के लिए काम करना चाहती हैं तो उन्हें अपने निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जिन पर महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले दर्ज हैं।

बीते दिनों उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए उन्हें सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया था और उनकी टीम में शामिल होने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा था कि वह टीम योगी का हिस्सा बनकर अपने विधानसभा के लोगों के लिए और बेहतर कर सकती हैं।

इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की विधायक अदिति सिंह कांग्रेस व प्रियंका गांधी वाड्रा को कड़ी टक्कर देंगी। वहीं सगड़ी आजमगढ़ से बसपा विधायक वंदना सिंह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को टक्कर देंगी। उन्होंने दावा किया कि 2022 में भी भाजपा 2017 के विधानसभा चुनाव की तरह प्रचंड बहुमत हासिल कर सत्ता में वापसी करेगी। 

uttarpradesh

Nov 24 2021, 18:22

mlasincludingaditisinghjoinedbjp
यूपी में कांग्रेस को बड़ा झटका, रायबरेली और आजमगढ़ में बीजेपी की बड़ी सेंधमारी, विधायक अदिति सिंह और वंदना सिंह भाजपा में शामिल

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। एक एक कर पार्टी के बड़े नेता कांग्रेस का हाथ झटक रहे हैं। इसी क्रम में बीजेपी ने रायबरेली और आजमगढ़ में कांग्रेस में जबदस्त सेंधमारी की है। रायबरेली से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह और आजमगढ़ की सगड़ी सीट से विधायक वंदना सिंह ने बुधवार को भाजपा का दामन थाम लिया।इन दोनों के अलावा विधायक राकेश प्रताप सिंह ने भी भाजपा की सदस्यता ली। राकेश प्रताप सिंह सोनिया गांधी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने वाले दिनेश प्रताप सिंह के छोटे भाई हैं।

अदिति सिंह पिछले डेढ़ साल से कांग्रेस में बगावती रुख अख्तियार किया हुआ था। अदिति सिंह पिछले कुछ समय से सीधे प्रियका गांधी के खिलाफ लगातार हमलावर हैं। चाहे वह लखीमपुर खीरी का मामला हो या फिर कृषि कानून वापसी का उन्होंने हमेशा प्रियंका गांधी की राजनीति पर निशाना साधा। कांग्रेस उनके खिलाफ विधानसभा की सदस्यता रद्द करने की अर्जी भी दी थी। अदिति सिंह ने कांग्रेस द्वारा यूपी चुनाव में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने की घोषणा करने पर कहा था कि वह स्टंट कर रही हैं। अगर प्रियंका वाकई महिलाओं के लिए काम करना चाहती हैं तो उन्हें अपने निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जिन पर महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले दर्ज हैं।

बीते दिनों उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए उन्हें सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया था और उनकी टीम में शामिल होने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा था कि वह टीम योगी का हिस्सा बनकर अपने विधानसभा के लोगों के लिए और बेहतर कर सकती हैं।

इस मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की विधायक अदिति सिंह कांग्रेस व प्रियंका गांधी वाड्रा को कड़ी टक्कर देंगी। वहीं सगड़ी आजमगढ़ से बसपा विधायक वंदना सिंह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को टक्कर देंगी। उन्होंने दावा किया कि 2022 में भी भाजपा 2017 के विधानसभा चुनाव की तरह प्रचंड बहुमत हासिल कर सत्ता में वापसी करेगी। 

uttarpradesh

Nov 24 2021, 15:01

gandhiattackonpmnarendramodi 
प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर केन्द्र सरकार पर साधा निशाना,कहा- ''मोदी जी के राज में, ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर देश में बढ़ती महंगाई का ठीकरा केन्द्र पर फोड़ा है।

कांग्रेस महासचिव ने लिखा है, ''मोदी जी के राज में, ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं। आटा महंगा, मोबाइल का डाटा महंगा जीवन बीमा महंगा, जीवन जीना महंगा, कपड़े महंगे, जूते महंगे, महंगी सब्जी-दाल।'' उन्होंने लिखा है, 'बहुत हुई महंगाई की मार' का नारा देने वाले अब हर रोज जनता पर महंगाई का प्रहार कर रहे हैं।


इसके पहले किए एक ट्वीट में प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने लिखा था, ''खराब स्वास्थ्य सुविधाओं की वजह से कानपुर की जनता ने कोरोना के दौरान बहुत कष्ट झेले थे। लेकिन भाजपा की प्राथमिकता देखिए, अपना भव्य कार्यालय तैयार कर लिया। मगर जनता के लिए अस्पताल की एक ईंट भी नहीं रखी। जनता सब देख रही है।  इसके साथ प्रियंका गांधी ने एक अखबार की कटिंग भी शेयर की थी। इस कटिंग की हेडिंग है, बीजेपी का कार्यालय तैयार। लेकिन अस्पताल का इंतजार। 

uttarpradesh

Nov 24 2021, 15:01

gandhiattackonpmnarendramodi 
प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर केन्द्र सरकार पर साधा निशाना,कहा- ''मोदी जी के राज में, ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर देश में बढ़ती महंगाई का ठीकरा केन्द्र पर फोड़ा है।

कांग्रेस महासचिव ने लिखा है, ''मोदी जी के राज में, ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं। आटा महंगा, मोबाइल का डाटा महंगा जीवन बीमा महंगा, जीवन जीना महंगा, कपड़े महंगे, जूते महंगे, महंगी सब्जी-दाल।'' उन्होंने लिखा है, 'बहुत हुई महंगाई की मार' का नारा देने वाले अब हर रोज जनता पर महंगाई का प्रहार कर रहे हैं।


इसके पहले किए एक ट्वीट में प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने लिखा था, ''खराब स्वास्थ्य सुविधाओं की वजह से कानपुर की जनता ने कोरोना के दौरान बहुत कष्ट झेले थे। लेकिन भाजपा की प्राथमिकता देखिए, अपना भव्य कार्यालय तैयार कर लिया। मगर जनता के लिए अस्पताल की एक ईंट भी नहीं रखी। जनता सब देख रही है।  इसके साथ प्रियंका गांधी ने एक अखबार की कटिंग भी शेयर की थी। इस कटिंग की हेडिंग है, बीजेपी का कार्यालय तैयार। लेकिन अस्पताल का इंतजार। 

uttarpradesh

Nov 24 2021, 12:02

leaderarpityadavchallengespoliceinspector
कानपुर में सपा नेता की दबंगई, दारोगा को धमकाया-कहा-तुम झंडा नोचोगे तो हम तुम्हारा बिल्ले नोचेंगे

कानपुर- समाजवादी पार्टी के एक नेता का दबंगई वाला वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में सपा पार्षद अर्पित यादव दरोगा को खुलेआम धमकी देते दिख रहे है। दरअसल कानपुर में भाजपा के क्षेत्रीय कार्यालय के विरोध में लगे सपा नेताओं के बैनर को हटाने के बाद समाजवादी कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर दिया। इस दौरान समाजवादी पार्टी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष व वार्ड 45 से पार्षद अर्पित यादव की पुलिस के साथ नोकझोंक हो गई। इस दौरान अर्पित यादव ने दारोगा को धमकी दे डाली और कहा कि तुम हमारा पोस्टर हटाओगे तो हम तुम्हारा बिल्ला नोच लेंगे। अब सपा नेता का ये वीडियो वायरल हो रहा है।

कानपुर के बर्रा थाने में हुई इस घटना के बाद पुलिस ने अर्पित को हिरासत में लिया। पुलिस ने उसके खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई की। सपा युवजन सभा के ग्रामीण जिलाध्यक्ष अर्पित यादव ने कहा कि वह सालों से नौबस्ता पुरानी मंडी में सरकारी अस्पताल बनवाने की मांग कर रहे थे पर भाजपा सरकार में अस्पताल नहीं पहले क्षेत्रीय कार्यालय बन गया। 

बता दें कि अर्पित यादव अपने साथी के साथ मंगलवार सुबह लगभग 4 बजे क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचे। अर्पित यादव ने क्षेत्रीय कार्यालय के बाहर बैनर लगा दिया। जिसमें लिखा था कि मौंरग मंडी खाली कराई गई, पूरी जमीन पर बनना था दक्षिणवासियों के लिए अस्पताल, बना दिया गया बीजेपी कार्यालय। कानपुर दक्षिणवासियों पर रहम करो। 

uttarpradesh

Nov 22 2021, 20:02

onmukhtargangmember
मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबी पर कसा शिकंजा, करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क

उत्तर प्रदेश में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर लगातार शिकंजा कसता जा रहा है। अब मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबियों पर एक बार फिर प्रशासन का डंडा चला। रविवार को मुख्तार अंसारी के करीबी सुरेश सिंह की तहसील सदर के भीटी स्थित करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क हो गई।

प्रशासन ने अपराधियों के खिलाफ चल रहे अपने मुहिम को और तेज करते हुए रविवार को मुख्तार गिरोह के सुरेश सिंह के संपत्ति को कुर्क की। गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह की ओर से अपराध में अर्जित संपत्ति को जिलाधिकारी मऊ ने जारी आदेश के तहत कुर्की की कार्यवाही की। यह संपत्ति उसकी पत्नी और भाभी के नाम थी। इसमें तहसील सदर के भीटी स्थित दुकान और मकान शामिल हैं।


शनिवार देर शाम कुर्की का जिला मजिस्ट्रेट के आदेश आने के बाद आदेश के क्रम में रविवार को सुरेश सिंह के संपत्ति की कुर्की हुई। दरअसल जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने शनिवार को प्रेस नोट जारी कर गतिविधियों में संलिप्त होकर धर्नाजन से संपत्ति क्रय करने के प्रकरण में यूपी गिरोह बंद और समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम की धारा 14(1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह निवासी-पकड़ी थाना-घोसी हालमुकाम भीटी थाना-कोतवाली नगर की ओर से उनकी पत्नी ऊषा सिंह और उनके भाई हंसनाथ सिंह की पत्नी प्रेमलता के नाम से मौजा भीटी तहसील-सदर में क्रय की गई।


इससे कुछ दिन पहले ही मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के करीबियों के अवैध निर्माण के खिलाफ चले प्रशासनिक कार्यवाही के तहत कोर्ट के आदेश पर भीटी चौराहा स्थित शॉपिंग मॉल को प्रशासन और नगर पालिका की ओर से ध्वस्त कर दिया गया था। माल की कीमत करीब 10 करोड़ आंकी गई थी। 

uttarpradesh

Nov 22 2021, 20:02

onmukhtargangmember
मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबी पर कसा शिकंजा, करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क

उत्तर प्रदेश में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर लगातार शिकंजा कसता जा रहा है। अब मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबियों पर एक बार फिर प्रशासन का डंडा चला। रविवार को मुख्तार अंसारी के करीबी सुरेश सिंह की तहसील सदर के भीटी स्थित करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क हो गई।

प्रशासन ने अपराधियों के खिलाफ चल रहे अपने मुहिम को और तेज करते हुए रविवार को मुख्तार गिरोह के सुरेश सिंह के संपत्ति को कुर्क की। गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह की ओर से अपराध में अर्जित संपत्ति को जिलाधिकारी मऊ ने जारी आदेश के तहत कुर्की की कार्यवाही की। यह संपत्ति उसकी पत्नी और भाभी के नाम थी। इसमें तहसील सदर के भीटी स्थित दुकान और मकान शामिल हैं।


शनिवार देर शाम कुर्की का जिला मजिस्ट्रेट के आदेश आने के बाद आदेश के क्रम में रविवार को सुरेश सिंह के संपत्ति की कुर्की हुई। दरअसल जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने शनिवार को प्रेस नोट जारी कर गतिविधियों में संलिप्त होकर धर्नाजन से संपत्ति क्रय करने के प्रकरण में यूपी गिरोह बंद और समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम की धारा 14(1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह निवासी-पकड़ी थाना-घोसी हालमुकाम भीटी थाना-कोतवाली नगर की ओर से उनकी पत्नी ऊषा सिंह और उनके भाई हंसनाथ सिंह की पत्नी प्रेमलता के नाम से मौजा भीटी तहसील-सदर में क्रय की गई।


इससे कुछ दिन पहले ही मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के करीबियों के अवैध निर्माण के खिलाफ चले प्रशासनिक कार्यवाही के तहत कोर्ट के आदेश पर भीटी चौराहा स्थित शॉपिंग मॉल को प्रशासन और नगर पालिका की ओर से ध्वस्त कर दिया गया था। माल की कीमत करीब 10 करोड़ आंकी गई थी। 

uttarpradesh

Nov 22 2021, 20:02

onmukhtargangmember
मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबी पर कसा शिकंजा, करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क

उत्तर प्रदेश में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर लगातार शिकंजा कसता जा रहा है। अब मऊ ज‍िले में मुख्तार अंसारी के करीबियों पर एक बार फिर प्रशासन का डंडा चला। रविवार को मुख्तार अंसारी के करीबी सुरेश सिंह की तहसील सदर के भीटी स्थित करीब एक करोड़ 80 लाख के संपत्‍त‍ि कुर्क हो गई।

प्रशासन ने अपराधियों के खिलाफ चल रहे अपने मुहिम को और तेज करते हुए रविवार को मुख्तार गिरोह के सुरेश सिंह के संपत्ति को कुर्क की। गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह की ओर से अपराध में अर्जित संपत्ति को जिलाधिकारी मऊ ने जारी आदेश के तहत कुर्की की कार्यवाही की। यह संपत्ति उसकी पत्नी और भाभी के नाम थी। इसमें तहसील सदर के भीटी स्थित दुकान और मकान शामिल हैं।


शनिवार देर शाम कुर्की का जिला मजिस्ट्रेट के आदेश आने के बाद आदेश के क्रम में रविवार को सुरेश सिंह के संपत्ति की कुर्की हुई। दरअसल जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने शनिवार को प्रेस नोट जारी कर गतिविधियों में संलिप्त होकर धर्नाजन से संपत्ति क्रय करने के प्रकरण में यूपी गिरोह बंद और समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम की धारा 14(1) के तहत आरोपी सुरेश सिंह निवासी-पकड़ी थाना-घोसी हालमुकाम भीटी थाना-कोतवाली नगर की ओर से उनकी पत्नी ऊषा सिंह और उनके भाई हंसनाथ सिंह की पत्नी प्रेमलता के नाम से मौजा भीटी तहसील-सदर में क्रय की गई।


इससे कुछ दिन पहले ही मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के करीबियों के अवैध निर्माण के खिलाफ चले प्रशासनिक कार्यवाही के तहत कोर्ट के आदेश पर भीटी चौराहा स्थित शॉपिंग मॉल को प्रशासन और नगर पालिका की ओर से ध्वस्त कर दिया गया था। माल की कीमत करीब 10 करोड़ आंकी गई थी। 

uttarpradesh

Nov 22 2021, 15:04

thiefhajiiqbalillegalpropertiesseized
वाहन चोर हाजी इकबाल की 10 करोड़ की अवैध संपत्ति जब्त, गैंगस्टर्स एक्ट के तहतत हुई कार्रवाई

मेरठ -  उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मेरठ से वाहन चोर हाजी इकबाल की 10 करोड़ की अवैध संपत्ति जब्त कर ली है। यह कार्रवाई उत्तर प्रदेश गैंगस्टर्स एंड असामाजिक गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम 1986 के तहत की गई है। मेरठ के सदर बाजार के पटेल नगर निवासी हाजी इकबाल कुख्यात वाहन चोर और कबाड़ माफिया है। पुलिस ने करीब 2 घंटे की कार्रवाई के बाद हाजी इकबाल की 10 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली। हाल ही में पुलिस ने हाजी इकबाल और उसके तीन बेटों अफजाल, इमरान और अबरार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

रविवार की दोपहर 3:00 बजे सदर बाजार के पटेल नगर में पुलिस और पीएसी टीम एसपी के साथ एएसपी कैंट सूरज राय और एसीएम पटेलनगर स्थित हाजी इकबाल की कोठियों पर पहुंची। इकबाल की दोनों कोठियों को सील कर जब्त कर लिया गया। एएसपी कैंट सूरज राय ने बताया कि इन दोनों मकानों की कीमत करीब 10 करोड़ आंकी गई है।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वाहन चोर हाजी इकबाल और उसके तीनों बेटे अफजाल, इमरान और अबरार वेस्ट यूपी में वाहन चोरी करते हैं। फिर चोरी किए गए वाहनों के पार्ट्स खरीदने और बेचने का काम करते हैं। जानकारी के मुताबिक हाजी इकबाल की कुछ और बेनामी प्रॉपर्टी भी चिन्हित की गई है। जिसमें सोतीगंज में मस्जिद के पास एक मकान, दुकान और गोदाम है। साथ ही 10 दुकानें भी चिन्हित की गई हैं। जिनमें हाजी इकबाल का पैसा लगा हुआ है।

वहीं एएसपी सूरज राय ने बताया कि वाहन चोरी के तीन मामलों में करीब 25 करोड़ की अवैध संपत्ति जब्त की गई है। उन्होंने बताया कि फिलहाल 32 अपराधी पुलिस के रडार पर चल रहे हैं।