Aurangabad

Oct 24 2021, 09:42

औरंगाबाद के श्री सीमेंट प्लांट में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां

  



औरंगाबाद में अहले सुबह सीमेंट कंपनी में आग लगने से हड़कंप मच गया. आग बुझाने के लिए कई दमकल गाड़ियों को बुलाया गया.

  

बिहार में अगलगी की एक एक बड़ी घटना घटी है. औरंगाबाद शहर से सटे बिहार सीमेंट प्लांट में आग लग गई. जिससे अफरा-तफरी का माहौल बन गया. आग लगने की घटना आज रविवार सुबह की है.

  

औरंगाबाद शहर से सटे बिहार सीमेंट प्लांट के पीछे वाली गोदाम में अचानक आग लग गई. जिसके बाद प्लांट के साथ-साथ जसोईया व आसपास के इलाके में धुआं आसमान में फैल गया. आनन-फानन में प्रबंधन द्वारा दमकल विभाग को सूचना दी गई. जानकारी के मुताबिक, दमकल की छह से सात गाड़ियों को आग बुझाने में लगाया गया.


बताया जा रहा है कि आग के विकराल रूप को देखते हुए औरंगाबाद शहर के साथ-साथ विभिन्न थाना क्षेत्रों से दमकल को बुलाया गया. इस घटना में कंपनी को कितना नुकसान हुआ है यह स्पष्ट नहीं हो सका है, लेकिन बताया जा रहा है कि अगलगी की घटना से श्री सीमेंट प्लांट का कार्य प्रभावित हो सकता है. बता दें कि प्लांट के मशीनरी को नुकसान नहीं हुआ है लेकिन बैग का गोदाम जलकर नष्ट हो गया है. 

Aurangabad

Oct 23 2021, 20:06

औरंगाबाद: बिहार में ट्रैफिकिंग गिरोह की बेहद सक्रिय, राजस्थान में औरंगाबाद की दो बहनों की बरामदगी से हुआ खुलासा

  


                           
औरंगाबाद: बिहार में बंद हो गई ट्रैफिकिंग यानी मानव तस्करी का खेल पुनः चालू हो गया है। 

  

अथक सरकारी प्रयासों से यह खेल पहले लगभग बंद सा हो गया था पर अब ट्रैफिकर्स का लंबा नेटवर्क फिर से हावी हो गया है। ऐसे में बेहद सावधान रहने की जरूरत है क्योकि रूपयों के लालच में आपके आसपास के अपने ही लोग जाने-अनजाने में ट्रैफिकर्स बने बैठे है। ये तो बस यह समझते है कि अपने संपर्क के माध्यम से वें अपने पास पड़ोस के किसी दुखियारे की सहायता कर रहे है और बदले में उन्हे भी कुछ अर्थलाभ हो रहा है, पर अनजाने में ही सही रूपयों के लालच में उनसे भी भूल हो जा रही है। ट्रैफिकर्स के शिकार हो चुके लोगो को पहले तो यह पता ही नही चलता कि वे बिक चुके है। उन्हें तो लगता है कि वे नौकरी कर रहे है पर बाद में जब पता चलता है कि उनके साथ अनहोनी हो चुकी है तो वे कही के नही रहते है। उनके साथ न घर के न घाट के वाली स्थिति लागू हाेने लगती है। ट्रैफिकिंग के ऐसे ही खेल का खुलासा राजस्थान से औरंगाबाद की दो नाबालिग बहनों की बरामदगी से हुआ है। बरामदगी के बाद दोनो बहनो ने बताया कि उन दोनों को उनकी सहेली का भाई नंदलाल सहेली से मिलाने के बहाने राजस्थान के जोधपुर के इंडोन ले गया। वहां उसने दोनो को उसकी सहेली यानी अपनी बहन से भी मिलाया लेकिन अगले ही दिन बाजार घुमाने के बहाने मंडी में ले जाकर 70 हजार में बेच दिया। वहां दोनो से अनैतिक काम कराया जाने लगा। इस वाकये के 15 दिन बाद दोनों बहनों में एक ने मौका मिलने पर किसी  दूसरे के मोबाइल से परिजनों को आपबीती बताई। 

आपबीती जानकर परिजनो ने पुलिस की शरण ली। फिर हरकत में आई औरंगाबाद पुलिस ने राजस्थान जाकर दोनो बहनों को सकुशल बरामद किया पर वहां ट्रैफिकर्स पुलिस के हाथ नही लग सके। अब औरंगाबाद पुलिस दोनो बहनों का मेडिकल चेकअप कराने और अदालत में बयान कराने के बाद उनकी सहेली के भाई नंदलाल की सरगर्मी से तलाश कर रही है, जो फिलहाल पुलिस की पकड़ से बाहर है। इधर खरीददारों की दिलेरी देखिएं कि उन्होने किसी तरह से बहनों के परिजनो का नंबर हासिल कर लिया और उस नंबर पर कॉल कर एक पीड़िता के पिता से दोनो को खरीदने के एवज में नंदलाल को दिये गये 70 हजार की रकम की वापसी की मांग कर रहे है। यह तो दोनो बहनो के साथ संयोग रहा कि उन्हे दलदल से निकलने का मौका मिल गया पर बहुतो को ऐसे मौके नही मिल पाते और वे उसी दलदल में ताउम्र फंसी रहती है। ऐसे में सावधान रहने की जरूरत है।            

हालांकि पुलिस ने दोनो बहनो को सकुशल बरामद तो कर लिया लेकिन उनके परिजनों पर क्या बीता, वह भी एक पीड़िता के पिता की जुबानी जान लीजिए। 

उसने बताया कि दोनों बहनो को बरामद कराने के लिए पुलिस को अपने खर्चे पर राजस्थान ले गये। वहां होटल का किराया भी उन्होने ही भरा। इस दौरान पैसे घटने पर घर से कुछ पैसे भी मंगाए पर पैसे पर्याप्त नही होने पर पुलिस दोनो बहनो को तो अपने साथ लेकर औरंगाबाद आ गई पर उन्हे राजस्थान में ही छोड़ दिया। बाद में किसी तरह से पैसों का जुगाड़ कर वे वापस औरंगाबाद लौटे। 

 वही पूरे मामले को लेकर जब औरंगाबाद के पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा से बात की गई तो उन्होने कहा कि दोनो पीड़िता द्वारा अदालत में दिए गये बयान के आधार पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। कोई भी दोषी बख्शा नही जाएंगा और सारे दोषी सलाखों के अंदर होंगे। 

Aurangabad

Oct 23 2021, 18:40

*औरंगाबाद: माननीय मुख्यमंत्री द्वारा की गई कोविड-19 टीकाकरण एवं जांच की समीक्षा*

  





औरंगाबाद: कोविड-19 टीकाकरण एवं जांच की यथास्थिति की समीक्षा के लिए श्री नीतीश कुमार, माननीय मुख्यमंत्री बिहार सरकार द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के सभी जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक,  सिविल सर्जन, जिला कार्यक्रम प्रबंधक एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी के साथ  बैठक की गई. 

  

समीक्षा के क्रम में माननीय मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिया गया कि आगामी 28 अक्टूबर को टीकाकरण का महा अभियान आयोजित किया जाएगा. 

  

महाअभियान के संबंध में निर्देश देने के क्रम में माननीय मुख्यमंत्री द्वारा बताया गया कि महा अभियान के दौरान छूटे हुए फर्स्ट डोज के लाभार्थी को घर-घर जाकर चिन्हित किया जाना है. महाअभियान के दौरान फर्स्ट डोज़ के साथ-साथ सेकंड डोज के  लाभार्थियों को चिन्हित कर टीकाकरण किया जाना है. 

विदित हो कि जिले की 62% आबादी को फर्स्ट डोज़ वैक्सीनेशन किया जा चुका है तथा  लक्ष्य के विरुद्ध 32% प्रतिशत लोगों ने दूसरा टीका भी ले लिया है. 

समीक्षा बैठक के उपरांत जिला पदाधिकारी सौरव जोरेवाल द्वारा जिले के सिविल सर्जन, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, जिविका के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी एवं स्वास्थ्य एवं प्रशासन के जिला स्तरीय पदाधिकारी गण के साथ 28 अक्टूबर को होने वाले महाअभियान की तैयारी हेतु बैठक कर निर्देश दिए गए. जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि वोटर लिस्ट का उपयोग कर घर-घर सर्वे किया जाए. सर्वे के आधार पर छूटे हुए व्यक्तियों को कार्य योजना निर्धारित करते हुए टीका दिलाने का कार्य किया जाए.

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि 28 तारीख को महा अभियान आयोजित किए जाने के साथ-साथ माननीय मुख्यमंत्री बिहार सरकार द्वारा निर्देश प्राप्त हुआ है कि प्रतिदिन जिले में अट्ठारह सौ आरटीपीसीआर जांच तथा साढ़े तीन हजार रैपिड एंटीजन जांच प्रतिदिन किया जाना है. 

विदित हो कि देश की कुल आबादी में से एक सौ करोड़ आबादी को विश्वव्यापी महामारी कोरोना से बचाव हेतु टीका लगाया जा चुका है. 

इस क्रम में जिला पदाधिकारी द्वारा सभी पदाधिकारी एवं कर्मियों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया तथा कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन एवं उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए शुभकामनाएं ज्ञापित की गई.  

Aurangabad

Oct 23 2021, 18:17

औरंगाबाद: सचिव द्वारा अमृत महोत्सव के कार्यक्रम का पैनल अधिवक्ताओं के साथ बैठक कर की गई समीक्षा

  

          

  


औरंगाबाद: “PAN INDIA OUTREACH AWARENESS PROGRAMME” के तहत जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में दिनांक 02.10.2021 को गॉंधी जयन्ती के अवसर पर शुरू किये गये अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आज दिनांक 24.10.2021 को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, श्री प्रणव शंकर के द्वारा प्राधिकार से संबंधित पैनल अधिवक्ताओं के साथ एक बैठक की गई।

  

बैठक में सचिव ने अमृत महोत्सव के तहत चलाये जा रहे जागरूकता कार्यक्रम की समीक्षा की गई, बैठक में सचिव ने पैनल अधिवक्ताओं से अमृत महोत्सव के तहत चलाये जा रहे कार्यक्रमों को और कैसे बेहतर किया जाए और किस तरह जागरूकता को जिले के घर-घर तक पहुंचाया जाए इसपर विचार विमर्श  किया। 

पैनल अधिवक्ताओं ने कुछ सुक्षाव और कुछ समस्याओं की ओर सचिव का ध्यान आकृष्ट कराया जिसपर सचिव ने तत्काल निराकरण किया| सचिव ने पैनल अधिवक्ताओं से विधिक सहायता हेतु नालसा के द्वारा जारी मोबाईल एैप को डाउनलोड करने एवं इसके प्रति समाज में लोगों को जागरूक करने पर जोर देने का निर्देश  दिया| 

पैनल अधिवक्ताओं नें तत्काल इसपर सभी अपने मोबाईल में उक्त एैप को डाउनलोड करके दिखाया, सचिव ने बताया कि उक्त मोबाईल एैप के जरीए कोई भी व्यक्ति घर बैठे अपने समस्याओं का निराकरण करा सकता हैं | सचिव ने बताया कि इस विषय में अर्धविधिक स्वयं सेवको को जो क्षेत्र में घर-घर जागरूकता कार्यक्रम में शामिल हैं उन्हें भी यह निर्देश  दिया गया हैं कि वे हर घर तक उक्त एैप के विषय में लोगों को बताये | 


दूसरी तरफ जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा जिले में अमृत महोत्सव के तहत श्रृखंलाबद्ध कार्यक्रम के तहत सौ से अधिक दुरस्त क्षेत्रों में जरूरतमंद लोगो को विधिक रूप से जागरूकता कार्यक्रम चलाने हेतु पूर्व मे दिये गये निर्देश के आलोक में अर्द्ध विधिक स्वयं सेवकों के द्वारा मलुका बिगहा, खरडीहा, जोधपुर, कठरी, निजामपुर, कैथी, तिलकपुरा, पाठकबिगहा, जगतपुर, शंकरपुर, सरंगा, सोरी, चांदखाप इत्यादि जैसे क्षेत्रों में अर्द्ध विधिक स्वयं सेवक रूबी कुमारी, सौरभ कुमार, धर्मेन्द्र कुमार, उतम ठाकुर, विवेक पाठक, प्रतिमा सिन्हा, पप्पु अग्रवाल, नीभा सहाय, गीता कुमारी, रिंकी कुमारी, ज्योति सिंह, अंकित सिंह, गौतम कुमार, दीपक कुमार इत्यादि सहित 52 अर्द्ध विधिक स्वय सेवकों, के द्वारा 11 पैनल अधिवक्ताओं के नेतृत्व में जागरूकता अभियान चलाया गया जिसमें नालसा का मोबाईल एैप के विषय में लोगों को जागरूक किया साथ ही विधिक अधिकारों के प्रति जागरूक किया, खास कर छोटी बच्चियों और बच्चों के खिलाफ होने वाली यौन अपराधों के प्रति लोगों को जागरूक किया गया उन्हें बताया गया, उन अपराधों के खिलाफ आवाज उठाने की जरूरत हैं अगर कोई भी व्यक्ति उक्त अपराध को छिपाता हैं या प्राथमिकी दर्ज करने और करवाने से बचता हैं तो वह भी अपराधी की श्रेणी में आता हैं चाहे वह कोई प्रशासनिक पदाधिकारी ही क्यों न हो, इसके प्रति समाज को जागरूक होना हैं | 

जागरूकता कार्यक्रम प्रति दिन देर शाम तक चलती है जबतक प्रतिदिन का दिया गया लक्ष्य पूरा न हो जाए इसी क्रम में समाचार प्रेषण तक कई अर्द्ध विधिक स्वयं सेवकों द्वारा गॉंव में कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। प्राधिकार स्वयं सेवकों के कार्यो का मूल्यांकन हेतु लगातार तकनीकी का सहारा लेते हुए गुगल मैप लोकेशन तथा क्षेत्र में हो रहे कार्यक्रम में उपस्थित लोगों का लाईव विडियो कार्यालय द्वारा टीम से मांगी जा रही है। 

Aurangabad

Oct 23 2021, 15:46

औरंगाबाद: मुखिया प्रत्याशी सीता देवी ने प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर नामांकन किया दाखिल

  





औरंगाबाद: मदनपुर प्रखंड के  बनिया पंचायत से मुखिया प्रत्याशी सीता देवी ने प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर नामांकन किया दाखिल मदनपुर प्रखंड में आज चौथे  दिन शनिवार को  पंचायत के विभिन्न पदों के प्रत्याशियों ने  नामांकन किया और इसी क्रम में बनिया पंचायत से मुखिया पद से शिक्षित संघर्षशील कर्मठ प्रतिभाशाली प्रत्याशी सीता देवी ने शनिवार दोपहर प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर अपना नामांकन दाखिल किया।

  

नामांकन दाखिल करने के बाद प्रखंड मुख्यालय के बाहर निकलते ही पुष्प के माला पहनाकर समर्थकों ने भव्य स्वागत किया। और जयकारे लगाए इस दौरान सीता देवी ने बताया पंचायत चुनाव लड़ने का मुख्य उदेश्य पंचायत मे लोगों को सेवा करना है । और महिलाओं को शिक्षित के साथ-साथ छोटे छोटे उद्योग के माध्यम से स्वरोजगार देना भी है। 

  

इस दौरान डॉक्टर रामानंदन रविदास  के साथ-साथ अन्य लोग भी मौजूद रहे। 

Aurangabad

Oct 23 2021, 10:07

औरंगाबाद रफीगंज की 23 पंचायतों में 20 निवर्तमान मुखिया हारे

  




औरंगाबाद। रफीगंज प्रखंड के पंचायत चुनाव में हुए चुनाव की मतगणना शुक्रवार को शुरू हुई। देर शाम संवाद प्रेषण तक 23 पंचायतों के मुखिया पद का परिणाम घोषित किया गया है। जनता ने नए चेहरों पर ज्यादा भरोसा जताया। 20 निवर्तमान मुखिया हार गए हैं। तीन निवर्तमान मुखिया ही अपना सीट बचा पाए हैं। 20 पंचायतों की बागडोर नए मुखिया के हाथों जनता ने सौंप दी है। निर्वतमान मुखिया में जीतने वालों भेटनीयां पंचायत की धर्मशीला देवी, चरकावां पंचायत से सेराज अंसारी एवं बघौरा पंचायत से अगुड़िया देवी विजयी शामिल हैं। उधर, बलीगांव पंचायत से मुखिया रहते सत्येंद्र की मौत हो गई थी। पति की मौत के बाद पत्नी सरिता देवी उसी पद के लिए चुनाव लड़ीं और जीत गईं।

  

निर्वतमान मुखिया को हराकर नए जीते मुखिया में पौथु पंचायत की डिपल कुमारी, ईटार पंचायत से पूर्व जिला परिषद उपाध्यक्ष विमला देवी, बौर पंचायत से विनय प्रसाद उर्फ मिट्ठू, लट्टा पंचायत से अकंचन देवी, पोगर पंचायत से शंकर दयाल यादव, कजपा पंचायत से ममता देवी, कोटवारा पंचायत से बिदेश्वर यादव, भदवा से प्रमिला देवी, भदुकीकला पंचायत से कलावती देवी, ढोसिला पंचायत से गुड़िया देवी, केराप पंचायत से कलावती देवी, चौबड़ा पंचायत से संजय कुमार, बलार पंचायत से अरुण पासवान, सिहुली पंचायत से युसूफ अली खान, अरथुआ पंचायत से बिदाई देवी, दुग्गुल पंचायत से नरेंद्र मिश्रा, गोरडिहा पंचायत से विजय सिंह, लोहरा पंचायत से तरनुम्म, चेंव पंचायत से नुसरत जहां मुखिया बनी हैं। चुनाव जीतने के बाद सभी मुखिया के पंचायत में खुशी की लहर है। जीते प्रत्याशियों के समर्थकों के द्वारा अपने अपने पंचायतों में विजय जुलूस निकाला गया। वहीं, हार का सामना करने वाले प्रत्याशियों के समर्थकों ने उदासी का माहौल है। कौन वोट दिया और कौन नहीं दिया इसका आकलन करने में लगे हैं। 

Aurangabad

Oct 22 2021, 18:28

औरंगाबाद : सांसद सुशील कुमार सिंह ने केन्द्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री दिल्ली में की मुलाकात, औरंगाबाद और गया में खाद की किल्लत को लेकर की बात

  


औरंगाबाद :  सांसद सुशील कुमार सिंह ने भारत सरकार के रसायन और उर्वरक मंत्री मनसुख मांडवीया से दिल्ही में मुलाकात किए और और पत्र के माध्यम से मंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया और  कहा कि बिहार के गया और औरंगाबाद जिले में समय पर डीएपी और यूरिया खाद उपलब्ध कराने के संबंध में विस्तृत रूप से चर्चा किए। 

  


सांसद ने पत्र के माध्यम से कहा कि खरीफ मौसम में यूरिया की उपलब्धता की कमी से किसानों को हुई परेशानी को देखते हुए पिछले अनुभव के आधार पर अभी से ही रबी फसल के लिए उर्वरक डीएपी और यूरिया की उपलब्धता आवश्यकतानुसार करने का अनुरोध करता हुँ। 

  

ज्ञातव्य हो कि दोनों जिलों गया और औरंगाबाद से राज्य के माध्यम से उर्वरक की आवश्यकता का विवरण भेजा गया है इस वर्ष समय पर बारिश होने के कारण खेतों में नमी है जिससे अधिक रकबे में रबी की बुआई की संभावना है। 

अतः मेरे संसदीय क्षेत्र के किसानों के हित में निवेदन होगा की आवश्यकता के अनुसार समय पर डीएपी और यूरिया खाद उपलब्ध कराने का आदेश संबंधित अधिकारी को देने का कष्ट करेंगे।

औरंगाबाद  से धीरेन्द्र 

Aurangabad

Oct 22 2021, 18:27

औरंगाबाद : पंचायत चुनाव के सभी प्रत्याशियों को चुनाव में विधि व्यवस्था एवं व्यय संबंधित प्रशिक्षण का किया गया आयोजन, व्यय संबंधित एक एक बिन्दु की दी गई जानकारी

  



औरंगाबाद : 22 अक्टूबर 2021 को गोह प्रखंड के सभागार मे पंचायत चुनाव के सभी प्रत्याशियों, पंच, ग्राम पंचायत सदस्य, मुखिया, सरपंच, ज़िला परिषद सदस्य के उम्मीदवारों को चुनाव में विधि व्यवस्था एवं व्यय संबंधित प्रशिक्षण का आयोजन किया गया।

  

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपायुक्त, राज्य कर श्री नरेश कुमार ने बहुत ही विस्तार से व्यय संबंधित एक एक बिन्दु पर प्रकाश डाला। उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत सदस्य और पंच उम्मीदवारों की चुनाव मे खर्च की अधिकतम सीमा 20 हज़ार रूपये, ग्राम पंचायत समिति सदस्यों की अधिकतम सीमा 30 हज़ार, मुखिया, सरपंच की अधिकतम सीमा 40 हज़ार तथा ज़िला परिषद् सदस्यों की अधिकतम सीमा 1 लाख रूपये है। बताया गया कि इस अधिकतम सीमा से एक रुपया भी अधिक खर्च करने पर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। साथ ही उन्होने यह भी कहा की चुनाव परिणाम घोषित होने के 15 दिनों के अंदर पंचायत चुनाव के सभी प्रत्याशियों को अपना- अपना व्यय लेखा अपने निर्वाची पदाधिकारी के समक्ष जमा करना होगा।
 
इस अवसर पर सुशील कुमार सुमन, सहायक आयुक्त, मनोज कुमार पाल, सहायक आयुक्त, गोह प्रखंड के निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ मनोज कुमार, सहायक निर्वाची पदाधिकारी एवं अन्य पदाधिकारी मौजुद थे।

औरंगाबाद  से धीरेन्द्र 

Aurangabad

Oct 22 2021, 18:25

औरंगाबाद : नक्सलिओं को खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में सुरक्षा बलों को मिली बड़ी कामयाबी, कुख्यात नक्सली व माओवादी के सबजोनल कमांडर नवीन जी उर्फ़ विनोद पासवान को किया गिरफ्तार

  



औरंगाबाद : अति नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले में माओवादियों के खिलाफ चलाये जा रहे विशेष अभियान में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी मिली है। एसएसबी,  काला पहाड़, कुटुम्बा और माली थाना की पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में कुख्यात नक्सली तथा भाकपा माओवादी के सबजोनल कमांडर नवीन जी उर्फ़ नवीन पासवान उर्फ खबरू उर्फ विनोद पासवान को  को गिरफ्तार किया है। 

  

पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि गुप्त सूचना पर नक्सली को उसके अपने गांव गोल गरीबा(ओडी) से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार नक्सली की पुलिस को कई मामलों में सरगर्मी से तलाश थी। उस पर माली थाना में भादवि की धारा 147, 148, 149, 341, 342, 452, 427, 435, 346, 3-4-5 विस्फोटक पदार्थ अधिकिम, 27 आर्म्स एक्ट और 17 CLA एक्ट के तहत कांड संख्या-59/15 दर्ज है। इसी नक्सली ने अपने दस्ते के साथ माली थाना के बेल बीघा गांव में विजय यादव और उसके परिवार को घर से बाहर निकालने के बाद उसके घर को बम से उड़ा दिया था। साथ ही घर के बाहर खड़े ट्रैक्टर को जला दिया था और दहशत फ़ैलाने के उद्देश्य से जमकर फायरिंग की थी। 

  

एसपी ने बताया कि इस पर मदनपुर थाना में भी भादवि की धारा 302, 307, 353, 332, 333/ 34, 25 (1-बी), 26-27 आर्म्स एक्ट एवं 17 सीएलए एक्ट के तहत कांड संख्या-166/08 दर्ज है। यह मामला ढकपहरी पर नक्सली दस्ता की मौजूदगी से जुड़ा है। वहां पुलिस की टीम द्वारा जब घेराबंदी की गयी तो नक्सली दस्ता बम और अन्य अग्नेयास्त्रो का उपयोग करते हुए भागने में सफल रहा था। इस अभियान में सैफ का एक जवान शहीद हो गया था। बाद में सर्च के दौरान ढेर सारा आग्नेयास्त्र और कई नक्सली पुस्तके बरामद की गयी थी। 

वही इस पर ओबरा थाना में भादवि की धारा   307, 34, 25(18) ए, 26/35 आर्म्स एक्ट, 3/4 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम एवं 17 सीएलए एक्ट के तहत कांड संख्या-42/07 दर्ज है। यह मामला 1 जुलाई 2007 का है जब रोहतास जिले के राजपुर और बघेला थाना में जवानों की हत्या कर पुलिस की कई रायफल लूटकर नक्सली रातों रात सोन नदी पार कर ओबरा थाना के तेजपुरा गांव में आकर छिप गये थे। सुचना मिलने पर जब पुलिस की टीम पहुंची थी तो उस पर बमों और अन्य आग्नेयास्त्रो से हमला करते हुए ये भागने में सफल रहे थे। बाद में तलाशी के दौरान पुलिस को कई हथियार मिले थे। 

प्रेसवार्ता के दौरान एएसपी अभियान शिव कुमार राव, एसडीपीओ गौतम शरण ओमी एवं एसएसबी के कंपनी कमांडर लोकेश कुमार मौजूद रहे। 

औरंगाबाद से धीरेन्द्र 

Aurangabad

Oct 22 2021, 16:50

औरंगाबाद : विधिक सचिव द्वारा मण्डल कारा का किया गया निरीक्षण,  कैदियों के बीच विधिक अधिकारों की दी जानकारी

  


         
 औरंगाबाद : “PAN INDIA OUTREACH AWARENESS PROGRAMME” के तहत जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में दिनांक 02.10.2021 को गॉंधी जयन्ती के अवसर पर शुरू किये गये अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आज दिनांक 22.10.2021 को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश  सह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, श्री प्रणव शंकर के द्वारा मण्डल कारा, औरंगाबाद में निरीक्षण किया गया। उक्त निरीक्षण के अन्तर्गत सचिव के नेतृत्व में मण्डल कारा, औरंगाबाद के बंदियों के बीच जिला विधिक सेवा प्राधिकार, औरंगाबाद के द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले निःशुल्क सुविधाओं का विस्तृत जानकारी दिया गया साथ ही उक्त कार्यक्रम में उन्हें प्राधिकार के अन्तर्गत समस्त सुविधाओं, सेवाओं, के विषय में जानकारी दिया गया। 

  

उक्त कार्यक्रम में बंदियों के द्वारा बताये गये समस्याओं को यथाशीघ्र दूर कराने हेतु सचिव ने बंदियों को आश्वसन दिया। सचिव ने बंदियों को बताया कि प्राधिकार उनके लिए मुफ्त में अधिवक्ता उपलब्ध कराता है। आप सभी ज्यादा से ज्यादा इस सुविधा का लाभ लें। 

अपने निरीक्षण के क्रम में सचिव ने जेल प्रशासन से जेल में साफ-सफाई, का ध्यान रखने, मच्छरजनित रोगों का वातावरण है जिसके लिए प्रशासन का सजग रहते हुए मच्छर से बचाव के लिए हर संभव प्रयास करने का निर्देश दिया ताकि जेल में बंदियों को मच्छरजनित रोगों से  बचाव हो सके। 

दूसरी तरफ जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा जिले में अमृत महोत्सव के तहत श्रृखंलाबद्ध कार्यक्रम के तहत सौ से अधिक  दुरस्त क्षेत्रों में जरूरतमंद लोगो को विधिक रूप से जागरूकता कार्यक्रम चलाने हेतु पूर्व मे दिये गये निर्देश के आलोक में अर्द्ध विधिक स्वयं सेवकों के द्वारा रामदाहा, सरसौली, सिहाड़ी फतेहपुर, करमाबाला, चन्दौली,अकौनी, बेल, धेवई, झरहा, पाकहा, महुआर जैसे क्षेत्रों में अर्द्ध विधिक स्वयं सेवक रूबी कुमारी, सौरभ कुमार, धर्मेन्द्र कुमार, उतम ठाकुर, विवेक पाठक, प्रतिमा सिन्हा, पप्पु अग्रवाल, गीता कुमारी, रिंकी कुमारी, ज्योति सिंह, अंकित सिंह इत्यादि सहित 52 अर्द्ध विधिक स्वय सेवकों, के द्वारा 11 पैनल अधिवक्ताओं के नेतृत्व में जागरूकता अभियान चलाया गया।

यह कार्यक्रम प्रति दिन देर शाम तक चलती है जबतक प्रतिदिन का दिया गया लक्ष्य पूरा न हो जाए इसी क्रम में समाचार प्रेषण तक कई अर्द्ध विधिक स्वयं सेवकों द्वारा गॉंव में कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। प्राधिकार स्वयं सेवकों के कार्यो का मूल्यांकन हेतु लगातार तकनीक का सहारा लेते हुए गुगल मैप लोकेसन तथा क्षेत्र में हो रहे कार्यक्रम में उपस्थित लोगों का लाईव विडियो कार्यालय द्वारा टीम से मागी जा रही है। 

औरंगाबाद से धीरेन्द्र