Muzaffarpur

Oct 22 2021, 16:19

बड़ी खबर : मुजफ्फर में राजस्व व भूमि सुधार मंत्री के भाई को मुखिया चुनाव में मिली करारी हार

  


डेस्क : बीते बुधवार 20 अक्टूबर को बिहार पंचायत चुनाव के चौथे चरण में प्रदेश के 36 जिलों के 53 ब्लॉक में 58।65% मतदान हुआ था। जिसका आज काउंटिंग 8 बजे से जारी है। सभी मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा पुख्या इंतजाम किये गये हैं। बिना पास के किसी को प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। मतगणना की सुरक्षा व्यवस्था 4 लेयर की रखी गई है। मतगणना स्थल में पहुंचने वाले लोगों की सघन जांच की जा रही है। 

  

चौथे चरण में 799 ग्राम पंचायतों के मुखिया और सरपंच पद, 10,888 वार्डों में ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी के पंच पद पर, जिला परिषद की 119 सीटों पर और पंचायत समिति की 1,093 पदों के लिए मतगणना हो रही है।

  

शाम के 4 बजने वाले है और अब कई जिले से परिणाम सामने आ गये है। तीसरे चरण की तरह ही इसबार भी मतदाताओं ने ज्यादातर नये चेहरों के प्रति ही अपना विश्वास जताया है। वही कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ रहा है। 

  

इसी बीच मुजफ्फरपुर जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां बिहार सरकार के राजस्व और भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय के भाई भरत राय को मुखिया के चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है। 

जिले के गरहा पंचायत से मुखिया पद का चुनाव लड़ रहे रामसूरत राय के भाई भरत को बैजू राय ने शिकस्त देकर मुखिया के पद पर कब्जा जमाया है। 

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी 

Muzaffarpur

Oct 22 2021, 14:33

मुजफ्फरपुर में बड़ा हादसा : बागमती नदी में पलटी नाव, स्थानीय लोगों की तत्परता से लोगों की बची जान 

  


मुजफ्फरपुर : जिले से एक बड़ी घटना सामने आई है। जहां  एक बड़ा हादसा हुआ है।

  

जिले के बागमती नदी के उपधारा में नाव पलट गई है। मिली जानकारी के अनुसार नाव पर 2 दर्जन से अधिक लोग थे।

  

हालांकि सभी लोगो को स्थानीय लोगो ने नदी से बाहर निकाल लिया है। 

  

वहीं इस घटना में तीन गंभीर रूप से घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिये स्थानीय पीएचसी में भर्ती कराया गया है ।  

घटना जिले के औराई थाना क्षेत्र के सरहचिया मधुबनघाट की बताई जा रही है।

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी 

Muzaffarpur

Oct 22 2021, 12:54

मुजफ्फरपुर :  सनातन धर्म में शरद पूर्णिमा की तरह ही कार्तिक मास का भी विशेष महत्व हैं, जानिए पूरा डिटेल

  


मुजफ्फरपुर :  सनातन धर्म में शरद पूर्णिमा की तरह ही कार्तिक मास का भी विशेष महत्व हैं. इस महीने में दान-पुण्य, पूजा-पाठ और नदी में स्नान करने की मान्यता है. भगवान श्री हरि विष्णु  को समर्पित कार्तिक का पवित्र महीना इस बार 21 अक्टूरबर यानि आज (गुरुवार) से लग रहा है. इस महीने में भगवान विष्णु  और उनके अवतारों की पूजा करना सबसे शुभ माना जाता है. बता दें कि कार्तिक मास भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी का अत्यंत प्रिय माह होता है. आइए विशेष जानते हैं कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित हरिशंकर पाठक

  

माना जाता है कि, इस माह में पवित्र नदियों मे स्नान करने और दान-पुण्य करने से जीवन में किए गए पाप धुल जाते हैं और व्यक्ति को सुख-शांति व मोक्ष की प्राप्ति होती है. मान्यताओं के अनुसार, इस माह में कुंवारी कन्या को नदी में स्नान करने से मनचाहा जीवनसाथी मिलता है. कार्तिक माह में भगवान विष्णु, माता लक्ष्मी, यम देवता, धनवंतरी, गोवर्धन, भगवान श्री कृष्ण और चित्रगुप्त जी की पूजा की जाती हैं.

  

श्रीहरि की पूजा का महत्व
पूर्णिमा की गणना से 20 अक्टूबर को शाम में कार्तिक प्रतिपदा तिथि लग रही है, लेकिन उदया तिथि के हिसाब से 21 अक्टूबर से कार्तिक का महीना शुरू हुआ है, जबकि संक्रांति के हिसाब से 17 अक्टूबर से ही कार्तिक का महीना लग चुका है. इस महीने में श्रीहरि की पूजा करना और उनको सबसे प्रिय तुलसी की पूजा करना सबसे उत्तीम माना जाता है. हिंदू धर्म के अनुसार, इस माह में पूजा करने से देवी-देवता जल्दी प्रसन्न होते हैं. यदि आप भी कार्तिक मास में भगवान श्री हरि और माता लक्ष्मी का आशीर्वाद पाना चाहते हैं, तो आप कार्तिक माह में उनकी पूजा जरूर करें. मान्यता है कि इसी महीने भगवान विष्णु योग निद्रा से जागते हैं और सृष्टि में आनंद और कृपा की वर्षा होती है. मां लक्ष्मी भी इसी माह धरती पर भ्रमण करने उतरती हैं और भक्तों को अपार धन का आशीर्वाद देती हैं.

हिन्दू धर्म में अत्यधिक पवित्र महीना कार्तिक मास आज यानि 21 अक्टूबर 2021 (गुरुवार) से शुरू हो गया है. यह चातुर्मास का आखिरी महीना है. इसी माह से देव तत्व मजबूत होता है. इसी महीने में तुलसी का रोपण और विवाह सर्वोत्तम होता है. यह महीना स्नान, दान और पूजा पाठ के लिहाज से विशेष महत्व रखता है. वहीं दीपदान और दान करने से अक्षय शुभ फल की प्राप्ति होती है. आइए जानते हैं माह का महत्व और पूजा विधियां.

कार्तिक मास का महत्व
कार्तिक मास में भगवान श्रीहरि जल में निवास करते हैं. इस माह में गंगा स्नान, दान, दीप दान, हवन, यज्ञ का विशेष महत्व है. मान्यता है कि कार्तिक मास में उपवास रखकर भगवान के स्मरण से अग्निष्टोम यज्ञ के समान फल मिलता है. इसके साथ ही सूर्यलोक की प्राप्ति होती है.कार्तिक पूर्णिमा से शुरू कर हर पूर्णिमा को रात्रि में व्रत और जागरण करने से सभी मनोरथ सिद्ध होते हैं.

तुलसी जी का पूजन
कार्तिक महीने में भगवान की प्रिय तुलसी की पूजा करना शुभ माना जाता है. कार्तिक महीने में पूरे महीने तुलसी के नीचे दीपक जलाने से आपके घर में धन वृद्धि होती है. मान्य ता है कि इस महीने में तुलसी माता और शालिग्राम का विवाह करने से आपके वैवाहिक जीवन की सारी समस्यानएं दूर हो जाती हैं और आनंद की प्राप्ति होती है.

पूजा करने का तरीका
कार्तिक मास में गंगा पूजा, विष्णु पूजा, लक्ष्मी पूजा और यज्ञ का विशेष महत्व है. इस समय चंद्रोदय पर शिवा, संभूति, संतति प्राप्ति अनुसूया और क्षमा इन 6 कृतिकाओं की पूजा जरूर करें. इसके बाद तुलसी पूजा और उनका सेवा जरूर करें. कार्तिक मास में तुलसी पूजा का विशेष महत्व होता है.

(हरिशंकर पाठक)*

Mob no:-8539078044

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 21:16

मुजफ्फरपुर:- दो प्रखंड में कल सुबह सात बजे से होगा मतगणना का कार्य शुरू   ।

  


मुजफ्फरपुर जिले के मुशहरी और बोचहां , दो प्रखंड में हुए कल मतदान के बाद कल सुबह सात बजे से होगा मतगणना का कार्य  ।

  

बता दें कि जिले के मुसहरी और बोचहा प्रखंड के हुए थे 694 बूथ पर मतदान जिसके बाद आज मतगणना स्थल पर अधिकारी ने किया निरीक्षण और दिए कई निर्देश।आपको ये बता दें कि स्थानीय कृषि बाजार समिति जो की ही मुसहरी प्रखंड का मतगणना स्थल है

  

 वही पर बोचहा का मतगणना स्थल आरएसएस कॉलेज होगा और इसको लेकर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया है । 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 21:14

मुजफ्फरपुर:-जलजमाव की समस्या से परेशान स्थानीय लोगों का प्रदर्शन कर विधायक विजेंद्र चौधरी और नगर आयुक्त मानेश का किया पुतला दहन

  


मुजफ्फरपुर जिले में जलजमाव की समस्या से परेशान स्थानीय लोगों का प्रदर्शन किया नगर विधायक विजेंद्र चौधरी और नगर आयुक्त मानेश का पुतला दहन। नगर निगम क्षेत्र के वार्ड 42 के स्थानीय लोगो का आज फूटा गुस्सा और किया जलजमाव के बीच में दोनो का पुतला दहन। बताया की बीते 2 माह से जलजमाव की समस्या से निजात दिलाने की झूठी बात अब तक दोनो लोग करते रहे हैं व इसको किसी की बात को तक नही सुनते 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 21:13

मुज़फ़्फ़रपुर:-विवाहिता की गला दबाकर हत्या ससुराल वालों पर लगा हत्या का आरोप,पुलिस जांच में जुटी

  


मुज़फ़्फ़रपुर जिले में एक विवाहिता की गला दबाकर हत्या ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप सकरा थाना क्षेत्र के चकहजरत गाँव की घटना बताई जा रही है

  

।वही पर सूचना के बाद से पूछताछ करके आगे की करवाई में जुटी पुलिस। 

  

बताया गया है कि बीते दिनों से लगातार पीड़ित पक्ष के द्वारा दबाव को बनाया जा रहा था जिसको लेकर पूर्व में कराई गई थी आरोपी के खिलाफ में शिकायत 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 21:10

शिवहर:-नामांकन का भोज खाने से 150 से अधिक लोग  हुए बीमार जानकारी के बाद लोगों में मची अफरा-तफरी

  


बड़ी खबर बिहार के शिवहर जिला से है जहां पर नामांकन का भोज खाने से 150 से अधिक लोग बीमार हुए है जिसकी जानकारी के बाद मौके पर मची अफरा-तफरी की स्थिति।

  

सभी को जिला सदर अस्पताल शिवहर में भर्ती कराया गया है।

  



शिवहर मामले में बाद वही पर भी अफरा-तफरी का माहौल हो गया है वहीं मरीजों की संख्या इतनी है कि सारी बेड फूल हो गए और एक बेड पर 3 से 4 मरीज भर्ती कराए गए हैं

  

।इस मामले की जानकारी के बाद से  एडीएम एसडीपीओ नगर थानाध्यक्ष शिवहर बीडीओ और के सहित कई वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचे हुए हैं और कई मेडिकल टीमें लगाई गई है यह बताया जा रहा है

 कि नामांकन के दौरान प्रत्याशी के द्वारा सुगिया राजा चौक पर मछली और चावल का एक भोज का आयोजन किया गया था व सभी ताजपुर पंचायत के रहने वाले बताए जा रहे हैं। 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 19:35

मुजफ्फरपुर : श्री कृष्ण सिंह जयंती समारोह पर बोले पर बिहार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.अमरेन्द्र नारायम यादव, ब्रह्महर्षि-यदुवंशी समन्वय का होगा दूरगामी प्रभाव

  

मुजफ्फरपुर : ब्रह्महर्षि  यदुवंशी समन्वय का पहल दूरगामी प्रभावकारी है होगा , यह समन्वय समाज के सभी वर्गों के हित में सुखद परिणाम लेकर सामने आएगा। उक्त बातें आज  गुरुवार को श्री कृष्ण सिंह जयंती समारोह को संबोधित करते हुए बीआरए ए  बिहार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफ़ेसर अमरेंद्र नारायण यादव ने कही।

  

ब्रह्मर्षि यदुवंशी समन्वय समिति की ओर से आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए श्री यादव ने कहा कि श्री बाबू दूर दृष्टि रखते थे, उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों को किसी एक सीमा में बांधा नहीं जा सकता।

  

मुजफ्फरपुर क्लब में आयोजित जयंती समारोह की अध्यक्षता करते हुए ब्रह्मर्षि यदुवंशी समन्वय समिति के संरक्षक बिहार के पूर्व मुख्य आयकर आयुक्त श्री अजय कुमार ने कहा कि समाज को शैक्षणिक रूप से समृद्ध बनाने विकास की गाड़ी को पटरी पर लाने के लिए यह समन्वय जरूरी है। श्री बाबू ने सामाजिक संबंध में कर ही बिहार को देश के सबसे विकसित राज्य की श्रेणी में लाने का काम किया था । श्री बाबू में शासन करने की क्षमता के साथ-साथ व्यक्तिगत सामाजिक एवं राजनीतिक ईमानदारी भी रखते थे।

  

डॉक्टर हरेंद्र ने कहा कि श्री बाबू ने आहूत उद्धार जमीदारी उन्मूलन के साथ बहुत कुछ किया लेकिन आज हम इतने बट गए कि एक साथ बैठने के लिए तैयार नहीं है। डॉक्टर बिरेंद्र किशोर ने समन्वय को शुभकामना दी ।

ब्रह्मर्षि यदुवंशी समन्वय समिति के संयोजक श्री संजीव चौधरी ने कहा कि बिहार के गांव को बिहार के खेतों को कल कारखानों को शैक्षणिक संस्थानों को अस्पताल सहित अन्य बुनियादी सुविधाओं को सक्रिय रूप से गतिशील बनाने के लिए बिहार के राजनीतिक रूप से चेतना सील है । दोनो जाति को एक मंच पर आना जरूरी है।  हम बिहार को श्री बाबू के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए सामाजिक पहल कर रहे हैं।  
समारोह को अवधेश कुमार ,मोहम्मद शमी इकबाल ,बृजेश शर्मा ,रामबाबू यादव, दीप नारायण यादव, राजा राम राय, डॉक्टर  अरुण कुमार सिंह सहित कई लोगों ने संबोधित किया। वहीं कार्यक्रम का संचालन अधिवक्ता वीरेंद्र कुमार विराना और धन्यवाद ज्ञापन संजीत किशोर ने किया।

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 19:03

मुजफ्फरपुर : जयंती पर याद किए गए श्री बाबू, भूमिहार ब्राह्मण समाजिक फ्रंट ने अर्पित किया श्रद्धा सुमन 

  


                       
मुजफ्फरपुर : महान स्वतंत्रता सेनानी, आधुनिक  बिहारके निर्माता, बिहार केसरी श्रीकृष्ण सिंह के 136 वी जयंती के अवसर पर भूमिहार ब्राह्मण समाजिक फ्रंट की ओर से सभा आयोजित कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया।
                         
स्थानीय बीबीगंज स्थित पूर्व मंत्री के आवासीय परिसर मेंआयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्व मंत्री अजीत कुमार एवं अन्य लोगों के द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया।  इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि श्री बाबू समकालीन भारतीय राजनीति के दिव्यमान राजनेता थे।  वे संघर्षशील, जुझारू और दूरदर्शी सोच के व्यक्ति थे। श्री बाबू सामाजिक न्याय व संप्रदायिक सद्भाव के प्रनेता थे। उन्होंने समाज के सभी वर्गों के संतुलित विकास पर ध्यान देते हुए बिहार और इस देश को बहुत कुछ दिया था। श्री बाबू स्वामी सहजानंद सरस्वती के विचारों से प्रभावित होकर इस देश में पहली बार बिहार से जमीदारी प्रथा का उन्मूलन प्रारंभ किया था। उन्होंने बिहार में उद्योग, कृषि, शिक्षा, सिंचाई, स्वास्थ्य, कला व सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करते हुए कल कारखाना शैक्षणिक संस्थान खोलकर बिहार को प्रगति की ओर अग्रसर कराया था । उनके द्वारा रिफाइनरी, खाद कारखाना, भारी उद्योग, देश का सबसे बड़ा स्टील प्लांट, एशिया का सबसे बड़ा रेल यार्ड, गंगोत्री से गंगासागर के बीच प्रथम रेल-सह-सड़क पुल ,राजेंद्र पुल ,कोसी प्रोजेक्ट पूसा व  सबौर में एग्रीकल्चर कॉलेज , बिहार , भागलपुर, रांची विश्वविद्यालय स्थापित कर बिहार को नया स्वरूप प्रदान किया था। श्री कुमार ने कहा कि आज भले श्री बाबू हम सबके बीच नहीं हैं लेकिन उनका कृति अमर है, अमर रहेगा । उन्होंने खासकर युवा वर्ग से श्री बाबू के द्वारा बताए गए रास्ते पर चलकर समाज के मजबूती के लिए आगे आने का अपील किया।
                 
इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता फ्रंट के संयोजक डॉ अरुण कुमार ने किया, तथा संचालन फ्रंट के वरिष्ठ नेता धर्मवीर शुक्ला ने किया। मौके पर श्री बाबू को श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में पीएन सिंह आजाद, सीपी सिंह ,लक्ष्मी नारायण सिंह, शंभू शरण ठाकुर, सुरेश प्रसाद सिंह, रणधीर कुमार ,वीरेंद्र शाही, अरुण कुमार सिंह ,दिव्यांशु सौरभ, प्रमोद मिश्रा, सुनील शर्मा, शिव चंद्र ठाकुर, सरोज पांडे ,शत्रुघ्न सिंह, अशोक सिंह, साकेत रमन पांडे, मंकु पाठक ,हरदेव ठाकुर, विवेक रंजन, प्रिंस कुमार ,मनमोहन सिंह ,रमेश ठाकुर ,कौशल सिंह, शिवेंद्र ठाकुर, विकास कुमार पांडे,, सुमन सिंह ,राम सागर चौधरी ,रंजीत चौधरी ,नागेंद्र पंडित ,प्रिंस शाही, शंभू जी, मुन्ना ठाकुर, संजीत कुमार,सुजीत कुमार, पप्पू सिंह, आदि प्रमुख है।

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी 

Muzaffarpur

Oct 21 2021, 18:48

मुजफ्फरपुर  :  उत्पाद विभाग की बड़ी कार्रवाई, गुप्त सूचना पर छापेमारी कर बरामद किया 20 लाख का शराब 

  


मुजफ्फरपुर  :  पंचायत चुनाव को लेकर करवाई में जुटी जिला उत्पाद टीम ने मिली एक गुप्त सूचना के आधार पर करवाई को करते हुए शराब को एक बड़ी खेप को जब्त किया गया जिसकी कीमत 20 लाख रुपए आंकी गई है जिला में ही एक बार फिर से शराब परोसने की थी तैयारी

  

पंचायत चुनाव को प्रभावित करने को लेकर शराब के तस्करी करने वाले के खिलाफ में जारी करवाई में जुटी हुई जिला उत्पाद टीम को मिली एक गुप्त सूचना के आधार पर मिली है बड़ी कामयाबी जिसमे शराब की अनलोड कर रहे की जानकारी पर छापेमारी कर पाई है सफलता।

  

बताया गया है कि मुजफ्फरपुर जिले में अहियापुर में शराब के अनलोडिंग के दौरान उत्पाद विभाग का छापा और भाड़ी मात्रा में अवैध शराब को जब्त और एक 407 ट्रक भी जब्त किया गया है। वह जब्त शराब की कीमत भी करीब 20 लाख   रुपए आंकी गई है। बताया गया है कि जिले के मुशहरी इलाके में शराब की अनलोडिंग कर अहियापुर पहुंचे थे शराब कारोबारी। बताया गया है कि शराब को लगातार करवाई में जुटी हुई उत्पाद विभाग की टीम ने बताया की बीते एक हफ्ते में 1 करोड़ों रुपए से अधिक की अवैध शराब की खेप को पकड़ा गया है और आगे भी इसे लेकर करवाई जारी रहेगी।

  

मामले में जिला उत्पाद विभाग टीम के इंस्पेक्टर अभिनव कुमार ने यह बताया की अहियापुर थाना क्षेत्र के सोडा गोदाम रोड के एक शराब के तस्कर का यह शराब था जिसको लेकर उत्पाद टीम लगातार करवाई में जुटी हुई है जो की फरार चल रहा है यह आरोपी शराब का तस्कर रवि गुप्ता का बताया गया है जो की एक शराब का तस्कर है जिसके यहां पर पूर्व में छापेमारी कर अवैध शराब के खिलाफ करवाई किया गया था और टीम की करवाई जारी रहेगी।

मुजफ्फरपुर से संतोष तिवारी