lucknow

Oct 13 2021, 13:01

यूपी में विधानसभा चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने तैयारी की तेज, पोलिंग बूथों की संख्या फाइनल

लखनऊ -उत्तर प्रदेश में वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए 1500 मतदाताओं के स्थान पर अब 1200 मतदाताओं की संख्या पर एक पोलिंग बूथ बनाया गया है। इस कारण प्रदेश में नौ हजार, 879 पोलिंग बूथ बढ़ गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में कुल एक लाख, 74 हजार, 351 पोलिंग बूथ बनाने को हरी झंडी दे दी है। मतदान केंद्रों की संख्या भी 91 हजार, 572 के स्थान पर 92 हजार, 882 हो गई है।

उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक में बताया कि एक नवंबर से मतदाता सूची का विशेष पुनरीक्षण अभियान शुरू हो रहा है। इस दौरान सात, 13, 21 व 28 अक्टूबर को विशेष अभियान चलाया जाएगा। पहले 14 अक्टूबर को विशेष अभियान चलाया जाना था किंतु उस दिन बड़ी प्रतियोगी परीक्षा होने के कारण अब उसे एक दिन पहले यानी 13 अक्टूबर कर दिया गया है। उन्होंने राजनीतिक दलों से बूथ लेवल एजेंटों की नियुक्ति का भी अनुरोध किया है ताकि यह बीएलओ के साथ मिलकर मतदाता सूची बनाने में सहयोग प्रदान करें।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि एक जनवरी 2022 को 18 वर्ष की उम्र पूरी करने वाले युवाओं के नाम मतदाता सूची में जोड़ने के लिए यह विशेष अभियान चलाया जा रहा है, इसमें महिलाओं के नाम भी मतदाता सूची में जोड़ने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने राजनीतिक दलों से मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान में अपना सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग ने सर्विस मतदाताओं के पुनरीक्षण का कार्यक्रम भी जारी कर दिया है। एक नवंबर को वोटर लिस्ट प्रकाशित होगी। अंतिम प्रकाशन पांच जनवरी 2022 को होगा।

पोलिंग एजेंट के लिए भी कोरोना के दोनों टीके अनिवार्य
चुनाव में पोलिंग एजेंट, काउंटिंग एजेंट व बूथ लेविल एजेंट आदि वही बन पाएंगे जिन्होंने कोरोना टीके के दोनों टीके लगवाए होंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी राजनीतिक दलों से अपने-अपने कार्यकर्ताओं को टीके की दोनों डोज लगवाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकाल का पालन सभी को अनिवार्य रूप से करना है। 

lucknow

Oct 12 2021, 19:38

किसानों की दूर होगी दिक्कत, धान खरीद को लेकर सीएम योगी ने दिया आदेश

लखनऊ। धान खरीद में क्रय केन्द्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  धान खरीद की समीक्षा करते हुए वीडियो कांफ्रेंसिंग में ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जितने क्रय केन्द्र थे, उनसे कम संख्या नहीं होनी चाहिए। पिछले वर्ष धान खरीद के लिए 6000 क्रय केन्द्र खोले गए थे, जबकि इस बार 4000 क्रय केन्द्र खोले गए हैं। 

बैठक के दौरान खाद्य व रसद विभाग की प्रमुख सचिव वीना कुमारी मीना ने कृषक उत्पादन संगठनों (एफपीओ) के तहत केन्द्र बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन जिलों में क्रय केन्द्र कम हो वहां पर एफपीओ व एफपीसी के तहत क्रय केन्द्र खोले जाएं।  इस बार सरकार ने धान क्रय नीति में एफपीओ व एफपीसी को शामिल नहीं किया था लेकिन विरोध के बाद इन्हें खरीद में शामिल किया गया है। सोसाइटी एक्ट में पंजीकृत एफपीओ व रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज से पंजीकृत एफपीसी मंडी समिति, कृषि विभाग व खाद्य विभाग से संबद्ध होकर धान खरीद कर सकेंगे। एफपीओ यदि किसी एक जिले में खरीद करना चाहते हैं तो उनकी नियुक्ति संबंधित क्रय एजेंसी की संस्तुति पर डीएम करेंगे जबकि एक से अधिक जिले की स्थिति में आयुक्त खाद्य रसद करेंगे। 

lucknow

Oct 12 2021, 19:31

अमेठीः दुर्गापुर में दर-दर भटक रहे गरीब, नहीं मिल रहा प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ 

अमेठी - दुर्गापुर में केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हर गरीब को पक्का घर देने का वादा दुर्गापुर में सफेद हाथी साबित हो रहा है. यहां पिछले 10 वर्षों से अत्यंत गरीब परिवार के लोग अपने घर के लिए दर-दर भटक रहे हैं लेकिन उन्हें आज तक पक्का घर नहीं मिल पाया है.

हालात यह है कि अब इन गरीब परिवारों के घरों मे शहनाई भी नहीं बज रही है. गरीबी की जिंदगी गुजर बसर करनेवाले इन परिवारों ने सबों से गुहार लगाई लेकिन सिर्फ आश्वासन ही मिला. कच्चे टूटे-फूटे मकान में प्लास्टिक की चादर बिछकर ये गरीब परिवार अपनी जिंदगी गुजर बसर कर रहे हैं. इतना ही नहीं बारिश ने तो इन परिवारों पर कहर बरपाया है. यह हाल है अमेठी के दुर्गापुर पंचायत का. 

यहां तकरीबन 12 परिवार के लोग पिछले 10 वर्षों से एक अदद आवास के लिए भटक रहे हैं, लेकिन इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. जिला मुख्यालय से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भादर पंचायत के दुर्गापुर गांव की महिलाओं का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर वे स्थानीय स्वयंसेवक, जनसेवक, मुखिया, बीडीओ एवं जिला के आला अधिकारियों से भी गुहार लगा चुके हैं. लेकिन अब तक महज आश्वासन ही मिला है. पंचायत मुखिया इतना दबंग है कि गरीब को आवास नहीं दिलाता है कहता है कि कंप्यूटर में कुछ गड़बड़ियों के कारण ही इन गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है इस बाबत उन्होंने जिले के आला अधिकारियों बीडीओ को भला भला कहता है लेकिन इन गरीबों की समस्याओं का हल अभी तक नहीं हो पाया है.

दुर्गापुर गांव की कई महिलाओं धनपति रामरति राजकरण वर्मा इस गांव के कई ग्रामीण लोग का कहना है कि घर नहीं रहने के कारण बच्चों की शादी भी नहीं हो पा रही है. गरीबी की मार झेल रहे इन परिवारों का मजदूरी से ही गुजर बसर होता है. महंगाई की मार के चलते इन परिवारों को महज दो वक्त की रोटी मिल पाती है. यही वजह है कि ये परिवार उम्र के इस पड़ाव पर भी अपना पक्का घर नहीं बना पा रहे. 

हालांकि, प्रधानमंत्री आवास योजना से इन्हें उम्मीद की किरण दिखाई दी थी लेकिन वह भी सरकारी फाइलों एवं बाबूओं के चक्कर में फस गई और ये लोग अब तक कच्चे एवं टूटे-फूटे मकान में रहने को विवश हैं. स्थानीय लोगों का मानना है कि इन गरीब परिवारों के साथ स्वयंसेवक, पंचायत सेवक अन्य कर्मियों ने धोखा किया है. बताया जाता है कि सर्वेक्षण के कारण प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ इन तक नहीं पहुंच पाया की मुखिया भी नहीं चाहता है कि गरीबों को आवास मिले  इन गरीब परिवारों को आवास की अत्यंत आवश्यकता है. मुखिया के पास जब कोई मीडिया या पत्रकार जाता है तो गोल मटोल करके कहता है कि हमारा पूरा प्रयास है कि इन सभी परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिले. दुर्भाग्य की बात है कि गरीबों को आशियाने के साथ-साथ जो इस के लिए जिम्मेदार हैं उन कर्मियों व अधिकारियों को कोई दंड भी नहीं मिल रहा है. जब पंचायत की मुखिया इतना दबंग है तो गरीब लोग क्या कर सकते हैं 

lucknow

Oct 12 2021, 19:29

18 वर्षीय युवती लापता, मानसिक हालत बताई जा रही खराब

अमेठी - दिमागी हालत खराब 18 वर्ष की युवती लापता है। मामला अमेठी के ग्राम सभा बनवीरपुर का है। जहां के रहने वाले बृजलाल यादव उम्र लगभग 45 वर्ष की 18 वर्ष की लड़की सुबह 9 बजे के करीब अपने घर से गायब है। जब घर वालों को पता चला तो घरवाले सुबह से ढूंढने लगे तो कुछ लोगों ने बताया कि लड़की नदी की तरफ गई है। लड़की के घरवाले और गांव वाले सुबह से ढूंढ रहे हैं,लेकिन अभी तक कोई पता नहीं चला।

मामले की शिकायत गांव वालों ने थाना संग्रामपुर पुलिस को किया संग्रामपुर पुलिस मौके पहुंच कर छानबीन कर रही है लेकिन अभी तक कुछ पता नहीं चला गांव के रहने वाले विद्यासागर यादव ने बताया की हम लोग सुबह से लड़की को ढूंढ रहे हैं लेकिन अभी तक कोई पता नहीं चला। 

lucknow

Oct 12 2021, 19:28

सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन

लखनऊ -  पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय मॉडल इण्टर कालेज, फतेहपुर जसोदा कन्नौज में त्रैमासिक द्वितीय सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद स्तर पर कक्षा 09 से 12 तक के छात्र/छात्राओं की चित्रकला,स्लोगन / कविता तथा क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। चित्रकला में 32 छात्र/छात्राओं ने, क्विज प्रयोगिता में 32, स्लोगन प्रतियोगिता में 24 छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया, राजकीय अभिवन विद्यालय गंगधरापुर के चित्रकला में 04 छात्र/छात्राअेां,क्विज में 08 छात्र/छात्राओं और स्लोगन/कविता में 03 छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया, गोमती देवी गल्र्स इंटर कालेज की 04 छात्राओं ने चित्रकला में, क्विज में शून्य, स्लोगन/कविता में 06 छात्राओं ने प्रतिभाग किया तथा राजकीय हाईस्कूल हुसेपुर करन के चित्रकला में 40 छात्र/छात्राओ, क्विज में 46 छात्र/छात्राओं, स्लोगन/कविता में 39 छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया।

त्रैमासिक द्वितीय सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के अन्तर्गत आयोजित प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल के सदस्यगण (लाला श्यामलाल इंटर कालेज के प्रधानाचार्य श्री आशीष शुक्ला, राजकीय अभिवन विद्यालय गंगधरापुर के प्रधानाचार्य श्री अजय यादव, पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय माॅडल इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य श्री शिवमोहन कुशवाहा जी) द्वारा प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान पाने वाले छात्र/छात्राओं के नाम निम्न हैं-चित्रकला/पोस्टर प्रतियोगिता प्रथम स्थान-दुर्गा शर्मा पुत्री श्री रमेश चन्द्रद्वितीय स्थान-रवी शर्मा पुत्र श्री रामसनेही शर्मातृतीय स्थान-जया बाथम पुत्री श्री वीरेन्द्र बाथमस्लोगन/कविता लेखनप्रथम स्थान-काजल सिंह पुत्री श्री रनवीर सिंहद्वितीय स्थान-खुशी यादव पुत्री श्री शिवनाथ यादवतृतीय स्थान-रविकेश राजपूत पुत्र श्री श्रवण कुमारक्विज प्रतियोगिता प्रथम स्थान-विकास यादव पुत्र श्री अनिल कुमारद्वितीय स्थान- प्रिंस कुशवाहा पुत्र श्री जय सिंह (लाटरी द्वारा)तृतीय स्थान-शिवानी तिवारी पुत्री मनीष कुमार रहे। 

lucknow

Oct 12 2021, 19:07

आवश्यक विधिक जानकारी रखना सभी का अधिकार 

लखनऊ - इस कार्यक्रम का उद्देश्य शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ समस्त आम जन तक पहुंचे एवं सभी में विधिक साक्षरता बढ़े। ये निर्देश आज जनपद में आज़ादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अंतर्गत जिला जज/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विरजेंद्र कुमार सिंह के निर्देशों के क्रम में प्रभारी सचिव/ सिविल जज(सीडि) शाम्भवी यादव द्वारा विधिक साक्षरता एवं अन्य शासन की जनहितकारी योजनाओं के व्यापक प्रचार प्रसार के उद्देश्य से अपने कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी के साथ आयोजित बैठक के दौरान दिए। 

उन्होंने कहा कि जनपद में प्रत्येक व्यक्ति को विधिक सेवाओं की जानकारी मुहैया कराना एवं विभिन्न योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराए जाने हेतु ग्रामीण स्तर पर प्रधानों एवं अन्य व्यक्तियों की सहायता से सभी को जानकारी मुहैया कराने हेतु विभिन्न स्थलों पर योजना बद्ध रूप से शिविर के आयोजन किये जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। आज इसी क्रम में तहसील छिबरामऊ के विकास खण्ड सौरिख के 34 प्रधानों को विधिक प्रशिक्षण दिया गया एवं सभी को अपने ग्राम में शिविर आयोजित कर विधिक जानकारी सभी को दिए जाने के निर्देश दिए गए।

इसी क्रम में अपर सिविल जज विकास वर्मा द्वारा भी जिला कारागार का निरीक्षण किया एवं वहां उपस्थित कैदियों को विधिक साक्षरता की जानकारी दी। उन्होंने जिला कारागार में कैदियों को पम्पलेट का वितरण किया एवं जिला जेल आओगी के समीपवर्ती ग्रामों में भी पम्पलेट वितरित करते हुए सभी को विधिक साक्षरता हेतु मौखिक जानकारी भी दी गयी एवं उसमें गरीब असहाय एवं जरूरतमंद व्यक्तियों को विधिक साहायत दिए जाने हेतु उनकी प्रविष्टियां भी अंकित की गई जिससे उनको विधिक साहायता दी जा सके। जनपद में आज जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में तहसील तिर्वा के विभिन्न क्षेत्रों में मोबाइल वैन के माध्यम से विधिक जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार किया गया एवं पंपलेट का भी वितरण सुनिश्चित किया गया।

आज न्यायिक मजिस्ट्रेट शालिनी विधेय द्वारा किशोर न्याय बोर्ड कन्नौज में भी विधिक सेवा के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु शिविर का आयोजन करते हुए वहां उपस्थित जनता को आवश्यक किशोर न्याय बोर्ड के प्रावधानों सहित अन्य विधिक जानकारियां उपलब्ध कराई गई एवं  शासन द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के संबंध में भी पम्पलेट्स के माध्यम से जानकारी दी गई। इसी क्रम में विकास खण्ड उमर्दा के अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय मवई बिलवारी में भी शिविर का आयोजन कर विधिक जानकारी दी गयी। 

lucknow

Oct 12 2021, 16:14

ट्रक में घुस कार वैगन, एक जख्मी

लखनऊ – लखनऊ-अयोध्या रोड पर एक दर्दनाक हादसा हो गया। हालांकि गनीमत ये रही की किसी की जान नहीं गई। मामला रौनाही थाना सत्ती चौरा चौकी क्षेत्र बसहा चौराहे का है। जब एक कार बैगन ट्रक में घुस गई। हादसे में चालक गंम्भीर रूप से जख्मी हो गया। इसे कार का दरवाजा काटकर निकाला गया। 

घायल को मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया. बताया जा रहा है कि कार चालक लखनऊ से अयोध्या की ओर जा रहा था। इसी दौरान ये हादसा हो गया। 

lucknow

Oct 12 2021, 16:13

सीएम आवास के बाहर युवक ने जहर खा कर दी जान देने की कोशिश

लखनऊ -  सीएम आवास के बाहर मंगलवार दोपहर एक युवक ने जहरीला पदार्ध काकर खुदकुशी करने की कोशिश की। हालांकि हालत बिगड़ती देख गौतमपल्ली थाने की पुलिस विमलेश को अस्पताल लेकर पहुंची। जहां से हालत नाजुक देख उसे ट्रामा रेफर कर दिया गया। 


सीएम आवास के बाहर मंगलवार दोपहर एक युवक की एकाएक हालत बिगड़ गई। यह देख पुलिस कर्मी उसे सिविल लेकर पहुंचे। जहां प्राथमिक उपचार किया गया। होश में आने पर युवक ने बताया कि वह मैनपुरी किसुनी का रहने वाला है। दबंगों ने जमीन पर कब्जा कर लिया है। फर्जी मुकदमे में फंस दिया। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी सुनवाई नहीं कर रहे हैं। अपनी समस्या लेकर जिलाधिकारी और कप्तान से भी मिला पर कोई मदद नहीं मिली। कि बार लखनऊ में उच्चाधिकारियों और सीएम से मिलने आया मुलाकात नहीं हो सकी।

जिससे त्रस्त होकर उसने आत्महत्या का प्रयास किया। फिलहाल युवक की हालत अब ठीक है। मैनपुरी पुलिस और विमलेश के घर वाले भी आ रहे हैं। 

lucknow

Oct 12 2021, 13:39

कोरोना अभी गया नहीं है, त्योहारों पर रहे विशेष सावधान

लखनऊ- ध्यान रहे की करोना अभी इस देश से गया नहीं है। देश में अभी भी इसके संक्रमण का खतरा मौजूद है। भारत में केरल, चेन्नई, बेंगलुरु, मुंबई, दिल्ली,असम, त्रिपुरा और पूर्वोत्तर राज्यों में कोविड-19 के संक्रमण के मरीज बड़ी संख्या में पाए जा रहे हैं। हमें आने वाले 3 महीने अतिरिक्त सतर्कता के गुजारने होंगे। आने वाले 2 माह लगातार त्योहारों के दिन होंगे बाजारों में भीड़ होगी, पर्यटन स्थल पर लोग एकत्र होंगे और एक दूसरे के घरों में आवाजाही भी होगी । ऐसे में हमें विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा दी गई गाइडलाइंस का पालन करते हुए सबसे पहले दोनों इंजेक्शन लगवाने अनिवार्य होंगे। इसके अलावा हमे अन्य सावधानियां पूरी तरह परिपालन में लानी होगी। भारत के अलावा अमेरिका तो पूरी तरह कोविड-19 की दूसरी और तीसरी लहर के गिरफ्त में है ही। 

अमेरिका में 7 लाख लोग मृत्यु को प्राप्त हो चुके हैं, भारत में लगभग 4 लाख से अधिक लोगों को कोविड-19 निकल चुका है और संक्रमण की लहर जारी है। इसके अलावा ब्रिटेन ,कनाडा, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इजरायल जैसे देश भी संक्रमण की तीसरी लहर से बच नहीं पा रहे हैं। ब्रिटेन में करोना संक्रमण के चलते क्रिकेट के टेस्ट मैच को रद्द करना पड़ा।ऐसे में भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश को विशेष सतर्क होकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की दी गई गाइडलाइंस का 100% परीपालन किया जाना अति आवश्यक है। कोविड-19 की तीसरी लहर की गेंद अब भारत के नागरिकों के पाले में आकर ठहरी हुई है। 

भारत के जनमानस को तीसरी लहर को खतरे को देखते हुए विशेष सतर्कता बरतनी चाहिएl भारत में विशेषकर केरल राज्य में कोविड-19 की तीसरी लहर का प्रकोप थमता हुआ नहीं दिख रहा है। वहां रोज 20, हजार से ज्यादा संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं। वस्तुतः वहां वैक्सीनेशन की रफ्तार भी बहुत तेज हुई है, और लगभग 90% लोगों को वैक्सीनेशन किया जा चुका है। तो फिर ऐसा क्या हुआ है कि केरल पूरे देश का कोविड-19 के संक्रमण का बड़ा केंद्र बन चुका है। भारत में कॅरोना की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। जिसका परिणाम केरल में कोविड-19 की तीसरी लहर का विस्फोट हुआ था ।ऐसे में वहां स्थिति नियंत्रण से बाहर होते जा रही हैl अब केरल में नई परेशानी का सबब कोविड-19 का नया वायरस निपाह बन गया हैl इस वायरस से एक बच्चे की मृत्यु हुई है, और इस से संपर्क में रहने वाले 20 लोग सिपाह से ही संक्रमित पाए गए थेl केरल की स्थिति चिंताजनक है। केंद्र शासन भी वहां सहायता के लिए हर तरह संभव प्रयास कर रही हैl 

इसी तरह पूरे देश में ताजा सूचना के अनुसार कल यानी 10 अक्टूबर को18 हजार से ज्यादा संक्रमित लोग पाए गए थेl इसी तरह मुंबई,दिल्ली,हैदराबाद, कोच्चि,कोलकाता,मद्रास में कभी भी कोविड-19 के संक्रमण कि किसी लहर की विस्फोटक स्थिति बन सकती हैl विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना की तीसरी लहर की लगातार चेतावनी देने के बाद भी यदि हम नहीं समझते हैं, तो यह हमारी ही जिम्मेदारी हैl न्यूज़ एजेंसी के अनुसार निपाह वायरस बच्चों तथा युवा लोगों को ज्यादा संक्रमित करता है ।एवं इसकी संक्रमण की तीव्रता डेल्टा वैरीअंट से कहीं ज्यादा हैlअमेरिका, ब्रिटेन, इजराइल, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, इंडोनेशिया,थाईलैंड, म्यांमार आदि देशों में यह संक्रमण तेजी से फैला हैl इंडोनेशिया जनसंख्या के हिसाब से विश्व में चौथे नंबर का देश है। वहां करोना के तीसरी लहर की स्थिति अत्यंत विस्फोटक है। इंडोनेशिया, मलेशिया तथा म्यानमार में लगभग कुल 2लाख लोगों की मृत्यु हो चुकी है। भारत में भी करोना की तीसरी लहर की स्थिति निरंतर मेट्रोपॉलिटन सिटी से लेकर देश राज्यों की राजधानी में भी चिंताजनक बनी हुई है। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में पहले से ही करोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। अरुणाचल प्रदेश, हिमाचल प्रदेश,असम में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। इन हालातों में राज्य सरकारों,केंद्र सरकार समाजिक संगठनों एन,जी,ओ को फिर से सक्रिय होकर वैक्सीनेशन की रफ्तार को लगभग दुगुना करना होगा। तब जाकर हम इससे निजात पा सकेंगे। अमेरिका, इजरायल, ब्रिटेन, फ्रांस,कनाडा, ऑस्ट्रेलिया में 60 साल से ऊपर वरिष्ठ नागरिकों को तीसरा बूस्टर डोज लगाने की तैयारी है। और इतने ही लगभग वैक्सीनेशन के लिए कतार में लगे हुए हैं। इन परिस्थितियों में बुजुर्गों को तीसरे बूस्टर डोस देने की कल्पना करना बेमानी है। देश में जब सभी लोगों को कोविड-19 का इंजेक्शन लग जाएगा तब जाकर बूस्टर डोस की कल्पना की जा सकती है। 

वर्तमान परिस्थितियों में हम सबको अत्यंत सावधान होकर विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा भारत देश के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दी गई गाइडलाइंस यानी दिशा निर्देश का अक्षर से पालन कर मास्क लगाकर ,आपस में पर्याप्त दूरी रख,भीड़-भाड़ से दूर रहकर बारंबार हाथ धोने होंगे, तब जाकर हम संक्रमण से बच पाएंगे। वैसे सबसे कारगर उपाय वैक्सीन लगवाना ही है। भारत में वैक्सीनेशन की रफ्तार को बहुत ज्यादा तेज करने की आवश्यकता होगी।ऐसे में भारत को विशेष सतर्कता रखकर ज्यादा वैक्सीनेशन का प्रयास किया जाना चाहिए। अन्यथा इतने बड़े विशाल देश में केरल राज्य की तरह किसी भी राज्य की विस्फोटक की सूचना किसी भी दिन समाचार पत्रों, टीवी चैनल, तथा मीडिया के माध्यम से मिल सकती है। जो ज्यादा खतरनाक होगी। 

इस दौरान बड़े शहरों में स्कूल कॉलेज खोलने की प्रक्रिया तेज हो गई है। स्कूल कॉलेज को खोलना भी कम खतरनाक नहीं होगा। इससे संक्रमण का खतरा नौनिहालों और युवा पीढ़ी पर हो सकता है। कोविड-19 का तीसरा आक्रमण सबसे ज्यादा बच्चों और युवा पीढ़ी पर होने वाला है। अतः विशेष रूप से इन सब को सचेत कर स्वास्थ्य संगठनों के दिशा निर्देश का पालन करने की हिदायत देकर विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जाना चाहिए। देश के नागरिकों से अपेक्षा है कि वह स्वास्थ्य संगठनों द्वारा दी गई दिशा निर्देशों के परिपालन में अत्यंत सतर्क होकर अपना सम व्यवहार बनाए रखें अन्यथा कोविड-19 की तीसरी लहर को आने से रोकना मुश्किल हो जाएगा। 

lucknow

Oct 11 2021, 19:13

बैंकर्स व अधिकारी एक दूसरे से सामंजस्य स्थापित कर कार्यों में तेजी लाएं-डीएम

लखनऊ - जनता से व्यवहारिक रूप से वार्ता करें। प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स योजना के अंतर्गत प्रदेश में जनपद 10 शीर्ष स्थान पर विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत एक समान लाभार्थियों को लाभान्वित करें। ये निर्देश आज जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला सलाहकार समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए, बैंकवार समीक्षा के दौरान उपस्थित अधिकारियो व बैंकर्स को दिए। 

उन्होंने विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत कृत कार्यवाहियों की बैंकवार गहन समीक्षा करते हुए बताया कि जनपद में पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना के अंतर्गत प्राप्त लक्ष्य 4591 के सापेक्ष 5832 आवेदकों को ऋण स्वीकृत कर वितरित किये जा चुके है, जिस क्रम में जनपद प्रदेह के 10 शीर्ष स्थान पर है, जिस हेतु जिलाधिकारी ने सम्बंधित सभी बैंकर्स को और गहनता से कार्य कर और अच्छी प्रगाती लाने के निर्देश दिए। इसी क्रम में बताया गया कि एनयूएलएम, केवीआईबी, जिला उद्योग केंद्र से संबंधित योजनाओं में शीघ्र ही शत प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति कर ली जाएगी।

समाज कल्याण विभाग के अंतगत पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना एवं केवीआईसी के अंतर्गत पीएमईजीपी में सात लक्ष्य के सापेक्ष उपलब्धियां संतोषजनक न मिलने पर जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी प्रतिनिधि को शीघ्र लक्ष्य प्राप्त किये जाने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने बैक द्वार्रा बैठक में प्रेषित अधूरी एनआरएलएम की पत्रावलियों पर कड़ी नाराजगी जताते हुए बैंकों को अधूरी पत्रावली प्रेषित करने की स्थिति में संबंधित प्रोजेक्ट मैनेजर के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही किए जाने एवं आगे से बैंक को पूर्ण पतरा बलिया प्रेषित कर लक्ष्य के सापेक्ष उपलब्धि को शीघ्र प्राप्त करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने ऋण जमा अनुपात की समीक्षा की जिसमें एक्सिस , इंडियन ओवरसीज, कोटक महिंद्रा, स्टेट बैंक आफ इंडिया एवं बैंक आफ इंडिया का ऋण जमा अनुपात औसत 68 प्रतिशत से कम होने की दशा में सभी संबंधित बैंकर्स को मानक के अनुरूप ऋण जमा अनुपात किये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने केंद्रीय योजना कृषि आधारभूत संरचना निधि के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत उद्यमी किसानों के सामने उत्पादन संगठन स्वयं सहायता समूह सरकारी समितियों कृषि उद्यमी एवं एग्री स्टार्टअप के लिए कृषि आधारित संयंत्र स्थापित करने हेतु ब्याज अनुदान उपलब्ध कराए जाने की इस योजना में दो करोड़ के बैंक ऋण पर प्रतिवर्ष 3% ब्याज अनुदान का प्रावधान के संबंध में बताते हुए सभी पात्र कृषकों को इस योजना से लाभान्वित किए जाने के निर्देश दिए। 

श्री मिश्र ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत सभी बैंकों की एनपीए की स्थिति, मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना, एनआरएलएम एवं आरसेटी कन्नौज एवं तिर्वा द्वारा दिए जा रहे प्रशिक्षण की समीक्षा की एवं सभी योजनाओं में इस माह के अंत तक लक्ष्यों की प्राप्ति शत प्रतिशत किए जाने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान उन्होंने वर्ष 2022-23 हेतु नाबार्ड द्वारा राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास के अंतर्गत संभाव्यता युक्त ऋण योजना की पुस्तक का भी विमोचन किया। कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी आरएन सिंह, सहायक महाप्रबंधक आरबीआई राकेश चंद्रा, अग्रणीय जिला प्रबंधक श्री अभिषेक सिन्हा, परियोजना अधिकारी उपस्थित थे।