Ranchi

Nov 21 2020, 18:04

नेतरहाट विद्यालय की व्यवस्था अपनाकर किसी भी संस्थान में जान फूंकी जा सकती है,हेमंत सोरेन
  

 

रांची: नेतरहाट आवासीय विद्यालय ना सिर्फ झारखंड बल्कि देश के गौरवशाली और प्रख्यात विद्यालय के रूप में जाना जाता है । इस विद्यालय के गौरव को बनाने और  बताने की जरूरत नहीं है । सिर्फ थोड़ा आकार देने की जरूरत है, ताकि विश्व के पटल पर इस विद्यालय को पहचान दिलाई जा सके । मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने आज नेतरहाट आवासीय विद्यालय  परिसर का अवलोकन किया । विद्यालय परिवार की ओर से आयोजित अभिनंदन समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थापना काल से ही यह विद्यालय  नई ऊंचाइयों को छू रही है । इस विद्यालय की अपनी एक अलग ही पहचान है ।  बस इस पहचान  को आगे भी कायम और संरक्षित रखना है । इस विद्यालय की समृद्ध व्यवस्था को बनाए रखने में सरकार पूरा सहयोग करेगी । 

 ऑडिटोरियम परिसर में किया पौधारोपण,  लाइब्रेरी भी देखी 
 
अभिनंदन समारोह में प्राचार्य  संतोष कुमार सिंह ने विद्यालय परिवार की ओर से मुख्यमंत्री और उनकी धर्मपत्नी कल्पना सोरेन को स्मृति चिन्ह प्रदान किया । वहीं,  विद्यालय के ऑडिटोरियम परिसर में मुख्यमंत्री ने पौधरोपण किया और लाइब्रेरी का भ्रमण किया।

 यहां आने की दिली ख्वाहिश पूरी हुई 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे अर्से  बाद इस विद्यालय में आने का मौका मिला है । काफी समय से यहां आने की दिली ख्वाहिश थी , जो आज पूरी हुई ।  दूसरी बार यहां आकर काफी अच्छा लग रहा है ।  वैसे भी नेतरहाट की मनोरम वादियों में जो सैलानी आते हैं, उनकी यह यात्रा तभी पूरी मानी जाती है , जब उसने नेतरहाट आवासीय विद्यालय को देखा हो । यह विद्यालय  हमारे राज्य की शान है।

 अपने आप में अनूठा है यह आवासीय विद्यालय 

 मुख्यमंत्री ने कहा कि  नेतरहाट आवासीय विद्यालय अपने आप में अनूठा है । वर्ष 1954 में स्थापना के बाद से ही यह विद्यालय  हर क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करता आ रहा है । इस विद्यालय  का कैंपस 460 एकड़ में फैला हुआ है , जो कि देश में शायद ही किसी  विद्यालय का होगा । यहां विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में भी पारंगत बनाया जाता है । इस विद्यालय मैं किसी चीज की कोई कमी नहीं है । अपनी ताकत लेकर यह स्थापित है।

  • Ranchi
     @Ranchi  समावेशी शिक्षा के लिए यह  जाना जाता है 
    
    मुख्यमंत्री ने कहा कि इस  विद्यालय ने  समावेशी शिक्षा के क्षेत्र में अलग पहचान बनाई है । यहां के विद्यार्थी सिर्फ किताबी कीड़ा नहीं होते हैं।  वे जब इस विद्यालय से निकलते हैं तो हाथों में हुनर होता है , जिसकी बदौलत वे  विभिन्न क्षेत्रों में ना सिर्फ अपनी अलग  पहचान बनाते हैं  बल्कि दूसरों को भी उस काबिल बनाते हैं । अनुशासन और बेहतर व्यवस्था के लिए के लिए यह विद्यालय जाना जाता है ।
    
     यहां के विद्यार्थी हर क्षेत्र में लहरा रहे हैं परचम 
    
     मुख्यमंत्री ने इस विद्यालय की तारीफ करते हुए कहा कि यहां के विद्यार्थी हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रहे हैं ।  ये अपने साथ-साथ परिवार, समाज, राज्य और देश का भी नाम रोशन कर रहे हैं । ऐसे संस्थानों को संरक्षित करने और बढ़ावा देने  के लिए सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी ।
    
     सरकारी व्यवस्था की मिसाल है यह विद्यालय 
    
     मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग अक्सर सरकारी व्यवस्थाओं पर सवाल खड़ा करते हैं । लेकिन  इस स्कूल की व्यवस्था  मिसाल है। यहां की व्यवस्था को अपनाकर किसी भी संस्थान में जान फूंका जा सकता है ।
    
     नेतरहाट जैसे विद्यालयों की आज जरूरत है 
    
     मुख्यमंत्री ने कहा कि आज नेतरहाट जैसे विद्यालयों की जरूरत है । इस विद्यालय की उर्जा का इस्तेमाल अन्य विद्यालयों की व्यवस्था को बेहतर और उत्तम बनाने में किया जा सकता है । सरकार इस दिशा में बहुत जल्द बड़े  कदम उठाने जा रही है । 
  • Ranchi
     @Ranchi  समावेशी शिक्षा के लिए यह  जाना जाता है 
    
    मुख्यमंत्री ने कहा कि इस  विद्यालय ने  समावेशी शिक्षा के क्षेत्र में अलग पहचान बनाई है । यहां के विद्यार्थी सिर्फ किताबी कीड़ा नहीं होते हैं।  वे जब इस विद्यालय से निकलते हैं तो हाथों में हुनर होता है , जिसकी बदौलत वे  विभिन्न क्षेत्रों में ना सिर्फ अपनी अलग  पहचान बनाते हैं  बल्कि दूसरों को भी उस काबिल बनाते हैं । अनुशासन और बेहतर व्यवस्था के लिए के लिए यह विद्यालय जाना जाता है ।
    
     यहां के विद्यार्थी हर क्षेत्र में लहरा रहे हैं परचम 
    
     मुख्यमंत्री ने इस विद्यालय की तारीफ करते हुए कहा कि यहां के विद्यार्थी हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रहे हैं ।  ये अपने साथ-साथ परिवार, समाज, राज्य और देश का भी नाम रोशन कर रहे हैं । ऐसे संस्थानों को संरक्षित करने और बढ़ावा देने  के लिए सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी ।
    
     सरकारी व्यवस्था की मिसाल है यह विद्यालय 
    
     मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग अक्सर सरकारी व्यवस्थाओं पर सवाल खड़ा करते हैं । लेकिन  इस स्कूल की व्यवस्था  मिसाल है। यहां की व्यवस्था को अपनाकर किसी भी संस्थान में जान फूंका जा सकता है ।
    
     नेतरहाट जैसे विद्यालयों की आज जरूरत है 
    
     मुख्यमंत्री ने कहा कि आज नेतरहाट जैसे विद्यालयों की जरूरत है । इस विद्यालय की उर्जा का इस्तेमाल अन्य विद्यालयों की व्यवस्था को बेहतर और उत्तम बनाने में किया जा सकता है । सरकार इस दिशा में बहुत जल्द बड़े  कदम उठाने जा रही है । 
Ranchi

Nov 21 2020, 17:59

गुपकार गठबंधन पर झारखंड कांग्रेस मंशा स्पष्ट करे...... दीपक प्रकाश
  


रांची: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम सांसद दीपक प्रकाश ने आज कांग्रेस पार्टी पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस आज राष्ट्र विरोधी शक्तियों के साथ खड़ी है।प्रकाश प्रदेश कार्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 एवम 35 ए समाप्त होने से राष्ट्र की एकात्मता तो मजबूत हुई ही।इसका सर्वाधिक लाभ वहाँ निवास करने वाले आदिवासी और दलित समाज को हुआ।भारत के संविधान लागू होने से इन वर्गों को संविधान में वर्णित सारी सुविधाएं मिलने लग गई।कहा कि कांग्रेस पार्टी का गुपकार गठबंधन के साथ मिलकर अनुच्छेद 370 की वापसी की बात करना राष्ट्र विरोधी शक्तियों को बढ़ावा देना है।प्रकाश ने कहा कि गुपकार गठबंधन के सभी नेताओं के बयान राष्ट्र के खिलाफ क्यों हैं? फारुख अब्दुल्ला जी चीन की मदद से 370 वापसी की बात कर रहे,महबूबा मुफ्ती तिरंगा का अपमान कर रही,वही कश्मीर के युवा कांग्रेस नेता जहाँजेब सिरवाल राहुल गांधी जी के नक्शेकदम पर चलते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन से अनुच्छेद 370 लागू करवाने की बात कर रहे।
उन्होंने कहा कि काँग्रेस की सफाई समझ से परे है जिसमे वे अपने को गुपकार डिक्लेरेशन का हिस्सा नही मान रहे।प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस गुपकार  की हिस्सा थी और अब भी है। और कांग्रेस इस गठबंधन के साथ ज़िला विकास परिषद (डीडीसी)के चुनाव को भी लड़ने जा रही।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस का देश द्रोही गतिविधियों में शामिल लोगों के साथ रहना पुराना चरित्र है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ,गुलाम नबी आजाद 370 की पुनर्बहाली की बात सार्वजनिक रुप से करते हैं। राहुल गांधी जी ने धारा 370 को लेकर जो टिप्पणी की थी उसका उपयोग पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र संघ में किया,शशि थरूर ने पाकिस्तान के मंच पर हिंदुस्तान की बुराई की,मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान की धरती से नरेंद्र मोदी जी को हटाने केलिये पाकिस्तान से मदद की गुहार लगाई ,राहुल जी जेएनयू में देशद्रोहियों का साथ देते है,सोनिया गांधी बटला हाउस में आतंकियों की मौत पर आंसू बहाती है।

  • Ranchi
     @Ranchi उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी बिनाश काले विपरीत बुद्धि को चरितार्थ कर रही है।कांग्रेस का अलगाववादी नेताओं के साथ प्रेम देश और जम्मू कश्मीर के राजनीतिक भविष्य केलिये चिंताजनक है।प्रकाश ने कहा कि जम्मू कश्मीर में जहां गोलियां और खून नजर आते थे वहां अब प्राकृतिक सुंदरता की सुगंध महक रही है।लेकिन गुपकार गठबंधन की मंशा फिर से जन्नत में जहर घोलने की है जिसे मोदी सरकार कभी सफल नही होने देगी।आज की प्रेसवार्ता में प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक एवमप्रदेश प्रवक्ता अनिमेष कुमार सिंह भी उपस्थित रहे। 
Ranchi

Nov 21 2020, 16:20

*चार दिनों से लापता युवक का मिला शव,पुलिस जुटी मामले की जांच में*
  


रांची: नामकुम के खरसीदाग ओपी थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह एक युवक का शव मिला है। मृतक की पहचान सोड़ा गांव के प्रेम कच्छप के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक, प्रथम दृष्ट्या हत्या का मामला लग रहा है। फिलहाल अज्ञात अपराधियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। घटनास्थल पर ग्रामीण एसपी नौशाद अंसारी पहुंचे और मामले की जांच पड़ताल में जुट गए।खरसीदाग ओपी के प्रभारी के मुताबिक युवक चार दिन से लापता था। हालांकि इससे संबंधित कोई शिकायत थाने में दर्ज नहीं कराई गई है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

Ranchi

Nov 21 2020, 13:17

चतरा में माओवादियों ने छठ घाट पर की गोलीबारी, कोयला कारोबारी की मौत
  



चतरा - झारखंड के चतरा में माओवादियों ने छठ घाट पर गोलीबारी की, जिसमें कोयला कारोबारी मुकेश गिरी गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें आनन-फानन में हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
फायरिंग की ये घटना पत्थलगड़ा और सिमरिया प्रखंड के सीमा पर स्थित सिनपुर डैम पर हुई। जानकारी के अनुसार, बाइक सवार हथियारबंद भाकपा माओवादियों ने तपसा गांव निवासी मुकेश गिरी को अपने कब्जे में ले लिया और उनकी पिटाई की।
नक्सलियों ने बाद में इंसास रायफल से मुकेश गिरी को तीन गोली मारी। गोली लगने से घायल मुकेश गिरी को प्राथमिक उपचार के बाद हजारीबाग रेफर किया गया, जहां अस्पताल में इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गयी। इस नक्सली घटना के बाद इलाके में अफरा-तफरी मच गई। छठ व्रती जैसे-तैसे जल्दबाजी में अर्घ्य अर्पित कर मौके से भागने लगे। 
घटना की सूचना मिलते ही सिमरिया एसडीपीओ बचन देव कुजूर, पत्थलगड़ा थाना प्रभारी निरंजन कुमार मिश्रा और अन्य पुलिसकर्मी घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस को मौके से इंसास की तीन गोली के खोखे और नक्सली पर्चा मिला है। घटना की जिम्मेदारी भाकपा माओवादियों ने ली है।

Ranchi

Nov 21 2020, 11:59

बुंडू में माओवादियों ने की पोस्टरबाजी, पूंजीपति वर्ग को लेकर दी चेतावनी
  


बुंडू - रांची जिले के शहरी इलाके में एकबार फिर माओवादी ने अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए बुंडू शहर के बीचोबीच पोस्टरबाजी की है। पोस्टर के माध्यम से कॉरपोरेट, दलाल और बड़े पूंजीपतियों की लूट को बंद कराने हेतु पीएलजीए में शामिल होने का आह्वान किया है। 
बुंडू पुलिस ने शहर के बीचोबीच दीवार में लगाए गए पोस्टर को अहले सुबह जब्त किया। बुंडू अनुमण्डल के शहरवासियों में माओवादियों द्वारा किये गए पोस्टरबाजी से भय का माहौल बन रहा है। हालांकि बुंडू अनुमण्डल की पुलिस ने सूचना मिलते ही माओवादियों की धर पकड़ के लिए अभियान की शुरुआत कर दी है। पुलिस ने संबंधित मामले में किसी तरह का बयान देने से इनकार किया है।

Ranchi

Nov 20 2020, 18:02

रांची के छठ घाटों औऱ कृत्रिम जालस्यो में छठ  व्रतियों ने डूबते सूर्य को दिया अर्घ्य, जुटी लोगों की भारी भीड़
  


रांची: लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर शहर के 69 स्थानों पर व्रतियों ने घाट पर पहुंचकर डूबते सूरज को अर्घ्य दिया। अर्घ्य देने के बाद व्रती परिवार के साथ घर लौटे। अब शनिवार सुबह उदयीमान सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा जिसके बाद छठ महापर्व का समापन हो जाएगा। उधर, महापर्व को लेकर राजधानी के छठ घाटों पर भीड़ उमड़ी। छठ घाटों को नगर निगम और पूजा समितियों को ओर सजाया गया था।

Ranchi

Nov 19 2020, 19:49

कांग्रेस जानो के तरफ से छठव्रतियों की सुविधा के लिए शहर के विभिन्न स्थानों पर कृत्रिम तालाब बनाया गया
  


रांची: रांची महानगर भुवन भास्कर छठ पूजा समिति एवं कांग्रेस जनों की ओर से छठ महापर्व पर राज्य सरकार के गाइडलाइन का पालन करते हुए छठव्रतियों की सुविधा शहर के विभिन्न स्थानों पर कृत्रिम तालाब बनाने का कार्य पूरा कर लिया गया है, जबकि अन्य सभी छठ घाटों की साफ-सफाई तथा कोरोना महामारी को लेकर सैनिटाइजेशन के काम को भी आज युद्धस्तर पर पूरा किया गया।
समिति के मुख्य संरक्षक आलोक कुमार दूबे ने बताया कि डोरंडा 56 सेट में कृत्रिम तालाब बनाने का काम आज पूरा कर लिया गया, जमीन के नीचे पानी कम सोखे, इसे लेकर पहले प्लास्टिक बिछा कर टैंकर और अन्य माध्यमों से उसमें जल भरने का काम भी शुरू हो गया है और कल अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पित करने के पहले सभी कृत्रिम तालाब में पानी भरने का काम पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि  हरमू में भी पीएन सिंह सेवा समिति की ओर से अमरेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में छठव्रतियों की सुविधा के लिए कृत्रिम तालाब का निर्माण कराया गया है। इसी तरह से राजधानी के कई मुहल्ले यथा रातू रोड,चुटिया,लालपुर,नामकोम, हटिया,धुर्वा सहित अन्य मुहल्लों में कांग्रेस जनों तथा महानगर भुवन भास्कर छठ पूजा समिति के संयुक्त  प्रयास से छठ महापर्व को लेकर उत्साह और उमंग के साथ छठव्रतियों का सहयोग किया गया है ताकि 
इधर, झारखंड प्रदेश प्रोफेशनल कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष आदित्य विक्रम जायसवाल की ओर से भी आज भी शहर के विभिन्न तालाबों में फौगिंग और सेनिटाइजेशन का काम कराया गया, ब्लीचिंग पाउडर का भी छिड़काव कराय गया है। साथ ही छठ घाटों में रौशनी की भी व्यवस्था का काम किया जा रहा है।आलोक दुबे ने कहां है की सरकार द्वारा नदी तालाबों में छठ आयोजन को लेकर अनुमति देने के बावजूद कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है इसलिए राजधानी के लोगों से निवेदन है कि वह घरों पर या फिर अपने मोहल्ले में ही छठ का त्यौहार आयोजित करें। उन्होंने कहा कि कल भी कृत्रिम तालाबों एवं छठ घाटों में कांग्रेस जनों द्वारा आम लोगों को सहायता उपलब्ध कराने का काम किया जाएगा उन्होंने लोक आस्था के इस महान पर्व के लिए सरकार का साथ देने के लिए आम जनमानस को धन्यवाद दिया है।छठ पूजा समिति के मुख्य संरक्षक लाल किशोर नाथ शाहदेव ने बताया कि समिति की ओर से छठ घाटों पर सैनिटाइजर और मास्क का भी वितरण किया जाएगा। उन्होंने नगर निगम और जिला प्रशासन से भी अपील की है कि जिन.जिन स्थानों पर  कृत्रिम तालाब का निर्माण कराया गया है वहां टैंकर के माध्यम से पानी की सुविधा उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने सभी छठ घाटों में सुरक्षा.व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम का भी आग्रह किया है और बड़े व गहराई वाले छठ घाटों में गोताखोर की व्यवस्था करने का भी आग्रह किया है।  प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डा राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि बड़ी संख्या मे

  • Ranchi
     @Ranchi  छठ पूजा समिति के मुख्य संरक्षक लाल किशोर नाथ शाहदेव ने बताया कि समिति की ओर से छठ घाटों पर सैनिटाइजर और मास्क का भी वितरण किया जाएगा। उन्होंने नगर निगम और जिला प्रशासन से भी अपील की है कि जिन.जिन स्थानों पर  कृत्रिम तालाब का निर्माण कराया गया है वहां टैंकर के माध्यम से पानी की सुविधा उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने सभी छठ घाटों में सुरक्षा.व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम का भी आग्रह किया है और बड़े व गहराई वाले छठ घाटों में गोताखोर की व्यवस्था करने का भी आग्रह किया है।  प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता डा राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि बड़ी संख्या में लोग कोरोना काल की वजह से अपने घर में भी कृत्रिम जलाशय की व्यवस्था कर अर्घ्य अर्पित करने की तैयारी कर रहे है,ऐसे सभी छठव्रतियों को कोई दिक्कत न हो इसका विशेष ध्यान रखने की जरूरत है और छठ पूजा समिति ऐसे सभी श्रद्धालुओं के सहयोग के लिए तत्पर है। 
Ranchi

Nov 19 2020, 19:03

झारखंड राज्य के डीजीपी एम वी राव सुरक्षा व्यवस्था और अपराध को लेकर समीक्षा बैठक करने पहुंचे दुमका
  



रांची :--झारखंड राज्य के डीजीपी एम वी राव सुरक्षा व्यवस्था और अपराध को लेकर समीक्षा बैठक करने दुमका पहुंचे। बैठक में संथाल परगना क्षेत्र के डीआईजी सुदर्शन मंडल ,एसएसबी के एसपी एस मिश्रा ,एसपी अम्बर लकड़ा समेत ज़िला के सभी डीएसपी मौजूद थे ।एक घंटे से अधिक देर तक चले इस समीक्षा बैठक में अपराध और उग्रवाद मुख्य मुद्दा रहा।डीजीपी राव ने सभी पुलिस पदाधिकारियों अपराध नियंत्रण करने के लिए टास्क दिया और सख्ती से उसे पूरा करने के लिए कहा गया ।बाद में मीडिया से बातचीत में डीजीपी एम भी राव ने कहा कि अपराधियों को उसकी के भाषा मे जबाब दिया जाएगा ।हथियारों से लैस होकर अपराध करने वाले अपराधी अब बख्से नही जाएंगे । 


उन्होंने कहा पुलिस को निर्देश दिया गया है कि सस्त्र अपराधियों को पकड़ कर जेल में डाले ।यदि अपराधी अवैध हथियार से लैस होकर विरोध करता है तो उसका इंकॉउंटर कर दिया जाय ।उन्होंने कहा ऐसे अपराधियो को गोली मारने में पुलिस कोई संकोच नही करे और  ना ही कानूनी अड़चनों से डरे नही । पुलिस प्रशासन इसकी सारी जिम्मेवारी उठायेगी । 


उन्होंने शिकारीपाड़ा में अपराधी मुन्ना राय द्वारा गोली कांड और रंगदारी मांगने और गोली मारने की धमकी पर उन्होंने कहा कि दुमका आना एक बड़ा कारण यह भी है।डीजीपी ने कहा कि उन्होंने पुलिस को स्पष्ट निर्देश दिया है कि दूसरे की जान माल की क्षति पहुंचाने वाले अपराधी का तुरंत इंकॉउंटर करे ।कानून ऐसे अपराधियो का इंकॉउंटर का इजाजत देती है ।उन्होंने पोलटिकल प्रोटनेज पर कहा कि पुलिस किसी राजनीतिक दल या फिर धर्म और जात देखकर काम नही करती ।पुलिस का मुख्य काम है जनता को सुरक्षा प्रदान करना जिसपर उनका फोकस है ।

Ranchi

Nov 19 2020, 18:35

आखिर ऑडियो क्लिप के मामले में एनआईए जांच की अनुशंसा करने से क्यों भाग रही है राज्य सरकार -भाजपा
  


रांची: भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने बसंत सोरेन की उस बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त की जिसमें बसंत सोरेन ने ऑडियो क्लिप की किसी भी एजेंसी से जांच कराने की बात कही थी  प्रतुल शाहदेव ने कहा कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने उस ऑडियो क्लिप को सामने लाते हुए इसकी एनआईए जांच कराने की मांग की थी ।अब बसंत सोरेन भी यही मांग कर रहे हैं। तो यहां हास्यास्पद स्थिति उत्पन्न हो जाती है।आखिर सरकार में उनके बड़े भाई ही मुख्यमंत्री हैं। तो राज्य सरकार को अविलंब इस पूरे मामले की एनआईए जांच की अनुशंसा करनी चाहिए।जिस तरीके से दुमका इलाके में व्यवसायियों और जनता को फिरौती की धमकी आ रही है यह प्रदेश की चौपट हो गई विधि व्यवस्था को दिखाता है। इस मामले की भी राज्य सरकार झारखंड पुलिस से लीपापोती कराने में जुट गई है।प्रतुल ने कहा की अगर राज्य सरकार एनआईए जांच की अनुशंसा नहीं करती है तो यह पूरा मामला संदेहास्पद हो जाएगा और ऐसा प्रतीत होगा कि राज्य सरकार किसी बड़े षड्यंत्र को छिपाने की कोशिश कर रही है। इसके पूर्व भी  मुख्यमंत्री के विधानसभा प्रतिनिधि के द्वारा ठेके को मैनेज करने की ऑडियो क्लिप सामने आई थी। सरकार ने उस पर भी कोई जांच नहीं कराई थी। ज़ाहिर है सरकार छिपाने में लगी है।प्रतुल ने कहा कि मुख्यमंत्री को अविलंब इस पूरे मामले की एनआईए जांच की अनुशंसा करनी चाहिए।आखिर एक अपराधी ने फिरौती मांगने के लिए एक विधायक के नाम का प्रयोग किया है जो उनके छोटे भाई भी हैं। इस मामले की सच्चाई की तह तक जाने के लिए एनआईए की जांच अति आवश्यक है ।

Ranchi

Nov 19 2020, 13:20

लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर तैयारियां अंतिम चरण पर
  



बुंडू:-- सूर्य मंदिर स्थित तालाब में छठ का विशेष महत्व है। छठ में भगवान सूर्य की उपासना की जाती है और सूर्य मंदिर इसका प्रतीक है। बुंडू  के अलेवा रांची से भी सेकोड़ो  छठव्रती सूर्य मंदिर स्थित तालाब में भगवान सूर्य को अर्घ्य देने के लिए पहुंचते हैं। दूर दराज से आने वाले श्रद्धालु छठ के पूर्व ही सूर्य मंदिर पहुंचते हैं उनके रहने की भी व्यवस्था मंदिर प्रबंधन द्वारा की जाती है। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इस बार रहने की व्यवस्था नहीं की जा रही है। सरकार के निर्देशानुसार छठ पर्व को लेकर विशेष एहतियात बरती जाएगी, सोशल डिस्टेंसिङ्ग का पालन भी कराया जाएगा। सभी घाटों बच्चो और बुजुर्गों की आवाजाही पर रोक लगाई गई है। 


लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर तैयारियां अंतिम चरण पर हैं। रानी चुंआ, मैनेजर तालाब समेत अन्य छठ घाटों और तालाबों को बुंडू नगर पंचायत की ओर से साफ सफाई कराया जा रहा है। तालाब के किनारे बड़ी संख्या में उगे खरपतवार घास फूस को निकालकर साफ किया जा रहा है। वही छठ व्रतियों को किसी तरह की परेशानी ना हो इसलिए छठ घाटों के पूरे मार्ग की भी सफाई भी की जा रही है। बुंडू सूर्य मंदिर में विगत कई वर्षों से छठ के लिए लोग अन्य जिलों से पहुंचते हैं और पूरी श्रद्धा और भक्ति भाव से छठव्रती उदीयमान और अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य चढ़ाते हैं।