Ranchi

Mar 31 2020, 08:57

रांची के हिंदपीढ़ी इलाके के बड़ी मस्जिद में रूके 17 विदेशी मुस्लिम सहित 24 को पुलिस ने किया क्वॉरेंटाइन, खेलगांव में किया गया शिफ्ट

 रांची : हिंदपीढ़ी थाना क्षेत्र के बड़ी मस्जिद में रुके 17 विदेशी मुस्लिम सहित 24 लोगों को रांची पुलिस ने क्वॉरेंटाइन किया है । जानकर के अनुसार 17 विदेशी मुस्लिम ब्रिटेन और मलेशिया के रहने वाले हैं । उनके साथ रह रहे 2 दिल्ली, 1 हैदराबाद और 4 रांची के युवकों को भी खेलगांव स्थित आइसोलेशन में शिफ्ट किया गया है । पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, हिंदपीढ़ी स्थित बड़ी मस्जिद से जिन 17 विदेशी नागरिकों को पुलिस ने क्वॉरेंटाइन में भेजा है । वह सभी केंद्र सरकार की परमिशन से जमात पर आये हुए हैं । उनको गाइड करने के लिए उनके साथ भारत के पांच अन्य लोग भी थे  सभी लोगों को पुलिस ने क्वॉरेंटाइन करके रखा है । प्रशासन सभी के बारे में जानकारी ले रही है । उनके पासपोर्ट और वीजा की भी जांच की जा रही है ।

Ranchi

Mar 30 2020, 20:32

राज्य सरकार और प्रशाशन के सामने विदेशी कर रहे धार्मिक स्थल का दुरुपयोग,बड़े साजिश की आशंका......अनंत ओझा


रांची : भाजपा के प्रदेश महामंत्री विधायक अनंत ओझा ने हेमंत सरकार और प्रशाशन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना संकट के बीच राज्य में गंभीर साजिश रचे जाने की आशंका है। यह बयान उन्होंने आज रांची के हिनपीढ़ी स्थित मस्जिद में पकड़े गए 24 विदेशियों के संबंध में अपनी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए दिया। ओझा ने कहा कि आज मस्जिद में विदेशियों के पाया जाना पहली घटना नही है बल्कि इसके पूर्व  रदगावँ स्थित मस्जिद से ऐसे छिपे हुए विदेशी जो चीन ,किर्गिस्तान जैसे देशों से हैं पकड़े गए थे।आज जो विदेशी पकड़े गए हैं उनके संबंध में प्राप्त सूचना के अनुसार वे अफ्रीका,मलेशिया आदि देशों से हैं।ओझा ने कहा कि पहली गिरफ्तारी के बाद ही सरकार और प्रशाशन को जांच में तेजी लानी चाहिय थी परंतु प्रशाशन इस संबंध में निश्चिन्त बैठा जान पड़ रहा है। ओझा ने कहा कि राज्य की जनता एक तरफ कोरोना संकट से जूझ रही वही दूसरी ओर विदेशी अराजक शक्तियां राज्य को अशांत करने की साजिश रचने में लगी है। और ऐसी शंकाएं आधार विहीन नही हैं।आखिर क्यों नही पहली गिरफ्तारी के बाद ही सरकार एवम प्रशाशन यह सुनिश्चित नही किया कि राज्य में और कहीं भी किसी मस्जिद बिना सूचना के इसे विदेशी नही छुपे हैं।
उन्होंने कहा कि राज्य की जनता को यह जानने का पूरा अधिकार है कि ऐसे विदेशी तत्व किसके बुलावे पर और किस उद्देश्य से मस्जिदों में छिपे है।आखिर कौन है इनका संरक्षक जो इस लॉक्ड डाउन की स्थिति में भी प्रशाशन को इनके छुपे होने की सूचना नही दे रहा।ओझा ने सरकार से मांग की कि सरकार बताए कि ये कौन लोग हैं और किस उद्देश्य से आये हैं। केवल पकड़कर कोरेन्टीन में डालने से इस गंभीर समस्या का समाधान नही होने वाला,इस संबंध में ब्यापक और गंभीर जांच सरकार सुनिश्चित करे।

Ranchi

Mar 30 2020, 19:21

लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करेंसबको राज्य वापस लाना सम्भव नहीं है.. मदद आप तक जरूर पहुँचेगी हेमन्त सोरेन



रांची :मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने उपायुक्त पलामू को लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का आदेश दिया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भी सुनिश्चित करें कि ऐसी स्थिति दोबारा ना हो इसका पूरा ध्यान रखें।

इसलिए दिया ऐसा निदेश.

मुख्यमंत्री को जानकारी मिली कि
पलामू स्थित हैदरनगर बाजार में लॉकडाउन में सामाजिक दूरी भी पालन नहीं हो रहा। बाजार में मेला जैसा माहौल। इसके बाद संक्रमण फैलने की संभावित आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री ने उपरोक्त आदेश दिया है।


आप घर पर रहेंगे..तो आपके अपने भी सुरक्षित रहेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य से बाहर रह रहे झारखण्ड के सभी भाई-बहन याद रखें।आपदा की घड़ी में आप अकेले नहीं हैं। पूरी राज्य सरकार आपके साथ है। देश व्यापी लॉकडाउन के कारण आप सभी को झारखण्ड वापस लाना सम्भव नहीं है, पर मदद आप तक जरूर पहुंचेगी। पुनः करबद्ध प्रार्थना है। जहां हैं। वहीं रहें। यही इस महामारी से बचने का सबसे कारगार और सुरक्षित उपाय है। मैं सभी राज्यों के मुख्यमंत्री के सम्पर्क में हूँ। ताकि आप तक मदद और जरूरी सुविधाएं जल्द से जल्द पहुंचे। जितना आप घर पर रहेंगे उतना ही आप और आपके अपने सुरक्षित रहेंगे । 


जरूरी दवा जल्द उपलब्ध कराएं

मुख्यमंत्री ने उपायुक्त बोकारो को डिप्रेशन के एक मरीज को जल्द जरूरी दवा उपलब्ध कराने का निदेश दिया है। 

नहीं मिल रही थी दवा..

मुख्यमंत्री को डिप्रेशन के शिकार व्यक्ति के भाई ने जानकारी दी कि उनका भाई डिप्रेशन का मरीज है और उसकी दवा रांची के कांके स्थित मेडिकल दुकान में ही मिलेगी। बोकारो में दवा मिल पाना असम्भव है। लॉकडाउन में रांची जाना मुश्किल है और दवा लेना आवश्यक है। कृपया सहायता करें।

पंजाबी भाईयों को मदद करे.

मुख्यमंत्री ने उपायुक्त धनबाद को धनबाद की एक कंपनी में कार्यरत पंजाबी भाइयों तक जरूरी मदद पहुँचाते हुए सूचित करने का आदेश दिया है। साथ ही कहा कि जिस कम्पनी में ये कार्यरत थे। वहां इनकी कोई आर्थिक क्षति ना हो। इन्हें इनका पूरा हक मिले। मुख्यमंत्री को वीडियो साझा कर जानकारी दी गई कि जिस कंपनी में वे कार्य करते हैं, वहां उन्हें खाना नहीं मिल रहा है और देशव्यापी डॉकडाउन है। ऐसे में उनका जीना मुहाल है।

  • Ranchi
     @Ranchi सफाईकर्मियों की परेशानी दूर करें
    
    मुख्यमंत्री ने उपायुक्त बोकारो को सफाईकर्मियों के साथ आ रही परेशानियों के समाधान का निदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृपया एक टीम भेजकर स्थिति का जायजा लें और उचित मदद पहुँचाते हुए सूचित करें।
    
    200 सफाईकर्मियों की है बात..
    
    मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई कि लॉक डाउन की वजह से बोकारो स्थित तीन बस्ती में रहने वाले करीब 200 सफाईकर्मियों को भोजन नहीं मिल रहा है। लॉकडाउन की वजह से दैनिक मजदूरी भी बंद है। उनका राशन कार्ड भी नहीं है। 
    
    राज्य के छात्रों को मदद पहुंचाने की शुरू हुई प्रक्रिया
    
    मुख्यमंत्री के आग्रह के बाद तमिलनाडु सरकार ने कोयम्बटूर में फंसे छात्रों को आवश्यक मदद पहुंचाने का भरोसा दिया है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्रों एवं वेल्लोर में ईलाज कराने आये लोगों के भोजन और रहने की व्यवस्था करने का निदेश दे दिया गया है। सोरेन ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री को इस मदद हेतु आभार व्यक्त किया है।
    
    
    ★मुख्यमंत्री द्वारा खूंटी के 281 आदिवासी भाईयों की मदद के आग्रह को कर्नाटक सरकार ने स्वीकारा
    
    मुख्यमंत्री के आग्रह को स्वीकार करते हुए कर्नाटक सरकार ने मंगलोर में फंसे खूंटी के 281 आदिवासी भाईयों को मदद पहुंचाने का भरोसा दिया है। मुख्यमंत्री को कर्नाटक सरकार ने बताया कि फंसे हुए लोगों को हर जरूरी मदद से आच्छादित किया जाएगा। 
Ranchi

Mar 30 2020, 19:11

हिंदपीढ़ी में मिले विदेशी नागरिको में नहीं मिले कोरोना के लक्षण, शुरूआती जांच में पासपोर्ट वीजा भी दुरुस्त:


राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी इलाके मेें 18 विदेशी मौलवियों के रहने की जानकारी पर पुलिस ने आज सभी को हिरासत में लेेेकर क्वारंटाइन किया। सभी ब्रिटिश नागरिक बताये जा रहे हैं। सभी विदेशी बड़ी मस्जिद में रुके थे। उनके साथ 2 दिल्ली, 1 हैदराबाद और 2 रांची के युवकों को भी खेलगांव स्थित आइसोलेशन सेंटर में शिफ्ट किया गया है। रांची डीसी के निर्देश पर एसडीओ और हिंदपीढ़ी थाने की पुलिस मेडिकल टीम के साथ पहुंची और सभी विदेशियों को क्वारंटाइन किया गया। फिलहाल सभी के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। उनके पासपोर्ट और वीजा की प्रारम्भिक जांच में सभी के कागजात दुरुस्त मिले हैं। साथ ही इनमे से किसी में भी कोरोना के लक्षण दिखाई नहीं दिए है। पुलिस प्रशासन ने सभी विदेशी नागरिकों की मेडिकल जांच कराई है। मेडिकल के प्रारंभिक जांच में किसी में कोराना के लक्षण नहीं मिले हैं। हालांकि, उन्हें आइसोलेट कर ऑब्जर्वेशन में रखा गया है। सबकुछ ठीक रहने पर सभी को पुलिस छोड़ देगी। फिलहाल एसडीओ सभी विदेशी नागरिकों के कागजातों का सत्यापन कर रहे हैं। अबतक सभी के वीजा-पासपोर्ट सही मिले हैं।*

Ranchi

Mar 30 2020, 18:47

कालाबाजारी या निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर सामान बेचने पर होगी सख्त कार्रवाई- उपायुक्त

जिला स्तर एवं प्रखंड स्तर पर कालाबाजारी एवं मुनाफाखोरी रोकने हेतु उड़नदस्ता दल का गठन।

रांची: उपायुक्त श्री सूरज कुमार द्वारा जानकारी दी गयी है कि कोविड-19 से बचाव हेतु पूर्णतया तालाबंदी के दौरान कालाबाजारी एवं मुनाफाखोरी की प्रवृत्ति बढ़ने की संभावना को देखते हुए उसकी रोकथाम हेतु जिला स्तर एवं प्रखंड स्तर पर उड़नदस्ता दल का गठन किया गया है। इसमें जिला एवं प्रखंड स्तर पर कार्यपालक दंडाधिकारी एवं संबंधित थाना प्रभारी के साथ अन्य अधिकारी प्रतिनियुक्त किए गए हैं। उड़नदस्ता दल में प्रतिनियुक्त पदाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि अपने अपने क्षेत्राधिकार अंतर्गत प्रतिदिन जिला स्तर एवं प्रखंड स्तर पर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों व राशन दुकानों का औचक निरीक्षण करना सुनिश्चित करेंगे। तथा निर्धारित प्रपत्र में दैनिक प्रतिवेदन उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही सम्बन्धितों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Ranchi

Mar 30 2020, 17:49

सरकारी मशीनरी के आपसी समन्वय के बिना कैसे चलेगा राहत कार्य -भाजपा 

रांची : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से आग्रह किया है की वह सरकारी स्तर पर समन्वय को बेहतर बनाएं। वर्तमान समय में सरकारी तंत्र में समन्वय की भारी कमी देखी जा रही है जिसके कारण घोषणा जमीनी धरातल पर नहीं उतर पा रही है।प्रतुल ने कहा की सरकार ने घोषणा की थी कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के जरिए थानों से ज़रूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। लेकिन वर्तमान में स्थिति यह है की ऐसे किचन बहुत कम चल रहे हैं।जहां चल भी रहे हैं वहां थानेदार अपनी पॉकेट से इन सामुदायिक किचन को चला रहे हैं। सरकारी स्तर से थानों के पास अभी तक कोई मदद नहीं पहुंची है।इसी तरह सरकार ने घोषणा की थी कि झारखंड लौटने वाले सभी लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण होगा। उसके बाद ही वे अपने घरों को जा पाएंगे। लेकिन हाल के दिनों में लाखों लोग में झारखंड लौटे हैं।इनमे से अधिकांश का बेसिक चिकित्सीय भी नही हो पाया। प्रतुल ने कहा की पूरा विश्व पिछले 100 वर्ष की सबसे बड़ी आपदा से जूझ रहा है। इसीलिए इससे निपटने और राहत सामग्री पहुंचाने के लिए बेहतर समन्वय की आवश्यकता है।प्रतुल ने कहा की हाल के दिनों में बड़ी सँख्या में ऐसे लोग भी झारखंड लौटे हैं जो दशकों से दूसरे शहरों में रह रहे थे ।अगर ऐसे लोगों के पास राशन कार्ड भी उपलब्ध न हो तो भी सरकार को इसे नजरअंदाज करते हुए इनके लिए भोजन और राहत सामग्री पहुंचाने की व्यवस्था करनी चाहिए।

Ranchi

Mar 30 2020, 17:29

17 विदेशी नागरिक समेत कुल 22 लोगों को पकड़ कर खेल गांव स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया

रांची: हिंदपीढ़ी थाना क्षेत्र स्थित बड़ी मस्जिद से पुलिस ने सोमवार की दोपहर 17 विदेशी नागरिक समेत कुल 22 लोगों को पकड़ कर खेल गांव स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया। पकड़े गए लोगों में आठ मलेशिया के, तीन इंग्लैंड, दो वेस्टइंडिज, एक हॉलैंड, एक बंग्लादेश, दो अफ्रिका के गांबिया के व तीन दिल्ली, एक गुजरात और एक मुंबई के रहने वाले हैं।

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि पिछले कुछ दिनों से हिंदपीढ़ी बड़ी मस्जिद में दर्जनों विदेशी नागरिक छिप कर रह रहे हैं। इसी सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मेडिकल टीम को बुलाकर वहां रह रहे सभी को खेल गांव स्थित आइसोलेशन वार्ड में भेजा।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सभी विदेशी नागरिक लगभग एक माह पहले रांची स्थित बड़ी मस्जिद पहुंचे थे। इसी दौरान अचानक कोरोनावायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन की घोषणा किए जाने के बाद सभी मस्जिद में ही रुक गए। 14 दिनों तक आइसोलेशन वार्ड में रहने की डर से सभी मस्जिद में छिपे हुए थे। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Ranchi

Mar 30 2020, 15:39

लॉकडाउन इफेक्ट : लाबेद गांव के परिवार तक पहुच राशन,जानवरों के लिए भी हुई चारा की वेवस्था  

रांची : सामाजिक एवं व्यक्तित्वा विकास की संस्था जेसीआइ, रांची के सौजन्य से लाबेद गांव के  परिवारों के बीच खाद्यान्न और आवश्यक सामग्री वितरित की 
 गई जिसमें 100 पैकेट बनाए गए थे ।  प्रत्येक में 2 किलो आलू,10 किलो चावल और 1 किलो दाल  थी।  साथी प्रशासन द्वारा दिए गए  नियम कानून और सोशल डिस्टेंस  का विशेष ध्यान रखा जा रहा है।
 जरूरतमंदों के लिए तैयार भोजन के 150 पैकेट तैयार किए थे और प्रशासन के सहयोग से सौरभ जालान, अंकित जैन, यश गुप्ता और अभिषेक जैन ने वितरित किए । अमित खोवाल ने यह भी सुनिश्चित  किया कि जानवरों को भी कुछ खाना खिलाया जाए। इस कार्य में समिति के  गौरव अग्रवाल, 
रॉबिन गुप्ता, नितेश अग्रवाल,नीरज पोद्दार, नवीन गरोडिया, अभिषेक मोदी, अतुल मोदी, विवेक मोदी, निशांत मोदी, निखिल पोद्दार,सौरभ साह, 
नवीन गरोदिया और विक्रम चौधरी।अमित खोवाल ने संकट खत्म होने तक इस सामाजिक कार्य को जारी रखने की योजना बनाई है। वह संगठन के सदस्यों से धन जुटाने और प्रधानमंत्रि राहत कोष के लिए धन सृजन करने की योजना बना रहे हैं ।

Ranchi

Mar 30 2020, 14:10

कोरोना के प्रकोप के बीच रबी फसलों की कटाई को लेकर कृषि वैज्ञानिक ने किसानों के लिए जारी किए ये सलाह

रांची - कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों ने प्रदेश के किसानों के लिए कई सलाह जारी किए हैं।चूंकि रबी फसल तैयार हो चुकी है और कटाई का इंतजार कर रही है। इधर कोरोना भी अपने प्रकोप से लगातार लोगों में भय की स्थिति बनाए हुए है।ऐसे में कृषि वैज्ञानिकों ने फसलों की कटाई और थ्रेसिंग के दौरान किसानों को सोशल डिस्टेन्सिंग का सख्ती से पालन करने, मास्क लगाने और फसल की कटाई उपकरण एवं खाने–पीने के बर्तनों के उपयोग में पूरी तरह से सावधानी बरतने की बात कही है।
कटाई में यथासंभव मशीन चालित यंत्रों के उपयोग की सलाह
शस्य वैज्ञानिक और डीन एग्रीकल्चर डॉ एम एस यादव ने कहा कि फसल की कटाई में यथासंभव मशीन चालित यंत्रों का उपयोग करें तो बेहतर होगा।हस्त चालित कृषि उपकरणों को यथासंभव पूरे दिन में कम से कम तीन बार साबुन से धोए या सैनिटाइज करें। फसल कटाई के दौरान खेतों में और खाना खाने के समय दो व्यक्तियों के बीच कम से कम 5 मीटर की दूरी रखें।कृषि कार्य के समय खेतों में पर्याप्त मात्रा में पीने का पानी और साबुन के पानी की व्यवस्था रखें।फसल की कटाई के समय एक व्यक्ति द्वारा उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण का दूसरा व्यक्ति प्रयोग नहीं करे।
साफ-सफाई और सामाजिक दूरी की सलाह
फसल कटाई के समय सभी किसान और मजदूर अपनी अलग–अलग पानी की बोतल रखे। थोड़े–थोड़े अंतराल में पानी पीते रहें। कटाई के दौरान बीच– बीच में अपने हाथों को अच्छी तरह से धोते रहे। कृषि कार्य में पहले दिन पहने कपड़ों को दूसरे दिन नहीं पहने।कपड़ों को अच्छी तरह साबुन से धोकर धूप में पूरी तरह सुखाकर ही पुनः पहने।डॉ यादव ने किसानों को सरसों और तीसी फसल की अविलंब कटाई करने की सलाह दी है।फसल परिपक्व होने पर अन्य खड़ी फसलों की कटाई करने को कहा है।
कहा कि आने वाले दिनों में आसमान साफ रहने के साथ दिन और रात के तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सि‍यस बढ़त होने के संकेत मिले हैं।मौसम शुष्क एवं साफ रहने की संभावना को देखते हुए उन्होंने सभी परिपक्व फसलों की कटाई को पूरा करने और कटे फसल को सुरक्षित स्थान पर सुखाकर भंडारण करने की सलाह दी है। उन्होंने फसल दौनी स्थल और बोरो की साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखने की सलाह दी है।

Ranchi

Mar 29 2020, 19:48

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण  किया


रांची : आज भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस महामारी का रूप लेती जा रही है. भारत में कोरोना संक्रमण के लगातार मामले आ रहे हैं. जहां तक झारखंड की बात है, यहां अभी तक कोरोना पॉजिटिव का एक भी मामला सामने नहीं आया है, लेकिन अगर किसी तरह की मुसीबत आती है तो उससे बचाव को लेकर सरकार के स्तर पर मुकम्मल इंतजाम किए गए हैं. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने के दरम्यान ये बातें कही. मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के क्रम में रिम्स के निदेशक डॉ डीके सिंह से इस बाबत की गई तैयारियों की पूरी जानकारी ली और कई निर्देश भी दिए. मुख्यमंत्री ने निदेशक से कहा कि रिम्स में अगर कोरोना वायरस का कोई भी मरीज आता है तो उसके टेस्ट और इलाज में किसी तरह की कोई कमी नहीं आनी चाहिए.

 आइसोलेशन वार्ड में बेड बढ़ाने का हो रहा प्रयास 

रिम्स के निदेशक ने मुख्यमंत्री को बताया कि यहां बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में अभी 100 बेड की व्यवस्था है. इसके अलावा इमरजेंसी के लिए 14 वेंटीलेटर हैं. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि बेडों की संख्या को बढ़ाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. सरकार का प्रयास है कि एक हजार बेड कोरोना मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड में चौबीस घंटे तैयार रखा जा सके.

वर्तमान में हर दिन 180 मरीजों के जांच की है क्षमता

मुख्यमंत्री को रिम्स् के डायरेक्टर ने बताया कि यहां फिलहाल हर दिन 180 मरीजों के जांच की क्षमता है. जांचों की क्षमता  को बढ़ाने के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां कोरोना वायरस के आने वाले सभी संदिग्ध मरीजों को टेस्ट करने के उपरांत जिन्हें चिकित्सीय सुविधा की जरुरत हो, उसे उपलब्ध कराएं. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव और निपटारे को लेकर सरकार पूरी तरह गंभीर है,

हेल्प डेस्क और स्क्रीनिंग रुम की सुविधा

रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में हेल्प डेस्क भी बनाया गया है. इसके अलावा कोरोना वायरस के आनेवाले संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए अलग से स्क्रीनिंग रुम है. रिम्स के निदेशक ने मुख्यमंत्री को बताया कि केंद्र और राज्य सरकार के गाइडलाइन के अनुरुप आइसोलेशन वार्ड को तैयार किया गया है और इलाज के लिए इंतजाम किए गए हैं.