India

1 hour and 7 min ago

जम्मू-कश्मीर में 31 अक्टूबर के बाद शुरू होगी परिसीमन की प्रक्रिया , आबादी के मुताबिक हो सकती हैं 114 सीटें



Streetbuzz desk/ जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनाने के निर्णय के बाद यहां के लोकसभा और विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन का कार्य शुरू होगा। सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि परिसीमन का यह कार्य इस साल 31 अक्तूबर को केंद्र शासित बनने के बाद ही शुरू होगा।
 मिल रही खबर के अनुसार यह प्रक्रिया 31 अक्तूबर के बाद शुरू होगी। यह काम भारतीय निर्वाचन आयोग के अंतर्गत किया जाएगा। रिऑर्गनाइजेशन एक्ट के अनुसार निर्वाचन आयोग 2011 की जनगणना के आधार पर परिसीमन की कार्रवाई को अंजाम देगा। जम्मू-कश्मीर रिऑर्गनाइजेशन एक्ट के अनुसार जम्मू और कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में परिसीमन के बाद विधानसभा की सीटों की संख्या 107 से बढ़कर 114 हो जाएंगी। इनमें से 24 सीट पाक अधिकृत कश्मीर में होंगी। अधिकारियों ने बताया कि अन्य राज्यों की तरह जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की कार्रवाई संविधान के अनुच्छेद 170 के अंतर्गत नहीं होगी।
      जम्मू और कश्मीर में परिसीमन की पिछली कार्रवाई 1995-96 में की गई थी। मालूम हो कि साल 2011 की जनगणना के अनुसार जम्मू की आबादी 69.07 लाख जबकि कश्मीर की जनसंख्या 53.50 लाख थी।
   केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि हिंसा की छिटपुट वारदातों को छोड़कर घाटी में शांति बनी हुई है।

Bihar

1 hour and 18 min ago

बिहार पुलिस को मिला अनंत सिंह की 2 दिनों की ट्रांजिट रिमांड, बाढ़ एसपी उन्हें दिल्ली से लेकर वापस आ रही बिहार



Streetbuzz desk/बिहार पुलिस को अनंत सिंह की ट्रांजिट रिमांड मिल गई है। साकेत कोर्ट ने उन्हें 2 दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया है। अनंत सिंह बिहार पुलिस को चकमा देते हुए दिल्ली पहुंच गए थे और साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। जिसके बाद उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया गया था। अनंत सिंह बिहार के मोकामा विधानसभा से निर्दलीय विधायक हैं।
बिहार पुलिस ने अनंत सिंह के घर छापेमारी कर एके 47 राइफल और हैंडग्रेनेड बरामद किया था। बरामदगी के बाद अनंत सिंह को गिरफ्तार करने के लिए बिहार पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की थी। बता दें कि पुलिस ने विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव नदवां स्थित उनके आवास से 16 अगस्त को छापेमारी कर एक एके-47 राइफल और गोलियां और दो हैंडग्रेनेड बरामद किए थे।
इसके बाद बाढ़ थाना कांड संख्या 389/19 के तहत भादवि की धारा 414, 120बी, 25 (1-ए), 25(1 एए), 25(1-बी), आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, और यूएपीए एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।
17 अगस्त की रात पटना स्थित विधायक के सरकारी आवास पर पुलिस ने दबिश दी थी। जिस समय पुलिस अनंत सिंह के घर पहुंची वह घर पर मौजूद नहीं थे. विधायक की गिरफ्तारी के लिए विशेष जांच दल का भी गठन किया, लेकिन पुलिस विधायक को नहीं खोज सकी।
इस बीच विधायक ने तीन बार वीडियो जारी कर पुलिस को चुनौती देते हुए कहा कि वे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। वे अदालत में ही आत्मसमर्पण करेंगे। इसके बाद पुलिस विधायक के आत्मसमर्पण की संभावना को लेकर बाढ़ और पटना की अदालत के आसपास मुस्तैद रही, लेकिन विधायक शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। अब बाढ़ एसपी उन्हें लेकर वापस बिहार आ रही हैं। बता दें कि कोर्ट ने आरोपी विधायक की सभी मांगें ठुकरा दी हैं।

India

1 hour and 25 min ago

आचार्य बालकृष्ण के एम्स में भर्ती होने के बाद सामने आया बाबा रामदेव का वीडियो, बोले-पेड़ा खाने से हुआ फ़ूड पॉइजनिंग



Streetbuzz desk/ पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ऋषिकेश स्थित एम्स अस्पताल में उपचार के बाद पूरी तरह स्वस्थ हैं। उन्हें यह समस्या फूड प्वाइजनिंग के कारण हुई। यह दावा खुद योग गुरु स्वामी रामदेव ने वीडियो जारी करके किया है। साथ ही एम्स के डायरेक्टर डॉ. रविकांत ने भी आचार्य बालकृष्ण को पूरी तरह स्वस्थ बताया। योग गुरु स्वामी रामदेव ने वीडियो जारी कर कहा कि आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह स्वस्थ हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को कोई सज्जन आचार्य बालकृष्ण से उनके दफ्तर में मिलने आए थे। वह व्यक्ति श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर पेड़े लेकर आया। उनके आग्रह पर आचार्य बालकृष्ण ने एक पेड़ा खा लिया।
     इसके बाद उनको चक्कर आने लगा और उल्टी भी हुई , जैसा कि फूड प्वाइजनिंग से होता है। लेकिन चिकित्सकों ने पूरी स्थिति को बेहतर तरीके से कवर किया और अब आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह स्वस्थ हैं।
        स्वामी रामदेव ने कहा कि उन्होंने आचार्य जी से करीब पांच मिनट बातचीत भी की है। इस वीडियो में एम्स के डायरेक्टर डॉ. रविकांत ने भी मेडिकल जांच का हवाला देते हुए बताया कि आचार्य बालकृष्ण की अधिकतर जांचें सामान्य हैं और खतरे की कोई बात नहीं है।

India

Aug 23 2019, 19:17

पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब , एम्स ऋषिकेश में भर्ती



Streetbuzz desk/ पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत अचानक खराब हो गई है। उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है।
   पतंजलि योगपीठ के महामंत्री और योग गुरु बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ने पर आज उन्हें हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ स्थित ऑफिस से ऋषिकेश के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि आचार्य बालकृष्ण को बेसुध हालत में पहले तो हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें ऋषिकेश के एम्स के लिए रेफर कर दिया।
वहीं पतंजलि योगपीठ प्रबंधन इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहा है। दूसरी तरफ भूमानंद अस्पताल में आचार्य बालकृष्ण का मेडिकल परीक्षण करने वाले डॉक्टरों के मुताबिक आचार्य बालकृष्ण को बेसुध हालत में यहां लाया गया था और वे सही से बता नहीं पा रहे थे कि उन्हें क्या शारीरिक कष्ट है।
     फिलहाल मेडिकल परीक्षण में उनके सभी टेस्ट नार्मल आए हैं , लेकिन न्यूरो से संबंधित दिक्कत को ध्यान में रखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें तत्काल ऋषिकेश के एम्स में दाखिल किए जाने की बात कही।
 चिकित्सकों की सलाह पर उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज जारी है।

India

Aug 23 2019, 19:14

कांग्रेस के 2 वरिष्ठ नेताओं ने की मोदी की तारीफ, बोले-प्रधानमंत्री मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत



Streetbuzz desk/कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने सहयोगी जयराम रमेश का समर्थन करते हुए शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है और ऐसा करके विपक्ष एक तरह से उनकी मदद करता है। सिंघवी ने रमेश के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया , " मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं , बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।
     उन्होंने आगे कहा , काम हमेशा अच्छा , बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में से एक है।”
    दरअसल , कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बुधवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन का मॉडल " पूरी तरह नकारात्मक गाथा ” नहीं है और उनके काम के महत्व को स्वीकार नहीं करके और हर समय उन्हें खलनायक की तरह पेश करके कुछ हासिल नहीं होने वाला है।
       रमेश ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर कहा कि यह वक्त है , जब हम मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे , जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। उन्होंने आगे कहा कि , वह अपनी बातों से लोगों को अपने साथ जोड़ते हैं तथा उन्होंने वह कार्य करके दिखाया जो पहले कभी नही हुआ। इसी योजनओं की वजह से 30 प्रतिशत मतदाताओं ने उनकी सत्ता में वापसी करवाई है।

Bihar

Aug 23 2019, 15:56

अजबगजब


 बिहार में एक सरकारी कर्मी 30 सालों तक एक साथ लगातार तीन विभागों में करता रहा नौकरी, 
सभी तीन विभागों से लेता रहा वेतन और पाता रहा प्रोमोशन


-- सीएमएफएस सिस्टम से वेतन देने की नई व्यवस्था ने उसके इस कारनामे का कर दिया खुलासा 



Streetbuzz desk/बिहार में एक सरकारी कर्मी तीन विभागों में एक साथ नौकरी करता रहा। तीनों विभाग से हर महीने वेतन  उठाता रहा और समय-समय पर प्रमोशन भी पाता रहा।
बता दें कि सुरेश राम 03 जिलों के 02 विभागों के 03 पदों पर एक साथ नौकरी कर रहा है। वह तीनों जगहों से हर माह वेतन भी उठाता रहा।
   सीएमएफएस सिस्टम से वेतन देने की नई व्यवस्था ने उसके इस कारनामे का खुलासा कर दिया है। जहां-जहां नौकरी की वहां-वहां उस पर एफआईआर दर्ज हुई है। अब वह फरार हो गया है।
   जानकारी के अनुसार सुरेश किशनगंज सुपौल और बांका में एक साथ नौकरी करता रहा। किशनगंज के भवन निर्माण विभाग कार्यालय में सहायक अभियंता रहा सुपौल में जल संसाधन विभाग के पूर्वी तटबंध भीम नगर में कार्यरत रहा , जल संसाधन विभाग में अवर प्रमंडल बेलहर का सहायक अभियंता रहा। यह बात खुलने पर राज्य सरकार के उप सचिव चंद्रशेखर प्रसाद जी ने उस पर किशनगंज थाने में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। एफआईआर दर्ज होने के बाद वह फरार हो गया है। जांच में सामने आया कि तीनों जगह पर सुरेश राम का नाम उसकी जन्मतिथि उसके पिता का नाम ऊंचाई शरीर की पहचान स्थाई पता एक समान है।
     सीएसीएमएस प्रणाली के तहत वेतन भुगतान की प्रक्रिया में सुरेश राम नाम के तीन व्यक्ति सहायक अभियंता के रूप में कार्यरत दिखे। जब मामले की गहराई से जांच हुई तो पता चला कि नटवरलाल के रूप में एक ही सुरेश राम नाम का शख्स एक दो जगह नहीं बल्कि तीन जगह सरकारी नौकरी कर रहा है और तीनों जगह से मोटी तनख्वाह भी ले रहा है।
मामला संज्ञान में आने पर सरकार ने सुरेश को सभी प्रमाण पत्र लेकर 22 जुलाई को पटना मुख्यालय तलब किया।
 वह मुख्यालय आया तो जरूर पर मूल प्रमाण पत्र लेकर नहीं आया और थोड़ी देर के बाद गायब हो गया। सरकार ने तब उस पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Bihar

Aug 23 2019, 14:07

मोकामा विधायक छोटे सरकार अनंत सिंह ने दिल्ली के साकेत कोर्ट में किया आत्मसमर्पण


Streetbuzz desk/ मोकामा के विधायक छोटे सरकार अनंत सिंह ने शुक्रवार को करीब 12:30 बजे दिन में दिल्ली के साकेत कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया।
 विधायक के सरेंडर होने की खबर के बाद दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंच गई हैं। मालूम हो कि मोकामा विधायक अनंत सिह पर पुलिस ने बाढ़ के पंडारक में डबल मर्डर की साजिश रचने और पुश्तैनी घर अपना लदमा में छापामारी करने के दौरान पुलिस ने उनके  घर से एके-47 और ग्रेनेड  बरामद किया था। उसके बाद से अनंत सिंह दोनो केस में फरार चल रहे थे।
मोकामा विधायक अनंत सिंह ने आखिर कोर्ट में आज सरेंडर कर ही दिया। इसके बाद अब बिहार की पुलिस विघायक अनंत सिंह को ट्रांसिजट रिमांड पर लेकर उन्हें अब दिल्ली से पटना लाएगी।

India

Aug 22 2019, 19:21

सीबीआई ने तीन घंटे तक लगातार चिंदबरम से की पूछताछ, बोले- इंद्राणी मुखर्जी से मुलाकात याद नहीं,  टाल गए ज्यादातर सवालों के जवाब



Streetbuzz desk/ पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से सीबीआई के अधिकारियों ने आज करीब 3 घंटे तक पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम ने पूछताछ में सीबीआई अफसरों की मदद नहीं की। चिदंबरम ने अधिकतर सवालों के जवाब टाल दिये। पूछताछ में चिदंबरम ने  एफआईपीबी के अधिकारियों पर किसी तरह का दबाव बनाने से मना किया। उन्होंने कहा कि , ‘वह अपने बेटे के कारोबार में किसी तरह का दखल नहीं देते हैं।’ इस दौरान जब अफसरों ने इंद्राणी और पीटर मुखर्जी से मुलाकात की बात पूछी तो चिदंबरम ने कहा कि, ‘उन्हें ऐसी कोई मुलाकात याद नहीं है।’ उधर पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने भी कहा है कि उन्होंने कभी भी इंद्राणी या पीटर मुखर्जी से मुलाकात नहीं की है और ना ही उन्हें आईएनए के बारे में कुछ पता है। कार्ति ने दावा करते हुए कहा कि ईडी ने उन्हें 20 बार बुलाया और हर बार वे पेश भी हुए हैं। कार्ति ने अपने पिता पी चिदंबरम पर लगाए गए आरोपों को खारिज कर दिया है।

India

Aug 22 2019, 14:58

चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद उनके बेटे उतरेंगे सड़क पर, कहा- मैं अपने जीवन में पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी से कभी नहीं मिला




Streetbuzz desk/ आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी के खिलाफ उनके बेटे कार्ति चिदंबरम सड़क पर उतरने जा रहे हैं। जानकारी अनुसार वे इसे लेकर दिल्ली के जंतर मंतर पर होने वाले विरोध प्रदर्शन शामिल होंगे। वे इसके लिए चेन्नई से दिल्ली आ गए हैं। उन्होंने इस दौरान कहा 'यह केवल मेरे पिता पर ही नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी पर निशाना है। मैं इसके खिलाफ जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन के लिए जाऊंगा। इस दौरान उन्होंने कहा 'मैं अपने जीवन में पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी से कभी नहीं मिला। मैंने इंद्राणी को तब देखा था जब सीबीआई मुझे उनका सामना कराने के लिए ले गई। मेरी उनकी कंपनी से जुड़े लोगों के साथ प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कभी कोई बातचीत नहीं हुई।'_

India

Aug 22 2019, 14:51

एक्सक्लुसिव 


बालाकोट हमले के दौरान पाकिस्तान का F-16 गिराने वाले वायु सेना के हीरो अभिनंदन ने विमान फिर उड़ाना शुरू किया मिग 21



Streetbuzz desk/ बालाकोट हमले के दौरान मिग-21 से पाकिस्तान के एफ-16 को खदेड़ कर मार गिराने वाले वीर चक्र विजेता विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने छह महीने बाद बुधवार को एक बार फिर से मिग-21 की उड़ान भरी। इस साल फरवरी में पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराने के बाद पाकिस्तान द्वारा पकड़े जाने वाले भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने मिग 21 विमान फिर से उड़ाना शुरू कर दिया है। वर्द्धमान ने करीब छह महीने बाद फिर से लड़ाकू विमान उड़ाया है। दरअसल 27 फरवरी को भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई द्वंद्व के दौरान उनका विमान गिरा दिया गया था और विमान में से निकलने के दौरान वह चोटिल हो गए थे। सेना के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार ‘‘उन्होंने (वर्द्धमान ने) विमान उड़ाना शुरू कर दिया है। फिलहाल , वर्द्धमान राजस्थान में भारतीय वायुसेना के एक अड्डे पर सेवा दे रहे हैं।"
   36 साल के पायलट ने पाकिस्तानी विमानों के साथ आसमान में हुई लड़ाई में अपने मिग 21 बाइसन विमान से पाकिस्तान का अत्याधुनिक विमान एफ-16 मार गिराया था। इसके बाद उनके मिग 21 को मार गिराया गया था। वह विमान से सुरक्षित निकल गए थे लेकिन पेराशूट से पाकिस्तानी क्षेत्र में उतरे थे जहां उन्हें पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया था। हालांकि बाद में पाकिस्तान ने उन्हें छोड़ दिया था। मिग 21 विमान से निकलने के दौरान वह चोटिल हो गए थे। इस वजह से उन्हें विमान उड़ाने की ड्यूटी से हटा दिया गया था। वर्द्धमान को पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराने के लिए वीर चक्र से सम्मानित किया गया है।

India

1 hour and 7 min ago

जम्मू-कश्मीर में 31 अक्टूबर के बाद शुरू होगी परिसीमन की प्रक्रिया , आबादी के मुताबिक हो सकती हैं 114 सीटें



Streetbuzz desk/ जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश बनाने के निर्णय के बाद यहां के लोकसभा और विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन का कार्य शुरू होगा। सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि परिसीमन का यह कार्य इस साल 31 अक्तूबर को केंद्र शासित बनने के बाद ही शुरू होगा।
 मिल रही खबर के अनुसार यह प्रक्रिया 31 अक्तूबर के बाद शुरू होगी। यह काम भारतीय निर्वाचन आयोग के अंतर्गत किया जाएगा। रिऑर्गनाइजेशन एक्ट के अनुसार निर्वाचन आयोग 2011 की जनगणना के आधार पर परिसीमन की कार्रवाई को अंजाम देगा। जम्मू-कश्मीर रिऑर्गनाइजेशन एक्ट के अनुसार जम्मू और कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में परिसीमन के बाद विधानसभा की सीटों की संख्या 107 से बढ़कर 114 हो जाएंगी। इनमें से 24 सीट पाक अधिकृत कश्मीर में होंगी। अधिकारियों ने बताया कि अन्य राज्यों की तरह जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की कार्रवाई संविधान के अनुच्छेद 170 के अंतर्गत नहीं होगी।
      जम्मू और कश्मीर में परिसीमन की पिछली कार्रवाई 1995-96 में की गई थी। मालूम हो कि साल 2011 की जनगणना के अनुसार जम्मू की आबादी 69.07 लाख जबकि कश्मीर की जनसंख्या 53.50 लाख थी।
   केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि हिंसा की छिटपुट वारदातों को छोड़कर घाटी में शांति बनी हुई है।

Bihar

1 hour and 18 min ago

बिहार पुलिस को मिला अनंत सिंह की 2 दिनों की ट्रांजिट रिमांड, बाढ़ एसपी उन्हें दिल्ली से लेकर वापस आ रही बिहार



Streetbuzz desk/बिहार पुलिस को अनंत सिंह की ट्रांजिट रिमांड मिल गई है। साकेत कोर्ट ने उन्हें 2 दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया है। अनंत सिंह बिहार पुलिस को चकमा देते हुए दिल्ली पहुंच गए थे और साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। जिसके बाद उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया गया था। अनंत सिंह बिहार के मोकामा विधानसभा से निर्दलीय विधायक हैं।
बिहार पुलिस ने अनंत सिंह के घर छापेमारी कर एके 47 राइफल और हैंडग्रेनेड बरामद किया था। बरामदगी के बाद अनंत सिंह को गिरफ्तार करने के लिए बिहार पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की थी। बता दें कि पुलिस ने विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव नदवां स्थित उनके आवास से 16 अगस्त को छापेमारी कर एक एके-47 राइफल और गोलियां और दो हैंडग्रेनेड बरामद किए थे।
इसके बाद बाढ़ थाना कांड संख्या 389/19 के तहत भादवि की धारा 414, 120बी, 25 (1-ए), 25(1 एए), 25(1-बी), आर्म्स एक्ट, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, और यूएपीए एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।
17 अगस्त की रात पटना स्थित विधायक के सरकारी आवास पर पुलिस ने दबिश दी थी। जिस समय पुलिस अनंत सिंह के घर पहुंची वह घर पर मौजूद नहीं थे. विधायक की गिरफ्तारी के लिए विशेष जांच दल का भी गठन किया, लेकिन पुलिस विधायक को नहीं खोज सकी।
इस बीच विधायक ने तीन बार वीडियो जारी कर पुलिस को चुनौती देते हुए कहा कि वे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। वे अदालत में ही आत्मसमर्पण करेंगे। इसके बाद पुलिस विधायक के आत्मसमर्पण की संभावना को लेकर बाढ़ और पटना की अदालत के आसपास मुस्तैद रही, लेकिन विधायक शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। अब बाढ़ एसपी उन्हें लेकर वापस बिहार आ रही हैं। बता दें कि कोर्ट ने आरोपी विधायक की सभी मांगें ठुकरा दी हैं।

India

1 hour and 25 min ago

आचार्य बालकृष्ण के एम्स में भर्ती होने के बाद सामने आया बाबा रामदेव का वीडियो, बोले-पेड़ा खाने से हुआ फ़ूड पॉइजनिंग



Streetbuzz desk/ पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ऋषिकेश स्थित एम्स अस्पताल में उपचार के बाद पूरी तरह स्वस्थ हैं। उन्हें यह समस्या फूड प्वाइजनिंग के कारण हुई। यह दावा खुद योग गुरु स्वामी रामदेव ने वीडियो जारी करके किया है। साथ ही एम्स के डायरेक्टर डॉ. रविकांत ने भी आचार्य बालकृष्ण को पूरी तरह स्वस्थ बताया। योग गुरु स्वामी रामदेव ने वीडियो जारी कर कहा कि आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह स्वस्थ हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को कोई सज्जन आचार्य बालकृष्ण से उनके दफ्तर में मिलने आए थे। वह व्यक्ति श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर पेड़े लेकर आया। उनके आग्रह पर आचार्य बालकृष्ण ने एक पेड़ा खा लिया।
     इसके बाद उनको चक्कर आने लगा और उल्टी भी हुई , जैसा कि फूड प्वाइजनिंग से होता है। लेकिन चिकित्सकों ने पूरी स्थिति को बेहतर तरीके से कवर किया और अब आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह स्वस्थ हैं।
        स्वामी रामदेव ने कहा कि उन्होंने आचार्य जी से करीब पांच मिनट बातचीत भी की है। इस वीडियो में एम्स के डायरेक्टर डॉ. रविकांत ने भी मेडिकल जांच का हवाला देते हुए बताया कि आचार्य बालकृष्ण की अधिकतर जांचें सामान्य हैं और खतरे की कोई बात नहीं है।

India

Aug 23 2019, 19:17

पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत खराब , एम्स ऋषिकेश में भर्ती



Streetbuzz desk/ पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तबीयत अचानक खराब हो गई है। उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है।
   पतंजलि योगपीठ के महामंत्री और योग गुरु बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ने पर आज उन्हें हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ स्थित ऑफिस से ऋषिकेश के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि आचार्य बालकृष्ण को बेसुध हालत में पहले तो हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें ऋषिकेश के एम्स के लिए रेफर कर दिया।
वहीं पतंजलि योगपीठ प्रबंधन इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहा है। दूसरी तरफ भूमानंद अस्पताल में आचार्य बालकृष्ण का मेडिकल परीक्षण करने वाले डॉक्टरों के मुताबिक आचार्य बालकृष्ण को बेसुध हालत में यहां लाया गया था और वे सही से बता नहीं पा रहे थे कि उन्हें क्या शारीरिक कष्ट है।
     फिलहाल मेडिकल परीक्षण में उनके सभी टेस्ट नार्मल आए हैं , लेकिन न्यूरो से संबंधित दिक्कत को ध्यान में रखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें तत्काल ऋषिकेश के एम्स में दाखिल किए जाने की बात कही।
 चिकित्सकों की सलाह पर उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज जारी है।

India

Aug 23 2019, 19:14

कांग्रेस के 2 वरिष्ठ नेताओं ने की मोदी की तारीफ, बोले-प्रधानमंत्री मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत



Streetbuzz desk/कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने सहयोगी जयराम रमेश का समर्थन करते हुए शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है और ऐसा करके विपक्ष एक तरह से उनकी मदद करता है। सिंघवी ने रमेश के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया , " मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं , बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।
     उन्होंने आगे कहा , काम हमेशा अच्छा , बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में से एक है।”
    दरअसल , कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बुधवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन का मॉडल " पूरी तरह नकारात्मक गाथा ” नहीं है और उनके काम के महत्व को स्वीकार नहीं करके और हर समय उन्हें खलनायक की तरह पेश करके कुछ हासिल नहीं होने वाला है।
       रमेश ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर कहा कि यह वक्त है , जब हम मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे , जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। उन्होंने आगे कहा कि , वह अपनी बातों से लोगों को अपने साथ जोड़ते हैं तथा उन्होंने वह कार्य करके दिखाया जो पहले कभी नही हुआ। इसी योजनओं की वजह से 30 प्रतिशत मतदाताओं ने उनकी सत्ता में वापसी करवाई है।

Bihar

Aug 23 2019, 15:56

अजबगजब


 बिहार में एक सरकारी कर्मी 30 सालों तक एक साथ लगातार तीन विभागों में करता रहा नौकरी, 
सभी तीन विभागों से लेता रहा वेतन और पाता रहा प्रोमोशन


-- सीएमएफएस सिस्टम से वेतन देने की नई व्यवस्था ने उसके इस कारनामे का कर दिया खुलासा 



Streetbuzz desk/बिहार में एक सरकारी कर्मी तीन विभागों में एक साथ नौकरी करता रहा। तीनों विभाग से हर महीने वेतन  उठाता रहा और समय-समय पर प्रमोशन भी पाता रहा।
बता दें कि सुरेश राम 03 जिलों के 02 विभागों के 03 पदों पर एक साथ नौकरी कर रहा है। वह तीनों जगहों से हर माह वेतन भी उठाता रहा।
   सीएमएफएस सिस्टम से वेतन देने की नई व्यवस्था ने उसके इस कारनामे का खुलासा कर दिया है। जहां-जहां नौकरी की वहां-वहां उस पर एफआईआर दर्ज हुई है। अब वह फरार हो गया है।
   जानकारी के अनुसार सुरेश किशनगंज सुपौल और बांका में एक साथ नौकरी करता रहा। किशनगंज के भवन निर्माण विभाग कार्यालय में सहायक अभियंता रहा सुपौल में जल संसाधन विभाग के पूर्वी तटबंध भीम नगर में कार्यरत रहा , जल संसाधन विभाग में अवर प्रमंडल बेलहर का सहायक अभियंता रहा। यह बात खुलने पर राज्य सरकार के उप सचिव चंद्रशेखर प्रसाद जी ने उस पर किशनगंज थाने में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। एफआईआर दर्ज होने के बाद वह फरार हो गया है। जांच में सामने आया कि तीनों जगह पर सुरेश राम का नाम उसकी जन्मतिथि उसके पिता का नाम ऊंचाई शरीर की पहचान स्थाई पता एक समान है।
     सीएसीएमएस प्रणाली के तहत वेतन भुगतान की प्रक्रिया में सुरेश राम नाम के तीन व्यक्ति सहायक अभियंता के रूप में कार्यरत दिखे। जब मामले की गहराई से जांच हुई तो पता चला कि नटवरलाल के रूप में एक ही सुरेश राम नाम का शख्स एक दो जगह नहीं बल्कि तीन जगह सरकारी नौकरी कर रहा है और तीनों जगह से मोटी तनख्वाह भी ले रहा है।
मामला संज्ञान में आने पर सरकार ने सुरेश को सभी प्रमाण पत्र लेकर 22 जुलाई को पटना मुख्यालय तलब किया।
 वह मुख्यालय आया तो जरूर पर मूल प्रमाण पत्र लेकर नहीं आया और थोड़ी देर के बाद गायब हो गया। सरकार ने तब उस पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।