India

49 min ago

बिहार में जुटाई जा रही है राष्ट्रीय स्वयंसेवक (आरएसएस) और उसके सहयोगी संगठनों की जानकारी ,  विशेष शाखा के एसपी ने एक हफ्ते में मांगी रिपोर्ट


 एसपी ने कहा - एक हफ्ते में नाम , पता , दूरभाष और व्यवसाय के बारे में जुटाएं जानकारी


सरकार ने कहा-रूटीन प्रक्रिया है



 Streetbuzz desk/पुलिस की स्पेशल ब्रांच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) और उसके सभी सहयोगी संगठनों के बारे में जानकारी जुटा रही है। 28 मई को एक पत्र विभाग के सभी बड़े अधिकारियों को प्रेषित किया गया है। विशेष शाखा के पुलिस अधीक्षक ने सभी क्षेत्रीय पुलिस उपाधीक्षकों और सभी जिला विशेष शाखा पदाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक हफ्ते में आरएसएस और उससे जुड़े सहयोगी संगठनों की पूरी जानकारी जुटाएं। इन संगठनों के पदाधिकारियों के नाम , पता , दूरभाष और व्यवसाय के बारे में जानकारी मांगी गई है।
      पत्र में आरएसएस समेत 19 संगठनों के नाम हैं। जिनमें विश्व हिंदू परिषद , बजरंग दल , हिंदू महासभा और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भी शामिल हैं। वहीं इस मामले में सरकार का कहना है कि ये एक रुटीन प्रक्रिया है।

India

50 min ago

एक्सक्लुसिव


तीन राजनीतिक पार्टियों से छीन सकती है राष्ट्रीय दल की मान्यता , चुनाव आयोग ने जारी किया नोटिस



Streetbuzz desk/ चुनाव आयोग देश के तीन अहम राजनीतिक दलों से राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा छीन सकता है। आयोग ने तृणमूल कांग्रेस , कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को नोटिस जारी कर यह पूछा है कि क्यों न उनके राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता को खत्म कर दी जाए?
    चुनाव आयोग ने इन तीनों दलों को जो कारण बताओ नोटिस जारी किया है उसके पीछे हालिया चुनाव में इन दलों के खराब प्रदर्शन को आधार बनाया गया है। इन तीनों दलों का प्रदर्शन 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में काफी खराब रहा है।
  हालांकि बहुजन समाज पार्टी के ऊपर राष्ट्रीय दल की मान्यता खत्म होने का खतरा इसलिए नहीं है क्योंकि उसने लोकसभा की 10 सीटों पर जीत हासिल की है। चुनाव आयोग अगर इन तीनों दलों के जवाब से संतुष्ट नहीं होता है तो इनसे राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा छिन सकता है।

India

Jul 16 2019, 17:49

एक्सक्लुसिव


लुटियंस जोन के बंगलों में कौन सबसे लंबे समय तक काबिज रहा , कोई रिकॉर्ड नहीं 


Streetbuzz desk/हैरानी की बात है कि डिजिटल डेटाबेस के युग में भी आज के दिन तक नई दिल्ली के लुटियंस जोन में स्थित बंगलों की आवंटन तिथि और कितने लंबे समय तक कौन इस पर काबिज़ रहा , ऐसी कोई तालिका नहीं बनाई गईं।
     दिल्ली के लुटियंस बिल्डिंग जोन को वीआईपी और रसूखदार लोगों की रिहाइश के लिए जाना जाता है। आधिकारिक तौर पर आवंटित बंगलों में कौन सा राजनेता सबसे लंबे समय तक काबिज रहा। ऐसा कोई रिकॉर्ड सरकार के पास मौजूद नहीं है।
‘10 जनपथ’ बंगले  का नाम लेते ही यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम जेहन में आता है। ये बंगला रायबरेली से लोकसभा सांसद का आधिकारिक आवास है। यूपीए अध्यक्ष लुटियंस के डिजाइन किए इस बड़े बंगले में करीब तीन दशक से रह रही हैं। ‘10, जनपथ’ बंगला  सोनिया गांधी के पति और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को 19 जनवरी 1990 को आवंटित हुआ था। राजीव गांधी की 21 मई 1991 को हत्या के बाद ये बंगला सोनिया गांधी को आवंटित हुआ। गांधी परिवार से पहले ये बंगला 1988 से लेकर 1990 तक तत्कालीन विदेश राज्य मंत्री प्रोफेसर के के तिवारी के पास रहा। ये जानकारी आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से जुड़े संपदा निदेशलाय ने आरटीआई याचिका के जवाब में दी है। ये याचिका इंडिया टुडे की ओर से दाखिल की गई थी।
   नामचीन राजनीतिक नेताओं में सिर्फ़ सोनिया गांधी अकेली नहीं हैं जो एक ही बंगले में वर्षों से रह रही हैं। हमने अपनी याचिका से पता लगाना चाहा कि ऐसे कौन से टॉप 10 नेता हैं जो लंबे समय से नई दिल्ली के लुटियंस बंगला जोन में स्थित समान बंगलों में ही रहते चले आ रहे हैं।
संपदा निदेशालय ने अपने जवाब में कहा , ‘संकलित अवस्था में डेटा उपलब्ध नहीं है।
 विस्तृत जानकारी के लिए आरटीआई द्वारा निर्गत पत्र संलग्न है:-

India

Jul 16 2019, 17:45

एक्सक्लुसिव 


रिटायरमेंट के 40 साल बाद रक्षा मंत्रालय को इस शख्स ने दिया 01 करोड़ का दान


एयरफोर्स से रिटायर जवान 74 वर्षीय सी बी आर प्रसाद  ने अपने पूरे जीवन की कमाई देश के लिए कर दिया समर्पित



Streetbuzz desk/ ‘सैनिक को सेना से तो बाहर निकाला जा सकता है , लेकिन एक सैनिक से सेना को बाहर नहीं किया जा सकता’, इसी कहावत को चरितार्थ करते हुए एयरफोर्स से रिटायर जवान 74 वर्षीय सी बी आर प्रसाद ने अपने जीवन की पूरी बचत रक्षा मंत्रालय को दान दे दी। श्री प्रसाद ने बताया कि रेलवे में अच्छी नौकरी का प्रस्ताव मिलने के कारण 09 वर्षों की सेवा के बाद उन्होंने एयर फोर्स को छोड़ दिया था। दुर्भाग्य से उन्हें रेलवे की नौकरी नहीं मिली। तब उन्होंने अपने जीवन-यापन के लिए एक पॉल्ट्री फार्म शुरू किया।
     उन्होंने आगे  बताया कि ‘सौभाग्य से यह व्यवसाय चल निकला। मैंने अपने परिवार की जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद सोचा कि मुझे रक्षा सेवा से जो कुछ मिला, उसको लौटाना चाहिए। तब मैंने रक्षा मंत्रालय को 1.08 करोड़ रुपये देने का फैसला किया।’
     प्रसाद सोमवार को यहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर उन्हें चेक सौंपा। उन्होंने समाज की मदद करने के लिए पॉल्ट्री फार्म में 30 सालों तक कड़ी मेहनत की। बाद में उन्होंने एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की भी स्थापना की। जब उनसे पूछा गया कि उनके परिवार ने इसकी इजाजत दी तो उन्होंने कहा कि इसमें कोई दिक्कत नहीं है। मैंने अपनी संपत्ति में से बेटी को दो फीसदी , पत्नी को एक फीसदी और शेष 97 फीसदी हिस्सा समाज को लौटा दिया। उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह यह देख कर खुश हुए।

India

Jul 16 2019, 17:41

एक्सक्लुसिव 


घर में चलाना है पंखा या एसी तो पहले जमा कराना होगा पैसा , फिर मिलेगी बिजली, देश भर में लगेंगे प्रीपेड स्मार्ट मीटर



Streetbuzz desk/अब लोगों को घर में पंखा , एसी समेत अन्य इलेक्ट्रोनिक सामान चलाने के लिए पहले भुगतान करना होगा , उसके बाद ही घर में बिजली आएगी। केंद्र सरकार जल्द ही बिजली प्रयोग करने के बाद बिल भुगतान की प्रथा को पूरी तरह से खत्म करने जा रही है। सरकार एक योजना पर काम कर रही है , जिससे लोगों को बिजली का प्रयोग करने से पहले ही उसका भुगतान करना होगा। इसके लिए देश भर में प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगेंगे। 
    बिजली मंत्री आर के सिंह ने कहा कि भारत एक नई व्यवस्था की ओर बढ़ रहा है , जहां बिजली उपभोक्ता को पहले भुगतान करना होगा और फिर उसे बिजली मिलेगी। ऊर्जा मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य समाज के कुछ वर्गों को निःशुल्क बिजली दे सकती है , लेकिन उन्हें इसके लिए अपने बजट से भुगतान करना होगा।
    श्री सिंह ने कहा , हम भुगतान और आपूर्ति के बीच एक संपर्क बना रहे हैं। आपको पहले भुगतान करना होगा और फिर आपको बिजली मिलेगी। निःशुल्क बिजली जैसी कोई चीज नहीं है। आप बिना निवेश के बिजली का उत्पादन नहीं कर सकते हैं।  उन्होंने कहा कि बिजली बनाने में लागत लगती है और किसी को इसके लिए भुगतान करना पड़ता है। अगर राज्य निःशुल्क बिजली देना चाहती है तो दें , लेकिन उनको इसके लिए अपने बजट से भुगतान करना होगा। यही हम करने जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने 2022 का लक्ष्य रखा है , जिसके बाद लोगों को बिना मीटर को रिचार्ज कराए घर में बिजली की आपूर्ति नहीं की जा सकेगी।

Patna

Jul 16 2019, 17:38

पटना में अपराधियों ने दिनदहाड़े लूट लिया 18.41 लाख का सिक्का , बोलेरो सवार अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम



Streetbuzz desk/ पटना जिला अंतर्गत नौबतपुर , पितवांस गांव के समीप बोलेरो सवार 09 अपराधियों ने 18.41 लाख के सिक्के लूटकर फरार हो गए। लूट के समय कैशवैन में ड्राइवर और रिस्क मैनेजर मौजूद थे , जिसे अपराधियों ने बंधक बना लिया और सिक्के लूटकर फरार हो गए।
    सिक्के रेडिएंट कैश मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड का था जिसे पटना से रांची के रीजनल ऑफिस में जमा करने के लिए ले जाया जा रहा था।  घटना की सूचना पुलिस को दी गयी है।मामले की छानबीन की जा रही है।

India

Jul 15 2019, 19:58

एक्सक्लुसिव


चंद्रग्रहण के कारण वाराणसी में गंगा आरती का समय बदला, दो घंटे विलंब से शुरू होगी बाबा की आरती


Streetbuzz desk/आषाढ़ पूर्णिमा पर मंगलवार को गुरु दर्शन के अगले दिन सावन शुरू हो जाएगा। इस बार चंद्र ग्रहण के कारण गुरु दर्शन शाम तक ही होगा तो बाबा विश्वनाथ के जलाभिषेक के लिए भक्तों को इंतजार करना होगा। चंद्र ग्रहण 16 की रात 1.31 बजे लग रहा है जो 17 की भोर 4.30  बजे खत्म होगा। इससे बाबा की आरती दो घंटे विलंब से शुरू होगी और जलाभिषेक भी आरती के बाद ही संभव हो सकेगा। सूतक लगने के चलते गुरुपूर्णिमा पर दर्शन भी शाम चार बजे तक ही हो सकेगा। घाट पर होने वाली मां गंगा की आरती का समय भी आयोजकों ने चंद्र ग्रहण के लिए बदल दिया है।


मंगलवार को आरती दोपहर तीन बजे


 दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधि व गंगोत्री सेवा समिति द्वारा आयोजित होने वाली सायंकालीन दैनिक मां गंगा की आरती सूतक काल के कारण प्रभावित होगी। गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र के अनुसार सूतक काल के कारण मंगलवार को दोपहर तीन बजे से आरती प्रारम्भ होगी जो चार बजे तक संपन्न करा दी जाएगी। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण से पूर्व देवालयों के कपाट बंद होने की परंपरा है। जिसे देखते हुए दशाश्वमेध घाट पर होने वाली विश्व प्रसिद्ध दैनिक मां गंगा की आरती का भी समय आयोजकों द्वारा परिवर्तित करते हुए दोपहर में कराया जाएगा। गंगोत्री सेवा समिति के अध्यक्ष बाबू महाराज के अनुसार 31 जनवरी 2018 को भी दिन में ही मां गंगा की आरती हो चुकी है।

  गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण


 इस बार गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण भी है। यह ग्रहण कुल 2 घंटे 59 मिनट का होगा। भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण 16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा और 17 जुलाई की सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर मोक्ष यानी समाप्त हो जाएगा। ग्रहण काल का मध्यकाल 17 जुलाई की सुबह 3 बजकर 1 मिनट होगा।

India

Jul 15 2019, 16:43

बिग ब्रेकिंग


कलराज मिश्र को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया, आचार्य देवव्रत गुजरात भेजे गए


Streetbuzz desk/राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत को गुजरात का राज्यपाल नियुक्त किया है। वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्रा को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया है। दोनों राज्यपालों की नियुक्ति को लेकर राष्ट्रपति ने आदेश जारी कर दिया है। दोनों के अपने-अपने राज्यों में पद संभालने के बाद नियुक्ति प्रभावी हो जाएगी।

कलराज मिश्रा

कलराज भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं। वह तीन बार राज्यसभा के सांसद रहे हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश की देवरिया लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था। यहां उन्होंने बसपा उम्मीदवार नियाज अहमद को 4,96,500 वोटों के अंतर से हराया था। हालांकि उन्होंने 2019 का चुनाव नहीं लड़ा। इसके पीछे उन्होंने पार्टी द्वारा अन्य जिम्मेदारी दिए जाने को कारण बताया था।
   मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान वह कैबिनेट मंत्री थे। उन्हें सूक्ष्म , लघु और मध्यम उद्यम की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उन्होंने सितंबर 2017 में पद से इस्तीफा दे दिया था। माना जाता है कि उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का मजबूत समर्थन प्राप्त है। अगस्त 2018 तक वह रक्षा मामलों की स्थायी समिति के सदस्य रहे हैं। वह लखनऊ से भाजपा विधायक भी रहे हैं।

आचार्य देवव्रत

आचार्य देवव्रत वर्तमान में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल हैं। उन्हें राष्ट्रपति ने यहां से हटाकर सोमवार को गुजरात का राज्यपाल नियुक्त किया है।
         श्री आचार्य कुरुक्षेत्र स्थित गुरुकुल के प्रधानाचार्य रह चुके हैं। इस शैक्षणिक संस्थान को आर्य प्रतिनिधि सभा बिना सरकारी सहायता के संचालित करती है। राज्यपाल श्री आचार्य अपने दैनिक जीवन में ईमानदारी , अनुशासन और समय की पाबंदी के लिए जाने जाते हैं।
    वे " बेटी पढ़ाओ - बेटी बचाओ " अभियान से भी जुड़े हैं।

India

Jul 15 2019, 16:41

पाकिस्तान ने भारत से 1 अरब 37 करोड़ रुपये की मंगाई दवा, पाकिस्तान के स्वास्थ्य विभाग मंत्रालय ने जारी की रिपोर्ट



Streetbuzz desk/पाकिस्तान ने भारत से जीवन रक्षक दवाओं के साथ-साथ विभिन्न रोगों के इलाज में आने वाली टैबलेट , सीरप और टीके बड़ी मात्रा में आयात किया है।
       उसने बीते वर्ष भारत से एक अरब , 36 करोड़ , 99 लाख एवं 87 हजार रुपये की दवा व वैक्सीन आयात की। यह जानकारी पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है।  आयात की गई दवाओं में जीवन रक्षक दवाओं के साथ-साथ विभिन्न रोगों में इलाज में आने वाली टैबलेट , सीरप और टीके बड़ी मात्रा में शामिल हैं।
    रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते वर्ष जनवरी में भारत से 15 करोड़ 43 लाख व 17 हजार पाकिस्तानी रुपये की दवा और वैक्सीन मंगाई गईं। फरवरी में 22 करोड़ 32 लाख 47 हजार , मार्च में 19 करोड़ 37 लाख और 37 हजार रुपये की भारतीय दवाएं व वैक्सीन आयात की गईं। अप्रैल में 11 करोड़ 10 लाख एवं 42 हजार, मई में 18 करोड़ 96 लाख एवं 47 हजार और जून में चार करोड़ 89 लाख एवं 12 हजार रुपये की भारतीय दवा व वैक्सीन आयात की गईं।
   इसके अलावा , पाकिस्तान से भारत में वाणिज्यक आयात इस साल मार्च में 92 प्रतिशत घटकर 28.4 लाख डॉलर का रहा। आपको बता दें कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद 200 प्रतिशत सीमा शुल्क लगाए जाने के बाद आयात में कमी आई है। भारत ने इस साल 16 फरवरी को पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी आर्थिक कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान से आयातित सभी वस्तुओं पर सीमा शुल्क बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दिया था।

India

Jul 15 2019, 13:23

एक्सक्लुसिव 


रेलवे स्‍टेशन पर बिकेगा सिर्फ रेल नीर , अन्‍य ब्रांडों पर लगाई गई रोक, मुहिम 'ऑपरेशन थर्स्ट' चलाया गया



Streetbuzz desk/भारतीय रेल ने सभी प्रमुख रेलवे स्‍टेशनों पर अनाधिकृत पेयजल के ब्रांडों की बिक्री पर रोक लगाने का फैसला किया है। रेल के इस निर्णय के बाद रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स  ने कार्रवाई करते हुए 1371 व्यक्तियों को गिरफ्तार किये जाने के साथ 69,000 बोतलों को जब्त किया है। मुहिम 'ऑपरेशन थर्स्ट' की शुरुआत 08-09 जुलाई को की गई और उल्लंघन करने वालों पर 6,80,855 रुपये का जुर्माना लगाया गया है।
     एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि गिरफ्तार किए गए लोगों में 04 पैंट्री कार मैनेजर शामिल हैं। रेलवे स्टेशनों के कई स्टालों को अनधिकृत ब्रांडों के पेयजल की बोतलों को पैक कर बेचते पाया गया है। भ्रष्टाचार की जड़ तक जाने के इरादे के साथ विशेष मुहिम में प्रिंसिपल चीफ सिक्युरिटी कमिश्नर लगातार कार्रवाई कर रहे हैं।
   दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के कमर्शियल इंस्पेक्टर ने 01 आदेश जारी किया है। इसमें तय हुआ है कि अगर वेंडर के पास अनाधिकृत ब्रांड वाला पानी मिलता है तो उसे मुफ्त में यात्रियों को बांट दिया जाएगा। आदेश की कॉपी सभी स्टॉलों पर चिपका दी गई है। इसके मुताबिक वेंडर रेल नीर और अन्य 06 स्वीकृत ब्रांड का पानी ही बेच सकते हैं। बिलासपुर मंडल के वाणिज्य विभाग ने यह नियम 01 माह पहले जारी किया था।
    रेलवे ने अपने सभी जोनल प्रिंसिपल चीफ सिक्युरिटी कमिश्नरों को अनधिकृत पैक पेयजल ब्रांडों की बिक्री पर कार्रवाई करने को कहा है। अगर कोई वेंडर अनाधिकृत ब्रांड का पानी बेचते हुए दिखाई देता है तो उस पर जुर्माना लगाये जाने के साथ उचित कार्रवाई की जाएगी।

India

49 min ago

बिहार में जुटाई जा रही है राष्ट्रीय स्वयंसेवक (आरएसएस) और उसके सहयोगी संगठनों की जानकारी ,  विशेष शाखा के एसपी ने एक हफ्ते में मांगी रिपोर्ट


 एसपी ने कहा - एक हफ्ते में नाम , पता , दूरभाष और व्यवसाय के बारे में जुटाएं जानकारी


सरकार ने कहा-रूटीन प्रक्रिया है



 Streetbuzz desk/पुलिस की स्पेशल ब्रांच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) और उसके सभी सहयोगी संगठनों के बारे में जानकारी जुटा रही है। 28 मई को एक पत्र विभाग के सभी बड़े अधिकारियों को प्रेषित किया गया है। विशेष शाखा के पुलिस अधीक्षक ने सभी क्षेत्रीय पुलिस उपाधीक्षकों और सभी जिला विशेष शाखा पदाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक हफ्ते में आरएसएस और उससे जुड़े सहयोगी संगठनों की पूरी जानकारी जुटाएं। इन संगठनों के पदाधिकारियों के नाम , पता , दूरभाष और व्यवसाय के बारे में जानकारी मांगी गई है।
      पत्र में आरएसएस समेत 19 संगठनों के नाम हैं। जिनमें विश्व हिंदू परिषद , बजरंग दल , हिंदू महासभा और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भी शामिल हैं। वहीं इस मामले में सरकार का कहना है कि ये एक रुटीन प्रक्रिया है।

India

50 min ago

एक्सक्लुसिव


तीन राजनीतिक पार्टियों से छीन सकती है राष्ट्रीय दल की मान्यता , चुनाव आयोग ने जारी किया नोटिस



Streetbuzz desk/ चुनाव आयोग देश के तीन अहम राजनीतिक दलों से राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा छीन सकता है। आयोग ने तृणमूल कांग्रेस , कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को नोटिस जारी कर यह पूछा है कि क्यों न उनके राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता को खत्म कर दी जाए?
    चुनाव आयोग ने इन तीनों दलों को जो कारण बताओ नोटिस जारी किया है उसके पीछे हालिया चुनाव में इन दलों के खराब प्रदर्शन को आधार बनाया गया है। इन तीनों दलों का प्रदर्शन 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में काफी खराब रहा है।
  हालांकि बहुजन समाज पार्टी के ऊपर राष्ट्रीय दल की मान्यता खत्म होने का खतरा इसलिए नहीं है क्योंकि उसने लोकसभा की 10 सीटों पर जीत हासिल की है। चुनाव आयोग अगर इन तीनों दलों के जवाब से संतुष्ट नहीं होता है तो इनसे राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा छिन सकता है।

India

Jul 16 2019, 17:49

एक्सक्लुसिव


लुटियंस जोन के बंगलों में कौन सबसे लंबे समय तक काबिज रहा , कोई रिकॉर्ड नहीं 


Streetbuzz desk/हैरानी की बात है कि डिजिटल डेटाबेस के युग में भी आज के दिन तक नई दिल्ली के लुटियंस जोन में स्थित बंगलों की आवंटन तिथि और कितने लंबे समय तक कौन इस पर काबिज़ रहा , ऐसी कोई तालिका नहीं बनाई गईं।
     दिल्ली के लुटियंस बिल्डिंग जोन को वीआईपी और रसूखदार लोगों की रिहाइश के लिए जाना जाता है। आधिकारिक तौर पर आवंटित बंगलों में कौन सा राजनेता सबसे लंबे समय तक काबिज रहा। ऐसा कोई रिकॉर्ड सरकार के पास मौजूद नहीं है।
‘10 जनपथ’ बंगले  का नाम लेते ही यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम जेहन में आता है। ये बंगला रायबरेली से लोकसभा सांसद का आधिकारिक आवास है। यूपीए अध्यक्ष लुटियंस के डिजाइन किए इस बड़े बंगले में करीब तीन दशक से रह रही हैं। ‘10, जनपथ’ बंगला  सोनिया गांधी के पति और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को 19 जनवरी 1990 को आवंटित हुआ था। राजीव गांधी की 21 मई 1991 को हत्या के बाद ये बंगला सोनिया गांधी को आवंटित हुआ। गांधी परिवार से पहले ये बंगला 1988 से लेकर 1990 तक तत्कालीन विदेश राज्य मंत्री प्रोफेसर के के तिवारी के पास रहा। ये जानकारी आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से जुड़े संपदा निदेशलाय ने आरटीआई याचिका के जवाब में दी है। ये याचिका इंडिया टुडे की ओर से दाखिल की गई थी।
   नामचीन राजनीतिक नेताओं में सिर्फ़ सोनिया गांधी अकेली नहीं हैं जो एक ही बंगले में वर्षों से रह रही हैं। हमने अपनी याचिका से पता लगाना चाहा कि ऐसे कौन से टॉप 10 नेता हैं जो लंबे समय से नई दिल्ली के लुटियंस बंगला जोन में स्थित समान बंगलों में ही रहते चले आ रहे हैं।
संपदा निदेशालय ने अपने जवाब में कहा , ‘संकलित अवस्था में डेटा उपलब्ध नहीं है।
 विस्तृत जानकारी के लिए आरटीआई द्वारा निर्गत पत्र संलग्न है:-

India

Jul 16 2019, 17:45

एक्सक्लुसिव 


रिटायरमेंट के 40 साल बाद रक्षा मंत्रालय को इस शख्स ने दिया 01 करोड़ का दान


एयरफोर्स से रिटायर जवान 74 वर्षीय सी बी आर प्रसाद  ने अपने पूरे जीवन की कमाई देश के लिए कर दिया समर्पित



Streetbuzz desk/ ‘सैनिक को सेना से तो बाहर निकाला जा सकता है , लेकिन एक सैनिक से सेना को बाहर नहीं किया जा सकता’, इसी कहावत को चरितार्थ करते हुए एयरफोर्स से रिटायर जवान 74 वर्षीय सी बी आर प्रसाद ने अपने जीवन की पूरी बचत रक्षा मंत्रालय को दान दे दी। श्री प्रसाद ने बताया कि रेलवे में अच्छी नौकरी का प्रस्ताव मिलने के कारण 09 वर्षों की सेवा के बाद उन्होंने एयर फोर्स को छोड़ दिया था। दुर्भाग्य से उन्हें रेलवे की नौकरी नहीं मिली। तब उन्होंने अपने जीवन-यापन के लिए एक पॉल्ट्री फार्म शुरू किया।
     उन्होंने आगे  बताया कि ‘सौभाग्य से यह व्यवसाय चल निकला। मैंने अपने परिवार की जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद सोचा कि मुझे रक्षा सेवा से जो कुछ मिला, उसको लौटाना चाहिए। तब मैंने रक्षा मंत्रालय को 1.08 करोड़ रुपये देने का फैसला किया।’
     प्रसाद सोमवार को यहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर उन्हें चेक सौंपा। उन्होंने समाज की मदद करने के लिए पॉल्ट्री फार्म में 30 सालों तक कड़ी मेहनत की। बाद में उन्होंने एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की भी स्थापना की। जब उनसे पूछा गया कि उनके परिवार ने इसकी इजाजत दी तो उन्होंने कहा कि इसमें कोई दिक्कत नहीं है। मैंने अपनी संपत्ति में से बेटी को दो फीसदी , पत्नी को एक फीसदी और शेष 97 फीसदी हिस्सा समाज को लौटा दिया। उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह यह देख कर खुश हुए।

India

Jul 16 2019, 17:41

एक्सक्लुसिव 


घर में चलाना है पंखा या एसी तो पहले जमा कराना होगा पैसा , फिर मिलेगी बिजली, देश भर में लगेंगे प्रीपेड स्मार्ट मीटर



Streetbuzz desk/अब लोगों को घर में पंखा , एसी समेत अन्य इलेक्ट्रोनिक सामान चलाने के लिए पहले भुगतान करना होगा , उसके बाद ही घर में बिजली आएगी। केंद्र सरकार जल्द ही बिजली प्रयोग करने के बाद बिल भुगतान की प्रथा को पूरी तरह से खत्म करने जा रही है। सरकार एक योजना पर काम कर रही है , जिससे लोगों को बिजली का प्रयोग करने से पहले ही उसका भुगतान करना होगा। इसके लिए देश भर में प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगेंगे। 
    बिजली मंत्री आर के सिंह ने कहा कि भारत एक नई व्यवस्था की ओर बढ़ रहा है , जहां बिजली उपभोक्ता को पहले भुगतान करना होगा और फिर उसे बिजली मिलेगी। ऊर्जा मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य समाज के कुछ वर्गों को निःशुल्क बिजली दे सकती है , लेकिन उन्हें इसके लिए अपने बजट से भुगतान करना होगा।
    श्री सिंह ने कहा , हम भुगतान और आपूर्ति के बीच एक संपर्क बना रहे हैं। आपको पहले भुगतान करना होगा और फिर आपको बिजली मिलेगी। निःशुल्क बिजली जैसी कोई चीज नहीं है। आप बिना निवेश के बिजली का उत्पादन नहीं कर सकते हैं।  उन्होंने कहा कि बिजली बनाने में लागत लगती है और किसी को इसके लिए भुगतान करना पड़ता है। अगर राज्य निःशुल्क बिजली देना चाहती है तो दें , लेकिन उनको इसके लिए अपने बजट से भुगतान करना होगा। यही हम करने जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने 2022 का लक्ष्य रखा है , जिसके बाद लोगों को बिना मीटर को रिचार्ज कराए घर में बिजली की आपूर्ति नहीं की जा सकेगी।

Patna

Jul 16 2019, 17:38

पटना में अपराधियों ने दिनदहाड़े लूट लिया 18.41 लाख का सिक्का , बोलेरो सवार अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम



Streetbuzz desk/ पटना जिला अंतर्गत नौबतपुर , पितवांस गांव के समीप बोलेरो सवार 09 अपराधियों ने 18.41 लाख के सिक्के लूटकर फरार हो गए। लूट के समय कैशवैन में ड्राइवर और रिस्क मैनेजर मौजूद थे , जिसे अपराधियों ने बंधक बना लिया और सिक्के लूटकर फरार हो गए।
    सिक्के रेडिएंट कैश मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड का था जिसे पटना से रांची के रीजनल ऑफिस में जमा करने के लिए ले जाया जा रहा था।  घटना की सूचना पुलिस को दी गयी है।मामले की छानबीन की जा रही है।

India

Jul 15 2019, 19:58

एक्सक्लुसिव


चंद्रग्रहण के कारण वाराणसी में गंगा आरती का समय बदला, दो घंटे विलंब से शुरू होगी बाबा की आरती


Streetbuzz desk/आषाढ़ पूर्णिमा पर मंगलवार को गुरु दर्शन के अगले दिन सावन शुरू हो जाएगा। इस बार चंद्र ग्रहण के कारण गुरु दर्शन शाम तक ही होगा तो बाबा विश्वनाथ के जलाभिषेक के लिए भक्तों को इंतजार करना होगा। चंद्र ग्रहण 16 की रात 1.31 बजे लग रहा है जो 17 की भोर 4.30  बजे खत्म होगा। इससे बाबा की आरती दो घंटे विलंब से शुरू होगी और जलाभिषेक भी आरती के बाद ही संभव हो सकेगा। सूतक लगने के चलते गुरुपूर्णिमा पर दर्शन भी शाम चार बजे तक ही हो सकेगा। घाट पर होने वाली मां गंगा की आरती का समय भी आयोजकों ने चंद्र ग्रहण के लिए बदल दिया है।


मंगलवार को आरती दोपहर तीन बजे


 दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधि व गंगोत्री सेवा समिति द्वारा आयोजित होने वाली सायंकालीन दैनिक मां गंगा की आरती सूतक काल के कारण प्रभावित होगी। गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र के अनुसार सूतक काल के कारण मंगलवार को दोपहर तीन बजे से आरती प्रारम्भ होगी जो चार बजे तक संपन्न करा दी जाएगी। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण से पूर्व देवालयों के कपाट बंद होने की परंपरा है। जिसे देखते हुए दशाश्वमेध घाट पर होने वाली विश्व प्रसिद्ध दैनिक मां गंगा की आरती का भी समय आयोजकों द्वारा परिवर्तित करते हुए दोपहर में कराया जाएगा। गंगोत्री सेवा समिति के अध्यक्ष बाबू महाराज के अनुसार 31 जनवरी 2018 को भी दिन में ही मां गंगा की आरती हो चुकी है।

  गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण


 इस बार गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण भी है। यह ग्रहण कुल 2 घंटे 59 मिनट का होगा। भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण 16 जुलाई की रात 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होगा और 17 जुलाई की सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर मोक्ष यानी समाप्त हो जाएगा। ग्रहण काल का मध्यकाल 17 जुलाई की सुबह 3 बजकर 1 मिनट होगा।