Patna_City

Oct 18 2019, 15:51

डेंगू, मलेरिया एवं चिकुनगुनिया के लिए निशुल्क जांच शिविर का आयोजन।

 
पटना सिटी, बाढ़ से प्रभावित गौरीचक में डेंगू, चिकनगुनिया एवं मलेरिया के प्रकोप से ग्रामीणों- किसानों को निजात दिलाने के लिए भाजपा किसान मोर्चा एवं आर एम आर आई संस्थान के तत्वाधान में "निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर" लगाया गया।

शिविर का उद्घाटन आरएमआरआई निदेशक डॉ प्रदीप दास एवं किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव कुमार यादव ने दीपप्रज्वलन कर किया।
 
प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव कुमार यादव (शिविर संयोजक) ने बताया की लंका कछुआरा पंचायत के गौरीचक, कमरजी, शिवचर,जैमर,दिदारपुर एवं चमरटोली, एवं महादलित टोला के लगभग 500 मजदूर ग्रमीणों एवं महिला किसानो के बीच डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, लूज मोशन, डिहाइड्रेशन एवं रक्त जांच कर निशुल्क दवा वितरण किया गया। साथ ही घर-घर, टोला-टोला जाकर ब्लिचिंग पाउडर का पैकेट एवं पानी साफ करने के लिए क्लोरीन की टेबलेट ग्रामीणों के बीच बांटा गया।
 
आर एम आर आई निदेशक ने बताया विभाग के लगभग 16 सदस्यी टीम बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से पर्याप्त मात्रा में दावा वितरण एवं लोगो को जागरूक राहत पहुंचाने में तत्पर है। स्वास्थ्य शिविर का संचालन जोगिंदर यादव एवं धन्यवाद ज्ञापन पटना महानगर अध्यक्ष शत्रुघ्न सिंह ने की। शिविर में डॉ अनुराग कुमार,  डॉक्टर कृष्णा पांडे, डॉ रवि कुमार, डॉक्टर उमाशंकर, संजय चौबे, नरेश सिंह के साथ-साथ किसान मोर्चा के मनिंदर पांडेय, बीर बहादुर सिंह,संतोष कुमार, विजय नारायण,राजू सिंह देवेंद्र सिंह शिवेंद्र धारी सिंह, शिबू जी, सहित दर्जनों कार्यकर्ता सक्रिय दिखे।

Bihar

Oct 16 2019, 11:33

डेंगू का प्रकोप

जाने लक्षण तथा बचने के सटीक उपाय।
 

पटना जैसे नगरों तथा महानगरों में डेंगू अपना पांव पसार चुका है। सामान्य सा दिखने वाला यह बुखार असल में एक जानलेवा बीमारी है। अब तक कितने ही लोग इसकी वजह से काल के गाल में समा चुके हैं। आखिर इसके लक्षण क्या हैं और इससे बचा कैसे जा सकता है। तो आइए जानते हैं क्या है डेंगू और इससे बचने के उपाय।

कैसे और कब होता है डेंगू 

डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर दिन में, खासकर सुबह काटते हैं। डेंगू बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता।

कैसे फैलता है

डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज के खून में डेंगू वायरस बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। जब कोई एडीज मच्छर डेंगू के किसी मरीज को काटता है तो वह उस मरीज का खून चूसता है। खून के साथ डेंगू वायरस भी मच्छर के शरीर में चला जाता है। जब डेंगू वायरस वाला वह मच्छर किसी और इंसान को काटता है तो उससे वह वायरस उस इंसान के शरीर में पहुंच जाता है, जिससे वह डेंगू वायरस से पीड़ित हो जाता है।

कब दिखती है बीमारी

काटे जाने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। शरीर में बीमारी पनपने की मियाद 3 से 10 दिनों की भी हो सकती है।

डेंगू से बचने के उपाय

1. बचाव के लिए मच्छर प्रतिरोधक का इस्तेमाल करें।

2. पूरी बाजू की कमीज और पायजामा या पैंट पहनें।

3. यह भी ध्यान रखें कि खिड़कियों के पर्दे सुरक्षित हों और उनमें छेद न हों।

4. एयर कंडीशंड कमरों में रहकर बीमारी से बचा जा सकता है।

5. मच्छरों को अंडे देने से रोकने के लिए घर में पानी जमा नहीं होने दें।

6. बाहर रखे साफ पानी के बर्तनों जैसे पालतू जानवरों के पानी के बर्तन, बगीचों में पानी देने वाले बर्तन और पानी जमा करने वाले टैंक इत्यादि को साफ रखें।

7. घर के अंदर फूलदानों में पानी जमा न होने दें और उन्हें हफ्ते में एक बार जरूर साफ करें।

8. जिन लोगों के घर में कोई डेंगू से पीड़ित है, वह थोड़ा ज्यादा ध्यान रखें कि मच्छर दूसरे सदस्यों को न काटे।

9. बीमारी को फैलने से बचाने के लिए पीड़ित को मच्छरदानी के अंदर सोना चाहिए।

10. अस्पतालों को भी चाहिए कि वे डेंगू के मरीजों को मच्छरदानी उपलब्ध करवाएं।

Muzaffarpur

Oct 16 2019, 10:48

चमकी बुखार का प्रकोप थमा तो डेंगू, चिकनगुनिया की गिरफ्त में आए लोग, एसकेएमसीएच में अब तक डेंगू के 24 मरीज भर्ती।
 


चमकी बुखार के बाद बाढ़ की चपेट में आए प्रखंड के लोग अब डेंगू और चिकनगुनिया जैसी गंभीर बीमारी की गिरफ्त में आने लगे हैं।  मुख्य रूप से मुसहरी मीनापुर साहेबगंज और औराई प्रखंड में डेंगू का सबसे अधिक प्रकोप है मुसहरी के अहियापुर इलाके में अब तक सबसे अधिक 8 मरीज डेंगू की चपेट में आ चुके हैं। सभी मरीज एसकेएमसीएच से 5 किलोमीटर रेडियस के अंदर है। 

डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बाद अब आम लोगों को भी बीमारी का डर सता रहा है। एसकेएमसीएच के ओपीडी में प्रतिदिन 500 से अधिक मरीज मौसमी बीमारी से ग्रसित होकर पहुंच रहे हैं।
बुखार सर्दी खांसी से ग्रस्त मरीजों को डॉक्टर डेंगू की जांच कराने को लिख रहे हैं। एसकेएमसीएच मेडिकल कॉलेज की व्हीडीआरएल  लैब में डेंगू चिकनगुनिया जैसी जांच शुरू होने लगी है। राज्य स्वास्थ्य समिति के आदेश पर जिला स्वास्थ्य समिति की ओर से जुलाई को एंटी डेंगू मंथ के रूप में मनाया जा चुका है। 

एसकेएमसीएच में हुई जांच में अब तक 24 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। पिछले वर्ष 75 मरीजों डेंगू की चपेट में आए थे। मुजफ्फरपुर के अलावा वैशाली पूर्वी चंपारण व पश्चिमी चंपारण सीतामढ़ी और शिवहर से भी मरीज इलाज को एसकेएमसीएच मेडिकल पहुंच रहे हैं। राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार इन जिलों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामले सामने आ रहे हैं। जुलाई से अक्टूबर तक डेंगू को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाना है। सरकार के अलावा निजी अस्पतालों को भी डेंगू से निपटने के लिए डेंगू जांच कीट एवं आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही मेडिकल पैरामेडिकल और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को जागरूक करने को कहा गया है। जिला अधिकारी आलोक रंजन घोष ने सभी विभागों को अलर्ट करते हुए सभी सरकारी संस्थान व आम लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

Patna

Oct 15 2019, 16:30

बाढ़ राहत में लगे केंद्रीय टीम, एजेंसियों और राज्य स्वास्थ्य समिति के साथ आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्वनी चौबे ने की समीक्षा बैठक।#Health

आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्वनी चौबे ने सबसे पहले पी एम सी एच में डेंगू पीड़ित मरीजों का जायजा लेने का काम किया और पीएमएमएच सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी किया ।

जहां केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे बाढ़ राहत में लगे विभिन्न केंद्रीय टीमों, एजेंसियों और बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति के साथ उनके कार्यों की समीक्षा किये जिसमें सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। यह समीक्षा बैठक पटना के राजकीय अतिथिशाला में किया गया।

केंद्रीय मंत्री श्री अश्विनी चौबे के मीडिया प्रभारी वेद प्रकाश ने बताया कि समीक्षा बैठक में एनसीडीसी, आईसीएमआर, ऐम्स, आरएमआरआई, आरओएच & एफडब्ल्यू , ई एम आर और सीजीएचएस सहित राज्य स्वास्थ्य समिति के सभी वरीय पदाधिकारी उपस्थित हुए।                    

जहां मंत्री ने पी एम सी एच में डेंगू पीड़ित मरीजों का जायजा लेने का काम किया  और पीएमएमएच सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी करेंगे। इस संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों और निर्माण घर में संलग्न कंपनियों के अधिकारियों को अद्यतन रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है।

 केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे 2 दिन के बिहार दौरे पर हैं।

Patna

Oct 13 2019, 17:11

इंसाफ मंच व डाॅ. कफील खान मिशन स्माइल फाउंडेशन के बैनर तले चार दिवसीय कैंप का आज दूसरा दिन।
_Camp


13 अक्टूबर को शाहअरजां मैदान, दरगाह कर्बला के मैदान में लगेगा कैंप, 14 अक्टूबर तक पटना में कफील खान का चलेगा कैंप।



आज पटना के बाढ ़(जलजमाव) पीड़ितों के बीच फुलवारीशरीफ में इंसाफ मंच और डॉ कफील खान मिशन स्माइल फाउंडेशन की तरफ से चार दिवसीय मुफ्त मेडिकल कैंप का दूसरा आयोजन हुआ. मेडिकल कैंप में बीआरडी कॉलेज, गोरखपुर के चर्चित शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ कफील खान और उनकी टीम ने लगभग 400 बच्चों का हेल्थ चेक अप किया और उनको मुफ्त में दवायें उपलब्ध करवाई. विदित है कि कफील खान का यह अभियान विगत 11 अक्टूबर से पटना में आरंभ हुआ है. इस मेडिकल कैंप को आइसा, इंकलाबी नौजवान सभा, ए एस डब्ल्यु एफ के द्वारा सहयोग प्रदान किया गया.

डाॅ. कफील खान के अनुसार बिहार में आयी बाढ़ से संक्रमति बीमारियों - टाइफाइड, हेपेटाईटिस, मलेरिया, काॅलरा, चर्म रोग तथा कान/नाक/आंख के रोगों ने भयानक रूप ग्रहण कर लिया है. इसे देखते हुए बिहार के गरीबों व जलजमाव-बाढ़ पीड़ितों के लिए निःशुल्क जांच शिविर का आयोजन किया गया है. आज के इस मेडिकल राहत कैंप ने वहाँ के बच्चों को काफी राहत प्रदान किया. 

आज के मेडिकल कैंप में डाॅ. आशीष गुप्ता, सूरज पांडेय, पिंटू गुप्ता, इंसाफ मंच के पटना सह संयोजक मुश्ताक राहत, आसमां खां, अफशा जबीं, इंसाफ मंच के उपाध्यक्ष जफर रब्बानी, इनौस के राज्य सचिव सुधीर कुमार, पटना जिला अध्यक्ष साधु शरण, विजय, आइसा नेता आफताब आलम, मो. हनीफ अहमद, मो. शमशुल हक, रुखसाना कुरैशी, तौशीक आलम, फैजी अहमद, मो. फैयाज, महेश कुमार, गुरूदेव दास आदि शामिल थे.

कल 13 अक्टूबर को शाहअरजां मैदान, दरगाह कर्बला में कैंप लगेगा.

Muzaffarpur

Oct 11 2019, 18:22

एईएस पीड़ित परिवारों को आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिया जाएगा गोल्डन कार्ड।#Health _Bharat

जिले के पांच प्रखंड मुख्यतः ए०ई०एस से प्रभवित रहे है। मुशहरी, बोचहां, कांटी, मीनापुर और मोतीपुर में विशेष रूप से ए०ई०एस का प्रकोप देखा गया। उन प्रखंड के एईएस पीड़ित पात्र परिवारों को आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा गोल्डन कार्ड दिया जाएगा। पीएचसी वार कैम्प लगाकर प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पीड़ित परिवारों को उक्त कार्ड मुहैया कराए जाएंगे।

जिलाधिकारी क़े निर्देश के आलोक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा ए०ई०एस प्रभावित क्षेत्रों में यह कवायद की जाएगी। इस संबंध में सिविल सर्जन ने बताया कि पूरे जिले में विशेषकर एईएस प्रभावित प्रखण्डो में आई इ सी के तहत ए०ई०एस प्रभवित क्षेत्रों में सघन जागरूकता कार्यक्रम भी चलाये जाएंगे। जिला स्तर पर विशेष कार्ययोजना के तहत विभिन्न विभागों के परस्पर समन्वय से उक्त जागरुकता कार्यक्रम को अन्जाम दिया जाएगा।

Patna

Oct 11 2019, 17:15

लोगों को सेहत के प्रति संवेदनशील बनाने के राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री के साथ केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने की साइकिल यात्रा।#Politics 

भारत को निरोगी बनाने और प्लास्टिक का प्रयोग बंद करने का किया आह्वान।

केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने दिल्ली में शुक्रवार को 30 जनवरी मार्ग से लोधी गार्डन तक विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ साइकिल यात्रा कर लोगों को सेहत के प्रति गंभीर होने के लिए जागरूक किया। इसमें बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने भी भाग लिया।

सेंट्रल काउंसिल ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर के दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस में शामिल होने देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली आए हुए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे ने देशवासियों से अपने व्यस्ततम समय में से 1 घंटे अपने सेहत के लिए निकालने के लिए आह्वान किया। साइकिलिंग के उपरांत लोधी गार्डन में सदस्यों ने जोगिंग की।

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने कहा कि स्वास्थ्य से बड़ा कोई धन नहीं।  बेहतर स्वास्थ्य न हो तो सब कुछ नीरस हो जाता है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में अपने व अपने परिवार के लिए 60 मिनट जरूर निकाल टहले, योग करें और साइकिल चलाएं। आप सेहतमंद तो देश प्रगति के पथ पर आगे बढ़ेगा। आप सेहतमंद रहेंगे सभी परिवार समाज राज्य और देश का सेवा कर सकते हैं। उन्होंने लोगों को फिट इंडिया मूवमेंट के लिए जागरूक करने पर बल दिया।

केंद्रीय राज्यमंत्री श्री चौबे ने प्रदूषण फैलने/फैलाने से बचने के लिए और सेहतमंद स्वस्थ के लिए प्लास्टिक से दूर रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि हम सभी को अपने सामाजिक उत्तरदायित्व के प्रति संवेदनशील रहकर नए भारत का निर्माण करना है। लोगों के विकास व भविष्य तथा पर्यावरण के लिए प्लास्टिक अत्यंत नुकसान दे है जिसके प्रयोग पर रोक लगाने का आह्वान हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है। उन्होंने आह्वान किया कि सेहत व पर्यावरण के लिए खतरनाक प्लास्टिक के प्रयोग पर आप सभी स्वेच्छा से रोक लगाएं।

Bettiah

Oct 09 2019, 18:19

बेतिया : सेंट्रल हेल्थ केयर सेंटर का शुभारंभ।


ब्यूरो रिपोर्ट पश्चिम चंपारण

बेतिया। पश्चिम चंपारण जिला के बेतिया-सरिसवा रोड पर रेलवे ढाला से 100 मीटर के समीप सेंट्रल हेल्थ केयर सेंटर का शुभारंभ डॉ0 तौहीद आलम ने फीता काट कर किया। इस सेंटर में डॉ0 तौहीद आलम व डॉ0 शिखा चक्रवर्ती द्वारा रोगियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान किया जाएगा। इस क्षेत्र के जनता के कल्याणार्थ ही इस सेंटर की शुभारंभ किया गया हैं। उक्त मौके पर डॉ0 तौहीद आलम ने कहा कि यहाँ की जनता की मांग को देखते हुए यहां सेंट्रल हेल्थ केयर सेंटर का शुभारंभ किया गया हैं। जिससे यहां के मरीजो को बेहतर इलाज मुहैया कराई जा सके। 

यहां महिला डॉक्टर भी हैं जो महिलाओं की सभी प्रकार के बीमारियों का ईलाज बेहतर तरीके से किया जाएगा। इस सेंटर में सभी प्रकार से फिजिशियन की सुविधा मुहैया कराते हुए मरीजो का ईलाज होगी। यहां आक्सीजन की सुविधा भी हैं क्योंकि कई बार यह देखने को मिला है कि रेलवे ढाला बन्द रहने के कारण ऑक्सीजन नही मिलने से कई मरीजो की मृत्यु हो गई हैं, जिसको देखते हुए ऑक्सीजन रखा गया हैं। उक्त स्थिति में मरीज की जान बचाई जा सके। 

उक्त मौके पर कई मरीजो की बीमारियों की जाँच करते हुए उचित परामर्श दिया गया। उक्त मौके पर कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Job_info

Oct 09 2019, 11:40

HSSC Jobs 2019 : Recruitment for 4322 Vacancies

 Name of Exam: HSSC Jobs Recruitment for Various Departments 2019

 Name of Organization:  Haryana Staff Selection Commission 

 Post Name: Dental Hygienist, Lab Technician, Lab Attendant, MPHW(F), Pharmacist, Radiographer, T.B. Health Visitor, Ophthalmic Assistant, Operation Theatre Assistant, Staff Nurse, VLDA, Supervisor (Female), Supervisor (Female, Graduate), Junior System Engineer, Clerk, Welfare Organizer, Revenue Accountant, Sub Inspector General, Staff Nurse, MPHW(F)

 Total Vacancy: 4322. Post Wise Details are as follows:

Dental Hygienist-29
Lab Technician- 307
Lab Assistant-28
MDHW(F)-565
Pharmacist- 92
Radiographer- 197
T.B. Health Visitor – 8 
Opthalmic Assistant- 66
Operation Theatre Assistant- 100
Staff Nurse- 1584
VLDA- 546
Supervisor Female- 19
Supervisor Female (Graduate)- 57
Junior System Engineer- 126
Clerk- 23
Welfare Organizer- 77
Revenue Accountant- 42
Sub Inspector General-409
Staff Nurse- 24
MPHW(F)- 23

Educational Qualification: 12th Pass / Any Graduate / Electrical Engineering / Electronics Engineering / Mechanical Engineering / Any Other Engineering Branch Degree / Other Degree / Diploma Holders Are Eligible.

For complete details regarding post wise educational qualifications, kindly check the official notification provided below.

Experience (If Any): Experience Carries 10 Marks out of 100 Marks

 Age Limit: Please read Official Notification for detailed age criteria. 

 Selection Process:
Written Exam
Socio-Economic Criteria and Experience

 Important Date : Give Below. 

 Apply Online:
http://bit.ly/2ZNFla3

Job_info

Oct 07 2019, 11:51

CSL Jobs 2019 : Recruitment of Inspector, Assistant & Fireman in Cochin Shipyard Limited

 Name of Exam: CSL Recruitment of Health Inspector, Safety Assistant, Fireman for 2019

 Name of Organization:  Cochin Shipyard Limited (CSL)

 Post Name: Sanitary Cum Health Inspector, Safety Assistant, Fireman

 Salary / Pay Scale: 
- Health Inspector: Rs 18400/- Per Month + Rs 4500/- for overtime Per Month 
- Safety Assistant: Rs 18400/- Per Month + Rs 4500/- for overtime Per Month 
- Fireman: Rs 17400/- Per Month + Rs 4200/- for overtime Per Month

 Total Vacancy: 132.
Out of which 01 vacancy is for Health Inspector, 72 Vacancies are for Sanitary Inspector & 59 Vacancies are for Fireman.

 Educational Qualification :
- Health Inspector: 12th Pass + Diploma In Health Inspector Course + Valid Registration with Kerela Govt.
- Safety Assistant: 10th + Diploma in fire / safety
-Fireman: 10th + Fire Fighting Training / NBCD Certificate 

 Age Limit : 18 - 30 Yrs.

 Selection Process:
Written Test
Practical Test
Physical Test

 Application Fees:  Rs 100/- For (UR / OBC)
- (SC / ST / PwD) candidates are exempted from paying fees.

 Last Date : 18.10.2019

 Apply Online :
http://bit.ly/2L1QIUB

Patna_City

Oct 18 2019, 15:51

डेंगू, मलेरिया एवं चिकुनगुनिया के लिए निशुल्क जांच शिविर का आयोजन।

 
पटना सिटी, बाढ़ से प्रभावित गौरीचक में डेंगू, चिकनगुनिया एवं मलेरिया के प्रकोप से ग्रामीणों- किसानों को निजात दिलाने के लिए भाजपा किसान मोर्चा एवं आर एम आर आई संस्थान के तत्वाधान में "निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर" लगाया गया।

शिविर का उद्घाटन आरएमआरआई निदेशक डॉ प्रदीप दास एवं किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव कुमार यादव ने दीपप्रज्वलन कर किया।
 
प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव कुमार यादव (शिविर संयोजक) ने बताया की लंका कछुआरा पंचायत के गौरीचक, कमरजी, शिवचर,जैमर,दिदारपुर एवं चमरटोली, एवं महादलित टोला के लगभग 500 मजदूर ग्रमीणों एवं महिला किसानो के बीच डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, लूज मोशन, डिहाइड्रेशन एवं रक्त जांच कर निशुल्क दवा वितरण किया गया। साथ ही घर-घर, टोला-टोला जाकर ब्लिचिंग पाउडर का पैकेट एवं पानी साफ करने के लिए क्लोरीन की टेबलेट ग्रामीणों के बीच बांटा गया।
 
आर एम आर आई निदेशक ने बताया विभाग के लगभग 16 सदस्यी टीम बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से पर्याप्त मात्रा में दावा वितरण एवं लोगो को जागरूक राहत पहुंचाने में तत्पर है। स्वास्थ्य शिविर का संचालन जोगिंदर यादव एवं धन्यवाद ज्ञापन पटना महानगर अध्यक्ष शत्रुघ्न सिंह ने की। शिविर में डॉ अनुराग कुमार,  डॉक्टर कृष्णा पांडे, डॉ रवि कुमार, डॉक्टर उमाशंकर, संजय चौबे, नरेश सिंह के साथ-साथ किसान मोर्चा के मनिंदर पांडेय, बीर बहादुर सिंह,संतोष कुमार, विजय नारायण,राजू सिंह देवेंद्र सिंह शिवेंद्र धारी सिंह, शिबू जी, सहित दर्जनों कार्यकर्ता सक्रिय दिखे।

Bihar

Oct 16 2019, 11:33

डेंगू का प्रकोप

जाने लक्षण तथा बचने के सटीक उपाय।
 

पटना जैसे नगरों तथा महानगरों में डेंगू अपना पांव पसार चुका है। सामान्य सा दिखने वाला यह बुखार असल में एक जानलेवा बीमारी है। अब तक कितने ही लोग इसकी वजह से काल के गाल में समा चुके हैं। आखिर इसके लक्षण क्या हैं और इससे बचा कैसे जा सकता है। तो आइए जानते हैं क्या है डेंगू और इससे बचने के उपाय।

कैसे और कब होता है डेंगू 

डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर दिन में, खासकर सुबह काटते हैं। डेंगू बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता।

कैसे फैलता है

डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज के खून में डेंगू वायरस बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। जब कोई एडीज मच्छर डेंगू के किसी मरीज को काटता है तो वह उस मरीज का खून चूसता है। खून के साथ डेंगू वायरस भी मच्छर के शरीर में चला जाता है। जब डेंगू वायरस वाला वह मच्छर किसी और इंसान को काटता है तो उससे वह वायरस उस इंसान के शरीर में पहुंच जाता है, जिससे वह डेंगू वायरस से पीड़ित हो जाता है।

कब दिखती है बीमारी

काटे जाने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। शरीर में बीमारी पनपने की मियाद 3 से 10 दिनों की भी हो सकती है।

डेंगू से बचने के उपाय

1. बचाव के लिए मच्छर प्रतिरोधक का इस्तेमाल करें।

2. पूरी बाजू की कमीज और पायजामा या पैंट पहनें।

3. यह भी ध्यान रखें कि खिड़कियों के पर्दे सुरक्षित हों और उनमें छेद न हों।

4. एयर कंडीशंड कमरों में रहकर बीमारी से बचा जा सकता है।

5. मच्छरों को अंडे देने से रोकने के लिए घर में पानी जमा नहीं होने दें।

6. बाहर रखे साफ पानी के बर्तनों जैसे पालतू जानवरों के पानी के बर्तन, बगीचों में पानी देने वाले बर्तन और पानी जमा करने वाले टैंक इत्यादि को साफ रखें।

7. घर के अंदर फूलदानों में पानी जमा न होने दें और उन्हें हफ्ते में एक बार जरूर साफ करें।

8. जिन लोगों के घर में कोई डेंगू से पीड़ित है, वह थोड़ा ज्यादा ध्यान रखें कि मच्छर दूसरे सदस्यों को न काटे।

9. बीमारी को फैलने से बचाने के लिए पीड़ित को मच्छरदानी के अंदर सोना चाहिए।

10. अस्पतालों को भी चाहिए कि वे डेंगू के मरीजों को मच्छरदानी उपलब्ध करवाएं।

Muzaffarpur

Oct 16 2019, 10:48

चमकी बुखार का प्रकोप थमा तो डेंगू, चिकनगुनिया की गिरफ्त में आए लोग, एसकेएमसीएच में अब तक डेंगू के 24 मरीज भर्ती।
 


चमकी बुखार के बाद बाढ़ की चपेट में आए प्रखंड के लोग अब डेंगू और चिकनगुनिया जैसी गंभीर बीमारी की गिरफ्त में आने लगे हैं।  मुख्य रूप से मुसहरी मीनापुर साहेबगंज और औराई प्रखंड में डेंगू का सबसे अधिक प्रकोप है मुसहरी के अहियापुर इलाके में अब तक सबसे अधिक 8 मरीज डेंगू की चपेट में आ चुके हैं। सभी मरीज एसकेएमसीएच से 5 किलोमीटर रेडियस के अंदर है। 

डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बाद अब आम लोगों को भी बीमारी का डर सता रहा है। एसकेएमसीएच के ओपीडी में प्रतिदिन 500 से अधिक मरीज मौसमी बीमारी से ग्रसित होकर पहुंच रहे हैं।
बुखार सर्दी खांसी से ग्रस्त मरीजों को डॉक्टर डेंगू की जांच कराने को लिख रहे हैं। एसकेएमसीएच मेडिकल कॉलेज की व्हीडीआरएल  लैब में डेंगू चिकनगुनिया जैसी जांच शुरू होने लगी है। राज्य स्वास्थ्य समिति के आदेश पर जिला स्वास्थ्य समिति की ओर से जुलाई को एंटी डेंगू मंथ के रूप में मनाया जा चुका है। 

एसकेएमसीएच में हुई जांच में अब तक 24 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। पिछले वर्ष 75 मरीजों डेंगू की चपेट में आए थे। मुजफ्फरपुर के अलावा वैशाली पूर्वी चंपारण व पश्चिमी चंपारण सीतामढ़ी और शिवहर से भी मरीज इलाज को एसकेएमसीएच मेडिकल पहुंच रहे हैं। राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार इन जिलों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामले सामने आ रहे हैं। जुलाई से अक्टूबर तक डेंगू को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाना है। सरकार के अलावा निजी अस्पतालों को भी डेंगू से निपटने के लिए डेंगू जांच कीट एवं आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही मेडिकल पैरामेडिकल और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को जागरूक करने को कहा गया है। जिला अधिकारी आलोक रंजन घोष ने सभी विभागों को अलर्ट करते हुए सभी सरकारी संस्थान व आम लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

Patna

Oct 15 2019, 16:30

बाढ़ राहत में लगे केंद्रीय टीम, एजेंसियों और राज्य स्वास्थ्य समिति के साथ आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्वनी चौबे ने की समीक्षा बैठक।#Health

आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्वनी चौबे ने सबसे पहले पी एम सी एच में डेंगू पीड़ित मरीजों का जायजा लेने का काम किया और पीएमएमएच सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी किया ।

जहां केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे बाढ़ राहत में लगे विभिन्न केंद्रीय टीमों, एजेंसियों और बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति के साथ उनके कार्यों की समीक्षा किये जिसमें सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। यह समीक्षा बैठक पटना के राजकीय अतिथिशाला में किया गया।

केंद्रीय मंत्री श्री अश्विनी चौबे के मीडिया प्रभारी वेद प्रकाश ने बताया कि समीक्षा बैठक में एनसीडीसी, आईसीएमआर, ऐम्स, आरएमआरआई, आरओएच & एफडब्ल्यू , ई एम आर और सीजीएचएस सहित राज्य स्वास्थ्य समिति के सभी वरीय पदाधिकारी उपस्थित हुए।                    

जहां मंत्री ने पी एम सी एच में डेंगू पीड़ित मरीजों का जायजा लेने का काम किया  और पीएमएमएच सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी करेंगे। इस संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों और निर्माण घर में संलग्न कंपनियों के अधिकारियों को अद्यतन रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है।

 केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे 2 दिन के बिहार दौरे पर हैं।

Patna

Oct 13 2019, 17:11

इंसाफ मंच व डाॅ. कफील खान मिशन स्माइल फाउंडेशन के बैनर तले चार दिवसीय कैंप का आज दूसरा दिन।
_Camp


13 अक्टूबर को शाहअरजां मैदान, दरगाह कर्बला के मैदान में लगेगा कैंप, 14 अक्टूबर तक पटना में कफील खान का चलेगा कैंप।



आज पटना के बाढ ़(जलजमाव) पीड़ितों के बीच फुलवारीशरीफ में इंसाफ मंच और डॉ कफील खान मिशन स्माइल फाउंडेशन की तरफ से चार दिवसीय मुफ्त मेडिकल कैंप का दूसरा आयोजन हुआ. मेडिकल कैंप में बीआरडी कॉलेज, गोरखपुर के चर्चित शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ कफील खान और उनकी टीम ने लगभग 400 बच्चों का हेल्थ चेक अप किया और उनको मुफ्त में दवायें उपलब्ध करवाई. विदित है कि कफील खान का यह अभियान विगत 11 अक्टूबर से पटना में आरंभ हुआ है. इस मेडिकल कैंप को आइसा, इंकलाबी नौजवान सभा, ए एस डब्ल्यु एफ के द्वारा सहयोग प्रदान किया गया.

डाॅ. कफील खान के अनुसार बिहार में आयी बाढ़ से संक्रमति बीमारियों - टाइफाइड, हेपेटाईटिस, मलेरिया, काॅलरा, चर्म रोग तथा कान/नाक/आंख के रोगों ने भयानक रूप ग्रहण कर लिया है. इसे देखते हुए बिहार के गरीबों व जलजमाव-बाढ़ पीड़ितों के लिए निःशुल्क जांच शिविर का आयोजन किया गया है. आज के इस मेडिकल राहत कैंप ने वहाँ के बच्चों को काफी राहत प्रदान किया. 

आज के मेडिकल कैंप में डाॅ. आशीष गुप्ता, सूरज पांडेय, पिंटू गुप्ता, इंसाफ मंच के पटना सह संयोजक मुश्ताक राहत, आसमां खां, अफशा जबीं, इंसाफ मंच के उपाध्यक्ष जफर रब्बानी, इनौस के राज्य सचिव सुधीर कुमार, पटना जिला अध्यक्ष साधु शरण, विजय, आइसा नेता आफताब आलम, मो. हनीफ अहमद, मो. शमशुल हक, रुखसाना कुरैशी, तौशीक आलम, फैजी अहमद, मो. फैयाज, महेश कुमार, गुरूदेव दास आदि शामिल थे.

कल 13 अक्टूबर को शाहअरजां मैदान, दरगाह कर्बला में कैंप लगेगा.

Muzaffarpur

Oct 11 2019, 18:22

एईएस पीड़ित परिवारों को आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिया जाएगा गोल्डन कार्ड।#Health _Bharat

जिले के पांच प्रखंड मुख्यतः ए०ई०एस से प्रभवित रहे है। मुशहरी, बोचहां, कांटी, मीनापुर और मोतीपुर में विशेष रूप से ए०ई०एस का प्रकोप देखा गया। उन प्रखंड के एईएस पीड़ित पात्र परिवारों को आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा गोल्डन कार्ड दिया जाएगा। पीएचसी वार कैम्प लगाकर प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पीड़ित परिवारों को उक्त कार्ड मुहैया कराए जाएंगे।

जिलाधिकारी क़े निर्देश के आलोक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा ए०ई०एस प्रभावित क्षेत्रों में यह कवायद की जाएगी। इस संबंध में सिविल सर्जन ने बताया कि पूरे जिले में विशेषकर एईएस प्रभावित प्रखण्डो में आई इ सी के तहत ए०ई०एस प्रभवित क्षेत्रों में सघन जागरूकता कार्यक्रम भी चलाये जाएंगे। जिला स्तर पर विशेष कार्ययोजना के तहत विभिन्न विभागों के परस्पर समन्वय से उक्त जागरुकता कार्यक्रम को अन्जाम दिया जाएगा।

Patna

Oct 11 2019, 17:15

लोगों को सेहत के प्रति संवेदनशील बनाने के राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री के साथ केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने की साइकिल यात्रा।#Politics 

भारत को निरोगी बनाने और प्लास्टिक का प्रयोग बंद करने का किया आह्वान।

केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने दिल्ली में शुक्रवार को 30 जनवरी मार्ग से लोधी गार्डन तक विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ साइकिल यात्रा कर लोगों को सेहत के प्रति गंभीर होने के लिए जागरूक किया। इसमें बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने भी भाग लिया।

सेंट्रल काउंसिल ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर के दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस में शामिल होने देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री दिल्ली आए हुए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौब