msyadav

Feb 19 2024, 14:47

అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే* *-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు* *-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే* *-చిన్నపెద్


అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే

-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు

-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే

-చిన్నపెద్ద అనేది సిండికేట్ల సృష్టే

-జర్నలిస్టు ఔనో కాదో తేల్చాల్సింది పత్రిక ఎడిటర్లు మాత్రమే "ఖాకీలు" కాదు.

-డెమోక్రటిక్ జర్నలిస్ట్ ఫెడరేషన్ జాతీయ అధ్యక్షుడు:మనసాని కృష్ణారెడ్డి.

!important; border-radius:0"> noavataruser.gif" alt="" width="30" height="30" />▼

msyadav
Close

Write a News


Title

text" id="charcounttext" class="pull-right">

Buzzing in group ; font-size: 10px;" title="Delete Group">
val" value="1">
10000
10000
Close

Create Photo News

photo()" autocomplete="off" required> photo" id="charcountphoto" class="pull-right">

Upload images

Select Attachment " multiple >
India

Feb 16 2024, 10:36

किसानों का भारत बंद आज, शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों में झड़प, पुलिस ने जारी किया प्रदर्शनकारियों का वीडियो

#farmersprotestbharat_bandh

किसान संगठनों ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। दिनभर चलने वाला ये विरोध प्रदर्शन सुबह 6 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक चलेगा। किसान दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक देशभर की मुख्य सड़कों पर चक्का जाम में शामिल होंगे। पंजाब में आज ज्यादातर स्टेट और नेशनल हाईवे चार घंटे के लिए बंद रहेंगे। देश की 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियन से जुड़े करोड़ों की संख्या में मजदूरों ने भी राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है।

शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प

भारत बंद के बीच शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प की खबर आ रही है.। पुलिस ने एक वीडियो जारी किया है। इसमें प्रदर्शनकारी किसान सुरक्षाबलों पर पथराव करते नजर आ रहे हैं। इससे पहले बुधवार को भी शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई थी। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे थे। इससे किसानों में अफरा तफरी मच गई थी।

भारत बंद को लेकर नोएडा पुलिस ने जारी की ट्रैफिक एडवाइजरी

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने गुरुवार को कहा कि शुक्रवार को किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर जिले भर में धारा 144 लागू की जाएगी, जिसमें अनधिकृत सार्वजनिक सभाओं पर रोक भी शामिल है। पुलिस ने दिल्ली जाने और आने वाले यात्रियों को नोएडा में किये गये यातायात परिवर्तन को लेकर आगाह किया और लोगों को असुविधा से बचने के लिए जहां तक संभव हो मेट्रो सेवा का इस्तेमाल करने की सलाह दी।

केंद्र और किसानों के बीच कोई समाधान नहीं

इससे पहले तीन केंद्रीय मंत्रियों और प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों के नेताओं के बीच गुरुवार देर रात यहां मैराथन बैठक बिना किसी समाधान के समाप्त हो गई। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि चर्चा “सकारात्मक” थी और बातचीत का एक और दौर रविवार को होगा। किसान नेताओं ने कहा कि वे पंजाब और हरियाणा के बीच दो सीमा बिंदुओं पर डटे रहेंगे। हालांकि तब तक शांति बनाए रखने पर सहमति बनी है। बैठक में यह तय किया गया कि रविवार की बैठक तक शंभू बॉर्डर पर किसान आगे नहीं बढ़ेंगे और हरियाणा पुलिस और पैरामिलिट्री की तरफ से भी सीजफायर पर सहमति बनी। इससे पहले किसानों के साथ 8 और 12 फरवरी को दो बैठकें बेनतीजा रह चुकी है।

India

Feb 15 2024, 20:08

किसान संगठनों का शुक्रवार को भारत बंद का ऐलान, जानें क्या खुला, क्या रहेगा बंद

#Farmersprotestbharatbandhon16february

किसानों के 16 फरवरी को भारत बंद के ऐलान किया है।संयुक्त किसान मोर्चा ने केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के साथ मिलकर भारत बंद बुलाने की घोषणा की है। संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से बुलाए गए भारत बंद के तहत सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक विरोध प्रदर्शन चलने वाला है। केंद्र सरकार से अपनी मांगे मनवाने के लिए किसान कई दिनों से दिल्ली पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उन्हें हरियाणा बॉर्डर के पास रोका गया है। ऐसे में अपनी मांगों के समर्थन में किसानों ने बंद का आह्वान किया है।

भारत बंद का आह्वान तब किया गया है जब पंजाब से मार्च कर रहे सैकड़ों किसानों को दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर दूर अंबाला के पास हरियाणा के साथ राज्य की सीमा पर रोक दिया गया है। हरियाणा सुरक्षा बलों ने उन्हें तितर-बितर करने की कोशिश करने के लिए उन पर आंसू गैस का इस्तेमाल किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने सभी समान विचारधारा वाले किसान संगठनों से एकजुट होने और भारत बंद में भाग लेने का आग्रह किया है।

क्या खुला, क्या बंद?

16 फरवरी को किसान संघठनों की इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल की वजह से परिवहन, कृषि गतिविधियां, मनरेगा, ग्रामीण कार्य, निजी कार्यालय, गांव की दुकानें और ग्रामीण औद्योगिक और सेवा क्षेत्र के संस्थान बंद रहने की उम्मीद है। हालांकि कुछ रिपोर्टों में यह दावा किया गया है कि हड़ताल के दौरान आपातकालीन सेवाएं जैसे एम्बुलेंस संचालन, शादी, चिकित्सा दुकानें, बोर्ड परीक्षा के लिए जाने वाले छात्र आदि लोगों के प्रभावित होने की संभावना नहीं है।

मोर्चा के संयोजक डॉ. दर्शन पाल ने बताया है कि आपातकालीन सेवाएं, स्वास्थ्य सुविधाएं, परीक्षा के लिए छात्रों और हवाईअडडे से जाने के लिए लोगों को रास्ता दिया जाएगा। बंद के दौरान दवा की दुकानों को खुली रहने की छूट दी गई है और किसी की अंतिम यात्रा को भी बंद के दौरान रास्ता दिया जाएगा। इसके लिए पूरी तरह से समन्वय बनाया गया है। इसके अलावा सभी संस्थानों को बंद रखने का आहवान किया गया है।

बॉर्डर पर किसानों को रोका गया

बता दें कि पंजाब और हरियाणा के किसानों ने दिल्ली चलो मार्च निकाला है। इस समय अंबाला के पास शंभू बार्डर पर हरियाणा और पंजाब के पास किसानों को रोके रखा गया है। दिल्ली से किसान अभी 200 किलोमीटर दूर हैं। यहां किसानों पर जमकर आंसू गैस के बम छोड़े जा रहे हैं। हरियाणा-दिल्ली बार्डर पर किसानों का आंदोलन उग्र हो गया है।

India

Feb 12 2024, 10:51

किसानों का 13 फरवरी को दिल्ली मार्च, राजधानी की सभी सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स की 50 कंपनियां तैनात

#farmers_delhi_chalo_protets_on_13_feb

किसान अपनी विभिन्‍न मांगों को लेकर काफी मुखर हो गए हैं। एक बार फिर किसान बड़े आंदोलन की तैयारी में हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने 13 फरवरी को दिल्ली चलो मार्च का आह्वान किया है।किसान संगठनों और किसान यूनियन के ऐलान को देखते हुए हरियाणा-पंजाब सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है।इसके साथ ही दिल्ली के सभी सीमाओं पर धारा 144 लागू कर दी गई है। सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर भी सीमेंट के बैरिकेड लगा गए हैं।साथ ही अतिरिक्‍त पुलिस की तैनाती के साथ ही अन्‍य तरह के कदम भी उठाए गए हैं।

किसानों को रोकने के लिए 6 लेयर की बैरिकेडिंग

संयुक्त किसान मोर्चा ने 13 फरवरी यानी मंगलवार को दिल्ली कूच का आह्वान किया है। पंजाब से लगभग 1500 से 2000 ट्रैक्टर ट्रॉली और अन्य वाहनों से किसान धरना प्रदर्शन करने आ रहे हैं। मार्च को रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने भी तमाम इंतजाम कर लिए हैं। हरियाणा और पंजाब के शंभू, खनौरी समेत सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। दिल्ली पुलिस भी एक्शन में है। इस कड़ी में दिल्ली पुलिस की तरफ से सिंघु बॉर्डर पर रातभर तैयारी की गई।पंजाब से दिल्ली आने वाले रास्तों पर पुलिस ने 6 लेयर की बैरिकेडिंग लगानी शुरू कर दी है। जिसमें क्रेन की मदद से सीमेंटेड ब्लॉक को रोड के दोनों तरफ रखवाया गया। इसके साथ ही बड़े बड़े कंटेनर भी रखवाए गए है, जिससे पंजाब की तरफ से आने वाले ट्रैक्टर ट्रॉलियों से दिल्ली के अंदर दाखिल ना हो सके। इसके साथ ही दिल्ली के सभी सीमाओं पर धारा 144 लागू कर दी गई है।

किसानों को मनाने की तैयारी

इधर किसानों के आंदोलन को देखते हुए केंद्र सरकार भी सक्रिय हो गई है। किसानों से बातचीत करने और उनकी मांगों पर गौर करने के लिए 3 केंद्रीय मंत्रियों को चंडीगढ़ भेजा जा रहा है। ये तीनों केंद्रीय मंत्री किसान संगठनों के नेताओं से बातचीत कर उनकी मांगों पर विचार करेंगे। साथ ही ‘दिल्‍ली चलो’ मार्च को स्‍थगित करने के लिए भी किसानों को मनाया जाएगा।जानकारी के अनुसार, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, मंत्री नित्‍यानंद राय और मंत्री अर्जुन मुंडा को किसानों के साथ बातचीत करने और सर्वमान्‍य समाधान निकालने की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। ये तीनों मंत्री 12 फरवरी को दिल्‍ली से चंडीगढ़ रवाना होंगे।

बैठक में सीएम भगवंत मान के भी शामिल होने की संभावना

गुरुवार की पहली मीटिंग में किसान नेताओं के सामने सरकार की तरफ से कुछ प्रस्ताव रखे गए थे। उसी दिन सरकार की तरफ से कहा गया था कि इस मामले में एक बैठक और होगी। किसानों के साथ होने वाली इस बैठक में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के भी शामिल होने की संभावना है। सीएम भगवंत मान पिछली बैठक में भी शामिल हुए थे। किसानों की मांगें पूरी न होने से उनमें काफी नाराजगी है। किसान संगठनों ने अपनी मांगों को मनवाने के लिए 13 फरवरी को दिल्ली चलो मार्च का आह्वान किया है।

India

Feb 08 2024, 11:43

किसानों का आज दिल्ली कूच, संसद तक करेंगे मार्च,नोएडा बॉर्डर पर भारी जाम

#protestingfarmersmarchtodelhi

किसान आंदोलन को खत्म हुए 2 साल से ज्यादा का वक्त बीत गया है लेकिन एक बार फिर नई मांगों के साथ किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में किसान आज नोएडा से दिल्ली की ओर कूच करेंगे। इसके साथ ही किसानों ने दिल्ली के संसद भवन के घेराव करने की भी चेतावनी दी है।ऐसे में नोएडा, गाजियाबाद के बॉर्डर पर सुबह से ही ट्रैफिक जाम लगना होना शुरू हो गया है। किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक को लेकर एडवाइजरी जारी की है। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि नोएडा-गाजियाबाद से दिल्ली आने-जाने के रास्तों पर आज भीषण ट्रैफिक जाम हो सकता है।

ग्रेटर नोएडा में महापंचायत के बबाद किसानों का दिल्ली कूच का कार्यक्रम है। दरअसल ये किसान लंबे समय से नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सैकड़ो गांव के किसान अपनी मांगों को लेकर प्राधिकरण के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इन किसानों की दो मुख्य मांग हैं। पहला विकास प्राधिकरणों द्वारा अधिग्रहित भूमि के बदले अधिक मुआवजा और डेवलेप प्लॉट।

किसानों के मार्च को लेकर ट्रैफिक एडवायजरी

किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर गौतमबुद्धनगर में जिले धारा 144 लागू है। ट्रैफिक पुलिस ने असुविधा से बचने के लिए वैकल्पिक रास्तों के लिए एडवायजरी भी जारी की है। दिल्ली में किसानों के धरना प्रदर्शन के मद्देनजर ट्रैफिक पुलिस के कर्मचाारियों को आवश्यक दिशा–निर्देश दिए गए। नोएडा ट्रैफिक पुलिस की ओर से हेल्पलाइन हेल्पलाइन नं०-9971009001 जारी किया गया है। किसानों के विरोध मार्च को देखते हुए दिल्ली-नोएडा, चिल्ला बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

कहां-कहां लग सकता है जाम

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की तरफ कहा गया कि आज सोनिया विहार, डीएनडी, चिल्ला, गाजीपुर, सभापुर, अप्सरा और लोनी बॉर्डर से जुड़े मार्गों पर भारी ट्रैफिक रहेगा। इसके अनुसार ही अपनी यात्रा टालें/योजना बनाएं। किसानों के दिल्ली बढ़ने के कारण एक्सप्रेस वे और दिल्ली आने वाले रास्तों पर ट्रैफिक जाम की समस्या हो सकती है। हालांकि, गौतम बुद्ध नगर जिले में कमिश्नरेट की तरफ से गुरुवार को धारा-144 लागू रहेगी। ऐसे में बिना अनुमति के कहीं पर भीड़ के जुटने या शांतिभंग की आशंका में पुलिस की तरफ से ऐक्शन लिया जा सकता है।

India

Jul 29 2023, 14:21

महिला किसान ने जताई राहुल की शादी की इच्छा, सोनिया ने कहा-आप लड़की तो ढूंढ़ो

#soniatoharyanawomenfarmersastheyaskhertogetrahulmarried

कांग्रेस नेता राहुल गांधी 53 साल के हो गए हैं, लेकिन अब तक कुवांरे हैं। जी हां इनकी शादी नहीं हुई है, जिसको लेकर इन्हें अक्सर सवालों का सामना करना पड़ता है। इस बार तो ये सवाल उनकी माताजी यानी सोनिया गांधी को सुनना पड़ा। हालांकि, उन्होंने अपने जवाब से सबका दिल जीत लिया।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कुछ दिन पहले सोनीपत की महिला किसानों को दिल्ली आने का न्योता दिया था, जिसके बाद हाल ही में महिला किसानों की टोली दिल्ली पहुंची तो सोनिया गांधी के 10 जनपथ स्थित आवास पर सबकी महफिल जमा हुई।इस दौरान हरियाणा की कुछ महिला किसानों ने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी से बातचीत के दौरान कहा, "राहुल की शादी करा दीजिए'' और बदले में सोनिया ने उनसे अपने बेटे के लिए लड़की ढूंढने को कहा, जबकि राहुल गांधी ने कहा, "ऐसा होगा"।इसके बाद सभी ठहाके मारकर हंसने लगते हैं।

राहुल ने वीडियो खुद अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया

कांग्रेस नेता ने इसका एक वीडियो खुद अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि “मां, प्रियंका और मेरे लिए एक यादगार दिन, कुछ खास मेहमानों के साथ!” उन्होंने कहा कि सोनीपत की किसान बहनें दिल्ली दर्शन पर आई हैं। किसानों के साथ उन्होंने घर पर लंच किया। खूब सारी बातें भी की। महिला किसानों ने गांधी परिवार के लिए गिफ्ट भी लाए थे। राहुल गांधी ने बताया कि वे देसी घी, मीठी लस्सी, घर का अचार लेकर आई थीं।

लालू यादव ने भी ली थी चुटकी

बता दें कि राहुल गांधी की शादी को लेकर पिछले दिनों राजद सुप्रीमो लालू यादव ने भी चुटकी ली थी। 23 जून को बिहार में विपक्षी दलों की पहली मीटिंग के बाद लालू यादव और कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत तमाम विपक्ष के नेता मौजूद थे। इस दरमियान लालू यादव ने चुटकी लेते हुए राहुल गांधी से कहा था कि आप शादी कर लीजिए। उन्होंने सोनिया गांधी की वो बात भी बताई जब उन्होंने राहुल की शादी कराने की बात कही थी। 

నిజంనిప్పులాంటిది

Jul 16 2023, 19:32

Rahul Gandhi: రైతులే దేశానికి బలం - రాహుల్‌ గాంధీ

దిల్లీ: రైతులే దేశానికి బలమని కాంగ్రెస్‌ నేత రాహుల్‌ గాంధీ (Rahul Gandhi) పేర్కొన్నారు. వారి సమస్యలను విని, వారి అభిప్రాయాలను అర్థం చేసుకుంటే దేశంలో ఉన్న సగం సమస్యలు పరిష్కరించవచ్చన్నారు..

ఇటీవల హరియాణా సోనీపత్‌ జిల్లా మదీనా గ్రామంలో రైతులు (Farmers), వారి కుటుంబాలతో ముచ్చటించిన వీడియోను రాహుల్‌ గాంధీ షేర్‌ చేశారు..

'రైతులే దేశానికి ఎంతో బలం. సోనీపత్‌లో సంజయ్‌ మాలిక్‌, తస్బిర్‌ కుమార్‌ అనే ఇద్దరు రైతు సోదరులను కలుసుకున్నాను. వాళ్లిద్దరూ చిన్ననాటి స్నేహితులు. ఎన్నో ఏళ్లుగా కలిసే వ్యవసాయం చేస్తున్నారు. వారితోపాటు నేనూ పొలంలో దిగి వరి నాట్లు వేయడంలో సహాయపడటంతోపాటు, ట్రాక్టర్‌ నడిపాను. ఎన్నో విషయాలు చర్చించుకున్నాం. ఆ గ్రామ మహిళలు మాపై ఎంతో అభిమానం చూపారు. వారి ఇంటినుంచి తెచ్చుకున్న ఆహారాన్ని ఇచ్చారు.

మన దేశంలోని రైతులు ఎంతో నిజాయతీ, సున్నిత మనస్తత్వం కలిగిన వారు. వాళ్లు పడే కఠినశ్రమ గురించి తెలుసు. అవసరమైనప్పుడు, కనీస మద్దతు, ఇన్సూరెన్స్‌, నూతన వ్యవసాయ చట్టాలకు వ్యతిరేకంగా పోరాటం చేశారు. వారి అభిప్రాయాలను అర్థం చేసుకుంటే, దేశంలోని ఎన్నో సమస్యలు పరిష్కరించవచ్చు' అని రాహుల్‌ గాంధీ పేర్కొన్నారు..

madagoni surendar

Apr 01 2023, 09:00

సూర్యాపేట జిల్లా:: వర్షంలో రైతులకు సాయమందించిన పోలీసులపై ప్రశంసల వర్షం

సూర్యాపేట జిల్లా వర్షంలో రైతులకు సాయమందించిన పోలీసులపై ప్రశంసల వర్షం

సూర్యాపేట : సూర్యాపేట జిల్లాలో శుక్రవారం సాయంత్రం భారీ వర్షం( Heavy Rain ) కురిసింది. మఠంపల్లి మండలం( Mattampally Mandal )లో కల్లాల్లో ఉంచిన మిర్చి పంట పూర్తిగా తడిసి ముద్దైంది..

అటుగా వెళ్తున్నపోలీసులు( Police ) పెద్ద మనసు చాటుకున్నారు. ఈదురుగాలుతో కూడిన వర్షానికి తడుస్తున్న మిర్చి పంటను పట్టాలతో కప్పేందుకు ఇబ్బంది పడుతున్న రైతులకు( Farmers ) పోలీసులు సహాయం అందించారు.

అయితే శ్రీరామ నవమి పర్వదినాన్ని పురస్కరించుకొని మఠంపల్లి మండలంలోని రఘునాథపాలెంలో బండ లాగుడు పోటీలు నిర్వహించారు. ఈ కార్యక్రమం నేపథ్యంలో అక్కడ బందోబస్తుకు వెళ్లిన ఎస్ఐ రవికుమార్. తిరిగి వెళ్తుండగా రైతుల కష్టాలను గమనించారు. క్షణం కూడా ఆలోచించకుండా.. ఎస్ఐ రవికుమార్ తన వాహనాన్ని రోడ్డుపై ఆపి సిబ్బందితో కల్లాల్లోకి వెళ్లి పట్టాలు కప్పి, రైతులకు అండగా నిలిచారు.

msyadav

Feb 19 2024, 14:47

అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే* *-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు* *-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే* *-చిన్నపెద్


అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే

-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు

-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే

-చిన్నపెద్ద అనేది సిండికేట్ల సృష్టే

-జర్నలిస్టు ఔనో కాదో తేల్చాల్సింది పత్రిక ఎడిటర్లు మాత్రమే "ఖాకీలు" కాదు.

-డెమోక్రటిక్ జర్నలిస్ట్ ఫెడరేషన్ జాతీయ అధ్యక్షుడు:మనసాని కృష్ణారెడ్డి.

!important; border-radius:0"> noavataruser.gif" alt="" width="30" height="30" />▼

msyadav
Close

Write a News


Title

text" id="charcounttext" class="pull-right">

Buzzing in group ; font-size: 10px;" title="Delete Group">
val" value="1">
10000
10000
Close

Create Photo News

photo()" autocomplete="off" required> photo" id="charcountphoto" class="pull-right">

Upload images

Select Attachment " multiple >
India

Feb 16 2024, 10:36

किसानों का भारत बंद आज, शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों में झड़प, पुलिस ने जारी किया प्रदर्शनकारियों का वीडियो

#farmersprotestbharat_bandh

किसान संगठनों ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। दिनभर चलने वाला ये विरोध प्रदर्शन सुबह 6 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक चलेगा। किसान दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक देशभर की मुख्य सड़कों पर चक्का जाम में शामिल होंगे। पंजाब में आज ज्यादातर स्टेट और नेशनल हाईवे चार घंटे के लिए बंद रहेंगे। देश की 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियन से जुड़े करोड़ों की संख्या में मजदूरों ने भी राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है।

शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प

भारत बंद के बीच शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प की खबर आ रही है.। पुलिस ने एक वीडियो जारी किया है। इसमें प्रदर्शनकारी किसान सुरक्षाबलों पर पथराव करते नजर आ रहे हैं। इससे पहले बुधवार को भी शंभू बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई थी। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे थे। इससे किसानों में अफरा तफरी मच गई थी।

भारत बंद को लेकर नोएडा पुलिस ने जारी की ट्रैफिक एडवाइजरी

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने गुरुवार को कहा कि शुक्रवार को किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर जिले भर में धारा 144 लागू की जाएगी, जिसमें अनधिकृत सार्वजनिक सभाओं पर रोक भी शामिल है। पुलिस ने दिल्ली जाने और आने वाले यात्रियों को नोएडा में किये गये यातायात परिवर्तन को लेकर आगाह किया और लोगों को असुविधा से बचने के लिए जहां तक संभव हो मेट्रो सेवा का इस्तेमाल करने की सलाह दी।

केंद्र और किसानों के बीच कोई समाधान नहीं

इससे पहले तीन केंद्रीय मंत्रियों और प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों के नेताओं के बीच गुरुवार देर रात यहां मैराथन बैठक बिना किसी समाधान के समाप्त हो गई। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि चर्चा “सकारात्मक” थी और बातचीत का एक और दौर रविवार को होगा। किसान नेताओं ने कहा कि वे पंजाब और हरियाणा के बीच दो सीमा बिंदुओं पर डटे रहेंगे। हालांकि तब तक शांति बनाए रखने पर सहमति बनी है। बैठक में यह तय किया गया कि रविवार की बैठक तक शंभू बॉर्डर पर किसान आगे नहीं बढ़ेंगे और हरियाणा पुलिस और पैरामिलिट्री की तरफ से भी सीजफायर पर सहमति बनी। इससे पहले किसानों के साथ 8 और 12 फरवरी को दो बैठकें बेनतीजा रह चुकी है।