India

Feb 23 2024, 14:47

मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद फूटा जीशान सिद्दीकी का गुस्सा, बोले- कांग्रेस में मुसलमानों के लिए जगह नहीं

#congressmlazeeshansiddiquislams_congress

जीशान सिद्दीकी के पिता और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री बाबा सिद्दीकी ने हाल ही में कांग्रेस छोड़ दी थी और अजित पवार की एनसीपी में शामिल हो गए। इसके बाद बेटे विधायक जीशान सिद्दीकी को कांग्रेस ने मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया। मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद जीशान सिद्दीकी ने गुरुवार (22 फरवरी) को कांग्रेस पर हमला बोला।जीशान सिद्दीकी ने अल्पसंख्यकों के साथ व्यवहार को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला था और उस पर सांप्रदायिक होने का आरोप लगाया। साथ ही जीशान ने दावा किया कि राहुल गांधी से मिलने के लिए उन्हें 10 किलो वजन घटाने के लिए कहा गया था।

राहुल गांधी अच्छा काम करते हैं लेकिन उनकी टीम बेहद भ्रष्ट-जीशान

जीशान वांड्रे ईस्ट से कांग्रेस विधायक और पार्टी के पूर्व नेता बाबा सिद्दीकी के बेटे हैं। बाबा सिद्दीकी ने 8 फरवरी को कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। उन्होंने अजित पवार की एनसीपी जॉइन कर ली है।इसके बाद कांग्रेस ने 21 फरवरी को जीशान को मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया था। इसको लेकर जीशान सिद्दीकी ने कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा, मैं मुसलमान हूं इसीलिए मेरे साथ अन्याय किया गया है। राहुल गांधी अच्छा काम करते हैं लेकिन उनकी टीम बेहद भ्रष्ट है। जीशान सिद्दीकी ने यह गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में लगाए। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस में जितना संप्रदायवाद है उतना किसी अन्य पार्टी में नहीं है। कांग्रेस हमेशा मुस्लिम समुदाय के बारे में सकारात्मक बातें करती हैं, लेकिन उस तरह का काम नहीं करती। 

कांग्रेस में अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं-जीशान

जीशान ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मुस्लिम समुदाय के वोट चाहती है, लेकिन कांग्रेस उन्हें सुरक्षित नहीं कर सकती। हमेशा सौतेला व्यवहार करती है। मुंबई कांग्रेस की लिस्ट निकाल कर देखिए कितने वरिष्ठ नेता मुस्लिम हैं? मुंबई यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष चुने जाने के बाद मुझसे कहा गया कि टीम में ज्यादा मुसलमानों को शामिल न किया जाए। जब इस बात की चर्चा होती है कि मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष कौन होगा तो कहा जाता है कि मुस्लिम नाम नहीं चाहिए। मुंबई कांग्रेस के इतिहास में कभी कोई मुस्लिम अध्यक्ष नहीं बना। मैंने मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ा और जीता। 90% वोट से जीतने के बाद भी मुझे यूथ कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त होने में 9-10 महीने लग गए। मुझे इसलिए परेशान किया गया क्योंकि मैं मुस्लिम हूं। मुझे दुख है कि कांग्रेस में अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं है। 

मुझ पर अविश्वास किया- जीशान

जीशान सिद्दीकी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जब मेरे पिता बाबा सिद्दीकी ने एनसीपी अजीत पवार के साथ जाने का फैसला किया उसी वक्त मैंने यह साफ कर दिया था कि मैं कांग्रेस में ही रहूंगा। यह बात मैंने एक बार नहीं बार-बार कही थी। बावजूद इसके मेरे खिलाफ मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाने की कार्रवाई की गई। सिद्दीकी ने कहा कि मेरे खिलाफ की गई इस एकतरफा कार्रवाई के बाद मैं अब यह नहीं कह सकता कि मैं कांग्रेस में ही रहूंगा। अपने मैं अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ चर्चा करके अपने लिए नए राजनीतिक विकल्प ढूंढ लूंगा। 

जीशान सिद्दीकी ने कहा कि मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बारे में उन्हें अब तक कोई अधिकृत पत्र फोन सूचना या ईमेल नहीं मिला है। जो कुछ जानकारी मिली है वह सोशल मीडिया के माध्यम से और पत्रकारों से मिली है। उन्होंने कहा कि यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव में सबसे ज्यादा मतों से जीतने वाले व्यक्ति के साथ यह सरासर अन्याय है।

India

Feb 22 2024, 13:58

सपा के बाद कांग्रेस की ‘आप’ से भी डील लगभग डन, 4-3 के फॉर्मूले पर बनी बात!

#aapcongressagreetocontestelectionstogether 

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन के बाद अब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच भी गठबंधन होता दिख रहा है।सूत्रों के मुताबिक, दोनों पार्टियों में गठबंधन पर बातचीत अंतिम दौरे में है। आप-कांग्रेस में सीटों सहमति बन गई है। केजरीवाल की पार्टी 4 और कांग्रेस 3 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार सकती है। खास बात ये है कि ये गठबंधन सिर्फ दिल्ली तक सीमित नहीं होगा, बल्कि अन्य राज्यों में भी दोनों दल मिलकर चुनाव लड़ेंगे। 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस को आम आदमी पार्टी ने चांदनी चौक सीट देने का प्रस्ताव दिया है। इसके अलावा पूर्वी दिल्ली और नॉर्थ ईस्ट सीट कांग्रेस को देने का प्रस्ताव भी दिया है। आप की तीन सीटों की पेशकश पर दोनों दल सहमत हो गए हैं। ऐसे में कांग्रेस तीन सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। वहीं, आम आदमी पार्टी नई दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली और नॉर्थ वेस्ट दिल्ली सीट से चुनाव लड़ सकती है। इसका औपचारिक एलान होना बाकी है। जो आज हो सकता है।

इन राज्यों में बन सकती है बात

दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच सीटों पर सहमति बन गई है, उधर गुजरात में भी दोनों के बीच गठबंधन हो सकता है। कांग्रेस ने गुजरात में भरूच समेत 2 से 3 तीन सीटें आप को देने का मन बनाया है। वहीं, हरियाणा और असम में कांग्रेस का आप को एक सीट देने का प्रस्ताव है। गोवा में आप साउथ गोवा सीट चाहती है, लेकिन वहां से कांग्रेस का सीटिंग एमपी है। ऐसे में उसने ये सीट देने से मना कर दिया है।

यूपी में सपा-कांग्रेस में बनी बात

बता दें कि एक दिन पहले ही यूपी में इंडिया गठबंधन के घटक दल सपा-कांग्रेस के बीच गठबंधन तय हो गया। कांग्रेस 17 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। बताया जा रहा है कि गठबंधन में अहम भूमिका प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव की रही। दोनों नेताओं के बीच फोन पर विस्तार से चर्चा हुई जिसके बाद गठबंधन को अंतिम रूप देने पर फैसला हुआ। कांग्रेस रायबरेली, अमेठी, कानपुर नगर, फतेहपुर सीकरी, बांसगांव, सहारनपुर, प्रयागराज, महाराजगंज, वाराणसी, अमरोहा, झांसी, बुलंदशहर, गाजियाबाद, मथुरा, सीतापुर, बाराबंकी, देवरिया सीटों से चुनाव लड़ेगी।

India

Feb 21 2024, 19:00

खुल गई गठबंधन की गांठःयूपी में सपा और कांग्रेस साथ आए, जानें कितने सीटों पर हुई डील

#congresssamajwadipartycametogetherinuttar_pradesh

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस पार्टी के बीच गठबंधन के फॉर्मूले पर सहमति बन गई है। कांग्रेस 17 सीटों पर राजी हो गई है। जबकि बाकी 63 सीटों पर सपा और इंडिया गठबंधन की अन्य पार्टियां चुनाव लड़ेंगी।सीट शेयरिंग पर बात पक्की होने के बाद समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने लखनऊ में संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की। नेताओं ने कहा कि उत्तर प्रदेश में डील डन होने की वजह से विपक्षी दलों का इंडिया गठबंधन मजबूत होगा।

लखनऊ में आयोजित संयुक्त प्रेसवार्ता में कांग्रेस के यूपी प्रभारी अविनाश पांडेय ने कहा कि हम मिलकर लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई लड़ेंगे। कांग्रेस पूरे देश को जोड़ने का लगातार प्रयास कर रही है। इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी का विशेष रूप से उल्लेख किया और कहा कि हम उनके प्रति आभार जताते हैं कि उनके प्रयासों से ही यह गठबंधन अंजाम तक पहुंचा है।

इन सीटों पर लड़ेगी कांग्रेस

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को जो सीटें दी गई हैं, उनमें अमेठी, रायबरेली, प्रयागराज, वाराणसी, महाराजगंज, अमरोहा, बुलंदशहर, गाजियाबाद, कानपुर नगर, झांसी, बाराबंकी, फतेहपुर सीकरी, सहारनपुर, देवरिया, बांसगांव, सीतापुर और मथुरा के नाम शामिल है।

अखिलेश बोले-अंत भला तो सब भला

इससे पहले सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मुरादाबाद में संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा’ में शामिल नहीं होने के सवाल पर कहा, ‘अंत भला तो सब भला। बाकी आप लोग समझदार हैं।’ इस सवाल पर कि कांग्रेस के साथ गठबंधन होगा या नहीं, अखिलेश ने कहा, ”होगा।” कांग्रेस के साथ सीट बंटवारे को लेकर विवाद के सवाल पर सपा प्रमुख ने कहा, ‘कोई विवाद नहीं है। आपके सामने सब चीजें साफ हो जाएंगी।

msyadav

Feb 19 2024, 14:47

అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే* *-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు* *-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే* *-చిన్నపెద్


అక్రిడిటేషన్‌ అనేది రాయితీ కార్డు మాత్రమే

-జర్నలిస్టులని గుర్తించే పట్టా కానే కాదు

-నిజాలు రాసేవారంతా జర్నలిస్టులే

-చిన్నపెద్ద అనేది సిండికేట్ల సృష్టే

-జర్నలిస్టు ఔనో కాదో తేల్చాల్సింది పత్రిక ఎడిటర్లు మాత్రమే "ఖాకీలు" కాదు.

-డెమోక్రటిక్ జర్నలిస్ట్ ఫెడరేషన్ జాతీయ అధ్యక్షుడు:మనసాని కృష్ణారెడ్డి.

!important; border-radius:0"> noavataruser.gif" alt="" width="30" height="30" />▼

msyadav
Close

Write a News


Title

text" id="charcounttext" class="pull-right">

Buzzing in group ; font-size: 10px;" title="Delete Group">
val" value="1">
10000
10000
Close

Create Photo News

photo()" autocomplete="off" required> photo" id="charcountphoto" class="pull-right">

Upload images

Select Attachment " multiple >
India

Feb 13 2024, 15:09

क्या कांग्रेस से किनारा चाहते हैं केजरीवाल? दिल्ली में दिया 1 सीट का ऑफर, पंजाब में गठबंधन से इनकार

#aapoffersoneseattocongressin_delhi 

केन्द्र की सत्ता पर बीजेपी की तीसरी बार वापसी ना हो, इसके लिए विपक्षी दलों ने गठबंधन किया था। हालांकि विपक्षी दलों का गठबंधन “इंडिया” लोकसबा चुनाव से पहले ही बिखरा-बिखरा नजर आ रहा है। सीट शेयरिंग पर दलों में सहमति नहीं बन पा रही है। सीट शेयरिंग पर पहले ही ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस अपना हाथ खीच चुकी हैं। अब केजरीवाल भी कांग्रेस से किनारा करते नजर आ रहे हैं। दरअसल, आम आदमी पार्टी ने भी सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस को ऑफर दे दिया है। 

आम आदमी पार्टी (आप) ने आगामी लोकसभा चुनाव में दिल्ली में कांग्रेस से गठबंधन करने की इच्छा तो जताई है। हालांकि आप कांग्रेस दिल्ली को कांग्रेस की सिर्फ एक लोकसभा सीट देने के पक्ष में है जबकि बाकी की 6 सीटों पर वह अपने पास रखना चाहती है।

सीट बंटवारे पर आप नेता संदीप पाठक का कहना है, 'दिल्ली के चुनाव में देखें तो लोकसभा और विधानसभा में कांग्रेस की जीरो सीट हैं। एमसीडी चुनाव में 250 सीटों में से 9 सीटें कांग्रेस पार्टी की आई...योग्यता के आधार पर, कांग्रेस पार्टी इस डेटा के आधार पर दिल्ली में एक भी सीट की हकदार नहीं है, लेकिन डेटा अहम नहीं है, 'गठबंधन के धर्म' को ध्यान में रखते हुए हम उन्हें दिल्ली में एक सीट की पेशकश कर रहे हैं। हम कांग्रेस पार्टी को 1 सीट और आप को 6 सीटों पर लड़ने का प्रस्ताव देते हैं।'

देरी बिल्कुल भी ठीक नहीं-आप

आप सांसद संदीप पाठक का कहना है कि सीट बंटवारे को लेकर हमारी कांग्रेस पार्टी के साथ दो आधिकारिक बैठकें हुईं लेकिन इन बैठकों का कोई नतीजा नहीं निकला। इन दो आधिकारिक बैठकों के अलावा, पिछले एक महीने में कोई अन्य बैठक नहीं हुई है। हम अगली बैठक का इंतजार कर रहे हैं, कांग्रेस के नेताओं को भी अगली बैठक की जानकारी नहीं है। पाठक की ओर से इस दौरान यह भी कहा गया कि वे लोग गठबंधन धर्म निभाना चाहते हैं पर जिस तरह की देरी हो रही है वह बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

गोवा-गुजरात में उम्मीदवार घोषित

आप सांसद पाठक ने कहा, गोवा में दो सीटें हैं। हम कांग्रेस के साथ गठबंधन को देखते हुए एक सीट पर उम्मीदवार घोषित कर रहे हैं। साउथ गोवा से वैंजी जो हमारे विधायक हैं, हम उन्हें लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार घोषित कर रहे हैं। आप नेता ने कहा, गुजरात में गठबंधन में हमारी 8 सीटें बनती हैं। इसे देखते हुए हम गुजरात के भरूच से चैतर बसावा और भावनगर से उमेश भाई मखवाना को उम्मीदवार घोषित कर रहे है। हमें लगता है कि कांग्रेस इस मांग पर समर्थन करेगी।

 

पंजाब में पहले ही जुदा हुईं राहें

आप का यह बयान अहम माना जा रहा है, क्योंकि पार्टी पंजाब में कांग्रेस के साथ किसी भी गठबंधन से इनकार कर चुकी हैं. पिछले महीने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 24 जनवरी कहा कि आप आगामी लोकसभा चुनाव में पंजाब में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी। पंजाब के सीएम ने यह दावा भी दोहराया कि आप राज्य की सभी 13 सीट पर जीत दर्ज करेगी। हालांकि ये दोनों पार्टी चंडीमेढ़ मेयर चुनाव में जरुर साथ आईं।

India

Feb 12 2024, 14:53

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर का उमड़ा पाकिस्तान प्रेम, पड़ोसी देश के आतिथ्य से हुए गदगद, विदेशी जमीन पर अपनी ही सरकार को कोसा

#congress_leader_mani_shankar_aiyar_target_modi_government_from_pakistan

पूर्व भारतीय राजनयिक और कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान के लोगों की जमकर तारीफ की है। पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने पाकिस्तान के लोगों को भारत के लिए सबसे बड़ी संपत्ति बताया। यही नहीं, इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तानी जमीन पर अपनी ही देश की सरकार पर निशाना साधा है।डाॅन की रिपोर्ट के अनुसार लाहौर के अलहमरा में फैज फेस्टिवल के दौरान एक सत्र को संबोधित करते हुए मणिशंकर अय्यर ने यह बात कही। 

मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान की तारीफ करते हुए कहा कि वह कभी किसी ऐसे देश में नहीं गए जहां उनका इतना खुले दिल से स्वागत किया गया हो, जितना पाकिस्तान में हुआ। पाकिस्तान के लोग प्यार मिलने पर प्यार बरसाते हैं।पाकिस्तानी मीडिया डॉन के मुताबिक, अय्यर ने कहा- मेरे अनुभव से, पाकिस्तानी ऐसे लोग हैं जो शायद दूसरे पक्ष पर जरूरत से ज्यादा प्रतिक्रिया करते हैं। यदि हम दोस्ती दिखाते हैं तो पाकिस्तानी उससे ज्यादा दोस्ती दिखाते हैं। यदि हम दुश्मनी दिखाते हैं तो वो ज्यादा दुश्मनी दिखाते हैं।फैज महोत्सव में शामिल होने पहुंचे अय्यर ने कार्यक्रम में 'हिज्र की राख, विसाल के फूल, भारत-पाक मामले' वाले सत्र के दौरान यह टिप्पणी की।

पिछले 10 वर्षों में सद्भावना की जगह कुछ उल्टा हुआ-अय्यर

कार्यक्रम में बोलते हुए अय्यर ने कहा कि जब वह कराची में महावाणिज्य दूत के रूप में थे तो हर कोई उनकी और उनकी पत्नी के देखभाल कर रहा था। इससे जुड़ी कई घटनाओं के बारे में उन्होंने अपनी किताब में जिक्र किया है। अय्यर ने कहा कि सद्भावना की जरूरत थी, लेकिन पहली नरेंद्र मोदी सरकार के गठन के बाद से पिछले 10 वर्षों में सद्भावना की जगह कुछ उल्टा हुआ।

दो तिहाई भारतीय आपके पाकिस्तानी साथ आने को तैयार-अय्यर

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए अय्यर ने कहा, मैं पाकिस्तान के लोगों से कहना चाहता हूँ कि वे याद रखें कि मोदी को कभी भी एक तिहाई से ज्यादा वोट नहीं मिले हैं। लेकिन हमारी भारत प्रणाली ऐसी है कि एक तिहाई वोट पाकर भी उनके पास दो तिहाई सीटें है। पर दो तिहाई भारतीय आपके पाकिस्तानी साथ आने को तैयार हैं।

सर्जिकल स्ट्राइक का साहस पर मेज पर बैठकर बात करने का नही-अय्यर

अपने मित्र सतिंदर कुमार लांभा की किताब का हवाला देते हुए अय्यर ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी सरकारों में इस्लामाबाद में तैनात रहे 5 भारतीय उच्चायुक्तों का मानना था कि जैसे भी मतभेद हों पर पाकिस्तान को भारत से जुड़ना चाहिए। लेकिन 10 वर्षों में हमने बातचीत नहीं कर सबसे बड़ी गलती की। उन्होंने कहा, हमारे पास आपके खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक का साहस है, लेकिन मेज पर बैठकर बात करने का साहस नहीं है।

प्राण प्रतिष्ठा का विरोध करने पर बेटी को नोटिस मिला था

बता दें हाल ही में मणिशंकर की बेटी सुरन्या अय्यर राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर विवाद में फंस चुकी हैं। सुरन्या अय्यर ने 20 जनवरी को फेसबुक पोस्ट किया था। इसमें दावा किया था कि वह अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के विरोध में 3 दिन का व्रत कर रही है। उनका यह व्रत मुस्लिम नागरिकों के प्रति प्यार और दुख की अभिव्यक्ति है। इसको लेकर रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन (RWA) ने मणिशंकर अय्यर और उनकी बेटी सुरन्या अय्यर को दिल्ली के जंगपुरा स्थित घर को खाली करने का नोटिस भेजा था। नोटिस में लिखा गया कि आपको ऐसे अपशब्दों का उपयोग नहीं करना चाहिए जिससे शांति भंग हो सकती है और अन्य निवासियों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा सकती है।

India

Feb 08 2024, 19:21

सरकार और विपक्ष के बीच ब्लैक एंड व्हाइट जंगःबीजेपी के बीजेपी के 'श्वेत पत्र' से पहले कांग्रेस का 'ब्लैक पेपर'

#congressbringblackpaperonmodigovt

सरकार और विपक्ष के बीच ब्लैक एंड व्हाइट जंग शुरू हो गई है। अंतरिम बजट 2024-25 में वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक श्वेत पत्र लाने की घोषणा की थी। यह श्वेत पत्र यूपीए शासन के 10 सालों के आर्थिक प्रदर्शन पर लाया जाएगा। केंद्र सरकार के 'व्हाइट पेपर' लाने से पहले ही कांग्रेस ने 'ब्‍लैक पेपर' जारी किया है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली सरकार के 10 सालों का ब्‍योरा पेश किया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने संसद भवन परिसर में यह 'ब्लैक पेपर' जारी किया। 

पीएम मोदी द्वारा बताई गईं चार जातियों पर फोकस

पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने 57 पेज का ब्लैक पेपर जारी करते हुए इसे 10 साल, अन्याय काल नाम दिया है। कांग्रेस ने सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर उनकी विफलताएं छिपाने का आरोप लगाया। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ गुरुवार को एक ब्लैक पेपर में कांग्रेस ने तमाम मुद्दों के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बताई गईं चार जातियां (गरीब, महिलाएं, युवा और किसान) पर फोकस किया है। कांग्रेस ने अपने इस ब्लैक पेपर में मोदी सरकार के 10 साल में युवाओं, महिलाओं, किसानों, अल्पसंख्यकों और श्रमिकों पर हुए अन्याय का जिक्र किया। कांग्रेस ने सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर उनकी विफलताएं छिपाने का आरोप लगाया।

कांग्रेस ने भाजपा शासन काल के आंकड़े पेश किए

कांग्रेस ने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा कि भाजपा के इस काल में बेरोजगारी 45 वर्षों में सबसे अधिक पहुंच गई है। 2012 में बेरोजगारी एक करोड़ थी, जो 2022 में बढ़कर लगभग 4 करोड़ हो गई है। 10 लाख स्वीकृत पद खाली पड़े हैं। ग्रेजुएट्स और पोस्ट ग्रेजुएट्स के मामलों में बेरोजगारी दर लभगत 33 फीसदी है। हर तीन में से एक युवा नौकरी की तलाश रहा है। हर घंटे दो बेरोजगार आत्महत्या कर रहे हैं। किसानों के संकट पर कांग्रेस ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था। लेकिन इसकी जगह एमएसपी में निराशाजनक वृद्धि हुई और पीएम के पूंजीपति मित्रों की समृद्ध करने के लिए संसद के माध्यम से तीन कृषि कानूनों को पारित किया गया। इन काले कानूनों के खिलाफ आवाज उठाते हुए 700 किसान शहीद हुए। पीएम फसल बीमा योजना के तहत बीमा कंपनियों ने 40 हजार करोड़ रुपये का मुनाफा किया है, जबकि हर घंटे एक किसान आत्महत्या कर रहे हैं। महिलाओं के साथ अन्याय पर कांग्रेस ने ब्लैक पेपर में कहा कि भारत में 2022 में कुल 31,516 बलाकात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं। यह प्रतिदिन के हिसाब से औसतन 86 का आंकड़ा है। बलात्कार के मामले बढ़ते जा रहे हैं। जबकि सजा की दर बेहद कम 27.4 फीसदी है। 

अपने बारे में बात करने के बजाय सिर्फ कांग्रेस पार्टी की आलोचना करते हैं-खड़गे

सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर को जारी करते हुए खरगे ने कहा कि सरकार यह बताने की कोशिश नहीं करेगी की उनके 10 साल के कार्यकाल में कितने लोगों को नौकरी मिली। मनरेगा फंड जारी करने में वह राज्यों के साथ भेदभाव कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा केंद्र की सत्ता में है ऐसे में सवाल है कि आज महंगाई पर काबू पाने के लिए उन्होंने क्या किया है। खरगे ने सोशल मीडिया के जरिए नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 10 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद वह अपने बारे में बात करने के बजाय सिर्फ कांग्रेस पार्टी की आलोचना करते हैं। आज भी उन्होंने महंगाई, बेरोजगारी और आर्थिक असमानता के बारे में बात नहीं की?

डेमोक्रेसी को खत्म करने के लिए इस्तेमाल हो रहे पैसे खड़गे

खड़गे ने आगे कहा कि मोदी कहते हैं कि अब इतने पैसे जमा हो रहे हैं, पहले क्यों नहीं होते थे, ऐसा कहकर वे अप्रत्यक्ष रूप में हैरेसमेंट और प्रेशराइज कर रहे हैं और इलेक्शन में पैसा लगा रहे हैं। ये पैसा डेमोक्रेसी को खत्म करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। भाजपा ने 10 साल में 411 विधायकों को अपनी तरफ ले लिया। मैं ये नहीं कहता कि कितने पैसे देकर खरीदा। आप लोग जानते हैं कि हमारी कितनी सरकारें चुनी हुई थीं जैसे मध्य प्रदेश, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड। यहां सरकारें कैसे गिरीं, आप जानते हैं। अगर वे डराकर हमें कमजोर करना चाहते हैं तो न कांग्रेस और न ही मैं इससे प्रभावित होंगे

India

Feb 08 2024, 19:17

सरकार और विपक्ष के बीच ब्लैक एंड व्हाइट जंगःबीजेपी के बीजेपी के 'श्वेत पत्र' से पहले कांग्रेस का 'ब्लैक पेपर'

#congressbringblackpaperonmodigovt

सरकार और विपक्ष के बीच ब्लैक एंड व्हाइट जंग शुरू हो गई है। अंतरिम बजट 2024-25 में वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक श्वेत पत्र लाने की घोषणा की थी। यह श्वेत पत्र यूपीए शासन के 10 सालों के आर्थिक प्रदर्शन पर लाया जाएगा। केंद्र सरकार के 'व्हाइट पेपर' लाने से पहले ही कांग्रेस ने 'ब्‍लैक पेपर' जारी किया है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली सरकार के 10 सालों का ब्‍योरा पेश किया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने संसद भवन परिसर में यह 'ब्लैक पेपर' जारी किया।

पीएम मोदी द्वारा बताई गईं चार जातियों पर फोकस

पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने 57 पेज का ब्लैक पेपर जारी करते हुए इसे 10 साल, अन्याय काल नाम दिया है। कांग्रेस ने सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर उनकी विफलताएं छिपाने का आरोप लगाया। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ गुरुवार को एक ब्लैक पेपर में कांग्रेस ने तमाम मुद्दों के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बताई गईं चार जातियां (गरीब, महिलाएं, युवा और किसान) पर फोकस किया है। कांग्रेस ने अपने इस ब्लैक पेपर में मोदी सरकार के 10 साल में युवाओं, महिलाओं, किसानों, अल्पसंख्यकों और श्रमिकों पर हुए अन्याय का जिक्र किया। कांग्रेस ने सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर उनकी विफलताएं छिपाने का आरोप लगाया।

कांग्रेस ने भाजपा शासन काल के आंकड़े पेश किए

कांग्रेस ने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा कि भाजपा के इस काल में बेरोजगारी 45 वर्षों में सबसे अधिक पहुंच गई है। 2012 में बेरोजगारी एक करोड़ थी, जो 2022 में बढ़कर लगभग 4 करोड़ हो गई है। 10 लाख स्वीकृत पद खाली पड़े हैं। ग्रेजुएट्स और पोस्ट ग्रेजुएट्स के मामलों में बेरोजगारी दर लभगत 33 फीसदी है। हर तीन में से एक युवा नौकरी की तलाश रहा है। हर घंटे दो बेरोजगार आत्महत्या कर रहे हैं। किसानों के संकट पर कांग्रेस ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था। लेकिन इसकी जगह एमएसपी में निराशाजनक वृद्धि हुई और पीएम के पूंजीपति मित्रों की समृद्ध करने के लिए संसद के माध्यम से तीन कृषि कानूनों को पारित किया गया। इन काले कानूनों के खिलाफ आवाज उठाते हुए 700 किसान शहीद हुए। पीएम फसल बीमा योजना के तहत बीमा कंपनियों ने 40 हजार करोड़ रुपये का मुनाफा किया है, जबकि हर घंटे एक किसान आत्महत्या कर रहे हैं। महिलाओं के साथ अन्याय पर कांग्रेस ने ब्लैक पेपर में कहा कि भारत में 2022 में कुल 31,516 बलाकात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं। यह प्रतिदिन के हिसाब से औसतन 86 का आंकड़ा है। बलात्कार के मामले बढ़ते जा रहे हैं। जबकि सजा की दर बेहद कम 27.4 फीसदी है।

अपने बारे में बात करने के बजाय सिर्फ कांग्रेस पार्टी की आलोचना करते हैं-खड़गे

सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर को जारी करते हुए खरगे ने कहा कि सरकार यह बताने की कोशिश नहीं करेगी की उनके 10 साल के कार्यकाल में कितने लोगों को नौकरी मिली। मनरेगा फंड जारी करने में वह राज्यों के साथ भेदभाव कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा केंद्र की सत्ता में है ऐसे में सवाल है कि आज महंगाई पर काबू पाने के लिए उन्होंने क्या किया है। खरगे ने सोशल मीडिया के जरिए नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 10 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद वह अपने बारे में बात करने के बजाय सिर्फ कांग्रेस पार्टी की आलोचना करते हैं। आज भी उन्होंने महंगाई, बेरोजगारी और आर्थिक असमानता के बारे में बात नहीं की?

डेमोक्रेसी को खत्म करने के लिए इस्तेमाल हो रहे पैसे खड़गे

खड़गे ने आगे कहा कि मोदी कहते हैं कि अब इतने पैसे जमा हो रहे हैं, पहले क्यों नहीं होते थे, ऐसा कहकर वे अप्रत्यक्ष रूप में हैरेसमेंट और प्रेशराइज कर रहे हैं और इलेक्शन में पैसा लगा रहे हैं। ये पैसा डेमोक्रेसी को खत्म करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। भाजपा ने 10 साल में 411 विधायकों को अपनी तरफ ले लिया। मैं ये नहीं कहता कि कितने पैसे देकर खरीदा। आप लोग जानते हैं कि हमारी कितनी सरकारें चुनी हुई थीं जैसे मध्य प्रदेश, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड। यहां सरकारें कैसे गिरीं, आप जानते हैं। अगर वे डराकर हमें कमजोर करना चाहते हैं तो न कांग्रेस और न ही मैं इससे प्रभावित होंगे

India

Feb 02 2024, 18:57

ममता बनर्जी का कांग्रेस पर जोरदार हमला, बोली- हिम्मत है तो यूपी, बनारस में बीजेपी को हरा कर दिखाएं

#mamatabanerjeeattackoncongress

2024 में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार को सत्ता से बाहर करने के इरादे से बनाया गया महागठबंधन इंडिया टूटता और बिखरता नजर आ रहा है। सीट शेयरिंग को लेकर बात बनती नहीं दिख रही। ममता बनर्जी कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग को पहले ही खारिज कर चुकी हैं साथ ही वह कांग्रेस पर सीपीआईएम के साथ मिलकर बीजेपी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा रही हैं। इसके बाद भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आशा है कि सीट बंटवारे पर बात बन जाएगी। उन्होंने कहा है कि ममता बनर्जी से बात हो रही, जल्द सीट शेयरिंग का मामला सुलझ जाएगा। हालांकि,पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष ममता बनर्जी कांग्रेस की उम्मीदों पर पानी फेरती नजर आ रही हैं। ममता ने एक बार फिर कहा है कि वो एक भी सीट शेयर नहीं करेंगी। यही नहीं उन्होंने कांग्रेस पर जोरदार हमला भी बोला है।

कांग्रेस को 40 सीटें भी नहीं मिलेंगी-ममता

ममता बनर्जी ने कहा कि देश में 300 से ज्यादा सीटें लड़कर कांग्रेस को 40 सीटें भी नहीं मिलेंगी। मैं दो सीटें दे रही थी और उन्हें जिता देती। लेकिन वे और अधिक चाहते थे। मैंने कहा ठीक है, फिर सभी 42 पर चुनाव लड़ो। अस्वीकार कर दिया। उसके बाद से उनसे कोई बातचीत नहीं हुई।

कांग्रेस को ममता ने दिया चैलेंज

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि मुझे पता चला कि बंगाल में कांग्रेस आ गई है। उन्होंने मुझे कभी सूचित नहीं किया। अगर आपमें इतनी हिम्मत है तो इलाहाबाद, राजस्थान, मध्य प्रदेश में यात्रा करें। उन्होंने कहा कि अब वे राज्य में सबसे पहले मुस्लिम वोटरों में खलबली मचाने आए हैं।उन्होंने कहा कि वे बंगाल में कार्यक्रम करने आए हैं, लेकिन इंडिया अलायंस सदस्य के तौर पर मुझे इसकी जानकारी तक नहीं दी। मुझे प्रशासनिक सूत्रों से पता चला। उन्होंने डेरेक को फोन करके अनुरोध किया था कि रैली को गुजरने की अनुमति दी जाए। फिर बंगाल क्यों आएं? हिम्मत है तो यूपी, बनारस, राजस्थान, मध्य प्रदेश में बीजेपी को हराएं।

राहुल गांधी के बीड़ी कामगारों से मुलाकात पर बोला हमला

ममता बनर्जी ने कहा कि जब मणिपुर जल रहा था तब आप कहां थे? हमने एक टीम भेजी थी। महिलाओं को नग्न कर घुमाया गया। 200 चर्च जला दिये गये। बनर्जी ने मुर्शिदाबाद में राहुल गांधी की बीड़ी कामगारों के साथ की मुलाकात पर भी निशाना साधा। ममता ने कहा कि आजकल फोटोशूट का नया चलन देखने में मिल रहा है।जो लोग कभी चाय के स्टॉल पर नहीं गए, अब वे बीड़ी कामगारों के साथ बैठकर फोटो खिंचवा रहे हैं।

Ranchi

Feb 01 2024, 23:41

हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद बंगाल की सीएम की प्रतिक्रिया,बीजेपी चुनाव जीतने के लिए विपक्ष को कर रही है समाप्त


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने झारखंड में हेमंत सोरेन की गिरफ़्तारी के एक दिन बाद आरोप लगाया है कि BJP आगामी लोकसभा चुनाव जीतने के लिए विपक्षी नेताओं को जेल में डाल रही है।

BJP चुनाव जीतने के लिए सबको जेल में डाल रही

बनर्जी ने नादिया जिले के शांतिपुर में एक सार्वजनिक वितरण कार्यक्रम के दौरान कहा कि अगर उन्हें सलाखों के पीछे भी डाल दिया जाए तो भी वह इससे बाहर आ जाएंगी।उन्होंने कहा,”भाजपा चुनाव जीतने के लिए सबको जेल में डाल रही है।”

हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ सड़क पर दिखा लोगों का आक्रोश, दुकानों को…

मोदी सरकार का अंतरिम बजट सिर्फ झूठ का पुलिंदा, कांग्रेस नेता राजेश ठाकुर ने…

मुख्यमंत्री ने दोहराया कि उनकी पार्टी राज्य में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए Congress के साथ गठबंधन बनाने के लिए उत्सुक थी लेकिन उसने उनके प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया।

ममता ने कहा,”हम गठबंधन चाहते थे लेकिन कांग्रेस इसके ,लिए तैयार नहीं हुई। उन्होंने चुनाव में भाजपा की मदद के लिए मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ हाथ मिलाया है।”

India

Feb 23 2024, 14:47

मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद फूटा जीशान सिद्दीकी का गुस्सा, बोले- कांग्रेस में मुसलमानों के लिए जगह नहीं

#congressmlazeeshansiddiquislams_congress

जीशान सिद्दीकी के पिता और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री बाबा सिद्दीकी ने हाल ही में कांग्रेस छोड़ दी थी और अजित पवार की एनसीपी में शामिल हो गए। इसके बाद बेटे विधायक जीशान सिद्दीकी को कांग्रेस ने मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया। मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद जीशान सिद्दीकी ने गुरुवार (22 फरवरी) को कांग्रेस पर हमला बोला।जीशान सिद्दीकी ने अल्पसंख्यकों के साथ व्यवहार को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला था और उस पर सांप्रदायिक होने का आरोप लगाया। साथ ही जीशान ने दावा किया कि राहुल गांधी से मिलने के लिए उन्हें 10 किलो वजन घटाने के लिए कहा गया था।

राहुल गांधी अच्छा काम करते हैं लेकिन उनकी टीम बेहद भ्रष्ट-जीशान

जीशान वांड्रे ईस्ट से कांग्रेस विधायक और पार्टी के पूर्व नेता बाबा सिद्दीकी के बेटे हैं। बाबा सिद्दीकी ने 8 फरवरी को कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। उन्होंने अजित पवार की एनसीपी जॉइन कर ली है।इसके बाद कांग्रेस ने 21 फरवरी को जीशान को मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया था। इसको लेकर जीशान सिद्दीकी ने कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा, मैं मुसलमान हूं इसीलिए मेरे साथ अन्याय किया गया है। राहुल गांधी अच्छा काम करते हैं लेकिन उनकी टीम बेहद भ्रष्ट है। जीशान सिद्दीकी ने यह गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में लगाए। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस में जितना संप्रदायवाद है उतना किसी अन्य पार्टी में नहीं है। कांग्रेस हमेशा मुस्लिम समुदाय के बारे में सकारात्मक बातें करती हैं, लेकिन उस तरह का काम नहीं करती। 

कांग्रेस में अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं-जीशान

जीशान ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मुस्लिम समुदाय के वोट चाहती है, लेकिन कांग्रेस उन्हें सुरक्षित नहीं कर सकती। हमेशा सौतेला व्यवहार करती है। मुंबई कांग्रेस की लिस्ट निकाल कर देखिए कितने वरिष्ठ नेता मुस्लिम हैं? मुंबई यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष चुने जाने के बाद मुझसे कहा गया कि टीम में ज्यादा मुसलमानों को शामिल न किया जाए। जब इस बात की चर्चा होती है कि मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष कौन होगा तो कहा जाता है कि मुस्लिम नाम नहीं चाहिए। मुंबई कांग्रेस के इतिहास में कभी कोई मुस्लिम अध्यक्ष नहीं बना। मैंने मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ा और जीता। 90% वोट से जीतने के बाद भी मुझे यूथ कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त होने में 9-10 महीने लग गए। मुझे इसलिए परेशान किया गया क्योंकि मैं मुस्लिम हूं। मुझे दुख है कि कांग्रेस में अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं है। 

मुझ पर अविश्वास किया- जीशान

जीशान सिद्दीकी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जब मेरे पिता बाबा सिद्दीकी ने एनसीपी अजीत पवार के साथ जाने का फैसला किया उसी वक्त मैंने यह साफ कर दिया था कि मैं कांग्रेस में ही रहूंगा। यह बात मैंने एक बार नहीं बार-बार कही थी। बावजूद इसके मेरे खिलाफ मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाने की कार्रवाई की गई। सिद्दीकी ने कहा कि मेरे खिलाफ की गई इस एकतरफा कार्रवाई के बाद मैं अब यह नहीं कह सकता कि मैं कांग्रेस में ही रहूंगा। अपने मैं अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ चर्चा करके अपने लिए नए राजनीतिक विकल्प ढूंढ लूंगा। 

जीशान सिद्दीकी ने कहा कि मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बारे में उन्हें अब तक कोई अधिकृत पत्र फोन सूचना या ईमेल नहीं मिला है। जो कुछ जानकारी मिली है वह सोशल मीडिया के माध्यम से और पत्रकारों से मिली है। उन्होंने कहा कि यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव में सबसे ज्यादा मतों से जीतने वाले व्यक्ति के साथ यह सरासर अन्याय है।

India

Feb 22 2024, 13:58

सपा के बाद कांग्रेस की ‘आप’ से भी डील लगभग डन, 4-3 के फॉर्मूले पर बनी बात!

#aapcongressagreetocontestelectionstogether 

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन के बाद अब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच भी गठबंधन होता दिख रहा है।सूत्रों के मुताबिक, दोनों पार्टियों में गठबंधन पर बातचीत अंतिम दौरे में है। आप-कांग्रेस में सीटों सहमति बन गई है। केजरीवाल की पार्टी 4 और कांग्रेस 3 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार सकती है। खास बात ये है कि ये गठबंधन सिर्फ दिल्ली तक सीमित नहीं होगा, बल्कि अन्य राज्यों में भी दोनों दल मिलकर चुनाव लड़ेंगे। 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस को आम आदमी पार्टी ने चांदनी चौक सीट देने का प्रस्ताव दिया है। इसके अलावा पूर्वी दिल्ली और नॉर्थ ईस्ट सीट कांग्रेस को देने का प्रस्ताव भी दिया है। आप की तीन सीटों की पेशकश पर दोनों दल सहमत हो गए हैं। ऐसे में कांग्रेस तीन सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। वहीं, आम आदमी पार्टी नई दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली और नॉर्थ वेस्ट दिल्ली सीट से चुनाव लड़ सकती है। इसका औपचारिक एलान होना बाकी है। जो आज हो सकता है।

इन राज्यों में बन सकती है बात

दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच सीटों पर सहमति बन गई है, उधर गुजरात में भी दोनों के बीच गठबंधन हो सकता है। कांग्रेस ने गुजरात में भरूच समेत 2 से 3 तीन सीटें आप को देने का मन बनाया है। वहीं, हरियाणा और असम में कांग्रेस का आप को एक सीट देने का प्रस्ताव है। गोवा में आप साउथ गोवा सीट चाहती है, लेकिन वहां से कांग्रेस का सीटिंग एमपी है।