India

Jul 28 2022, 16:01

#adhirranjanchowdhurysayswillapologiesto_president

अधीर रंजन चौधरी बोले-राष्ट्रपति से मिलकर मांगूंगा माफी, इन पाखंडियों से नहीं

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के एक बयान पर बवाल मचा हुआ है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर कांग्रेस नेता के बयान पर आज संसद में पूरे समय बवाल मचा रहा। इसी बीच अधीर रंजन ने अब बयान दिया है कि वे राष्ट्रपति मुर्मू से माफी मांगेंगे। लेकिन इन पाखंडियों से माफी नहीं मांगेंगे।

अधीर रंजन चौधरी ने संसद में अपने बयान पर गलती मांगी और कहा कि वो सपने में भी राष्ट्रपति के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल नहीं कर सकते। हालांकि उन्होंने कहा कि वे राष्ट्रपति से निजी तौर पर मुलाकात करके माफी मांगेंगे। भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि वो पाखंडियों से माफी नहीं मांगेंगे।

हिन्दी कम जानने के कारण हुई गलती-अधीर

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि, जब रिपोर्टर ने टोका तो मैं भीड़ में सुन नहीं पाया, चूक हुई है। तीन बार मैंने राष्ट्रपति कहा और एक बार राष्ट्रपत्नी निकल गया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलकर माफी मांगूंगा। मैंने परसों का समय मांगा है, लेकिन इन पाखंडियों से माफी नहीं मांगूंगा। मुझसे चूक हुई है। मैं बंगाली हूं, हिंदी में आदि नहीं हूं। उस शोर में मैं रिपोर्टर का टोकना समझ नहीं सका

अधीर ने क्या कहा है

दरअसल, विजय चौक पर बुधवार को कांग्रेस सांसदों के साथ धरने पर बैठे अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 'धरना देंगे। मार्च करेंगे। अभी बहुत कुछ करना बाकी है। राष्ट्रपति भवन आज भी जाने की कोशिश करेंगे। हिंदुस्तान की राष्ट्रपत्नी जी सबके लिए हैं। हमारे लिए क्यों नहीं?' इस बयान के बाद अधीर रंजन घिर गए और भाजपा उन पर हमलावर हो गई है।


India

Jul 28 2022, 14:36

#soniagandhismritiiranicamefaceto_face 

अधीर रंजन के बयान पर सोनिया-स्मृति आमने-सामने, कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- Don't Talk to Me, निर्मला सीतारमण ने सुनाया पूरा किस्‍सा

देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा आपत्तिजनक बयान पर राजनीति तेज हो गई है। इसको लेलकर बीजेपी और कांग्रेस आमने सामने है। गुरुवार को इस मामले में लोकसभा में भारी हंगामा देखने को मिला। वहीं सोनिया गांधी को लेकर भाजपा ने गंभीर आरोप लगाया है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जहां सोनिया गांधी से माफी की मांग की तो वहीं कांग्रेस के सांसद भी जमकर हंगामा करने लगे। इन सब के बीच विवाद उस समय और बढ़ गया जब सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच तीखी नोकझोंक होने लगी।केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा सोनिया गांधी ने भाजपा सांसदों से धमकी भरे लहजे में बात की। उन्होंने कहा सदन में जब बीजेपी सांसद रमा देवा से सोनिया गांधी की बात हो रही थी तो उस समय हमारी एक और सांसद वहां पहुंच गईं और पूछा कि क्या हो गया? तो उस वक्त कांग्रेस अध्यक्ष ने धमकी भरे लहजे में उन्हें कहा- Don't talk to me।

सोनिया गांधी का धमकी भरा लहजा!

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा की कार्यवाही के स्थगित होने के बाद बीजेपी के सांसद 'सोनिया गांधी माफी मांगो' का नारा लगा रहे थे। ये नारा 12 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होते ही लग रही थी। जब सदन स्थगित हो गया तो सोनिया गांधी सदन से बाहर जा रही थीं। लेकिन नारेबाजी के बीच सोनिया गांधी वापस लौट कर बीजेपी सांसद रमा देवी के पास गईं और कहा किमेरा नाम क्यों लिया जा रहा है, अधीर रंजन चौधरी ने तो माफी मांग ली है। इसी बीच रमा देवी के पास खड़ी स्मृति ईरानी ने सोनिया गांधी से कहा कि मैम मैंने आपका नाम लिया था। इसपर सोनिया भड़क गईं और स्मृति को डांट लगाते हुए कहा कि Don't talk to me, इसके बाद स्मृति और सोनिया गांधी के बीच तीखी बहस हुई। ये बहस 2 से 3 मिनट चली।

इसमें सोनिया गांधी को क्यों घसीटा जा रहा है- अधीर

इस बीच अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “मैं राष्ट्रपति का अपमान करने के बारे में सोच भी नहीं सकता। यह सिर्फ एक गलती थी। अगर राष्ट्रपति को बुरा लगा तो मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलूंगा और माफी मांगूंगा। वे चाहें तो मुझे फांसी दे सकते हैं। मैं सजा भुगतने को तैयार हूं लेकिन उन्हें (सोनिया गांधी) इसमें क्यों घसीटा जा रहा है?

सोनिया जी की अध्यक्षता में मूल्यविहीन एवं संविधान को चोट पहुंचाने वाला काम-स्मृति ईरानी

इससे पहले स्मृति ईरानी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला था। स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस ने सोनिया जी की अध्यक्षता में ये संस्कार और मूल्यविहीन एवं संविधान को चोट पहुंचाने वाला काम किया है। संसद में और सड़क पर कांग्रेस और उनके नेताओं को देश की प्रथम नागरिक, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी और देश से माफी मांगनी चाहिए। स्मृति ईरानी ने कहा कि जब से द्रौपदी मुर्मू का नाम राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में घोषित हुआ तब से ही द्रौपदी मुर्मू कांग्रेस पार्टी की घृणा और उपहास का शिकार बनीं। कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कठपुतली कहा। कांग्रेस आज भी इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रही कि एक आदिवासी महिला इस देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद को सुशोभित कर रही हैं।


India

Jul 28 2022, 13:59

#aapmpsushilguptaandsandippathakalsosuspended 

तीन और सांसद राज्यसभा से निलंबित, आम आदमी पार्टी के सुशील गुप्ता और संदीप पाठक भी सस्पेंड

राज्यसभा से आम आदमी पार्टी के तीन और सांसदों को सस्पेंड कर दिया गया है। राज्य सभा की कार्यवाही में बाधा डालने और शोरगुल करने की वजह से गुरुवार को आम आदमी पार्टी के सदस्य सुशील कुमार गुप्ता सहित तीन और सांसदों को उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने सदन से निलंबित कर दिया है। ये सांसद इस सप्ताह के लिए निलंबित रहेंगे। 

आदमी पार्टी के दो सांसद संदीप पाठक और सुशील गुप्ता के अलावा निर्दलीय सांसद अजीत कुमार भुइयां के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है। इससे पहले बुधवार को संजय सिंह को भी निलंबित किया गया था। संसद के चल रहे मानसून सत्र के दौरान अब तक 23 राज्यसभा सांसद और 4 लोकसभा सांसद समेत कुल 27 सांसदों को निलंबित किया जा चुका है।

इसके अलावा मंगलवार को 19 सांसदों को निलंबित किया गया था। उनके खिलाफ भी मौजूदा सप्ताह के लिए ही कार्रवाई की गई है। इससे पहले लोकसभा से 4 सांसदों को पूरे सत्र के लिए निलंबित किया गया है। इन सांसदों को दुर्व्यवहार के लिए निलंबित किया गया है। पहली बार में राज्यसभा के जिन सांसदों को निलंबित किया गया था, उनमें सुष्मिता देव, मौसम नूर, शांता छेत्री, डोला सेना, शांतनु सेन, अभि रंजन बिस्वार और मोहम्मद नदीमुल हक शामिल हैं। जिन सांसदों को निलंबित किया गया है, उनमें टीएमसी के 7 और डीएमके के 6 सांसद शामिल हैं।


India

Jul 28 2022, 13:20

#soniagandhisaysadhirranjanchoudhuryhasalreadyapologised

'राष्ट्रपत्नी' विवाद पर सोनिया गांधी ने अधीर रंजन का किया बचाव, कहा- वो पहले ही माफी मांग चुके हैं

देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा आपत्तिजनक बयान पर राजनीति तेज हो गई है। इसको लेकर भाजपा, कांग्रेस पर हमलावर है। भाजपा अधीर और कांग्रेस से माफी मांगने की मांग कर रही है। हंगामे के बीच सोनिया गांधी ने अदीर रंजन का बचाव किया है। कांग्रेस अध्यक्ष से यह पूछने पर कि क्या अधीर रंजन माफी मांगेंगे? इस पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह पहले ही माफी मांग चुके हैं।

सोनिया गांधी ने किया बचाव

जहां एक तरफ भाजपा लगातार कांग्रेस से माफी मांगने की बात कर रही है तो वहीं बढ़ते बवाल के बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने अधीर रंजन का बचाव किया है। अधीर रंजन के माफी मांगने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वो पहले ही माफी मांग चुके हैं। सोनिया गांधी से मीडिया ने पूछा था कि क्या वह अधीर रंजन को माफी मांगने का निर्देश देंगी? इस पर सोनिया गांधी ने कहा कि वह पहले ही माफी मांग चुके हैं।

इस बीच, सोनिया गांधी ने मामले में विचार के लिए कांग्रेस संसदीय दल के दफ्तर में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। पार्टी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे व अधीर रंजन चौधरी को भी इसमें बुलाया गया है। 

कांग्रेस नेता ने दी सफाई

भाजपा के निशाने पर आने के बाद कांग्रेस नेता ने अब सफाई दी है। उन्होंने कहा कि यह शब्द उनके मुंह से गलती से निकल गया। इसके लिए उन्हें भाजपा से माफी क्यों मांगनी चाहिए।अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कल और परसों लगातार हम लोग जब विजय चौक की तरफ प्रदर्शन कर रहे थे तो हमसे पूछा गया कि आप कहां जाना चाहते हैं तो मैंने कहा था कि राष्ट्रपति से मिलना चाहते हैं।राष्ट्रपति बोलने के तुरंत बाद निकल गया कि राष्ट्रपत्नी से मिलना चाहते हैं। मेरी टिप्पणी के बाद पत्रकार तुरंत निकल गए, मैं उन्हें मिलकर बताना चाहता था, लेकिन वह मिले ही नहीं। वह उनसे इस गलती को तवज्जो नहीं देने का अनुरोध करने वाले थे। चौधरी ने कहा कि हम भाजपा से किस बात के लिए माफी मांगें। मुर्मू देश की राष्ट्रपति हैं। 

अधीर ने क्या कहा है

दरअसल, विजय चौक पर बुधवार को कांग्रेस सांसदों के साथ धरने पर बैठे अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 'धरना देंगे। मार्च करेंगे। अभी बहुत कुछ करना बाकी है। राष्ट्रपति भवन आज भी जाने की कोशिश करेंगे। हिंदुस्तान की राष्ट्रपत्नी जी सबके लिए हैं। हमारे लिए क्यों नहीं?' इस बयान के बाद अधीर रंजन घिर गए और भाजपा उन पर हमलावर हो गई है।


India

Jul 28 2022, 12:05

#uproarinloksabhaoveradhirranjanchowdhuryrashtrapatniremark

अधीर के राष्ट्रपति वाले बयान पर संसद में हंगामा बीजेपी ने की सोनिया गांधी से मांफी मांगने की मांग

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में अपने आपत्तिजनक बयान पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बुरी तरह घिर गए हैं।राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन की अशोभनीय टिप्पणी के खिलाफ आज भाजपा नेताओं ने लोकसभा में सोनिया गांधी से माफी की मांग की। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को अधीर पर हमला बोलते हुए कहा कि 'अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को देश की पत्नी के रूप में संबोधित किया। यह जानते हुए भी कि यह संबोधन देश के हर मूल्य एवं संस्कृति के खिलाफ है। इसके लिए कांग्रेस पार्टी को संसद में और सड़क पर राष्ट्रपति मुर्मू और देश से माफी मांगनी चाहिए।

अधीर के बयान पर संसद में हंगामा

अधीर के बयान पर गुरुवार को लोकसभा में हंगामा हुआ। लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पार्टी और अधीर रंजन चौधरी पर निशाना साधा। सदन में हंगामा बढ़ता देख लोकसभा की कार्यवाही दिन के 12 बजे तक स्थगित हो गई। भाजपा की मांग है कि अधीर के बयान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को माफी मांगनी चाहिए। अधीर के बयान पर राज्यसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोर्चा संभालते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा। 

ईरानी का कांग्रेस पर जोरदार हमला

स्मृति इरानी ने कहा कि कांग्रेस नेता का बयान बताता है कि उनकी पार्टी की सोच क्या है। उन्होंने कहा कि अधीर रंजन चौधरी जी ने राष्ट्रपति जी को राष्ट्र की पत्नी बताकर अपनी सोच उजागर की है। यह सभी जानते हैं कि कांग्रेस की सोच आदिवासी विरोधी है और महिलाओं के खिलाफ है। अधीर रंजन चौधरी ही नहीं कांग्रेस को भी इस पर माफी मांगनी चाहिए। भारी हंगामा के बाद सदन को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा था

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को दिल्ली में पार्टी के एक प्रदर्शन के दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'राष्ट्रपत्नी' कहकर संबोधित का था। विजय चौक पर बुधवार को कांग्रेस सांसदों के साथ धरने पर बैठे अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 'धरना देंगे। मार्च करेंगे। अभी बहुत कुछ करना बाकी है। राष्ट्रपति भवन आज भी जाने की कोशिश करेंगे। हिंदुस्तान की राष्ट्रपत्नी जी सबके लिए हैं। हमारे लिए क्यों नहीं?' 

कांग्रेस नेता ने दी सफाई

भाजपा के निशाने पर आने के बाद कांग्रेस नेता ने अब सफाई दी है। उन्होंने कहा कि यह शब्द उनके मुंह से गलती से निकल गया। इसके लिए उन्हें भाजपा से माफी क्यों मांगनी चाहिए।अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कल और परसों लगातार हम लोग जब विजय चौक की तरफ प्रदर्शन कर रहे थे तो हमसे पूछा गया कि आप कहां जाना चाहते हैं तो मैंने कहा था कि राष्ट्रपति से मिलना चाहते हैं।राष्ट्रपति बोलने के तुरंत बाद निकल गया कि राष्ट्रपत्नी से मिलना चाहते हैं। मेरी टिप्पणी के बाद पत्रकार तुरंत निकल गए, मैं उन्हें मिलकर बताना चाहता था, लेकिन वह मिले ही नहीं।


India

Jul 28 2022, 11:45

కడప జిల్లా మైలవరం మండలం చిన్నకొమెర్ల గ్రామం వద్ద పిడిబాకులతో దాడి

వైసీపీలో తారాస్థాయికి చేరుకున్న వర్గ పోరు

రామ సుబ్బారెడ్డి వర్గం పై ఎమ్మెల్యే సుధీర్ రెడ్డి వర్గం కత్తులతో దాడి

ఇరువురికి గాయాలు, ఒకరి పరిస్థితి విషమం

జమ్మలమడుగు పట్టణంలోని ఓ ప్రైవేట్ హాస్పిటల్కు తరలింపు

హాస్పిటల్ వద్ద భారీగా చేరుతున్న పోలీసులు, రామ సుబ్బారెడ్డి వర్గీయులు


India

Jul 28 2022, 11:28

#whatdoesmithunchakrabortysstatement_mean

क्या महाराष्ट्र के बाद पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी बनाने जा रही है सरकार, क्या है मिथुन चक्रवर्ती के दावों का मतलब?

अभिनेता से नेता बने मिथुन चक्रवर्ती ने बड़ा दावा किया है। बीते साल विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के जरिए बंगाल की राजनीति में एंट्री करने वाले मिथुन चक्रवर्ती का दावा है कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के 38 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। यही नहीं उन्होंने कहा कि 21 विधायक तो सीधे मेरे संपर्क में हैं। उनके दावे के बाद बंगाल की राजनीति में हलचल तेज हो गई। सवाल उठ रहे हैं कि क्या बंगाल में भी महाराष्ट्र वाले हालात पैदा होने वाले हैं ?

महाराष्ट्र में सत्ता बदल सकती है तो फिर बंगाल में क्यों नहीं?

मीडिया से बात करते हुए मिथुन चक्रवर्ती ने कहा, 'मैं आपको एक ब्रेकिंग न्यूज दे रहा हूं। तृणमूल के 38 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। उनमें से 21 मेरे सीधे संपर्क में हैं।' उन्होंने कहा, 'जब मैं बंबई में था। एक सुबह मैं उठा और सुना कि भाजपा शिवसेना की सरकार बनेगी। अगर यह महाराष्ट्र में किया जा सकता है तो यहां क्यों नहीं किया जा सकता है?

अब सवाल उठता है कि क्या सच में भाजपा पश्चिम बंगाल में भी सरकार बना सकती है?

क्या भाजपा महाराष्ट्र की तरह पश्चिम बंगाल में भी सरकार बनाने में कामयाब होगी? इसे समझने के लिए पश्चिम बंगाल के सियासी समीकरण को समझ लेते हैं। पश्चिम बंगाल में 2021 में ही विधानसभा चुनाव हुए थे। 294 सीटों वाले इस राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 215 सीटों पर जीत हासिल की। 77 सीटों के साथ भाजपा दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। चुनाव के बाद भाजपा के छह विधायक टूटकर टीएमसी में शामिल हो गए। जिसके बाद इन सीटों पर उपचुनाव हुए। 

मौजूदा समय 294 सीटों वाले विधानसभा में 220 टीएमसी के सदस्य हैं, जबकि 71 भाजपा के विधायक हैं। बाकी एक सीट बीजीपीएम, एक आईएसएफ की है। एक सीट खाली है। 

बीजेपी के लिए बंगाल में सरकार बनाना आसान नहीं

पश्चिम बंगाल में सरकार बनाने के लिए 148 विधायकों का साथ चाहिए होता है।भाजपा के पास अभी 71 विधायक हैं। मतलब जरूरत से 77 विधायक कम। अगर मिथुन चक्रवर्ती के दावे के अनुसार मान भी लेते हैं कि टीएमसी के 38 विधायक टूटकर भाजपा में शामिल हो जाएंगे तो भी भाजपा को बहुमत के आंकड़े को छूने के लिए 39 विधायकों की जरूरत पड़ेगी। जो इतना आसान नहीं होगा।क्योंकि, बगावत करने वालों पर दलबदल कानून की तलवार लटक सकती है। महाराष्ट्र जैसे बंगाल में सरकार बनाने के लिए बीजेपी को टीएमसी के दो तिहाई यानी 147 विधायकों को तोड़ना होगा। तभी ये विधायक दल बदल कानून से बच सकेंगे और भाजपा की सरकार बन सकेगी।


India

Jul 28 2022, 10:23

#mosquitoesharassedsuspended_mps

खुले आसमान के नीचे गुजरी निलंबित सांसदों की रात, मच्छरों ने किया खूब परेशान, VIDEO ट्वीट कर बयां किया दर्द

राज्यसभा से निलंबित सांसद बुधवार से धरने पर बैठे हैं। संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास खुले आकाश के नीचे उन्होंने रात गुजारी। हालांकि धरने पर बैठे सांसदों को पूरी रात मच्छर ने खूब परेशान किया है।कांग्रेस के निलंबित सांसद मनिकम टैगोर ने एक सांसद के हाथ पर बैठे मच्छर का वीडियो भी ट्वीट किया और सरकार पर निशाना साधा। 

खुले आसमान के नीचे पूरी रात मच्छरों ने किया परेशान

कांग्रेस के निलंबित सांसद मनिकम टैगोर ने लिखा, “संसद में मच्छर है, लेकिन विपक्षी सांसद डरते नहीं हैं। मनसुख मंडाविया कृपया भारतीयों के खून की रक्षा करें, जिसे अडानी चूस रहे हैं।” टैगोर ने अपने ट्वीट में स्वास्थ्य मंत्री को भी टैग किया है।

वीडियो में एक सांसद को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि, “गांधी जी के सामने संसद में यह मच्छर है। सांसद धरने पर बैठे हैं। यह संसद की मच्छर कहानी है।'' इस वीडियो में फोन कैमरा घास पर जाता है जहां मच्छर भगाने वाली कॉइल जलती हुई दिखाई देती है।

डेरेक ओ ब्रायन ने पोस्ट किया वीडियो

वहीं बुधवार रात सोने की तैयारी कर रहे सांसदों का एक वीडियो टीएमसी के नेता डेरेक ओ ब्रायन शेयर किया। उन्होंने संसदीय कार्य मंत्री की खुली आसमान में न सोने की सलाह पर कहा 'मंत्री,हम अच्छे हैं। आप अपने घर में सोएं।

टेंट लगाने का अनुरोध खारिज

निलंबन का विरोध करने वाले इन सांसदों ने गांधी प्रतिमा के पास अपने लिए एक टेंट लगाने का अनुरोध किया था लेकिन उनकी इस मांग को यह कहते हुए खारिज कर दिया गया कि संसद परिसर में इस तरह की कोई व्यवस्था नहीं की जा सकती। हालांकि, इन सांसदों को संसदीय लाइब्रेरी के शौचालय का इस्तेमाल करने की इजाजत दी गई है।

बता दें कि निललंबर के विरोध में सांसदों ने बुधवार की सुबह 11 बजे से धरना शुरू किया और शुक्रवार को दोपहर 1 बजे तक चलने वाला है।


India

Jul 28 2022, 09:49

#wbsscscam29croremorefoundinraidonarpitamukherjeeflat

प बंगाल शिक्षक भर्ती घोटालाःअर्पिता मुखर्जी के घर से अब तक 50 करोड़ से ज्यादा कैश बरामद, 20 संदूकों में भरकर निकाला गया खजाना

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार में हुए बहुचर्चित एसएससी शिक्षक भर्ती घोटाले में भारी-भरकम भ्रष्टाचार के सबूत मिल रहे हैं। शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों को उत्तर 24-परगना में अर्पिता मुखर्जी के बेलघोरिया फ्लैट से 5 किलो सोने के अलावा 28 करोड़ रुपये की नकदी मिले हैं। यहां मिली नकद राशि को ईडी की टीम को 20 संदूकों में भरकर ट्रक में ले जाना पड़ा। सूत्रों के अनुसार अर्पिता के ठिकानों से अब तक कुल 53.22 करोड़ रुपये नकद मिले हैं। 

नोटों के बंडल करीब 20 ट्रंक में भरकर निकाले गए

गुरुवार सुबह चार बजे तक नोटों की गिनती जारी रही।अधिकारियों ने कहा कि शौचालय से भारी मात्रा में पैसा बरामद किया गया है।ईडी ने अर्पिता के उत्तरी 24 परगना जिले के बेलघरिया में स्थित फ्लैट पर बुधवार को छापा मारा था। यहां इतनी नकदी मिली है कि मशीनें लगाने के बाद भी नोटों की गिनती का काम आज सुबह तक जारी रहा। नोटों का भंडार इतना बड़ा था कि..नोट गिनने की कई मशीनें मंगानी पड़ीं और साथ ही नोट भरने के लिए कई बक्से भी। अर्पिता के फ्लैट पर बक्से से भरा एक ट्रक पहुंचा और एक-एक कर फ्लैट के अंदर बक्से ले जाए गए और फिर सिलसिला शुरु हुआ। काली कमाई को बक्सों में भरने का, आलम ये था कि नोट गिनते-गिनते मशीन का भी दम फूलने लगा और मजबूरन कई मशीनें मंगानी पड़ी ताकि इन नोटों के भंडार का सही आकंड़ा पता लगाया जा सके। ईडी के अधिकारी दो हजार और पांच-पांच सौ के नोटों के बंडल करीब 20 ट्रंक में भरकर लेकर निकले हैं। 

पौने तीन करोड़़ की ज्वैलरी और गोल्ड बार भी बरामद

गुलाबी नोटो के बंडल के अलावा अब तक करीब पौने तीन करोड़़ की ज्वैलरी और गोल्ड बार भी बरामद हुआ है। दोनों फ्लैट से अब तक करीब कुल 53.22 करोड़ रुपये नकद मिले हैं। ईडी के एक अधिकारी ने बताया कि इस बार उत्तर कोलकाता के बेलघरिया स्थित फ्लैट से नकदी मिली है जिसकी मालकिन मुखर्जी हैं। रथाला इलाके में अर्पिता के दो फ्लैट को ताला तोड़कर खोला गया क्योंकि उनकी चाबी नहीं थी। उन्होंने बताया, हमें हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में दो में से एक फ्लैट में बड़ी मात्रा में नकदी मिली है। उन्होंने बताया कि फ्लैटों की तलाशी के दौरान कई अहम दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। ईडी ने फ्लैट को सील कर दिया है। जांच एजेंसी ने पार्थ के सहयोगी और व्यवसायी मनोज जैन के बल्लीगंज स्थित आवास पर भी तलाशी ली है।

पहले भी बरामद हुई थी काली कमाई

इससे पहले 22 जुलाई को भी ईडी ने अर्पिता के ठिकानों पर छापेमारी कर 21.9 करोड़ रुपये बरामद किए। अर्पिता के टॉलीगंज स्थित फ्लैट से 21 करोड़ रुपए मिले थे। ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि आखिर अर्पिता के कितने ठिकाने हैं और इस कैश क्वीन के पास काली कमाई का कितना भंडार छिपा है। बता दें कि ईडी ने पूर्व शिक्षा व मौजूदा संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को हिरासत में रखा है।

ईडी को 100 करोड़ के घोटाले की आशंका

आपको बता दें कि कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश पर सीबीआई सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में समूह 'ग' और 'घ' वर्ग के कर्मचारियों और शिक्षकों की भर्ती में हुई कथित अनियमितता की जांच कर रही है। वहीं, ईडी घोटाले में धनशोधन की जांच कर रहा है। ईडी को आशंका है कि शिक्षक भर्ती घोटाला 100 करोड़ से ज्यादा का हो सकता है। उल्लेखनीय है कि जिस समय यह कथित घोटाला हुआ, उस समय पार्थ चटर्जी राज्य के शिक्षामंत्री थे।


India

Jul 27 2022, 20:39

तो क्या अब पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी 'खेला' करने की तैयारी में, भाजपा नेता मिथुन चक्रवर्ती का दावा, तृणमूल कांग्रेस के 38 विधायक उनके संपर्क में

पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी 'खेला' करने की तैयारी में है। भाजपा नेता मिथुन चक्रवर्ती ने इसके संकेत दिए हैं। बुधवार को उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के 38 विधायक उनके संपर्क में हैं। मिथुन ने दावा किया कि टीएमसी के 21 विधायक तो सीधे उनकी संपर्क में हैं।

मिथुन चक्रवर्ती ने कहा कि शिक्षक भर्ती घोटाला में टीएमसी के मंत्री गिरफ्तार हुए हैं। इस घोटाला के सामने आने से पार्टी के नेता परेशान हैं। तृणमूल कांग्रेस के तीन दर्जन से अधिक विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। मीडिया से मिथुन ने कहा, मैं आपसभी लोगों को ब्रेकिंग न्यूज दे रहा हूं। इस समय टीएमसी के 38 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। इनमें से 21 सीधे मेरे संपर्क में हैं।

मुस्लिम विरोधी नहीं है भाजपा

एक्टर मिथुन चक्रवर्ती पिछले साल बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे। उन्होंने पार्टी की मुस्लिम विरोधी छवि पर भी बात की। उन्होंने कहा कि बॉलीवुड के तीन सबसे बड़े स्टार सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान मुस्लिम हैं। अगर बीजेपी मुस्लिम विरोधी है तो यह कैसे संभव है? बीजेपी 18 राज्यों में सत्ता में है। अगर बीजेपी इनसे नफरत करती है और हिंदू प्यार नहीं करते तो कैसे इनकी फिल्में इन राज्यों में सबसे अधिक पैसे कमाती हैं? मैं आज जहां हूं वहां हिन्दुओं, मुस्लिमों और सिखों के प्यार से पहुंचा हूं।

2000 करोड़ रुपए का है शिक्षक भर्ती घोटाला

शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार हुए मंत्री पार्थ चटर्जी के बारे में मिथुन ने कहा कि अगर जांच एजेंसी के पास कोई सबूत नहीं है तो उन्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है, लेकिन अगर उन्होंने कुछ गलत किया है तो दुनिया की कोई ताकत नहीं बचा सकती। उन्होंने आरोप लगाया कि शिक्षक भर्ती घोटाला 2000 करोड़ रुपए का है।