Bihar

Nov 24 2021, 17:02

बिहार विधान परिषद ने कार्य मंत्रणा समिति का हुआ पुनर्गठन, इन लोगों को किया गया शामिल

  

डेस्क : बिहार विधान मंडल का शीतकालीन सत्र की शुरुआत होने वाली है। इसको लेकर बिहार विधान परिषद ने कार्य मंत्रणा समिति का पुनर्गठन किया है। सभापति के आदेश के बाद विधान परिषद सचिवालय ने पत्र जारी किया है।

  

बिहार विधान परिषद की 199 वें सत्र के लिए कार्यमंत्रणा समिति का पुनर्गठन किया गया है, जिसमें कार्यकारी सभापति पदेन अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उस कमिटी में होंगे। 

इसके अलावे डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद, संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी, सत्तारूढ़ दल के उप नेता देवेश चंद्र ठाकुर और नवल किशोर यादव को रखा गया है। वहीं राबड़ी देवी भी कार्यमंत्रणा समिति की मेंबर होंगी।

वहीं विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर सत्तारूढ़ दल के मुख्य सचेतक संजय कुमार सिंह, उपेंद्र कुशवाहा, रामचंद्र पूर्वे, डॉ. राम वचन राय, केदारनाथ पांडे, राजेंद्र प्रसाद गुप्ता, संजीव श्याम सिंह, प्रेमचंद्र मिश्रा, वीरेंद्र नारायण यादव और खालिद अनवर होंगे। 

Bihar

Nov 24 2021, 15:38

राजद प्रदेश कार्यालय में जली 6 टन के संगमरमर की लालटेन, राजद सुप्रीमो ने किया लोकार्पण, कही यह बात

  


डेस्क : बिहार की राजनीति के लिए आज बड़ा दिन रहा है। आज बुधवार को जहां जदयू नीतीश कुमार के 15 वर्षों के कार्यकाल को स्वर्णिम दिन के रूप में मना रही है। प्रदेश की मुख्य विपक्षी दल राजद कार्यालय में भी भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव द्वारा 11 फीट की लालटेन का अनवारण  किया गया। 

  

यह लालटेन पत्थर का बना हुआ है। इस लालटेन का लौ 24 घंटे सीएनजी गैस के माध्यम से जलेगा। इस लालटेन की उंचाई 11 फीट है। संगमरमर राजस्थान से मंगाया गया था। 

कार्यक्रम को लेकर राजद कार्यालय को दुल्हन की तरह सजाया गया है। साथ ही कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, सहित राजद के बड़े नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे। लालू प्रसाद यादव का स्वागत ढोल नगाड़े के साथ किया गया। 
इस लालटेन का लोकार्पण करने के बाद लालू प्रसाद ने कहा कि इस लालटेन को हेरिकेन लैंप कहा जाता है, जो तूफान में भी नहीं बुझता है। उन्होंने कहा कि राजद के लिए तेजस्वी और साभी कार्यकर्ता बड़ी मेहनत करते हैं।  इन लोगों ने विपक्षियों को धूल चटा दिया है।

राजद सुप्रीमो लालू ने कहा है कि जब हम रेल मंत्री बने तो घाटे के सौदे वाले रेल को भी फायदे में लाया। 90 प्रतिशत पूल का अप्रोच हमने बनवाया है। साथ ही लालू ने किसान आंदोलन के बारे में कहा कि आज किसानों की जीत हुई है और नरेंद्र मोदी की हार हुई है। 

Bihar

Nov 24 2021, 11:37

मगध यूनिवर्सिटी के विसी को वित्तीय अनियमितता मामले में जिसने दिया क्लीन चिट अब उन्हीं पर लगे गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप

  




पटना के मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय के वर्तमान VC प्रोफेसर कुद्दुस ने पूर्व प्रभारी VC प्रोफेसर सुरेंद्र प्रसाद सिंह पर लूट-खसोट करने का लगाया बड़ा आरोप

  



बिहार में मगध यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (VC) डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद के मामले में जांच  चल ही रही है। इधर, एक और यूनिवर्सिटी में लूट का मामला सामने आया है। इस बार आरोप उस शख्स पर लगा है, जिन्होंने राजेंद्र प्रसाद की जांच की थी और उन्हें क्लीनचीट दे दी थी।
ताजा मामला पटना के मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय का है।

 यहां के वर्तमान VC प्रोफेसर कुद्दुस ने पूर्व प्रभारी VC प्रोफेसर सुरेंद्र प्रसाद सिंह पर लूट-खसोट करने का बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने इस लेकर CM नीतीश कुमार को लेटर लिखा है।

 सुरेंद्र प्रसाद सिंह फिलहाल ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी (LNMU) के VC हैं। LNMU के VC रहते सुरेंद्र प्रसाद सिंह को राजभवन से बेस्ट VC के अवॉर्ड से सम्मानित किया जाना था। लेकिन इसके पहले ही उन पर संगीन आरोप लग गए हैं।
प्रोफेसर कुद्दुस ने पत्र में कहा है कि उन्हें 19 अगस्त 2021 को यूनिवर्सिटी में वाइस चांसलर के तौर पर जॉइन करना था। वो उस दिन जॉइन करने पहुंचे थे। लेकिन रजिस्ट्रार डॉक्टर मो हबीबुर रहमान ने अज्ञात कारणों से उन्हें जॉइन करने में 23 अगस्त तक की देरी कराई।


इस बीच ही सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कई फैसले किए, जिसमें लाखों रुपए की अनियमितता हुई। दोगुने दामों में लखनऊ की एजेंसी को आंसर शीट छापने के टेंडर दिए गए। पटना की एक एजेंसी के जरिए आउटसोर्स कर्मचारियों की नियुक्ति में भी आर्थिक अनियमितता की गई है।

 इसके अलावा अन्य मदों में भी पर्दे के पीछे से लूट का खुला खेल चल रहा है। यही नहीं, इस खेल में उनके साथ अतुल श्रीवास्तव नाम का एक व्यक्ति भी शामिल है। 

उसके दो मोबाइल नंबरों का हवाला देते हुए पत्र में कहा कि उन पर संबंधित व्यक्ति द्वारा राजभवन के नाम भुगतान के लिए खासा दबाव बनाया जा रहा है।

 बीते सप्ताह स्पेशल विजिलेंस यूनिट (SVU) ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के गृह जिले गोरखपुर से लेकर गया में सरकारी घर से करोड़ों रुपए कैश बरामद की थी। फिलहाल इस मामले में जांच चल रही है। करीब 8 महीने पहले सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के खिलाफ जांच की थी और उन्हें क्लीनचीट दे दी थी, लेकिन मामला नहीं थमा तो अब SVU को सौंप दिया गया। 

Bihar

Nov 24 2021, 11:37

मगध यूनिवर्सिटी के विसी को वित्तीय अनियमितता मामले में जिसने दिया क्लीन चिट अब उन्हीं पर लगे गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप

  




पटना के मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय के वर्तमान VC प्रोफेसर कुद्दुस ने पूर्व प्रभारी VC प्रोफेसर सुरेंद्र प्रसाद सिंह पर लूट-खसोट करने का लगाया बड़ा आरोप

  



बिहार में मगध यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (VC) डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद के मामले में जांच  चल ही रही है। इधर, एक और यूनिवर्सिटी में लूट का मामला सामने आया है। इस बार आरोप उस शख्स पर लगा है, जिन्होंने राजेंद्र प्रसाद की जांच की थी और उन्हें क्लीनचीट दे दी थी।

ताजा मामला पटना के मौलाना मजहरुल हक अरबी फारसी विश्वविद्यालय का है। यहां के वर्तमान VC प्रोफेसर कुद्दुस ने पूर्व प्रभारी VC प्रोफेसर सुरेंद्र प्रसाद सिंह पर लूट-खसोट करने का बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने इस लेकर CM नीतीश कुमार को लेटर लिखा है। सुरेंद्र प्रसाद सिंह फिलहाल ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी (LNMU) के VC हैं। LNMU के VC रहते सुरेंद्र प्रसाद सिंह को राजभवन से बेस्ट VC के अवॉर्ड से सम्मानित किया जाना था। लेकिन इसके पहले ही उन पर संगीन आरोप लग गए हैं।
प्रोफेसर कुद्दुस ने पत्र में कहा है कि उन्हें 19 अगस्त 2021 को यूनिवर्सिटी में वाइस चांसलर के तौर पर जॉइन करना था। वो उस दिन जॉइन करने पहुंचे थे। लेकिन रजिस्ट्रार डॉक्टर मो हबीबुर रहमान ने अज्ञात कारणों से उन्हें जॉइन करने में 23 अगस्त तक की देरी कराई।

इस बीच ही सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कई फैसले किए, जिसमें लाखों रुपए की अनियमितता हुई। दोगुने दामों में लखनऊ की एजेंसी को आंसर शीट छापने के टेंडर दिए गए। पटना की एक एजेंसी के जरिए आउटसोर्स कर्मचारियों की नियुक्ति में भी आर्थिक अनियमितता की गई है। इसके अलावा अन्य मदों में भी पर्दे के पीछे से लूट का खुला खेल चल रहा है। यही नहीं, इस खेल में उनके साथ अतुल श्रीवास्तव नाम का एक व्यक्ति भी शामिल है। उसके दो मोबाइल नंबरों का हवाला देते हुए पत्र में कहा कि उन पर संबंधित व्यक्ति द्वारा राजभवन के नाम भुगतान के लिए खासा दबाव बनाया जा रहा है। बीते सप्ताह स्पेशल विजिलेंस यूनिट (SVU) ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के गृह जिले गोरखपुर से लेकर गया में सरकारी घर से करोड़ों रुपए कैश बरामद की थी। फिलहाल इस मामले में जांच चल रही है। करीब 8 महीने पहले सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के खिलाफ जांच की थी और उन्हें क्लीनचीट दे दी थी, लेकिन मामला नहीं थमा तो अब SVU को सौंप दिया गया। 

Bihar

Nov 24 2021, 10:42

बिहार कैबिनेट की बैठक में 22 प्रस्तावों पर लगी मुहर, अतिथि शिक्षकों के मानदेय में बढ़ोतरी के साथ-साथ इन प्रस्तावों को दी गई मंजूरी

  



डेस्क : मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक में 22 महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।  इसके तहत बिहटा के कन्हौली में नया बस स्टैंड बनाने की स्वीकृति दी गई। जिसका नाम पाटली बस स्टैंड होगा। इसके निर्माण के लिए 50 एकड़ भूमि अधिग्रहण करने के लिए 217 करोड़ 46 लाख की स्वीकृति भी कैबिनेट ने दे दी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में इसकी मंजूरी दी गई।

  

पटना और बिहटा के बीच नया बस स्टैंड बनाने से सबसे अधिक लाभ यूपी, रोहतास, कैमूर, बक्सर और भोजपुर से आने वाले वाहनों को बस स्टैंड में ही रोकने का है। इसके अलावा रिंग रोड पर चलने वाले वाहनों के लिए एक नया बस स्टैंड मिल जाएगा। यह बस स्टैंड बिहटा एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन के करीब होगा। रेलवे और हवाई जहाज से सफर करने वालों को बस स्टैंड आना आसान हो जाएगा।

पेट्रोल-डीजल पर वैट की दर कम करने के पूर्व के निर्णय पर विधिवत स्वीकृति दी गई। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद चार नवंबर से पेट्रोल-डीजल पर वैट की दर घटाई गई थी। अब प्रति लीटर डीजल पर वैट की दर घटाकर 19 से 16.37 प्रतिशत या 12.33 रुपये, जो अधिक हो लागू रहेगा। पेट्रोल पर वैट की दर 26 से घटाकर 23.58 प्रतिशत या 16.65 रुपये जो अधिक हो लागू रहेगा।


राज्य के इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में अतिथि शिक्षक के रूप में सेवा देने वालों को अब महीने में अधिकतम 50 हजार मानदेय मिलेंगे। कैबिनेट ने इसकी स्वीकृति दे दी है। अब-तक इन्हें 35 हजार मानदेय मिलता था। ऐसे शिक्षकों की संख्या राज्य में 500 होगी। अब अतिथि तकनीकी सहायक और कर्मशाला अनुदेशकों को 25 हजार मानदेय मिलेंगे।

राज्य के सभी इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इलेक्ट्रॉनिक नॉलेज नेटवर्क की स्थापना की जाएगी। इसके अंतर्गत सभी कॉलेजों में वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध होगी। साथ ही सभी संस्थानों में दो-दो स्मार्ट क्लास की स्थापना भी की जाएगी। इसको लेकर 79 करोड़ 11 लाख की स्वीकृति भी कैबिनेट ने दी है।

वैशाली जिले के राघोपुर अंचल के सुकुमारपुर के 84 एकड़ रैयत और 230 एकड़ सरकारी तथा सारण के सोनपुर अंचल के सबलपुर और पहलेजा के 3212 एकड़ भूमि को पटना के अधीन कर दिया गया है। 3500 एकड़ भूमि का प्रशासनिक नियंत्रण अब पटना के अधीन होगा।

किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की सरकारी खरीद को लेकर राज्य सरकार और भारत सरकार के बीच पुनरीक्षित करार की स्वीकृति कैबिनेट ने दे दी है। इसी प्रकार न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान-चावल की सरकारी खरीद को लेकर भी उक्त करार होगा।

सहरसा के तत्कालीन मद्यनिषेध अधीक्षक अशरफ जमाल जो पहले से निलंबित हैं को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने के लिए इन्हें यह दंड दिया गया है। इनकी बर्खास्ती की स्वीकृति कैबिनेट ने दे दी।

बिहटा के कन्हौली में सड़क का जंक्शन बनाया जाएगा। यहां तीन ओर से फोरलेन सड़कें आकर मिलेंगी। पहली सड़क बिहटा-सरमेरा है, कन्हौली से ही इसकी शुरुआत हो रही है। दूसरी सड़क दानापुर से बिहटा तक बनने वाला एलिवेटेड रोड है। एलिवेटेड रोड कन्हौली के पास ही समाप्त होगा। तीसरी सड़क शेरपुर से कन्हौली फोरलेन है जो पटना रिंग रोड का हिस्सा है। तीनों सड़कें कन्हौली के पास मिल रही हैं।

गांधी संग्रहालय को कॉरपस फंड के लिए तीन करोड़ दिए जाएंगे।  राज्य के प्रमंडलीय, जिला केंद्रीय व अनुमंडलीय पुस्तकालयों के कुल 62 कर्मचारियों को अब सप्तम वेतनमान का मूल प्रारंभिक मिलेगा।  निबंधन अधिनियम 1908 के तहत शुल्क निर्धारण के लिए नया अनुच्छेद जोड़ने पर स्वीकृति। 

Bihar

Nov 24 2021, 10:20

बिहार कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब बिहार के निजी वाहन मालिकों को मिलेगी यह सुविधा

  


डेस्क : बिहार में भी निजी वाहन मालिकों को बीएच सीरीज (भारत सीरीज) की सुविधा दी जाएगी। इससे एक राज्य से दूसरे राज्य में स्थानांतरित होने वाले सरकारी और निजी क्षेत्र के पदाधिकारियों और कर्मचारियों को अपने निजी वाहनों के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र नहीं लेना होगा। 

  

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में कुल 22 प्रस्तावों पर मंजूरी मिली है।


बैठक के बाद कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि केंद्रीय मोटरवाहन नियमावली को बिहार में भी लागू करने पर कैबिनेट ने स्वीकृति दे दी है। बीएच सीरीज के तहत दो सालों के लिए संबंधित राज्य द्वारा कर लिया जाएगा, जिससे निजी वाहन बिना किसी दिक्कत के दूसरे राज्य में आ-जा सकेंगे। यह सुविधा नई गाड़ियों के लिए होगी। 

Bihar

Nov 24 2021, 10:15

बिहार पंचायत चुनाव : 8वें चरण की मतदान प्रक्रिया जारी, नक्सलियों के बंद के बावजूद नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में वोटरो में देखने को मिला रहा गजब का उत्साह

  


डेस्क : बिहार पंचायत चुनाव में 8वें चरण में आज 36 जिलों के 55 प्रखंडों की 822 पंचायतों में मतदान की प्रक्रिया सुबह सात बजे से शुरु हो गई है।  गया में नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने तीन दिन की बंदी का ऐलान किया था। उन्होंने इसे नहीं मानने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। बावजूद इसके आज बुधवार को मतदाताओं में काफी उत्साह दिखने को मिल रहा है। सुबह से ही लोग लाइन में खड़े हैं और अपने मत का प्रयोग कर रहे  है। 

  

राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक कुल 92 हजार 376 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस चरण में कुल 66 लाख 55 हजार 233 मतदाता मतदान करेंगे। इनमें 31 लाख 52 हजार 763 महिला मतदाता जबकि 35 लाख 2 हजार 260 पुरुष मतदाता हैं। इस चरण में वोटरों के लिए कुल 11 हजार 527 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

इस चरण में कुल पदों की संख्या 25 हजार 561 है। इनमें ग्राम पंचायत सदस्य पद की संख्या 11 हजार 173 है। ग्राम पंचायत मुखिया के 1135 पद, पंचायत समिति सदस्य के लिए 821, जिला परिषद सदस्य के 124 पद, ग्राम कचहरी सरपंच के 1135 पद और ग्राम कचहरी पंच के 11 हजार 173 पदों के लिए चुनाव होंगे। वहीं, 92 हजार 376 उम्मीदवारों में से 42 हजार 803 पुरुष और 49 हजार 573 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। 

Bihar

Nov 23 2021, 19:37

विपक्ष के बाद अब बीजेपी विधायक ने अपनी ही सरकार के शराबबंदी पर उठाए सवाल, कानून को वापस लेने की कर दी मांग

  


डेस्क : बिहार में शराबबंदी को लेकर विपक्ष पहले से ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर है। विपक्ष द्वारा बार-बार बिहार में शराबबंदी कानून को वापस लिये जाने की मांग की जा रही है। अब इस कड़ी में बीजेपी के एक विधायक भी शामिल हो गये है। 

  

अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले भाजपा विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने अपनी ही सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने बिहार में शराबबंदी कानून को वापस लेने की मांग की है। 

उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी कानून पुलिस सफल नहीं होने दे रही है। इसलिए सीएम नीतीश इस कानून को वापस ले। विधायक हरिभूषण ठाकूर ने कहा है कि शराबबंदी को पुलिस तंत्र सरकार की छवि खराब कर रही है। इससे हम लोगों को नुकासान उठना पड़ रहा है। 

बचौल ने कहा कि बिहार में शराबबंदी की वजह से 10 लाख लोग प्रभावित है। पुलिस ऐसे लोगों को गिरफ्तार करती है, जो दोषी नहीं है और जो दोषी है, पुलिस उसको छोड़ देती है। विधायक ने इस दौरान कानून व्यवस्था पर एक कविता के श्लोक के द्वारा भी सवाल खड़े किये। उन्होंने कहा कि 'जो रखवाला है, वही चोर बना हुआ है। जो रक्षक है, वही भक्षक बना हुआ है। इसलिए 15 साल बेमिसाल कार्यक्रम पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में शराबबंदी कानून को वापस ले।

विधायक ने कहा कि जिस तरह पीएम नरेंद्र मोदी ने जन दवाब में आकर बहुत सुंदर कृषि कानूनों को वापस लेना का ऐलान किया है। ऐसे ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में शराबबंदी कानून को वापस ले। 

Bihar

Nov 23 2021, 15:37

बिहार के पशुपालकों और युवाओं के लिए एनडीए सरकार खोलेगी नव द्वार : बीजेपी

  


डेस्क : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि बिहार के पशुपालकों और युवाओं के लिए एनडीए सरकार नव द्वार  खोलेगी।

  

150 प्रखंडों में 600 सुधा बूथ खोला जाएगा, एक बूथ खोलने में 5 लाख रुपए का आएगा। खर्च से दुग्ध उत्पादन, पशुपालन और रोजगार में  अप्रत्याशित वृद्धि होगी।

 बिहार में एनडीए सरकार के  समदर्शी नेतृत्व में प्रगति पथ पर गतिमान है अपना बिहार
बिहार के मखाना को वैश्विक पहचान, मखाना को जल्द ही जीआई टैग मिलेगा। जीआई टैग मिलने से निर्यात में तेजी और सुलभता आएगी।  विश्व के किसी कोने में बिहार के मखाने की अपनी पहचान होगी।

 राज्य में सड़कों का महाजाल बिछा कर कन्नेक्टिविटी को दुरुस्त करने का श्रेय एनडीए सरकार को जाता है। सुदूर ग्रामीण इलाकों से भी पटना पहुँचने में अब मात्र 5 घंटे लगते हैं।

बिहार मे एनडीए सरकार ने अपने कार्यकाल में कोशी नदी पर 6 नए पुलों का  निर्माण कर पूर्वी मिथिला और पश्चिमी मिथिला के बीच बेटी-रोटी के संबंध को पुनर्जागृत किया। 

वहीं गंडक नदी पर 5 नए पुलों का निर्माण कर बिहार को पूर्वांचल से जोड़ने का काम किया है। 

उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार के बीच कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए गंगा नदी पर 11 पुलों का निर्माण कराया। 

आज नदियों के उपर से जिस रफ्तार में गाड़ियां फर्राटे भड़तीं हैं उससे दोगुनी रफ्तार से बिहार आगे बढ़ रहा है।

श्री अरविन्द ने कहा है कि सामाजिक परिपेक्ष्य में लोगों के जीवन में सबसे बड़ी भूमिका स्वास्थय व्यवस्था की होती है। 

एनडीए सरकार ने इस व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए अस्पतालों के साथ-साथ 15 नए मेडिकल कॉलेज की स्थापना कराई है।

बिहार की जनता ने एक वो दौर भी देखा है जहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में सिर्फ जानवर घूमा करते थे। 

बड़ी बीमारियों का इलाज पूरे बिहार में कहीं संभव नहीं था और मजबूरन लोगों को राज्य के बाहर इलाज कराने के लिए जाना पड़ता था। 

बिहार मे एनडीए सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान सवास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने में जिस तरह का काम किया है। जोकि अन्य राज्यों के लिए भी प्रेरणाश्रोत है।

 बिहार में एनडीए सरकार ने जहां एक तरफ प्रारंभिक शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने की कोशिश की, वहीं युवाओं को तकनीकी विकास के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने का अवसर दिया। 

राज्य में 44 पॉलिटेक्निक संस्थान की शुरुआत की। इस फैसले से युवाओं का कौशल विकास हुआ और वह सभीको  रोजगार प्राप्त करने के साथ-साथ रोजगार सृजन में भी अपनी भूमिका निभाने लगा हैं।
 
हर घर बिजली के बाद अब एनडीए सरकार किसान बंधुओं को बेहद ही सस्ते दर 65 पैसे प्रति यूनिट की दर से खेत पटवन के लिए उनके खेतों तक बिजली पहुंचा रही है। 

Bihar

Nov 23 2021, 14:49

बड़ी खबर : जमुई के खैरा प्रखंड की निवर्तमान सीडीपीओ ज्योति कुमारी के पटना स्थित घर पर छापेमारी, 10 ही साल की नौकरी में बन गई करोड़पति

  




डेस्क : अभी-अभी राजधानी पटना से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां निगरानी विभाग की टीम सीडीपीओ के घर पर छापेमारी कर रही है। 

  

आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजलेंस की टीम जमुई जिले के खैरा प्रखंड की निवर्तमान और पटना जिले के धनरुआ प्रखंड की वर्त्तमान सीडीपीओ ज्‍योति कुमारी के घर पर छापेमारी कर रही है। 

राजधानी पटना के आरपीएस मोड़ स्थित सीडीपीओ के आवास पर निगरानी का रेड जारी है। करोड़ों रुपये की संपत्ति का खुलासा हुआ है। 

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की सुबह पटना जिले के धनरूआ प्रखंड की सीडीपीओ ज्योति कुमारी के घर पर निगरानी विभाग ने छापा मारा है। आय से अधिक संपत्ति के मामले में छापेमारी की जा रही है। 

बताया जा रहा है कि श्रीमती कुमारी पर 22 नवंबर को विशेष निगरानी ने मामला दर्ज कराया था। न्यायालय से सर्च वारंट लेने के बाद पटना के आरपीएस मोड़ स्थित उनके आवास पर टीम छापेमारी कर रही है। 

स्पेशल विजिलेंस की मानें तो ज्योति कुमारी को सरकारी सेवा में आए करीब 10 साल हुए हैं , इसके बावजूद उन्होंने इतनी कम अवधि में करोड़ों रुपए का फ्लैट पटना के आरपीएस मोड़ पर खरीदा है और साथ ही चार से साढ़े 04 लाख नकद की भी बरामदगी हुई है। 

उल्लेखनीय है कि ज्योति कुमारी के पति पेशे से वकील हैं लेकिन स्पेशल विजिलेंस यूनिट की मानें तो उनके पास आय का कोई खास स्रोत नहीं है। इस स्थिति में ज्योति कुमारी इस पूरे मामले में फंसती नजर आ रही हैं।

 फिलहाल स्पेशल विजिलेंस यूनिट की टीम छापेमारी के दौरान ज्योति कुमारी से पूछताछ करने में लगी है। 

विस्तृत समाचार की प्रतीक्षा की जा रही है। ज्योति कुमारी जमुई जिले के खैरा प्रखंड में भी दो टर्म सीडीपीओ रही हैं। वे यहां भी कई मामलों में विवादित रही हैं। बाद में उनका स्थानांतरण भागलपुर जिला के कहलगांव प्रखंड किया गया था। 

श्रीमती कुमारी वहां भी विवादास्पद रहीं। अब धनरुआ में उनकी कमाई का भंडाफोड़ हुआ है।