Jharkhand

2 hours and 46 min ago

प्रदेश भाजपा द्वारा जयंत सिन्हा को भेजे गए नोटिस का उन्होंने दिया जवाब,जवाब में क्या कहा इसे जानने के लिए पढ़िये पूरी खबर


झारखंड डेस्क
हजारीबाग : झारखंड के हजारीबाग सीट से सांसद जयंत सिन्हा ने राज्यसभा सांसद सह भाजपा के प्रदेश महासचिव आदित्य साहू के नोटिस  द्वारा भेजे गए नोटिश का  जवाब  दिया है.

उन्होंने पत्र के माध्यम से दिये गये जवाब में कहा है कि वे व्यक्तिगत कारणों से विदेश में थे. इस कारण मैंने पोस्टल वैलेट की मदद से अपना वोट डाला है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि वे क्यों नहीं पार्टी की चुनावी गतिविधियों में हिस्सा लिया. वे आदित्य साहू को लिखे गये पत्र में कहते हैं कि आप निश्चित रूप से इसके लिए मुझसे संपर्क कर सकते थे.

लेकिन राज्य से एक भी वरिष्ठ पार्टी पदाधिकारी या सांसद/विधायक इसके लिए मेरे पास नहीं पहुंचे. न ही किसी भी पार्टी के कार्यक्रम या रैली में शामिल होने के लिए मुझे आमंत्रित किया.

दरअसल दो दिन पहले झारखंड से राज्यसभा सांसद सह पार्टी के प्रदेश महासचिव आदित्य साहू ने जयंत सिन्हा को शो-कॉज नोटिस जारी किया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि जब मनीष जयसवाल को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया तब से आप संगठन के कार्यों या चुनाव प्रचार में रूचि नहीं दिखा रहे हैं. यहां तक कि आपने वोट तक नहीं डाला. आपके इस आचरण से पार्टी की छवि धूमिल हुई. इसके लिए उन्हें दो दिन के अंदर में जवाब देने को कहा गया था.

Jharkhand

6 hours ago

टेंडर कमीशन घोटाला में गिरफ्तार मंत्री आलमगीर आलम की रिमांड 5 दिन के सुख बढ़ायी गयी,ईडी करेगी

पूछताछ,आईएएस अधिकारी मनीष रंजन इस भी भेजा गया समन* झारखंड डेस्क टेंडर कमीशन घोटाला में गिरफ्तार मंत्री आलमगीर आलम से ईडी और पांच दिनों तक पूछताछ करेगी। रिमांड अवधि ख़त्म होने पर मंत्री आलमगीर आलम को 22 मई को ईडी ने विशेष अदालत के समक्ष पेश किया। रिमांड अवधि बढ़ाने का आग्रह किया। ईडी के विशेष लोक अभियोजक शिव कुमार ने ईडी के विशेष न्यायाधीश पीके शर्मा की अदालत से आलमगीर आलम को सात दिनों की रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की अनुमति मांगी। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने ईडी को फिर से पूछताछ के लिए पांच दिनों की रिमांड की मंजूरी दी। उधर, आईएएस अधिकारी मनीष रंजन को भी ईडी ने टेंडर कमीशन घोटाला मामले में समन किया है। उन्हें ईडी कार्यालय में 24 मई को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। ईडी को जो दस्तावेज मिले हैं, उसमें किसी मनीष रंजन का भी जिक्र था। मनीष रंजन पहले ग्रामीण विकास विभाग में सचिव रह चुके हैं। वर्तमान में मनीष रंजन भू-राजस्व विभाग में है।

Jharkhand

8 hours ago

अखिल भारतीय धानुक उत्थान महासभा के धनबाद जिला इकाई ने अपना समर्थन भाजपा के प्रति जताया,


धनबाद:/अखिल भारतीय धानुक उत्थान महासभा धनबाद जिला की ओर से धनबाद से भाजपा प्रत्याशी ढुल्लू महतो एवं गिरिडीह प्रत्याशी चंद्र प्रकाश चौधरी को अपना समर्थन दिया है पक्ष तथा समाज के लोगों से अपील किया है कि एनडीए के पक्ष में मतदान करे।

 इस मौके पर बुधवार को धनबाद लोकसभा के प्रत्याशी ढुल्लू महतो के बड़े भाई शरद महतो से  धानूक उत्थान महासभा धनबाद जिला के अध्यक्ष दिनेश दिवान के नेतृत्व में मिलकर अपना समर्थन जताया है।

इस अवसर पर ढुल्लू महतो के भाई शरद महतो तो धानुक समाज के प्रतिनिधि को आश्वास्त किया कि आने वाले समय में जिस तरह से आप लोगो ने ढुल्लू महतो के प्रति अपनी आस्था जताया है इस तरह हम भी आप के समाज के लोगो के लिए सुख दुख में खड़े रहेंगे ।

मालूम हो कि धनबाद जिला में धानुक जाति की आबादी लगभग 45000 की है जो भाजपा और नरेन्द्र मोदी के प्रति अपना विश्वास जताया है ।इस मौके पर धनबाद जिला धानुका उत्थान महासंघ जिला अध्यक्ष श्री दिनेश दीवान वरिष्ठ नेता हरभजन महतो प्रेम शंकर मंडल उचित महतो गोविंद रावत शीशम रावत प्रमोद मंडल सकलदेव राय महादेव रावत साधु रावत कामेश्वर मंडल नुनु रावत रूपेश कुमार रणजीत सिंह बबलू मंडल सरवन मंडल नेपाली मंडल पिंटू मंडल प्रभु मंडल मोहन मंडल राजेश मंडल गुड्डा मंडल पिंटू मंडल सैकड़ो धानुक समाज के लोग उपस्थित थे।

Jharkhand

8 hours ago

भाजपा मुट्ठी भर पुंजीपतियों के लिए कर रही है काम : चंपाई सोरेन

झा.डेस्क

धनबाद के कतरास स्थित सोनारडीह स्थित साउथ गोविंदपुर निमतल्ला मैदान में इंडिया गठबंधन की आयोजित सभा को संबोधित करते हुए झारखंड के मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने कहा कि भाजपा की सरकार मुट्ठी भर पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है।

देश में बढ़ती महंगाई व बेरोजगार लोगों के लिए कोई काम नहीं किया है। गैस सिलेंडर व पेट्रोल के दामों में काफी इजाफा हुआ है। झारखंड में उच्च शिक्षा के लिए विदेश तक पढ़ाई के लिए निशुल्क व्यवस्था की गई है।

 झारखंड में आउटसोर्सिंग बंद करवाकर बेरोजगारों को स्थाई नौकरी दी जाएगी। मौके पर इंडी गठबंधन की प्रत्याशी मथुरा महतो सहित अन्य नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।

Jharkhand

9 hours ago

हेमंत सोरेन को SC से नहीं मिली राहत : सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका कर दी खारिज ...

झारखंड डेस्क

पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को सर्वोच्च न्यायालय से राहत नहीं मिली. अदालत ने अंतरिम जमानत देने की उनकी याचिका खारिज कर दी है. इसके बाद उनके अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने याचिका वापस ले ली. हेमंत सोरेन की तरफ से निचली अदालत में इससे संबंधित याचिका पहले दायर की जा चुकी है. इस तथ्य को छिपाने की बात पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई.

बता दें कि लैंड स्कैम के जरिये मनी लॉन्ड्रिंग करने के आरोप में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली है. अदालत ने बुधवार को सुनवाई के बाद पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया है.

शीर्ष अदालत ने सुनवाई के दौरान कहा कि हम याचिका खारिज कर रहे हैं. जिस पर पैरवी कर रहे एडवोकेट कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें याचिका वापस लेने दें. शीर्ष अदालत ने बुधवार को सुनवाई के बाद पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया है. हेमंत सोरेन की स्पेशल लीव पिटीशन पर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस दीपांकर दत्ता और सतीश चंद्र शर्मा की वैकेशन बेंच पर सुनवाई हुई.

हेमंत सोरेन की अर्जी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने इस बात पर नाराजगी जाहिर कि याचिकाकर्ता ने कोर्ट के सामने सारे तथ्य नहीं रखे. कोर्ट ने यह जानना चाहा कि जब हेमंत सोरेन ने सुप्रीम कोर्ट का रूख किया था,तब कोर्ट को इस बात की जानकारी क्यों नहीं दी गयी कि जमानत की अर्जी पीएमएलए के स्पेशल कोर्ट के सामने पेंडिंग है.

 निचली अदालत पहले ही चार्जशीट पर संज्ञान ले चुकी है. कोर्ट ने कहा कि इससे यह लगता है कि हेमंत सोरेन की नीयत सही नहीं है. आप दो-दो जगह कानूनी राहत के विकल्प खोज रहे थे. अगर हमें पता होता कि आपकी अर्जी कहीं और ही पेंडिंग है,तो हम ऐसी सूरत में आपको याचिका को सुनवाई के लिए मंजूर ही नहीं करते. इस पर कपिल सिब्बल ने सफाई दी कि इसमें मेरे मुवक्किल की गलती नहीं है.

इससे पहले मंगलवार को भी हेमंत सोरेन की एसएलपी पर सुनवाई हुई थी. मंगलवार को करीब एक घंटे से ज्यादा बहस चली थी. बहस के दौरान हेमंत सोरेन की ओर से वरीय अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने अंतरिम जमानत दिये जाने के पक्ष में कई दलीलें पेश की थी. जिसका ईडी के अधिवक्ता ने पुरजोर विरोध किया था. इसके बाद शीर्ष अदालत ने अगली सुनवाई के लिए बुधवार 22 मई की तारीख मुकर्रर की थी. पिछली सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने ईडी को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया था.

पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने झारखंड हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. हेमंत सोरेन ने शीर्ष अदालत में एसएलपी दाखिल कर झारखंड हाईकोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी थी, जिसमें कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दी थी.

Jharkhand

9 hours ago

धनबाद लोकसभा चुनाव में कौन उबर पाएंगे भितरघात के आघात से,भाजपा और कांग्रेस दोनों की है यही स्थिति, पढ़िये पूरी खबर....!



झारखंड डेस्क

 धनबाद : लोकसभा में इस बार 25 उम्मीदवारों के बीच जंग छिड़ी हुई है. पर मुख्य मुकाबला बाघमारा के भाजपा विधायक ढुल्लू महतो और बेरमो के कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल सिंह की पत्नी अनुपमा सिंह के बीच है.

क्या है धनबाद में मतदाताओं का समीकरण...?


धनबाद एसटी, एससी, मुस्लिम और सवर्ण वोटर के दबदबे वाला लोकसभा सीट है. यहां तीन लाख से ज्यादा आदिवासी वोटर हैं। मुस्लिम समुदाय की आबादी भी कम नहीं है. जबकि एससी और सवर्ण मतदाताओं की तादाद दो-दो लाख के करीब है. 2019 के लोकसभा के बाद हुए विधानसभा चुनाव में धनबाद की छह में से पांच विधानसभा सीट पर भाजपा ने कब्जा कर लिया था. 22 लाख वोटर के साथ झारखंड की सबसे बड़ी धनबाद लोकसभा के बोकारो विधानसभा में सबसे ज्यादा 5.6 लाख वोटर हैं. दूसरे नंबर पर धनबाद में 4.4 लाख और निरसा और सिंदरी में 3-3 लाख वोटर हैं. यहां नौकरी और व्यवसाय के लिए बिहार, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश से आकर बसे 60-65 फीसदी शहरी वोटर ही हमेशा प्रभावी होते हैं. जाहिर है बोकारो के साथ-साथ धनबाद, निरसा और सिंदरी में बढ़त लेने वाले उम्मीदवार को ही धनबाद लोकसभा में जीत मिलती रही है.

पिछले एक दशक से धनबाद हैभाजपा का गढ़


मजदूर बहुल धनबादमें पहले मजदूर नेताओं की ही चलती थी. कोयला मजदूरों के प्रचंड समर्थन की बदौलत तीन बार सांसद रहे एके रॉय, राम नारायण शर्मा, शंकर दयाल सिंह और चंद्रशेखर दुबे जैसे मजदूर नेता धनबाद से संसद पहुंचे थे. पर भाजपा के मजबूत होते ही मजदूर नेताओं का बोलबाला खत्म हो गया. धनबाद से भाजपा के टिकट पर चार बार सांसद बनने वालीं रीता वर्मा और तीन बार सांसद रहे पीएन सिंह इसके उदाहरण हैं और अब धनबाद भाजपा के लिए सबसे सेफ सीट बन गई है. धनबाद में पिछले आठ बार हुए लोकसभा चुनाव में से सात बार भाजपा की जीत हुई.

2014 के चुनाव में भाजपा को दो लाख 93 हजार और 2019 में 4 लाख 86 हजार वोटों के बड़े अंतर से जीत मिली थी. पर यहां से जीत की हैट्रिक लगानेवाले पीएन सिंह का टिकट इस बार कट गया. जाहिर है सवर्ण उम्मीदवारों के दबदबे वाले धनबाद लोकसभा में इस बार भाजपा ने पुराने समीकरण को नजरअंदाज कर कुर्मी कार्ड आजमाया. 

धनबाद से ढुल्लू महतो और गिरिडीह से सहयोगी सीपी चौधरी की उम्मीदवारी के जरिए भाजपा ने दूसरी सीटों पर भी कुर्मी वोटर को गोलबंद करने की कोशिश 

की. भाजपा की ये रणनीति कितनी कारगर रही. ये रिजल्ट से ही पता चलेगा.

धनबाद को है मोदी मैजिक पर भरोसा


धनबाद लोकसभा से इस बार भाजपा उम्मीदवार ढुल्लू महतो ने 2019 में भी गिरिडीह लोकसभा से टिकट के लिए जोर लगाया था. पर तब सीट बंटवारे में गिरिडीह सीट आजसू के हिस्से में चली गई थी. 2019 में लोकसभा के बाद हुए विधानसभा चुनाव में ढुल्लू महतो बाघमारा से महज 824 वोट से जीते. 

लेकिन वो जिस बाघमारा सीट से विधायक हैं, वो गिरिडीह संसदीय सीट में आती है. जाहिर है वो इस बार के चुनाव में अपने विधानसभा के वोट से दूर रहेंगे. साथ ही धनबाद से उन्हें प्रत्याशी बनाने पर भाजपा का एक तबका खासा नाराज है. 

उनकी हालिया बयानबाजी ने उस नाराजगी में आग में घी का काम किया.धनबाद के भाजपा विधायक राज सिन्हा के वायरल बयान से पार्टी के अंदरखाने व्याप्त नाराजगी भी खुलकर सामने आ गई. हालांकि इस बयान को लेकर भाजपा ने राज सिन्हा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. 

अपनों के निशाने पर आए ढुल्लू महतो के सियासी दुश्मन भी उन पर वार पर वार किए जा रहे हैं. ढुल्लू महतो पर दर्ज केस का पिटारा खोल कर बैठे जमशेदपुर के निर्दलीय विधायक सरयू राय ने तो उनके खिलाफ लोकसभा चुनाव तक लड़ने का ऐलान कर दिया था. पर कांग्रेस के समर्थन मांगने पर वो पीछे हट गए. वहीं निवर्तमान सांसद पीएन सिंह का टिकट कटने से राजपूत समाज भी नाराज हो गया. ऐसे में अपनों और विरोधियों से चौतरफा घिरे ढुल्लू महतो को पार्टी की छवि और मोदी फैक्टर से बड़ी आस है.

कांग्रेस भी भितरघात से परेशान


धनबाद लोकसभा में भाजपा के साथ कांग्रेस को भी भितरघात का खतरा है. दरअसल, कई दिग्गज कांग्रेस नेता धनबाद से टिकट की आस में थे. पर टिकट मिला बेरमो के कांग्रेस विधायक जयमंगल सिंह की पत्नी अनुपमा सिंह को. वो पहली बार घर की दहलीज लांघ कर लोकसभा का चुनाव लड़ रही हैं.

 इससे नाराज धनबाद के पूर्व कांग्रेस सांसद और मजदूर नेता चंद्रशेखर दुबे मुखर हो गए और इंडिया गठबंधन की हार की भविष्यवाणी तक कर दी. पर झरिया की कांग्रेस विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह और बाघमारा के पूर्व विधायक जलेश्वर महतो के साथ-साथ सिंह मेंशन के युवराज मनीष सिंह जैसे कई नेता अनुपमा सिंह के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. 

जेएमएम और आरजेडी भी समर्थन दे रही है. तो सरयू राय के पीछे हटने से सवर्ण वोटर में बिखराव का खतरा भी कम हो गया है. भाजपा से नाराज धनबाद के राजपूत और वैश्य मतदाताओं का भी कांग्रेस को साथ मिलता दिख रहा है. पर पिछड़ी जातियों को साधना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती है.

ऐसे हालात में इस बार टक्कर दिलचस्प हो गया है।कांग्रेस और भाजपा दोनों की स्थिति बराबर है।और दोनों अपने जीत की दावा कर रहे हैं। अब देखिये पलड़ा किसका है भारी और कौन जीत रहा है यह सीट इसका खुलासा होगा 4 जून को।

Jharkhand

8 hours ago

धनबाद में एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ढुल्लू महतो के लिए मांगा वोट,कहा झारखंड में मची है लूट,यह देखकर मन हो जाता है व्यथित

झारखंड डेस्क

धनबाद : 25 मई को धनबाद लोकसभा सीट के लिए मतदान हो रहा है। ऐसे में सभी पार्टियों के स्टार प्रचारकों का धनबाद लोकसभा क्षेत्र में आना जाना लगा हुआ है। इसी क्रम में बुधवार मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भाजपा प्रत्याशी ढुल्लू महतो के पक्ष में चुनाव प्रचार करने धनबाद पहुंचे। इस दौरान उन्होंने झरिया स्थित जियलगोड़ा मैदान में एक जनसभा को संबोधित किया।इस दौरान उन्होंने जेएमएम, कांग्रेस, आरजेडी समेत पूरे इंडि गठबंधन पर जमकर निशाना साधा।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मुझे कोयलांचल की धरती पर आने का सौभाग्य मिला, लेकिन आज मन बहुत दुखी है, मेरा मन व्यथित है, जिस तरह से झारखंड को लूटा गया है, उससे मन गुस्से से भर जाता है। इन इंडी गठबंधन वालों ने जिस तरह से कोयला लूटा, बालू लूटा, पत्थर लूटा, पहाड़ का पहाड़ लूट लिया, जमीन लूटी, सरकारी योजनाओं का पैसा लूटा वो असहनीय है, लेकिन अब ऐसे भ्रष्टाचारी या तो जेल में है या इनके जेल जाने की तैयारी है। 

उन्होंने कहा कि जनता इन्हें जवाब देगी। झारखंड की जनता के मन मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति प्यार, श्रद्धा और विश्वास है। इस बार झारखंड की सभी सीटें एनडीए गठबंधन जीत रही है।

उन्होंने कहा कि इन इंडी गठबंधन वालो के विधायक, सांसद, मंत्री सभी लूटने में लगे है। 

इनके सांसद-विधायक के यहाँ से करोड़ रुपये मिलते है। इतना ही नही इनका मुख्यमंत्री खुद सेन

 की जमीन लूटने का पापी है और यही वजह है कि वो मुख्यमंत्री आज जेल की सलाखों के पीछे है।

उन्होंने कहा कि ये इंडी गठबंधन वाले चोर-चोर मौसेरे भाई है। पीएम नरेंद्र मोदी गरीबों के लिए पैसा भेजते है और ये जेएमएम, कांग्रेस, आरजेडी इंडी गठबंधन वाले अपने घरों में उन पैसों का पहाड़ खड़ा कर देते है और बड़े ही बेशर्मी से चुनाव लड़ने आ जाते है। इन्हें तो चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए।

Jharkhand

May 22 2024, 08:09

सांसद बिद्युत महतो यह किया जनसम्पर्क ,मांगा जानता से वोट

सांसद बिद्युत महतो ने पोटका, कोवाली, आसनबनी, सुंदरनगर, घाघीडीह एवं बागबेड़ा के विभिन्न क्षेत्रों का किया दौरा, लोगों को मोदी सरकार और जमशेदपुर की उपलब्धि पर किया जागरूक, कहा- देश की समृद्धि और विकास को बढ़ाने के लिए मोदी सरकार जरूरी।

जमशेदपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर सांसद सह भाजपा प्रत्याशी बिद्युत बरण महतो का जमशेदपुर लोकसभा अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में तूफानी जनसंपर्क लगातार जारी है। मंगलवार को सांसद बिद्युत महतो ने पोटका विधानसभा अंतर्गत कई मंडलों में सघन दौरा कर लोगों से आशीर्वाद और समर्थन मांगा। बिद्युत महतो ने पोटका, आसनबनी, कोवाली, सुंदरनगर, घाघीडीह एवं बागबेड़ा के कई क्षेत्रों में मंडल अध्यक्ष एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के संग जनसंपर्क अभियान चलाकर आशीर्वाद और समर्थन मांगा। इस दौरान सांसद बिद्युत महतो, पूर्व विधायक मेनका सरदार समेत कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र के बुजुर्ग, युवा, महिलाओं, छात्राओं, दुकानदारों, मजदूरों के साथ समाज के अन्य वर्गों से मुलाक़ात कर भाजपा के पक्ष में समर्थन देने एवं भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की। इस दौरान कार्यकर्ताओं का उत्साह चरम पर रहा। भाजपा कार्यकर्ताओं ने 'भाजपा जिंदाबाद,' 'नरेंद्र मोदी एवं बिद्युत महतो जिंदाबाद' के साथ 'अबकी बार चार सौ पार' का नारे के साथ केंद्र की मोदी सरकार एवं बिद्युत महतो के उपलब्धियों के पत्रक भेंटकर 25 मई को ईवीएम क्रमांक 2 पर बटन दबाकर बिद्युत महतो को विजयी बनाने का आग्रह किया।

इस दौरान सांसद बिद्युत महतो ने लोगों से 25 मई को अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने और ईवीएम क्रम संख्या 2 पर बटन दबाकर भाजपा को समर्थन और आशीर्वाद देने की अपील की। उन्होंने कहा कि मोबाइल कनेक्टिविटी की पूर्वी सिंहभूम के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में घोर किल्लत थी।

 जिसके चलते यहां आम लोगों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना सहित अन्य योजना का लाभ नहीं मिल रहा था। उन्होंने लोकसभा में इस मामले को उठाया गया एवं संपूर्ण लोकसभा क्षेत्र में बीएसएनल का टावर लगाया गया। अब ग्रामीणों को मोबाइल कनेक्टिविटी की कोई दिक्कत नहीं है। वे सरकारी योजनाओं का लाभ आसानी से ले रहे है। कहा कि 10 वर्षों में ग्रामीण क्षेत्र के प्रमुख हाट बाजार एवं चौक-चौराहों पर लगभग 100 हाई मास्ट लाइट लगाये गये हैं। जिसका लाभ ग्रामीण, किसान, छोटे व्यापारी, सब्जी विक्रेता तथा राहगीर को मिल रहा है। जमशेदपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद के तौर पर अपने अब तक कार्यकाल में संसद में 1500 से भी अधिक सवाल उन्होंने किये। इसके साथ ही जिले में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 1,60,431 गैस कनेक्शन लाभुकों को प्रदान किया गया। 

पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के तहत पूर्वी सिंहभूम जिले में 1600 से अधिक गांवों में बिजली पहुंचायी गयी एवं लगभग 2 विद्युत सब- स्टेशनों का निर्माण जैसे कार्य शामिल हैं।

बिद्युत महतो ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार जो कहती है, उसे पूरा भी करती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने समाज के सभी वर्गों का ख्याल रखते हुए उनके समुचित विकास की चिंता की है। नरेंद्र मोदी जी ने देश को सुरक्षित बनाया, समृद्ध बनाया, दुनिया में देश का मान बढ़ा। देश के तीर्थ स्थलों एवं मंदिरों का जीर्णोद्धार किया। कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाकर मोदी ने कश्मीर को देश की मुख्यधारा में शामिल किया। मोदी सरकार ने नक्सलवाद और आतंकवाद को खत्म कर देश को सुरक्षित बनाया। मोदी सरकार ने 80 करोड़ जरूरतमंद लोगों को मुफ्त अनाज देकर उनके जीवन में खुशहाली लाकर उनकी जीवनशैली को ऊपर उठाने का भी काम किया है। जबकि कांग्रेस पार्टी ने 60 साल के लंबे शासन के बाद भी आज गरीबी दूर करने का नारा ही दे रही है। उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता ने झामुमो-कांग्रेस और राजद के झूठ और लूट वाली पॉलिटिक्स को देखा है। पिछले साढ़े चार साल में इन्होंने एक वादा भी पूरा नही किया है। जमशेदपुर की जनता ऐसे दलों पर दोबारा भरोसा कर अपना भविष्य खराब नही करेगी, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में मजबूत और विकासोन्मुख सरकार बनाएगी।

Jharkhand

May 21 2024, 13:11

edit msg


झारखंड डेस्क झारखंड में तीसरे और चौथे चरण में होने वाले चुनावों को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी रांची और गोड्डा में एक ही दिन जनसभा को संबोधित करेंगी। कांग्रेस की ओर से बताया गया कि 22 मई को पहले गोड्डा में प्रियंका की सभा होगी और फिर इसके बाद रांची में वह जनसभा को संबोधित करेंगीं। कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप यादव के पक्ष में गोड्डा के मेला ग्राउंड में दिन के 10:30 बजे सभा का आयोजन किया गया है। इसी दिन रांची के लोवाडीह, नामकुम स्थित हाई टेंशन मैदान में दोपहर एक बजे आमसभा का आयोजन प्रत्याशी यशस्विनी सहाय के पक्ष में किया गया है। इस जनसभा को प्रियंका गांधी के अलावा प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम अहमद मीर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर भी संबोधित करेंगे। इन् दोनों कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री चंपई सोरेन और झारखंड मुक्ति मोर्चा की स्टार प्रचारक कल्पना सोरेन भी संबोधित करेंगी। कार्यक्रम को सफल बनाने की तैयारी में जुटे कार्यकर्ता-नेता कांग्रेस प्रवक्ता सोनल शांति ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि दोनों कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए प्रदेश के सभी मंत्रियों, विधायकों के साथ-साथ लोकसभा कोआर्डिनेटरों, एआइसीसी सदस्यों, संबंधित प्रत्याशियों के अलावा जिला कांग्रेस कमेटी के प्रभारी, जिला के प्रदेश पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष, अग्रणी संगठन मोर्चा एवं विभाग के अध्यक्ष/चेयरमैन को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है। कार्यक्रम की सफलता हेतु प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम अहमद मीर एवं अध्यक्ष राजेश ठाकुर देवघर-गोड्डा के कार्यकर्ताओं से मिलकर कार्यक्रम की तैयारी की समीक्षा करेंगे। इसी क्रम में आम चुनाव में इंडी गठबंधन के उम्मीदवारों के लिए मतदान करने की अपील करेंगे। दोनों क्षेत्रों में कांग्रेस के न्याय पत्र और गारंटियों को जन-जन तक पहुंचाने का निर्देश दिया गया है।

Jharkhand

May 21 2024, 10:12

चुनाव प्रक्रिया पर सूक्ष्म नजर रखेंगे माइक्रो ऑब्जर्वर : सामान्य प्रेक्षक

झा. डेस्क
धनबाद :सामान्य प्रेक्षक श्री के. थवसीलन ने आज न्यू टाउन हॉल में लोकसभा चुनाव के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए मॉक पोल से लेकर मतदान संपन्न होने के बाद मतदान सामग्री रिसीविंग सेंटर में जमा करने तक, माइक्रो ऑब्जर्वरों को उनके 18 दायित्व पर दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी माइक्रो आब्जर्वर चुनाव प्रक्रिया पर सुक्ष्म नजर रखेंगे। मतदान संपन्न होने के बाद कृषि बाजार स्थित रिसीविंग सेंटर में सभी रिपोर्ट सहित चुनाव के दौरान हर गतिविधि की जानकारी उनको देंगे।


मतदान केंद्रों में प्रत्याशी के एजेंट की मौजूदगी में समय से मॉक पोल करेंगे। मॉक पोल के बाद कंट्रोल यूनिट से मॉक पोल डाटा को क्लियर कर, वीवीपैट से सभी स्लिप निकाल कर ब्लैक लिफाफे में सीलबंद कर, ईवीएम को जीरो पर सेट करेंगे। उन्होंने कहा कि हर मतदान केंद्र से वेब कास्टिंग की जाएगी। इसकी सतत निगरानी की जाएगी। इसलिए सभी माइक्रो ऑब्जर्वर एवं पोलिंग पदाधिकारी अपने दायित्व का सुचारू रूप से निर्वाहन करें। आयोग के निर्देशानुसार समय पर मतदान शुरू कराए।


बूथ पर पानी, बिजली, शौचालय, शेड सहित अन्य बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित करें। संध्या 5:00 बजे के बाद जितने भी मतदाता लाइन में लगे होंगे उन्हें टोकन देकर मतदान कराए। इसके अलावा उन्होंने ईवीएम व वीवीपैट सील करने, डिस्पैच सेंटर में पोस्टल बैलट से अपने मताधिकार का प्रयोग करने, बूथ में वोटर को मोबाइल फोन लेकर प्रवेश नहीं करने देने सहित अन्य बिंदुओं पर दिशा निर्देश दिए। इस दौरान उप विकास आयुक्त श्री सादात अनवर, डीसीएलआर श्री संतोष गुप्ता, डीटीओ श्री दिवाकर सी द्विवेदी ने भी विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। वहीं मास्टर ट्रेनर श्री दिलीप कुमार कर्ण, श्री संजय कुमार व श्री राजकुमार वर्मा ने विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षण दिया।