Bihar

Nov 23 2021, 14:43

बड़ी खबर : लालू प्रसाद को सीबीआई की विशेष अदालत से मिली बड़ी राहत, कोर्ट ने उनकी इस मांग को किया मंजूर

  


डेस्क : भागलपुर और बांका कोषागार से 46 लाख के अवैध निकासी के मामले में आरोपी बने लालू प्रसाद आज पटना के सीबीआई की विशेष अदालत MP-MLA कोर्ट में पेश हुए।

  

जहां महज कुछ देर ही चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने अगली तारीख 30 नवंबर मुकर्रर कर दी।

  

हालांकि इस दौरान कोर्ट ने लालू प्रसाद को एक बड़ी राहत दी। लालू प्रसाद ने कोर्ट से सशरीर पेशी से राहत देने की मांग की। इस पर कोर्ट राजी हो गया।

  

 बता दें बांका उप कोषागार से फर्जी विपत्र के सहारे 46 लाख रुपए की अवैध निकासी का मामला 1996 से चल रहा है। इसमें शुरू में तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव के अलावा 44 आरोपी थे। फिलहाल 28 लोगों पर केस चल रहा है। आधा दर्जन आरोपियों की मौत हो चुकी है। इसकी सूचना कोर्ट को दी गई है।

  

इससे पहले कोर्ट में पेशी के दौरान अपना पक्ष रखते हुए राजद सुप्रीमो ने कहा, "हुजूर... मैं अक्सर बीमार रहता हूं। ऐसे में मुझे पेश होने से राहत दीजिए। मेरे वकील इस मामले को देखेंगे।' उनकी इस मांग पर कोर्ट ने कहा, "ठीक है अब से आप अपने वकील को तारीख पर भेज दीजिएगा।' इतनी सुनवाई के बाद केस की अगली तारीख 30 नवंबर तय की गई। 

गौरतलब हो कि इस केस में पटना के स्पेशल जज प्रजेश कुमार की अदालत ने लालू सहित 28 आरोपियों को सशरीर उपस्थित होने का आदेश दिया था। इसके बाद RJD सुप्रीमो सोमवार शाम दिल्ली से पटना आए हैं। 

Bihar

Nov 23 2021, 10:50

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज एवं अस्पताल और राजकीय तिब्बी कॉलेज एवं अस्पताल का किया निरीक्षण, किया यह एलान

  


डेस्क : बिहार के राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज एवं अस्पताल तथा राजकीय तिब्बी कॉलेज एवं अस्पताल का विस्तार किया जाएगा। इसको लेकर क्या-क्या नये कार्य किये जाएंगे, इसकी विधिवत जानकारी जल्द दी जाएगी। कैबिनेट से जल्द ही स्वीकृति दी जाएगी। यह एलान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया है। 

  

उन्होंने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि इन संस्थानों को विशिष्ट एवं बेहतर बनाने के लिए योजना बनाकर काम करें। भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए इस संस्थान को और महत्वपूर्ण बनाना है।

  


मुख्यमंत्री ने सोमवार को इन संस्थानों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि यहां विशेषज्ञों को बुलाकर उक्त चिकित्सा पद्घति को और बेहतर बनाने के लिए काम करें। ताकि लोगों के इलाज में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो। बेड, डॉक्टर व चिकित्साकर्मी की संख्या बढ़ाने की जरूरत हो तो इसे बढ़ाएं। साथ ही अन्य जरूरी सुविधाओं के लिए सभी इंतजाम करें। रिसर्च विंग को भी प्रोत्साहित करें। आयुर्वेद की जड़ी बूटियों का नाम संस्कृत और हिन्दी में ही रखें, ताकि लोगों को इसकी जानकारी में सहूलियत हो।

  


मुख्यमंत्री ने कहा कि पटना के अलावा मुजफ्फरपुर, दरभंगा और बेगूसराय की स्थिति के बारे में भी हमलोगों ने समीक्षा कर ली है, उसका भी विस्तार करेंगे। राजगीर में आयुर्वेदिक औषधियों के पौधे को विशेषज्ञों द्वारा चिह्नित कर उन्हें सुरक्षित रखने को भी कहा है। कहा कि लोग इसका दवा के रूप में उपयोग करते हैं। 

  

उन्होंने यह भी कहा कि हमलोग एलोपैथिक के साथ-साथ आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक व यूनानी चिकित्सा पद्घति को बेहतर बनाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं, ताकि लोगों को इलाज में सहूलियत हो। 

मौके पर स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से उक्त दोनों संस्थानों के शैक्षणिक, आधारभूत संरचना और वहां दी जा रही चिकित्सिकीय सेवाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। 

Bihar

Nov 23 2021, 10:20

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती के  साथ पहुंचे पटना, आज पटना की सीबीआई अदालत में होंगे पेश

  


डेस्क : राजद सुप्रीमो सोमवार की देर शाम दिल्ली से पटना पहुंच गये। उनके साथ पूर्व सीएम व उनकी पत्नी रावड़ी देवी और बेटी मीसा भारती भी पटना आई हैं। वहीं लालू प्रसाद आज मंगलवार को चारा घोटाले के मामले में पटना की सीबीआई अदालत में पेश होंगे। 

  

पटना आने के बाद राजद प्रमुख लालू प्रसाद एयरपोर्ट से सीधे अपने बड़े पुत्र तेज प्रताप से मिलने उनके आवास पर गए। हालांकि वहां उनकी मुलाकात तेजप्रताप से नहीं हुई और वह वापस 10 सर्कुलर लौट गए। बताया जाता है कि तब तेजप्रताप यादव जिम में थे। बाद में उन्होंने राबड़ी देवी के आवास पर जाकर पिता से मुलाकात की।

  


वहीं पटना रवाना होने से पहले दिल्ली में पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान लालू प्रसाद ने बिहार में शराबबंदी को लेकर जमकर निशाना साधा। लालू प्रसाद ने कहा कि शराबबंदी लागू करने के समय हमने नीतीश कुमार से कहा था कि यह कैसे होगा लागू? एक तरफ बंगाल दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश है। उधर, एक तरफ नेपाल तो दूसरी तरफ झारखंड है। चारों तरफ से स्मगलिंग होगी। 

  

वहीं यह पूछने पर कि क्या शराबबंदी खत्म होनी चाहिए, कहा कि क्या करना है यह तो सरकार जाने, लेकिन अगर ईमानदारी से लागू नहीं कर सके तो हम तो खत्म करना ही चाहते थे। होटल में पुलिस की छापेमारी पर कहा कि यही हो रहा है नीतीश के राज में। जहरीली शराब पीकर लोग मर रहे हैं। शराबबंदी पूरी तरह फेल है। छापेमारी करने होटल में महिला के कमरे में पुलिस चली गई। इस तरह की चीजों से परहेज करना चाहिए। 

Bihar

Nov 22 2021, 15:22

सशक्त और आत्मनिर्भरता की दिशा में बढ़ते भारत के प्रयासों को मिल रही सफलता : बीजेपी

  



डेस्क : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि सशक्त और आत्मनिर्भरता की दिशा में बढ़ते भारत के प्रयासों को सफलता मिल रही है। भारत विश्व में इस्पात का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता राष्ट्र बन गया है । 

  

डिजिटल इंडिया ने भारतीय अर्थव्यवस्था को बदल दिया है।  डिजिटल लेनदेन का मूल्य 2016 में सिर्फ 69 अरब रुपये से बढ़कर 2020-21 में 41,306 अरब रुपये हो गया है।

  

 कुछ वर्षों पहले तक हम सरकारी खातों में लाखों करोड़ का हिसाब तो करते थे, लेकिन सच्चाई ये भी थी कि देश के करोड़ों परिवारों के पास अपना बैंक खाता तक नहीं था। देश में बुनियादी सुविधाएं लग्जरी होती थी, लेकिन आज ये परिस्थिति बदल रही है।

  

पहले की सरकारों में बैंकों के जो लाखों करोड़ रुपये फंसाए गए थे, उनमें से करीब 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक की रिकवरी की जा चुकी है।

  

जन धन खाते आज दुनिया के सामने फाइनेंसियल इंसुलेशन का बेहतरीन उदाहरण हैं।

 नवंबर के लिए मासिक कर हस्तांतरण को दोगुना करते हुए, मोदी सरकार राज्यों को 95,082 करोड़ रुपये प्रदान कर रही है।
 इससे आर्थिक विकास को और बढ़ावा मिलेगा और निजी निवेश को बढ़ावा मिलेगा।

 सड़क और पुल निर्माण के शेष कार्यों को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-1 और 2 एवं वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों के लिए सड़क संपर्क परियोजना को जारी रखने की केंद्रीय कैबिनेट ने स्वीकृति दी।  

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 6.77 लाख किमी से अधिक लंबी सड़कें बनाई जा चुकी हैं और 1.71 लाख से अधिक बसावटों को पक्की सड़कों से जोड़ा गया है।

 भारत में खुदरा बिक्री 2020 की तुलना में 34% और पूर्व-महामारी के स्तर की तुलना में 14% बढ़ी है, जो कोविड -19 महामारी के बाद आर्थिक प्रतिक्षेप में सकारात्मक प्रवृत्ति का संकेत है।

श्री अरविन्द  ने कहा है कि लंबे समय से भारत को दुनिया के सबसे बड़े हथियार खरीदार देशों में गिना जाता रहा है।
लेकिन आज देश का मंत्र है- "मेक इन इंडिया मेक फॉर वर्ल्ड"।
आज भारत अपनी सेनाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम कर रहा है।

 कनेक्टिविटी और इंटरनेट तक पहुंच को बढ़ावा देने के लिए, मोदी सरकार 6,466 करोड़ रुपये के खर्च से 7,827 गांवों को कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए तैयार है।

 मोदी सरकार द्वारा लास्ट माइल कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए कई योजनाओं के तहत अद्वितीय कार्य किया जा रहा है।
 इसके लिए 2021-22 से 2024-24 के बीच 1.12 लाख करोड़ रुपये खर्च करने का आवंटन किया गया है।

 पहले जिस शौचालय की बात करने में लोगों को झिझक होती थी,  वो आज देश की सोच का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत घरों में शौचालय पाकर लाभांवित परिवारों ने गरिमामय जीवन के लिए मा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति आभार जता रहे हैं।

 प्रधानमंत्री आवास योजना से अब देश के गरीबों और वंचितों के पक्के आवास का सपना हो रहा साकार। नवनिर्मित 2.12 करोड़ से अधिक आवासीय मकानों में 2.09 करोड़ से अधिक परिवारों को घर हुए आवंटित। 

 देश के छोटे किसानों की चुनौतियों को दूर करने के लिए, केंद्र की एनडीए सरकार ने बीज, बीमा, बाजार और बचत, इन सभी पर चौतरफा काम किया है। 

Bihar

Nov 22 2021, 11:30

*नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य व केन्द्र सरकार पर साधा निशाना, किया यह ट्वीट*

  


डेस्क : बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव प्रदेश की नीतीश और केन्द्र की मोदी सरकार पर लगातार हमलावार है। उन्होंने एकबार फिर प्रदेश की नीतीश सरकार पर रोजगार और केन्द्र की मोदी सरकार पर किसान आंदोलन को लेकर निशाना साधा है। 

  

उन्होंने अपने सोशल मीडिया के ट्वीटर पर प्रदेश की नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है 16 वर्षों की नीतीश-भाजपा सरकार युवाओं, छात्रों और शिक्षकों की समस्याओं को लेकर कतई गंभीर नहीं है। प्रदेश में ना नौकरी है,ना आईटी पार्क,ना उद्योग-धँधे,ना विकासोन्मुख कोई रोड मैप और विजन है। बिहार को इन्होंने बेरोजगारी का केंद्र और देश को मज़दूर सप्लाई करने वाला राज्य बना दिया है।

  

वहीं उन्होंने ट्वीट के माध्यम से केन्द्र से मांग की है कि आंदोलन के दौरान शहीद हुए किसानों के परिजनों को केंद्र सरकार 25 लाख की अनुग्रह राशि और एक परिजन को सरकारी नौकरी दे।  

Bihar

Nov 21 2021, 18:37

यदि आपके पास भी है दूसरे राज्यों से रजिस्ट्रेशन वाला वाहन, तो जल्द करवा ले बिहार में रजिस्ट्रेशन बरना पड़ जायेंगे लेने के देने 

  


डेस्क : अगर आपके वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर किसी दूसरे प्रदेश का है तो आपके लिए परेशानी वाली खबर है। झारखंड समेत अन्य राज्यों से निबंधित वाहनों का बिहार में अवैध रूप से स्थायी तौर पर परिचालन करने वाले वाहन मालिकों पर परिवहन विभाग द्वारा कार्रवाई की जाएगी।

  

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने इस संबंध में सभी डीटीओ, एमवीआई और ईएसआई को विशेष अभियान चलाकर कार्रवाई का निर्देश दिया है। वहीं बीते शनिवार को विशेष अभियान चला कर ऐसे वाहन चालकों पर कार्रवाई की गई। अभियान के तहत झारखंड समेत अन्य राज्यों के 21 वाहनों पर कार्रवाई की गई। 

  

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि टैक्स चोरी के उद्देश्य से एवं अन्य कारणों से वाहन मालिक लक्जरी और अन्य वाहनों का रजिस्ट्रेशन झारखंड से कराते हैं और चोरी छुपे स्थायी तौर पर बिहार में परिचालन करते हैं। यह मोटरवाहन अधिनियम का उल्लंघन है। इससे बिहार को राजस्व क्षति भी हो रहा है। 

  

परिवहन सचिव ने कहा है कि झारखंड और अन्य राज्यों में रजिस्ट्रेशन करा स्थायी रुप से बिहार में चलाने वाले वाहनों को अब बिहार का नंबर लेना पड़ेगा। बिहार का नंबर लेने के लिए किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। सभी जिला परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि वे आवेदन प्राप्त होने के सात दिनों के अंदर बिहार का नंबर प्रदान करें।

  


संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि झारखंड एवं अन्य राज्य के वास्तविक वाहन मालिक को इसके लिए घबड़ाने की जरूरत नहीं है। वो अपना पेट्रोल पंप रसीद, ड्राइविंग लाइसेंस, टोल प्लाजा के रसीद, आधार कार्ड, डीएल, या अन्य कोई प्रमाण पत्र दिखा कर झारखंड या अन्य राज्य से आने का प्रूफ दिखाएंगे तो उन्हें फाइन नहीं लगेगा। 


परिवहन विभाग को विभिन्न स्रोतों से यह सूचना मिली है कि अन्य राज्यों के निबंधित वाहन का अवैध परिचालन बिहार में किया जा रहा है। यहां के स्थायी निवासी आस-पास के राज्यों में अवैध रूप से वाहनों का निबंधन करवा रहे हैं और बिहार में वाहनों का परिचालन कर रहे हैं। गलत पते देकर रजिस्ट्रेशन कराने वाले वाहन मालिकों के प्रमाण पत्रों की भी जांच की जाएगी।


बता दें मोटरवाहन अधिनियम की धारा- 49 के अंतर्गत यह प्रावधान है कि अपने निवास स्थान में परिवर्तित स्थान पर उपयोग करते हैं तो अधिकतम 30 दिनों के अंदर वाहन स्वामी को परिवर्तित स्थल से संबंधित निबंधन प्राधिकार जिला परिवहन पदाधिकारी को वाहन उपयोग की सूचना देना अनिवार्य है। इसके बाद ही परिवर्तित क्षेत्र में वाहन का परिचालन वैध होगा। अगर ऐसा नहीं करते हैं तो वाहन का परिचालन अवैध होगा। 

Bihar

Nov 21 2021, 18:34

बड़ी खबर : बिहार के इस युवा चेहरा को बीजेपी में मिली बड़ी जिम्मेवारी, बनाये गये राष्ट्रीय मंत्री

  


डेस्क : बिहार के युवा राजनेता ऋतुराज सिन्हा को चुनाव के समय अमित शाह के नवरत्नों में शामिल किया गया था। अब उन्हें बीजेपी में और बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। उनको राष्ट्रीय मंत्री बनाया गया है। आज रविवार को देश के पांच नेताओं को भाजपा ने राष्ट्रीय प्रभार दिया है, जिसमें ऋतुराज का भी नाम शामिल है। 

  

2014 और 2019 लोकसभा चुनाव में अहम भूमिका निभा चुके सिन्हा भाजपा के अहम चुनावी रणनीतिकारों में शामिल हैं। इनके अलावा महाराष्ट्र के विनोद तावडे को राष्ट्रीय महामंत्री, झारखंड की आशा लाकड़ा को राष्ट्रीय सचिव, पश्चिम बंगाल के भारती घोष को राष्ट्रीय प्रवक्ता और शहजाद पुनावाला को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है।

  

ऋतुराज सिन्हा बीजेपी के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद आर.के सिन्हा के पुत्र है। इनके राजनीतिक सफर की अगर बात की जाए तो यह 2005 से राजनीति में सक्रिय है। इन्हें 2014 लोकसभा चुनाव में फ्रंट लाइन पर काम करते दिखे थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में इनको कैंपेन कमेटी में बड़ी भूमिका दी गई थी। 2015 में अमित शाह ने प्रचार अभियान समिति के सदस्य के तौर पर दायित्व सौंपा था।

  

2017 से 2020 के बीच नित्यानंद राय की प्रदेश कमेटी में बतौर प्रदेश पदाधिकारी भी काम कर चुके हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में नेशनल कैंपेन कमेटी के सदस्य बनाए गए। इस कमेटी में 8 सदस्य थे। जिसका नेतृत्व अरुण जेटली तब कर रहे थे।

  

ऋतुराज एक सफल उद्यमी भी हैं. ऐसे में अगर उनको बिहार का ग्लोबल बिहारी कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं मानी जाएगी। युवा उद्यमी के साथ-साथ ऋतुराज ने बड़े पैमाने पर बिहार के लोगों को रोजगार मुहैया कराने का भी काम किया है। सरकारी सेक्टर को अगर छोड़ दिया जाए तो निजी क्षेत्र में ऋतुराज बिहार में सबसे ज्यादा नौकरियां उपलब्ध कराने का रिकॉर्ड भी खुद के नाम रखते हैं। 

Bihar

Nov 21 2021, 18:32

बड़ी खबर : बिहार के इस युवा चेहरा को बीजेपी में मिली बड़ी जिम्मेवारी, बनाये गये राष्ट्रीय मंत्री

  


डेस्क : बिहार के युवा राजनेता ऋतुराज सिन्हा को चुनाव के समय अमित शाह के नवरत्नों में शामिल किया गया था। अब उन्हें बीजेपी में और बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। उनको राष्ट्रीय मंत्री बनाया गया है। आज रविवार को देश के पांच नेताओं को भाजपा ने राष्ट्रीय प्रभार दिया है, जिसमें ऋतुराज का भी नाम शामिल है। 

  

2014 और 2019 लोकसभा चुनाव में अहम भूमिका निभा चुके सिन्हा भाजपा के अहम चुनावी रणनीतिकारों में शामिल हैं। इनके अलावा महाराष्ट्र के विनोद तावडे को राष्ट्रीय महामंत्री, झारखंड की आशा लाकड़ा को राष्ट्रीय सचिव, पश्चिम बंगाल के भारती घोष को राष्ट्रीय प्रवक्ता और शहजाद पुनावाला को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है।

  

ऋतुराज सिन्हा बीजेपी के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद आर.के सिन्हा के पुत्र है। इनके राजनीतिक सफर की अगर बात की जाए तो यह 2005 से राजनीति में सक्रिय है। इन्हें 2014 लोकसभा चुनाव में फ्रंट लाइन पर काम करते दिखे थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में इनको कैंपेन कमेटी में बड़ी भूमिका दी गई थी। 2015 में अमित शाह ने प्रचार अभियान समिति के सदस्य के तौर पर दायित्व सौंपा था।

  

2017 से 2020 के बीच नित्यानंद राय की प्रदेश कमेटी में बतौर प्रदेश पदाधिकारी भी काम कर चुके हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में नेशनल कैंपेन कमेटी के सदस्य बनाए गए। इस कमेटी में 8 सदस्य थे। जिसका नेतृत्व अरुण जेटली तब कर रहे थे।

  

ऋतुराज एक सफल उद्यमी भी हैं. ऐसे में अगर उनको बिहार का ग्लोबल बिहारी कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं मानी जाएगी। युवा उद्यमी के साथ-साथ ऋतुराज ने बड़े पैमाने पर बिहार के लोगों को रोजगार मुहैया कराने का भी काम किया है। सरकारी सेक्टर को अगर छोड़ दिया जाए तो निजी क्षेत्र में ऋतुराज बिहार में सबसे ज्यादा नौकरियां उपलब्ध कराने का रिकॉर्ड भी खुद के नाम रखते हैं। 

Bihar

Nov 21 2021, 15:26

बीजेपी का नवजोत सिंह सिद्धू पर बड़ा हमला, कहा- सिद्धू ने पाकिस्तान में पवित्र धार्मिक यात्रा को भी अपने व्यवहार से अपमानित किया

  


डेस्क : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान में पवित्र धार्मिक यात्रा को भी अपने व्यवहार से अपमानित किया है।

  

पाकिस्तान में जाकर अपने हरकतों से पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने सेकुलरिज्म का अद्भुत नमूना अपने देश को अपमानित करके पेश किया है।

  

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धु को पाकिस्तान में जाकर जनरल बाजवा से गले मिलना, और इमरान खान का तारीफ करना  और अपने देश के शहीदों और सेनाओं को अपमान कर ठेस पहुंचाना क्या वोट की राजनीति और मोदी विरोध के लिए उचित है।

  

कांग्रेस पार्टी मोदी विरोध में क्या देश के दुश्मनों के गोद में बैठ जाएगी..?  कांग्रेस पार्टी इस बात का जवाब दें।

  

वैसे राहुल गांधी पहले भी चाइना के खेमे में जा चुके हैं।  बचा खुचा काम नवजोत सिंह सिद्धू जी ने  पाकिस्तान में अपने हरकतों से कर दिया है। ये लोग सेकुलरिज्म के सर्टिफिकेट बाटने वाले लोग हैं।

श्री अरविन्द ने कहा है कि धार्मिक यात्रा में जाकर अपने सबसे बड़े दुश्मन देश जिसके चलते हमारे अनेकों सेना के जवानों का शहीद हुए और आज हमारा देश के दुश्मन चाइना को जिसने भारत के खिलाफ हमले के लिए अपनी जमीन तक दे दी हो उस पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को बड़ा भाई बताना तारीफ करना।

उस देश के सबसे बड़े दुश्मन जनरल बाजवा, से गले मिलना और वहां बैठ कर के अपने ही देश के शीर्षस्थ नेताओं पर टिप्पणी और व्यंग करना  अपने देश के शहीद जवानों और सेना का अपमान है।

इसके लिए पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर कांग्रेस पार्टी करवाई करें, और देश की जनता से माफी मांगे। 

Bihar

Nov 21 2021, 11:11

राजधानी पटना में बढ़ रहा डेंगू का कहर, पटना के सरकारी-निजी अस्पतालों प्रतिदिन औसतन 100 से 125 पहुंच रहे हैं डेंगू संक्रमित मरीज

  


डेस्क ; राजधानी पटना से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां डेंगू प्रकोप ब़ढ़ता जा रहा है। संक्रमित में बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक शामिल हैं। सरकारी आंकड़े के अनुसार पटना में कुल संक्रमितों की संख्या 285 हो चुकी है। वहीं अगर सरकारी-निजी अस्पतालों व चिकित्सकों के क्लीनिकों में देखें तो यहां प्रतिदिन औसतन 100 से 125 डेंगू संक्रमित मरीज पहुंच रहे हैं। वहीं निजी जांच लैबों में भी बुखार पीड़ितों की जांच रिपोर्ट में लगभग एक चौथाई डेंगू पॉजिटिव आ रहे हैं। 

  

बांकीपुर अंचल का तो कोई भी हिस्सा इसके प्रकोप से अछूता नहीं बचा है। पटना सिटी से लेकर दानापुर-फुलवारीशरीफ, दीघा और जक्कनपुर-खेमनीचक में डेंगू का प्रकोप ज्यादा है। 

  

वहीं राजधानी के कंकड़बाग, पटना सिटी, राजेंद्रनगर, दीघा, इंद्रपुरी, पुनाईचक, राजेंद्रनगर, महेंद्रू, भिखना पहाड़़ी, जीएम रोड, नया टोला, कदमकुआं, चित्रगुप्त नगर, भागवत नगर, ट्रांसपोर्ट नगर, सरिस्ताबाद, बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी, भूतनाथ रोड, रामनगरी, शास्त्रीनगर, पटेलनगर, राजा बाजार, बुद्धा कॉलोनी समेत तीन दर्जन से अधिक मोहल्लों में डेंगू का प्रकोप फैला है। यहां के कई घरों में परिवार के कई सदस्य डेंगू संक्रमित पाए जा रहे हैं।