India

Jun 24 2024, 12:50

रूस के दागेस्तान में बड़ा आतंकी हमला, चर्च में पादरी का रेता गला,15 पुलिसकर्मियों समेत कई नागरिकों की मौत

#russia_dagestan_terrorist_attack_more_than_15_policeman_one_priest_and_civilians_killed

रूस के दक्षिणी प्रांत दागेस्तान में रविवार को हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मी, एक पादरी और कई नागरिक मारे गए हैं। प्रांत के गवर्नर सर्गेई मेलिकोव ने सोमवार सुबह एक बयान में जानकारी दी।दागिस्तान प्रांत के दो शहरों में हुए आतंकी हमले से रूस एक बार फिर थर्रा उठा। यहां छह बंदूकधारियों ने दो शहरों पर धावा बोल दिया। ये आतंकी धड़धड़ाते हुए दो ऑर्थोडॉक्स चर्च, एक आराधनालय और एक पुलिस चौकी में घुस गए और ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दीं।

इस हमले के बाद लोग खौफजदा हैं। रूस की सड़कों पर टैंक और स्पेशल फोर्स तैनात हैं। पिछले 9 घंटे से ऑपरेशन जारी है। दागिस्तान के दो शहरों डरबेंट और मखचकाला में हुए इस आतंकी हमले के बाद सोमवार, मंगलवार और बुधवार को शोक दिवस घोषित किया गया।

बताया जा रहा है कि आतंकियों के लिए एक साथ दो आर्थोडॉक्स चर्च पर हमला किया। चर्च में शाम की प्रार्थना के बाद आतंकी अंदर घुसे। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने ऑटोमैटिक हथियारों से चर्च में अंधाधुंध फायरिंग कर दी। आतंकियों ने 66 साल के पादरी की गला रेतकर हत्या कर दी। फादर निकोले पिछले 40 साल से चर्च में सेवा दे रहे थे। आतंकियों ने यहूदी प्रार्थना स्थल सिनेगॉग पर भी गोलियां बरसाईं।

रूसी मीडिया आउटलेट आरटी ने बताया है कि जवाबी कार्रवाई में 6 हमलावर मारे गए हैं। हमले क्षेत्रीय राजधानी माखचकाला और तटीय शहर डर्बेंट में हुए, जो एक दूसरे से 120 किमी की दूरी पर स्थित हैं।रूस की जांच कमेटी ने इसे आतंकवादी कृत्य बताते हुए कहा है कि उसने दागेस्तान में हमले की आपराधिक जांच शुरू कर दी है। दागेस्तान रूस का एक बड़ी मुस्लिम आबादी वाला प्रांत है, जो चेचन्या के पड़ोस में है।

रूस में हुए इन हमलों की किसी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है। हालांकि शक की सुई इस्लामिक स्टेट की तरफ जा रही है, क्योंकि करीब 3 महीने पहले इसी ने मॉस्को के पास एक कॉन्सर्ट हॉल पर हमला किया। उस हमले में 145 लोगों की मौत हो गई थी।

India

May 09 2024, 11:22

खालिस्तान आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू मामले में रूस की अमेरिका को दो टूक, कहा-बेबुनियाद आरोप लगाना भारत का अपमान

#gurpatwantsinghpannuncaserussiadismissesus_allegations

खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू को मारने की साजिश रचने वाले आरोपों पर रूस ने भारत को साथ दिया है। उसने पन्नू की हत्या के प्रयास की साजिश के मामले में भारत पर लगातार निराधार आरोप लगाने के लिए अमेरिका को आड़े हाथों लिया है। रूस के विदेश मंत्रालय ने भारत पर लगाए गए अमेरिका के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए आरोपों को खारिज कर दिया है।रूस ने कहा कि वाशिंगटन ने अब तक कोई विश्वसनीय जानकारी या सबूत नहीं दिया है, जिससे यह साबित हो सके कि गुरपतवंत सिंह पन्‍नू की हत्‍या की साजिश रचने में भारत किसी भी तरह से संलिप्‍त था।

अमेरिका ने नहीं दिया कोई सबूत

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा से प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पन्नू को मारने की साजिश रचने वाले आरोपों पर सवाल किया गया था। इस पर जवाब देते हुए जखारोवा ने कहा, "हमारी जानकारी के मुताबिक अमेरिका ने अभी तक ऐसा कोई सबूत पेश नहीं किया है, जिससे सिद्ध हो सके कि भारत पन्नू की हत्या की साजिश में शामिल था। धार्मिक आजादी के उल्लंघन की बात अमेरिका की भारत को लेकर कमजोर समझ को दर्शाती है।"

भारत का एक संप्रभु देश के तौर पर अपमान

रूसी विदेश मंत्रालय ने आगे कहा कि अमेरिका भारत ही नहीं कई और देशों के खिलाफ धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन के बेबुनियाद आरोप लगाता रहा है। उनकी कार्रवाई स्पष्ट रूप से भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप दिखाती है। अमेरिका ऐसा कर भारत का एक संप्रभु देश के तौर पर अपमान कर रहा है। जाखारोवा ने आगे कहा कि अमेरिका भारत के खिलाफ लगातार झूठे आरोप लगा रहा है। उसे भारत की राष्ट्रीय मानसिकता और इतिहास की समझ नहीं है।

Streetbuzznews

Nov 09 2023, 16:31

Blue Records mr miss Asia international 2023 season 2 grand finale

Blue Records production house organised the grand finale of mr miss Asia international & mrs Asian Diva season 2 in sonipat at hotel antillia by zion in the grand finale there are more than 45 participants participated in the finale in the show Varun nadiyan from shimla won the title of Mr Asia international, yashvi Kumar from Dehli become miss Asia international and Shalini Gupta from up won mrs Asian Diva other than this Krishna Rastogi Sakshi Singh babita Sharma won the title of first runner ups on this occasion celebrity guest femina miss india Nandini Gupta director rkay Gupta miss russia sofiya , grommer sarthak Chaudhary, creative head Manya Rastogi mangaer Nilesh and others were present blue Records is one of the foremost productions house in India blue Records provides the best platform for all those who wants to make their career in modelling director of blue Records mr rkay Gupta said soon they are going to launch the season 3 of the show those who wants to register they can register on our website.

India

Aug 08 2023, 15:52

लूना-25 के साथ चंद्रमा पर वापसी की तैयारी में रूस, 11 अगस्त को लॉन्च करेगा मिशन मून

#russiatolaunchluna25moonmission

भारत अपने चंद्रयान-3 के साथ मिशन मून पर निकल चुका है। चंद्रयान-3 5 अगस्त चंद्रमा के ऑर्बिट में पहुंच भी चुका है। भारत की इस सफलता पर दुनियाभर के देशों की नजर है।भारत के इस कदम से रूस एक बार फिर उत्साह में है और चांद की ओर बड़ा कदम बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। लगभग 50 साल के अंतराल के बाद रूस चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर रोवर उतारने वाला पहला देश बनने की दौड़ में शामिल होने की योजना बना रहा है।बताया जा रहा है कि रूस 11 अगस्त को चांद के लिए मिशन लूना-25 लॉन्च कर सकता है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने भी इसकी पुष्टि की है।रूस इससे पहले 1976 में चांद पर मिशन लूना-24 उतार चुका है।

रोस्कोस्मोस ने इस संबंध में बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि प्रक्षेपण 11 अगस्त को होगा। इसे राजधानी मॉस्को से लगभग 5,550 किमी पूरब में स्थित वोस्तोचनी कोस्मोड्रोम से लॉन्च किया जाएगा। इसे सोयुज-2 रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए वहां एक गांव को खाली कराया जाएगा। रूसी स्पेस एजेंसी ने अपने बयान में यह भी बताया है कि लूना-25 का उद्देश्य चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग टेस्टिंग करना, मिट्टी और पानी के नमूने लेना और उनका विश्लेषण करना है। साथ ही दीर्घकालिक वैज्ञानिक अनुसंधान करना भी है। 

पहले किससे कदम पड़ेंगे?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने कहा है कि वह 23 अगस्त के आसपास चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग करने की योजना बना रहे हैं। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहीं रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने कहा कि उसके लूना-25 (Luna-25) अंतरिक्ष यान को चंद्रमा तक उड़ान भरने में पांच दिन लगेंगे। इसके बाद वह 5-7 दिन चांद की ऑर्बिट में रहेगा। इसके बाद चांद पर उतरेगा। यानी इसका चांद पर उतरने का समय करीब-करीब वही रहेगा या कुछ घंटे पहले का रहेगा, जब हमारा चंद्रयान-3 चांद की धरती पर उतरेगा।

लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी

मूल रूप से अक्टूबर 2021 में लॉन्च किए जाने वाले लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी हुई है। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने अपने पायलट-डी नेविगेशन कैमरे को लूना-25 से जोड़कर उसका परीक्षण करने की योजना बनाई थी। मगर पिछले साल फरवरी में रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद उसने इस परियोजना से अपना नाता तोड़ लिया।

चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर पहुंचेगा पहला लैंडर

बता दें कि लगभग एक महीने पहले मून लैंडर की निर्माता और रूसी एयरोस्पेस कंपनी एनपीओ लावोचकिना ने घोषणा की थी कि लूना-25 अंतरिक्ष यान के निर्माण पर काम पूरा हो गया है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी का दावा है कि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला पहला लैंडर होगा।

India

Aug 08 2023, 15:51

लूना-25 के साथ चंद्रमा पर वापसी की तैयारी में रूस, 11 अगस्त को लॉन्च करेगा मिशन मून

#russiatolaunchluna25moonmission

भारत अपने चंद्रयान-3 के साथ मिशन मून पर निकल चुका है। चंद्रयान-3 5 अगस्त चंद्रमा के ऑर्बिट में पहुंच भी चुका है। भारत की इस सफलता पर दुनियाभर के देशों की नजर है।भारत के इस कदम से रूस एक बार फिर उत्साह में है और चांद की ओर बड़ा कदम बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। लगभग 50 साल के अंतराल के बाद रूस चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर रोवर उतारने वाला पहला देश बनने की दौड़ में शामिल होने की योजना बना रहा है।बताया जा रहा है कि रूस 11 अगस्त को चांद के लिए मिशन लूना-25 लॉन्च कर सकता है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने भी इसकी पुष्टि की है।रूस इससे पहले 1976 में चांद पर मिशन लूना-24 उतार चुका है।

रोस्कोस्मोस ने इस संबंध में बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि प्रक्षेपण 11 अगस्त को होगा। इसे राजधानी मॉस्को से लगभग 5,550 किमी पूरब में स्थित वोस्तोचनी कोस्मोड्रोम से लॉन्च किया जाएगा। इसे सोयुज-2 रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए वहां एक गांव को खाली कराया जाएगा। रूसी स्पेस एजेंसी ने अपने बयान में यह भी बताया है कि लूना-25 का उद्देश्य चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग टेस्टिंग करना, मिट्टी और पानी के नमूने लेना और उनका विश्लेषण करना है। साथ ही दीर्घकालिक वैज्ञानिक अनुसंधान करना भी है। 

पहले किससे कदम पड़ेंगे?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने कहा है कि वह 23 अगस्त के आसपास चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग करने की योजना बना रहे हैं। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहीं रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने कहा कि उसके लूना-25 (Luna-25) अंतरिक्ष यान को चंद्रमा तक उड़ान भरने में पांच दिन लगेंगे। इसके बाद वह 5-7 दिन चांद की ऑर्बिट में रहेगा। इसके बाद चांद पर उतरेगा। यानी इसका चांद पर उतरने का समय करीब-करीब वही रहेगा या कुछ घंटे पहले का रहेगा, जब हमारा चंद्रयान-3 चांद की धरती पर उतरेगा।

लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी

मूल रूप से अक्टूबर 2021 में लॉन्च किए जाने वाले लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी हुई है। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने अपने पायलट-डी नेविगेशन कैमरे को लूना-25 से जोड़कर उसका परीक्षण करने की योजना बनाई थी। मगर पिछले साल फरवरी में रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद उसने इस परियोजना से अपना नाता तोड़ लिया।

चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर पहुंचेगा पहला लैंडर

बता दें कि लगभग एक महीने पहले मून लैंडर की निर्माता और रूसी एयरोस्पेस कंपनी एनपीओ लावोचकिना ने घोषणा की थी कि लूना-25 अंतरिक्ष यान के निर्माण पर काम पूरा हो गया है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी का दावा है कि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला पहला लैंडर होगा।

India

May 03 2023, 18:25

रूस ने यूक्रेन पर लगाया व्लादिमीर पुतिन की हत्या की कोशिश का आरोप, क्रेमलिन में ड्रोन को मार गिराने का दावा

#russiaallegesukraineattemptedtomurdervladimir_putin

रूस ने यूक्रेन पर राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की जान लेने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। रूस का आरोप है कि यूक्रेन ने रूसी राष्ट्रपति को मारने के लिए क्रेमलिन पर ड्रोन से हमला किया है। उसने दावा किया कि उसने यूक्रेन द्वारा लॉन्च किए गए दो ड्रोन को मार गिराया। यह खबर रायटर्स ने रूसी न्यूज एजेंसी के हवाले से जारी की है।

रूसी राष्ट्रपति कार्यालय ने बताया है कि यूक्रेन ने मंगलवार रात क्रेमलिन पर ड्रोन हमला किया। इसका मकसद राष्ट्रपति पुतिन की हत्या करना था। मॉस्को के निवासियों ने भी स्थानीय समयानुसार दोपहर दो बजे के बाद क्रेमलिन की दीवारों के पीछे विस्फोटों की आवाज सुनी थी। इसके बाद क्रेमलिन के ऊपर आसमान में धुआं उठता दिखाई दिया था। एक स्थानीय टेलीग्राम चैनल ने स्थानीय निवासियों के रिकॉर्ड किए गए वीडियो फुटेज को भी शेयर किया है। हालांकि, इस हमले में यूक्रेन के हाथ की स्वतंत्र तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी है।

रूस ने कहा- सुनियोजित आतंकवादी कृत्य

क्रेमलिन ने कहा कि यह कथित हमले को एक सुनियोजित आतंकवादी कृत्य और रूसी संघ के राष्ट्रपति को मारने की कोशिश मानता है। क्रेमलिन ने बयान में कहा, दो मानव रहित व्हीकल को क्रेमलिन की ओर लक्षित किया गया था, डिवाइसों को निष्क्रिय कर दिया गया।बयान जारी करके बताया गया है कि राष्ट्रपति पुतिन पूरी तरह से सुरक्षित हैं और बिल्डिंग में भी किसी तरह का मटेरियल डैमेज ड्रोन अटैक में नहीं हुआ है। 

रूस ने दी बदला लेने की धमकी

रूसी समाचार एजेंसी तास के अनुसार, क्रेमलिन ने धमकी दी है कि रूस जहां और जब उचित समझे, जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखता है।क्रेमलिन ने इस घटना को सुनियोजित आतंकवादी हमला और रूस के राष्ट्रपति की हत्या का प्रयास करार दिया है। रूसी अधिकारियों का कहना है कि यूक्रेन ने दो ड्रोन के जरिए क्रेमलिन को निशाना बनाने का प्रयास किया था। दोनों ड्रोन को मार गिराया गया है। इस हमले में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है।

India

Feb 21 2023, 18:42

*यूक्रेन के साथ युद्ध के लिए कौन जिम्मेदार? रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने इनपर उठाई अंगुली*

#russiapresidentvladimirputinspeechinparliament

यूक्रेन के खिलाफ जंग को एक साल पूरे होने से ठीक दो दिन पहले और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के यूक्रेन दौरे के ठीक एक दिन बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन देश को संबोधित किया।अपने संबोधन के दौरान पुतिन ने कहा कि वह ऐसे समय देश को संबोधित कर रहे हैं जो देश के लिए मुश्किलों भरा और अहम है। पूरी दुनिया में बड़े बदलाव हो रहे हैं। 

रूस ने जंग टालने की तमाम कोशिशें कीं-पुतिन

अपने संबोधन में पुतिन ने कहा- रूस ने शुरुआत में जंग को टालने के लिए तमाम डिप्लोमैटिक कोशिशें कीं, लेकिन नाटो और अमेरिका ने इन्हें कामयाब नहीं होने दिया। हम अब भी बातचीत चाहते हैं, लेकिन इसके लिए शर्तें मंजूर नहीं है। रूस के राष्ट्रपति ने आगे कहा, पश्चिम ताकतों की दखल की वजह से हम आगे बढ़े, जेलेंस्की को बात करने का मौका दिया गया था। 

नाटो ने यूक्रेन को बरगलाया-पुतिन

नाटो ने यूक्रेन को बरगलाया और उकसाने का काम किया है। यूक्रेन ने दुनिया को युद्ध में धकेला है। पुतिन ने कहा रूस ने सालों तक पश्चिमी देशों के साथ बातचीत के लिए तत्परता दिखाई, लेकिन उसे नज़रअंदाज़ कर दिया गया।

अमेरिका ने यूक्रेन के मामले को वैश्विक बना दिया

पुतिन ने कहा कि यूक्रेन को लॉन्ग रेंज डिफेंस सिस्टम दिए जा रहे हैं। हमारे बॉर्डर पर इसकी वजह से खतरा मंडरा रहा है। रूस और यूक्रेन का मामला लोकल था। अमेरिका और उसके साथियों ने इसे दुनिया का मसला बना दिया। अमेरिका और उसके साथी महज अपना दबदबा बढ़ाने की साजिश के खातिर दूसरों को मोहरा बना रहे हैं। वेस्टर्न पावर ने ही जंग के जिन्न को बोतल से बाहर निकाला है, और वो ही इसे वापस बोतल में डाल सकते हैं। हम तो सिर्फ अपने देश और लोगों की हिफाजत करना चाहते हैं और यही कर भी रहे हैं।

हमारी पीठ के पीछे अलग साजिश रची जा रही थी-पुतिन

पुतिन ने कहा कि डोनबास इलाके में शांति स्थापित करने के लिए हमने हरसंभव कोशिश की थी जो कि 2014 के बाद से ही संवेदनशील बना हुआ था लेकिन हमारी पीठ के पीछे अलग साजिश रची जा रही थी। पुतिन ने कहा कि यूक्रेन और डोनबास झूठ के सिंबल बन गए हैं। रूसी राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में दावा किया कि यूक्रेन के लोग अपने पश्चिमी आकाओं के बंधक बन गए हैं। पश्चिमी देशों ने यूक्रेन की राजनीति, अर्थव्यवस्था और सेना पर कब्जा कर लिया है।

India

Feb 11 2023, 10:31

*अमेरिका का बड़ा बयान, कहा-पीएम मोदी रोक सकते हैं रूस-यूक्रेन युद्ध*

#usagreedthatpmmodicanstoprussiaukraine_war

रूस और यूक्रेन के बीच पिछले करीब 1 साल से जंग जारी है। इस बीच रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर अमेरिका का बड़ा बयान आया है। व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को फिर दोहराया कि अमेरिका रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किसी भी प्रयास का स्वागत करेगा। 

न्यूज एजेसी एएनआई के मुताबिक व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पुतिन के पास युद्ध रोकने के लिए अभी भी समय है। पीएम मोदी मना सकते हैं। मैं पीएम मोदी को बोलने दूंगा जो भी प्रयास करने को तैयार हैं। अमेरिका किसी भी प्रयास का स्वागत करेगा जिससे यूक्रेन में शत्रुता समाप्त हो सके।

पीएम मोदी इस बयान का किया जिक्र

इस दौरान जॉन किर्बी ने प्रधानमंत्री मोदी के उस बयान का जिक्र किया जो उन्होंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बातचीत के दौरान कही थी कि यह युद्ध का युग नहीं है। किर्बी ने कहा कि इस बयान का अमेरिका ने स्वागत किया था और यूरोप में यह बहुत सकारात्मक रुप में देखा गया। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने उज्बेकिस्तान के समरकंद में द्विपक्षीय बैठक के दौरान यह बात कही थी।

युद्ध के लिए पुतिन को ठहराया पुतिन जिम्मेदार

इस दौरान जॉन किर्बी ने पुतिन पर भी हमला बोला। किर्बी ने रूस-यूक्रेन युद्ध के लिए राष्ट्रपति पुतिन को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा,यूक्रेनी लोगों के साथ जो हो रहा है उसके लिए एकमात्र व्यक्ति व्लादिमीर पुतिन जिम्मेदार हैं और वह इसे अभी भी रोक सकते हैं। युद्ध को रोकने की बजाय वो क्रूज मिसाइलों के जरिए यूक्रेन में ऊर्जा और बुनियादी ढांचे को तहस नहस करने में लगे हैं, ताकि वहां के लोगों की परेशानियां और बढ़ें।

India

Jun 24 2024, 12:50

रूस के दागेस्तान में बड़ा आतंकी हमला, चर्च में पादरी का रेता गला,15 पुलिसकर्मियों समेत कई नागरिकों की मौत

#russia_dagestan_terrorist_attack_more_than_15_policeman_one_priest_and_civilians_killed

रूस के दक्षिणी प्रांत दागेस्तान में रविवार को हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मी, एक पादरी और कई नागरिक मारे गए हैं। प्रांत के गवर्नर सर्गेई मेलिकोव ने सोमवार सुबह एक बयान में जानकारी दी।दागिस्तान प्रांत के दो शहरों में हुए आतंकी हमले से रूस एक बार फिर थर्रा उठा। यहां छह बंदूकधारियों ने दो शहरों पर धावा बोल दिया। ये आतंकी धड़धड़ाते हुए दो ऑर्थोडॉक्स चर्च, एक आराधनालय और एक पुलिस चौकी में घुस गए और ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दीं।

इस हमले के बाद लोग खौफजदा हैं। रूस की सड़कों पर टैंक और स्पेशल फोर्स तैनात हैं। पिछले 9 घंटे से ऑपरेशन जारी है। दागिस्तान के दो शहरों डरबेंट और मखचकाला में हुए इस आतंकी हमले के बाद सोमवार, मंगलवार और बुधवार को शोक दिवस घोषित किया गया।

बताया जा रहा है कि आतंकियों के लिए एक साथ दो आर्थोडॉक्स चर्च पर हमला किया। चर्च में शाम की प्रार्थना के बाद आतंकी अंदर घुसे। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने ऑटोमैटिक हथियारों से चर्च में अंधाधुंध फायरिंग कर दी। आतंकियों ने 66 साल के पादरी की गला रेतकर हत्या कर दी। फादर निकोले पिछले 40 साल से चर्च में सेवा दे रहे थे। आतंकियों ने यहूदी प्रार्थना स्थल सिनेगॉग पर भी गोलियां बरसाईं।

रूसी मीडिया आउटलेट आरटी ने बताया है कि जवाबी कार्रवाई में 6 हमलावर मारे गए हैं। हमले क्षेत्रीय राजधानी माखचकाला और तटीय शहर डर्बेंट में हुए, जो एक दूसरे से 120 किमी की दूरी पर स्थित हैं।रूस की जांच कमेटी ने इसे आतंकवादी कृत्य बताते हुए कहा है कि उसने दागेस्तान में हमले की आपराधिक जांच शुरू कर दी है। दागेस्तान रूस का एक बड़ी मुस्लिम आबादी वाला प्रांत है, जो चेचन्या के पड़ोस में है।

रूस में हुए इन हमलों की किसी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है। हालांकि शक की सुई इस्लामिक स्टेट की तरफ जा रही है, क्योंकि करीब 3 महीने पहले इसी ने मॉस्को के पास एक कॉन्सर्ट हॉल पर हमला किया। उस हमले में 145 लोगों की मौत हो गई थी।

India

May 09 2024, 11:22

खालिस्तान आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू मामले में रूस की अमेरिका को दो टूक, कहा-बेबुनियाद आरोप लगाना भारत का अपमान

#gurpatwantsinghpannuncaserussiadismissesus_allegations

खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू को मारने की साजिश रचने वाले आरोपों पर रूस ने भारत को साथ दिया है। उसने पन्नू की हत्या के प्रयास की साजिश के मामले में भारत पर लगातार निराधार आरोप लगाने के लिए अमेरिका को आड़े हाथों लिया है। रूस के विदेश मंत्रालय ने भारत पर लगाए गए अमेरिका के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए आरोपों को खारिज कर दिया है।रूस ने कहा कि वाशिंगटन ने अब तक कोई विश्वसनीय जानकारी या सबूत नहीं दिया है, जिससे यह साबित हो सके कि गुरपतवंत सिंह पन्‍नू की हत्‍या की साजिश रचने में भारत किसी भी तरह से संलिप्‍त था।

अमेरिका ने नहीं दिया कोई सबूत

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जखारोवा से प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पन्नू को मारने की साजिश रचने वाले आरोपों पर सवाल किया गया था। इस पर जवाब देते हुए जखारोवा ने कहा, "हमारी जानकारी के मुताबिक अमेरिका ने अभी तक ऐसा कोई सबूत पेश नहीं किया है, जिससे सिद्ध हो सके कि भारत पन्नू की हत्या की साजिश में शामिल था। धार्मिक आजादी के उल्लंघन की बात अमेरिका की भारत को लेकर कमजोर समझ को दर्शाती है।"

भारत का एक संप्रभु देश के तौर पर अपमान

रूसी विदेश मंत्रालय ने आगे कहा कि अमेरिका भारत ही नहीं कई और देशों के खिलाफ धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन के बेबुनियाद आरोप लगाता रहा है। उनकी कार्रवाई स्पष्ट रूप से भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप दिखाती है। अमेरिका ऐसा कर भारत का एक संप्रभु देश के तौर पर अपमान कर रहा है। जाखारोवा ने आगे कहा कि अमेरिका भारत के खिलाफ लगातार झूठे आरोप लगा रहा है। उसे भारत की राष्ट्रीय मानसिकता और इतिहास की समझ नहीं है।

Streetbuzznews

Nov 09 2023, 16:31

Blue Records mr miss Asia international 2023 season 2 grand finale

Blue Records production house organised the grand finale of mr miss Asia international & mrs Asian Diva season 2 in sonipat at hotel antillia by zion in the grand finale there are more than 45 participants participated in the finale in the show Varun nadiyan from shimla won the title of Mr Asia international, yashvi Kumar from Dehli become miss Asia international and Shalini Gupta from up won mrs Asian Diva other than this Krishna Rastogi Sakshi Singh babita Sharma won the title of first runner ups on this occasion celebrity guest femina miss india Nandini Gupta director rkay Gupta miss russia sofiya , grommer sarthak Chaudhary, creative head Manya Rastogi mangaer Nilesh and others were present blue Records is one of the foremost productions house in India blue Records provides the best platform for all those who wants to make their career in modelling director of blue Records mr rkay Gupta said soon they are going to launch the season 3 of the show those who wants to register they can register on our website.

India

Aug 08 2023, 15:52

लूना-25 के साथ चंद्रमा पर वापसी की तैयारी में रूस, 11 अगस्त को लॉन्च करेगा मिशन मून

#russiatolaunchluna25moonmission

भारत अपने चंद्रयान-3 के साथ मिशन मून पर निकल चुका है। चंद्रयान-3 5 अगस्त चंद्रमा के ऑर्बिट में पहुंच भी चुका है। भारत की इस सफलता पर दुनियाभर के देशों की नजर है।भारत के इस कदम से रूस एक बार फिर उत्साह में है और चांद की ओर बड़ा कदम बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। लगभग 50 साल के अंतराल के बाद रूस चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर रोवर उतारने वाला पहला देश बनने की दौड़ में शामिल होने की योजना बना रहा है।बताया जा रहा है कि रूस 11 अगस्त को चांद के लिए मिशन लूना-25 लॉन्च कर सकता है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने भी इसकी पुष्टि की है।रूस इससे पहले 1976 में चांद पर मिशन लूना-24 उतार चुका है।

रोस्कोस्मोस ने इस संबंध में बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि प्रक्षेपण 11 अगस्त को होगा। इसे राजधानी मॉस्को से लगभग 5,550 किमी पूरब में स्थित वोस्तोचनी कोस्मोड्रोम से लॉन्च किया जाएगा। इसे सोयुज-2 रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए वहां एक गांव को खाली कराया जाएगा। रूसी स्पेस एजेंसी ने अपने बयान में यह भी बताया है कि लूना-25 का उद्देश्य चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग टेस्टिंग करना, मिट्टी और पानी के नमूने लेना और उनका विश्लेषण करना है। साथ ही दीर्घकालिक वैज्ञानिक अनुसंधान करना भी है। 

पहले किससे कदम पड़ेंगे?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने कहा है कि वह 23 अगस्त के आसपास चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग करने की योजना बना रहे हैं। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहीं रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने कहा कि उसके लूना-25 (Luna-25) अंतरिक्ष यान को चंद्रमा तक उड़ान भरने में पांच दिन लगेंगे। इसके बाद वह 5-7 दिन चांद की ऑर्बिट में रहेगा। इसके बाद चांद पर उतरेगा। यानी इसका चांद पर उतरने का समय करीब-करीब वही रहेगा या कुछ घंटे पहले का रहेगा, जब हमारा चंद्रयान-3 चांद की धरती पर उतरेगा।

लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी

मूल रूप से अक्टूबर 2021 में लॉन्च किए जाने वाले लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी हुई है। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने अपने पायलट-डी नेविगेशन कैमरे को लूना-25 से जोड़कर उसका परीक्षण करने की योजना बनाई थी। मगर पिछले साल फरवरी में रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद उसने इस परियोजना से अपना नाता तोड़ लिया।

चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर पहुंचेगा पहला लैंडर

बता दें कि लगभग एक महीने पहले मून लैंडर की निर्माता और रूसी एयरोस्पेस कंपनी एनपीओ लावोचकिना ने घोषणा की थी कि लूना-25 अंतरिक्ष यान के निर्माण पर काम पूरा हो गया है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी का दावा है कि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला पहला लैंडर होगा।

India

Aug 08 2023, 15:51

लूना-25 के साथ चंद्रमा पर वापसी की तैयारी में रूस, 11 अगस्त को लॉन्च करेगा मिशन मून

#russiatolaunchluna25moonmission

भारत अपने चंद्रयान-3 के साथ मिशन मून पर निकल चुका है। चंद्रयान-3 5 अगस्त चंद्रमा के ऑर्बिट में पहुंच भी चुका है। भारत की इस सफलता पर दुनियाभर के देशों की नजर है।भारत के इस कदम से रूस एक बार फिर उत्साह में है और चांद की ओर बड़ा कदम बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। लगभग 50 साल के अंतराल के बाद रूस चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर रोवर उतारने वाला पहला देश बनने की दौड़ में शामिल होने की योजना बना रहा है।बताया जा रहा है कि रूस 11 अगस्त को चांद के लिए मिशन लूना-25 लॉन्च कर सकता है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने भी इसकी पुष्टि की है।रूस इससे पहले 1976 में चांद पर मिशन लूना-24 उतार चुका है।

रोस्कोस्मोस ने इस संबंध में बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि प्रक्षेपण 11 अगस्त को होगा। इसे राजधानी मॉस्को से लगभग 5,550 किमी पूरब में स्थित वोस्तोचनी कोस्मोड्रोम से लॉन्च किया जाएगा। इसे सोयुज-2 रॉकेट के जरिए प्रक्षेपित किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए वहां एक गांव को खाली कराया जाएगा। रूसी स्पेस एजेंसी ने अपने बयान में यह भी बताया है कि लूना-25 का उद्देश्य चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग टेस्टिंग करना, मिट्टी और पानी के नमूने लेना और उनका विश्लेषण करना है। साथ ही दीर्घकालिक वैज्ञानिक अनुसंधान करना भी है। 

पहले किससे कदम पड़ेंगे?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने कहा है कि वह 23 अगस्त के आसपास चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग करने की योजना बना रहे हैं। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहीं रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोस्मोस ने कहा कि उसके लूना-25 (Luna-25) अंतरिक्ष यान को चंद्रमा तक उड़ान भरने में पांच दिन लगेंगे। इसके बाद वह 5-7 दिन चांद की ऑर्बिट में रहेगा। इसके बाद चांद पर उतरेगा। यानी इसका चांद पर उतरने का समय करीब-करीब वही रहेगा या कुछ घंटे पहले का रहेगा, जब हमारा चंद्रयान-3 चांद की धरती पर उतरेगा।

लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी

मूल रूप से अक्टूबर 2021 में लॉन्च किए जाने वाले लूना-25 मिशन में लगभग दो साल की देरी हुई है। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने अपने पायलट-डी नेविगेशन कैमरे को लूना-25 से जोड़कर उसका परीक्षण करने की योजना बनाई थी। मगर पिछले साल फरवरी में रूस के यूक्रेन पर हमला करने के बाद उसने इस परियोजना से अपना नाता तोड़ लिया।

चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर पहुंचेगा पहला लैंडर

बता दें कि लगभग एक महीने पहले मून लैंडर की निर्माता और रूसी एयरोस्पेस कंपनी एनपीओ लावोचकिना ने घोषणा की थी कि लूना-25 अंतरिक्ष यान के निर्माण पर काम पूरा हो गया है। रूस की अंतरिक्ष एजेंसी का दावा है कि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला पहला लैंडर होगा।